कारोबार

कोविड के कारण जुलाई में भी भारत का फैक्टरी उत्पादन प्रभावित
कोविड के कारण जुलाई में भी भारत का फैक्टरी उत्पादन प्रभावित
03-Aug-2020 6:03 PM

नई दिल्ली, 3 अगस्त। कोविड-19 के प्रकोप के कारण मांग की स्थिति कमजोर बनी हुई है, जिसका असर भारत के विनिर्माण क्षेत्र के उत्पादन पर लगातार जुलाई महीने में भी देखने को मिला है।

आईएचएस मार्किट इंडिया मैन्युफैक्च रिंग पीएमआई सूचकांक से पता चलता है कि इस दौरान कंपनियों ने स्टाफ की संख्या में कमी की है और खरीदी गतिविधि में भी कटौती की है।

आईएचएस मार्किट ने एक बयान में कहा, "हालांकि कोरोनावायरस बीमारी के नकारात्मक प्रभाव जारी रहने के बावजूद भविष्य की गतिविधि के प्रति भावना में लगातार दूसरे महीने सुधार हुआ है।"

परिणामस्वरूप मौसम के अनुसार समाजित पीएमआई रीडिंग जून के 47.2 प्रतिशत से गिरकर 46 हो गई, जो भारतीय विनिर्माण सेक्टर में कारोबारी दशा में एक उल्लेखनीय गिरावट को दर्शाती है।

बयान में कहा गया है, "यह गिरावट आंशिक रूप से उत्पादन में एक अतिरिक्त संकुचन के कारण हुई है। अप्रैल और मई की तुलना में काफी सॉफ्ट दर रिडक्शन जून में तेज हो गई और कुल मिलाकर तीव्र थी। वास्तविक सबूत संकेत करते हैं कि कंपनियों ने मांग की कमजोर स्थिति के कारण उत्पादन में कटौती की है।"

बयान में कहा गया है, "मांग की कमजोर स्थिति का पता विनिर्माताओं द्वारा जुलाई में दिए गए नए आर्डर में एक और उल्लेखनीय गिरावट से चलता है।"(ians)
 

अन्य पोस्ट

Comments