ताजा खबर

नीतीश सरकार के फैसले पर बीजेपी ने उठाया सवाल, पार्क और ढाबे खुले तो मंदिर पर ताला क्यों?
11-Apr-2021 8:14 AM (18)
नीतीश सरकार के फैसले पर बीजेपी ने उठाया सवाल, पार्क और ढाबे खुले तो मंदिर पर ताला क्यों?

 

-शैलेंद्र साहिल

पटना. बिहार में बढ़ते हुए कोरोना के खतरे को देखते हुए बिहार सरकार ने गाइडलाइन जारी कर दिया है. लेकिन सरकार के इस गाइडलाइन पर सहयोगी बीजेपी ने ही सवाल खड़ा कर दिया है. बिहार में आम लोगों के लिए मंदिरों को 30 अप्रैल तक बंद रखने के सरकार के फैसले पर बीजेपी ने आपत्ति जताई है. बीजेपी विधायक हरिभूषण ठाकुर बचौल ने नीतीश सरकार के इस नए निर्णय पर सवाल खड़े किए हैं. विद्यायक हरिभूषण ठाकुर ने मंदिरों को बंद करने के मसले पर कहा कहा कि सरकार द्वारा भक्तों को धार्मिक स्थलों पर जाने पर रोक लगाना गलत है. जब लोग ढाबे और पार्क में जा सकते हैं तो मंदिरों में क्यों नही जा सकते?

बचोल ने कहा कि कोरोना गाइडलाइन को फॉलो करते हुए लोगों को मंदिरों में जाने की सरकार को इजाजत देनी चाहिए. साथ ही उन्होंने कहा कि पिछले साल कोरोना के समय मुस्लिम भाइयों के रमजान को लेकर छूट दी जा सकती है तो मंदिर पर छूट क्यों नही मिल सकती है. मंदिर से कई परिवार का रोजगार जुड़ा हुआ है. इसलिए सीएम नीतीश कुमार को विचार करने की जरूरत है.

कोरोना के खतरे से लगाई गई पाबंदी

कोरोना के खतरे के बीच सरकार ने बिहार में  धार्मिक स्थलों पर आम लोगों के जाने पर पूरी तरह से पाबंदी लगा दी है. सरकार के फैसले के बाद से ही पटना के मंदिरों में सन्नाटा  दिखने लगा है. लोग मंदिर आ रहे हैं और बाहर से ही पूजा कर लौट जा रहे हैं . मंदिरों के साथ-साथ मस्जिदों ,गुरुद्वारा और गिरजा घरों में भी लोगों के जाने पर प्रतिबंध लग गया है. लेकिन इसी महीने चैती छठ पूजा , रामनवमी , चैती नवरात्रा जैसे महत्वपूर्ण त्योहार भी हैं. इन त्योहारों में लोगों की खूब भीड़ भी जुटती है. ऐसे में देखना होगा एक ओर कई महत्वपूर्ण त्योहार हैं तो दूसरी ओर देश भर में बढ़ रहा कोरोना का खतरे के बीच लोग त्योहार कैसे मानते हैं और सरकार के तरफ इसके लिए क्या तैयारी की जाती है. (news18.com)

अन्य पोस्ट

Comments