राजनीति

दिल्ली भाजपा का चुनावी वीडियो, केजरीवाल को बताया खलनायक
दिल्ली भाजपा का चुनावी वीडियो, केजरीवाल को बताया खलनायक
Date : 12-Jan-2020

नई दिल्ली, 12 जनवरी (न्यूज18)। दिल्ली विधानसभा चुनाव 2020 की तारीखों का ऐलान होते ही राजनीतिक सरगर्मी तेज हो गई है। नेताओं की ओर से आरोप-प्रत्यारोप लगाने का दौर भी शुरू हो गया है। इसी बीच दिल्ली बीजेपी के ट्विटर हैंडल से एक अजीबोगरीब वीडियो जारी किया गया है। इस वीडियो में मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को आम आदमी पार्टी का खलनायक बताया गया है। बीजेपी ने अनिल कपूर की सुपरहिट फिल्म नायक के कुछ हिस्सों को फोटो शॉप पर एडिट करते हुए ट्वीट किया है। खास बात यह है कि भाजपा ने नायक फिल्म के एडिटेड उस हिस्से को नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ दिल्ली में हुई हिंसा से जोड़ा है।
बीजेपी ने फिल्म के उस हिस्से को ट्वीट किया है, जिसमें अनिल कपूर, अमरीश पुरी का इंटरव्यू लेते हैं। वीडियो में अमरीश पुरी के चेहरे की जगह पर अरविंद केजरीवाल का फेस जोड़ा गया है। साथ ही फिल्म के अन्य कैरेक्टर्स की जगह पर डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया के साथ-साथ आम आदमी पार्टी के अन्य नेताओं के चेहरे को दिखाया गया है।
भड़की हिंसा को दिखाया जाता है ऑडियो को भी एडिट किया गया है। ऑडियो को एडिट कर फिल्म के उस अंश को सीएए के खिलाफ दिल्ली में भड़की हिंसा के साथ जोड़ा गया है। अनिल कपूर द्वारा पूछे गए प्रश्नों को संपादित कर जामिया में भड़की हिंसा को दिखाया जाता है। आप इस वीडियो में भीड़ को बसों में आग लगाते हुए देख सकते हैं। साथ ही विधायक अमानतुल्ला खान को सीएए प्रोटेस्टर के बीच भाषण देते हुए देखा जा सकता है। बीजेपी ने दिल्ली के विभिन्न हिस्सों में भड़की हिंसा के लिए आम आदमी पार्टी को जिम्मेदार ठहराया गया है। 
8 फरवरी को चुनाव और 11 को नतीजे
 दिल्ली की सभी 70 विधानसभा सीटों के लिए 8 फरवरी को विधानसभा चुनाव होना है। वहीं, 11 फरवरी को चुनाव के नतीजे आएंगे। चुनाव आयोग ने इसी हफ्ते प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा था कि दिल्ली में चुनाव की तैयारियां पूरी हो गई हैं। चुनाव में 90 हजार कर्मचारियों की जरूरत होगी। दिल्ली में कुल 1।46 करोड़ मतदाता हैं। बुजुर्ग मतदाता पोस्टल बैलेट से मतदान में हिस्सा ले सकेंगे। चुनाव की घोषणा होते ही दिल्ली में आदर्श आचार संहिता लागू हो गई है। 70 सदस्यीय दिल्ली विधानसभा का कार्यकाल 22 फरवरी को खत्म होगा। नियमानुसार उससे पहले ही चुनाव संपन्न कराकर नई विधानसभा का गठन करना होगा।

Related Post

Comments