मनोरंजन

26-May-2020

लॉकडाउन की वजह से ब्यूटी पार्लर बंद हैं। ऐसे में महिलाएं ब्यूटी सर्विसेज नहीं ले पा रही हैं। कई एक्ट्रेस अपनी बढ़ी हुई आइब्रोज से परेशान हैं। कॉमेडियन भारती सिंह का भी यही हाल है। उन्होंने इंस्टा पर वीडियो शेयर कर फैंस से पूछा कि घर में बिना दर्द के आइब्रो कैसे बनाते हैं?

भारती ने वीडियो शेयर करते हुए कैप्शन में लिखा- नहीं हो पाता यार बहुत दर्द होता है आइब्रो बनाने में। थैंक्यू अर्चना पूरन सिंह मैम इतना खतरनाक टिप देने के लिए। वीडियो में भारती कह रही हैं- किसी को पता है कि घर में बैठे बिना दर्द के आइब्रो कैसे बनाते हैं? कोई है तो प्लीज मुझे बताओ। मेरे घर में तो मैं और हर्ष ही रहते हैं। हर्ष को बोलूंगी तो वो मेरी एक आइब्रो उड़ा ही देगा।

भारती ने अपने वीडियो में ये भी कहा कि ये दर्द केवल औरतें ही समझ सकती हैं। भारती ने अर्चना पूरन सिंह का वीडियो भी शेयर किया है जिसमें वे घर पर खुद से आइब्रो बनाना सिखा रही हैं। लेकिन अपने वीडियो के कैप्शन में भारती ने अर्चना के इस टिप का काफी खतरनाक बनाया है।

 लॉकडाउन में भारती सिंह अपने पति हर्ष संग वक्त बिता रही हैं। क्योंकि इन दिनों शूटिंग पूरी तरह से बंद है, इसलिए भारती को फैंस कपिल शर्मा शो में नहीं देख पा रहे हैं। लेकिन भारती सोशल मीडिया पर अपने वीडियो शेयर कर फैंस को एंटरटेन करने का कोई भी मौका नहीं छोड़ती हैं। भारती टिक टॉक पर भी काफी एक्टिव हैं। उनके फनी वीडियो देख फैंस हंसने को मजबूर हो जाते हैं। भारती के साथ कभी कभी उनके पति हर्ष भी टिक टॉक पर वीडियो बनाते हैं। दोनों की जोड़ी कमाल की है। øआजतक)


26-May-2020

हिंदी सिनेमा के दबंग अभिनेता सलमान खान के दुनियाभर में फैले प्रशंसक इस ईद पर उनकी नई फिल्म का इंतजार कर रहे थे। लेकिन, कोरोना वायरस की वजह से लागू हुए लॉकडाउन ने सबकी उम्मीदों पर पानी फेर दिया। हालांकि, सलमान खान ने अपने प्रशंसकों को पूरी तरह से निराश नहीं किया और उनकी भावनाओं का ख्याल रखते हुए सलमान ने रिलीज किया भाईचारे वाला गीत भाई- भाई।

लॉकडाउन के इस दौर में सलमान की तरफ से रिलीज किया गया यह तीसरा गीत है। भारत विविधताओं का देश है और सलमान का यह नया गाना सभी धर्मों को भाईचारे का संदेश देता है। इस गाने को सलमान ने खुद गाया है और उसको संगीत दिया है, हिंदी संगीत की दुनिया के जाने माने संगीतकार साजिद वाजिद की जोड़ी ने।

सलमान खान और दानिश साबरी का लिखा हुआ यह गीत ईद के दिन सलमान की तरफ से उनके प्रशंसकों को एक तोहफा रहा। गीत में एक रैप भी है जिसको रुहान अरशद ने लिखा है। सलमान ने सोमवार शाम को सोशल मीडिया पर एक ट्वीट करके इस गीत को रिलीज किया। उन्होंने लिखा, मैंने आप सब के लिए कुछ बनाया है। देख कर बताना, कैसा लगा? आप सब को ईद मुबारक।

पनवेल में अपने फार्महाउस पर रहते हुए सलमान खान का यह तीसरा गाना है। इससे पहले वह प्यार करोना और अभिनेत्री जैकलिन फर्नांडिस के साथ तेरे बिना रिलीज कर चुके हैं। इस ईद पर सलमान खान अपनी बहुप्रतीक्षित फिल्म राधे- योर मोस्ट वांटेड भाई को रिलीज करने वाले थे। फिल्म राधे- योर मोस्ट वांटेड भाई में दिशा पाटनी सलमान खान के साथ नजर आने वाली हैं। लेकिन लॉकडाउन की वजह से फिल्म पूरी ना होने के कारण रिलीज नहीं हो पाई है। इसी के साथ बॉक्स ऑफिस पर सलमान की इस फिल्म की टक्कर अक्षय कुमार की लक्ष्मी बम के साथ टल गई है। (अमर उजाला)

 


26-May-2020

सुपरहिट फल्म मिस्टर इंडिया 25 मई, 1987 को रिलीज हुई थी। यह फिल्म अनिल कपूर  के लिए मील का पत्थर साबित हुई थी। अभिनेता का कहना है कि मिस्टर इंडिया उनके लिए हमेशा महत्वपूर्ण फिल्म रहेगी। अनिल ने इंस्टाग्राम पर फिल्म के 33 साल पूरे होने पर इसके बारे में अपने विचार व्यक्त किए।

उन्होंने लिखा, मिस्टर इंडिया मेरे लिए हमेशा महत्वपूर्ण फिल्म रहेगी। मुझे याद है जब 34 साल पहले हमने इस सफर की शुरुआत की थी और मैं चीज की जानकारी के लिए जुनूनी हुआ करता था। जब मैं जिंदगी की ही रीत है गाने की धुन सुना करता था। मैं सिर्फ इसमें किशोर दा की आवाज इमेजिन करता था। तब किशोर कुमार और लक्ष्मीकांत प्यारेलाल साथ काम करना नहीं चाहते थे। किशोर दा के संपर्क में आने में भी महीनों लग गए।

अनिल कपूर ने आगे बताया, जब मेरी उनसे बात हुई तो मैं किशोर कुमार के घर गया और दोनों की बात कराई। इसका परिणाम है यह शानदार मेलोडी जिसे आज के मुश्किल समय में भी याद किया जा सकता है। (जी न्यूज)


26-May-2020

ऑनलाइन फिल्में सिनेमाघरों के लिए चुनौती?

प्रशांत वर्मा 
नई दिल्ली, 26 मई।
कोरोना वायरस से सुरक्षा के मद्देनजर पूरे देश में बीते 25 मार्च से लॉकडाउन लागू किया गया था और अब इसकी समयसीमा लगातार चौथी बार बढ़ाते हुए 31 मई कर दी गई है।

लॉकडाउन लागू करने से हफ्ता-दस दिन पहले ही वायरस से सुरक्षा बढ़ाने के प्रयासों के तहत लोगों को एक जगह जमा होने से रोकने के लिए विभिन्न राज्यों में धारा 144 लागू कर दी गई थी। साथ ही एहतियाती उपायों के तहत विभिन्न राज्यों में सिनेमाघर और मल्टीप्लेक्स भी बंद करने के आदेश दे दिए गए थे।

इस तरह से सिनेमाघर और मल्टीप्लेक्स को बंद हुए तकरीबन तीन महीने से कुछ ज्यादा वक्त बीत चुका है। लॉकडाउन की वजह से दूसरे कारोबार की तरह ही सिनेमा उद्योग भी बुरी तरह प्रभावित हुआ है।

इसी दौरान बॉलीवुड से एक खबर आई कि अमिताभ बच्चन और आयुष्मान खुराना के अभिनय से सजी और शूजित सरकार के निर्देशन में बनी फिल्म 'गुलाबो सिताबो' सिनेमाघरों की बजाय अब सीधे ऑनलाइन स्ट्रीमिंग प्लेटफॉर्म अमेजॉन प्राइम पर रिलीज हो रही है।

इस खबर ने एक बार फिर उस सवाल को हवा दे दी है कि मल्टीप्लेक्स की वजह से जिस तरह सिंगल स्क्रीन सिनेमाघर लगभग खत्म हो गए, क्या नेटफ्लिक्स, अमेजॉन प्राइम, डिज़्नी हॉटस्टार जैसे ऑनलाइन स्ट्रीमिंग प्लेटफॉर्म आने की वजह से कुछ वैसा ही भविष्य उसका होने वाला है?

बीते चार मई को ही द मल्टीप्लेक्स एसोसिएशन ऑफ इंडिया (एमएआई) ने स्टूडियो पार्टनर, प्रोड्यूसर, कलाकारों और फिल्म इंडस्ट्री में योगदान देने वाले दूसरे सहयोगियों से अपील की थी कि वे अपनी फिल्मों को रोककर रखें और एक बार जब सिनेमाघर खुल जाएं तो वहीं रिलीज करें।

संगठन की यह अपील उन अटकलों के बाद आई थी, जिसमें कहा जा रहा था कि अक्षय कुमार की फिल्म 'लक्ष्मी बॉम्बÓ समेत कुछ फिल्मों को सीधे डिजिटल प्लेटफॉर्म पर रिलीज करने की तैयारी की जा रही है।

साल 2002 में फेडरेशन ऑफ इंडियन चैंबर्स ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री (फिक्की) के संरक्षण में स्थापित राष्ट्रीय मल्टीप्लेक्स व्यापार निकाय एमएआई 18 से अधिक क्षेत्रीय और राष्ट्रीय मल्टीप्लेक्स श्रृंखलाओं का प्रतिनिधित्व करता है, जिसमें पीवीआर, आईनॉक्स, कार्निवल और सिनेपोलिस शामिल हैं और देश में 2900 से अधिक स्क्रीन संचालित करता है।

गुलाबो सिताबो के डिजिटल रिलीज की घोषणा पर आईनॉक्स और पीवीआर जैसे मल्टीप्लेक्स चेन ने भी निराशा जताई है।

आईनॉक्स की ओर से कहा गया है कि सिनेमा और उसे बनाने वाले हमेशा एक पारस्परिक लाभकारी साझेदारी में होते हैं, जहां एक का काम दूसरे के लाभ को बढ़ावा देता है।

एक बयान जारी कर आईनॉक्स ने कहा है, 'इस कठिन समय में आपके साझेदारों में से एक द्वारा इस तरह का कदम उठाना परेशान करने वाला है। विशेषकर तब जब एक दूसरे के साथ कंधे से कंधा मिलाकर खड़े होने की जरूरत समय की मांग है।'

वहीं, पीवीआर पिक्चर्स के सीईओ कमल ज्ञानचंदानी ने कहा है हम इस बात को लेकर निराश हैं कि हमारे अनुरोध के बाद भी फिल्म के निर्माताओं ने फिल्म की रिलीज को लेकर अपने कदम पीछे नहीं खींचे।

उन्होंने कहा है, 'गुलाबो सिताबो को डिजिटल रिलीज किए जाने के निर्णय से हम निराश हैं। हम उम्मीद कर रहे थे कि फिल्म के निर्माता सिनेमाघरों के दोबारा खुलने तक इसकी रिलीज को रोककर रखेंगे।'

ऐसा नहीं है कि पहली बार कोई फिल्म सीधे अमेजॉन या नेटफ्लिक्स पर रिलीज हो रही है। इससे पहले ऋषि कपूर की फिल्म 'राजमा चावल' और 'मर्द को दर्द नहीं होता' जैसी लो-बजट वाली कुछ फिल्में सीधे ऑनलाइन प्लेटफॉर्म पर रिलीज हुई हैं।

गुलाबो सिताबो बड़ी फिल्म थी। इसमें फिल्म इंडस्ट्री के महानायक कहे जाने वाले अमिताभ बच्चन के होने की वजह से ऐसा माना जा रहा था कि लॉकडाउन के बाद इसकी रिलीज से सिनेमाघरों को नई जान मिल सकती थी।

इंडियन एक्सप्रेस से बातचीत में फिल्म एक्जिबिटर अक्षय राठी ने कहा कि गुलाबो सिताबो की स्टार कास्ट बड़े पर्दे पर जादू जगा देती। वे कहते हैं, 'फिल्म में अमिताभ बच्चन और आयुष्मान खुराना एक साथ आ रहे हैं। यह फिल्म बॉक्स ऑफिस पर 100 करोड़ रुपये का आंकड़ा पार कर लेती।'

राठी ने कहा, 'ये सही है कि कोई भी फिल्म उसके प्रोड्यूसर के बेटे के समान होती है और उसे अधिकार होता है कि वह उसे जहां मर्जी वहां रिलीज कर दे, लेकिन यह एक नजीर है, जिसका बड़े पर्दे पर सिनेमा दिखाने की परंपरा पर नकारात्मक असर होगा।'

इस मामले को लेकर अमेज़ॉन प्राइम वीडियो के कंटेंट हेड और निदेशक विजय सुब्रमनियम ने वैराइटी से बातचीत में कहा है, 'हमने हमेशा ये सुनिश्चित किया है कि सिनेमाघर फिल्म वितरण में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं और हम इसमें किसी तरह का बदलाव नहीं चाहते।'

द वायर  ने भी इस संबंध में अमेजॉन प्राइम वीडियो को ईमेल किया है, उनका जवाब आने पर उसे इस रिपोर्ट में शामिल किया जाएगा।

अचानक हुए लॉकडाउन के कारण जहां दिवंगत अभिनेता इरफान खान की आखिरी फिल्म 'अंग्रेजी मीडियम' और 'बागी 3' का कारोबार काफी प्रभावित हुआ था, जिसके बाद इन्हें तुरंत ऑनलाइन स्ट्रीमिंग प्लेटफॉर्म्स पर रिलीज कर दिया गया।

इस लीग में 'गुलाबो सिताबो' अकेली फिल्म नहीं है। विद्या बालन की फिल्म 'शकुंतला देवी: ह्यूमन कम्प्यूटर', दक्षिण भारतीय अभिनेत्री ज्योतिका की फिल्म 'पोंमगल वंधल', तमिल फिल्म 'पेंगुइन', कन्नड़ फिल्म 'लॉ' और 'फ्रेंच बिरयानी', मलयालम फिल्म 'सूफियम सुजातयमÓ भी अमेज़ॉन प्राइम पर रिलीज होने वाली हैं।

दूसरी ओर बड़े बजट की कुछ फिल्में थियेटर खुलने का इंतजार भी कर रही हैं। इनमें अक्षय कुमार की फिल्म 'सूर्यवंशीÓ, रनवीर सिंह और दीपिका पादुकोण की फिल्म '83', दक्षिण भारतीय फिल्मों के सुपरस्टार मोहनलाल की फिल्म 'मराक्कर : लॉयन ऑफ द अरेबियन सीÓ और अभिनेता विजय और विजय सेतुपति की फिल्म 'मास्टर' आदि शामिल हैं।

जेम्स बॉन्ड श्रृंखला की फिल्म 'नो टाइम टू डायÓ भी लॉकडाउन के कारण समय पर रिलीज नहीं हो सकी और इसकी भी रिलीज डेट फिलहाल टाल दिया गया है।

फिल्म '83' के निर्देशक कबीर खान ने कहा भी है कि उनकी फिल्म सिर्फ थियेटर में ही रिलीज होगी।

इस पूरे मामले पर फिल्म प्रोड्यूसर और निर्देशक करण जौहर ने कहा है, 'बड़ी फिल्में जरूर बनेंगी, सिनेमा कमबैक करेगा। बड़े पर्दे का बड़ा सिनेमा, जिसे हम बिग इवेंट फिल्म कहते हैं, वो कहीं नहीं जाने वाला। अभी हमारी जिंदगियों में इंटरवल आ गया है। आप जाइए पॉपकॉर्न खाइए, क्योंकि जब सेकेंड हाफ आएगा तो एक सुपरहिट और ब्लॉकबस्टर सेकेंड हाफ होगा।

वे कहते हैं, 'एक साल की रुकावट आ गई है, जिसे हम कह सकते हैं कि एक साल का इंटरवल है। उसका आप मजा लीजिए क्योंकि मैं दावे के साथ कह सकता हूं कि सेकेंड हाफ धमाकेदार होगा।Ó

सिनेमा बनने और रिलीज होने के पूरे सिस्टम को धक्का

सिनेमा बनाने और फिर उसे रिलीज करने का पूरा एक सिस्टम होता है। इसमें फिल्म के प्रोड्यूसर के अलावा फिल्म डिस्ट्रीब्यूटर, बड़े शहरों से लेकर छोटे कस्बों के फिल्म एक्जि़बिटर या सिनेमाहॉल मालिक, फिल्म पब्लिसिस्ट, फिल्म पीआर और इन सबसे जुड़े तमाम लोग शामिल होते हैं।

लॉकडाउन की वजह से इन सब लोगों की कमाई का जरिया खत्म हो गया है और इस पूरे सिस्टम को एक धक्का लगा है।

दिल्ली में तकरीबन 20 साल से फिल्म पब्लिसिटी और पीआर का काम देख रहे शैलेष गिरि ने बताया, 'आप बिना सिनेमाहॉल में रिलीज किए पिक्चर बेच रहे हो, अगर वो रिलीज होती तो उसमें छोटे-बड़े सिनेमाहॉल वाले भी कमाते, हम जैसे लोग भी कमाते और जो भी फिल्मों की रिलीज पर आश्रित हैं, उन सबको कुछ न कुछ मिलता। इस कदम से हम सबका शेयर कट जाएगा।'

वे कहते हैं, 'बड़ी-बड़ी फिल्में अगर अमेजॉन या नेटफ्लिक्स पर चली जाएंगी तो हम सबकी कमाई खत्म हो जाएगी और सिनेमा रिलीज के पूरे सिस्टम को धक्का लगेगा।'

उन्होंने कहा, 'ऐसा सुनने में आ रहा है कि लॉकडाउन खत्म होने के बाद भी सिनेमाहॉल वालों को नई फिल्म लगाने की इजाजत नहीं मिलेगी। कुछ दिनों तक पुरानी फिल्में चलानी पड़ेंगी। बड़ी फिल्म लगाने से भीड़ लग जाएगी और सोशल डिस्टेंसिंग मेनटेन करना मुश्किल हो जाएगा। हालांकि समस्या ये है कि सिनेमाघर में पुरानी फिल्में कौन देखने आएगा?'

वे आगे कहते हैं, 'देखिए, प्रोड्यूसर की भी मजबूरी है, फिल्म के लिए उन्होंने दूसरों से पैसा ले रखा है और भी खर्च हैं, ऐसे में अगर उनको इस तरह प्रॉफिट मिल रहा है तो वे बेचकर निकल जा रहे हैं। उन्हें सिर्फ प्रॉफिट से मतलब है, लेकिन उससे पूरा सिस्टम प्रभावित होगा।'

सिनेमाघरों का कोई विकल्प नहीं

ऑनलॉइन स्ट्रीमिंग प्लेटफॉर्म आने से पहले फिल्म पहले थियेटर में रिलीज होती थी तो निर्माताओं को उससे अलग लाभ मिलता था और फिर जब उसके टीवी या डिजिटल राइट्स बिकते थे तो उसका अलग से पैसा बनता था।

अब फिल्म को सीधे किसी ऑनलाइन प्लेटफॉर्म पर रिलीज कर देने से आशंका है कि इससे वह कमाई नहीं हो पाएगी, जो वास्तव में हो सकती थी। सिनेमा से जुड़े कुछ लोगों का मानना है कि किसी भी प्लेटफॉर्म पर आप फिल्में देख लें, लेकिन सिनेमाघरों का कोई विकल्प नहीं।

दक्षिण भारतीय फिल्मों की अभिनेत्री ज्योतिका की फिल्म पोंमगल वंथल, अदिति राव हैदरी की फिल्म सूफियम सुजातयम और कीर्ति सुरेश की फिल्म पेंगुइन भी सीधे अमेजॉन प्राइम पर रिलीज हो रही हैं। 

दक्षिण भारतीय फिल्मों की अभिनेत्री ज्योतिका की फिल्म पोंमगल वंथल, अदिति राव हैदरी की फिल्म सूफियम सुजातयम और कीर्ति सुरेश की फिल्म पेंगुइन भी सीधे अमेज़ॉन प्राइम पर रिलीज हो रही हैं। 

दिल्ली में डिलाइट ऐटमॉस और डिलाइट डायमंड सिनेमाघरों के जनरल मैनेजर आरके मेहरोत्रा का मानना है कि किसी थियेटर में फिल्मों की रिलीज से अन्य किसी भी माध्यम से ज्यादा राजस्व पैदा होता है।

वे कहते हैं, 'मुझे लगता है कि ये समस्या जल्दी खत्म नहीं होने वाली। किसी प्रोड्यूसर की अपनी मजबूरी होगी कि उसे ऐसा करना पड़ा। हो सकता है कि उसे लगता हो कि वह रुक नहीं सकता, घाटे में जा रहा है, शायद इसलिए ऐसा किया होगा।'

मेहरोत्रा आगे कहते हैं, 'लेकिन मुझे लगता है कि बड़े डायरेक्टर या एक्टर या कोई बड़ा प्रोड्यूसर इस बारे में जल्दी नहीं सोचेंगे, क्योंकि ऑनलाइन प्लेटफॉर्म पर उतना राजस्व पैदा नहीं हो सकता है, जितना सिनेमाघरों में रिलीज से होता है। मेरा मानना है कि सिनेमाघरों को न तो दर्शक छोडऩे वाले हैं, न ही एक्टर और न हीं डायरेक्टर-प्रोड्यूसर।'

बड़े पर्दे पर स्टार जन्म लेते हैं

बिहार के पूर्णिया में रूपबनी सिनेमा चलाने वाले विशेक चौहान कहते हैं कि व्यापार के नजरिये से जब आप इस कदम को देखते हैं, तो यह एक गलती है।

वे कहते हैं, 'अब गुलाबो सिताबो की सफलता का अनुमान लगाने का एक ही तरीका है और वह है कि उसे कितने लोगों ने देखा। 'गेंदा फूल' (रैपर बादशाह का नया गाना) को भी यूट्यूब पर 10 करोड़ लोगों ने देखा है। ऐसे में आप जब फिल्म को डिजिटल रिलीज करोगे तो सफलता को कैसे मापोगे?'

चौहान आगे कहते हैं, 'बड़ा पर्दा वह है, जहां जादू होता है, जहां स्टार जन्म लेते हैं। स्टार टीवी या वेब पर पैदा नहीं होते। शाहरुख खान की फिल्म देखने के लिए जब 500 लोग किसी सिनेमा घर के बाहर लाइन में लगे होते हैं, तब एक स्टार का जन्म होता है।'

क्या लॉकडाउन के बाद दर्शक थियेटर में जाएंगे

बहरहाल दूसरी ओर कुछ लोगों का कहना है आने वाला समय अभी बहुत अनिश्चितता भरा है। ऐसी स्थितियां कब तक रहेंगी कुछ कहा नहीं जा सकता है। सवाल ये है कि इन स्थितियों में कोई प्रोड्यूसर कितने समय तक अपनी फिल्म को रोककर रखेगा?

दूसरी ओर अगर कोरोना वायरस की बात करें तो देश में हर दिन संक्रमण के मामले बढ़ रहे हैं। ऐसे में सवाल ये है कि क्या आने वाले दिनों में लॉकडाउन खत्म कर दिया जाएगा या फिर उसकी समयसीमा एक बार फिर से बढ़ा दी जाएगी।

और अगर लॉकडाउन खत्म भी हो गया है तो क्या दर्शक उतनी सहजता से सिनेमाघरों का रुख कर पाएंगे, जितनी सहजता से इस महामारी के आने से पहले किया करते थे? (http://thewirehindi.com/​)


25-May-2020

फिल्म इंडस्ट्री के मशहूर डायरेक्टर-प्रोड्यूसर करण जौहर 25 मई को अपना 48वां जन्मदिन मना रहे हैं। यूं तो करण की जिंदगी पर किताब छप चुकी है, लेकिन फिर भी कई ऐसी बातें हैं जिनके बारे में कम ही लोगों को पता है। ये बात तो सभी जानते हैं कि करण ने फिल्म दिलवाले दुल्हनिया ले जाएंगे में असिस्टेंट डायरेक्टर के अलावा एक्टिंग भी किया था।  लेकिन क्या आप ये जानते हैं कि यह उनका एक्टिंग डेब्यू नहीं था।

करण ने दिलवाले दुल्हनिया ले जाएंगे से पहले एक टीवी शो इंद्रधनुष में काम किया था।  यह शो दूरदर्शन पर प्रसारित किया जाता था।  एक शो के दौरान करण ने खुद बताया कि उस वक्त वे 14-15 साल के थे, जब इंद्रधनुष में उन्होंने काम किया था।  लेकिन इस शो को ऑन एयर होने में काफी समय लग गया। शो जब रिलीज हुई उस वक्त करण कॉलेज के सेकेंड ईयर में थे. तब वे 18 साल के हो चुके थे। अब जब वो इस शो को देखते हैं तो उन्हें बहुत शर्म आती है।

साल 1989 में आई इंद्रधनुष उनका पहला सीरियल था. इसके बाद उन्होंने 1995 में आदित्य चोपड़ा की फिल्म दिलवाले दुल्हन?िया ले जाएंगे में असिस्टेंट डायरेक्टर के रूप में काम किया। इसमें उन्होंने रॉकी नाम का छोटा सा रोल भी प्ले किया था।  इसके तीन साल बाद 1998 में करण ने अपनी पहली फिल्म कुछ कुछ होता है का निर्देशन किया। यह फिल्म बेहद सुपरहिट रही। इसके बाद कभी खुशी कभी गम, कभी अलविदा ना कहना, माई नेम इज खान, स्टूडेंट ऑफ द ईयर जैसी फिल्मों का निर्देशन किया।

टीवी शो से शुरू हुआ उनका सफर आज कामयाबी के कई आयाम गढ़ चुका है. उन्होंने एक्टिंग तो नहीं लेकिन निर्देशन और प्रोडक्शन लाइन में अपने करियर को बुलंदियों तक पहुंचाया है। हालांकि उन्होंने फिल्म बॉम्बे वेलवेट से एक्टिंग में हाथ आजमाने की कोशिश जरूर की लेकिन वे इसमें जम नहीं पाए. वे आज भी कई फिल्मों में गेस्ट अपीयसरेंस देते रहते हैं।  (आजतक)

 


25-May-2020

दुनिया भर में ईद मनाया गया। सेलिब्रिटी शेफ विकास खन्ना ने इसे और भी खास बना दिया है। सोशल मीडिया से निकलकर विकास ने करीब 2 लाख लोगों के लिए खाने का इंतजाम कर उनका ईद खास बना दिया। इस वक्त शेफ विकास खन्ना अपने इसी शानदार काम को लेकर खबरों में छाए हैं और हर तरफ लोग उनकी ही तारीफ कर रहे हैं। कई ऐसे सितारे हैं जो लॉकडाउन के दौरान अपने-अपने घरों सा बाहर निकलकर भूखे और गरीबों की मदद के लिए सामने आए और उनके लिए मदद का हाथ का बराकरार देश भर के लोगों को अपना फैन बना लिया। उनमें से एक नाम विकास खन्ना का भी है। हालांकि, इस वक्त विकास अमेरिका में हैं, लेकिन कहते हैं न कि जहां चाह है वहां राह है तो इस मामले में भी कुछ ऐसा ही हुआ है। विकास भले यहां से मीलों दूर हों, लेकिन ईद के स्पेशल मौके पर उन्होंने देश के जरूरतमंदों के लिए राशन और जरूरी चीजें बांटकर इस दिन को उनके लिए बेहद खास बना दिया है।

विकास ने ट्वीट में बताया है कि यह दुनिया का सबसे बड़ा ईद फेस्ट, जहां मुंबई में 2 लाख लोगों को खाना बांटा गया।' रिपोर्ट्स की मानें तो विकास ने इसके अलावा 75 शहरों में 4 मिलियन ड्राई राशन बांटे हैं और लोग उनके इस काम की तारीफें करते थक नहीं रहे। इन राशन में 1 लाख किलो ड्राई राशन, फ्रेश और ड्राई फल, मसाले, किचन के सामान, चाय, मीठा, जूस आदि शामिल थे।

पीटीआई से बातचीत में उन्होंने बताया था कि ये सामान मुंबई के हाजी अली दरगाह से उठाकर मोहम्मद असली रोड, धारावी, माहिम दरगाह के इलाके में बांटे जाएंगे। इस ऐक्टिविटी में करीब 200 वॉलंटियर्स शामिल हुए और उन्होंने सोशल डिस्टेंसिंग के गाइडलाइन को फॉलो करते हुए इस काम का अंजाम दिया है।  (नवभारत टाईम्स)


25-May-2020

बेशक देश में लॉकडाउन चल रहा है, लेकिन सलमान खान अपने फैन्स को एक के बाद एक सरप्राइज देते जा रहे हैं। पहले लॉडाउन के दौरान वह अपने फार्म हाउस पर फंसे थे, जहां उन्होंने दो सॉन्ग रिलीज कर दिए और अपने फैन्स को अपना सिंगिंग टैलेंट दिखाया। लॉकडाउन में ही उनकी तैयारी अपने ग्रूमिंग प्रोडक्ट्स लाने की थी, जिसके तहत वह पहले डियोड्रेंट लॉन्च करना चाहते थे। लेकिन कोरोना वायरस की वजह से मौजूदा हालात को देखते हुए सलमान खान हैंड सेनेटाइजर लॉन्च किए हैं।

सलमान खान ने अपने सोशल मीडिया एकाउंट पर इसका ऐलान करते हुए लिखा है, मैं अपना नया ग्रूमिंग और पर्सनल केयर ब्रांड स्नक्रस्॥ लॉन्च कर रहा हूं। यह है आपका, मेरा, हम सबका ब्रांड जो लाएगा आप तक बेहतरीन प्रोडक्ट्स। सेनेटाइजर्स आ चुके हैं, जो मिलेंगे आपको यहां।...तो ट्राई करो। इस तरह सलमान खान ने माहौल को समझते हुए, ऐन मौके पर ऐसा प्रोडक्ट लॉन्च किया है जिसकी बाजार में काफी डिमांड है, और आने वाले समय में भी इसका काफी महत्व रहने वाला है।

बता दें कि सलमान खान  की फिल्म राधे ईद पर रिलीज होनी थी, और इसकी टक्कर अक्षय कुमार की फिल्म लक्ष्मी बम से थी। लेकिन कोरोना वायरस की वजह से चल रहे लॉकडाउन ने सब चौपट कर दिया। फिल्में अभी रिलीज नहीं हो रही हैं, और इसलिए सारी फिल्मों की रिलीज फिलहाल के लिए टल गई है। (एनडीटीवी


24-May-2020

संजय दत्त लॉकडाउन की वजह से अपने परिवार से दूर हैं। संजय की पत्नी मान्यता दत्त अपने दोनों बच्चों के साथ दुबई में फंसी हैं और संजय मुंबई में अकेले रह रहे हैं। संजय से दूर होने पर मान्यता ने कहा, लॉकडाउन में अगर हम साथ होते तो चीजें ज्यादा आसान होती।

संजय से दूर होने पर मान्यता ने कहा, मैं चाहती थी कि काश मेरा पूरा परिवार लॉकडाउन में साथ होता। हम 2 अलग-अलग देशों में ना होते तो चीजें ज्यादा आसान होती हमारे लिए। संजू अपने बच्चों के साथ बहुत ही शानदार समय बिता पाते। मान्यता ने आगे कहा, मुझे इस बात का दुख है कि मैं घर नहीं हूं। ये एकदम अचानक हुआ। मुझे थोड़ा बुरा लग रहा है, लेकिन क्या करें हम कुछ नहीं कर सकते।

संजय ने कुछ दिनों पहले आध्यात्मिक गुरु श्री श्री रविशंकर के साथ बात की। संजय ने उनसे बात करते हुए बताया कि जब वह जेल में थे तब भगवान शिव की पूजा करते थे। संजय ने कहा था, मुझे लगता था कि शायद कोई चमत्कार हो जाएगा, लेकिन ऐसा कभी नहीं हुआ। मैं तभी जेल से बाहर आया जब मुझे आना था।

रविशंकर ने संजय को जवाब देते हुए कहा था कि प्रार्थना और प्रयत्न दोनों अलग चीज हैं। दोनों का साथ में चलना जरूरी है। उन्होंने कहा था, प्रार्थना लोग तब करते हैं जब उन्हें लगता है कि उनके पास कोई रास्ता नहीं है। अगर प्रार्थना और प्रयत्न दोनों साथ चले तो हमें उसका फल जरूर मिलता है।

संजय ने यह भी बताया कि वह अपने माता-पिता को बहुत याद करते हैं। संजय ने रविशंकर को बताया कि हाल ही में उनकी मां नरगिस दत्त की 39वीं डेथ एनिवर्सरी थी और वह अपनी मां को बहुत याद करते हैं। (न्यूज18)


24-May-2020

एक्टर किरण कुमार को कोरोना वायरस पॉजिटिव पाया गया है. 74 वर्षीय किरण ने हाल ही में अपना मेडिकल टेस्ट करवाया था, जिसमें उनकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई। रिपोर्ट आने के बाद फिलहाल उन्हें होम क्वारनटीन में रखा गया है।

पीटीआई को दिए बयान में एक्टर ने कहा- मैं ठीक था और मुझमें कोई लक्षण भी नहीं थे।  14 मई को मेडिकल चेकअप के लिए हॉस्पिटल गया था।  जहां कोरोना टेस्ट जरूरी था। तो मैंने भी खुद का टेस्ट करवाया और रिजल्ट पॉजिटिव आया।  लेकिन मुझमें ना उस वक्त कोरोना के कोई लक्षण थे और ना अब हैं। ना बुखार है, ना जुकाम। मैं ठीक हूं और खुद को होम क्वारनटीन कर लिया है।

मेडिकल टेस्ट 10 दिन पहले हुआ था और अब तक कोई लक्षण नजर नहीं आए हैं। मेरा परिवार सेकेंड फ्लोर में रहता है और इस वक्त मैं तीसरे माले पर रह रहा हूं।  26 या 27 मई को मेरा दूसरा टेस्ट होगा। वैसे अभी तो मैं बिल्कुल स्वस्थ हूं। (आजतक)।


24-May-2020

बॉलीवुड अभिनेता नवाज़ुद्दीन सिद्दीकी को उनकी पत्नी बेनकाब करने के लिए ट्विटर के ज्वाइन कर ली हैं।  आलिया सिद्दीकी का कहना है कि नवाज उनका सार्वजिनक मंच पर भी कई बार अपमान कर चुके हैं।  एक बार तो वह मनोज वाजपेयी के सामने भी उनका अपमान किए हैं। आलिया ने नवाज को एक गैर जिम्मेदार पिता होने के साथ ही एबसेंट फादर का भी टैग दिया है। उनका आरोप है कि नवाज उनके साथ कभी सहयोगात्मक रवैया नहीं अपनाते थे।  बार-बार उनका अपमान ही किया करते थे।

उन्होंने बताया कि नवाजुद्दीन ने उसे अपने मेहमानों के सामने चुप रहने के लिए कहा।  एक बार मनोज वाजपेयी उनके घर आए थे और  उस समय उनके सामने ही नवाज ने उनका अपमान किया।  मैं नवाज के लिए खाना बना रही थी और बातचीत करने की कोशिश कर रही थी।  इसी बीच नवाज ने मुझे कहा कि तुमको बात करना नहीं आता, तुम लोगों के सामने बात मत किया करो।

आलिया ने बताया कि, यहां तक कि जब वह प्रेस से मिलने जा रहे होते थे और संयोग से मैं भी वहां आ जाती थी तो वह मुझे इग्नोर करते थे. मुझे वह सम्मान कभी नहीं मिला, जो एक पत्नी को मिलना चाहिए था. न किसी के सामने और न ही व्यक्तिगत रूप से. रिक्शेवाले से लेकर सुपरस्टार तक हर कोई अपनी पत्नी का सम्मान करता है। आलिया ने कहा कि, मैं सालों से ये सब भुगत रही हूं. एक व्यक्ति का इतना अपमान नहीं किया जाना चाहिए कि वह व्यक्ति घुटन महसूस करने लगे। (जी न्यूज)


23-May-2020

रामानंद सागर की रामायण के दोबारा प्रसारण ने टीवी टीआरपी के सारे रिकॉर्ड तोड़ दिए हैं।  रामायण का पहली बार प्रसारण 1987 में हुआ था।  इसमें अरुण गोवि, सुनिल लाहिरी और दीपिका चिखलिया लीड रोल में थे।  एक इंटरव्यू के दौरान दीपिका और सुनील दोनों से पूछा गया कि क्या उन्हें कभी सीता की अग्निपरीक्षा, या धोबी की कहानी से संबंधित सवालों का सामना करना पड़ा है, जो वर्षों से बहस का विषय बना हुआ है।

रामायण में सीता का किरदार निभाने वाली दीपिका चिखलिया ने कहा,प्रत्येक मदर्स डे, वुमेन्स डे पर लोग अवला नारी की बात करते हैं, मैंने कभी सीता के बारे में नहीं सुना।  उसमें (रामायण) ये मौलिक अंधकार था और जब लोग सुनने के लिए तैयार नहीं होते हैं, तो यह समझाना मुश्किल हो जाता है।  लेकिन जब वह इसे दोबारा देख रहे हैं, तब अधिकांश लोगों को महसूस हो रहा है कि उन्होंने रामायण और धोबी की इन कहानियों को गलत समझा था।  अब लोग वास्तविकता को जान रहे हैं।  और हां इन वर्षों में अपने आप को समझाती रहीं हैं।  अब, मैं महसूस करती हूं कि मेरा जीवन बहुत सरल हो गया क्योंकि लोग जानते हैं क्या हुआ था और क्यों।

रामायण में लक्ष्मण का किरदार निभाने वाले सुनील लाहिरी ने कहा, मेरी सागर साहब से अग्निपरीक्षा वाले सीन को लेकर थोड़ी चर्चा भी हुई थी।  मैं सागर सर के पास गया और कहा कि इस सीन को क्यों किया जा रहा है? राम भगवान है और उन्हें पता है कि सीता पवित्र है, तो यह अग्निपरीक्षा क्यों? मैंने उनसे पूछा कि क्या इससे समाज में गलत संदेश नहीं जाएगा? उन्होंने इसका जवाब दिया, जो भी आपने स्क्रीन पर देखा।  इसमें थोड़ा सुधार करूंगा कि इस सीन के लिए इस सीन के लिए राम पर लक्ष्मण को गुस्सा आया था।

इसके बाद दीपिका ने कहा कि सागर साहब के खिलाफ बहुत सारे केस चल रहे थे।  उन्होंने कहा, दरअसल, धोबी की कहानी मूल रामायण का हिस्सा नहीं थी।  यह एक लोक कहानी थी।  कई सालों से, यह एक कहानी में बदल गई।  पापाजी(रामानंद सागर) के खिलाफ कई केस थे।  जब हम उत्तर रामायण शूट कर रहे थे, वह वहां नहीं होते थे क्योंकि कोर्ट और शूट के बीच उनका आना-जाना लगा रहता था।  लोगों के बीच बहुत रोष था, ऐसे विद्वान थे जिन्होंने इस संस्करण को स्वीकार नहीं किया। (एबीपी न्यूज)


23-May-2020

बॉलीवुड की दिग्गज अभिनेत्री मुमताज ने अपनी मौत को लेकर चारों ओर फैली अफवाहों को लेकर एक वीडियो संदेश में सफाई दी है, उन्होंने कहा है कि वह अभी भली-चंगी हैं।  मुमताज ने कहा, दोस्तों, मैं आप सभी से बहुत प्यार करती हूं।  देखिए, मैं मरी नहीं हूं।  मैं जिंदा हूं।  लोग जितना कह रहे हैं, मैं उतनी बूढ़ी नहीं हूं।  आपकी दुआओं की वजह से मैं अभी भी अच्छी-खासी दिखती हूं।  मुमताज की बेटी तान्या माधवनी ने अपने इंस्टाग्राम अकाउंट पर इस वीडियो को साझा किया।  झूठी खबरें न फैलाने का आग्रह करते हुए तान्या ने लिखा, 'मेरी मां की तरफ से उनके प्रशंसकों के लिए संदेश! उनके निधन की एक और खबर इस वक्त चर्चा में है, वह स्वस्थ हैं और अपनी जिंदगी को अच्छे से जी रही हैं।  उनकी जिन तस्वीरों को इंटरनेट पर फैलाकर उन्हें बूढ़ी बताया जा रहा है, वह कई साल पहले की है, जब वह कैंसर से जूझ रही थीं। उन्होंने आगे कहा, 'वह अभी स्वस्थ हैं, खुश हैं और खूबसूरत भी हैं।  उन्हें अब इन सबसे राहत दें।  वह 73 साल की हैं। ' मुमताज फिलहाल लंदन में अपने परिवार संग समय बिता रही हैं।  (आईएएनएस)

 

 


22-May-2020

फिल्म निर्माता बोनी कपूर के लोखंडवाला स्थित ग्रीन एकर्स वाले घर में एक हाउस हेल्पर कोरोना पॉजिटिव पाया गया था। इसके बाद बोनी कपूर, उनकी दोनों बेटियां जान्हवी कपूर और खुशी कपूर सहित घर में रहने वाले दूसरे लोगों का भी कोरोना टेस्ट हुआ जिनमें दो और लोग संक्रमित पाए गए। जबकि बाकी अन्य सदस्य पूरी तरह सुरक्षित हैं।

जानकारी के मुताबिक, बोनी कपूर के घर में काम करने वाले 23 वर्षीय चरण साहू नाम के सहायक की तबीयत शनिवार से ही खराब चल रही थी। टेस्ट कराने पर उसकी रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आई। इसके बाद उन्हें आइसोलेशन में रखा गया। इस बारे में तुरंत सोसाइटी को सूचना दी गई जिन्होंने इसकी जानकारी स्थानीय प्रशासन और राज्य सरकार को दी।

चरण साहू के कोरोना संक्रमित पाए जाने के बाद बोनी कपूर, जान्हवी कपूर और खुशी कपूर सहित घर के सभी लोगों ने खुद को क्वारंटीन कर लिया था, जिसके बाद सभी का टेस्ट कराए जाने का फैसला लिया गया। रिपोर्ट आने पर पता चला कि घर के दो और सहायकों को भी कोरोना है।

इस बारे में बात करने पर बोनी कपूर ने बताया था कि वह अपने बच्चों और दूसरे स्टाफ के साथ घर पर स्वस्थ व सकुशल हैं। जब से लॉकडाउन शुरू हुआ, वे कहीं बाहर भी नहीं निकले हैं। बोनी कपूर ने आगे कहा कि हमें उम्मीद है कि हमारा स्टाफ का ये शख्स भी जल्द ही स्वस्थ हो जाएगा। कोरोना पॉजिटिव के संपर्क में आने के चलते हम लोगों को जो भी आवश्यक कदम स्थानीय प्रशासन ने सुझाए हैं, हम उन पर अमल कर रहे हैं।

जान्हवी कपूर और खुशी कपूर को लेकर बोनी कपूर ने कहा, 'बच्चे मेरे साथ ही हैं और वो सभी ठीक हैं। मेरे स्टाफ के अन्य सदस्य भी एकदम ठीक हैं। तत्काल रिस्पॉन्स के लिए हम महाराष्ट्र सरकार और बीएमसी के शुक्रगुजार हैं। हम बहुत संजीदगी से बीएमसी और मेडिकल टीम द्वारा दिए जा रहे निर्देशों का पालन कर रहे हैं। (अमर उजाला)


22-May-2020

बीआर चोपड़ा की महाभारत के बाद साल 2013 में आए सिद्धार्थ कुमार तिवारी के शो ने लोगों का दिल जीता था। लॉकडाउन में इस महाभारत को स्टार प्लस पर टेलीकास्ट किया जा रहा है। कौरवों, पांडवों और द्रौपदी के अलावा शो के एक और कलाकार ने खूब सुर्खियां बटोरीं। यहां बात हो रही है शकुनि मामा की।

दुर्योधन के मामा शकुनि का ये आइकॉनिक रोल टीवी एक्टर प्रणीत भट्ट ने किया था। उन्होंने इस किरदार को  उम्दा तरीके से निभाया। नेगेटिव रोल में प्रणीत ने एक मंझे हुए कलाकार की तरह काम किया।

लेकिन क्या आप जानते हैं प्रणीत इंजीनियरिंग की पढ़ाई कर चुके हैं। उन्होंने सॉफ्टवेयर कंपनी विप्रो में भी काम किया है। लेकिन बाद उन्होंने नौकरी छोड़ एक्टिंग और मॉडलिंग की दुनिया में कदम रखा। प्रणीत 2002 में मुंबई शिफ्ट हुए थे। इसके बाद उन्होंने मॉडलिंग शुरू की। 2004 में उन्होंने टीवी शो कितनी मस्त है जिंदगी से अपने करियर की शुरुआत की। इसके बाद वे काजल, गीत, महाभारत, बिग बॉस 8, रजिया सुल्तान, त्रिदेवियां, पोरस, मेरी हानिकारक बीवी, अलाद्दीन जैसे शोज में दिखे।

प्रणीत ने यूं तो कई टीवी शोज किए, लेकिन उन्हें पहचान शकुनि के रोल ने दिलाई। शकुनि का रोल उनके करियर के लिए गेम चेंजर साबित हुआ। महाभारत से लोकप्रिय होने के बाद प्रणीत बिग बॉस 8 का हिस्सा बने। रील लाइफ में शकुनि का नेगेटिव किरदार निभाकर चर्चा में आए प्रणीत का रियल साइड बिग बॉस में दिखा। वे असल जिंदगी में खलनायक नहीं नायक हैं। उनकी बिग बॉस जर्नी काफी पसंद की गई।  (आजतक)