अंतरराष्ट्रीय

चीन में लॉकडाउन हटा तो एक दिन में 6 लाख से ज्यादा मिलेंगे कोविड केस
29-Nov-2021 12:34 PM (120)
चीन में लॉकडाउन हटा तो एक दिन में 6 लाख से ज्यादा मिलेंगे कोविड केस

 

बीजिंग. कोरोना वायरस के नए वेरिएंट ओमिक्रॉन से दुनियाभर में हड़कंप मचा है. कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच चीन ने ज्यादातर हिस्सों को दुनिया के लिए बंद रखा है. इस बीच चीन में कोरोना वायरस महामारी को लेकर एक चौंकाने वाली स्टडी सामने आई है. इसके मुताबिक, अगर वहां लॉकडाउन हटाया गया तो एक दिन में ही 6 लाख 30 हजार से ज्यादा केस सामने आ सकते हैं. ये स्टडी पेकिंग यूनिवर्सिटी के मैथ्स रिसचर्स ने की है. रिपोर्ट के मुताबिक- चीन में फुल वैक्सीनेशन के बाद ही ट्रैवल बैन हटाना चाहिए. टीम ने नतीजों के लिए अमेरिका, ब्रिटेन, स्पेन, फ्रांस और इजराइल के अगस्त के आंकड़ों के आधार पर स्टडी की है.

पेकिंग विश्वविद्यालय के गणितज्ञों की रिपोर्ट में कहा गया है कि अगर चीन अन्य देशों की तरह यात्रा प्रतिबंध हटा देता है और कोराना वायरस संक्रमण के प्रसार को कतई बर्दाश्त नहीं करने के रुख को छोड़ देता है, तो देश में रोजाना 6,30,000 से ज्यादा मामले सामने आ सकते हैं. रिपोर्ट में कहा गया, ‘आकलन में खुलासा हुआ है कि भंयकर प्रकोप की संभावना है जिसका बोझ मेडिकल सिस्टम नहीं उठा सकता.’ चीन में शनिवार को कोविड-19 के 23 नये मामले सामने आए जिनमें से 20 मामले अन्य देशों से आए और बीजिंग सहित अन्य शहरों में संक्रमण के मामलों में वृद्धि देखी जा रही है.

2019 के आखिर में चीन में ही मिला था पहला केस
कोरोना वायरस महामारी शुरू होने से पहले चीन के वुहान शहर में वर्ष 2019 के अंत में कोविड-19 का पहला मामला आया था. चीन के राष्ट्रीय स्वास्थ्य आयोग के मुताबिक, चीन में अबतक कोविड-19 के 98,631 मामले आए हैं, जबकि 4,636 मरीजों की मौत हुई है. इस समय 785 मरीज इलाज करा रहे हैं. चीन के डिजीज कंट्रोल और प्रिवेंशन सेंटर द्वारा चाइना सीडीसी साप्ताहिक में प्रकाशित खबर के मुताबिक पेकिंग विश्वविद्यालय के चार गणितज्ञों ने कहा है कि चीन बिना प्रभावी टीकाकरण और विशेष इलाज के सभी आने जाने वालों के लिए आइसोलेशन की व्यवस्था करने के लिए तैयार नहीं है.

21 प्रांतों में फैला है डेल्टा वेरिएंट
चीन अब तक के सबसे बड़े डेल्टा वेरिएंट के कहर का सामना कर रहा है. ये वेरिएंट देश के 21 प्रांतों में फैल गया है. चीन की सरकार कोविड के प्रति जीरो टॉलरेंस की नीति अपना रही है. रिपोर्ट्स बताती हैं कि कई प्रातों में संक्रमण को नियंत्रित कर लिया गया है. चीनी सरकार बचाव के तौर पर कई उपाय अपना रही है. जिसमें लॉकडाउन, कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग, जोखिम भरे इलाकों में कई राउंड की टेस्टिंग, मनोरंजन से जुड़े स्थानों को बंद करना, सार्वजिनक वाहनों पर रोक और पर्यटन को प्रतिबंधित करना शामिल है.

अभी क्या है नियम?
मौजूदा समय में विदेश से चीन आने वालों को निर्धारित होटलों में 21 दिनों तक आइसोलेशन में रहना पड़ता है. अमेरिका, ब्रिटेन, इजराइल, स्पेन और फ्रांस के अगस्त से अबतक के आंकड़ों का विश्लेषण कर वैज्ञानिकों ने आकलन करने की कोशिश की कि चीन अगर इन देशों की तरह रणनीति अपनाए तो क्या प्रभाव पड़ेगा. (news18.com)

अन्य पोस्ट

Comments