राष्ट्रीय

राहुल ने 'मोटरसाइकिल डायरीज़' में कहा : चीनी घुसपैठ पर पीएम मोदी का रुख 'दिल तोड़ने वाला'
15-Sep-2023 12:30 PM
 राहुल ने 'मोटरसाइकिल डायरीज़' में कहा : चीनी घुसपैठ पर पीएम मोदी का रुख 'दिल तोड़ने वाला'

नई दिल्ली, 15 सितंबर । कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने गुरुवार को अपनी हालिया लद्दाख यात्रा को अपनी 'मोटरसाइकिल डायरीज' के माध्यम से साझा करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा चीन के बारे में झूठ बोलने पर कि लद्दाख में देश की जमीन पर कोई कब्जा नहीं हुआ, देश के साथ विश्‍वासघात की भावना देखकर उनका दिल टूट गया।

उन्होंने कहा कि लद्दाख भारत के मुकुट रत्‍नों में से एक है और दुनिया का सबसे महत्वपूर्ण रणनीतिक स्थान है।

उन्होंने कहा कि वह लद्दाख की लोकतांत्रिक आवाज को बढ़ाने के लिए हर संभव प्रयास करेंगे।

राहुल गांधी ने यूट्यूब पर 'मोटरसाइकिल डायरीज : लिसनिंग टू लद्दाख' शीर्षक से अपनी यात्रा का वीडियो साझा करते हुए कहा, "मेरे पिता ने एक बार मुझसे कहा था कि पैंगोंग त्सो झील पृथ्वी पर सबसे खूबसूरत जगहों में से एक है। मैं हमेशा वहां जाने के लिए उत्सुक रहा हूं। लद्दाख में प्राकृतिक दृश्यों को देखने के लिए, लोगों की बात सुनने के लिए, उनकी समस्याओं को समझने के लिए और उनकी खुशियां साझा करने के लिए वहां गया।”

कांग्रेस नेता ने कहा, "जैसा कि मैंने अपनी 'भारत जोड़ो यात्रा' जारी रखी, मैंने मन में सोचा कि मोटरसाइकिल से लद्दाख जाने का इससे बेहतर तरीका क्या हो सकता है! और इस तरह यह रोमांचक यात्रा शुरू हुई।"

"अपने साथी बाइक सवारों के साथ मैंने अपने केटीएम390 पर अपने जीवन की सबसे रोमांचक यात्रा में से एक का अनुभव किया। हमने जो 1000 किमी से अधिक यात्रा की वह शुद्ध एड्रेनालाइन और सौहार्द से भरी थी। मैंने इन युवाओं में लीक से हटकर सोचने की काफी संभावनाएं देखीं।"

उन्होंने अपनी लद्दाख यात्रा के अनुभव को याद करते हुए कहा, "लेह से लेकर कारगिल तक हम जिस भी गांव और कस्बे से गुजरे, अविश्‍वसनीय लद्दाखी लोगों ने हमें गले लगाया।"

"वे विनम्र, सहानुभूतिपूर्ण और लचीले हैं। लद्दाख के बारे में उनका ज्ञान बेजोड़ है, और क्षेत्र के भविष्य के विकास की कोई भी योजना उनके इनपुट पर आधारित होनी चाहिए। बिना किसी हिचकिचाहट के मैं कह सकता हूं, लद्दाख के बारे में सबसे खूबसूरत हिस्सा इसके लोग हैं।"

उन्होंने लोगों के साथ अपनी मुलाकात को भी याद किया और कहा : "हमारे पूर्व सैनिकों, ऑन-ड्यूटी सेना और पुलिस कर्मियों, बीआरओ अधिकारियों और श्रमिकों के साथ देशभक्ति की भावना का आनंद लेना प्रेरणादायक था, जिनसे मैं इस यात्रा के दौरान मिला था। वे हैं हमारी भारत माता के वीर सपूत।”

"लद्दाख भारत के मुकुट रत्‍नों में से एक है, और दुनिया के सबसे महत्वपूर्ण रणनीतिक स्थानों में से एक है। जब प्रधानमंत्री ने चीन के बारे में झूठ बोला तो उन्हें लगा कि प्रधानमंत्री ने उन्हें धोखा दिया है, लद्दाख के लोगों की आंखों में विश्‍वासघात की भावना देखकर मेरा दिल टूट गया। यह कहना कि वे हमारी जमीन पर कब्जा नहीं कर रहे हैं, उन्हें भाजपा सरकार द्वारा धोखा महसूस हुआ। यहां के लोग कहते हैं कि उनसे किए गए वादे को पूरा करने में सरकार विफल रही। एक सरकार को अपने सभी लोगों को सशक्त बनाना चाहिए। लद्दाख को सुशासन की जरूरत है।''

उन्होंने कहा, "मैं लद्दाख की लोकतांत्रिक आवाज को बुुुुलंद करने के लिए हर संभव प्रयास करूंगा। भारत माता की जय।"

राहुल गांधी ने 17-25 अगस्त तक आठ दिनों से अधिक समय तक लद्दाख का दौरा किया था। वह लेह, पैंगोंग त्सो झील क्षेत्र, कारगिल और लद्दाख के कई अन्य हिस्सों में गए।

कांग्रेस महासचिव जयराम रमेश ने वीडियो शेयर करते हुए एक ट्वीट में कहा, ''24 जनवरी को 'भारत जोड़ो यात्रा' के दौरान राहुल गांधी ने कोटली झज्जर में लद्दाख के एक प्रतिनिधिमंडल से मुलाकात की थी और इसमें वे लोग भी शामिल थे, जो चाहते थे कि वह लद्दाख आएं. . उन्होंने पिछले महीने अपना वादा पूरा किया। 'भारत जोड़ो यात्रा' को आगे बढ़ाते हुए वह लद्दाख गए।"

वीडियो में राहुल गांधी को बाइकिंग के शौकीनों के एक समूह के साथ देखा जा सकता है, जो उनके साथ मोटरसाइकिलों पर उबड़-खाबड़ और पथरीले इलाकों से गुजरते हुए पैंगोंग त्सो झील और लद्दाख के अन्य इलाकों की यात्रा कर रहे थे। उन्हें लद्दाख के आसपास विभिन्न समूहों के साथ बातचीत करते और उनकी मांगों को जानते हुए भी देखा जाता है।

उन्हें वीडियो में लद्दाख के लोगों से कहते हुए सुना जा सकता है, "मैंने लोगों, माताओं, बहनों और युवाओं से बात की और यह समझने की कोशिश की कि आपके दिल में क्या है। एक बात स्पष्ट है कि गांधी और कांग्रेस की विचारधारा लद्दाख के खून और डीएनए में है। मैं आपको बताना चाहता हूं कि अगले संसद सत्र में मैं आपके मुख्य मुद्दे उठाऊंगा।''

इससे पहले, कांग्रेस नेता ने 1 अगस्त को दिल्ली की आजादपुर मंडी का दौरा किया था, जो एशिया की सबसे बड़ी थोक सब्जी और फल बाजार में से एक है।

जुलाई में उन्होंने हरियाणा के सोनीपत में खेतों का दौरा किया था और एक खेत में धान के पौधे बोए थे और महिला किसानों को अपने आवास पर दोपहर के भोजन के लिए आमंत्रित भी किया था।

उन्होंने ट्रक ड्राइवरों की समस्याओं को समझने के लिए मई में हरियाणा के मुरथल से अंबाला तक ट्रक की सवारी की थी। उन्होंने कर्नाटक के बेंगलुरु में गिग वर्कर्स से मुलाकात की थी और एक डिलीवरी पार्टनर के साथ स्कूटी भी चलाई थी।

राहुल ने छात्रों के साथ दोपहर के भोजन के लिए दिल्ली विश्‍वविद्यालय के पीजी पुरुष छात्रावास का दौरा किया था, यूपीएससी उम्मीदवारों के साथ बातचीत करने के लिए दिल्ली के मुखर्जी नगर इलाके का भी दौरा किया था और इस साल अप्रैल में जामा मस्जिद और बंगाली मार्केट इलाके की भी यात्रा की थी। (आईएएनएस)।

अन्य पोस्ट

Comments

chhattisgarh news

cg news

english newspaper in raipur

hindi newspaper in raipur
hindi news