कारोबार

वैक्सीन की उम्मीदों से शेयर बाजार उछला, सेंसेक्स, निफ्टी रिकॉर्ड ऊंचाई पर बंद
24-Nov-2020 7:47 PM 41
वैक्सीन की उम्मीदों से शेयर बाजार उछला, सेंसेक्स, निफ्टी रिकॉर्ड ऊंचाई पर बंद

मुंबई, 24 नवंबर | कोरोना वैक्सीन की उम्मीदों से देश का शेयर बाजार फिर मंगलवार को बमबम रहा। चौतरफा लिवाली से दलाल स्ट्रीट गुलजार रहा। सेंसेक्स करीब 446 अंकों की तेजी के साथ 44,523 की रिकॉर्ड ऊंचाई पर बंद हुआ और निफ्टी पहली बार 13,000 के मनोवज्ञानिक स्तर को तोड़ा। सत्र के आखिर में निफ्टी करीब 129 अंकों की बढ़त बनाकर 13,055.15 पर बंद हुआ। कोविड-19 वैक्सीन की प्रगति की रिपोर्ट वैश्विक अर्थव्यवस्था में तेजी से सुधार की संभावनाओं से विदेशी बाजारों से मजबूत संकेत पाकर घरेलू शेयर बाजार लगातार तीसरे सत्र में बढ़त के साथ बंद हुआ।

सेंसेक्स पिछले सत्र से 445.87 अंकों यानी 1.01 फीसदी की तेजी के साथ 44,523.02 पर बंद हुआ, जबकि निफ्टी बीते सत्र से 128.70 अंकों यानी एक फीसदी की तेजी के साथ 13,055.15 पर ठहरा।

बंबई स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) के 30 शेयरों पर आधारित प्रमुख संवेदी सूचकांक सेंसेक्स पिछले सत्र से 264.04 अंकों की तेजी के साथ 44,341.19 पर खुला और दिनभर के कारोबार के दौरान 44,601.63 तक उछला जोकि सेंसेक्स का अब तक का सबसे ऊंचा स्तर है। हालांकि इसका निचला स्तर 44,247.12 रहा।

वहीं, नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) के 50 शेयरों पर आधारित प्रमुख संवेदी सूचकांक निफ्टी बीते सत्र से 76.59 अंकों की बढ़त बनाकर रिकॉर्ड ऊंचाई 13,002.60 पर खुला और दिनभर के कारोबार के दौरान 13,079.10 तक उछला, जोकि निफ्टी का ऐतिहासिक ऊंचा स्तर है। इस दौरान निफ्टी का निचला स्तर 12,978 रहा।

मोतीलाल ओसवाल फाइनेंशियल सर्विसेज के इक्विटी स्ट्रेटजी, ब्रोकिंग एंड डिस्ट्रीब्यूशन प्रमुख हेमांग जानी ने बताया कि कोविड-19 वैक्सीन की प्रगति की रिपोर्ट वैश्विक अर्थव्यवस्था में तेजी से सुधार की संभावनाओं से एशिया के अन्य बाजारों से मिले मजबूत संकेतों से घरेलू शेयर बाजार में तेजी देखी गई, जिससे निफ्टी पहली बार 13,000 के स्तर के पार चला गया और सेंसेक्स में भी मजबूत बढ़त दर्ज की गई।

उन्होंने कहा कि देश में विदेशी संस्थागत निवेशकों की लिवाली चालू महीने नवंबर में बीते दो दशकों में सबसे ज्यादा रही है और इस महीने अब तक करीब 50,989 करोड़ रुपये इस रूट से आया है। हेमांग जानी ने कहा कि विदेशी निवेशकों की दिलचस्पी बढ़ने और उनकी लिवाली जोरदार रही, जिससे प्रमुख सूचकांकों में उछाल आया।

बीएसई मिडकैप सूचकांक बीते सत्र से 96.41 अंकों यानी 0.58 फीसदी की तेजी के साथ 16,738.71 पर बंद हुआ, जबकि स्मॉलकैप सूचकांक बीते सत्र से 145.20 अंकों यानी 0.89 फीसदी की बढ़त के साथ 16,550.18 पर ठहरा।

सेंसेक्स के 30 शेयरों में से सिर्फ 22 शेयर तेजी के साथ बंद हुए, जबकि सिर्फ आठ शेयरों में गिरावट रही। सेंसेक्स के सबसे ज्यादा तेजी वाले पांच शेयरों में एक्सिस बैंक (4.02 फीसदी), एमएंडएम (3.47 फीसदी), एचडीएफसी बैंक (3.14 फीसदी), आईटीसी (2.44 फीसदी) और एसबीआईएन (2.16 फीसदी) शामिल रहे।

सेंसेक्स के सबसे ज्यादा गिरावट वाले पांच शेयरों में एचडीएफसी (1.47 फीसदी), टाइटन (1.36 फीसदी), नेस्ले इंडिया (0.63 फीसदी), भारती एयरटेल (0.61 फीसदी) और ओएनजीसी (0.59 फीसदी) शामिल रहे।

बीएसई के 19 सेक्टरों में से सिर्फ एक सेक्टर टेलीकॉम का सूचकांक (0.23 फीसदी) गिरावट के साथ बंद हुआ, जबकि बाकी 18 सेक्टरों में तेजी दर्ज की गई।

बीएसई के सबसे ज्यादा तेजी वाले पांच सेक्टरों के सूचकांकों में बैंक इंडेक्स (2.37 फीसदी), ऑटो (1.84 फीसदी), रियल्टी (1.78 फीसदी), वित्त (1.43 फीसदी) और धातु (1.37 फीसदी) शामिल रहे।

बीएसई पर कुल 3,332 शेयर में कारोबार हुआ जिनमें से 1,766 शेयर बढ़त के साथ बंद हुए जबकि 1,345 शेयरों में गिरावट रही। कारोबार के आखिर में 221 शेयर बिना किसी बदलाव के बंद हुए।

--आईएएनएस

अन्य पोस्ट

Comments