खेल

Date : 19-Jul-2019

लंदन, 19 जुलाई । क्रिकेट के भगवान कहे जाने वाले मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर को दक्षिण अफ्रीका के पूर्व तेज गेंदबाज एलन डोनाल्ड के साथ अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद के हॉल ऑफ फेम में शामिल किया गया है. 46 साल के सचिन इस प्रतिष्ठित सूची में जगह पाने वाले छठे भारतीय हैं. उनसे पहले 2018 में राहुल द्रविड़ को यह सम्मान मिला था। 

तेंदुलकर ने लंदन में आयोजित समारोह में कहा, 'यह मेरे लिए बहुत बड़ा सम्मान है। सचिन टेस्ट और वनडे दोनों में सबसे ज्यादा रन बनाने का वल्र्ड रिकॉर्ड रखते हैं। सचिन (करियर 1989-2013) ने 200 टेस्ट मैचों में 53.78 की औसत से 15921 रन बनाए, जिसमें उनके 51 शतक शामिल हैं. साथ ही सचिन ने 463 वनडे इंटरनेशनल में 44.83 की औसत से 18426 रन बनाए, जिसमें उनके 49 शतक शामिल हैं। इस तरह वह 100 अंतरराष्ट्रीय शतक जमाने वाले एकमात्र बल्लेबाज हैं। 
2015 में अनिल कुंबले को यह सम्मान मिला था। बिशन सिंह बेदी और सुनील गावस्कर को 2009 में शुरुआती आइसीसी क्रिकेट हॉल ऑफ फेम में शामिल किया गया था. कपिल देव को 2010 में इस सम्मान से नवाजा गया।
सचिन और डोनाल्ड के अलावा दो बार की विश्व कप विजेता ऑस्ट्रेलियाई महिला क्रिकेटर कैथरीन फिट्जपैट्रिक को भी हॉल ऑफ फेम में शामिल किया गया है। इसके साथ ही हॉल ऑफ फेम से शामिल होने वाले खिलाडिय़ों की कुल संख्या 90 हो गई। क्रिकेट इतिहास के बेहतरीन तेज गेंदबाजों में शामिल 52 वर्षीय डोनाल्ड (करियर 1991-2003) ने अपने करियर के दौरान 330 टेस्ट विकेट के अलावा वनडे इंटरनेशनल में 272 विकेट झटके। 
51 साल की पूर्व महिला क्रिकेटर फिट्जपैट्रिक (करियर 1991-2007) ने अपने करियर के दौरान वनडे में 180 और टेस्ट में 60 विकेट हासिल किए। एक कोच के रूप में उन्होंने तीन विश्व कप खिताबों के लिए ऑस्ट्रेलियाई महिला टीम का मार्गदर्शन किया।(आजतक)