ताजा खबर

दिल्ली में कोरोना का RT-PCR टेस्ट सस्ता होगा, केजरीवाल ने दिए निर्देश
30-Nov-2020 6:05 PM 37
दिल्ली में कोरोना का RT-PCR टेस्ट सस्ता होगा, केजरीवाल ने दिए निर्देश

PHOTO CREDIT- NEWS18

नई दिल्ली,30 नवम्बर |  दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कोरोना वायरस के सबसे सटीक और विश्वसनीय आरटीपीसीआर टेस्ट को सस्ता करने के निर्देश दिए हैं. इसके लिए केजरीवाल ने सोमवार को संबंधित मंत्रालय और अधिकारियों से आरटीपीसीआर की जांच के दाम घटाने को कहा है. बताया जा रहा है कि सीएम केजरीवाल के निर्देश के बाद आरटी-पीसीआर टेस्ट की कीमत अब घटाकर 1200 से 1400 रुपये के बीच रखी जा सकती है.

माना जा रहा है कि निजी अस्पतालों में आरटीपीसीआर टेस्ट की कीमत घटने से ज्यादा से ज्यादा लोग कोविड-19 की यह जांच कराने को प्रोत्साहित होंगे. वहीं, सरकारी अस्पतालों में तो कोरोना का आरटीपीसीआर टेस्ट निशुल्क किया जा रहा है.

दिल्ली में कोरोना संक्रमण दोबारा तेज होने के बाद से ही केजरीवाल सरकार टेस्ट का दायरा बढ़ाने में जुटी है, ताकि संक्रमित व्यक्ति द्वारा दूसरों के बीच वायरस फैलाने के पहले ही उसे चिह्नित किया जा सके.

हाई रिस्क लोगों के आरटी-पीसीआर टेस्ट होंगे जरूरी

अभी तक कंटेनमेंट जोन में लक्षण वाले लोगों और संक्रमितों के संपर्क में आए लोगों के ही आरटी-पीसीआर टेस्ट किए जाते रहे हैं. लेकिन, अब नई नीति के अनुसार कंटेनमेंट जोन में रहने वाले हाई रिस्क लोगों के आरटी-पीसीआर टेस्ट पर जरूरी होंगे. हाई रिस्क लोगों में वरिष्ठ नागरिक, गर्भवती, ऐसे लोग जो गंभीर बीमारियों से जूझ रहे हैं आदि शामिल हैं. हालांकि कंटेनमेंट जोन में रहने वाले सभी लोगों को एंटीजन टेस्ट से चेक किया जाता है.

क्या होता है RT-PCR टेस्ट?

RT-PCR test (Real-time reverse transcription-polymerase chain reaction) को कोरोना संक्रमण की पहचान के लिए गोल्ड स्टैंडर्ड फ्रंटलाइन टेस्ट कहा गया है. आइए आपको बताते हैं कि Rapid Antigen test, एंटी बॉडी टेस्ट और RT-PCR test में क्या अंतर है.

ये रैपिड एंटीजन और एंटीबॉडी टेस्ट से कितना अलग?

Rapid Antigen TEST लैबोरेट्री के बाहर किया जाने वाला टेस्ट है. इसका इस्तेमाल टेस्ट के नतीजे को तुरंत जानने के लिए किया जाता है. कोविड-19 SARS-CoV-2 वायरस से होता है. इस टेस्ट में नाक से स्वाब लिया जाता है. इस टेस्ट में SARS-CoV-2 वायरस में पाए जाने वाले एंटीजन का पता चलता है. टेस्ट के नतीजे में एंटीजन की मौजूदगी कोरोना के संभावित संक्रमण का लक्षण है.

कोरोना की जांच के लिए एक और टेस्ट एंटीबॉडी टेस्ट है. एंटी बॉडी टेस्ट खून का सैंपल लेकर किया जाता है. इसलिए इसे सीरोलॉजिकल टेस्ट भी कहते हैं. इसके नतीजे जल्द आते हैं और ये RT-PCR के मुकाबले कम खर्चीला है. ये टेस्ट ऑन लोकेशन पर किया जा सकता है.(https://hindi.news18.com/)

अन्य पोस्ट

Comments