ताजा खबर

बलौदाबाजार हिंसा, 200 गिरफ्तारियां, कलेक्टर-एसपी का तबादला
12-Jun-2024 4:09 PM
बलौदाबाजार हिंसा, 200 गिरफ्तारियां, कलेक्टर-एसपी का तबादला

  आँखों देखा हाल : कलेक्टरेट सफाई के लिए खुला, एसपी दफ्तर में ताला  

शहर की 40 फीसदी दुकान बंद, सडक़ों पर पसरा सन्नाटा

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता 
बलौदाबाजार, 12 जून।
बलौदाबाजार हिंसा के बाद पूरे जिले में हफ्ते भर तक के लिए धारा 144 लागू की गई है। शासन ने इस मामले में कलेक्टर कुमार लाल चौहान और पुलिस अधीक्षक सदानंद कुमार को हटाकर वहां नए कलेक्टर और एसपी की स्थापना कर दी है। एसपी दीपक सोनी को बलौदाबाजार का नया कलेक्टर बनाया गया है। जबकि कुमार लाल चौहान को मंत्रालय में विशेष सचिव के पद पर पदस्थ किया गया है। अंबिकापुर के पुलिस अधीक्षक विजय अग्रवाल को बलौदाबाजार भाटापारा का नया पुलिस अधीक्षक बनाया गया है।

सोमवार रात 9 बजे से लागू धारा 144 को तोड़ते हुए लोग मंगलवार सुबह कलेक्टोरेट परिसर में तबाही का तमाशा देखने पहुंचे थे। आग में जलकर खाक परिसर की इमारत और गाडिय़ों की तस्वीर खींचने की होड़ थी।

कलेक्ट्रेट दफ्तर में अफसर का आना-जाना आज दोपहर 2 बजे के बाद शुरू हुआ, जबकि आगजनी में बुरी तरह खाक हो चुके एसपी दफ्तर में देर शाम तक ताला लटक रहा। शहर की 40 फ़ीसदी से ज्यादा दुकानों के शटर भी बंद रहे।

इधर, शहर से 12 किलोमीटर दूर खजूरी समेत आसपास आधा दर्जन गांवों में भी लोगों के मन में प्रशासन के खिलाफ गुस्सा भडक़ रहा है। सोमवार को सैकड़ों ग्रामीणों ने बलौदाबाजार बिलासपुर रोड पर चक्काजाम का प्रदर्शन भी किया था। फिलहाल उन्होंने अपना आंदोलन स्थगित कर दिया है। लेकिन 16 जून को धारा 144 हटते ही दोबारा चक्काजाम करने की बात कही है। यही नहीं मांग पूरी न होने पर उग्र आंदोलन की भी चेतावनी दी है।

प्रदर्शनकारी पेट्रोल बम लेकर पहुंचे थे
घटना के दौरान तहसील कलेक्टरेट और एसपी कार्यालय में मौजूद पुलिस कर्मियों और वहां काम कराने पहुंचे भीम सेन, कुशल वर्मा, भूपेश साहू, प्रमोद साहू, नेतराम निर्मलकर ने बताया कि प्रदर्शनकारी पेट्रोल बम लेकर पहुंचे हुए थे। उन्होंने बैरिके ड्स तोड़े और कार्यालय में तोडफ़ोड़ करने लगे।

आबकारी विभाग की जली अलमारी में मिली बंदूक
फायर ब्रिगेड की टीम ने भवन के बाहरी हिस्से और वाहनों में लगी आग को तो दो घंटे में बुझा दिया। मगर कलेक्टोरेट के दूसरी मंजिल में स्थित सांख्यिकी विभाग और आबकारी विभाग के ऑफिस को भारी नुकसान पहुंचा है। अधिकांश दस्तावेज खाक हो गए या भीगकर जल गए हैं। आबकारी विभाग के अलमारी में रखी बंदूक पड़ी मिली।

दहशत भरे उन 90 मिनट में यह सब हुआ
सोमवार को बलौदाबाजार के सभा स्थल से जब बेकाबू भीड़ शहर की सडक़ों की ओर बढऩे लगी तो पुलिस से स्थिति संभाली नहीं गई। 

बैरिके ड्स तोडऩे के बाद फायर फाइटिंग की गाडिय़ों पर चढक़र युवाओं ने तोडफ़ोड़  की। सुरक्षा कर्मी खुद को बचाकर जैसे-तैसे भागे, 30 से 35 पुलिस कर्मियों को भी चोट आई है। इसके बाद भीड़ कलेक्टोरेट और एसपी कार्यालय में घुसी। एक-एक कर 100 से अधिक गाडिय़ां  जला दी गई या तोड़ दी गई। दफ्तर में आग लगा दी गई। गरीब 90 मिनट तक यह स्थिति बेकाबू रही, इसके बाद अतिरिक्त फोर्स बुलाकर भीड़ को हटाया।

जिनके वाहन जलकर खाक उनके आंसू रूक नहीं रहे
मंगलवार सुबह कंपोजिट बिल्डिंग जाकर ‘छत्तीसगढ़’ ने आंकलन किया तो सोमवार शाम को हुए उपद्रव व आगजनी के निशान पूरे कलेक्ट्रेट तथा पुलिस अधीक्षक कार्यालय में चारों ओर नजर आए। परिसर में चारों ओर बिल्डिंग के टूटे शीशे टूटे खिड़कियों तथा अस्त-व्यस्त फाइल फर्नीचर गवाही दे रहे हैं कि सोमवार शाम को परिसर में जमकर हंगामा हुआ है। परिसर में दर्जन भर से अधिक चार पहिया वाहन तथा दर्जनों दो पहिया वाहन के केवल ढांचे ही बचे हुए थे। 

24 घंटे से अधिक समय होने के बाद में भी ढांचे के लोहे ताप रहे थे। वहीं इन गाडिय़ों के अन्य सभी सामान आग से पूरी तरह नष्ट हो चुके हैं। कलेक्टोरेट तथा पुलिस अधीक्षक कार्यालय में कार्यरत स्टाफ ने एक-एक पाई पाई जोडक़र यह गाड़ी खरीदी थी। कई आम जनों की गाडिय़ां भी इस आगजनी में खाक हो गई। उनकी आंखों से आंसू रोक नहीं रुक रहे हैं।

राख के ढेर में जरूरी दस्तावेजों को खंगालते हुए दिखे अफसर-कर्मी
आमतौर पर काम के लिए आने वाले लोगों से गुलजार कलेक्टर परिसर के अंदर मंगलवार को पूरे दिन सन्नाटा परसा रहा। दोपहर 2 बजे के बाद कुछ एक स्टाफ नजर आए जो राख के ढेर में जरूरी फाइलें खंगार रहे थे। विभाग अब नुकसान का आंकलन करने में जुड़ गया है। बहुत सी फाइलों का डाटा अभी ऑनलाइन अपडेट नहीं हो पाया है। इसे लेकर ही बड़ी चिंता है फिलहाल पता नहीं चल पा रहा है कि कौन सी जरूरी दस्तावेज जलकर नष्ट हो चुकी है। इधर, सोमवार को भडक़ी हिंसा का असर मंगलवार को भी देखने मिला। ज्यादातर व्यापारियों ने खुद ही दुकान बंद कर रखी थी।

चेंबर कल दुकान बंद कर मारपीट के खिलाफ जताएगा विरोध
10 तारीख को कलेक्टर कार्यालय तथा पुलिस अधीक्षक कार्यालय में हिंसा व आगजनी की घटना के बाद उपद्रव्यों द्वारा बस स्टैंड के कुछ व्यापारियों के साथ मारपीट की गई। दुकानों में ें तोडफ़ोड़  भी की गई। इसके विरोध में चेंबर ऑफ कॉमर्स ने गुरुवार को नगर में बंद का आह्वान किया है। चेंबर ऑफ कॉमर्स अध्यक्ष जुगल भट्टर ने बताया कि गुरुवार को नगर के चेंबर से जुड़े सभी व्यापारी अपने दुकान बंद रखेंगे। उन्होंने दोषियों को कड़ी से कड़ी सजा दिलाए जाने की मांग की है। चेंबर का कहना है की भीड़ द्वारा शांति प्रिया शहर में उपद्रव करना गलत है।

130 गाडिय़ां जलाईं, 30 पुलिस जवानों को पीटा, 8 एफआईआर

मंगलवार को पुलिस ने बताया कि छत्तीसगढ़ सतनामी समाज ने अमर गुफा गिरोधपुरी में घटित मामले में उच्चस्तरीय जांच की मांग की थी। पूर्व में बोडसरा कबीरधाम आदि में सतनामी समाज संबंधित विभिन्न मुद्दों को लेकर दशहरा मैदान में धरना प्रदर्शन किया था। इसमें सुरक्षा प्रबंधन के लिए पर्याप्त पुलिस बल लगाने के साथ में मजिस्ट्रियल ड्यूटी भी आदेशित किया गया था। 

इस बारे में 7 जून को संयुक्त कार्यालय में सर्वदलीय बैठक रखी गई थी। इसमें आयोजनकर्ताओ द्वारा शांति व्यवस्था बनाए रखने का आश्वासन दिया गया था। इस दौरान धरना प्रदर्शन में शामिल लोगों द्वारा आक्रोशित होकर पुलिस बल के साथ झूमाझपटी पत्थरबाजी मारपीट करते हुए संयुक्त कार्यालय परिसर में खड़ी गाडिय़ों में आग लगा दी। इस घटना में 130 से ज्यादा  गाडिय़ां जलकर खाक हो गई। जबकि 30 से ज्यादा पुलिस वालों वाले घायल हुए हैं। अपराधियों के खिलाफ 8 एफआईआर में विभिन्न मामलों के तहत अपराध दर्ज किया गया है। इसके अलावा खबर है कि पुलिस ने मामले में पूछताछ के लिए 200 से ज्यादा लोगों को हिरासत में लिया है। बताया जा रहा है कि इसमें से भी कुछ लोगों को हिंसा भडक़ाने के आरोप में जल्द गिरफ्तार किया जा सकता है। इलाके के कुछ बड़े नेताओं की भी सोमवार कि इस घटना के मामले में गिरफ्तारी हो सकती है।

 24 घंटे चलेगा काम
सोमवार को असामाजिक तत्वों द्वारा जिला मुख्यालय स्थित कलेक्टोरेट बिल्डिंग में हुई तोडफ़ोड़  व आगजनी की घटना के बाद कलेक्टरेट बिल्डिंग की दोबारा साज सज्जा  सफाई व दैनिक कार्यालयीन के सुचारू संचालन को भी लेकर संभाग आयुक्त डॉ. संजय अलंग व रायपुर रेंज के पुलिस महानिरीक्षक अमरेश मिश्रा ने मंगलवार को संयुक्त जिला कार्यालय का निरीक्षण किया। इसके बाद सभा कक्ष में लोक निर्माण विभाग विद्युत विभाग के अधिकारियों व नगरी निकाय के मुख्य नगर पालिका अधिकारियों की बैठक ली। 

उन्होंने कलेक्टरेट बिल्डिंग की रेनोवेशन के काम में तेजी लाकर समान स्थिति बहाल करने पर जोर देते हुए इसे सर्वोच्च प्राथमिकता देने के निर्देश दिए सच सजा जल्द से जल्द पूर्ण करने मजदूरों की शिफ्टिंग में ड्यूटी लगाने कहा है ताकि काम 24 घंटे जारी रहे। 

उन्होंने कहा है कि जिन अफसर में दस्तावेज नष्ट हुए हैं तथा जो शेष बचे हैं उनकी लिस्टिंग कराए। वाहनों की क्षति की भी लिस्टिंग कराए विद्युत विभाग को भी जरूरी निर्देश दिए।

बलौदाबाजार के कलेक्टर-एसपी हटाए गए

शासन ने इस मामले में कलेक्टर कुमार लाल चौहान और पुलिस अधीक्षक सदानंद कुमार को हटाकर वहां नए कलेक्टर और एसपी की स्थापना कर दी है। एसपी दीपक सोनी को बलौदाबाजार का नया कलेक्टर बनाया गया है। जबकि कुमार लाल चौहान को मंत्रालय में विशेष सचिव के पद पर पदस्थ किया गया है।अंबिकापुर के पुलिस अधीक्षक विजय अग्रवाल को बलौदाबाजार भाटापारा का नया पुलिस अधीक्षक बनाया गया है।

अन्य पोस्ट

Comments

chhattisgarh news

cg news

english newspaper in raipur

hindi newspaper in raipur
hindi news