सामान्य ज्ञान

अंतरिक्ष में भ्रमण कैसे किया जाता है?
16-Sep-2020 1:49 PM 3
अंतरिक्ष में भ्रमण कैसे किया जाता है?

अंतरिक्ष में भ्रमण जैट नोदन पश्च पैक की प्रौद्योगिकी युक्ति पर निर्भर है। जब एक गैस का जैट एक वस्तु से निष्कासित किया जाता है, तो न्यूटन के सिद्घांत के अनुसार विपरीत दिशा में गति करता है। बैक पैक में 24 नाइट्रोजन प्रणोदक द्वारा ऊर्जा दी जाती है। प्रत्येक प्रणोदक में एक किग्रा से कम प्रणोद होता है। ये यूनिट के चारों ओर स्थित होते हैं, जिससे किसी भी दिशा में गति की जा सकती है। इस यूनिट का भार लगभग 150 किग्रा होता है। जब यान-चालक अंतरिक्ष यान से बाहर निकलता है, तो वह 28 हजार  किमी प्रति घंटे की गति से उड़ रहा होता है। 
मानव युक्ति यूनिट संरचनात्मक भुजाओं पर धारण करके दो हाथ नियंत्रकों के प्रयोग से लहराती है। दक्षिण हस्तनियंत्रक ऊंचाई पर अधिकार करने, गति में परिवर्तन करने तथा पिच व किसी स्थिर बिंदु के चारों ओर चक्कर लगाने के लिए प्रयोग किया जाता है। वाम हस्तनियंत्रक एक स्थान से दूसरे स्थान तक जाने के लिए काम में आता है।
 

अन्य पोस्ट

Comments