सामान्य ज्ञान

दुनिया के सबसे प्रदूषित शहर
23-Feb-2021 12:47 PM 37
दुनिया के सबसे प्रदूषित  शहर

1. ईरान देश का  अहवाज शहर दुनिया के सबसे प्रदूषित शहरों में नंबर वन है। यहां पर धुएं का इतना बुरा असर है कि यहां जीवन प्रत्याशा की दर देश में सबसे कम है।
2. चीन के बीजिंग का दम धुएं के बादल में घुट रहा है। यहां प्रति घन मीटर 500 माइक्रोग्राम महीन धुएं और धूल के कण हैं। मास्क के बिना घर से बाहर निकलना दूभर है।
3. मिस्र के काहिरा की हवा इतनी प्रदूषित है कि इससे होने वाली बीमारियों के कारण यहां हर साल 10 से 25 हजार लोग मारे जाते हैं। इस प्रदूषण का कारण बढ़ता यातायात और उद्योग हैं।
4. मंगोलिया की राजधानी उलान बातोर दुनिया का दूसरे नंबर का सबसे प्रदूषित शहर बन गया है। जमा देने वाली ठंड में यहां गर्मी का एक ही साधन है, लकड़ी जलाना जिसके कारण यहां प्रदूषण बढ़ रहा है। 
5. सऊदी अरब के रियाद में धुएं के साथ ही रेतीले तूफान के कण भी मिल जाते हैं, जो हवा में कणों को बढ़ा देते हैं। तेज धूप के कारण परेशानी और बढ़ जाती है।
6. पाकिस्तान के  लाहौर शहर में गाडिय़ों की बढ़ती समस्या प्रदूषण का कारण है ही, कचरे को जलाने से होने वाले प्रदूषण में रेगिस्तान से उड़ी प्राकृतिक धूल भी मिल जाती है। जिसके कारण यह शहर दुनिया के सबसे प्रदूषित शहरों में शामिल हो गया है। 
7. भारत की राजधानी नई दिल्ली में पिछले 30 साल में गाडिय़ां एक लाख अस्सी हजार से बढक़र पैंतीस लाख पहुंच गई हैं। इसके अलावा कोयले से चलने वाले बिजली घर प्रदूषण को और बढ़ाते हैं।

ऊंचे मकानों पर तडि़त चालक क्यों लगाते हैं
जब आवेशित बादल ऊंची इमारतों पर से होकर गुजरते हैं, तो प्रेरण द्वारा इनका विपरीत आवेश इमारतों के ऊंचे वाले भाग पर आ जाता है। यह आवेशित भाग विपरीत आवेशित बादलों को अपनी ओर आकर्षित करता है, जिससे इमारत पर बिजली गिरने की संभावना रहती है। बिजली गिरने की संभावना से बचने के लिए तडि़त चालक इमारत पर लगाते हैं। तडि़त चालक का एक सिरा नुकीला बनाते हैं तथा दूसरे सिरे का संबंध पृथ्वी से चला जाता है और इमारत की हानि होने से बच जाती है।
 

अन्य पोस्ट

Comments