ताजा खबर

कोरोना, बेरोजगारी, आर्थिक तूफान से घिरा हुआ है हिन्दुस्तान-राहुल
कोरोना, बेरोजगारी, आर्थिक तूफान से घिरा हुआ है हिन्दुस्तान-राहुल
29-Jun-2020 6:06 PM

'छत्तीसगढ़' न्यूज डेस्क 
नई दिल्ली, 29 जून।
कांग्रेस सांसद राहुल गांधी ने सोशल मीडिया के माध्यम से लोगों के सामने अपनी सोच रखते हुए आज कहा-जैसा कि आप जानते हैं कोरोना, बेरोजगारी और आर्थिक तूफान आया हुआ है, हिंदुस्तान में, और इस तूफान से सबको नुकसान हुआ है, कोई नहीं बचा। अमीरों को चोट लगी, गरीबों को चोट लगी, मजदूरों को, किसानों को, सबको चोट लगी, ये पूरा देश जानता है। मगर सबसे ज्यादा चोट, सबसे ज्यादा दर्द मजदूरों को, किसानों को, मध्यम वर्ग के लोगों को और सैलरीड क्लास को हुआ है।

उन्होंने कहा-हमने कहा था कि कमजोर लोगों की मदद करने के लिए, मध्यम वर्ग की मदद करने के लिए, सरकार को एक्शन लेना ही पड़ेगा और हमने दो सुझाव दिए थे। पहला सुझाव कि न्याय योजना जैसा एक पैकेज आप तैयार कीजिए। एक साल के लिए नहीं, सिर्फ तीन महीने के लिए कीजिए और हर गरीब व्यक्ति के बैंक अकाउंट में सीधा आप पैसा डालिए, महीने का पैसा डालिए। उससे सबसे कमजोर, सबसे गरीब लोगों को राहत मिलेगी। 

राहुल ने आगे कहा- दूसरी बात, जो हमारे स्मॉल एंड मीडियम बिजनेसेज हैं, जो देश को रोजगार देते हैं, भाईयों और बहनों, जो छोटे और मिडिल बिजनेसेज होते हैं, वो हिंदुस्तान का 40 प्रतिशत रोजगार पैदा करते हैं। हमने सरकार से कहा कि इनकी रक्षा करनी ही पडेगी, इनको बचाना ही पड़ेगा। इनको बैंकरप्सी से बचाना ही पड़ेगा और एक पैकेज देने की जरुरत है।

उन्होंने कहा-सरकार ने इसको भी मना किया। उल्टा सरकार ने 15 सबसे अमीर क्रोनी कैपिटलिस्ट, जो उनके मित्र हैं, उनको टैक्स 'राइट ऑफ' दिया, लाखों करोड़ रुपए उनकी जेब में डाल दिए। और फिर सबसे बड़ा, सबसे बड़ा और गलत काम किया, क्या किया? पेट्रोल और डीजल के दाम 22 बार सरकार ने बढ़ाए, 22 बार। एक बार नहीं 22 बार सरकार ने पेट्रोल और डीजल के दाम बढ़ाए, मतलब 22 बार सरकार ने आपको सीधी चोट पहुँचाई। कमजोर लोगों को, गरीब लोगों को सीधी चोट पहुँचाई।

उन्होंने आगे कहा-दो तरीके से चोट लगती है, एक तो आपको पता लग जाता है, डायरेक्ट लगती है, सीधा आपके बैंक अकाउंट में से, आपकी जेब में पैसे निकलता है।आप पेट्रोल भरते हो, पेट्रोल का दाम बढ़ता है और आपको ज्यादा पैसा देना पड़ता है। मगर इंडायरेक्ट तरीके से भी आपको चोट लगती है। होता क्या है, पेट्रोल का दाम अर्थव्यवस्था में छुपा होता है, तो जैसे ही पेट्रोल-डीजल का दाम बढ़ता है, सारा का सारा माल, जो भी आप खरीदते हो, वो महंगा हो जाता है; तो आपको इंडायरेक्ट भी चोट पड़ती है। इसलिए हमने सरकार से कहा है कि जो आपने पेट्रोल में एक्साइज ड्यूटी बढ़ाई है, इसका आप रोल बैक कीजिए, पेट्रोल और डीजल के दाम कम कीजिए।

राहुल ने कहा- देखिए, कच्चे तेल का दाम गिरता ही जा रहा है, ऑल टाइम लो है कच्चे तेल का दाम, मगर हिंदुस्तान में पेट्रोल-डीजल का दाम सबसे ऊँचा है। इसलिए हमने इनसे कहा है कि इसको एकदम कम कीजिए, गरीबों से, मध्यम वर्ग से आप पैसा लेना बंद कीजिए और 'रोल बैक' एकदम कीजिए। आप मिलिए हमारे साथ, एक साथ, अगर हम एक आवाज में बोलेंगे, तो सरकार को बात समझ आएगी और पेट्रोल का दाम फिर से गिरेगा।

अन्य खबरें

Comments