कारोबार

एनएचएमएमआई के सहयोग से एसआरसीसी, मुंबई की बच्चों में लिवर प्रत्यारोपण ओपीडी अब रायपुर में
10-Oct-2021 12:42 PM (208)
एनएचएमएमआई के सहयोग से एसआरसीसी, मुंबई की बच्चों में लिवर प्रत्यारोपण ओपीडी अब रायपुर में
रायपुर, 10 अक्टूबर। छत्तीसगढ़ और उससे जुड़े इलाकों में बच्चों में एलटीपी यानी लिवर ट्रांसप्लांट के मामले अत्यधिक देखने को मिल रहे हैं। हालांकि इलाज के तरीकों में आधुनिकता आई है लेकिन किफायती कीमतों पर इलाज न मिलना, सही इलाज तक पहुँच न होना आदि अभी भी बहुत से इलाकों में समस्या के रूप में सामने हैं। यह बात महानगरों से दूर रहने वाले लोगों पर ख़ास तौर पर लागू होती है।
 
इन्हीं समस्याओं को ध्यान में रखते हुए एसआरसीसी चिल्ड्रन हॉस्पिटल ने एनएचएमएमआई के सहयोग से शहर में ओपीडी लगाने का निर्णय लिया। एक प्रेस कॉन्फ्रेंस का आयोजन किया गया, जहां पीडियाट्रिक गैस्ट्रोएंटरोलॉजी, हेपेटोलॉजी और लिवर ट्रांसप्लांट ओपीडी खोलने की घोषणा की गई। डॉ. ललित वर्मा ने छत्तीसगढ़ में बच्चों में लिवर की समस्याओं की वर्तमान स्थिति पर प्रकाश डाला। ओपीडी की शुरुआत 21 अक्टूबर से की जाएगी, जो महीने में किसी एक दिन सुबह 11 बजे से दोपहर 2 बजे तक रायपुर (एमएमआई नारायणा सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल, रायपुर) में लगाई जायेगी।
 
डॉ. वर्मा ने बताया कि बहुत से भारतीय घरों में बच्चों की पेट सम्बंधित समस्याओं को घरेलू नुस्खों से दूर करने का प्रयास किया जाता है। क्योंकि ऐसी पेट की ऐसी समस्याएं किसी बड़ी समस्या की भी शुरुआती लक्षण हो सकती हैं इसलिए ये उपाय उनके स्वास्थ्य को जोखिम में डाल सकते हैं। इसके अलावा खून की कमी, बाल झड़ना, त्वचा का पीला पड़ना, पीलिया आदि जैसे लक्षणों में लिवर की गंभीर बीमारियों की ओर संकेत कर सकती हैं। इन्हें बिल्कुल भी नजऱंदाज़ न करें, तुरंत डॉक्टर से सलाह लें। चाहे फिर लिवर की कोई मामूली समस्या हो या गंभीर शुरुआती लक्षण पहचानें और जांच करवाएं व डॉक्टर की सलाह लें ताकि आने वाले जोखिम को रोका जा सके।

अन्य पोस्ट

Comments