सामान्य ज्ञान

बर्लिन जूलॉजिकल गार्ड
16-Sep-2020 1:45 PM 6
बर्लिन जूलॉजिकल गार्ड

बर्लिन जूलॉजिकल गार्डन दुनिया से सबसे बड़े चिडिय़ाघरों में से एक है। 84 एकड़ में फैले इस चिडिय़ाघर में जानवरों की लगभग 1500 प्रजातियां हैं। बर्लिन के टियरगार्डन का यह चिडिय़ाघर 1844 में खोला गया था। यह जर्मनी का सबसे पुराना चिडिय़ाघर भी है। इसमें लगभग 19,500 जीव-जंतु हैं। हर साल तीन लाख से ज्यादा लोग इस चिडिय़ाघर को देखने आते हैं।

अतीश
अतीश जिसे दीपंकर भी कहा जाता है, भारतीय बौद्ध सुधारवादी हुए हैं जिनकी शिक्षाएं तिब्बत के बौद्ध धर्म के एक मत काग्युद्पा  का आधार बनी। जिसकी स्थापना उनके शिष्य ब्रॅम- स्टॅन ने की थी। 
भारत में बौद्ध अध्यययन के केंद्र नालंदा से 1038 या 1042 में तिब्बत की यात्रा करने वाले अतीश ने वहां मठ  स्थापित किए और बौद्ध धर्म की तीन शाखाओं पर बल देने वाले  प्रबंध लिखे।  ये तीन शाखाएं हैं- थेरवाद (गौतम बुद्ध में पूर्ण आस्था),  महायान (कई बुद्धों में से गौतम बुद्ध को एक मानना और  वज्रयान (योग पर बल)। 
उन्होंने शिक्षा दी कि तीन अवस्थाएं एक के बाद एक आती हैं और उनकी इसी क्रम में पालन करना चाहिए। उनकी मृत्यु न्येथांग मठ में हुई। जहां उनकी समाधि आज भी मौजूद है। 
 

अन्य पोस्ट

Comments