कारोबार

ग्राडो ने नियो-टेक तकनीक के साथ एंटी- वायरल फैब्रिक्स को लांच किया
ग्राडो ने नियो-टेक तकनीक के साथ एंटी- वायरल फैब्रिक्स को लांच किया
21-May-2020

मुंबई, 21 मई। ग्राहकों की कल्पना एवं मनोवृति के अनुरूप लगभग हर तरह के फैब्रिक्स उपलब्ध कराने वाले एक मेगा-ब्रांड के निर्माण के उद्देश्य से, हमने ह्रष्टरू के वर्स्टेड्स और त्रक्चञ्जरु (जिनकी मार्केटिंग पहले उनके संबंधित ब्रांड नाम)ओसीएम तथा ग्रासिम सूटिंग्स के तहत की जाती थी) के ट्राई/ बाई- स्ट्रेच फैब्रिक्स को ग्राडो ब्रांड के अंतर्गत एक साथ लाने के लिए निवेश किया।

इनोवेशन और अव्वल दर्जे के फैब्रिक्स के निर्माण में अग्रणी होने के नाते, ग्राडो घरेलू एवं विदेशी दोनों स्तर पर विभिन्न ब्रांडों को विशेष एंटी-माइक्रोबियल फैब्रिक्स की आपूर्ति कर रहा है। हालांकि, कोविड-19 को ध्यान में रखते हुए ग्राडो ने अपने फैब्रिक्स में नियो-टेक0 तकनीक का इस्तेमाल आरंभ किया है, और इस तरह तैयार होने वाले प्रोडक्ट उच्च गुणवत्ता युक्त होने के साथ-साथ बेहद उपयोगी हैं तथा बैक्टीरिया और वायरस के खिलाफ समान रूप से सुरक्षा देने में सक्षम हैं।

नियो-टेक दरअसल डोनियर ग्रुप की कंपनियों द्वारा विकसित की गई एक विशिष्ट तकनीक है, जिसे ब्रांड ग्राडो ने अपनी विनिर्माण इकाइयों में पूरी तरह तैयार किया। सही मायने में यह फैब्रिक बड़ा बदलाव लाने वाला है, जिसे हृ्रक्चरु द्वारा मान्यता प्राप्त बायो टेक सर्विसेज जैसी सर्वश्रेष्ठ प्रयोगशालाओं द्वारा प्रमाणित किया गया है। नियो-टेक0 तकनीक का लाभ उठाते हुए, ब्रांड ग्राडो ने खासतौर पर डिजाइन किए गए एंटी-वायरल और एंटी-बैक्टीरियल फैब्रिक्स तैयार किए हैं, जो कपड़ों में सूक्ष्म जीवों के विकास और उनकी मौजूदगी को रोकता है तथा कपड़ों को पूरी तरह स्वच्छ एवं सुरक्षित बनाता है।

विभिन्न प्रयोगशालाओं ने यह प्रमाणित किया है कि, ग्राडो नियो-टेक0 के फैब्रिक्स हर तरह के परिधान जैसे कि सूट/ जैकेट/ ट्राउजऱ इत्यादि के लिए इस्तेमाल में लाने/ पहनने के लिए पूरी तरह सुरक्षित हैं। इस तरह के फैब्रिक्स 50 बार धोए जाने तक अपने गुणों को बरकरार रखते हैं, और हर दिन पहनने के लिए बिल्कुल उपयुक्त हैं। फिलहाल हम विभिन्न कंपनियों से थोक ऑर्डर लेने के लिए बिल्कुल तैयार हैं, और लॉकडाउन खत्म होने के बाद कुछ दिनों के भीतर इसे बाजार में उतारने में सक्षम होंगे। अपने व्यापारिक भागीदारों के बीच विश्वसनीय और पारंपरिक विरासत को संजोने वाले ब्रांड, त्रक्चञ्जरु (पहले ग्रासिम सूटिंग्स और ग्वालियर सूटिंग्स के नाम से मशहूर) तथा ओसीएम द्वारा साथ मिलकर ब्रांड ग्राडो के तहत लॉन्च किए गए इस नए प्रोडक्ट को खूब तारीफ़ मिली है, और सही मायने में यह प्रोडक्ट आज के समय की जरूरत है।  हर तरह के उद्योग से जुड़े संस्थानों ने इन फैब्रिक्स की भरपूर सराहना की है, जिसमें हॉस्पिटैलिटी, अस्पताल, विमानन, यूनिफॉर्म बनाने वाली कंपनियां (स्कूलों / विश्वविद्यालयों / कारखानों के लिए), खुदरा उद्योग जगत से जुड़ी बड़ी हस्तियां और रक्षा क्षेत्र शामिल हैं। इनमें से कई उद्योगों की ओर से तो बड़े पैमाने पर उत्पादन के आर्डर भी मिल रहे हैं। हमने हाल ही में भारत के एक प्रमुख राज्य के पुलिस विभाग के लिए ऐसे फैब्रिक्स के निर्माण का ऑर्डर हासिल किया है।

हम जल्द ही अखिल भारतीय स्तर पर टीवी विज्ञापन अभियान (जिसमें दूरदर्शन पर प्रसारित हो रहे रामायण और महाभारत जैसे बड़े शो भी शामिल हैं) की शुरुआत करने वाले हैं, जिसके जरिए हम लोगों को इस शानदार प्रोडक्ट तथा इसके फायदों से अवगत कराएंगे। इस रेंज के फैब्रिक्स के बारे में बताते हुए, ग्राडो के मेंटर, श्री राजेंद्र अग्रवाल ने कहा, "हम लंबे अरसे से अनुसंधान एवं विकास के क्षेत्र में निवेश कर रहे हैं। इससे पहले भी हम बड़े पैमाने पर इन्नोवेटिव प्रोडक्ट्स को बाजार में उतार चुके हैं और इसमें हम हमेशा अग्रणी रहे हैं, जिसमें स्त्रीज़ा (4-वे स्ट्रेच फैब्रिक), आइस-टच (आपको 5 डिग्री कम तापमान का एहसास देने वाला फैब्रिक) और अनक्रशेबल (सिलवट प्रतिरोधी) के साथ-साथ कई अन्य फैब्रिक्स शामिल हैं, जिन्हें आज भी लोग बड़े पैमाने पर पसंद कर रहे हैं।

अन्य खबरें

Comments