साहित्य/मीडिया

'दिल मोहब्बत से भर गया...' पढ़ें बेख़ुद देहलवी के बेहतरीन शेर
27-Oct-2021 7:14 PM (80)
'दिल मोहब्बत से भर गया...' पढ़ें बेख़ुद देहलवी के बेहतरीन शेर

Bekhud Dehlvi Classic Urdu Shayari: अक्सर जिंदगी में कई ऐसे हालातों से इंसान को गुजरना पड़ता है कि वो न कुछ समझ पाता है और न ही कुछ कह पाता है. ऐसे में कई लोग किताबों को सोशल मीडिया पर अपने जज्बातों को बयान करने के लिए शेय-ओ-शायरी ढूंढते हैं. जख्मों पर लफ्जों का मरहम लगाने वाले शायर बेख़ुद देहलवी की शायरियां बहुत लोगों को पसंद आती हैं. बेख़ुद देहलवी का जन्म 21 मार्च 1863 को राजस्थान के भरतपुर में हुआ था. उनका असली नाम सय्यद वहीद-उद-दिन अहमद है. पढ़िए, उनके कुछ चुनिंदा शेर और कर दीजिए अपना हाल-ए-दिन बयां

राह में बैठा हूँ मैं तुम संग-ए-रह समझो मुझेआदमी बन जाऊँगा कुछ ठोकरें खाने के बाद

बात वो कहिए कि जिस बात के सौ पहलू हों,कोई पहलू तो रहे बात बदलने के लिए

दिल तो लेते हो मगर ये भी रहे याद तुम्हेंजो हमारा न हुआ कब वो तुम्हारा होगा

मुझ को न दिल पसंद न वो बेवफ़ा पसंददोनों हैं ख़ुद-ग़रज़ मुझे दोनों हैं ना-पसंद

चश्म-ए-बद-दूर वो भोले भी हैं नादाँ भी हैंज़ुल्म भी मुझ पे कभी सोच-समझ कर न हुआ

दिल मोहब्बत से भर गया 'बेख़ुद'अब किसी पर फ़िदा नहीं होता

 (news18.com)

अन्य पोस्ट

Comments