अंतरराष्ट्रीय

Posted Date : 13-Oct-2018
  • भारत को तीन साल के लिए संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद (यूएनएचसी) में सदस्य चुन लिया गया है. एशिया-प्रशांत क्षेत्र में पांच सदस्यों के लिए हुए चुनाव में भारत को सबसे अधिक वोट मिले. संयुक्त राष्ट्र के 193 सदस्यों में से 188 देशों ने भारत का समर्थन किया है.
    संयुक्त राष्ट्र में भारत के राजदूत सैयद अकबरुद्दीन ने इस जीत के बाद ट्वीट कर समर्थन के लिए सभी का धन्यवाद दिया. उन्हाेंने बाद में ये भी कहा कि भारत वैश्विक स्तर पर मानवाधिकारों के प्रचार और संरक्षण की दिशा में अपना संतुलित दृष्टिकोण रखेगा.
    एशिया-प्रशांत क्षेत्र से संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद के सदस्य के लिए भारत समेत बांग्लादेश, बहरीन, फिजी और फिलीपींस ने अपना नामांकन भरा था.पांच सीटों के लिए पांच दावेदारों के होने से इन सभी का निर्विरोध निर्वाचन लगभग तय था. नए सदस्यों का कार्यकाल एक जनवरी, 2019 से शुरू होकर तीन साल तक रहेगा. भारत पहले भी 2011-2014 और 2014 से 2017 तक दो बार मानवाधिकार परिषद का सदस्य रह चुका है. उसका अंतिम कार्यकाल 31 दिसंबर, 2017 में समाप्त हुआ है.(सत्याग्रह)

    ...
  •  


Posted Date : 12-Oct-2018
  • इस्लामाबाद, 12 अक्टूबर। पाकिस्तान के राष्ट्रपति आरिफ अल्वी ने इस्लामाबाद हाईकोर्ट के जस्टिस शौकत अजीज सिद्दीकी को बर्खास्त कर दिया है। पाकिस्तान के सामाचार पत्र डॉन के मुताबिक गुरुवार को कानून मंत्रालय ने एक नोटिफिकेशन जारी कर इसकी सूचना दी। मंत्रालय ने एक बयान जारी कर बताया कि राष्ट्रपति ने यह निर्णय सुप्रीम कोर्ट की न्यायिक समिति की सिफारिश के बाद लिया है। एसजेसी में शामिल पाकिस्तानी सुप्रीम कोर्ट के पांच जजों ने राष्ट्रपति को लिखे अपने पत्र में कहा कि जुलाई में जस्टिस शौकत अजीज सिद्दीकी ने रावलपिंडी जिला बार एसोसिएशन में जो भाषण दिया वह गलत आचरण था।
    दरअसल, पाकिस्तान में चुनाव से दो दिन पहले जस्टिस शौकत अजीज सिद्दीकी ने एक सनसनीखेज दावा किया था। रावलपिंडी जिला बार एसोसिएशन में दिए अपने भाषण में उन्होंने कहा था कि पाकिस्तानी सेना नहीं चाहती कि नवाज शरीफ को चुनाव से पहले जमानत मिले। जस्टिस सिद्दीकी के मुताबिक पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई के कहने पर ही नवाज शरीफ की सजा के खिलाफ दायर अपील की सुनवाई करने वाली बेंच में उन्हें शामिल नहीं किया गया। जस्टिस सिद्दीकी के मुताबिक खुफिया एजेंसी को लगता था कि वे उसकी इच्छा के खिलाफ जा सकते हैं।  (सत्याग्रह)

    ...
  •  


Posted Date : 12-Oct-2018
  • संयुक्त राष्ट्र, 12 अक्टूबर। संयुक्त राष्ट्र महासभा की अध्यक्ष मारिया फर्नांडा एस्पिनोसा की प्रवक्ता ने कहा है कि पत्रकारों और मीडिया के अन्य सदस्यों के यौन उत्पीडऩ और शोषण को कतई बर्दाश्त नहीं किया जाना चाहिए। प्रवक्ता का यह बयान भारत में मी टू आंदोलन के जोर पकडऩे के संबंध में पूछे गए सवाल के जवाब में आया है। देश में मनोरंजन और पत्रकारिता क्षेत्र में काम करने वाली महिलाओं ने आगे आकर अपने साथ हुए यौन उत्पीडऩ व शोषण की बात लोगों से साझा की है। उनके आरोपों के घेरे में पत्रकारिता व मनोरंजन जगत के कई लोग आए हैं।
    इसी को लेकर मारिया की प्रवक्ता मोनिका ग्रेले ने दैनिक संवाददाता सम्मेलन में कहा, महासभा की अध्यक्ष ने यह स्पष्ट कर दिया है कि यौन उत्पीडऩ, यौन शोषण तथा यौन हिंसा को कतई बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। चूंकि हम मीडिया के लोगों के बारे में बात कर रहे हैं, तो काम करने के दौरान पत्रकारों के साथ इस तरह के उत्पीडऩ को सहन नहीं किया जाएगा। मोनिका ने कहा कि वे किसी विशेष मामले पर कोई टिप्पणी नहीं कर सकतीं, क्योंकि उन्हें इन मामलों की जानकारी नहीं है।  (पीटीआई)

    ...
  •  


Posted Date : 12-Oct-2018
  • मिस्र, 12 अक्टूबर। मिस्र की एक सैन्य अदालत ने गुरुवार को इस्लामी संगठनों से जुड़े 17 लोगों को देश के तीन गिरजाघरों में बम विस्फोट के आरोप में मृत्युदंड की सजा सुनाई। इन बम विस्फोटों में 82 लोगों की मौत हो गई थी। इस मामले में 19 लोगों को उम्रकैद और 15 अन्य को आठ-आठ साल जेल की सजा सुनाई गई है। मिस्र में उम्रकैद 25 वर्षों की होती है।
    अप्रैल 2017 में, तनात शहर के सेंट जार्ज गिरजाघर और अलेक्जेंड्रिया के सेंट मार्क के कॉप्टिक ऑर्थोडॉक्स कैथ्रेडल में दो आत्मघाती हमले हुए थे, जिसमें 45 लोगों की मौत हो गई थी। साल 2016 में काहिरा में सेंट मार्क कॉप्टिक ऑर्थोडॉक्स कैथ्रेडल में एक अन्य हमले में 37 लोगों की मौत हो गई थी। इन तीनों हमलों में कम से कम 166 लोग घायल हुए थे। अभियुक्तों को काहिरा में 14 पुलिसकर्मियों की हत्या के प्रयास के लिए भी दोषी ठहराया गया। (आईएएनएस)

    ...
  •  


Posted Date : 12-Oct-2018
  • साउथ क्रोलिना, 12 अक्टूबर। पिछले दिनों साउथ क्रोलिना के सीब्रूक आईलैंड के बीच पर मौजूद एक चीज वहां आने वाले लोगों के साथ-साथ स्थानीय प्रशासन के लिए आकर्षण का केंद्र बनी रही। दरअसल, सिलेंडर के आकार की यह विशालकाय चीज समुंद्र से ही निकली थी। स्थानीय लोगों के इसे लहरों ने ही किनारे तक पहुंचाया था। सिलेंडर के आकार में दिखने वाली चीज क्या है इसके बारे में किसी को कुछ मालूम नहीं है। इस विशालकाय चीज को पहली बार एक स्थानीय संस्था के लोगों ने देखा।
    इसके बाद इसकी जानकारी स्थानीय प्रशासन को दी गई। इसके बाद इस चीज को बीच से हटाया गया। तस्वीरों में दिखने वाली यह चीज एक सिलेंडर की आकार की है। फोटो में दिख रहा है कि इसका आकार उसके पास खड़ी महिला से भी ज्यादा है। इसे देखने से यह मेटल या कंक्रीट से बना लग रहा है। हालांकि मैरीन मैमल नेटवर्क के अधिकारियों के अनुसार इसे छूने से यह मुलायम फोम की तरह लगता है।
    इस विशालकाय चीज के मिलने से करीब 15 घंटे पहले ही मैरीन मैमल नेटवर्क ने एक और ऐसी ही फोटो जारी की थी। उस फोटो को देखने के बाद ऐसा लग रहा है कि यह किसी चीज के अलग-अलग हिस्से हैं। इस रहस्यमीय चीज को देखने के बाद कई लोग अंदाजा लगा रहे हैं कि यह नासा द्वारा बनाए गए किसी चीज का हिस्सा है। (एनडीटीवी)

     

    ...
  •  


Posted Date : 12-Oct-2018
  • पनामा सिटी, 12 अक्टूबर। अमरीका के फ्लोरिडा में दस्तक देने के साथ ही माइकल तूफान ने एक शख्स की जान ले ली और कई घरों और सड़कों को पानी में डुबो दिया। मैक्सिको की खाड़ी क्षेत्र में इस तू्फान की वजह से कई पेड़ और बिजली के खंभे उखड़ गए। जिस वक्त 'माइकलÓ ने इलाके में दस्तक दी थी, इसे श्रेणी-चार में रखा गया था।
    फ्लोरिडा के अधिकारियों ने कहा कि माइकल की वजह से 155 मील प्रतिघंटा (250 किलोमीटर प्रतिघंटा) की रफ्तार से हवाएं चलीं। प्रांत के उत्तरी पेनहैंडल इलाके में करीब एक शताब्दी में आया यह सबसे शक्तिशाली तूफान है। स्थानीय समयानुसार रात आठ बजे 'माइकलÓ कमजोर होकर श्रेणी-एक का तूफान रह गया और इस दौरान 90 मील प्रतिघंटे की अधिकतम रफ्तार से हवाएं चलीं।
    मैक्सिको बीच से आई तस्वीरों और वीडियो में बर्बादी का मंजर नजर आ रहा है जहां पानी से भरी सड़कों पर घर तैरते दिखे, कुछ घर अपनी नींव से उखड़ गए जबकि कई घरों की छतें उड़ गईं। सड़कों पर मलबे का ढेर तैरता दिखा।
    करीब तीन घंटों तक तेज हवाओं और भारी बारिश के बाद पनामा सिटी की सड़कों पर चलना मुश्किल हो गया। जगह-जगह पेड़ उखड़े पड़े हैं, सेटेलाइट डिशें और ट्रैफिक लाइट उखड़ी पड़ी हैं। व्हाइट हाउस में राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को जानकारी देते हुए फेडरल इमरजेंसी मैनेजमेंट एजेंसी (एफईएमए) प्रमुख ब्रॉक लांग ने कहा कि माइकल फ्लोरिडा पेनहैंडल में 1851 के बाद से आने वाला सबसे भयंकर तूफान है। (एएफपी)

    ...
  •  


Posted Date : 12-Oct-2018
  • मिनेसोटा (यूएस), 12 अक्टूबर। यूएस मिनेसोटा की मौसम विशेषज्ञ सुसी मार्टिन अपने 2 वर्षीय बेटे को गोद में लेकर मौसम की जानकारी देने पहुंची। उन्होंने लाइव टीवी में बेटे के साथ मौसम का जानकारी दी। न्यूजीलैंड की प्रधानमंत्री जैसिंडा एरडर्न ने सभी को हैरान कर दिया था जब वो 3 साल की बेबी के साथ यूएन जर्नल असेंबरी मीटिंग में पहुंची थी। उनको वहां बच्चे के साथ खेलते भी देखा गया था। नेल्सन मंडेला स्पीच समिट में भी वो बच्चे को साथ लेकर पहुंची थीं और स्पीच दी थी। जिसने सभी का दिल जीत लिया था। मीनियापॉलिस की मौसम विशेषज्ञ ने भी कुछ ऐसा किया और सभी को हैरान कर दिया। 
    मौसम विशेषज्ञ सुसी मार्टिन अपने 2 वर्षीय बेटे को गोद में लेकर मौसम की जानकारी देने पहुंची। उन्होंने लाइव टीवी में बेटे के साथ मौसम का जानकारी दी। इंटरनेशनल बेबी वियरिंग वीक चल रहा है। इसलिए उन्होंने ऐसा कदम उठाया। उन्होंने दुनिया को अच्छा मैसेज दिया। सभी लोग उनकी काफी तारीफ कर रहे हैं। कंपनी ने इस वीडियो को फेसबुक पर शेयर किया है। उन्होंने लिखा- इंटरनेशनल बेबी वियरिंग वीक चल रहा है। तो मैंने सोचा क्यों न मैं अपने बच्चे को लाया जाए।
    वीडियो में देखा जा सकता है कि मार्टिन मौसम की जानकारी दे रही हैं और पीठ पर बंधा बच्चा सो रहा है। उसको बिलकुल भी जानकारी नहीं है कि क्या चल रहा है। मार्टिन ने कंपनी ऑफिशियल को धन्यवाद दिया कि उन्होंने उनको सपोर्ट किया। इंटरनेशनल बेबी वीक इस साल 1 अक्टूबर से 7 अक्टूबर तक मनाया गया था। सुसी मार्टिन के ऐसा करने पर उनकी काफी तारीफ हो रही है। (एनडीटीवी)

    ...
  •  


Posted Date : 12-Oct-2018
  • लंदन, 12 अक्टूबर । ब्रिटेन में आत्महत्या के मामलों पर लगाम कसने के लिए पहली बार एक मंत्री की नियुक्ति की गई है। बुधवार को सरकार ने विश्व मानसिक स्वास्थ्य दिवस के मौके पर इसकी घोषणा की है।
    ब्रिटेन की प्रधानमंत्री टेरेसा मे ने खुद इसकी जानकारी देते हुए बताया, मैंने यह जिम्मेदारी स्वास्थ्य मंत्री जैकी डॉयल प्राइस को अतिरिक्त प्रभार के रूप में दी है और मुझे उम्मीद है कि इससे आत्महत्या के मामलों को रोकने में मदद मिलेगी।
    टेरेसा मे ने आगे कहा, इससे हम उस धब्बे को मिटा सकते हैं जिसके चलते कई लोग चुप रह कर पीड़ा सहने के लिए बाध्य होते हैं। हम आत्महत्या जैसी त्रासदी को रोक सकते हैं। हम हमारे बच्चों को मानसिक रूप से बेहतर माहौल प्रदान कर सकते हैं।
    ब्रिटिश मीडिया के मुताबिक इस नए उप मंत्रालय का नाम 'मानसिक स्वास्थ्य, विषमताएं और आत्महत्या की रोकथामÓ रखा गया है। यह आत्महत्या की दर को रोकने और मानसिक रूप से पीडि़त लोगों को मदद मांगने के लिए प्रेरित करेगा।
    ब्रिटेन में बढ़ती आत्महत्या की दर ने सरकार को काफी समय से परेशान कर रखा है। देश में हर साल करीब 45,00 लोग आत्महत्या कर लेते हैं। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक ब्रिटेन में 45 साल से कम उम्र के पुरूषों की मौत का एक प्रमुख कारण ही आत्महत्या बन गया है। (पीटीआई)

     

    ...
  •  


Posted Date : 11-Oct-2018
  • नई दिल्ली,11 अक्टूबर: चीन में सिर दर्द से कराह रहे एक शख्स की खोपड़ी का ऑपरेशन कर डॉक्टरों ने 48mm लंबा नाखून निकाला है। लेकिन हैरानी की बात यह है कि शख्स को यह पता नहीं है आखिरी नाखून उसके सिर के अंदर कैसे गया।
    इसी अजीबोगरीब घटना में पीड़ित शख्स काफी दिनों से सिर दर्द की समस्या से परेशान था। लेकिन एक दिन जब दर्द ज्यादा बढ़ गया तो वह पास के अस्पताल पहुंचा। यहां जब डॉक्टरों ने उसके सिर का एक्सरे किया तो पता चला कि सिर के भीतर बड़ा नाखून धंसा हुआ है। इसके बाद डॉक्टरों ने ऑपरेशन कर इस नाखून को निकाला तो पता चला कि यह 48mm लंबा नाखून था जिसके दर्द से हू नाम का शख्स परेशान था। हालांकि हू को यह जानकारी नहीं है कि उसके सिर में नाखून कैसे पहुंचा। हू एक सीमेंट फैक्ट्री में बतौर सुपरवाइजर काम करते हैं।
    हू ने स्थानीय मीडिया को बताया कि उन्हें अंदाजा नहीं है कि यह नाखून कहां आया। उनका काम फैक्ट्री में सिक्यूरिटी सर्विलांस जैसे सीसीटीवी कैमरों से निगरानी करना है। इसलिए उन्हें कोई आइडिया नहीं है कि यह नाखून कहां से आया। (लाइव हिन्दुस्तान)

    ...
  •  


Posted Date : 11-Oct-2018
  • वाशिंगटन, 11 अक्टूबर । अमरीका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप का मानना है कि उनकी बेटी इवांका संयुक्त राष्ट्र (यूएन) में अमरीकी दूत के तौर पर धमाल मचा सकती है, लेकिन इसके साथ ही उन्होंने कहा कि अगर वह निकी हेली की जगह अपनी बेटी को नियुक्त करते हैं तो उन पर भाई-भतीजावाद के आरोप लगेंगे।
    भारतवंशी हेली ने मंगलवार को एलान किया था कि वह इस साल के आखिर में संयुक्त राष्ट्र में अमरीकी राजदूत का पद छोड़ देंगी। इसके बाद ट्रंप ने उनके काम की तारीफ करते हुए कहा कि उन्होंने अपने कार्यकाल के दौरान बेहतरीन काम किया।
    ट्रंप ने बताया कि आगामी दो-तीन सप्ताह में हेली के उत्तराधिकारी के नाम की घोषणा कर दी जाएगी। इस पद के लिए उनके दिमाग में उनकी पूर्व उप राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार डायना पावेल समेत पांच नाम हैं।
    एक सवाल पर उन्होंने अपनी बेटी इवांका की प्रतिभा की तारीफ करते हुए कहा, मेरा मानना है कि इवांका असाधारण होंगी, लेकिन इसका यह मतलब नहीं कि मैं उनका चयन करूंगा। ट्रंप के इस बयान के बाद इवांका ने ट्विटर पर लिखा कि वह राजदूत बनने की होड़ में नहीं है।
    उन्होंने लिखा, ह्वाइट हाउस में काम करना सम्मान की बात है। मैं यह जानती हूं कि राष्ट्रपति राजदूत हेली की जगह पर किसी प्रतिभावान को नामित करेंगे। यह बदलाव मेरे लिए नहीं होगा।
    36 वर्षीय इवांका पेशे से कारोबारी, फैशन डिजाइनर और लेखिका हैं। वह और उनके पति जेरेड कुश्नर राष्ट्रपति ट्रंप के सलाहकार भी हैं।
    ट्रंप की इस टिप्पणी के कुछ देर बाद इवांका ने ट्वीट कर कहा कि वे राजदूत की दौड़ में नहीं है। उन्होंने ट्वीट में लिखा, व्हाइट हाउस में इतने सारे महान सहयोगियों के साथ काम करना एक सम्मान है और मुझे पता है कि राष्ट्रपति (ट्रंप) राजदूत निकी हेली का अच्छा विकल्प (अच्छा उम्मीदवार) लेकर आएंगे। लेकिन मैं उम्मीदवार नहीं हूं।
    उधर, राष्ट्रपति अपनी पूर्व उप राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार डीना पॉवेल समेत कई लोगों के नाम पर विचार कर रहे हैं। राष्ट्रपति ट्रंप ने कहा कि इनके नाम विचाराधीन हैं। हालांकि संवादाताओं से बातचीत के दौरान उन्होंने कहा कि इवांका की राजूदत की दौड़ में शामिल होंगी। ट्रंप ने मंगलवार को संवाददाताओं से कहा कि वह अगले दो से तीन हफ्तों में हेली के प्रतिस्थापन के नाम की घोषणा की उम्मीद करते हैं और कहा कि वह पूर्व दक्षिण कैरोलिना राज्यपाल और अन्य के उम्मीदवारों के बारे में बात करेंगे।
    संयुक्त राष्ट्र में अमरीकी राजदूत निकी हेली ने मंगलवार को अपने पद से इस्तीफा दे दिया था। ट्रंप ने 46 वर्षीय हेली का इस्तीफा स्वीकार भी कर लिया। ट्रंप ने ओवल ऑफिस में भारतीय मूल की हेली के काम की तारीफ करते हुए उनके इस्तीफे की घोषणा की थी। हेली साल के अंत तक राजदूत पद पर रहेंगी।(पीटीआई)

    ...
  •  


Posted Date : 11-Oct-2018
  • नई दिल्ली, 11 अक्टूबर । अमरीकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने बुधवार को कहा कि रूस से पांच अरब डॉलर के एस-400 हवाई रक्षा प्रणाली खरीद सौदे पर भारत जल्द ही दंडात्मक काट्सा प्रतिबंधों पर उनके फैसले के बारे में जान जाएगा। काउंटरिंग अमरीकाज एडवर्सरीज थ्रू सैंक्शंस एक्ट (काट्सा) के तहत रूस के साथ हथियार सौदे पर अमरीकी प्रतिबंधों से भारत को छूट देने का अधिकार केवल ट्रंप के ही पास है।
    भारत और रूस के बीच हुए सौदे के बारे में पूछे जाने पर ट्रंप ने ओवल ऑफिस में कहा, भारत को पता चल जाएगा। भारत को पता चलने जा रहा है। आप जल्द ही देखेंगे। ट्रम्प ने यह भी कहा कि ईरान से चार नवंबर की समयसीमा के बाद तेल आयात जारी रखने वाले देशों के बारे में अमरीका देखेगा। भारत और चीन जैसे देशों के ईरान से तेल आयात जारी रखने के बारे में पूछे जाने पर ट्रंप ने कहा, हम देखेंगे।
    अमरीका ने रूस के ऊपर काट्सा कानून के अंतर्गत कुछ प्रतिबंध लगा रखे हैं। काट्सा को अमरीका ने विरोधियों/ प्रतिद्वंदियों से मुकाबले के लिए बनाया है। ऐसे ही प्रतिबंध अमरीका ने ईरान और उत्तरी कोरिया पर भी लगा रखे हैं। दरअसल अगर कोई देश इन देशों के साथ रक्षा या इंटेलिजेंस से जुड़े समझौते करता है तो अमरीका के रूस/ईरान/उत्तर कोरिया पर लगाए गए प्रतिबंध समझौता करने वाले देश पर भी लागू हो जाएंगे। हालांकि भारत ने रूस से समझौते के लिए अमरीका से इन प्रतिबंधों में छूट की मांग की थी।
    दरअसल, पिछले हफ्ते रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन दो दिन की यात्रा पर भारत आए थे। उनकी इस यात्रा के दौरान करीब 37 हजार करोड़ की एस-400 एयर डिफेंस सिस्टम को लेकर भारत के साथ समझौता हुआ था। (भाषा)

     

    ...
  •  


Posted Date : 11-Oct-2018
  • वाशिंगटन, 11 अक्टूबर । अमरीका की प्रथम महिला मेलानिया ट्रंप का कहना है कि यौन उत्पीडऩ का आरोप लगाने वाली महिलाओं को सुने जाने और उनका समर्थन किये जाने की आवश्यकता है, लेकिन पुरुषों को भी यह मौका मिलना चाहिए। उन्होंने कहा कि जब ऐसे आरोप लगते हैं तो ठोस सबूत की आवश्यकता होती है और आरोप लगाने वालों को सबूत दिखाने चाहिए।
    मेलानिया ट्रंप ने यह बात अपनी केन्या यात्रा के दौरान एक साक्षात्कार में कही। उनसे पूछा गया था कि क्या वे 'मी टू अभियानÓ का समर्थन करती हैं। मेलानिया ने कहा, मैं उन महिलाओं का समर्थन करती हूं और उन्हें सुना जाना आवश्यक है। हमें उनका समर्थन करना चाहिए। सिर्फ महिलाओं को ही नहीं पुरुषों को भी यह मौका मिलना चाहिए।
    ट्रंप पर बीते वर्षों में कई महिलाओं ने यौन उत्पीडऩ का आरोप लगाया है। इस पर मेलानिया ने कहा कि यह पुरुषों के लिये एक भयावह दौर है जहां उनके खिलाफ बरसों पुराने आरोप निकलकर सामने आ रहे हैं। यह टिप्पणी उन्होंने ब्रेट कैवेनॉ के संदर्भ में की थी। हाल ही में अमरीका के सुप्रीम कोर्ट के जज बने ब्रेट कैवेनॉ पर दो महिलाओं ने यौन उत्पीडऩ का आरोप लगाया था(पीटीआई)

     

    ...
  •  


Posted Date : 11-Oct-2018
  • भारत द्वारा रूस से एस-400 मिसाइल सुरक्षा प्रणाली खरीदने के सौदे पर हस्ताक्षर करने के बाद अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने पहली बार प्रतिक्रिया दी है. ट्रंप के मुताबिक, ‘भारत को अब मेरे फैसले के बारे में जल्द ही पता चल जाएगा.’
    यह बात उन्होंने मीडिया से बातचीत के दौरान कही. इस दौरान अमेरिकी राष्ट्रपति ने ईरान के तेल का आयात जारी रखने वाले देशों को चेताते हुए कहा कि उन पर भी वे नजर बनाए हुए हैं. ग़ौरतलब है कि अमेरिका ने ‘काउंटरिंग अमेरिकाज़ एडवर्सरीज़ थ्रू सैंक्शंस एक्ट’ (काट्सा) के तहत रूस, ईरान और उत्तर कोरिया समेत कई देशों पर आर्थिक प्रतिबंध लगा रखे हैं. साथ ही चेतावानी दी है कि जो भी देश इन देशों के साथ कारोबारी संबंध रखेगा उसे भी अमेरिकी प्रतिबंधाें का सामना करना पड़ेगा. 
    इसके बावज़ूद भारत ने रूस से एस-400 मिसाइल सुरक्षा प्रणाली खरीदने का समझौता किया है. साथ ही ईरान से भी कच्चे तेल का आयात करते रहने की बात कही है. संभवत: इसीलिए ट्रंप ने भारत के प्रति यह सख़्त कदम उठाने का संकेत दिया है. हालांकि ख़बरें यह भी आती रही हैं कि अमेरिका काट्सा के तहत भारत जैसे कुछ नज़दीकी सहयोगी देशों को राहत दे सकता है. उन्हें विशेष परिस्थितियाें में अमेरिकी प्रतिबंधों से छूट दी जा सकती है. लेकिन इस पर भी अंतिम फैसला करने का अधिकार डोनाल्ड ट्रंप के पास ही है. (न्यूज18)

    ...
  •  


Posted Date : 10-Oct-2018
  • संयुक्त राष्ट्र (यूएन) में अमरीका की राजदूत निकी हेली ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। अमरीका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने उनका इस्तीफा स्वीकार भी कर लिया है। हालांकि अभी तक यह स्पष्ट नहीं हो पाया है कि उन्होंने किन वजहों से इस्तीफा देने का फैसला किया। पहले अटकलें लग रही थीं कि वे 2020 में राष्ट्रपति पद का चुनाव लड़ सकती हैं। लेकिन मंगलवार को इस्तीफा देने के बाद उन्होंने इन्हें खारिज किया। हालांकि उन्होंने कहा कि डोनाल्ड ट्रंप के पक्ष में वे प्रचार का काम जरूर करेंगी।
    स्थानीय खबरों के मुताबिक निकी हेली ने बीते हफ्ते व्हाइट हाउस में डोनाल्ड ट्रंप से मुलाकात की थी और उसी दौरान उन्होंने अपने पद से इस्तीफा देने की इच्छा भी जताई थी। उधर इस घटनाक्रम से पहले डोनाल्ड ट्रंप ने एक ट्वीट में लिखा था, मंगलवार को व्हाइट हाउस के ओवल कार्यालय में मेरी दोस्त निकी हेली एक बड़ी घोषणा करने वाली हैं।
    यूएन में अमरीका की स्थायी प्रतिनिधि बनने से पहले निकी हेली साउथ करोलीना की गवर्नर के रूप में काम कर रह थीं। इसके अलावा भारतीय मूल की निकी हेली को ट्रंप के निकटतम सहयोगियों में से एक भी माना जाता रहा है। ऐसे में उनके इस्तीफे को ट्रंप प्रशासन के लिए एक बड़े झटके के तौर पर भी देखा जा रहा है। (एनडीटीवी )

     

    ...
  •  


Posted Date : 10-Oct-2018
  • बगदाद/ जॉर्डन, 10 अक्टूबर । पूर्व मिस इराक और मॉडल को हत्या की धमकी के बाद देश छोडऩा पड़ा है। पिछले महीने ही एक मॉडल को अपनी लाइफ स्टाइल के कारण मार दिया गया था, 2015 में मिस इराक चुनी गईं शिमा कासिम अब्दुलरहमान ने इराक छोड़कर जॉर्डन में शरण ले ली है। शिमा का कहना है कि इस्लामिक स्टेट औल लेवांत (आईएसआईएल) से जुड़े कुछ लोगों ने उन्हें अगली बारी तुम्हारी है का संदेश दिया।  
    शिमा का कहना है कि इसके बाद से वह अपने जीवन की सुरक्षा को लेकर बहुत डर गईं हैं और उन्होंने इराक छोडऩे का फैसला कर लिया। एक स्थानीय कुर्दिश समाचार चैनल को दिए बयान में उन्होंने कहा, मुझे हत्या की धमकी दी गई। मेरी जिंदगी को खतरा है। यहां बहुत सी महिलाओं की रोज हत्या हो ही है। मेरे लिए इराक में रहना खतरे से खाली नहीं था और इसलिए मैंने अपने देश को छोड़कर जॉर्डन में रहने का फैसला कर लिया है।
    पिछले सप्ताह ही बगदाद के मध्य हिस्से में मॉडल और इंस्टाग्राम स्टार की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। माना जा रहा है कि तारा फरेस नाम की 22 वर्षीय इस मॉडल की हत्या उनकी खास जीवनशैली की वजह से की गई है। फरेस गुरुवार को अपनी पोर्शे कार से बगदाद के कैंप साराह हिस्से से गुजर रही थीं, उसी वक्त उन पर गोलीबारी की गई। 
    इराक में सोशल मीडिया पर ऐक्टिव रहनेवाली और आधुनिक जीवनशैली वाली कई महिलाओं की हत्या की गई है। इराक की बॉर्बी डॉल कही जानेवालीं और प्लास्टिक सर्जन डॉक्टर रफील अल-यासीरी की भी हत्या की गई। हालांकि, इसे प्रशासन ने शुरुआती जांच में उनकी मौत को ड्रग्स ओवरडोज बताया था।  (नवभारत टाईम्स)

    ...
  •  


Posted Date : 10-Oct-2018
  • संयुक्त राष्ट्र (यूएन) में अमेरिका की राजदूत निकी हेली ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है. अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने उनका इस्तीफा स्वीकार भी कर लिया है. हालांकि अभी तक यह स्पष्ट नहीं हो पाया है कि उन्होंने किन वजहों से इस्तीफा देने का फैसला किया. पहले अटकलें लग रही थीं कि वे 2020 में राष्ट्रपति पद का चुनाव लड़ सकती हैं. लेकिन मंगलवार को इस्तीफा देने के बाद उन्होंने इन्हें खारिज किया. हालांकि उन्होंने कहा कि डोनाल्ड ट्रंप के पक्ष में वे प्रचार का काम जरूर करेंगी.

    स्थानीय खबरों के मुताबिक निकी हेली ने बीते हफ्ते व्हाइट हाउस में डोनाल्ड ट्रंप से मुलाकात की थी और उसी दौरान उन्होंने अपने पद से इस्तीफा देने की इच्छा भी जताई थी. उधर इस घटनाक्रम से पहले डोनाल्ड ट्रंप ने एक ट्वीट में लिखा था, ‘मंगलवार को व्हाइट हाउस के ओवल कार्यालय में मेरी दोस्त निकी हेली एक बड़ी घोषणा करने वाली हैं.’

    यूएन में अमेरिका की स्थायी प्रतिनिधि बनने से पहले निकी हेली साउथ करोलीना की गवर्नर के रूप में काम कर रह थीं. इसके अलावा भारतीय मूल की निकी हेली को ट्रंप के निकटतम सहयोगियों में से एक भी माना जाता रहा है. ऐसे में उनके इस्तीफे को ट्रंप प्रशासन के लिए एक बड़े झटके के तौर पर भी देखा जा रहा है. (एनडीटीवी )

    ...
  •  


Posted Date : 09-Oct-2018
  • बीजिंग, 9 अक्टूबर । चीन के अधिकारियों ने कहा है कि इंटरपोल के प्रमुख मेंग होंगवेई पर रिश्वत लेने का आरोप है जिसकी जांच-पड़ताल की जा रही है। मेंग होंगवेई चीन की हिरासत में हैं। होंगवेई पिछले महीने तब लापता हो गए थे जब वो फ्रांस के लियोन से चीन रवाना हुए थे।
    तब उनकी पत्नी ने बताया था कि मेंग ने चाकू वाली इमोजी भेजकर खतरे में होने का संदेश भेजा था। चीन के जन सुरक्षा मंत्रालय ने अपनी एक घोषणा में कहा है कि मेंग होंगवेई के खिलाफ जांच सही दिशा में बढ़ रही है और इससे भ्रष्टाचार के खिलाफ चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग की प्रतिबद्धता का पता चलता है।
    इस मामले में इंटरपोल ने रविवार को एक बयान जारी कर कहा है कि उन्हें मेंग होंगवेई का इस्तीफा मिला है जिसे फौरन स्वीकार कर लिया गया है।
    वहीं मेंग होंगवेई की पत्नी को फ्रांस में अधिकारियों ने सुरक्षा मुहैया कराई है और होंगवेई के खिलाफ जांच भी शुरू कर दी है। बीजिंग में मौजूद संवाददाता रॉबिन ब्रेंट के मुताबिक, मेंग होंगवेई का मामला ये बताता है कि चीन का कानून और सत्तारूढ़ कम्युनिस्ट पार्टी का शासन किस तरह काम करता है, और इससे फर्क नहीं पड़ता कि संबंधित व्यक्ति चीन के भीतर हो या उसकी तैनाती फ्रांस में हो। इंटरपोल का प्रमुख बनने से पहले मेंग चीन में जन सुरक्षा विभाग के उप मंत्री रह चुके हैं। (बीबीसी)

     

    ...
  •  


Posted Date : 09-Oct-2018
  • मैक्सिको, 9 अक्टूबर । बीस महिलाओं की हत्या के मामले में मैक्सिकों सिटी पुलिस ने एक दंपत्ति को हिरासत में लिया है। दंपत्ति के पास मानव शरीर के अंग भी मिले हैं। पुलिस को शहर में 10 महिलाओं के हत्यारे की तलाश थी, लेकिन जब हत्यारे पकड़ में आए तो जानकारी मिली कि उन्होंने 10 नहीं बल्कि 20 महिलाओं की हत्या की है। पकड़े गए पुरुष ने कुछ महिला पीडि़तों के साथ रेप की बात भी कबूली है। साथ ही कहा कि वह कई के अंग भी बेच चुका है। सरकारी वकील अलजेंड्रो गोमेज ने यह जानकारी दी। गोमेज ने बताया कि इस दंपत्ति को गुरुवार को गिरफ्तार किया गया था।  
    गिरफ्तार पुरुष ने उन 10 हत्याओं के बारे में जानकारी जिनकी पुलिस को तलाश थी, साथ 10 अन्य हत्याओं के बारे में भी पुलिस को बताया। गामेज ने बताया, हत्यारे ने इन सभी घटनाओं को बेहद सामान्य बताया, यहां तक कि वह ये हत्या करने के बाद काफी अच्छा महसूस कर रहा था। मैक्सिको रेडियो नेटवर्क फॉम्र्युला सक इंटरव्यू में गोमेज ने कहा, यह जोड़ा चाहता था कि लोग इनकी तस्वीर देखें, उनका नाम जानें... निश्चित तौर पर मैं इस जोड़े को दिमागी तौर पर बीमार कहने की जगह हत्यारा या सीरियल किलर कहूंगा।
    दंपत्ति ने यह भी बताया कि उन्होंने एक जोड़े की हत्या कर उनके बच्चे कि एक दूसरे दंपत्ति को बेच दिया था। पुलिस ने बच्चा खरीदने वाले जोड़े को भी गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस गिरफ्तार आरोपियों की जांच के लिए डॉक्टरों की एक टीम को लगाया है। डॉक्टरों ने हत्या की आरोपी महिला को मानसिक तौर पर विक्षिप्त बताया है। 
    पुलिस ने जब उनके घर की तलाशी ली तो उनके घर में मानव अंग मिले, जो सीमेंट से भरी बाल्टी और रेफ्रिजरेटर में रखे हुए थे। आरोपी पुरुष ने जांचकर्ताओं को बताया वह और उसकी पत्नी अपने पीडि़तों को लालच देते थे। स्थानीय लोगों ने इस घटना के विरोध में प्रदर्शन किया और मारे गए लोगों की याद में फूल चढ़ाए। (एएफपी)

    ...
  •  


Posted Date : 09-Oct-2018
  • नई दिल्ली, 9 अक्टूबर । आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद (जेईएम) का सरगना मसूद अजहर संभवत: मौत की कगार पर पहुंच गया है। भारतीय खुफिया एजेंसियों के सूत्रों के हवाले से यह खबर मिली है। इसके मुताबिक अजहर इस वक्त किसी जानलेवा बीमारी से जूझ रहा है और बिस्तर पर पड़ा हुआ है। उसकी हालत दिनों-दिन बिगड़ती जा रही है।
    अखबार के मुताबिक 50 वर्षीय मसूद अजहर की हालत अब ऐसी भी नहीं है कि वह अपने संगठन की गतिविधियां संचालित कर सके। बीमारी ने उसकी रीढ़ की हड्डी और गुर्दे (किडनी) पर काफी बुरा असर डाला है। बताया जाता है कि रावलपिंडी के सैन्य अस्पताल में उसका इलाज हो चुका है। लेकिन हालत में सुधार दिखाई नहीं हुआ है। बल्कि वह बीते डेढ़ साल से बिस्तर पर पड़ा हुआ है। इसी कारण से वह काफी समय से अपने गृहनगर- भावलपुर या पाकिस्तान की किसी अन्य जगह में दिखाई भी नहीं दिया है।
    बताया जाता है कि अजहर की गैरमौजूदगी में उसके दो छोटे भाई- रऊफ असगर और अतहर इब्राहिम संगठन की गतिविधियां संचालित कर रहे हैं। वे लगातार भारत और अफगानिस्तान में आतंकी हमलों के लिए अपने लड़ाके भेज रहे हैं। मसूद अजहर को 2001 में भारतीय संसद पर हुए आतंकी हमले का मुख्य साजिशकर्ता माना जाता है। साल 2005 में अयोध्या और 2016 में पठानकोट एयरबेस (भारतीय वायु सेना का अड्डा) पर हुए आतंकी हमलों के पीछे भी उसी का दिमाग रहा है।
    इन्हीं कारणों से भारत काफी समय से इस कोशिश में है कि अजहर को वैश्विक आतंकियों की संयुक्त राष्ट्र संघ की सूची में शामिल करा लिया जाए। उसके इस प्रयास को अमरीका, फ्रांस और ब्रिटेन जैसे देशों का भी समर्थन है। बल्कि अमरीका खुद अपनी तरफ से संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में इस बाबत प्रस्ताव पेश कर चुका है। लेकिन पाकिस्तान का मददगार चीन इस प्रस्ताव की राह में रोड़ा बना हुआ है। हालांकि भारतीय राजनयिक सूत्रों की मानें तो अजहर की बीमारी ने अब भारत की राह आसान कर दी है। (हिंदुस्तान टाईम्स)

     

    ...
  •  


Posted Date : 09-Oct-2018
  • इस्लामाबाद, 9 अक्टूबर। पाकिस्तान भारी नकदी संकट से जूझ रहा है और देश के सामने भुगतान संतुलन का संकट पैदा हो गया। पीटीआई के मुताबिक इस खतरे से निपटने के लिए पाकिस्तान की सरकार ने अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) का रुख किया है। पाक इस समस्या से निपटने के लिए आईएमएफ के सामने राहत पैकेज (बेलआउट) की गुहार लगा सकता है।
    शुरुआत में पाकिस्तान आईएमएफ से मदद लेने में हिचकिचा रहा था क्योंकि प्रधानमंत्री इमरान खान अतीत में आईएमएफ से मदद लेने का विरोध करते रहे हैं। लेकिन संकट बढ़ता देख उन्होंने खुद आईएमएफ से संपर्क करने का फैसला लिया और सोमवार को इसकी बाकायदा घोषणा कर दी गई। पाक वित्त मंत्री असद उमर का कहना है कि प्रधानमंत्री ने फैसले को मंजूरी दे दी है, अब जल्द ही आईएमएफ से बात शुरु की जाएगी।
    हालांकि, अमरीकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने आईएमएफ को पाकिस्तान की मदद के लिए चेताया है। उन्होंने कहा है कि अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष से मिलने वाली मदद का इस्तेमाल पाकिस्तान चीन का कर्ज चुकाने में कर सकता है। पाकिस्तान की अर्थव्यवस्था मंदे निर्यात के कारण गहरे संकट में है। अगर आईएमएफ पाकिस्तान को मदद देता है तो यह उसका 13वां बेलआउट पैकेज होगा।  (पीटीआई)

     

    ...
  •