राष्ट्रीय

विवाहिता ने लगाया आरोप, 'दहेज की मांग पूरी न होने पर पीटा गया, ससुर ने यौन शोषण किया, पति ने बनाया आपत्तिजनक वीडियो '
27-Oct-2021 2:48 PM (55)
विवाहिता ने लगाया आरोप, 'दहेज की मांग पूरी न होने पर पीटा गया, ससुर ने यौन शोषण किया, पति ने बनाया आपत्तिजनक वीडियो '

नई दिल्‍ली : दादरी में एक विवाहिता ने दहेज की मांग पूरी न होने पर सुसरालियों पर उत्पीड़न, ससुर पर यौन शोषण, पति पर मारपीट करने और आपत्तिजनक वीडियो बनाकर ब्लैकमेल करने का आरोप लगाया है. कोर्ट के आदेश पर मामला दर्ज कर लिया गया है. पुलिस ने शिकायत के आधार पर आरोपी ससुर को हिरासत में लिया था. बाद में उसे छोड़े जाने पर पीड़िता के परिजनों ने आरोप लगाया कि बीजेपी के वरिष्ठ नेता के दबाव में आरोपियों को छोड़ दिया गया. दादरी थाने में पीड़िता के परिजनों के हंगामे का एक वीडियो भी वायरल हो रहा है, जिसमें आरोपी ससुर पुलिस को हिरासत में है.उसे छोड़े जाने का विरोध करते हुए पीड़िता के परिजन उसकी गिरफ्तारी मांग कर रहे हैं.

दादरी थाने में दर्ज शिकायत के अनुसार- आगरा निवासी पीड़िता की शादी 21 फरवरी 2018 को सेक्टर 40 ग्रेटर नोएडा निवासी सुभाष चौधरी के पुत्र गप्पू उर्फ गौरव चौधरी के साथ हुई थी. आरोप है कि शादी के फेरों पर ही ससुरालियों ने 5 करोड़ रुपयों की मांग रखी थी. सामाजिक लोगों के दबाव के चलते वह शादी कर उसे ससुराल ले आए. आरोप है कि शादी के दो दिन बाद रिसेप्शन पर पहुंचे भाई के साथ भी ससुरालियों ने अभद्रता की. आरोप है कि पति ने हनीमून के लिए ऑस्ट्रेलिया जाने की बात रखी, जिसका खर्चा मायके से पिता ने दिया. ससुरालियों ने उसके सारे जेवरात बेच डाले. पीड़िता के पति गप्पू उर्फ गौरव चौधरी ने उसकी आपत्तिजनक वीडियो तक बना डाली और दहेज की मांग पूरी न होने पर इंटरनेट मीडिया पर डालने की धमकी दी जबकि उसके ससुर सुभाष चौधरी ने उसके साथ दुष्कर्म का प्रयास किया. लगातार उत्पीड़न के बीच 2018 में पीड़िता गर्भवती हो गई. इस बात का पता चलते ही ससुराल वालों ने लात-घूंसों से बहुत मारा जिससे उसका गर्भपात हो गया. इसके मानसिक रूप से टूट चुकी पीड़िता ने अपना ससुराल छोड़ दिया.

पीड़िता को 18 अगस्त 2021 को जरूरी बात करने के लिए घर से बाहर अकेले बुलाया. जब वह आई तो उसको गाड़ी में बैठाकर चल दिया. रास्ते में दो अज्ञात लोगों को बैठा लिया और पीड़िता की इतनी पिटाई की कि वह बेहोश हो गई. उसके बाद दादरी क्षेत्र के बील अकबरपुर के जंगलों में फेंककर चले गए. होश में आने पर राहगीरों की मदद से दादरी के सरकारी अस्पताल पहुंची. सूचना पाकर वहां से मायके वाले साथ लेकर गए और पीड़िता के पति गप्पू उर्फ गौरव, ससुर सुभाष चौधरी, सास सुमित्रा, ननद,सुरभी व एक अज्ञात के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई है. एसीपी नितिन कुमार ने बताया कि न्यायालय के आदेश पर चार के खिलाफ धारा 498 ए, 307, 308, 323, 325, 377, 376, 511 आई.पी.सी. एव 3/4 डी.पी. एक्ट की रिपोर्ट दर्ज कर ली गई है. सोमवार को आरोपित ससुर सुभाष चौधरी को पूछताछ के बाद छोड़ दिया गया है. मामले की जांच की जा रही है. (ndtv.in)
 

अन्य पोस्ट

Comments