ताजा खबर

तैराकी में स्वर्ण पदक जीतने वाली अनुष्का भी पहुंचीं बस्तर
25-Nov-2021 3:51 PM (85)
तैराकी में स्वर्ण पदक जीतने वाली अनुष्का भी पहुंचीं बस्तर

माँ भी है राष्ट्रीय खिलाड़ी, कबड्डी में दिखा चुकी हैं दमखम

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
जगदलपुर, 25 नवंबर।
कहते हैं बच्चों के हुनर बचपन से ही दिखाई देने लगते है, जिसका सबसे बड़ा कारण है घर का माहौल व जानकारी। हम बात कर रहे हैं बिलासपुर के सिविल लाइन थाने में पदस्थ महिला पुलिस सीता भगत व उनके पति बसंत भगत की, जिन्होंने खेल में अपना दमखम दिखाया, जहां सीता भगत कबड्डी में राष्ट्रीय खिलाड़ी रह चुकी हैं, तो वहीं पति फुटबॉल में अपने खेल का जौहर दिखा चुके हैं। अब इनके दोनों बच्चे अपने माँ-पिता का नाम रोशन कर रहे हंै।

जगदलपुर में आयोजित 21वीं राज्य स्तरीय क्रीड़ा प्रतियोगिता के अंतर्गत तैराकी में भाग लेने के लिए प्रदेश के 5 संभागों के खिलाड़ी जगदलपुर पहुंचे हुए हैं, इनमें राष्ट्रीय प्रतियोगिता में स्वर्ण पदक जीतने वाली अनुष्का भगत भी शामिल हंै। अनुष्का भगत बिलासपुर के सेंट फ्रांसिस्को स्कूल में कक्षा नौवीं की छात्रा हंै। वर्ष 2019 में दिल्ली में आयोजित राष्ट्रीय प्रतियोगिता में 50 मीटर ब्रेस्टस्ट्रोक में गोल्ड मेडल हासिल की है। इसके पहले अनुष्का ने रांची में आयोजित सीबीएसई राष्ट्रीय प्रतियोगिता में 1 सिल्वर और दो कांस्य पदक जीती थी।

घर का माहौल यदि खेल के अनुकूल हो तो  बच्चों में भी खेल के प्रति आकर्षण पैदा होता है। अनुष्का ने बताया कि वह 8 वर्ष की उम्र से तैराकी कर रही हैं, उसकी बड़ी बहन आकांक्षा भगत भी तैराक हैं। पिछले दिनों गोवा में आयोजित चयन प्रतियोगिता में भाग लेकर आकांक्षा ने पांचवां स्थान हासिल किया। उससे ही प्रेरणा लेकर तैराकी को अपनाया और अब अंतरराष्ट्रीय स्तर पर उत्कृष्ट प्रदर्शन कर भारत का नाम रोशन करना चाहती हैं।

ज्ञात हो कि अनुष्का और आकांक्षा के माता-पिता भी खिलाड़ी हैं। माता सीता देवी भगत कबड्डी की राष्ट्रीय खिलाड़ी रह चुकी हैं तो वहीं पिता बसंत राम भगत फुटबॉल के खिलाड़ी हैं। वर्तमान में दोनों पुलिस विभाग में कार्यरत हैं। इनकी दोनों बेटियां तैराकी में माता-पिता और क्षेत्र का गौरव बढ़ाने का कार्य कर रही हैं।

 

अन्य पोस्ट

Comments