खेल

IPL 2020: पंजाब का एक और 'चमत्कार', ये जीत मनदीप के पिता के नाम
25-Oct-2020 9:47 AM 29
IPL 2020: पंजाब का एक और 'चमत्कार', ये जीत मनदीप के पिता के नाम

जीत के लिए 18 गेंदों में 20 रन बनाने हों.

बल्लेबाज़ी कर रही टीम के छह विकेट बाकी हों.

क्रीज़ पर एक ऐसा बल्लेबाज़ मौजूद हो जिसने पिछले मैच में जीत दिलाने वाली हाफ सेंचुरी जमाई हो और मौजूदा मैच में अपनी पारी की आखिरी चार गेंद में 14 रन बना चुका हो तो किस टीम पर दाँव लगाना मुनासिब होगा?

आपका जवाब चाहे जो हो, ऐसी स्थिति के बीच गेंदबाज़ी करने वाली टीम किंग्स इलेवन पंजाब की थी और आईपीएल-13 में फिलहाल ये टीम किसी भी स्थिति से बाउंस बैक करके मैच जीतने का फॉर्मूला हासिल कर चुकी है.

और यही चमत्कार किंग्स इलेवन पंजाब ने शनिवार रात दुबई में किया.

जीत का 'चौका'

जो टीम बल्लेबाज़ी कर रही थी, वो सनराइज़र्स हैदराबाद थी.

127 रन का लक्ष्य लेकर खेल रही हैदराबाद की टीम ने पारी की आखिरी 17 गेंद में सिर्फ़ सात रन बनाए और छह विकेट खो दिए.

इनमें पिछले मैच के हीरो विजय शंकर और प्रियम गर्ग के विकेट शामिल थे. जहाँ जीत तय दिख रही थी, वहीं हैदराबाद की टीम 12 रन से मैच हार गई.

प्लेऑफ की रेस में दावेदारी मजबूत करने के अलावा पंजाब के पास ये मैच जीतने का एक बड़ा मकसद भी था.

टीम के ओपनर मनदीप सिंह के पिता की एक रात पहले मौत हो गई थी. मनदीप इस ग़म को भुलाकर पारी की शुरुआत करने मैदान पर उतरे.

वो रन तो सिर्फ़ 17 रन बना सके लेकिन उनके जज्बे की टीम ने जमकर तारीफ की और जब जीत मिली तो पंजाब की टीम ने इसे मनदीप के पिता के नाम समर्पित कर दिया.

हैदराबाद के ख़िलाफ़ मैच 18वें ओवर में पंजाब के हक़ में झुकता दिखाई दिया लेकिन इसका आधार जे सुचित ने 17वें ओवर में ही तैयार कर दिया था.

उन्होंने क्रिस जोर्डन की गेंद पर मनीष पांडे का बाउंड्री पर जबरदस्त कैच पकड़ा. पांडे के क्रीज पर रहते अलग अंदाज़ में बल्लेबाज़ी कर रहे विजय शंकर उनकी विदाई के बाद ठिठक से गए.

18वें ओवर की चौथी गेंद पर रन लेने की कोशिश के दौरान निकोलस पूरन का थ्रो का उनके हेलमेट से टकराया.

अर्शदीप की अगली ही गेंद पर वो पंजाब के कप्तान केएल राहुल को कैच थमा गए. उम्मीदें प्रियम गर्ग पर टिकीं लेकिन विकटों की झड़ी के बीच वो भी सरेंडर कर गए.

किसी वक़्त पंजाब टीम के लिए खेल चुके टीम इंडिया के पूर्व बल्लेबाज़ युवराज सिंह ने 'उलटफेर' के लिए पंजाब की तारीफ की.

'जीत बनी आदत'

वहीं, किंग्स इलेवन पंजाब के कप्तान केएल राहुल ने कहा कि जीतना उनकी 'टीम की आदत' में शुमार हो गया है.

शुरुआती सात मैचों में से सिर्फ़ एक में जीत हासिल कर सकी पंजाब की टीम ने लगातार चार मैचों में जीत हासिल की है.

ये टीम हैदराबाद के पहले बैंगलोर, मुंबई और दिल्ली को हरा चुकी है.

567 रन के साथ पंजाब के कप्तान केएल राहुल टूर्नामेंट के सबसे कामयाब बल्लेबाज़ हैं. वहीं 17 विकेट ले चुके पंजाब के गेंदबाज़ मोहम्मद शमी आईपीएल-13 में सबसे ज़्यादा विकेट लेने वाले गेंदबाज़ों में तीसरे नंबर पर हैं.

सनराइज़र्स हैदराबाद के ख़िलाफ़ 17 रन देकर तीन विकेट लेने वाले क्रिस जॉर्डन मैन ऑफ़ द मैच चुने गए. जॉर्डन ने कहा कि उनके लिए जो चीज मायने रखते है वो है 'टीम की जीत.'

गेंद से करिश्मा शनिवार के पहले मैच के दौरान भी देखने को मिला.

अबु धाबी में खेले गए इस मैच में कोलकाता नाइट राइडर्स ने दिल्ली कैपिटल्स को 59 रन से हरा दिया. कोलकाता की जीत के सबसे बड़े नायक रहे वरुण चक्रवर्ती. वरुण ने चार ओवर में सिर्फ़ 20 रन देकर पांच विकेट हासिल किए.

आईपीएल-13 में एक मैच में पांच विकेट लेने वाले वो पहले गेंदबाज़ हैं. वरुण के मुताबिक वो मैच में एक या दो विकेट हासिल करने का लक्ष्य लेकर उतरे थे.

वरुण ने बताया, "बीते कुछ मैचों से मैं विकेट नहीं ले पाया था. आज मैं एक या दो विकेट लेना चाहता था लेकिन भगवान का शुक्र है मुझे पांच विकेट मिले."

बल्ले में है दम

कोलकाता की जीत में नीतीश राणा और सुनील नरेन की जोड़ी ने बल्ले से अहम किरदार निभाया. शुरुआती तीन विकेट सस्ते में गिर जाने के बाद राणा और नरेन ने 9.2 ओवर में 115 रन की अहम साझेदारी की. राणा ने 81 और नरेन ने 64 रन बनाए.

कोलकाता और पंजाब की टीम ने प्ले ऑफ की रेस को भी दिलचस्प बना दिया है.

मुंबई, दिल्ली और बैंगलोर की टीमें 14-14 अंकों के साथ पहले, दूसरे और तीसरे नंबर पर हैं.

12 अंक के साथ कोलकाता चौथे और 10 अंक के साथ पंजाब पांचवे नंबर पर है.

हैदराबाद और राजस्थान के खाते में आठ-आठ पॉइंट्स हैं. सबसे निचले पायदान पर चेन्नई सुपर किंग्स है. उसके खाते में सिर्फ़ छह अंक हैं.(bbc)

अन्य पोस्ट

Comments