ताजा खबर

सौ से अधिक अफसर-कर्मियों को नोटिस
14-Jan-2022 8:27 PM (160)
सौ से अधिक अफसर-कर्मियों को नोटिस

-कान्टेक्ट ट्रेसिंग कार्य में लापरवाही

रायपुर 14 जनवरी। कलेक्टर एवं जिला दंडाधिकारी रायपुर सौरभ कुमार ने कान्टेक्ट ट्रेसिंग का कार्य में लापरवाही बरतने पर पर 120 अधिकारियों और कर्मचारियों को कारण बताओ नोटिस दिया है।

उल्लेखनीय है कि स्वास्थ्य विभाग द्वारा कोरोना पॉजिटीव मरीज की जानकारी होने के 6 घंटे के भीतर क्वारेनटाईन एवं सेंपलिंग का कार्य किया जाना है। इन अधिकारियों और कर्मचारियों की ड्यूटी इस कार्य में लगाई गई थी। उन्होंने आदेश के तहत न्यू सर्किट हाउस रायपुर स्थित ऑडिटोरियम में उपस्थिति नहीं दी गई है और न ही सौंपे गए दायित्व का निर्वहन किया। उनका यह कृत्य सिविल सेवा आचरण नियम 1965 का स्पष्ट उल्लंघन है तथा इस कृत्य से आपदा प्रबंधन के कार्य में बाधा उत्पन्न हुई है।

कलेक्टर एवं जिला दंडाधिकारी ने कारण बताओ नोटिस में कहा है कि अनुशासनहीनता एवं आपदा प्रबंधन कार्य में बाधा उत्पन्न करने के लिए क्यों न अनुपस्थिति अवधि की वेतन कटौती करते हुए उनके विरूद्ध अनुशासनात्मक / दाण्डिक कार्यवाही प्रारंभ की जाये । उन्होंने इन अधिकारियों कर्मचारियों को अंतिम अवसर प्रदान करते हुए निर्देशित किया है कि न्यू सर्किट हाउस रायपुर स्थित ऑडिटोरियम में तत्काल टीम हेड के समक्ष उपस्थित हो तथा इस कारण बताओ नोटिस का जबाव तीन दिवस के भीतर नोडल अधिकारी/सहायक नोडल अधिकारी के समक्ष प्रस्तुत करें। निर्धारित समयावधि में जबाव प्रस्तुत नहीं करने या आपके द्वारा प्रस्तुत जबाव संतोषप्रद नहीं होने पर उनके विरूद्ध छत्तीसगढ़ सिविल सेवा (वर्गीकरण, नियंत्रण एवं अपील) नियम 1966 तथा आपदा प्रबंधन नियम 2005 की धारा 51 से 80 एवं एपीडेमिक डिसीजेज एक्ट 1897 के अधीन कार्यवाही की जावेगी।

जिन कर्मियों को कारण बताओ नोटिस दिया गया है उनके नाम है श्री राजी नायर, सुश्री शुभ्रा त्रिपाठी, श्रीमती सुनीता साहू, श्रीमती आरती ठाकुर, श्रीमती प्रमिला नियाल, श्रीमती ज्योति चंद्रवंशी,श्रीमती मुक्ति बैस,  श्रीमती गौरी नामदेव, अनिरूद्ध कुमार ढीमर, सबिता दीवान, सुश्री सीमा यादव, श्रीमती लता साहू, छत्रपाल और सुश्री पूजा खिलारी।

इसी तरह जिन अन्य अधिकारियों कर्मचारियों को कारण बताओ नोटिस दिया गया है उनके नाम है सरिता कुमार, मंगलदास चतुर्वेदी, सोनाली तिड़के, गोवर्धन यादव, मीनाक्षी सिंह राजपूत, माया चौधरी, अविनाश कुमार साहू, सुश्री पिंकी योगी, देवेंद्र सिंह, सुश्री संगीता देवांगन, सुश्री सावित्री यादव, रितेश स्वामी, सुश्री बुनेश्वरी खरें, सुश्री नमिता डे, जितेंद्र कुमार देवांगन, रवि प्रकाश साहू, दीनबंधु साहू, हेमंत कुमार सिंह, गिरीश शुक्ला, केशव कुमार कोसले, कामेश्वर प्रसाद साहू, सचिन कुमार चोपकर, राजेश जायसवाल, अंशुमन साठे, के मोहन और तारिक अब्बासी।

इसी तरह कामेश्वर कुमार देव, मृगेन्द्र द्विवेदी, विमल खांडेकर, सुश्री माया चौधरी, सुश्री रूपमती चंद्राकर, श्रीमती आसिन डहरिया, पारस यादव, गिरीश शुक्ला, हेमंत कुमार साहू,  नरेश कुमार बंजारे,  श्रीमती तृप्ती ठाकुर, अमर कुमार हरबंश, अंशुमन साठे, हेमंत कुमार सेन, नीलमणी सिन्हा, गौतम नवरंगे और सोनू कुमार विज को कारण बताओ नोटिस किया गया है।

इसी तरह प्रवीण कुमार यदु, नितेश देवांगन, मनोज पटेल, मोहित राम पटेल, सतीश कुमार शर्मा, सुश्री भावना सवैया, गुमेन्द्र साहू, सुश्री अनिता मिश्रा, सुश्री शिवानी बूदगर, टेकलाल पटेल, सुश्री रोशनी साहू, सुश्री अनामिका वर्मा और सुश्री आराधना बहुगुणा को भी कारण बताओ नोटिस दिया गया है।

इसी तरह डॉ. सत्येन्द्र शर्मा, डॉ. लक्ष्मीकांत चौर, डॉ. राघवेन्द्र शर्मा, डॉ. मनमोहन सतनामी, पीटर तिर्की, राजेन्द्र बंछोर, दीपक देवांगन, अश्वनी कुमार दुबे, विक्रमसिंग चंदेल, सुरेन्द्र यदु, किशोर शर्मा, दवेन्द्र वर्मा,  आर.डी.वर्मा, दुष्यतंत कुमार साहू, कमलेशधर दीवान, अजय कुमार बसोडे, संदीप शर्मा, शेखर गजभिये, बसंत कुमार बारिक, विनोद कुमार टंडन, हेमकुमार साहू, नरेन्द्र ठाकुर, प्रशांत उपाध्याय को भी कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है।

अन्य पोस्ट

Comments