विशेष रिपोर्ट

राजनांदगांव,सुरक्षा बलों को उड़ाने नक्सलियों ने कार रिमोट को बनाया नया हथियार, कांकेर पंचायत चुनाव के दौरान नई तकनीक...
राजनांदगांव,सुरक्षा बलों को उड़ाने नक्सलियों ने कार रिमोट को बनाया नया हथियार, कांकेर पंचायत चुनाव के दौरान नई तकनीक...
Date : 22-Feb-2020

सुरक्षा बलों को उड़ाने नक्सलियों ने कार रिमोट को बनाया नया हथियार, कांकेर पंचायत चुनाव के दौरान नई तकनीक...

राजनांदगांव, 22 फरवरी (छत्तीसगढ़)। नक्सली ऑटोमोबाईल क्षेत्र में बेहद ही किफायती माने जाने वाले कार रिमोट को फोर्स पर हमला करने के लिए बखूबी इस्तेमाल कर रहे हैं। कार रिमोट जैसी घरेलू उपयोग की इलेक्ट्रॉनिक वस्तु से नक्सलियों के बम विस्फोट करने की तकनीक ने खुफिया एजेंसियों को हैरत में डाल दिया है। हाल ही में हुए पंचायत चुनाव में नक्सलियों ने कांकेर जिले में दर्जनभर स्थानों में फोर्स को उड़ाने की नियत से बम गड़ाया था। कांकेर पुलिस ने करीब 10 जगह से जमीन में छुपाए बमों को निष्क्रिय किया। छानबीन के दौरान पुलिस के समक्ष चौंकाने वाले तथ्य सामने आए। 

बताया गया है कि विस्फोट के लिए कार रिमोट के उपयोग किए जाने से अफसर हैरानी में पड़ गए। बताया जाता है कि कांकेर पुलिस को कोयलीबेड़ा, पंखाजूर तथा अंतागढ़ क्षेत्र के अंदरूनी मार्गों में इस तकनीक केे जरिए फोर्स को उड़ाने के पुख्ता प्रमाण मिले हैं। बम निष्क्रिय करने के दौरान एक स्थान पर नक्सलियों ने इस तकनीक की मदद से बलास्ट भी किया। वहीं 9 ठिकानों में पुलिस ने नक्सलियों के इरादे पर पानी फेर दिया। 

इस संबंध में कांकेर एसपी भोजराम पटेल ने ‘छत्तीसगढ़’ से चर्चा में कहा कि नक्सलियों द्वारा कार रिमोट का उपयोग करने की फॉरेंसिक जांच कराई जा रही है। एसपी का कहना है कि कार रिमोट की खरीदी पर भी पुलिस की नजर है। 

बताया जाता है कि नक्सलियों की इस तकनीक का जवाब देने के लिए फोर्स आईटी एक्सपट्र्स की मदद ले रही है। नक्सलियों ने उत्तर बस्तर के इस इलाके में इस तकनीक के जरिए सुरक्षाबलों को निशाने में लिया है। बताया जाता है कि इस इलेक्ट्रॉनिक्स डिवाईस को हासिल करना नक्सलियों के लिए आसान और सस्ता भी है। ऑटोमोबाईल के खुदरा बाजार में कार रिमोट सस्ते दाम पर उपलब्ध है। कांकेर पुलिस ने बरामद किए गए बमों में कार रिमोट के उपयोग करने की पुख्ता जानकारी हासिल की है। पुलिस ने कार बाजारों में अपनी पैनी निगाह रखते हुए गहन जांच शुरू कर दी है। 

सूत्रों का कहना है कि कार रिमोट से विस्फोट करने की नक्सलियों की यह नीति सुरक्षाबलों पर भारी पड़ सकती है। बता दें कि खुफिया एजेसियां इस बात से अच्छी तरह वाकिफ है कि नक्सली हर थोड़े सालों में नई तकनीक से जवानों पर हमला करते रहे हंै। 

Related Post

Comments