ताजा खबर

गोरखपुर : गैंगरेप पीड़िता ने बयां किया दर्द- काम से लौट रही थी, मुंह दबाकर अंदर ले गए, वो मुझे मार देते...
04-Mar-2021 2:44 PM 28
गोरखपुर : गैंगरेप पीड़िता ने बयां किया दर्द- काम से लौट रही थी, मुंह दबाकर अंदर ले गए, वो मुझे मार देते...

-कमाल खान

यूपी के गोरखपुर में एक नाबालिग लड़की को बंधक बना कर गुंडों ने गैंगरेप किया और लड़की जब रिपोर्ट लिखाने गई तो पुलिस ने उसकी रिपोर्ट नहीं लिखी. इसका वीडियो वायरल होने पर अब बड़े अफसरों ने लड़की की FIR दर्ज करवा के दो पुलिसवालों को सस्पेंड कर दिया है. रेप की शिकार बच्ची घर का खर्च चलाने के लिए एक ऑर्केस्ट्रा में डांस करती है.लड़की मंगलवार रात करीब साढ़े दस बजे डांस खत्म कर घर वापस जा रही थी. उसके साथ दो सहेलियां भी थीं जो उसे घर तक छोड़ना चाहती थीं, लेकिन लड़की को लगा कि रात ज़्यादा हो गयी है,ऐसे में उसकी सहेलियां परेशान होंगी,इसलिए उसने उनसे कहा कि वे घर चली जाएं. सहेलियों के जाने के बाद लड़की जब घर की तरफ जा रही थी, तभी कुछ बाइक सवार गुंडों ने उसे घेर लिया. वे उसका मुंह दबा के एक घर में खींच ले गए, जहां सबने उसके साथ बलात्कार किया. लड़की उनसे छोड़ने की फरियाद करती रही, लेकिन वे नहीं माने. जब उन्होंने लड़की को छोड़ दिया तो वह बाहर निकल कर चीख-चीखकर रोने लगी. उसका रोना सुनकर आसपास के लोग वहां जमा हो गए. लड़की ने उन्हें पूरा वाकया बताया. 

इस पर तीन लोग जिन्हें समाजवादी पार्टी का स्थानीय नेता बताया जा रहा है उसे लेकर घटना की FIR लिखवाने इलाके की पुलिस चौकी पहुंच, लेकिन पुलिस ने लड़की की एफआईआर नहीं लिखी और उसे घर पहुंचा दिया. कहते हैं कि लड़की को पुलिस चौकी लेकर जाने वाले लोगों ने पुलिस चौकी पहुंचने,पुलिस से एफआईआर कराने की बात करने की वीडियो बना ली थी. पुलिस के एफआईआर  न करने पर उन्होंने शायद पुलिस पर दबाव बनाने के लिए उस वीडियो को वायरल कर दिया.

गैंगरेप पीड़िता ने बताया कि मैं डांस करके आ रही  थी. मेरी दो सहेलिया भी थी साथ. सहेलियों ने कहा कि तुम्हें छोड़ देते हैं, लेकिन मैंने कहा कि रात हो गई जाओ मैं चली जाऊंगी.  कॉलोनी तक आए तो वहां से सबने पकड़ लिया और मुंह दबाकर अंदर ले गए. हमने कहा कि हमें छोड़ दीजिए. किसी ने नहीं छोड़ा, ऐसा लग रहा था मुझे मार देंगे . मैं किसी तरह मरने से बची हूं. 

वीडियो वायरल होने के बाद पुलिस के बड़े अफसरों ने घटना की एफआईआर दर्ज करवाई. पीड़ित लड़की का बयान लेकर पुलिस ने आईपीसी की दफा 346,376 डी और पोक्सो एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज किया. एफआईआर न करने वाले चौकी इंचार्ज और सिपाही को ससपेंड कर दिया है. 

गोरखपुर के एसएसपी जोगेंद्र कुमार ने कहा है कि दोनों पुलिस वालों के खिलाफ मुकदमा भी कायम किया जाएगा, लेकिन इस मामले में एफआईआर का दबाव बनाने के लिए वीडियो वायरल करने वाले दोनों लोगों पर भी एफआईआर हो गयी है,क्योंकि उनके वीडियो से पीड़ित लड़की की पहचान ज़ाहिर होती है. (khabar.ndtv.com)

अन्य पोस्ट

Comments