अंतरराष्ट्रीय

Previous123456789...131132Next
23-Jan-2021 10:17 PM 17

लंदन, 23 जनवरी| दक्षिण-पूर्व लंदन का 16 वर्षीय एक किशोर शनिवार को वेस्टमिंस्टर कोर्ट में पेश हुआ। उस पर आतंकी गतिविधि में संलिप्त होने का आरोप लगाया गया है। कानूनी कारणों से उसका नाम नहीं बताया गया है। उस पर एक आतंकवादी प्रकाशन के प्रचार-प्रसार का आरोप लगाया गया है। उसे दिसंबर, 2020 में गिरफ्तार किया गया था। आतंकवाद निरोधी एजेंसियों की जांच के बाद उस पर यह आरोप लगा है। उसे 26 फरवरी को दोबारा कोर्ट में पेश होने का निर्देश दिया गया है।(आईएएनएस)


23-Jan-2021 6:32 PM 13

मनीला, 23 जनवरी | फिलीपींस के मगुइंडानाओ प्रांत में शनिवार को गोलीबारी के दौरान एक पुलिस अधिकारी सहित कम से कम 13 लोग की मौत हो गई, जबकि चार अन्य घायल हो गए। इसकी जानकारी अधिकारियों ने दी। समाचार एजेंसी सिन्हुआ की रिपोर्ट के अनुसार, अधिकारियों ने एक बयान में कहा कि गोलीबारी तब हुई, जब पुलिस सुल्तान कुदरत शहर में एक बदमाश के ठिकाने पर गिरफ्तारी वारंट लेकर सुबह 3 बजे पहुंची, जिसपर हत्या, डकैती समेत कई संगीन आरोप थे।

बयान में कहा गया है कि संदिग्ध और उसके हथियारबंद साथियों ने गिरफ्तारी का विरोध किया और कथित तौर पर टीम पर गोलीबारी की, जिसके परिणामस्वरूप गोलीबारी पांच घंटे तक चली।

पुलिस ने 6 एम 16 असॉल्ट राइफल, दो .45 कैलिबर पिस्टल, एक देशी .50 कैलिबर बैरेट स्नाइपर राइफल, एक एम 14 राइफल, एक लाइट ऑटोमैटिक राइफल और एक .22 कैलिबर राइफल को मौके पर से बरामद किया।

--आईएएनएस


23-Jan-2021 6:29 PM 12

लंदन, 23 जनवरी | लंदन की एक अदालत ने 39 वियतनामी प्रवासियों की हत्या में शामिल चार मानव-तस्करों को लंबे कारावास की सजा सुनाई है। ये प्रवासी वर्ष 2019 में एसेक्स काउंटी इलाके में एक ट्रक के कंटेनर में मृत पाए गए थे। सिन्हुआ न्यूज एजेंसी के मुताबिक, लंदन के ओल्ड बेली कोर्ट ने शुक्रवार को इन चारों को सजा सुनाई। जिन चार मानव-तस्करों को लंबे कारावास की सजा सुनाई गई है, उनमें आयरलैंड के 41-वर्षीय कारोबारी रोनन ह्यूज और रोमानिया के 43-वर्षीय ट्रक मेकैनिक जार्ज निका शामिल हैं।

रोनन ह्यूज को 20 साल कैद की सजा सुनाई गई, जबकि निका को अदालत ने 27 साल कारावास की सजा सुनाई। दोनों मानव-तस्करी के धंधे में लिप्त रहे हैं। निका ने इन प्रवासियों को अवैध रूप से बेल्जियम से ब्रिटेन में दाखिल कराने में रोनन की मदद की थी।

बहरहाल, इन दोनों के अलावा जिन और दो लोगों को सजा सुनाई गई, उनमें उत्तरी आयरलैंड के 24-वर्षीय ट्रक ड्राइवर एम्मन हैरीसन और उत्तरी आयरलैंड के ही 26-वर्षीय ट्रक ड्राइवर मॉरिस रॉबिन्सन हैं। हैरीसन को 18 वर्ष और रॉबिन्सन को 13 साल चार महीने कैद की सजा सुनाई गई।

--आईएएनएस


23-Jan-2021 6:21 PM 16

बगदाद, 23 जनवरी | इराकी सेना ने शनिवार को कहा कि बगदाद हवाईअड्डे पर तीन रॉकेट दागे गए, जिसके ठीक तीन दिन बाद राजधानी शहर में दो बैक-टू-बैक आत्मघाती विस्फोट हुए। समाचार एजेंसी सिन्हुआ ने इराकी ज्वाइंट ऑपरेशंस कमांड के मीडिया कार्यालय के हवाले से बताया कि शुक्रवार देर रात रॉकेट से हमला हुआ।

बयान में कहा गया कि कत्युशा रॉकेट से हवाईअड्डे के बाहर हमला किया गया।

मीडिया कार्यालय ने कहा कि रॉकेटों में से एक ने पास के अल-जिहाद जिले में एक घर को क्षतिग्रस्त कर दिया और इमारत को नुकसान पहुंचाया है।

किसी भी समूह ने अब तक हमले की जिम्मेदारी नहीं ली है।

डाउनटाउन बगदाद के बाब अल-शरजी इलाके में एक बाहरी बाजार में दो आत्मघाती बम विस्फोट हुआ, जिसमें 32 लोगों की मौत हुई, जबकि 100 से अधिक घायल हो गए।

आईएस ने उन बम विस्फोटों के लिए जिम्मेदारी का दावा किया है, जो शिया क्षेत्र के भीड़भाड़ वाले इलाके में हुए थे।

इससे पहले, गुरुवार को बमबारी हुई थी। इराकी राजधानी शहर में लगभग दो वर्षो में पहली बार ऐसा हमला हुआ, क्योंकि यहां सुरक्षा बलों की चौकसी काफी बढ़ गई थी। इराकी सुरक्षा बलों ने 2017 के अंत में देशभर में आईएस को पूरी तरह से हरा दिया था।

हालांकि, देश में कभी-कभार छिटपुट घातक घटनाएं होती रहती हैं।

--आईएएनएस


23-Jan-2021 6:21 PM 17

नई दिल्ली, 23 जनवरी | दुबई के भारतीय स्टैंड-अप कॉमेडियन मिक्दाद दोहड़वाला का कहना है कि अमीरात में भीड़ के सामने सबको हंसाना ज्यादा मुश्किल नहीं है, बस आपको दो साधारण नियमों का ध्यान रखना होगा कि कभी भी किंगडम के बारे में मजाक न करें, और कभी भी स्थानीय लोगों का मजाक न बनाएं। दोहड़वाला ने आईएएनएस को बताया, "हमें लोगों की भावनाओं के प्रति संवेदनशील होने की जरूरत है। किंगडम और स्थानीय लोगों का मजाक बनाना पूरी तरह मनाही है।"

साल 2014 में मुंबई से दुबई बसने वाले कलाकार का कहना है कि यहां का ²श्य भारत से अलग नहीं है। उन्होंने कहा, "दुबई में स्टैंड-अप कॉमेडी भारत जैसी ही है।"

उन्होंने आगे कहा, "आप एक रात के लिए हमारी बहुत ही 'देसी' भीड़ के लिए उपस्थित हो सकते हैं और वहीं दूसरे दिन युक्रेनियों की पूरी मंडली के लिए मंच पर हो सकते हैं। यही कारण है कि जो कंटेंट आपके पास होना चाहिए, वह सांस्कृतिक बाधाओं से परे लोगों से जोड़ने के लिए होनी चाहिए। भारत में हम कंटेंट का स्थानीयकरण करते हैं, क्योंकि दर्शक एक सामान्य आधार पर संबंधित हैं। विविध भारतीय अनुभवों को एक्सप्लोर करना आसान है।"

दोहड़वाला हास्य लेखक मुनव्वर फारुकी की गिरफ्तारी से दुखी है। इसे दुर्भाग्यपूर्ण बताते हुए, वे कहते हैं कि हास्य कलाकारों का इरादा कभी भी गलत नहीं होता है, और वे कभी भी भावनाओं को चोट नहीं पहुंचाना चाहते हैं।

स्टैंड-अप कॉमेडियन मुनव्वर फारुकी को 1 जनवरी को इंदौर में एक शो में 'धार्मिक भावनाओं को आहत करने' के लिए गिरफ्तार किया गया था।

दोहड़वाला ने कहा, "मुनव्वर के साथ जो हो रहा है वह वास्तव में दुर्भाग्यपूर्ण है। एक आदर्श दुनिया में कॉमेडियन को सेंसर नहीं किया जाना चाहिए। हमारा इरादा कभी गलत नहीं है, हम भावनाओं को आहत नहीं करना चाहते हैं।"

--आईएएनएस


23-Jan-2021 6:18 PM 17

नई दिल्ली, 23 जनवरी | प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को ब्राजील के राष्ट्रपति जेयर एम. बोल्सनारो को स्वास्थ्य क्षेत्र में दक्षिण अमेरिकी राष्ट्र के साथ भारत के सहयोग को मजबूत करने का आश्वासन दिया। प्रधानमंत्री ने बोल्सनारो के उस ट्वीट का जवाब देते हुए आश्वासन दिया, जिसमें उन्होंने मोदी को धन्यवाद दिया कि उन्होंने भारत में बने कोरोनावायरस वैक्सीन के 20 लाख खुराक ब्राजील भेजा।

मोदी ने ट्वीट किया, "कोविड -19 महामारी से लड़ने में ब्राजील का एक विश्वसनीय साथी बनना हमारे लिए सम्मान की बात है राष्ट्रपति जेयर बोल्सनारो। हम स्वास्थ्य सेवा क्षेत्र में अपने सहयोग को मजबूत करते रहेंगे।"

ब्राजील में भारत के कोविशील्ड वैक्सीन की 20 लाख खुराक पहुंचने के तुरंत बाद ब्राजील के राष्ट्रपति ने ट्वीट किया, "नमस्कार, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी .. वैश्विक बाधा को दूर करने के लिए ब्राजील आप जैसा एक महान साथी पाकर धन्य है। भारत से ब्राजील को वैक्सीन के निर्यात में हमारी मदद करने के लिए शुक्रिया। धन्यवाद!"

बोल्सनारो के ट्वीट में भगवान हनुमान की एक तस्वीर भी थी, जिसमें उन्हें भारत से ब्राजील तक 'संजीवनी बूटी' की तरह कोरोनावायरस वैक्सीन ले जाते हुए दिखाया गया।

भारत ने शुक्रवार को कोविशील्ड वैक्सीन की 20 लाख खुराक ब्राजील भेज दी। कोविशिल्ड को एस्ट्राजेनेका और ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय द्वारा विकसित किया गया है और इसका निर्माण सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (एसआईआई) द्वारा किया जा रहा है।

इस बीच 92 देशों ने कोविड-19 टीकों के लिए भारत से संपर्क किया है, जिसमें ब्राजील भी शामिल है। ब्राजील वर्तमान में संक्रमण के मामले में दुनिया में तीसरे स्थान पर है, वहीं कोविड से हुई मौतों के मामले दूसरे स्थान पर है।

इससे पहले ब्राजील के राजदूत आंद्रे अरान्हा कोरीया डू लागो ने वैक्सीन के लिए और परिवहन के दौरान 'व्यावसायिकता का प्रदर्शन' करने के लिए एसआईआई को धन्यवाद दिया।

--आईएएनएस


23-Jan-2021 4:47 PM 25

वाशिंगटन. अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन के शपथग्रहण समारोह में ‘द हिल वी क्लाइंब' कविता पढ़ने वाली 22 साल की अमांडा गोरमैन को एक नौकरी का ऑफर मिला है. नौकरी का यह ऑफर मॉर्गन स्टेट यूनिवर्सिटी के अध्यक्ष डेविड विल्सन ने अमांडा को दिया है. उन्होंने अमांडा को हेम्स में स्थित प्रतिष्ठित ऐतिहासिक ब्लैक शिक्षण संस्थान में नौकरी करने का ऑफर दिया है. डेविड ने इस बाबत एक ट्वीट भी किया है. इस ट्वीट में उन्होंने लिखा है कि मुझे हमारे यहां आप जैसी एक कवयित्री की जरूरत है. साथ ही उन्होंने यह भी भरोसा जताया कि अमांडा उनके इस ऑफर को मना नहीं करेंगी.

बता दें, 22 साल की अमांडा अमेरिका के किसी भी राष्ट्रपति के शपथ ग्रहण समारोह में परफॉर्म करने वाली सबसे कम उम्र की कवयित्री हैं. गोरमैन ने बाइडन के शपथ ग्रहण में पोयम ‘द हिल वी क्लाइंब' सुनाई. अमांडा बचपन में बोलने के दौरान अटकती थीं, लेकिन उन्होंने इसे कभी खुद पर हावी नहीं होने दिया और अपनी कमजोरी नहीं माना. जिसके बाद वो अपनी छोटी सी उम्र में ही अमेरिका की एक मशहूर पोएट बन गईं.

16 साल की उम्र में सुर्खियों में आईं गोरमैन
गोरमैन जब सिर्फ 16 साल की थीं तो उन्हें लॉस एंजिलिस की पहली यंग पोएटेस के तौर पर चुना गया था. इसके बाद से ही वो काफी सुर्खियों में रहने लगीं. इसके अगले ही साल 2017 में उन्होंने अपना पहला पोएम कलेक्शन पब्लिश किया, जिसे लोगों ने खूब पसंद भी किया. अमांडा की कविताओं में सामाजिक अन्याय और नस्लवाद को लेकर काफी कुछ होता है. वो अपनी कविताओं से समाजिक असमानता को भी दर्शाती हैं. अमांडा से पहले एलिजाबेथ एलेकजेंडर ने बराक ओबामा के शपथ ग्रहण में, माया एंजेलू ने बिल क्लिंटन के और रॉबर्ट फोस्ट ने 1961 में जॉन केडी के शपथ ग्रहण समारोह में बतौर पोएट परफॉर्म किया था और अपनी पोएम सुनाई थी.

जिल बाइडन ने किया था नाम प्रपोज
बताया गया है कि अमेरिका की फर्स्ट लेडी और जो बाइडन की पत्नी जिल बाइडन अमांडा के काम की फैन हैं. उन्होंने खुद शपथ ग्रहण के लिए अमांडा का नाम प्रपोज किया था. जिसके बाद इस युवा पोएट से संपर्क किया गया और उसने शपथ ग्रहण में परफॉर्म किया. (news18.com)


23-Jan-2021 1:31 PM 18

ईरान के सर्वोच्च नेता आयातुल्लाह ख़ामेनेई के एक ट्वीट को लेकर खड़ा हुआ विवाद सोशल मीडिया पर गर्माया हुआ है.

ख़ामेनेई ने एक ट्वीट किया जिसमें उन्होंने अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप से ईरानी सैन्य कमांडर जनरल क़ासिम सुलेमानी के क़त्ल का बदला लेने की बात कही.

बाद में सोशल मीडिया कंपनी ट्विटर ने इस ट्वीट के लिए ख़ामेनेई का ट्विटर अकाउंट निलंबित कर दिया.

कंपनी के प्रवक्ता ने समाचार एजेंसी रॉयटर्स से बातचीत में कहा कि '@khamenei_site एक फ़र्जी अकाउंट था जिसने ट्विटर के नियमों का उल्लंघन किया और इसीलिए इस अकाउंट को बंद कर दिया गया है.'

इस विवादित ट्वीट का स्क्रीनशॉट अब भी सोशल मीडिया पर शेयर हो रहा है जिसमें ट्रंप की तरह दिखने वाले एक शख़्स को लड़ाकू विमान या किसी बड़े ड्रोन के साये में गोल्फ़ खेलता हुआ दिखा गया है.

यही तस्वीर ख़ामेनेई की वेबसाइट पर भी इस्तेमाल की गई है जिसपर लिखा है, "बदला लाज़िमी है."

जिस ट्वीट को अब ट्विटर ने हटा दिया है, उसमें भी यही लिखा था कि "बदला लाज़िमी है." फ़ारसी भाषा में लिखे उस ट्वीट में 'बदला' शब्द लाल रंग से लिखा गया था.

ट्वीट में यह भी लिखा था कि "सुलेमानी के क़ातिल और जिसने उनके क़त्ल का हुक्म दिया, उसे क़ीमत चुकानी होगी.''

जनरल क़ासिम सुलेमानी के नेतृत्व में ईरान ने इराक़ और सीरिया के कई सैन्य गुटों की मदद करके अपनी जड़ें मज़बूत कर लीं थीं.

क़रीब एक साल पहले अमेरिका ने एक ड्रोन हमले के ज़रिए जनरल सुलेमानी की हत्या कर दी थी, जब वे बग़दाद गए हुए थे.

उस समय राष्ट्रपति ट्रंप ने कहा था कि 'जनरल सुलेमानी लाखों लोगों की मौत के लिए ज़िम्मेदार थे.'

इसके बाद ईरान ने बदले की कार्रवाई करते हुए इराक़ में स्थित अमेरिकी एयरबेस पर कुछ मिसाइलें दाग़ी थीं.

तब ख़ामेनेई ने कहा था कि 'मुजरिमों से सख़्त बदला लिया जाएगा.'

ट्विटर पर बहुत से लोगों ने 'ख़ामेनेई के इस ट्वीट' पर आपत्ति जताते हुए उनके ट्विटर अकांउट पर पाबंदी लगाने की माँग की थी. लोगों ने यह तर्क दिया था कि 'जब ट्विटर डोनाल्ड ट्रंप के ख़िलाफ़ कार्रवाई कर सकता है, तो ख़ामेनेई के ख़िलाफ़ क्यों नहीं?'

दरअसल, वॉशिंगटन स्थित कैपिटल हिल पर ट्रंप समर्थकों के हमले के बाद ट्विटर ने डोनाल्ड ट्रंप के अकाउंट पर पाबंदी लगा दी थी. ट्विटर ने तब भी ये कहते हुए कार्रवाई की थी कि 'उन्होंने ट्विटर के नियम-कायदों का उल्लंघन किया.'

इस महीने की शुरुआत में भी ट्विटर ने ख़ामेनेई के एक ट्वीट को बैन किया था जिसमें उन्होंने अमेरिका और ब्रिटेन में बनी कोविड वैक्सीन को 'भरोसा न करने लायक' बताया था. (bbc.com)


23-Jan-2021 12:15 PM 24

चीन ने पाकिस्तान को कोरानो वैक्सीन की पांच लाख डोज मुफ्त में देने का ऐलान किया है. आर्थिक संकट से जूझ रही पाकिस्तान की सरकार यह तोहफा पाकर खुश है.

  (dw.com)

हाल के दिनों में पाकिस्तान में कोरोना संक्रमण तेजी से फैला है. अब तक देश में कोरोना के मामले सवा पांच लाख के आंकड़े को पार कर गए हैं जबकि इसमें मरने वालों की तादाद 11 हजार से ज्यादा है. अधिकारी संक्रण की रफ्तार को रोकने के लिए टीके को बहुत अहम मान रहे हैं. ऐसे में, पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने ट्वीट कर चीन की दरियादिली का स्वागत किया है. उन्होंने लिखा, "पाकिस्तान चीन की तरफ से टीके की पांच लाख डोज तोहफे में दिए जाने को बहुत सराहता है."

चीन ने सिर्फ पाकिस्तान को नहीं, बल्कि कई और देशों को इसी तरह का तोहफा दिया है. फिलीपींस, कंबोडिया और म्यांमार जैसे कई देशों ने भी चीन से मुफ्त वैक्सीन मिलने की पुष्टि की है.

इससे पहले कुरैशी ने पत्रकारों से कहा था, "चीन ने हमें भरोसा दिया है कि पांच लाख डोज की शिपमेंट बिल्कुल मुफ्त होगी और जनवरी के आखिर तक पहुंच जाएगी." उन्होंने कहा कि चीन ने कहा कि चीन ने फरवरी के अंत तक और दस लाख डोज भेजने का वादा किया है. पाकिस्तान ने पहले ही सिनोफार्म कंपनी की बनाई वैक्सीन के इस्तेमाल की मंजूरी दे दी गई है.

देश के कोने कोने में वैक्सीन
चीन पाकिस्तान का सबसे अहम साझेदार है. वह अरबों डॉलर की लागत से पाकिस्तान में सड़कें, बिजली संयंत्र और रणनीतिक लिहाज से महत्वपूर्ण बंदरगाहों का निर्माण कर रहा है. पिछले दिनों जब चीन ने अपने वैक्सीन के ट्रायल शुरू किए तो पाकिस्तान को भी इसमें शामिल किया. हालांकि पाकिस्तान में टीकाकरण अभियानों का रिकॉर्ड बहुत अच्छा नहीं रहा है. वहां पोलियो टीकाकरण में बहुत सारी बाधाएं आती रही हैं जिसकी वजह आज तक पाकिस्तान से इसे खत्म नहीं किया गया है.

इससे पहले रिपोर्टें आई थीं कि पाकिस्तान में कोरोना की चीनी वैक्सीन के ट्रायल के लिए पर्याप्त वोलंटियर नहीं मिल रहे हैं. अधिकारी कहते हैं कि कट्टरपंथी लोगों में कई गलतफहमियां फैला रहे हैं, जिससे उनका काम मुश्किल हो रहा है. इसीलिए सरकार ने टीके को लेकर जागरूकता के अभियान शुरू किए हैं.

उधर, भारत ने भी कई देशों को वैक्सीन मुफ्त में देने का ऐलान किया है. इनमें बांग्लादेश, नेपाल, भूटान, सेशेल्स, मॉरिशस और मालदीव जैसे देश शामिल हैं. वहीं ब्रालीज और मोरक्को जैसे देशों को भारत में तैयार वैक्सीन की व्यावसायिक शिपमेंट हो रही है.

भारत ने भी अपने यहां दुनिया का सबसे बड़ा टीकाकरण अभियान छेड़ा है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का कहना है कि एक हफ्ते के भीतर दस लाख से ज्यादा लोगों को टीका लगवाया जा चुका है. उन्होंने अपने निर्वाचन क्षेत्र वाराणी से वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए देश के स्वास्थ्यकर्मियों से बात करते हुए कहा, "हमारी तैयारी इस तरह की रही है कि वैक्सीन तेजी से देश के कोने कोने में पहुंच रही है."
एके/आईबी (एएफपी, रॉयटर्स)


23-Jan-2021 11:43 AM 24

वॉशिंगटन, 23 जनवरी | अमेरिका में कोविड-19 के खिलाफ बनी वैक्सीन मॉडर्ना को लेने के बाद से प्रतिकूल घटनाओं के सामने आने का सिलसिला लगातार जारी है। यहां 10 जनवरी तक 1,200 से अधिक ऐसे मामलों की पुष्टि हो चुकी है, जिनमें से 10 मामले एनाफिलेक्सिस या एलर्जिक रिएक्शन के पाए गए हैं। शुक्रवार को सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन (सीडीसी) द्वारा जारी किए गए एक रिपोर्ट में इसका खुलासा हुआ है।

सिन्हुआ समाचार एजेंसी की रिपोर्ट के मुताबिक, अमेरिकी खाद्य और औषधि प्रशासन ने 18 दिसंबर, 2020 को मॉडर्ना कोविड-19 वैक्सीन के आपातकालीन इस्तेमाल के लिए मंजूरी प्रदान किया था। बताया गया कि कोरोना से लंबी सुरक्षा के लिए टीके की दो खुराक जरूरी होगी।

सीडीसी के मुताबिक, 10 जनवरी तक अमेरिका में मॉडर्ना कोविड-19 वैक्सीन की पहली 40,41,396 खुराके वितरित की गईं और इसके बाद 1,266 प्रतिकूल घटनाओं की रिपोर्ट वैक्सीन एडवर्स इवेंट रिपोर्टिग सिस्टम को सौंपी गई।

इनमें से 108 केस रिपोर्ट की पहचान पुन: समीक्षा के लिए की गई क्योंकि इन्हें संभवत: एलर्जिक रिएक्शन जैसे कि एनाफिलेक्सिस का केस माना जा रहा है।

एनाफिलेक्सिस एक जानवेला एलर्जिक रिएक्शन है जिसका असर सामान्यत: वैक्सीनेशन के कुछ ही मिनटों या घंटों बाद दिखता है।
(आईएएनएस)


23-Jan-2021 10:28 AM 13

गंभीर आर्थिक संकट से जूझ रहा पाकिस्तान दिवालिया होने के कगार पर पहुंच गया है. बची खुची पाकिस्तानी अर्थव्यवस्था की कमर कोरोना वायरस ने तोड़कर रख दी है. कंगाली की दहलीज पर खड़े पाकिस्तान ने अपनी अर्थव्यवस्था को चलाने के लिए फिर से 1.2 बिलियन डॉलर (87,56,58,00,000 रुपये) का नया कर्ज लिया है. कर्ज की इस नई राशि के साथ चालू वित्त वर्ष की पहली छमाही में पाकिस्तान अब तक 5.7 अरब डॉलर (4,16,01,73,50,000 रुपये) की नई उधारी ले चुका है. वहीं प्रधानमंत्री इमरान खान ढाई साल सरकार चलाने के बाद भी देश के खस्ता आर्थिक हालात के लिए पिछली सरकारों को जिम्मेदार बता रहे हैं. पाकिस्तान में हालात यहां तक पहुंच गए हैं कि सरकारी कर्मचारियों को तनख्वाह देने के लिए भी इमरान खान सरकार को जोड़ तोड़ करना पड़ रहा है. पाकिस्तान का सबसे बड़ा दाता सऊदी अरब और यूएई अपने कई बिलियन डॉलर के कर्ज को वापस मांग रहे हैं. वहीं, पाकिस्तान का सदाबहार दोस्त चीन भी अब पाकिस्तान को कर्ज देने में आनाकानी कर रहा है. 

पाकिस्तान के आर्थिक मामलों के मंत्रालय ने बयान जारी कर कहा कि वित्त वर्ष 2020-21 के जुलाई-दिसंबर के दौरान इमरान खान सरकार को कई वित्तपोषण स्रोतों से बाहरी कर्जों के रूप में 5.7 बिलियन डॉलर की राशि मिली है. दिसंबर में पाकिस्तान सरकार ने विदेशों से 1.2 बिलियन डॉलर प्राप्त किए, जिसमें वाणिज्यिक बैंकों से महंगे ब्याज पर ली गई 434 मिलियन डॉलर की राशि भी शामिल है. इमरान खान सरकार की लचर आर्थिक सुधारों के चलते साल 2020 के अंत तक पाकिस्तान का कुल कर्ज 11.5 फीसदी सालाना की दर से बढ़कर 35.8 ट्रिलियन रुपये तक पहुंच गया है. जिसके बाद खुद की गलतियों के पिछली सरकारों पर डालते हुए पाकिस्तानी वित्त मंत्रालय ने कहा कि पिछली सरकार की गलत आर्थिक नीतियों के कारण देश को अत्याधिक विनिमय दर और अत्यधिक उधारी का सामना करना पड़ रहा है. 

जी-20 देशों से कर्ज राहत के तहत, पाकिस्तान अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष और विश्व बैंक के प्रारूप के मुताबिक पूर्व की मंजूरी के अलावा, ऊंची दरों पर वाणिज्यिक कर्ज नहीं ले सकता. इस कारण चीन ही नहीं, पाकिस्तान के कई पसंदीदा देश भी निवेश करने या कर्ज देने से घबरा रहे हैं. हालात तो यहां तक आ गई है कि चीन भी कर्ज के बदले अतिरिक्त गारंटी मांग रहा है.

पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान ने अंतरराष्ट्रीय समुदाय से अनुरोध किया है कि कोरोना वायरस महामारी के खत्म होने तक कम आय वाले और सर्वाधिक प्रभावित देशों के लिए ऋण अदायगी को निलंबित कर दिया जाए तथा अल्प विकसित देशों की देनदारी को निरस्त कर दिया जाए. नकदी के संकट से जूझ रहे पाकिस्तान की आर्थिक परेशानियां महामारी के कारण और बढ़ गयी हैं तथा इमरान खान की सरकार अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) समेत वैश्विक निकायों से आर्थिक मदद की व्यवस्था कर रही है ताकि संकट से उबरा जा सके. (news18)


23-Jan-2021 10:23 AM 16

केनबरा. अमेरिका की दिग्‍गज कंपनी गूगल ने ऑ‍स्‍ट्रेलिया को धमकी दी है कि अगर उसे न्‍यूज के लिए स्थानीय पब्लिशर्स को पैसा देने के लिए बाध्‍य किया गया तो वह अपने सर्च इंजन को बंद कर देगी. गूगल और ऑस्‍ट्रेलिया सरकार के बीच में न्‍यूज के बदले पैसा देने को लेकर विवाद चल रहा है और बात धमकी तक आ गई है. उधर, ऑस्‍ट्रेलिया के प्रधानमंत्री स्‍कॉट मॉरिशन पैसा देने के लिए कानून बनाने को दृढ़ हैं और उन्‍होंने कहा है कि वह धमकियों पर जवाब नहीं देते हैं.

ऑस्‍ट्रेलिया सरकार के प्रस्‍तावित कानून में पब्लिशर्स को उनके स्‍टोरी के बदले पैसा देने की बात कही गई है. उधर, गूगल की ऑस्‍ट्रेलिया और न्‍यूजीलैंड की प्रबंध निदेशक मेल सिल्‍वा ने संसदीय कमिटी के सामने कहा क‍ि पब्लिशर्स को पैसा देना 'अव्‍यहारिक' है. मेल सिल्‍वा ने विशेष रूप से मीडिया कंपनियों को सर्च का परिणाम दिखाने के दौरान खबर का छोटा सा हिस्‍सा दिखाने पर पैसा देने की मांग का विरोध किया.

दुनिया के सबसे बड़े सर्च इंजन के लिए पैसा देने का खतरा काफी प्रबल नजर आ रहा है और पूरी दुनिया से उसके ऊपर दबाव बन रहा है. ऑस्‍ट्रेलिया में 94 फीसदी सर्च गूगल के जरिए होता है. उधर, ऑस्‍ट्र‍ेलिया के प्रधानमंत्री स्‍कॉट मॉरिशन ने कहा है कि वह ध‍मकियों पर ध्‍यान नहीं देते हैं. पीएम मॉरिशन ने कहा, 'ऑस्‍ट्रेलिया अपने नियम उन चीजों के लिए बनाता है जो आप हमारे देश में कर सकते हैं. यह हमारी संसद में होता है. यह हमारी सरकार द्वारा किया जाता है. और इसी तरह से चीजें ऑस्‍ट्रेलिया में चलती हैं.' (news18)


23-Jan-2021 10:20 AM 16

पेरिस. कोरोना वायरस से बचाव के लिए दुनियाभर में लोग अल्‍कोहॉल आधारित हैंड सैनिटाइजर का इस्‍तेमाल कर रहे हैं. फ्रांस में हुए ताजा शोध के मुताबिक साल 2020 में वर्ष 2019 की अपेक्षा बच्‍चों के घायल होने की घटनाएं 7 गुना बढ़ गई हैं. इसमें काफी ज्‍यादा मामले आंखों के खराब होने के हैं. अब शोधकर्ताओं ने चेतावनी दी है कि अगर गलती से सैनिटाइटर बच्‍चों की आंख में चला जाए तो यह उन्‍हें अंधा कर सकता है. फ्रेंच प्‍वाइजन कंट्रोल सेंटर के डेटाबेस के मुताब‍िक एक अप्रैल 2020 से 24 अगस्‍त के बीच सैनिटाइजर से जुड़ी घटनाओं की संख्‍या 232 रही जो पिछले साल 33 थी. कोरोना वायरस से बचाव के लिए दुनियाभर में सैनिटाइजर के इस्‍तेमाल पर जोर दिया जा रहा है. करीब 70 फीसदी अल्‍कोहॉल वाले सैनिटाइजर का इस्‍तेमाल बहुत तेजी से बढ़ा है. सैनिटाइजर कोरोना वायरस का खात्‍मा कर देता है.

इसी वजह से दुकानों, ट्रेनों, घरों में हर जगह सैनिटाइजर का इस्‍तेमाल बढ़ा है. शोधकर्ताओं ने कहा, 'अल्‍कोहॉल आधारित हैंड सैनिटाइजर मार्च 2020 से लेकर अब तक बड़े पैमाने पर खासतौर पर बच्‍चों में इस्‍तेमाल किया जा रहा है.' भारतीय शोधकर्ताओं का भी कहना है कि सैनिटाइजर को बच्‍चों की पहुंच से दूर रखना चाहिए. ऐसे दो मामले आए हैं जब बच्‍चों की आंखों में सैनिटाइजर चला गया और उन्‍हें अस्‍पताल ले जाना पड़ा.'

डॉक्‍टरों ने कहा कि छोटे बच्‍चों में सैनिटाइजर के आंखों में जाने से गंभीर रूप से बीमार होने या अंधे होने का खतरा रहता है. ज्‍यादातर सार्वजनिक जगहों पर सैनिटाइजर कम ऊंचाई पर रखे गए हैं जिससे उनके बच्‍चों की आंखों में जाने का खतरा रहता है. उन्‍होंने कहा कि हम सलाह देंगे कि बच्‍चों को सैनिटाइजर लगाने में बड़े मदद करें. साथ ही कोशिश करें कि कोरोना से बचाव के लिए हाथ धोने की प्रक्रिया को प्राथमिकता दें. (news18)


23-Jan-2021 9:50 AM 16

तेहरान. ईरान के सर्वोच्च नेता अयातुल्ला खामनेई के ट्विटर एकाउंट को सस्पेंड करने की खबर को ट्विटर ने निराधार करार दिया है. उन्होंने शुक्रवार की शाम को सफाई देते हुए कहा कि उन्होंने खामनेई के फर्जी ट्विटर अकाउंट को सस्पेंड किया है. वहीं इससे पहले खबर आई थी कि ट्विटर ने एक्शन लेते हुए शुक्रवार को उनके अकाउंट को सस्पेंड कर दिया है. इस ट्वीट के जरिए धमकी दी गई थी ईरान के शीर्ष जनरल कासिम सुलेमानी की मौत का ट्रंप से बदला लिया जाएगा.

अयातुल्ला खामनेई के फर्जी ट्विटर एकाउंट से गुरुवार को ट्वीट कर चेतावनी दी गई कि बगदाद एयरपोर्ट के बाहर अमेरिकी हवाई हमला में मारे गए ईरान के शीर्ष जनरल कासिम सुलेमानी और उनके इराकी लेफ्टिनेंट की कीमत चुकाने से वह नहीं बच सकता है. उन्होंने कहा- "बदला जरूरी है. सुलेमानी का हत्यारा और जिसने यह आदेश दिया उसे जरूर इसकी सजा मिलनी चाहिए." "प्रतिशोध किसी भी वक्त लिया जा सकता है. " गौरतलब है कि इरानी अधिकारी लगातार जनरल कासिम सुलेमानी की मौत का बदला लेने की बात करते आ रहे हैं. महीने की शुरुआत में इससे पहले कासिल सुलेमानी की मौत की पहली बरसी पर ज्यूडिशियरी चीफ इब्राहिम रइशी ने चेतावनी देते हुए कहा था कि इंसाफ से ट्रंप भी नहीं बच सकते हैं और सुलेमानी का हत्यारा दुनिया में कहीं भी सुरक्षित नहीं है.

बता दें कि 3 जनवरी 2020 को इराक में बगदाद हवाई अड्डे पर अमेरिकी हवाई हमले में कासिम सुलेमानी की हत्या कर दी गई. इस हत्या के बाद अमेरिका ने अपने इस फैसले को सही बताते हुए कहा कि 'वह अमेरिकी प्रतिष्ठानों और राजनयिकों पर हमला करने की साजिश रच रहा था.' इसके बाद से लगातार दोनों देशों के बीच रिश्ते भारी तनावपूर्ण बने हुए हैं. (news18)


23-Jan-2021 9:48 AM 16

लंदन. बैंकों का अरबों रुपये का कर्ज नहीं चुकाने के आरोपी भगोड़े शराब कारोबारी विजय माल्या भारत सरकार के चंगुल से बचने के लिए लगातार नए रास्ते तलाश रहा है.

ब्रिटेन में रहने के लिए माल्या ने एक और चाल चली है. माल्या ने ब्रिटेन में गृह मंत्री प्रीति पटेल के सामने एक नई अर्जी लगाई है. इस बात की जानकारी माल्या के वकील ने शुक्रवार को कोर्ट में दी. बता दें कि ब्रिटेन की सुप्रीम कोर्ट ने माल्या को भारत सरकार को प्रत्यर्पित करने के खिलाफ दायर याचिका को पिछले साल अक्टूबर में ही खारिज कर दिया था.

विजय माल्या फिलहाल तब तक जमानत पर है जब तक पटेल उसे भारत प्रत्यर्पित करने के आदेश पर हस्ताक्षर नहीं कर देतीं. ब्रिटेन के गृह मंत्रालय ने इस संबंध में सिर्फ इस बात की पुष्टि की है कि प्रत्यर्पण आदेश पर अमल किये जाने से पहले कुछ गोपनीय कानूनी प्रक्रिया चल रही है. इससे ये अटकलें लगाई जा रही हैं कि माल्या ने ब्रिटेन में शरण मांगी थी. हालांकि ब्रिटेन के गृह मंत्रालय ने न तो इस बात की पुष्टि की है और न ही इससे इनकार किया है.

माल्या के वकील ने दी जानकारी

कोर्ट में इन्सॉल्वेंसी एंड कंपनीज के जज निगेल बार्नेट ने माल्या के वकील फिलिप मार्शल से प्रत्यर्पण को लेकर सवाल पूछे. इसके जवाब में उन्होंने कहा कि माल्या ब्रिटेन में रहने के लिए एक और रास्ता तलाश रहे हैं. इसके लिए उन्होंने गृह मंत्री प्रीति पटेल के सामने एक नई अर्जी लगाई है. कहा जा रहा है कि ये माल्या के द्वारा ब्रिटेन में शरण लेने का एक और तरीका हो सकता है. कानूनी विशेषज्ञों के अनुसार उन्हें वहां शरण मिलेगी या नहीं ये इस बात पर निर्भर करेगा कि माल्या ने प्रत्यर्पण अनुरोध से पहले शरण के लिए आवेदन किया या नहीं.

प्रत्यर्पण में क्यों हो रही है देरी?

बता दें कि पिछले हफ्ते केंद्र सरकार ने सुप्रीम कोर्ट को बताया था कि विजय माल्या को ब्रिटेन से भारत लाने के सभी प्रयास किये जा रहे हैं लेकिन इसमें कुछ बिन्दुओं पर चल रही कानूनी कार्यवाही की वजह से देरी हो रही है. सरकार ने न्यायालय को बताया था कि भगोड़े कारोबारी विजय माल्या का उस समय तक भारत प्रत्यर्पण नहीं हो सकता जब तक ब्रिटेन में चल रही एक अलग ‘गोपनीय’ कानूनी प्रक्रिया का समाधान नहीं हो जाता विजय माल्या, बंद हो चुकी किंगफिशर एयरलाइंस पर बैकों का नौ हजार करोड़ रूपए से भी अधिक बकाया राशि का भुगतान नहीं करने के मामले में आरोपी है. (पीटीआई इनपुट के साथ) (news18)


23-Jan-2021 9:45 AM 16

लंदन. भारत, अमेरिका, ब्रिटेन सहित कई देशों ने अपने-अपने यहां टीकाकरण अभियान भी शुरू कर दिया है लेकिन कोरोना के बदलते रूप ने सभी की चिंता को बढ़ाया हुआ है. ये अलग-अलग वेरिएंट्स इसलिए भी टेंशन का कारण बने हुए हैं क्योंकि यह कोरोना (Corona) के पुराने स्वरूप से कहीं ज्यादा तेजी से फैलते हैं. ऐसे में यह भी अंदेशा है कि वैक्सीन (Vaccine) पुराने स्वरूप को ध्यान में रखकर बनाई गई है और यह नए वेरिएंट पर असरदार होगी भी या नहीं. हालांकि, एक रिपोर्ट के मुताबिक ऑक्सफोर्ड के वैज्ञानिक कोरोना के नए वेरिएंट्स से लड़ने के लिए वैक्सीन के भी नए वर्जन तैयार कर रहे हैं.

खबर के मुताबिक, ऑक्सफोर्ड-एस्ट्रेजेनेका की वैक्सीन को तैयार करने वाले वैज्ञानिकों की टीम इस वैक्सीन में बदलावों की संभावनाओं को लेकर अध्ययन कर रही है. वैज्ञानिक यह भी अनुमान लगा रहे हैं कि वे कितनी जल्दी नए वेरिएंट्स के लिए वैक्सीन में बदलाव कर सकते हैं. यूनिवर्सिटी के प्रवक्ता के मुताबिक, फिलहाल ऑक्सफोर्ड नए वेरिएंट्स का वैक्सीन से मिलने वाली प्रतिरोधी क्षमता पर होने वाले असर का अध्ययन कर रहे हैं. साथ ही वे वैक्सीन में नए वेरिएंट्स के हिसाब से बदलाव करने की प्रक्रिया पर भी विचार कर रहे हैं. हालांकि, अभी तक ऑक्सफोर्ड ने आधिकारिक तौर पर इसे लेकर कोई बयान नहीं दिया है.

ब्रिटिश पीएम बोरिस जॉनसन ने भी बुधवार को कहा था कि जल्द ही देश के दवा नियामक कोरोना वायरस के नए रूपों के लिए बनाई वैक्सीन के नए संस्करणों को मंजूरी देने के लिए तैयार होंगे. (news18)


23-Jan-2021 9:43 AM 14

इस्लामाबाद. पाकिस्तान को अपना दोस्त बोलने वाले चीन ने कोरोना वैक्सीन के मामले में भी उसकी उम्मीदों पर पानी फेर दिया है. 22 करोड़ की आबादी वाले पाकिस्तान को चीन ने केवल 5 लाख टीके देकर टरका दिया है. वह भी तब जब पाकिस्तान ने दोस्त के सामने अपनी झोली फैलाकर मदद की गुहार लगाई. और तो और चीन ने पाकिस्तान की बेइज्जती भी कर डाली है और कहा है कि अपना विमान लाकर ये टीके ले जाना. खुद को महाशक्ति बताने वाले चीन का दिल कितना छोटा है इसका अंदाजा इस बात से लगाइए कि भारत ने पड़ोसी देश नेपाल को 10 लाख टीके भेजे हैं, जबकि उसकी आबादी 3 करोड़ से भी कम है.

पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने इस बात की घोषणा करते हुए कहा है कि चीन ने पाकिस्तान को 31 जनवरी तक कोरोना वैक्सीन की 5 लाख डोज उपलब्ध कराने का वादा किया है. चाइनीज समकक्ष वांग यी के साथ टेलीफोन पर बातचीत के बाद कुरैशी ने एक वीडियो मैसेज के जरिए मुल्क को यह जानकारी दी. उन्होंने यह भी कहा कि बीजिंग ने इस्लामाबाद से कहा है कि अपना प्लेन भेजकर वैक्सीन उठा लेना. पाकिस्तानी अखबार डॉन की एक रिपोर्ट के मुताबिक, विदेश मंत्री ने कहा कि चीनी विदेश मंत्री के साथ उनकी विस्तृत बातचीत हुई और उन्होंने पाकिस्तान की जरूरतों को लेकर चर्चा की. कुरैशी ने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान के निर्देश पर चीन से मदद मांगी थी. इमरान खान ने स्थिति की गंभीरता को देखते हुए बीजिंग से गुहार लगाने को कहा था. कुरैशी ने इस बेइज्जती को गुड न्यूज का नाम देते हुए कहा, ''मैं देश को खुशखबरी देना चाहता हूं कि चीन ने 31 जनवरी तक पाकिस्तान को 5 लाख डोज देने का वादा किया है. उन्होंने (चीन) ने कहा है कि अपना विमान भेजे और दवा उठा लो.''

एक ट्वीट में कुरैशी ने यह भी बताया कि कोरोना संक्रमण से बचाने वाले ये टीके सिनोफार्मा के होंगे, जिसे पाकिस्तान मंजूरी दे चुका है. कुरैशी ने ट्वीट किया, ''चाइनीज वैक्सीन के अच्छे परिणाम और हमारे ऐतिहासिक रिश्तों के परिणामस्वरूप पाकिस्तान ने सिनोफार्मा वैक्सीन को इमर्जेंसी इस्तेमाल की मंजूरी दी है. पाकिस्तान चीन की ओर से गिफ्ट किए जा रहे 5 लाख डोज की बहुत सराहना करता है.'' हालांकि, कुरैशी ने यह भी कहा है कि उन्होंने अपने चीनी समकक्ष को बता दिया कि पाकिस्तान को इससे अधिक की आवश्कता है और उन्हें नजदीकी समय में 11 लाख डोज की आवश्यकता होगी. कुरैशी ने कहा है कि चीन ने कहा कि वह इसके बारे में विचार करेंगे और फरवरी के अंत तक 11 लाख डोज दे देंगे. (news18)


23-Jan-2021 9:33 AM 14

वाशिंगटन, 23 जनवरी | वैश्विक स्तर पर कोरोनावायरस मामलों की कुल संख्या 9.8 करोड़ से अधिक हो गई है, जबकि संक्रमण से हुई मृत्यु संख्या 21 लाख से अधिक हो गई है। यह जानकारी जॉन्स हॉपकिन्स विश्वविद्यालय ने शनिवार को दी।

विश्वविद्यालय के सेंटर फॉर सिस्टम साइंस एंड इंजीनियरिंग (सीएसएसई) ने शनिवार सुबह अपने नवीनतम अपडेट में खुलासा किया कि वर्तमान में वैश्विक संक्रमण के मामलों और मृत्यु क्रमश: 98,129,394 और 2,105,056 पर है।

सीएसएसई के अनुसार, अमेरिका दुनियाभर में सबसे अधिक 24,815,084 मामलों और 413,925 मौतों के साथ सबसे ज्यादा प्रभावित देश है।

संक्रमण के हिसाब से भारत 10,625,428 मामलों के साथ दूसरे स्थान पर है, जबकि देश की कोविड से हुई मौतों की संख्या 153,032 है।

सीएसएसई के आंकड़ों के अनुसार, दस लाख से अधिक मामलों वाले अन्य देश ब्राजील (8,753,920), रूस (3,637,862), ब्रिटेन (3,594,094), फ्रांस (3,069,695), स्पेन (2,499,560), इटली (2,441,854), तुर्की (2,418,472), जर्मनी (2,125,261), कोलम्बिया (1,987,418), अर्जेंटीना (1,853,830), मेक्सिको (1,711,283), पोलैंड (1,464,448), दक्षिण अफ्रीका (1,392,568), ईरान (1,360,852), यूक्रेन (1,222,459) और पेरू (1,082,907) हैं।

कोविड से हुई मौतों के मामले में वर्तमान में ब्राजील 215,243 आंकड़ों के साथ दूसरे नंबर पर है।

वहीं 20,000 से अधिक मृत्यु दर्ज करने वाले देश मेक्सिको (146,174), ब्रिटेन (96,166), इटली (84,674), फ्रांस (72,788), रूस (67,376), ईरान (57,225), स्पेन (55,441), जर्मनी (51,277), कोलंबिया (50,586), अर्जेंटीना (46,575), दक्षिण अफ्रीका (40,076), पेरू (39,274), पोलैंड (34,908), इंडोनेशिया (27,453), तुर्की (24,789), यूक्रेन (22,228) और बेल्जियम (20,620) है।

--आईएएनएस


23-Jan-2021 8:56 AM 18

बगदाद. इराक (Iraq) की राजधानी बगदाद में हुए दो आत्मघाती हमलों की जिम्मेदारी आतंकवादी संगठन इस्लामिक स्टेट ने ली है. हमले में कम से कम 32 लोगों की मौत हुई है और कई लोग घायल हुए हैं. इस्लामिक स्टेट से जुड़ी एक वेबसाइट पर गुरुवार देर रात संगठन ने एक बयान में कहा कि हमले में 'विधर्मी शियाओं को निशाना बनाया गया था.

गुरुवार को राजधानी के भीड़ भरे बाजार में हुए दो आत्मघाती हमलों में कम से कम 32 लोगों की मौत हुई है जबकि 100 से ज्यादा लोग घायल हुए हैं. घायलों में कई लोगों की हालत नाजुक बनी हुई है. संयुक्त ऑपरेशंस कमान के प्रवक्ता मेजर जनरल तहसीन अल-खफाजी ने बताया था कि पहले आत्मघाती हमलावर ने भीड़ भरे बाजार में हमले से पहले चीख कर कहा कि वह बीमार है, इस कारण उसके आसपास काफी लोग एकत्र हो गए, फिर उसने विस्फोट किया.

दूसरे हमलावर ने उसके तुरंत बाद स्वयं को बम से उड़ा लिया. बगदाद के भीड़भाड़ वाले बाजार में करीब तीन साल में पहली बार आत्मघाती हमला हुआ है. इससे पहले 2018 में तत्कालीन प्रधानमंत्री हैदर अल-अबादी द्वारा आतंकवादी संगठन इस्लामिक स्टेट पर जीत की घोषणा किए जाने के बाद इसी इलाके में आत्मघाती हमला हुआ था. (news18)


23-Jan-2021 8:34 AM 15

वाशिंगटन, 23 जनवरी | सेवानिवृत्त अमेरिकी सेना के जनरल लॉयड ऑस्टिन जो बाइडेन प्रशासन में रक्षा मंत्री बन गए हैं। मीडिया रिपोर्ट्स में शुक्रवार को उनके रक्षा मंत्री बनने की पुष्टि की गई है। बीबीसी की रिपोर्ट के अनुसार, ऑस्टिन को सीनेट में 93 वोट मिले, जबकि दो वोट उनके खिलाफ गए। बाइडेन के नेतृत्व वाली सरकार में एवरिल हैन्स के बाद ऑस्टिन के तौर पर दूसरी बड़ी जिम्मेदारी की पुष्टि हुई है। ऑस्टिन से पहले हैन्स नेशनल इंटेलिजेंस की निदेशक बनने वाली पहली महिला बनीं थीं।

लॉयड ऑस्टिन पहले अफ्रीकी-अमेरिकी हैं, जो पेंटागन प्रमुख की जिम्मेदारी संभालेंगे।

कांग्रेस (अमेरिकी सदन) ने गुरुवार को रक्षा मंत्री के तौर पर ऑस्टिन के नाम पर मुहर लगा दी थी। इस मंजूरी के बाद उनका रक्षा मंत्री बनने का रास्ता साफ हो गया था। दरअसल अमेरिकी कानून के तहत, सैन्य अधिकारियों को रक्षा मंत्री बनने से पहले अपनी सेवानिवृत्ति के बाद सात साल की अवधि की आवश्यकता होती है और ऑस्टिन 2016 में ही सेवानिवृत्त हुए थे।

पिछले राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के पहले रक्षा मंत्री लेफ्टिनेंट जनरल जेम्स मैटिस (सेवानिवृत्त) को भी इस पद के लिए 2016 में कांग्रेस की मंजूरी मिली थी।

--आईएएनएस


Previous123456789...131132Next