ताजा खबर

किसान आंदोलन के बीच बाजरे पर रार, हरियाणा के CM खट्टर के ट्वीट पर राजस्थान में मचा बवाल
30-Nov-2020 5:25 PM 35
किसान आंदोलन के बीच बाजरे पर रार, हरियाणा के CM खट्टर के ट्वीट पर राजस्थान में मचा बवाल

जयपुर. देश की राजधानी दिल्ली में चल रहे किसान आंदोलन के बीच राजस्थान और हरियाणा सरकार में बाजरे को लेकर ट्वीटर वारशुरू हो गया है. बाजरे की खरीद को लेकर हरियाणा के सीएम मनोहरलाल खट्टर  की ओर से किये गये ट्वीट पर सियासत गरमा गई है. खट्टर के ट्वीट पर राजस्थान कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा ने पलटवार किया है. उन्होंने इस ट्वीट को लेकर केन्द्र सरकार और बीजेपी पर जमकर निशाना साधा है. इससे बाजरे पर घमासान मचा हुआ है.

हरियाणा के सीएम मनोहर लाल खट्टर रविवार को ट्वीट करके कहा था कि हरियाणा में राजस्थान का बाजरा नहीं बिकने दिया जायेगा. खट्टर का कहना था कि राजस्थान का बाजरा हरियाणा में बेचने की शिकायतें मिल रही है. हरियाणा की मंडियों में 2150 रुपये प्रति क्विंटल की दर से बाजरा खरीदा जा रहा है. जबकि राजस्थान में बाजरा 1300 प्रति क्विंटल की दर से बिक रहा है. हरियाणा के मुख्यमंत्री ने खुद ट्वीट कर बिकवाली रोकने की बात कही है. दूसरी तरफ नए कृषि कानून किसानों को पूरे देश में माल बेचने की छूट देते हैं.

राजस्थान में सियासत का पारा गरमा गया
सीएम खट्टर के इस ट्वीट के बाद राजस्थान में सियासत का पारा गरमा गया और पीसीसी चीफ गोविंद सिंह डोटासरा ने उस पर पलटवार किया. डोटासरा ने अपने ट्वीट में कहा कि नए कृषि कानूनों के तहत एक देश एक_बाजार के झूठ का पर्दाफाश खुद बीजेपी के मुख्यमंत्री कर रहे हैं. डोटासरा बाले हम शुरू से यह कह रहे हैं कि केंद्र की बीजेपी सरकार यह काला कानून अपने कारोबारी मित्रों को फायदा पहुंचाने के लिए लाई है. इसीलिए देश का अन्नदाता आज सड़कों पर है. आंदोलन करने पर मजबूर है.

डोटासरा ने बीजेपी के नेताओं पर साधा निशाना
डोटासरा ने उसके बाद प्रदेश बीजेपी के नेताओं पर निशाना साधते हुये ट्वीट किया कि सतीश पूनिया और गुलाबचंद कटारिया आपकी पार्टी के CM के बयान पर आपकी चुप्पी यह साबित करती है कि किसानों के लिए #एक देश एक_बाजार के आपके दावे खोखले थे. आपने अन्नदाता के साथ धोखा किया है. कृपया चुप्पी तोड़कर अपना पक्ष रखें. नहीं तो प्रदेश के किसानों को जवाब देना मुश्किल होगा. (news18.com)

अन्य पोस्ट

Comments