ताजा खबर

चेन्नई: रेप का आरोप निकला जूठा, फंसाने वाली युवती अब युवक को देगी 15 लाख का मुआवजा
21-Nov-2020 6:35 PM 68
चेन्नई: रेप का आरोप निकला जूठा, फंसाने वाली युवती अब युवक को देगी 15 लाख का मुआवजा

चेन्नई, 21 नवंबर। बलात्कार के एक झूठे मामले में फंसे युवक को अदालत ने 15 लाख रुपए का मुआवजा दिए जाने के आदेश दिए हैं. मामला चेन्नई का है. यहां संतोष नाम के एक युवक ने केस दायर किया था कि झूठे केस की वजह से उसका करियर और जीवन तबाह हो गया है. संतोष ने इस मामले में लड़की, उसके परिवार और मामले की जांच कर रहे पुलिस अधिकारी के खिलाफ मुकदमा दायर कर 30 लाख रुपए का मुआवजा देने की मांग की थी.

क्या था मामला

उस समय कॉलेज के छात्र रहे संतोष को पुलिस ने बलात्कार के आरोप में गिरफ्तार कर लिया था. युवक के खिलाफ 7 साल तक मुकदमा चला. हालांकि, बाद में डीएनए टेस्ट (DNA Test) की वजह से पता चला कि जिस बच्चे को महिला ने जन्म दिया है, वह संतोष का नहीं है. इसके बाद युवक की याचिका दायर की कि रेप के झूठे आरोप की वजह से उसका करियर और लाइफ खराब हो गए हैं. युवक की याचिका पर सुनवाई करते हुए अदालत ने लड़की और उसके माता-पिता को 15 लाख रुपए का मुआवजा देने के आदेश दिए हैं.

दरअसल, युवक और महिला का परिवार पड़ोसी थे और एक ही समुदाय से संबंध रखते हैं. पहले यह तय हुआ था कि दोनों की शादी करा दी जाएगी, लेकिन बाद में संपत्ति से जुड़े किसी विवाद की वजह से दोनों परिवार अलग हो गए. जिसके बाद संतोष का परिवार चेन्नई में दूसरी जगह शिफ्ट हो गया था. इस दौरान संतोष ने बीटेक में दाखिला ले लिया था. हालांकि, इसके बाद महिला का मां ने युवक के घर पहुंचक रकहा कि उसने युवती को गर्भवती कर दिया है और परिवारों को जल्द से जल्द शादी तय करने की मांग की.

हालांकि, संतोष ने इस तरह के किसी भी संबंध से इंकार किया. इसके बाद महिला और उसके परिवार ने युवक के खिलाफ बलात्कार का मामला दर्ज करा लिया. बाद में संतोष को गिरफ्तार कर लिया गया और 95 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेजा गया. युवक को 12 फरवरी 2010 को जमानत मिली और इस दौरान महिला ने एक बच्ची को जन्म दे दिया. डीएनए टेस्ट से पता चला कि संतोष उस बच्ची का पिता नहीं है. (news18.com)

अन्य पोस्ट

Comments