सेहत / फिटनेस

आखिर क्यों, फिट रहने के लिए जिम में पसीना बहाकर भी नहीं घटता है वजन?
आखिर क्यों, फिट रहने के लिए जिम में पसीना बहाकर भी नहीं घटता है वजन?
Date : 06-Jul-2019

नई दिल्ली, 6 जुलाई । भाग-दौड़ भरी जिंदगी में स्वयं को सेहतमंद रखना किसी चुनौती से कम नहीं है। अक्सर देखने में आता है खुद को फिट रखने के लिए लोग जिम में जमकर पसीना बहाते हैं और उसके बाद भी उनके वजन में फर्क नहीं पड़ता। आखिर ऐसा क्यों होता है? एक अध्ययन में शोधकर्ताओं ने इसकी वजह बताई है।
शोधकर्ताओं के अनुसार, वर्तमान जीनवशैली में वजन बढऩा आम बात सी हो गई है, जिसे घटाने के लिए लोग अपने-अपने स्तर पर प्रयास करते हैं। लेकिन जाने-अनजाने वे अपनी दिनचर्या में कुछ ऐसा बदलाव कर लेते हैं जो उल्टा उनका ही दुश्मन बन जाती है, जिसके चलते वजन घटाने के उनके सारे प्रयास व्यर्थ साबित होते हैं। शोधकर्ताओं ने कहा कि लोग अक्सर व्यायाम के बहाने ज्यादा खाना खाने लगते हैं, या वे लोग अपने अन्य दैनिक क्रियाकलाप कम कर देते हैं, जिसका उन्हें सबसे ज्यादा नुकसान झेलना पड़ता है। अध्ययन के दौरान कुछ ऐसे लोग भी मिले जिनका वजन अन्य की अपेक्षाकृत कुछ कम हुआ। शोधकर्ताओं ने कहा कि इन लोग की सफलता अन्य लोगों के लिए एक पाठ हो सकती है।
कैसे किया अध्ययन
इस अध्ययन के लिए शोधकर्ताओं ने 18 से 61 वर्ष के 171 ऐसे लोगों को शामिल किया जो जिम जाकर व्यायाम नहीं करते थे। शोधकर्ताओं ने कुछ लोगों को सामान्य जीवन जीने को कहा गया, जबकि कुछ लोगों को व्यायाम शुरू करवाया गया। व्यायाम करने वाले लोगों को भी दो समूहों में बाटा गया। एक समूह को व्यायाम के जरिये सप्ताह में करीब 700 कैलोरी घटानी थी, वहीं दूसरे समूह को 1,760 कैलोरी कम करनी थी।
दैनिक क्रियाकलाप हैं जरूरी
अध्ययन के दौरान शोधकर्ताओं ने पाया कि जो लोग व्यायाम नहीं कर रहे थे, उनमें कोई अंतर नहीं देखा गया। वहीं, जो लोग व्यायाम कर रहे थे उनका वजन बहुत कम घटा पाया गया क्योंकि उन्होंने व्यायाम करने के बाद ज्यादा आहार लेना शुरू कर दिया था और अपनी दिनचर्या भी उन्होंने बदल दी थी। इससे उनके शरीर में व्यायाम का कोई फायदा नहीं देखा गया। करसत करने से लोग पतले होते हैं यह तो सभी जानते हैं। लेकिन मनुष्य का मेटाबोलिजम (उपापचय) हमेशा इसे सिद्ध नहीं करता। कई पुराने अध्ययन बताते हैं कि जिन लोगों ने वजन घटने के लिए नए व्यायाम शुरू किया था, उनका वजन कम होने की बजाय कई गुना बढ़ गया क्योंकि उन्होंने अपने दैनिक क्रियाकलापों 30 से 40 फीसद तक कम कर दिए थे।
कैसे हो सकता है फायदा 
शोधकर्ताओं ने बताया कि यदि आप वास्तव में अपना शरीर फिट रखना चाहते हैं तो आपको कसरत के साथ-साथ अपने दैनिक क्रियाकलाप भी पूर्ववत ही रखने होंगे। साथ ही अपने भोजन से ऐसे आहारों को दूर रखना होगा जो वजन बढ़ाते हैं। शोधकर्ताओं ने कहा कि यदि आप ज्यादा कैलोरी वाले खाद्य-पदार्थों का सेवन करते हैं तो आपको यह भी तय करना होगा कि उस कैलोरी को कैसे बर्न (कम) करना है। तब जाकर आप अपने वजन पर कंट्रोल पा सकते हैं। (जागरण)

 

Related Post

Comments