कारोबार

पोल्ट्री उद्योग अध्यक्ष बहादुर अली के नेतृत्व में वित्त मंत्री से मुलाकात, कोरोना वायरस से हो रहे नुकसान के लिए मांगा विशेष पैकेज
पोल्ट्री उद्योग अध्यक्ष बहादुर अली के नेतृत्व में वित्त मंत्री से मुलाकात, कोरोना वायरस से हो रहे नुकसान के लिए मांगा विशेष पैकेज
Date : 24-Mar-2020

पोल्ट्री उद्योग अध्यक्ष बहादुर अली के नेतृत्व में वित्त मंत्री से मुलाकात

कोरोना वायरस से हो रहे नुकसान के लिए मांगा विशेष पैकेज

छत्तीसगढ़ संवाददाता

राजनांदगांव, 24 मार्च। ऑल इंडिया पोल्ट्री ब्रीडर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष बहादुर अली अध्यक्ष और एमडी आईबी ग्रुप छत्तीसगढ़ के नेतृत्व में पोल्ट्री उद्योग के एक प्रतिनिधिमंडल बी. सुंदरजन, सुरेश चित्तूरी, गुलरेज आलम आईबी ग्रुप ने छत्तीसगढ़ राज्य के राज्यसभा सदस्य एवं भाजपा की राष्ट्रीय महासचिव सरोज पांडेय के मार्गदर्शन में भारत सरकार की वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण से मुलाकात की। 

प्रतिनिधि मंडल ने पोल्ट्री उद्योग पर चल रहे संकट और वित्तीय पीड़ा से वित्तमंत्री को अवगत कराया तो उन्होंने किसानों और पोल्ट्री उद्योग के प्रति अपनी सहानुभूति और चिंता व्यक्त की और आश्वासन दिया कि वह स्वयं सरकार के साथ मिलकर इस समस्या पर बात करेगी और राहत पैकेज का बंदोबस्त करेगी। पोल्ट्री उद्योग हमारे पशुपालन मंत्री गिरिराज सिंह का बहुत आभारी है, जिन्होंने सभी मीडिया प्लेट फार्मों पर राष्ट्र को संबोधित करते ये संदेश जारी किया कि मुर्गी पालन के खिलाफ  फैलाएं गलत और आधारहीन है। मैं सोशल मीडिया समाचारों का खंडन करता हूं। साथ ही राष्ट्र के नाम अपने संदेश में उन्होंने ये भी कहा कि पोल्ट्री बड्र्स के साथ कोविड-19 का कोई संबंध नहीं पाया गया है, बल्कि चिकन और अंडे का सेवन नहीं करने से व्यक्ति की इम्युनिटी कमजोर होती है और शरीर में प्रोटीन की कमी हो सकती है।

पोल्ट्री उद्योग को समर्थन देने के लिए वित्तमंत्री निर्मला के साथ गिरिराज की बैठक सफल मानी जा रही है। इस समय संकट की आग में झुलस रहे पोल्ट्री उद्योग का समर्थन करने के लिए पोल्ट्री उद्योग एवं किसानों को गिरिराज के नेतृत्व पर गर्व है। उम्मीद है कि प्रधानमंत्री मोदी और मंत्री सीतारमण मुर्गी पालन उद्योग में इन संकटों से प्रभावित 10 करोड़ से अधिक मुर्गीपालन, सोया, मक्का किसानों और अन्य संबंधित लोगों के भविष्य लिए आवश्यक सहायता प्रदान करेंगे।

 

 

 

Related Post

Comments