खेल

Previous12Next
Posted Date : 24-May-2018
  • हम फिट तो इंडिया फिट हैशटैग नाम से आज कल हर कोई फिटनेस चैलेंज दे रहा है। केंद्रीय मंत्री और ओलिंपिक सिल्वर मेडलिस्ट राज्यवर्धन सिंह राठौड़ ने ट्विटर पर एक फिटनेस चैलेंज शुरू किया था। उन्होंने विराट कोहली, रितिक रोशन और सायना नेहवाल को चैलेंज दिया था। जिसको विराट कोहली ने एक्सेप्ट किया और पुश-अप्स मारे। जिसके बाद उन्होंने फिटनेस चैलेंज को आगे बढ़ाने के लिए महेंद्र सिंह धोनी, अनुष्का शर्मा और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को दिया था। उन्होंने लिखा- मैं राठौर सर का दिया फिटनेस चैलेंज स्वीकार करता हूं। अब मैं ये चैलेंज अपनी पत्नी अनुष्का शर्मा, हमारे पीएम नरेंद्र मोदी और धोनी भाई को देता हूं। सबसे पहले पीएम मोदी का ट्वीट आया और उन्होंने विराट का चैलेंज स्वीकार कर लिया है। 
    उन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा- मैं चैलेंज स्वीकार करता हूं विराट, मैं अपना फिटनेस चैलेंज वीडियो जल्द अपलोड करूंगा। जिसके बाद उन्होंने हम फिट तो इंडिया फिट हैशटैग का भी इस्तेमाल किया। अभी अनुष्का शर्मा और एमएस धोनी का जवाब आना बाकी है।
    राज्यवर्धन सिंह राठौर ने मंगलवार को पुशअप्स करते हुए अपना एक वीडियो ट्वीट किया था। उन्होंने फिटनेस मंत्र का एक वीडियो शूट कर आग्रह किया है। (एनडीटीवी)

    ...
  •  


Posted Date : 23-May-2018
  • नई दिल्ली, 23 मई। सुनने में यह भले ही अजीब सा लगे, लेकिन भारत के ट्रैक ऐंड फील्ड के कई ऐथलीटों को मुंह खुला रखकर मुस्कराते हुए फोटो खिंचवाना महंगा पड़ा, क्योंकि आगामी एशियन गेम्स के लिए आयोजकों ने उनके मान्यता कार्ड बनाने से ही इंकार कर दिया। 
    भारतीय ओलिंपिक्स संघ (आईओए) ने 19 ऐथलीट्स और दो अधिकारियों से तुरंत च्सही फॉर्मेटज् में अपने नए फोटो भेजने के लिए कहा है, ताकि कार्ड बनाने की प्रक्रिया फिर से शुरू की जा सके। 
    मान्यता कार्ड बनवाने के लिए अप्लाई करने की डेडलाइन बीत चुकी है, लेकिन आईओए को उम्मीद है कि गलती में सुधार कर दिए जाने पर आयोजक इन मामलों पर गौर करेंगे। (पीटीआई)

     

    ...
  •  


Posted Date : 23-May-2018
  • नई दिल्ली, 23 मई। मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम में खेले गए महिला टी-20 चैलेंज मैच में स्मृति मंधाना की ट्रेलब्लेजर्स को हरमनप्रीत की सुपरनोवास के हाथों 3 विकेट से हार का सामना करना पड़ा। इस मैच में ट्रेलब्लेजर्स ने पहले बल्लेबाज़ी पहले बल्लेबाज़ी करते हुए निर्धारित 20 ओवर में 6 विकेट खोकर 129 रन बनाए। 130 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए सुपरनोवास की टीम ने 7 विकेट खोकर 20 ओवर में 130 का आंकड़ा हासिल कर लिया। एलीस पैरी 13 और पूजा वास्त्राकार 2 रन बनाकर नाबाद रहीं।
    यादव और बेत्स ने लिए दो-दो विकेट
    मिताली राज 22 रन बनाकर एकता बिष्ट की गेंद पर अपना विकेट गंवा बैठे। इसके बाद डेनियल वैट 24 रन बनाकर पूनम यादव की गेंद पर बेथ मूनी को कैच थमा गई। 16 रन बनाकर मेग लानिंग भी पूनम यादव की गेंद पर जेमीमाह रोड्रिगेज को कैच दे बैठी। सोफी डेविन 19 रवन बनाकर सूजी बेत्स की गेंद पर बोल्ड हो गई और सुपरनोवास को लगा चौथा झटका। वेदा कृष्णमूर्ति 2 रन बनाकर झूलन गोस्वामी की गेंद पर बोल्ड हो गई। हरमनप्रीत कौर 21 रन बनाकर सूजी बेत्स की गेंद पर ली ताहुहु को कैच थमा बैठी।
    दोनों सलामी बल्लेबाजी हिली और स्मृति मंधाना सस्ते में आउट होकर पवेलियन लौट चुकी हैं। मंधाना ने 14 तो हिली ने सात रन बनाए। तीसरा विकेट मूनी के रूप में गिरा। इसके बाद दीप्ति शर्मा को राजेश्वरी गायकवाड ने 21 रन पर आउट किया। फिर जेमीमाह रोड्रिगेज 25 रन बनाकर अनुजा पाटिल की गेंद पर एलीस पैरी को कैच थमा बैठी। सूजी बेत्स 32 रन बनाकर एलीस पैरी की गेंद पर बोल्ड हो गईं। सुपर नोवास की तरफ से मेगन स्कट और एलीस पैरी ने दो-दो विकेट लिए तो एक-एक विकेट राजेश्वरी गायकवाड और अनुजा पाटिल के नाम रही।
    इस मैच में दोनों टीमों के 13-13 खिलाड़ी खेल रहे हैं। सुपरनोवास और ट्रेलब्लेजर्स के बीच खेला जा रहा यह एक अनूठा महिला टी-20 चैलेंज मैच महिला आइपीएल लीग की शुरुआत के लिए एक कोशिश के रूप में देखा जा रहा है।
    हरमनप्रीत ने मैच से पहले कहा था कि, हम आईपीएल जैसा टूर्नामेंट खेलने के लिए लंबे समय से इंतजार कर रहे हैं, इसके चलते इस मैच को लेकर बहुत उत्सुकता है। हम खुश है कि हमें यह मौका मिल रहा है। मुझे उम्मीद है कि यह अच्छा मैच होगा। स्मृति ने कहा, यह पहला मौका होगा जब भारत में हम विदेशी खिलाडिय़ों के साथ मिलकर खेलेंगे। इस ऐतिहासिक क्षण का हिस्सा बनने को लेकर सभी खिलाड़ी बेताब हैं।
    टीमें-आईपीएल ट्रेलब्लेजर्स- स्मृति मंधाना (कप्तान), एलीसा हीले (विकेटकीपर), सूजी बेत्स, दीप्ति शर्मा, बेथ मूनी, जेमीमाह रोड्रिगेज, डेनियल हेजल, शिखा पांडे, ली ताहुहु, झूलन गोस्वामी, एकता बिष्ट, पूनम यादव, डेलन हेमलता। (जागरण)

    ...
  •  


Posted Date : 23-May-2018
  • -प्रदीप सहगल
    नई दिल्ली, 23 मई । आइपीएल 2018 के प्लेॉफ में पहुंचने वाली चारों टीमें तय हो गई हैं। सनराइजर्स हैदराबाद, चेन्नई सुपर किंग्स और कोलकाता नाइट राइडर्स तो पहले ही अंतिम चार में अपनी जगह पक्की कर चुके थे। लेकिन रविवार को मुंबई और पंजाब की हार ने राजस्थान रॉयल्स के लिए प्लेऑफ में पहुंचने का रास्ता साफ कर दिया। मतलब राजस्थान की टीम अंतिम चार में पहुंचने वाली चौथी टीम बन गई है। इन चार टीमों के प्लेऑफ में पहुंचते ही मौजूदा आइपीएल के विजेता को लेकर एक बात भी साफ हो गई है।
    जैसे ही आइपीएल के इस सत्र की अंतिम चार टीमों का फैसला हुआ उसी के साथ ये भी तय हो गया कि इस बार ये खिताब कोई भी जीते, लेकिन इस टूर्नामेंट को कोई भी नया विजेता नहीं मिलेगा। क्योंकि चेन्नई, राजस्थान, हैदराबाद और कोलकाता की टीमें एक न एक बार तो इस खिताब को अपने नाम कर ही चुकी है। 
    IPL में सबसे मजबूत हैदराबाद की गेंदबाज़ी, इनके साथ फिर भी हो रहा 'बुरा बर्ताव', आपने गौर किया?
    महेंद्र सिंह धौनी की कप्तानी वाली चेन्नई सुपर किंग्स दो बार इस खिताब पर कब्ज़ा जमा चुकी है। चेन्नई ने 2010 और 2011 लगातार दो सीजन में इस खिताब को अपने नाम किया था। चेन्नई की टीम चार बार इस टूर्नामेंट की रनर अप भी रही है। 2008, 2012, 2013 और 2015 में धौनी के धुरंधर आइपीएल के फाइनल में तो पहुंचे, लेकिन वो इस खिताब को अपने नाम नहीं कर सके।
    केेकेआर के नाम भी हैं दो खिताब
    गौतम गंभीर की कप्तानी में किंग खान की ये टीम भी दो बार आइपीएल की ट्रॉफी जीत चुकी है। कोलकाता की टीम ने 2012 और 2014 में आइपीएल का खिताब जीता था। लेकिन इस बार ये टीम नए कप्तान दिनेश कार्तिक की अगुवाई में अंतिम चार मेंं अपनी जगह बनाने में सफल रही है।
    सनराइजर्स हैदराबाद ने भी जीता है आइपीएल  
    सनराइजर्स हैदराबाद की टीम मौजूदा आइपीएल में प्लेऑफ में पहुंचने वाली पहली टीम रही। इतना ही नहीं ये टीम अंकतालिका में भी नंबर वन पर बनी हुई है। सनराइजर्स हैदराबाद की टीम 2016 में आइपीएल का खिताब अपने नाम कर चुकी है। हैदराबाद ने डेविड वॉर्नर की कप्तानी में विराट कोहली की टीम रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर को मात देकर इस खिताब पर कब्ज़ा जमाया था।
    वैसे 2009 में डेक्कन चार्जर्स की टीम ने भी ये टूर्नामेंट जीता था, और वो टीम भी आइपीएल में हैदराबाद का प्रतिनिधित्व करती थी, लेकिन फिर बाद में इस टीम का नाम बदल दिया गया और फिर अब इसका नाम सनराइजर्स हैदराबाद हो गया है।
    राजस्थान ने जीता था पहला IPL  
    राजस्थान की टीम ने शेन वॉर्न की कप्तानी में आइपीएल का सबसे पहला (2008) सीजन अपने नाम किया था। 2008 में फाइनल में राजस्थान के रॉयल्स चेन्नई के सुपर किंग्स पर भारी पड़ गए थे। हालांकि उसके बाद कभी भी ये टीम आइपीएल की फाइनलिस्ट नहीं बन सकी। इस बार अजिंक्य रहाणे की कप्तानी में और किस्मत के सहारे ये टीम प्लेॉफ में पहुंच गई है। 

    ...
  •  


Posted Date : 22-May-2018
  • जामनगर, 22 मई । भारतीय क्रिकेट टीम के खिलाड़ी रवींद्र जडेजा की पत्नी रीवा सोलंकी से बदसलूकी का मामला सामने आया है। जामनगर में रीवा की कार एक पुलिसकर्मी की बाइक से टकरा गई जिसके बाद दोनों पक्षों के बीच विवाद हुआ। आरोप है कि पुलिसकर्मी ने जडेजा की पत्नी को थप्पड़ जड़ दिया।
    रीवा जडेजा अपनी कार में सवार थी और सरु सेक्शन रोड पर शाम के वक्त उनकी गाड़ी एक पुलिसकर्मी की बाइक से जा टकराई। इसके बाद दोनों के बीच झगड़ा शुरू हो गया। बात इतनी बढ़ गई कि पुलिसकर्मी ने रीवा को थप्पड़ मार दिया। थप्पड़ मारने वाले पुलिस कर्मचारी का नाम संजय अहिर बताया जा रहा है। गाड़ी खुद रीवा चला रही थीं और उनके साथ एक बच्चा भी बैठा हुआ था।
    सड़क पर हुए इस बवाल के बाद रीवा सीधे जामनगर जिला पुलिस मुख्यालय पहुंची। रीवा की शिकायत सुनने के बाद तुरंत ही पुलिस हरकत में आ गई। पुलिस ने कहा, महिला के साथ बदसलूकी के मामले में पुलिस कर्मचारी के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जायेगी। साथ ही उन्होंने कर्मचारी के खिलाफ विभागीय जांच के आदेश भी दिए हैं।
    क्रिकेटर रवींद्र जडेजा ने 17 अप्रैल 2016 को रीवा से शादी की थी। जडेजा इन दिनों आईपीएल में व्यस्त हैं और उनकी टीम चेन्नई सुपर किंग्स प्लेऑफ में पहुंच चुकी है। सीएसके मंगलवार को हैदराबाद सनराइजर्स के खिलाफ मैच खेलने उतरेगी। (आज तक)

    ...
  •  


Posted Date : 21-May-2018
  • नई दिल्ली, 21 मई । बायोपिक फिल्मों का चलन बॉलीवुड में हमेशा से हिट रहा है। बात महेंद्र सिंह धोनी की बायोपिक की हो या मिल्खा सिंह की। दर्शकों ने इन फिल्मों को हाथों-हाथ लिया और टिकिट खिड़की पर इन्हें कामयाबी मिली। एक्ट्रेस श्रद्धा कपूर इन दिनों बैडमिंटन स्टार साइना नेहवाल की बायोपिक पर काम कर रही हैं। उधर टेनिस स्टार सानिया मिर्जा की बायोपिक के चर्चे भी गर्म हैं। इस बारे में सानिया मिर्जा का कहना है कि उनके जीवन पर बायोपिक बनने को लेकर अभी कुछ भी तय नहीं हुआ है। खबरें गर्म है कि उनके जीवन पर फिल्म बनाई जा रही है और ये भी कयास लगाए जा रहे हैं कि रोहित शेट्टी इस फिल्म का निर्देशन करेंगे। 
    इस बारे में पूछने पर सानिया ने बताया, नहीं, अभी तक नहीं...निश्चित रूप से इस बारे में काफी बातें हो रही हैं, लेकिन अभी तक कुछ भी आधिकारिक रूप से तय नहीं हुआ है।
    पाकिस्तानी क्रिकेट खिलाड़ी शोएब मलिक की पत्नी सानिया इस समय गर्भवती हैं। दोनों ने अपने बच्चे को मिर्जा-मलिक सरनेम देने का फैसला किया है। इस बारे में उन्होंने कहा कि एक महिला होने के नाते और वह जिस मुकाम पर हैं, उसे ध्यान में रखकर उन्होंने यह फैसला लिया है। वह ऐसे परिवार से आती हैं, जहां दो लड़कियां हैं और उनके माता-पिता ने कभी भी भेदभाव नहीं किया। उनके पति भी सानिया की इस सोच से राजी हैं।  सानिया ने कहा कि चाहे बेटा हो या बेटी हो, उन्हें उसके नाम के साथ ये दोनों सरनेम मिर्जा-मलिक जोड़कर गर्व महसूस होगा। (आईएएनएस)

    ...
  •  


Posted Date : 20-May-2018
  • नई दिल्ली, 20 मई। आईपीएल का 53वां मुकाबला राजस्थान रॉयल्स और रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के बीच खेला जा रहा है। इस मुकाबले में अजिंक्य रहाणे ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी का फैसला किया। इस मैच में राजस्थान की टीम ने सभी को चौंकाते हुए जोफ्रा आर्चर को ओपनिंग करने के लिए भेजा। कोहली एंड कंपनी के खिलाफ ओपनिंग करने आए आर्चर ने एक ऐसा शर्मनाक रिकॉर्ड बना दिया जो कोई भी खिलाड़ी नहीं बनाना चाहेगा।
    इस मुकाबले में ओपनिंग करने आए आर्चर को उमेश यादव ने खाता तक खोलने का मौका नहीं दिया। आर्चर विकेटकीपर पार्थिव पटेल को कैच दे बैठे। शून्य पर आउट होते ही आर्चर के नाम एक शर्मनाक रिकॉर्ड दर्ज हो गया। जोफ्रा आर्चर को राजस्थान रॉयल्स की टीम ने 7.50 करोड़ रुपये में खरीदा था और ये उनका पहला आईपीएल सीजन भी है। आर्चर आइपीएल में तीन बार शून्य पर आउट होने वाले राजस्थान के पहले बल्लेबाज़ बन गए। बैंगलोर से पहले वो पंजाब के खिलाफ खेले गए दोनों मैचों में भी खाता तक खोलने में नाकाम रहे थे। खास बात ये है कि पंजाब के खिलाफ दोनों मुकाबलों में आर्चर पहली ही गेंद पर आउट हो गए थे।
    जोफ्रा आर्चर इस तरह का रिकॉर्ड बनाने वाले कोई पहले खिलाड़ी नहीं हैं। इनसे पहले भी तीन खिलाड़ी अपने डेब्यू सीजन में तीन बार शून्य पर आउट हो चुके हैं। सबसे पहले ये रिकॉर्ड आर. विंसेंट गौमेज 2011 में कोच्चि टस्कर्स के लिए खेलते हुए तीन बार शून्य पर आउट हुए थे। इसके बाद रवि रामपॉल ने 2013 में बैंगलोर के लिए खेलते हुए ये काम किया था। इसके बाद 2017 में कॉलिन डी ग्रैंडहोम ने 2017 में कोलकाता नाइट राइडर्स के लिए खेलते हुए ये शर्मनाक काम किया था। अब इस लिस्ट में जोफ्रा आर्चर का नाम भी जुड़ गया है। (एजेंसी)

    ...
  •  


Posted Date : 19-May-2018
  • जयपुर, 19 मई : विराट सेना का आईपीएल चैंपियन बनने का सपना एक बार फिर अधूरा रह गया। राजस्थान के खिलाफ अहम मुकाबले में जीत के लिए मिले 163 रन का लक्ष्य का पीछा करने उतरी बेंगलोर की पूरी टीम 134 रन पर ढेर हो गई। श्रेयस गोपाल राजस्थान की जीत के हीरो रहे उन्होंने 4 ओवर में 16 रन देकर 4 विकेट हासिल किए। गोपाल ने पार्थिव पटेल, एबी डिविलियर्स, मोईन अली और मनदीप सिंह को अपना शिकार बनाया। एक समय बेंगलोर ने 8.3 ओवर में 2 विकेट खोकर 75 रन बना लिए थे। इसके बाद पूरी टीम ताश के पत्तों की तरह ढह गई और प्लेऑफ में पहुंचने का मौका एक बार फिर गंवा दिया। आरसीबी के खिलाफ जीत के बावजूद राजस्थान प्लेऑफ में अपनी जगह पक्की नहीं कर सका है मुंबई की रविवार को हार ही उसकी प्लेऑफ में जगह पक्की कर सकती है। 

    रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर के खिलाफ अपने घर में टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी राजस्थान ने राहुल त्रिपाठी के शानदार अर्धशतक की बदौलत 20 ओवर में 5 विकेट खोकर 164 रन बनाए। आरसीबी को जीत के लिए 165 रन का लक्ष्य मिला है। आरसीबी की ओर से सबसे सफल गेंदबाज उमेश यादव रहे। उमेश ने 4 ओवर में 25 रन देकर 3 विकेट हासिल किए। बटलर की गैरमौजूदगी में पारी की शुरुआत करने उतरे राहुल त्रिपाठी ने 58 गेंद में नाबाद 80 रन बनाए। 
     
    लक्ष्य का पीछा करने उतरी आरसीबी के लिए पारी की शुरुआत करने पार्थिव पटेल और विराट कोहली की जोड़ी उतरी। लेकिन पहले ही ओवर में कृष्णप्पा गौतम के सामने विराट संघर्ष करते दिखे। ऐसे में तीसरे ओवर में वो संभल नहीं पाए और गौतम की गेंद पर बोल्ड होकर पवेलियन लौट गए। इसके बाद पार्थिव और एबी डिविलियर्स ने अर्धशतकीय साझेदारी कर आरसीबी की पारी को संभाला। दोनों ने 28 गेंद में दूसरे विकेट के लिए अर्धशतकीय साझेदारी पूरी की। लेकिन पारी के 9वें ओवर में पार्थिव श्रेयस गोपाल की गेंद पर गच्चा खा गए और स्टंपिंग होकर पवेलियन लौट गए। उन्होंने 33 रन बनाए।  इसके बाद इसी ओवर में गोपाल ने अपनी ही गेंद पर मोईन अली का शानदार कैच लपक लिया। मोईन केवल 1 रन बना सके। इसके बाद अपने अगले ओवर में गोपाल ने मनदीप को भी अपनी लेग स्पिन पर स्टंपिंग करा दिया।मनदीप ने 3 रन बनाए।
    मनदीप के आउट होने के बाद बल्लेबाजी करने आए कोलिन डि ग्रैंडहोम भी ज्यादा देर तक पिच पर नहीं टिक सके। 2 रन बनाने के बाद वो ईश सोढ़ी की गेंद पर स्लिप पर रहाणे को कैच दे बैठे। अपने स्पेल के आखिरी ओवर में गोपाल ने एक बार फिर कहर ढाया। इस बार उनकी गुगली में एबी डिविवलियर्स फंस गए। डिविलियर्स के गच्चा खाते ही क्लासेन ने उनकी गिल्लियां बिखेर दीं। डिविलियर्स ने 53 रन बनाए। इसके बाद लॉग्लिंग ने 16वें ओवर में लगातार दो गेंदों में सरफराज खान और उमेश यादव को चलता किया। सरफराज 7 और उमेश ने  शून्य रन बनाए। आखिरी में संघर्ष कर रहे टिम साउदी ने 14 रन की पारी खेली और उनादकट की गेंद पर गौतम को कैच दे बैठे।  अंतिम विकेट मोहम्मद सिराज के रूप में गिरा और इसके साथ ही आरसीबी की लगातार 11वें साल खिताब की आस खत्म हो गई। 

    राजस्थान के कप्तान अजिंक्य रहाणे ने अप्रत्याशित निर्णय लेते हुए राहुल त्रिपाठी और जोफ्रा आर्चर की जोड़ी को पारी की शुरुआत करने भेजा। लेकिन उनका ये दांव असफल साबित हुआ और जोफ्रा खाता खोले बगैर विकेटकीपर पार्थिव को उमेश की गेंद पर कैच दे बैठे। राजस्थान के 100 रन के पार पहुंचते ही विराट ने 14वें ओवर में उमेश को गेंद थमाई। उमेश ने कमाल दिखाते हुए दो गेंद में दो बल्लेबाजों को वापस पवेलियन भेज दिया। पहले उन्होंने रहाणे को एलबीडबल्यू कर दिया। रहाणे ने 33 रन बनाए। दूसरे विकेट के लिए रहाणे और त्रिपाठी के बीच 99 रन की साझेदारी हुई। इसके बाद अगली ही गेंद पर उमेश ने संजू सैमसन को खाता खोले बगैर पहली ही गेंद पर मोईन अली के हाथों कैच कराकर पवेलियन वापस भेज दिया। 19वें ओवर की आखिरी गेंद पर सिराज की गेंद पर छक्का जड़ने की कोशिश में बाउंड्री पर मोईन अली के हाथों लपके गए। उन्होंने 32 रन बनाए। अंतिम ओवर में कृष्णप्पा गौतम ने तेजी से 5 गेंद में 14 रन बनाए। गौतम पारी की आखिरी गेंद पर रन आउट हो गए। अंत में राहुल त्रिपाठी 80 रन बनाकर नाबाद रहे। उमेश के तीन के अलावा मोहम्मद सिराज 1 विकेट हासिल कर सके। 
    राजस्थान ने घर पर टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी का फैसला किया।  आरसीबी ने अपनी टीम में कोई बदलाव नहीं किया है वहीं राजस्थान ने बटलर और स्टोक्स के स्वदेश लौटने के कारण हेनरिक क्लासेन, श्रेयस गोपाल और बेन लाफलिन को अंतिम ग्यारह में जगह दी है। अनुरीत सिंह को भी टीम में शामिल नहीं किया है।
    इस मैच  पहले दोनों टीमों के बीच अबतक 17 मुकाबले खेले गए हैं। जिसमें दोनों टीमों को 8-8 बार जीत हासिल हुई है और एक मैच का कोई परिणाम नहीं निकला। वहीं जयपुर के सवाई मानसिंह स्टेडियम में दोनों के बीच 5 मैच खेले गए हैं जिसमें राजस्थान 2 बार और आरसीबी 3 बार विजयी रही है।

    विराट कोहली की कप्तानी वाली बेंगलोर ने अपने पिछले मैच में मजबूत टीम सनराइजर्स हैदराबाद को मात दी थी और अपनी प्लेऑफ की उम्मीदों को जीवित रखा था। बेंगलोर, राजस्थान और किंग्स इलेवन पंजाब के भी 12-12 अंक हैं लेकिन बेहतर रन रेट के मामले में बेंगलोर इन टीमों से आगे है और पांचवें स्थान पर काबिज है। वहीं राजस्थान को अपने पिछले मैच में कोलकाता नाइट राइडर्स के खिलाफ हार का सामना करना पड़ा था। वह नेट रन रेट के मामले में पीछे है इस वजह से आरसीबी के खिलाफ उसे बड़े अंतर से जीत की दरकार होगी। इससे पहले जब दोनों टीमों की भिड़ंत हुई थी तब राजस्थान ने बेंगलोर को 19 रनों से हराया था।
    दोनों टीमें इस प्रकार हैं  
    रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर:  पार्थिव पटेल (विकेटकीपर), विराट कोहली (कैप्टन), एबी डिविलियर्स, मोईन अली,  कोलिन डि ग्रैंडहोम, मनदीप सिंह, सरफराज खान, टिम साउदी, उमेश यादव, मोहम्मद सिराज, युजवेंद्र चहल

    राजस्थान रॉयल्स:  राहुल त्रिपाठी,  अजिंक्य रहाणे (कप्तान),  संजू सैमसन, हेनरिक क्लेसन (विकेटकीपर),  कृष्णप्पा गौतम,  श्रेयस गोपाल,  स्टुअर्ट बिन्नी, जोफ्रा आर्चर, बेन लॉफलिन, ईश सोढ़ी, जयदेव उनादकट (टाइम्स नाउ)

    ...
  •  


Posted Date : 18-May-2018
  • बैंगलोर, 18 मई : रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर ने गुरूवार को सनराइजर्स हैदराबाद के खिलाफ अपने आखिरी घरेलू मैच में 14 रनों से शानदार जीत हासिल कर प्‍लेऑफ की उम्‍मीदें जिंदा रखी है. हालांकि मैच की सारी लाइम लाइट एबी डीविलियर्स के शानदार कैच की तरफ चली  गई है.
    इंडियन प्रीमियर लीग के 11वें सीजन में प्लेऑफ की दौड़ से लगभग बाहर मानी जा रही आरसीबी ने लगातार तीन मैच जीतकर एक बार फिर प्‍लेऑफ में पहुंचने की उम्मीद जगाई है.
    मैच में एबी डीविलियर्स ने इंग्लिश बल्‍लेबाज एलेक्‍स हेल्‍स का शानदार कैच पकड़ा. एलेक्‍स हेल्‍स ने मोइन अली की गेंद पर जोरदार हवाई शॉट मारा था.
    हवा में उड़ते हुए लिया गया यह कैच तुरंत ही सोशल मीडिया पर वायरल हो गया.
    दर्शक तो इस कैच की जमकर तारीफ कर रहे हैं. कप्‍तान विराट कोहली ने भी इस कैच के लिए एबी डीविलियर्स की जमकर तारीफ की है.
    आखिरी समय तक लग रहा था कि ये छक्का होगा लेकिन डीविलियर्स ने हवा में छलांग लगाकर एक हाथ से कैच पकड़ लिया और फिर अपने आप को संभालते हुए बाउंड्री रोप से दूर छलांग लगाई.
    हेल्स ने कप्तान के साथ तेजी से रन बटोरे और आठ ओवरों में टीम का स्कोर 64 रन पहुंचा दिया. इसी ओवर की आखिरी गेंद पर अली की गेंद पर डिविलियर्स ने हेल्स का शानदार कैच पकड़ बेंगलुरु को दूसरी सफलता दिलाई.
    इस कैच पर मैच के बाद कोहली ने कहा, ये तो स्पाइडर-मैन जैसा कारनामा था. आम आदमी ऐसी चीजें नहीं कर सकते. मेरा मानना है कि वो ऐसी अद्भुत चीजें कर सकता है और मैं अब भी इसका आदी हो गया हूं. उसके शॉट्स आज भी मुझे हैरान कर देते हैं और उसकी शानदार फील्डिंग की मुझे आदत हो गई है.
    कोहली ने बाद में ट्विटर के जरिए भी कैच की तारीफ की. उन्हें कैच लेते हुए डीविलियर्स की तस्वीर पोस्ट कर ट्वीट किया कि, “आज मैने स्पाइडरमैन को लाइव देखा.” इससे पहले डिविलियर्स ने 39 गेंदों में 12 चौके और एक छक्के की मदद से 69 रनों की पारी खेली थी.(aajtak)

    ...
  •  


Posted Date : 18-May-2018
  • नई दिल्ली, 18 मई। आने वाले दिनों में टेस्ट मैचों में टॉस की परंपरा को खत्म किया जा सकता है। अगली 28 और 29 मई को अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) की बैठक में टॉस की प्रासंगिकता और निष्पक्षता पर चर्चा की जाएगी। यह बैठक मुंबई में होनी है। खबर के अनुसार टॉस का विरोध करने वालों का मानना है कि टेस्ट पिचों की तैयारियों में घरेलू टीमों के दखल के मौजूदा स्तर को लेकर गंभीर चिंता है। उनका मानना है कि हरेक मैच में मेहमान टीम को टॉस पर फैसला करने का अधिकार दिया जाना चाहिए। इससे पहले 2016 में काउंटी चैंपियनशिप में टॉस नहीं किया गया गया था। साथ ही, भारत में भी घरेलू स्तरीय टूर्नामेंट में इसे हटाने का प्रस्ताव आया था। हालांकि इसे नकार दिया गया था। (नवभारत टाईम्स)

    ...
  •  


Posted Date : 18-May-2018
  • नई दिल्ली, 18 मई : IPL 2018: केएल राहुल ने फैन्स को दी अपनी ट्रॉफी.IPL 2018 MI VS KXIP: किंग्स इलेवन पंजाब पहले प्ले-ऑफ में पहुंचने के काफी करीब थी. लेकिन लगातार हार ने उनको बाकी सभी टीमों के साथ खड़ा कर दिया है. अब उन्हें भी प्ले-ऑफ में पहुंचने के लिए संघर्ष करना पड़ रहा है. मुंबई इंडियंस के खिलाफ पंजाब रोमांचक मैच में हार गया. 186 रन का पीछा करते हुए पंजाब 183 रन बना पाया. पंजाब की तरफ से केएल राहुल ने 94 रन बनाए. उसके बाद भी पंजाब जीत नहीं सका. हार के बाद वो इतना निराश हो गए कि सिर पर हाथ रखकर बैठे रहे. इस पारी के लिए उन्हें स्टाइलिश प्लेयर ऑफ द मैच अवॉर्ड भी मिला. 

    सोशल मीडिया पर खबर वायरल हो रही है कि नाराज केएल राहुल ने वो ट्रॉफी फैन्स को दे दी. सोशल मीडिया पर उनका ये वीडियो काफी वायरल हो रहा है. मैच के बाद वो ड्रेसिंग रूम की तरफ जा रहे थे. उसी वक्त फैन्स उनकी तरफ आ गए. सीढ़ियां चढ़ते वक्त उन्होंने क्राउड की तरफ अपनी ट्रॉफी फेक दी. एक तरफ फैन्स काफी खुश थे, क्योंकि केएल राहुल ने उनको गिफ्ट दिया था. लेकिन केएल राहुल ने ये चीज निराशा में की. क्योंकि शानदार परफॉर्मेंस के बाद भी उनकी टीम हार चुकी थी. 
    इस हार के बाद किंग्स इलेवन पंजाब अब 7वें स्थान पर पहुंच चुकी है. पंजाब को अब न सिर्फ आखिरी मुकाबला जीतना होगा. बल्कि लंबे अंतर से जीत प्राप्त करनी होगी. पंजाब का आखिरी मैच 20 मई को चेन्नई सुपर किंग्स से है. चेन्नई सुपर किंग्स क्वालीफाई कर चुकी है. लेकिन जीत के साथ वो पहले स्थान पर आने की कोशिश करेगी. (ndtv)

    ...
  •  


Posted Date : 17-May-2018
  • मुंबई, 17 मई : मुंबई इंडियंस के खिलाफ बुधवार को खेले गए आईपीएल 11 के रोमांचक मुकाबले में किंग्स इलेवन पंजाब को हार का सामना करना पड़ा, लेकिन मैदान पर मौजूद सभी दर्शक और तमाम क्रिकेट फैंस किंग्स के ओपनर लोकेश राहुल और मुंबई के ऑलराउंडर हार्दिक पंड्या की खेल भावना देख हैरान रह गए.

    दरअसल, मैच खत्म होने के बाद हार्दिक पंड्या और लोकेश राहुल ने एक-दूसरे से अपनी टीम जर्सी बदल ली. राहुल ने मुंबई इंडियंस की जर्सी पहनी और पंड्या ने किंग्स इलेवन पंजाब की. इस दौरान पंड्या ने राहुल को अपनी जर्सी पहनने में भी मदद की. हार्दिक पंड्या के साथ अपनी जर्सी बदलने के बाद लोकेश राहुल ने बताया कि 'हमने यह फुटबॉल में काफी देखा है. हार्दिक और मैं बहुत अच्छे दोस्त हैं और मुझे जर्सी इकट्ठा करना पसंद है.'
    राहुल ने कहा, 'जर्सी बदलने की परंपरा को क्रिकेट में भी लाना अच्छा होगा. जर्सी बदलने के लिए मैंने और हार्दिक ने पहले बात नहीं की थी. जैसा कि हम अब बात कर रहे थे, हार्दिक ने कहा कि 'मुझे अपनी जर्सी दे दो' और इसलिए हमने जर्सी को आपस में बदल लिया.'
    राहुल ने कहा, 'यह आईपीएल की सुंदरता है. हम वास्तव में कड़ी मेहनत करते हैं, हम आक्रामक क्रिकेट खेलते हैं और हम सभी इस खिताब को जीतना चाहते हैं. भले ही हम 300 दिन देश के लिए साथ क्रिकेट खेलते हैं, लेकिन इन दो महीनों में जब हम आईपीएल खेलते हैं, तो हम मैदान पर कोई दोस्ती नहीं करते हैं.'
    मुंबई ने जिंदा रखी उम्मीदें
    बुधवार को 'करो या मरो' के मुकाबले में मुंबई इंडियंस ने अपने घर में किंग्स इलेवन पंजाब को 3 रनों से मात दी. 187 रनों के लक्ष्य का पीछा करते हुए पंजाब की टीम निर्धारित 20 ओवरों में 183/5 रन ही बना पाई. केएल राहुल की संयमपूर्ण पारी बेकार गई. पंजाब की पारी में 4 ओवर में 15 रन देकर 3 विकेट चटकाने वाले जसप्रीत बुमराह मैन ऑफ द मैच रहे.
    इस जीत के साथ मुंबई इंडियंस टीम की प्लेऑफ उम्मीदें जिंदा हैं. अंक तालिका में वह चौथे स्थान पर आ गई है. जबकि पंजाब की टीम के लिए आगे की राह और कठिन हो गई है, क्योंकि उसका नेट रनरेट -0.490 बेहद खराब है और वह छठे स्थान पर है. (aajtak)

    ...
  •  


Posted Date : 17-May-2018
  • नई दिल्ली, 17 मई। अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) ने क्रिकेट की प्रगति में भारत को सबसे बड़ी बाधा बताया है। रणनीतिक मामलों पर काम करने वाले संस्था के समूह का कहना है कि भारत पर हद से ज्यादा निर्भरता खेल को पूरी तरह से अंतरराष्ट्रीय बनाने में उसकी सबसे बड़ी कमजोरी साबित हो रही है। अपनी एक रिपोर्ट में उसने कहा है कि खेल के प्रशंसकों और इससे होने वाली कमाई का ज्यादातर हिस्सा भारत से आता है और इसलिए भारत क्रिकेट प्रशासन का चेहरा हो गया है। उसके मुताबिक संस्था की एक स्वतंत्र पहचान बनाने के लिए अब एक विशेष अभियान शुरू किया गया है। इस मुद्दे पर आईसीसी गुरुवार को बीसीसीआई के पदाधिकारियों और सुप्रीम कोर्ट द्वारा नियुक्त विशेष समिति से भी मुलाकात करने वाली है। (टाईम्स आफ इंडिया)

    ...
  •  


Posted Date : 17-May-2018
  • नई दिल्ली, 17 मई। कुश्ती में देश के लिए कई पदक जीतने वालीं हरियाणा की मशहूर फोगाट बहनों को तगड़ा झटका लगा है। वे अब एशियाई खेलों में हिस्सा नहीं ले पाएंगी। इन खेलों की कुश्ती प्रतियोगिताओं के लिए भारतीय कुश्ती संघ (डब्ल्यूएफआई) इसी महीने के अंत में लखनऊ में एक राष्ट्रीय शिविर लगाने जा रहा है। इस शिविर में शामिल खिलाडिय़ों में गीता, बबीता, ऋतु और संगीता फोगाट को नहीं शामिल किया गया है। एशियाई खेलों में जाने वाले खिलाडिय़ों का चयन इसी शिविर से होना है।
    बताया जाता है कि डब्ल्यूएफआई ने यह फैसला फोगाट बहनों के खिलाफ मिली अनुशासनहीनता और नखरों की शिकायतों के मद्देनजर किया है। इन शिकायतों के लिए इन्हें कारण बताओ नोटिस भी जारी किया है। फोगाट बहनों के खिलाफ डब्ल्यूएफआई को पहले भी शिकायतें मिली थी। लेकिन गीता और बबीता के प्रति नर्म रुख रखते हुए कोई कार्रवाई नहीं की गई थी। तब डब्ल्यूएफआई के इस बर्ताव की आलोचना भी हुई थी। हालांकि इस बार फोगाट बहनों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई हुई है।
    आगामी एशियाई खेलों की मेजबानी इंडोनेशिया करेगा, 18 अगस्त से दो सितंबर के दौरान होने वाले इन खेलों को जकार्ता के साथ पालेमबांग शहर में भी आयोजित किया जाएगा। खबरों के मुताबिक इन खेलों में 45 देशों से करीब 11 हजार खिलाड़ी हिस्सा लेंगे। (टाईम्स आफ इंडिया)

    ...
  •  


Posted Date : 16-May-2018
  • कोलकाता: कोलकाता नाइट राइडर्स ने मंगलवार को अपने घर ईडन गार्डन्स स्टेडियम में खेले गए मैच में राजस्थान रॉयल्स को एकतरफा मुकाबले में छह विकेट से हरा दिया. कोलकाता के गेंदबाजों ने राजस्थान को अच्छी शुरुआत के बाद भी 19 ओवरों में 142 रनों पर ढेर कर दिया और फिर क्रिस लिन (45), कप्तान दिनेश कार्तिक (नाबाद 41) और सुनील नरेन के सात गेंदों में बनाए गए 21 रनों की बदौलत 18 ओवरों में चार विकेट खोकर हासिल कर लिया.
    चार विकेट लेकर कुलदीप ने तोड़ी राजस्थान की कमर
    टॉस जीतकर कोलकाता के कप्तान कार्तिक ने गेंदबाजी का फैसला किया. राजस्थान को जोस बटलर (39) और राहुल त्रिपाठी (27) ने अच्छी शुरुआत दी थी, लेकिन उसके बल्लेबाज इसका फायदा नहीं उठा सके और टीम बड़े स्कोर से वंचित रह गई. राजस्थान का पहला विकेट 63 के कुल स्कोर पर गिरा था. यहां से उसने अपने बाकी के नौ विकेट महज 79 रनों के भीतर खो दिए. इसमें कोलकाता के कुलदीप यादव का अहम योगदान रहा जिन्होंने चार विकेट लेकर राजस्थान के मध्यक्रम की कमर तोड़ दी.
    कोलकाता की प्लेऑफ की उम्मीदें बरकरार
    इस जीत के बाद कोलाकाता के 13 मैचों में सात जीत और छह हार के साथ 14 अंक हो गए हैं और वह चौथे स्थान पर आ गई है. इस जीत ने कोलकाता की प्लेऑफ की उम्मीदों को बरकरार रखा है लेकिन राजस्थान की उम्मीदों को झटका लगा है. राजस्थान को अब एक मैच खेलना है और उस मैच में जीत ही उसे प्लेऑफ की दौड़ में बनाए रख सकती है. इसके अलावा उसे बाकी टीमों के प्रदर्शन पर भी निर्भर रहना होगा.
    कोलकाता को नरेन ने फिर दी आक्रामक शुरुआत 
    आसान से लक्ष्य का पीछा करने उतरी कोलकाता को नरेन ने आक्रामक शुरुआत दी और कृष्णाप्पा गौतम द्वारा फेंके गए पहले ओवर में दो चौके और दो छक्कों की मदद से 21 रन जोड़े, लेकिन अगले ओवर में बेन स्टोक्स ने उनकी पारी का अंत कर दिया.  लिन हालांकि विकेट पर टिक कर स्कोर बोर्ड चला रहे थे. स्टोक्स ने अपने अगले ओवर में रोबिन उथप्पा (4) को 36 के कुल स्कोर पर पवेलियन भेज मेजबान टीम को दूसरा झटका दिया. नीतीश राणा ने 17 गेंदों में 21 रनों की पारी खेली और 69 के कुल स्कोर पर तीसरे विकेट के रूप में ईश सोढ़ी का शिकार बने.
    लिन की पारी का अंत स्टोक्स ने 117 रनों के कुल स्कोर पर किया. लिन ने 42 गेंदों में पांच चौके और एक छक्का लगाया. यहां से कप्तान ने आंद्रे रसेल (नाबाद 11) के साथ मिलकर टीम को दो ओवर पहले ही जीत दिला दी. इससे पहले, लगातार गिरते विकेटों को देखकर राजस्थान का 130 के पार पहुंचना भी संभव नहीं लग रहा था, लेकिन जयदेव उनादकट ने अंत में 18 गेंदों में तीन चौके और एक छक्के की मदद से 26 रनों की पारी खेल टीम को इस स्कोर तक पहुंचाया.
    सस्ते में आउट हुए कप्तान अजिंक्य रहाणे
    राहुल और बटलर ने राजस्थान को वही शुरुआत दी जिसकी उसे जरूरत थी. दोनों ने पहले विकेट के लिए सिर्फ 4.5 ओवरों में ही तेजी से 63 रन जोड़ डाले. रसेल ने राहुल को एक बाउंसर फेंकी और गेंद उनके बल्ले का किनारा लेकर विकेटकीपर कार्तिक के हाथों में जा समाई. कप्तान अजिंक्य रहाणे (11) कुलदीप की गेंद पर रिवर्स स्वीप खेलने के प्रयास में 76 के कुल स्कोर पर बोल्ड हो गए. यहां से विकेट लगातार अंतराल पर गिरने लगे. कुलदीप ने ही बटलर की पारी का अंत किया और उन्हें 85 के कुल स्कोर पर सियरलेस के हाथों कैच कराया.
    कृष्णा और रसेल ने दो-दो विकेट लिए
    संजू सैमसन का बल्ला भी नरेन के आगे चल नहीं सका और वह 95 के कुल स्कोर पर पगबाधा करार दे दिए गए. दो रन बाद स्टुअर्ट बिन्नी को कुलदीप ने कार्तिक के हाथों स्टम्प करा राजस्थान को पांचवां झटका दिया. गौतम (3), स्टोक्स (11) और सोढ़ी (1) भी टीम की डूबती नैया को संभाल नहीं सके. राजस्थान ने 128 रनों के कुल स्कोर तक अपने आठ विकेट खो दिए थे.  यहां से जयदेव ने संघर्ष किया और कुछ अच्छे शॉट्स लगाए. वह आखिरी विकेट के रूप में आउट हुए.  कुलदीप के अलावा प्रसिद्ध कृष्णा और रसेल ने दो-दो विकेट लिए. शिवम मावी और नरेन को एक-एक सफलता मिली. (एबीपी न्यूज़ )

    ...
  •  


Posted Date : 15-May-2018
  • दुबई, 15 मई  : भारत के शशांक मनोहर को फिर से अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद ( आईसीसी ) का स्वतंत्र चेयरमैन चुना गया है. उन्हें दूसरे कार्यकाल के लिये निर्विरोध निर्वाचित किया गया. भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) के पूर्व अध्यक्ष रहे मनोहर को वर्ष 2016 में पहली बार आईसीसी का स्वतंत्र चेयरमैन चुना गया था.अब निर्विरोध निर्वाचित होने के बाद वह अगले दो साल तक इस पद पर बने रहेंगे. चुनाव प्रक्रिया के अनुसार आईसीसी निदेशकों में से प्रत्येक को एक उम्मीदवार को नामित करने की अनुमति होती है. उम्मीदवार वर्तमान या पूर्व आईसीसी निदेशक होना चाहिए. जिस नामित को दो या इससे अधिक निदेशकों का समर्थन मिलता है वह चुनाव लड़ने के योग्य माना जाता है.
    मनोहर नामित किये जाने वाले अकेले उम्मीदवार थे. ऐसे में चुनाव प्रक्रिया देख रहे ऑडिट कमेटी के चेयरमैन एडवर्ड क्विनलैन ने प्रक्रिया पूर्ण होने और मनोहर के निर्वाचन की घोषणा की. मनोहर का दूसरे कार्यकाल के लिये चुना जाना पिछले महीने कोलकाता में आईसीसी की तिमाही बैठक में ही तय हो गया था क्योंकि उनकी उम्मीदवारी का किसी ने विरोध नहीं किया था. पिछले दो वर्षों में मनोहर ने खेल में कई महत्वपूर्ण सुधार किए. उन्होंने 2014 के प्रस्ताव को पलट दिया था. संशोधित शासन ढांचा लागू किया जिसमें आईसीसी की पहली स्वतंत्र महिला निदेशक की नियुक्ति भी शामिल है.
    निर्वाचित होने के बाद मनोहर ने कहा, ‘अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद का फिर से चेयरमैन चुना जाना बड़ा सम्मान है. मैं अपने सहयोगी आईसीसी निदेशकों का उनके समर्थन के लिए आभार व्यक्त करता हूं. पिछले दो वर्षों में हमने मिलकर आगे कदम बढ़ाये हैं और मैंने 2016 में नियुक्ति के समय जो वादे किये थे,उन्हें पूरा किया है. ’मनोहर ने कहा कि आईसीसी की योजना खेल के लिये वैश्विक रणनीति तैयार करने की है.उन्होंने कहा, ‘अगले दो वर्षों में हम अपने सदस्यों की भागीदारी से खेल के लिये वैश्विक रणनीति जारी करने पर ध्यान दे सकते हैं जिससे हम खेल को आगे बढ़ा सके और यह सुनिश्चित कर सकें कि दुनिया के अधिक से अधिक लोग क्रिकेट का लुत्फ उठाएं. खेल बहुत अच्छी स्थिति में है लेकिन हम इसके अभिभावक हैं और हमें इसे बरकरार रखने के लिये कड़ी मेहनत जारी रखनी होगी.’ (इनपुट: एजेंसी)

    ...
  •  


Posted Date : 13-May-2018
  • पुणे, 13 मई : चेन्नई सुपर किंग्स ने सनराइजर्स हैदराबाद को आईपीएल सीजन-11 के 46वें मुकाबले में 8 विकेट से शिकस्त दे दी है. पुणे के एमसीए स्टेडियम में खेले गए इस मुकाबले में टॉस हारकर पहले बल्लेबाजी करते हुए सनराइजर्स हैदराबाद की टीम ने 20 ओवर में 4 विकेट गंवा कर 179 रन बनाए और चेन्नई सुपर किंग्स को जीत के लिए 180 रनों का टारगेट दिया. जवाब में चेन्नई सुपर किंग्स ने अंबति रायडू की धमाकेदार शतकीय पारी (62 गेंदों में 100 रन) की बदौलत 19 ओवर में ही 180 रन बनाते हुए लक्ष्य हासिल कर लिया और चेन्नई को हैदराबाद पर जीत दिला दी.
    रायडू का यह आईपीएल का पहला शतक है. इसके अलावा, चेन्नई की जीत में शेन वॉटसन (57) की अर्धशतकीय पारी ने भी अहम भूमिका निभाई. कप्तान महेंद्र सिंह धोनी 20 रनों पर नाबाद रहे. वॉटसन और अंबति ने चेन्नई के लिए शिखर धवन और कप्तान केन विलियमसन (51) की शतकीय साझेदारी की मेहनत पर पानी फेरते हुए हैदराबाद के दिए 180 रनों के लक्ष्य को हासिल कर लिया.
    चेन्नई सुपरकिंग्स ने हैदराबाद के खिलाफ जीत से प्लेऑफ में अपनी जगह लगभग सुनिश्चित की. पहले ही प्लेऑफ में जगह पक्की कर चुकी सनराइजर्स हैदराबाद 12 मैचों में 18 अंक से शीर्ष पर बरकरार है जबकि चेन्नई सुपरकिंग्स इतने ही मैचों में सात जीत से 16 अंक लेकर दूसरे स्थान पर बनी हुई है. वॉटसन और रायडू ने बड़ी खूबसूरती से सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजी आक्रमण के खिलाफ रन जोड़ना जारी रखा. पावरप्ले के छह ओवर में टीम ने बिना विकेट गंवाए 53 रन बना लिए थे.
    अगले ही ओवर में रायडू ने सिद्धार्थ कौल की दो गेंदों को सीमारेखा के पार कराया और एक को हैदराबाद सनराइजर्स के डगआउट की ओर छक्के के लिए भेजा जिससे इसमें सर्वाधिक 16 रन खाते में जुड़े. दोनों में वॉटसन ने पहले अर्धशतक पूरा किया, उन्होंने संदीप शर्मा की धीमी गेंद पर स्क्वॉयर कट चौका जमाकर 31 गेंद में चार चौके और तीन छक्के से 50 रन बनाए. जल्द ही रायडू भी अपने अर्धशतक पर पहुंच गए. उन्होंने कौल की गेंद को मिडविकेट पर छक्के के लिए भेजकर अपने 50 और टीम के 100 रन पूरे कराए.
    सनराइजर्स को तब राहत मिली जब वॉटसन को विलियमसन और विकेटकीपर श्रीवत्स गोस्वामी ने मिलकर रन आउट किया, जिससे पहले विकेट के लिए 137 रन की शानदार भागीदारी समाप्त हुई. सुरेश रैना आते ही संदीप शर्मा की गेंद पर खराब शॉट खेलकर पवेलियन लौटे. उनका कैच मिड ऑफ पर खड़े विलियमसन ने लपका. कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने अंत में 14 गेंद में एक चौके और एक छक्के से नाबाद 20 रन की पारी खेलकर टीम को जीत दिलाई.
    हैदराबाद ने चेन्नई को दिया 180 रनों का टारगेट
    टॉस हारकर पहले बल्लेबाजी करते हुए सनराइजर्स हैदराबाद की टीम ने 20 ओवर में 4 विकेट गंवा कर 179 रन बनाए और चेन्नई सुपर किंग्स को जीत के लिए 180 रनों का टारगेट दिया. हैदराबाद के लिए शिखर धवन ने 49 गेंदों में 79 रनों की पारी खेली जबकि कप्तान केन विलियमसन ने भी 39 गेंदों में 51 रन ठोक दिए.
    धवन (49 गेंद में 10 चौके और तीन छक्के) और एलेक्स हेल्स को हालांकि शुरू के दो ओवर में शॉट लगाने में थोड़ी परेशानी हुई. धवन ने तीसरे ओवर में डेविड विली की लगातार दो गेंदों को सीमारेखा के बाहर भेजकर हाथ खोले.
    हैदराबाद को हालांकि अगले ही ओवर में हेल्स के आउट होने से झटका लगा जो महज दो रन ही जोड़ सके. आईपीएल में शानदार प्रदर्शन जारी रखते हुए चाहर ने हेल्स को बैकवर्ड प्वाइंट पर सुरेश रैना के हाथों कैच आउट कराया.
    कप्तान विलियमसन अब क्रीज पर थे, उन्होंने और धवन ने संयमित होकर बीच-बीच में शॉट लगाकर धीरे-धीरे रन जोड़ने की रणनीति अख्तियार की. सनराइजर्स हैदराबाद ने पावरप्ले के छह ओवर में एक विकेट पर महज 29 रन ही जोड़े थे.
    विलियमसन ने अगले ओवर में अपनी पारी का सातवां रन जोड़कर इस आईपीएल सीजन में 500 रन पूरे किए, उनके अब कुल 544 रन हो गए हैं, जिससे वह सबसे ज्यादा रन जुटाने वाले खिलाड़ियों में ऋषभ पंत (582) के बाद दूसरे नंबर पर है.
    हैदराबाद की धीमी रन गति का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता था कि 10 ओवर में उसका स्कोर एक विकेट पर 62 रन था, जिसमें ब्रेक के बाद इसी 10वें ओवर में 11 रन जुड़े थे.
    धवन ने भी थोड़ी तेजी रन जुटाने की कोशिश में रवींद्र जडेजा के ओवर में एक चौके और एक छक्के से 13 रन जोड़े. फिर विलियमसन ने शेन वॉटसन की पहली गेंद को स्लाइस करते हुए चौका जबकि अगली ही गेंद को डीप स्क्वॉयर लेग पर छक्के के लिए भेजा.
    फिर दोनों ने मिलकर रन गति की रफ्तार बढ़ाई और इसी दौरान धवन ने 38 गेंद में सात चौके और दो छक्के से पचासा पूरा किया. दोनों ने दूसरे विकेट के लिए शतकीय साझेदारी पूरी की.
    लेकिन ड्वेन ब्रावो ने धवन और विलियमसन के बीच दूसरे विकेट की 123 रन की शानदार शतकीय भागीदारी का अंत किया. धवन ने उनकी अंतिम गेंद को शॉर्ट फाइन लेग की ओर उठा दिया और यह सीधे वहां खड़े हरभजन सिंह के हाथों में समां गई.
    धवन के पवेलियन पहुंचने के बाद विलियमसन की पारी भी लड़खड़ा गई और वह भी 141 के ही स्कोर पर शार्दुल ठाकुर की गेंद पर बाउंड्री के पास ब्रावो के हाथों लपके गए. उन्होंने 39 गेंदों में पाचों चौकों और दो छक्कों के साथ इस सीजन का सातवां अर्धशतक लगाया.
    विलियमसन और धवन के जाने के बाद मनीष पांडे (5) और दीपक हुड्डा (नाबाद 21) टीम की पारी को आगे बढ़ाने उतरे. दोनों ने 19 रन ही जोड़े थे कि शार्दुल ने मनीष को डेविड विली के हाथों कैच आउट कर हैदराबाद का चौथा विकेट गिराया.
    दीपक ने इसके बाद, शाकिब के साथ मिलकर ओवर समाप्त होने तक बिना कोई विकेट गंवाए 19 रन जोड़े और टीम को 179 के स्कोर तक पहुंचाया. दोनों नाबाद रहे. इस पारी में चेन्नई के लिए शार्दुल ने दो विकेट लिए, वहीं दीपक और ब्रावो को एक-एक सफलता मिली.
    चेन्नई ने टॉस जीतकर हैदराबाद को दी पहले बल्लेबाजी
    चेन्नई सुपर किंग्स के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने टॉस जीतकर गेंदबाजी करने का फैसला किया है और सनराइजर्स हैदराबाद की टीम को पहले बल्लेबाजी करने का न्योता दिया है. चेन्नई सुपर किंग्स ने अपनी प्लेइंग इलेवन में एक बदलाव किया है. चोट के कारण लंबे समय तक मैदान से दूर रहे युवा तेज गेंदबाज दीपक चाहर की इस मैच में वापसी हुई है. कर्ण शर्मा की जगह दीपक चाहर को शामिल किया गया है. वहीं दूसरी तरफ सनराइजर्स हैदराबाद की प्लेइंग इलेवन में यूसुफ पठान की जगह दीपक हुड्डा को शामिल किया गया है.
    प्लेइंग इलेवन:
    चेन्नई सुपर किंग्स: महेंद्र सिंह धोनी (कप्तान/विकेटकीपर), रवींद्र जडेजा, सुरेश रैना, ड्वेन ब्रावो, शेन वॉटसन, अंबति रायडू, हरभजन सिंह, सैम बिलिंग्स, दीपक चाहर, शार्दुल ठाकुर, डेविड विली.
    सनराइजर्स हैदराबाद: केन विलियमसन (कप्तान), भुवनेश्वर कुमार, शिखर धवन, शाकिब अल-हसन, मनीष पांडे, राशिद खान, दीपक हुड्डा, सिद्धार्थ कौल, संदीप शर्मा, श्रीवत्स गोस्वामी (विकेटकीपर), एलेक्स हेल्स. (aajtak)

    ...
  •  


Posted Date : 12-May-2018
  • केकेआर-20 में 6 पर 245 रन, सुनील नारायण 75, कार्तिक 50
    आंद्रे रसेल 31, क्रिस लिन 27, रॉबिन उथप्पा 24
    किंग्स इलेवन पंजाब-20 में 8 पर 214, राहुल 66, अश्विन 45

    नई दिल्ली, 12 मई: इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल)-11 में बल्लेबाजों की एकजुटता के बूते कोलकाता नाइट राइडर्स ने शनिवार के पहले मुकाबले में किंग्स इलेवन पंजाब को 31 रन से हरा दिया. पंजाब से पहले बैटिंग का न्योता पाकर केकेआर ने कोटे के 20 ओवरों में 6 विकेट पर 245 का बहुत ही मजबूत स्कोर खड़ा किया. केकेआर के लिए सुनील नारायण (75), दिनेश कार्तिक (50) और आंद्रे रसेल (31) ने बहुत ही शानदार और तेज बल्लेबाजी की. जवाब में किंग्स इलेवन पंजाब की टीम अपने हिस्से के 20 ओवरों में 8 विकेट पर 214 रन ही बना सकी. 
    पावर-प्ले में ही चूक गए
    केकेआर के इस बड़े स्कोर का जवाब देने के लिए पंजाब का पावर-प्ले (शुरुआती 6 ओवर) में ठोस जवाब देना बहुत ही अनिवार्य था. केएल राहुल की अगुवाई में पंजाब ऐसा जवाब देता भी दिखाई पड़ा. लेकिन आंद्रे रसेल के छठे और पावर-प्ले के आखिरी ओवर में पंजाब के जवाब को नजर लग गई. पांचवी गेंद पर क्रिस गेल और आखिरी गेंद पर मयंक अग्रवाल के आउट होने से पंजाब की एकदम से पावर ही निकल गई. पंजाब ने शुरुआती 6 ओवरों में 58 रन तो बनाए, लेकिन उसने दो विकेट गंवा दिए. ​
    इससे पहले किंग्स इलेवन पंजाब से न्योता पाने के बाद सुनील नारायण (75), कप्तान दिनेश कार्तिक (50) और आंद्रे रसेल (31) के विध्वंसक बल्लेबाजी की बदौलत केकेआर ने किंग्स इलेवन पंजाब के सामने जीत के  लिए 246 रन का लक्ष्य रखा. इनके अलावा रॉबिन उथप्पा ने 24 और क्रिस लिन ने भी 27 रन का योगदान दिया. इस संयुक्त प्रयास से केकेआर ने 20 ओवर के कोटे में 6 विकेट पर 245 रन बनाए. पंजाब के एंड्रयू टाई ने चार विकेट लिए, लेकिन वह केकेआर को टी-20 के लिहाज से बहुत ही विशाल स्कोर बनाने से नहीं ही रोक सके. 
    पावर-प्ले में बरपाया कहर
    केकेआर की प्लानिंग पहले ही ओवर से साफ हो गई, जब क्रिस लिन ने मोहित शर्मा पर लगातार दो चौके जड़े. चोटिल मुजीब की जगह चौथा ओवर पूरा करने आए अश्विन को एक छक्का और चौका जड़कर सुनील नारायण ने इसमें और तड़का लगा दिया. लेकिन पावर-प्ले (शुरुआती 6 ओवर, 30 गज के घेरे के बाहर सिर्फ 2 फील्डर) में बरिंदर सरन का फेंका गया उनका पहला और पांचवां ओवर सबसे ज्यादा महंगा साबित हुआ. इस ओवर में लिन ने 1 छक्का, तो नारायण ने दो चौके लगाते हुए 15 रन बटोरे. कुल मिलाकर पावर-प्ले में केकेआर का स्कोर 1 विकेट पर 59 रन रहा.
    सुनील नारायण की सुनामी
    लंबे समय बाद सुनील नारायण ने अपने प्रचंड प्रहार दिखाने के लिए बिल्कुल सही टाइमिंग और मैच चुना. पहले उन्होंने अपने करारे शॉट से रहस्यमयी ऑफ स्पिनर मुजीब-उर-रहमान को चोटिल कर दिया, तो इसके बाद उन्होंने लेफ्टार्म तेज गेंदबाज बरिंदर सरन का बाजा बजाकर रख दिया. पांचवां ओवर फेंकने आए उन्होंने बरिंदर को 2 चौके जड़े, और जब एक बार फिर से 11वें ओवर में नारायण का बरिंदर से सामना हुआ, तो इस बार उन्होंने 2 छक्कों और 1 चौके से 17 रन बटोर लिए. नारायण ने सिर्फ 36 गेंदों पर 75 रन बनाए. 
    दिनेश कार्तिक की बेहतरीन फिफ्टी!
    कार्तिक का यह चरम रूप है. अपने करियर की सर्वश्रेष्ठ फॉर्म में हैं.बेहतीरन क्लीन हिटिंग और प्रचंड मैदानी प्रहार. कोई शक या संदेह की गुंजाइश ही नहीं. और कार्तिक ने जड़ डाला सिर्फ 22 गेंदों पर पचासा, तीन छक्कों और 5 चौकों के साथ. 
    इससे पहले किंग्स इलेवन पंजाब ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी करने का फैसला लिया. पंजाब ने पिछले मैच के मुकाबले तीन बदलाव किए, तो वहीं केकेआर ने एक बदलाव किया. किंग्स इलेवन पंजाब ने आकाशदीप नाथ की जगह मयंक अग्रवाल, मनोज तिवारी की जगह बरिंदर सरन और स्टोइनिस की जगह एरोन फिंच को इलेवन में जगह दी, तो केकेआर ने कुरन की जगह सियरलेस को फाइनल इलेवन में शामिल किया. आज के मैच के लिए दोनों टीमें इस प्रकार हैं:
    कोलकाता नाइट राइडर्स : दिनेश कार्तिक (कप्तान),  क्रिस लिन, सुनील नारायण, रॉबिन उथप्पा, शुबमन गिल, नितीश राणा, आंद्रे रसैल, जैवन सियरलेस, पीयूष चावला, कुलदीप यादव और प्रसिद्ध कृष्णा
    किंग्स इलेवन पंजाब : रविचंद्रन अश्विन (कप्तान), क्रिस गेल, केएल राहुल, मयंक अग्रवाल, एरोन फिंच, करुण नय्यर, अक्षर पटेल, एंड्रयू टाई, मोहित शर्मा, बरिंदर सरन और मुजीब-उर-रहमान (ndtv)

    ...
  •  


Posted Date : 12-May-2018
  • नई दिल्ली, 12 मई : राजस्थान रॉयल्स ने रोमांचक मुकाबले में चेन्नई सुपर किंग्स को चार विकेट से हराकर आईपीएल-11 के प्लेऑफ में पहुंचने की अपनी उम्मीदें जिंदा रखी हैं. राजस्थान की टीम को और तीन मैच खेलने हैं, ऐसे में वह अपने जोरदार प्रदर्शन से मुंबई इंडियंस और कोलकाता नाइट राइडर्स के लिए मुश्किलें खड़ी कर सकती है.

    राजस्थान को चेन्नई के खिलाफ शुक्रवार को आखिरी दो ओवरों में जीत के लिए 28 रनों की दरकार थी. ऐसे में मुंबई इंडियंस के खिलाफ जीत के नायक रहे कृष्णप्पा गौतम (4 गेंदों में 13 रन) ने डेविड विली के ओवर में दो छक्के लगाकर रॉयल्स के खेमे में जान भरी.
    गौतम हालांकि 19वें ओवर की आखिरी गेंद पर आउट हो गए, लेकिन दूसरे छोर पर मौजूद जोस बटलर के लिए काम आसान कर गए. ड्वेन ब्रावो आखिरी ओवर करने आए, जिसमें 12 रन चाहिए थे. बटलर (नाबाद 95) ने शुरू से स्ट्राइक अपने पास रखी और एक छक्के की मदद से आवश्यक रन बनाकर अपनी टीम को जरूरी जीत दिलाई.
    गौतम की छोटी, लेकिन जोरदार पारियां
    - मौजूदा आईपीएल में 29 साल के ऑलराउंडर कृष्णप्पा गौतम राजस्थान रॉयल्स के लिए फायदेमंद साबित हो रहे हैं. गौतम को राजस्थान रॉयल्स ने 6.20 रुपये में खरीदा है. 22 अप्रैल को मुंबई इंडियंस के खिलाफ उन्होंने ऐसे समय 11 गेंदों में नाबाद 33 रन बनाकर जीत दिलाई, जब 14 गेंदों में 38 रनों की दरकार थी. गौतम ने इस पारी के दौरान 4 चौके और 2 छक्के लगाए.
    -दिल्ली डेयरडेविल्स के खिलाफ 2 मई को खेले गए मैच में गौतम ने 6 गेंदों में नाबाद 18 रनों की पारी खेली, जिसमें उन्होंने 2 चौके  लगाए और एक छक्का भी जड़ा. उस मैच में राजस्थान को जीत के लिए 8 गेंदों में 25 रनों की जरूरत थी. आखिरकार वह आखिरी गेंद पर पह छक्का नहीं लगा पाए थे, जिससे उनकी टीम 4 रनों से हार गई.
    -चेन्नई सुपर किंग्स के खिलाफ 11 मई को गौतम ने 4 गेंदों में 13 रनों की पारी खेली. उन्होंने वैसे समय में रन बनाए, जब 'करो या मरो' के मुकाबले में टीम को 12  गेंदों में 28 रनों की जरूरत थी और उन्होंने पहली तीन गेंदों में 2 छक्के जड़ दिए और जिससे टीम की जीत आसान हो गई. (aajtak)

    ...
  •  


Posted Date : 11-May-2018
  • नई दिल्ली, 11 मई :  गुरुवार रात सनराइजर्स हैदराबाद ने ऋषभ पंत के शतक को बेनूर करते हुए 9 विकेट से जीत दर्ज कर आईपीएल के प्लेऑफ में जगह बना ली और दिल्ली डेयरडेविल्स के लिए दरवाजे बंद कर दिए.

    आईपीएल में अपना पहला शतक जड़ने वाले ऋषभ पंत के नाबाद 128 रनों की मदद से दिल्ली डेयरडेविल्स ने 188 रनों का लक्ष्य रखा. जवाब में पहला विकेट जल्दी गंवाने के बावजूद शिखर धवन और केन विलियमसन ने 102 गेंद में 176 रन की नाबाद साझेदारी कर टीम को 7 गेंदें बाकी रहते जीत दिलाई.
    मौजूदा आईपीएल के 42वें मैच में एक बड़ा रिकॉर्ड सामने आया. इस मैच में तीन बल्लेबाजों ने 80 से ज्यादा रन बनाए. इसके साथ ही आईपीएल में यह पहला मौका है, जब तीन बल्लेबाजों ने 80 या इससे ज्यादा रनों की पारियां खेलीं. मजे की बात है कि ये तीनों बल्लेबाज नॉट आउट रहे.
    -ऋषभ पंत (दिल्ली डेयरडेविल्स): नाबाद 128 रन, 63 गेंदों में
    -शिखर धवन (सनराइजर्स हैदराबाद): नाबाद 92 रन, 50 गेंदों में
    -केन विलियमसन (सनराइजर्स हैदराबाद): नाबाद 83 रन, 53 गेंदों में
    ये हैं आईपीएल की 5 बड़ी पारियां
    1. क्रिस गेल : 175* (2013)
    2. ब्रेंडन मैक्कुलम : 158* (2008)
    3. एबी डिविलियर्स: 133* (2015)
    4. एबी डिविलियर्स: 129* (2016)
    5. क्रिस गेल: 128* (2012)/ ऋषभ पंत 128* (2018)
    ऋषभ पंत का शतक (128*) इसलिए है खास
    - आईपीएल के इतिहास का यह 50वां शतक
    - आईपीएल में किसी भारतीय का सर्वोच्च स्कोर
    - टी-20 में भी किसी भारतीय का सर्वोच्च स्कोर
    - आईपीएल में दूसरे सबसे कम उम्र के शतक बनाने वाले बल्लेबाज
    आईपीएल में शतकों का 'माइल स्टोन'
    -पहला शतक: ब्रेंडन मैक्कुलम, केकेआर की ओर से :18 अप्रैल 2008
    25वां शतक: शेन वॉटसन, राजस्थान रॉयल्स की ओर से : 22 अप्रैल 2013
    50शतक: ऋषभ पंत, दिल्ली डेयरडेविल्स की ओर से : 10 मई 2018 (aajtak)

    ...
  •  




Previous12Next