राष्ट्रीय

संसद में उठा नगालैंड फायरिंग मामला, हंगामे के बीच राज्यसभा स्थगित
06-Dec-2021 2:13 PM (114)
संसद में उठा नगालैंड फायरिंग मामला, हंगामे के बीच राज्यसभा स्थगित

संसद में सोमवार को नगालैंड फायरिंग का मामला उठाया गया. राज्यसभा में नेता विपक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे ने नगालैंड फायरिंग का मुद्दा उठाया. इस पर राज्य सभा के चेयरमैन वेंकैया नायडू ने नगालैंड फायरिंग मामले पर बोले कि यह बहुत ही गंभीर और संवेदनशील मामला है. इस पर गृहमंत्री बयान देंगे. लेकिन विपक्षी दलों के सदस्यों के हंगामे के कारण राज्यसभा शुरू होने के दस मिनट बाद ही दोपहर बारह बजे तक के लिए स्थगित कर दी गई. वहीं, विपक्षी दलों ने आज सरकार को महंगाई के मुद्दे पर संसद में घेरने की रणनीति बनाई है.  राज्यसभा में मल्लिकार्जुन खड़गे, आनंद शर्मा और प्रोफेसर मनोज झा देश में बढ़ती महंगाई का मुद्दा उठाएंगे.

नगालैंड फायरिंग पर कांग्रेस के सांसद गौरव गागोई :
सरकार इसको लेकर आल पार्टी मीटिंग बुलाए. रक्षा और गृह मंत्री इसको लेकर स्पष्टिकरण दें. कहा गया कि इंटेलिजेंस गलत था पर जिस तरह बेगुनाह लोगो को मारा  गया वह दुर्भाग्यपूर्ण है. यह बहुत संवेदनशील मामला है.

लोकसभा में प्रश्नकाल शुरू होते ही लोकसभा में कांग्रेस के नेता अधीर रंजन चौधरी ने नगालैंड में गोलीबारी का मुद्दा उठाया. उन्होंने कहा कि नगालैंड में जो घटना घटी है, वह दुखद और शर्मनाक है. चौधरी ने पूछा कि नगालैंड में शांति बहाली को लेकर दावे किए गए थे, उनका क्या हुआ?

लोकसभा में तृणमूल कांग्रेस के नेता सुदीप बंदोपाध्याय ने यह मुद्दा सदन में उठाते हुए कहा, 'नगालैंड के मुद्दे ने देश को झकझोर कर रख दिया है. गृह मंत्री सदन में आए और बयान दें.' विपक्ष के कुछ अन्य सदस्यों ने भी इस मुद्दे को उठाने का प्रयास किया.

नगालैंड फायरिंग पर राज्यसभा सांसद केटीएस तुलसी बोले : नागरिकों पर सेना कैसे फायरिंग कर सकती है? यह अस्वीकार्य और अकल्पनीय है. उत्तर पूर्व में अराजकता है. अपने ही लोगों को फौज मार रही है. यह अप्रत्याशित घटना है. विपक्षी सांसद यह मांग कर रहे हैं कि सरकार इस मसले पर जल्दी स्पष्टीकरण दें. हम यह कभी सोच भी नहीं सकते कि फौज नागरिकों पर इस तरह गोली चला सकती है.लोकसभा में नगालैंड में फायरिंग मामले पर बोले एनडीपीपी सांसद टी. येप्थोमी : जांच की जानी चाहिए. राज्य सरकार ने हर पीड़ित परिवार को 5-5 लाख रुपये की अनुग्रह राशि दी है. केंद्र को भी प्रभावित परिवारों को पर्याप्त मुआवजा देना चाहिए :

हंगामे के चलते फिर राज्यसभा स्थगित
संसद के ऊपर सदन राज्यसभा में विपक्षी पार्टियों के लगातार हंगामे के चलते सदन को दोपहर 2 बजे तक स्थगित कर दिया गया.

हंगामे की भेंट चढ़ा शून्यकाल
राज्यसभा में विपक्ष के हंगामे के चलते शून्यकाल नहीं हो सका. सभापति एम वेंकैया नायडू ने जब शून्यकाल शुरू कराया और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के बृजलाल को अपना मुद्दा उठाने के लिए कहा, उसी समय तृणमूल कांग्रेस के डेरेक ओ ब्रायन ने कोई मुद्दा उठाना चाहा. सभापति ने उन्हें अनुमति न देते हुए उनसे कहा कि वह सदस्यों को शून्यकाल के तहत अपने मुद्दे उठाने दें. इसी बीच तृणमूल कांग्रेस सहित अन्य विपक्षी सदस्यों ने अपनी-अपनी मांगों को लेकर हंगामा शुरू कर दिया.

टीएमसी नेता सुखेंदु शेखर राय ने नागालैंड के मुद्दे पर 167 के तहत नोटिस दिया है. उनका कहना है पीड़ित परिवार मुआवजा और नौकरी मिले.

न हो असंवेदनशील सियासत : मुख्तार अब्बास नकवी
राज्यसभा में उप-नेता मुख्तार अब्बास नकवी ने नगालैंड फायरिंग मामले पर संसद में हंगामे को लेकर बोला : गृह मंत्री अमित शाह नगालैंड फायरिंग केस पर लोकसभा और राज्यसभा में बयान देंगे. यह एक संवेदनशील मामला है. इस पर किसी भी तरह की असंवेदनशील सियासत नहीं होनी चाहिए.

राज्य सभा के चेयरमैन वेंकैया नायडू ने नगालैंड फायरिंग मामले पर बोले- यह बहुत ही गंभीर और संवेदनशील मामला है. इस पर गृहमंत्री बयान देंगे

संसद भवन में पीएम नरेंद्र मोदी की वरिष्ठ मंत्रियों के साथ बैठक
बैठक में अमित शाह, प्रह्लाद जोशी, पीयूष गोयल, निर्मला सीतारमन मौजूद हैं. नगालैंड सहित संसद के अन्य विषयों पर चर्चा की जा रही है. (ndtv.in)
 

अन्य पोस्ट

Comments