राजनीति

गठबंधन में सबसे ज्यादा फायदा शरद पवार की पार्टी एनसीपी को, मिल सकते हैं अहम मंत्रालय
गठबंधन में सबसे ज्यादा फायदा शरद पवार की पार्टी एनसीपी को, मिल सकते हैं अहम मंत्रालय
Date : 01-Dec-2019

नई दिल्ली, 1 दिसंबर। महाराष्ट्र में कांगे्रस-एनसीपी और शिवसेना के गठबंधन वाली सरकार बन जाने के बाद अब कयास कैबिनेट को लेकर चलाए जा रहे हैं। सूत्रों के मुताबिक जो जानकारी मिल रही है एनसीपी को इस सरकार में सबसे ज्यादा फायदा होता दिखाई दे रहा है। डिप्टी सीएम की पोस्ट के अलावा के 43 सदस्यों वाली कैबिनेट में पार्टी के 16 मंत्री बन सकते हैं। वहीं शरद पवार की भी भूमिका काफी अहम होगी। वैचारिक रूप से पूरी तरह से भिन्न कांग्रेस और शिवसेना के बीच सेतु के तौर पर देखे जा रहे हैं। एनसीपी को शिवसेना की तुलना में एक मंत्री पद ज्यादा मिलेगा क्योंकि एक अन्य सहयोगी कांग्रेस के विधायक नाना पटोले को स्पीकर चुना गया है। 
सूत्रों का कहना है कि शरद पवार के सबसे भरोसेमंद जयंत पाटिल को गृहमंत्री का पद मिलने जा रहा है। पाटिल इससे पहले भी इस मंत्रालय में थोड़े के समय के लिए काम कर चुके हैं। छगन भुजबल के अलावा जयंत पाटिल ही ऐसा नेता हैं जिन्होंने उद्धव ठाकरे के साथ शपथ लिया है। इसके अलावा शरद पवार के भतीजे अजित पवार को डिप्टी सीएम का पद मिलेगा जिन्होंने रात में बीजेपी के साथ मिलकर सुबह सरकार बना ली थी और डिप्टी सीएम बन गए। इसके बाद महाराष्ट्र की राजनीति में हडक़ंप मच गया था। लेकिन बाद में सुप्रीम कोर्ट के बहुमत साबित करने के आदेश के बाद उन्होंने अपने पद से इस्तीफा दे दिया। हालांकि गुरुवार की सुबह जब उनसे पूछा गया कि क्या वह फिर से डिप्टी सीएम बनने जा रहे हैं तो उनका जवाब था कि पार्टी फैसला करेगी। 
वहीं बात करें कांग्रेस की तो उसको राजस्व मंत्रालय के साथ ही उसे 12 मंत्रालय दिए जाने की उम्मीद है। महाराष्ट्र कांग्रेस अध्यक्ष और 8 बार के विधायक बाला साहेब थोराट, महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री अशोक चह्वाण ने गुरुवार को उद्धव के साथ ही शपथ लिया है। बाला साहेब थोराट को पिछले हफ्ते ही विधायक दल का नेता चुना गया है। शिवसेना के हिस्से शहरी विकास मंत्रालय आने की उम्मीद है। गुरुवार के हुए पार्टी के नेता एकनाथ शिंदे और सुभाष देसाई ने उद्धव ठाकरे के साथ शपथ लिया था। दोनों ही नेता पिछली सरकार में कैबिनेट मंत्री के रूप में अपनी सेवा दे चुके हैं। नाना पटोले के चुने के बाद महाराष्ट्र के पूर्व सीएम देवेंद्र फडणवीस को विपक्ष का नेता नियुक्त किया गया।  (एनडीटीवी)

 

Related Post

Comments