अंतरराष्ट्रीय

ब्रिटेन के प्रिंस एंड्र्यू पर यौन शोषण का आरोप लगाने वाली महिला ने क्या बताया है
14-Jan-2022 10:02 PM (50)
ब्रिटेन के प्रिंस एंड्र्यू पर यौन शोषण का आरोप लगाने वाली महिला ने क्या बताया है

ब्रिटेन के प्रिंस एंड्र्यू पर यौन शोषण का आरोप लगाने वाली महिला ने क्या बताया है

ब्रिटेन की महारानी एलिज़बेथ द्वितीय के बेटे प्रिंस एंड्र्यू यौन हमले के आरोपों की वजह से एक बार फिर चर्चा में हैं. उनके ख़िलाफ़ अब उन आरोपों को लेकर अमेरिका में मुक़दमा चल सकता है जिन्हें वो लगातार ग़लत बताते रहे हैं.

प्रिंस एंड्र्यू पर यौन शोषण का आरोप अमेरिका की वर्जीनिया रॉबर्ट्स ज्यूफ्रै ने लगाया है. उन्होंने पिछले दिनों एक अमेरिकी अदालत में कहा कि जब वह 17 साल की थीं तो प्रिंस ने उनका यौन शोषण किया था. इसके बाद एक अमेरिकी अदालत ने प्रिंस के खिलाफ मुकदमा चलाने की इजाज़त दे दी है.

जज की ओर से मुकदमा चलाने की मंज़ूरी मिलने के साथ ही इस हाई प्रोफाइल अदालती लड़ाई की चर्चा तेज हो गई है और वर्जीनिया ज्यूफ्रै एक बार फिर पूरी दुनिया की मीडिया की निगाहों में आ गई हैं. इस बात का ज़िक्र हो रहा है आखिर वह कौन हैं और उनके आरोप क्या हैं?

लोगों की दिलचस्पी अब यह जानने में भी है कि प्रिंस एंड्र्यू अपने खिलाफ मुकदमे का सामना करने के लिए क्या करने जा रहे हैं?

जब 'छिन गया' उनका बचपन
वर्जीनिया ज्यूफ्रै पहले वर्जीनिया रॉबर्ट्स के नाम से जानी जाती थीं. उनका जन्म 1983 में कैलिफोर्निया में हुआ था. वर्जीनिया का परिवार बाद में फ्लोरिडा चला गया. वर्जीनिया का कहना है कि सात साल की उम्र में एक पारिवारिक दोस्त ने उनका यौन शोषण किया था और इसके साथ ही उनका ''बचपन एक झटके में छिन'' गया.

उन्होंने 2019 में बीबीसी पैनोरामा से इस घटना का जिक्र करते हुए कहा था, " इतनी छोटी उम्र में इस हादसे से मैं अंदर ही अंदर बुरी तरह डर गई थीं. मैं किसी तरह इस हालात से भाग खड़ी हुई''.

बाद में अपने बचपन के दिनों में वह फोस्टर केयर होम्स के बाहर-भीतर होती रहीं. 14 साल की उम्र तक आते-आते उन्होंने खुद को सड़क पर पाया. वह कहती हैं, " वहां उनके लिए भूख, दर्द और पहले के मुकाबले ज्यादा शोषण के अलावा कुछ नहीं था."

अपनी जिंदगी को समेटने की जद्दोजहद में 2000 में उनकी मुलाकात ब्रिटिश सोशलाइट गिसलेन मैक्सवेल से हुई.

वर्जीनिया ज्यूफ्रै
ज्यूफ्रै उन दिनों पूर्व अमरीकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के मार-ए-लैगो रेजॉर्ट में लॉकर रूम अटैंडेंट के तौर पर काम कर रही थीं. उसी दौरान मैक्सवैल ने उनसे कहा कि वह उन्हें मसाज थेरेपिस्ट की ट्रेनिंग दिलाने में मददगार एक इंटरव्यू का मौका दिला सकती हैं.

इस वाकये को याद करती हुईं वर्जीनिया कहती हैं, " मैं दौड़ कर अपने पिता के पास पहुंची, जो उन दिनों मार-ए-लैगो के टेनिस कोर्टों में काम किया करते थे. उन्हें पता था कि मैं अपनी जिंदगी को संवारने की कोशिश में लगी हूं. इसलिए उन्होंने मुझे रेज़ॉर्ट में काम दिलाया था. इस ऑफर को लेकर मैं बेहद खुश थी. मैंने उनसे कहा- पिताजी आप विश्वास नहीं करेंगे कि मुझे कितना बड़ा मौका मिल रहा है. "

जब ज्यूफ्रै पाम बीच पर जैफ्री एप्सटीन के घर पहुंचीं तो देखा कि वह बगैर कपड़े के लेटे हुए थे. जैफ्री अमेरिका के एक अमीर अमरीकी फाइनेंसर थे, जिन्होंने 2019 में खुदकुशी कर ली थी. मैक्सवैल ने उन्हें बताया कि उन्हें एप्सटीन की कैसे मालिश करनी है.

वह कहती हैं, " पूरे वक्त वे मेरे बारे में पूछते रहे कि मैं कौन हूं. कहां रहती हूं, वगैरह-वगैरह."

ज्यूफ्रै ने बीबीसी से कहा, " वे मुझे अच्छे लोग लगे इसलिए मैंने उन पर भरोसा कर लिया. मैंने उन्हें बताया कि मैं किस मुश्किल दौर से गुजरी हूं. मैंने बताया कि मैं घर से भाग गई थी. मेरे साथ यौन दुर्व्यवहार हुआ. मेरा शारीरिक शोषण हुआ. अपने बारे में जो सबसे खराब बात थी वह मैंने बता थी. इससे उन्हें पता चल गया कि मैं कितनी कमज़ोर हूं. "

ज्यूफ्रै जिस जॉब इंटरव्यू की उम्मीद बांधे हुई थीं, वो कभी नहीं हुआ. एप्सटीन से मुलाकात के बाद उनके शोषण के दिन शुरू हो गए.

अदालत में ज्यूफ्रै का जिक्र कई बार हुआ है लेकिन केस में जिन चार महिलाओं की गवाहियाँ ली गई थी, उनमें वह शामिल नहीं थीं. मैक्सवैल ने कहा था कि उसने कभी भी ज्यूफ्रै पर हमला नहीं किया.

2015 में ज्यूफ्रै ने मैक्सवैल पर मानहानि का मुकदमा दायर किया था. मैक्सवेल ने उन पर झूठ बोलने का आरोप लगाया था. इस केस में बाद में समझौता हो गया था.

प्रिंस पर क्या हैं आरोप ?
ज्यूफ्रै ने कहा कि वह एप्सटीन की ओर से यौन शोषण की शिकार होने के बाद उनके ताकतवर सहयोगियों के बीच परोसी जानी लगीं. उन्हें फलों की प्लेट की तरह उनके आगे किया जाता रहा. " इस दौरान वह पूरी दुनिया में प्राइवेट जेट से ले जाई जाती रहीं.

2001 में जब वह सिर्फ 17 साल की थीं तो एप्सटीन उन्हें लंदन ले गए. वहां उन्होंने ज्यूफ्रै की मुलाकात प्रिंस एंड्रयू से करवाई. उस दौर की एक तस्वीर में प्रिंस एंड्र्यू ज्यूफ्रै को बाँहों में समेटे दिख रहे हैं, जबकि मैक्सवैल पीछे खड़ी मुस्कुराती दिख रही हैं. यह तस्वीर एक नाइट शो के दौरान ली गई थी.

ज्यूफ्रै बताती हैं कि एक नाइटक्लब में पहुंचने के बाद मैक्सवैल ने कहा कि उन्हें प्रिंस एंड्र्यू के साथ वही सब करना होगा जो वह जैफ्री के साथ करती हैं.

ज्यूफ्रै ने बीबीसी से कहा यह वाकई में उनके लिए बेहद डरावना वक्त था. मैं किसी सिंक से बंधी हुई नहीं थी लेकिन ये ताकतवर लोग मेरी जंज़ीर बन गए थे.

अपने मुकदमे में ज्यूफ्रै ने आरोप लगाया है कि प्रिंस ने उनका तीन बार यौन शोषण किया. उस रात मैक्सवैल के लंदन वाले घर में फिर बाद में एप्सटीन के मैनहटन और वर्जिन आईलैंड के सेंट जेम्स में बने मकान में.

प्रिंस एंड्र्यू ने 2019 में बीबीसी न्यूज़नाइट में एक इंटरव्यू के दौरान कहा कि उन्हें ज्यूफ्रै से मुलाकात की कोई याद नहीं है. उनसे पूछा गया ज्यूफ्रै ने कहा है कि आपने उनके साथ अमेरिका और ब्रिटेन में यौन संबंध बनाए. इस पर प्रिंस ने कहा- "ऐसा कभी नहीं हुआ था."

दलदल से कैसे निकलीं ज्यूफ्रै?
ज्यूफ्रै ने मयामी हेराल्ड अख़बार से एक बातचीत में कहा था कि 2003 तक आते-आते एप्सटीन ने उनमें दिलचस्पी खो दी थी क्योंकि उन्हें लगता था कि वह उम्रदराज़ हो गई हैं.

हालांकि उन्होंने एप्सटीनन को इस बात के लिए मना लिया कि वह प्रोफेशनल मसाजर बनने के लिए दिलाई जाने वाली ट्रेनिंग का पैसा उन्हें दे दें.

आखिर एप्सटीन ने थाईलैंड में उनकी ट्रेनिंग का इंतजाम कर दिया. लेकिन वह ज्यूफ्रै से इस बात की उम्मीद कर रहे थे कि वह वहां से एक थाई लड़की को ले आएं. थाई लड़की को अमेरिका लाने का इंतजाम भी एप्सटीन ने ही करवाया था.

लेकिन इस बीच, थाईलैंड के सफर में उनकी मुलाकात एक ऐसे शख्स से हो गई, जिनसे वह प्यार करने लगी थीं. दस दिन बाद ही दोनों ने शादी कर ली.

अपना वैवाहिक जीवन शुरू करने के लिए ज्यूफ्रै उस शख्स के साथ ऑस्ट्रेलिया चली गईं. ज्यूफ्रै अब पर्थ के तटीय इलाके में अपने पति और तीन बच्चों के साथ एक बड़े घर में रहती हैं.

उन्होंने अब एक नॉन प्रॉफिट ऑर्गेनाइजेशन स्पीक आउट, एक्ट, रिक्लेम ( SOAR) की नींव रखी है. वह ट्रैफिकिंग की शिकार महिलाओं को जागरुक करने और उनकी आवाज उठाना का इरादा रखती हैं.

पिछले महीने मैक्सवैल के खिलाफ अदालती फैसला आने के बाद ज्यूफ्रै ने न्यूयॉर्क मैगज़ीन से कहा, " निश्चित तौर पर यह मामला अभी खत्म नहीं हुआ." इस मामले में कई और लोग शामिल हैं. (bbc.com)

अन्य पोस्ट

Comments