सामान्य ज्ञान

सूचनाएं एकत्र करने के मामले में भी चींटियां बेमिसाल
सूचनाएं एकत्र करने के मामले में भी चींटियां बेमिसाल
30-May-2020 12:35 PM

चींटियों की सक्रियता और उनकी फुर्ती के बारे में सभी अच्छी तरह से जानते हैं। हाल ही में एक शोध में यह बात सामने आई है कि  अपने काम की सूचनाएं जुटाने के मामले में भी चींटियां बेमिसाल हैं। 
पॉट्सडैम इंस्टीट्यूट फॉर क्लाइमेट इंपैक्ट रिसर्च और बीजिंग यूनिवर्सिटी ऑफ पोस्ट्स एंड कम्यूनिकेशंस की संयुक्त रिसर्च में पाया गया कि खाना जुटाने का चींटियों का तरीका उससे कहीं ज्यादा व्यवस्थित और वैज्ञानिक है, जितना इसे अब तक माना जाता रहा है। 
चींटियां  न केवल सूचनाएं फैलाने में बल्कि उन सूचनाओं के आधार पर अपने प्रयासों को व्यवस्थित करने के मामले में भी लाजवाब होती हैं। रिसर्च के मुताबिक जैसे ही किसी चींटी को भोजन का भंडार मिलता है, सबसे पहले वह उसे चख कर देखती हंै कि यह उनके लिए उपयोगी है या नहीं। फिर उसका एक टुकड़ा वह नमूने के तौर पर लेकर अपनी कॉलोनी की ओर लौटती है। लौटते हुए वह फेरोमोंस छोड़ते हुए आती है- एक ऐसा केमिकल जो विभिन्न जंतु अपनी प्रजाति के अन्य जंतुओं को आकृष्ट करने के लिए छोड़ते हैं। फेरोमोंस का असर ज्यादा समय तक नहीं रहता। इसलिए उसके प्रभाव में जो चींटियां भोजन के भंडार की ओर बढ़ती हैं, वे सब भी फेरोमोंस छोड़ती चलती हैं ताकि पीछे आ रही चींटियों को रास्ता ढूंढने में कोई परेशानी न हो। जल्दी ही तमाम चींटियां मौके पर पहुंच जाती हैं और कॉलोनी में भोजन जमा करने का काम बिना किसी अव्यवस्था के फटाफट हो जाता है। 

 

अन्य खबरें

Comments