खेल

Date : 18-Sep-2019

छत्तीसगढ़ संवाददाता

कोण्डागांव, 18 सितंबर। आईटीबीपी के उप महानिरीक्षक सामरिक क्षेत्रीय मुख्यालय (भुवनेश्वर) कोण्डागाव और आईटीबीपी 41वीं वाहिनी सेनानी के दिशा-निर्देशन में कोण्डागांव के स्थानीय बालक और बालिकाओं को विभिन्न खेलों जैसे जूड़ों, तीरदांजी, हॉकी, कराते आदि का प्रशिक्षण दिया जा रहा है।

इसी कड़ी में छत्तीसगढ़ के कुम्हारी सामुदायिक मंगल भवन में 13 से 15 सितंबर तक राज्य स्तरीय जूडो जूनियर व कैडेट वर्ग प्रतियोगिता का आयोजन किया गया था। इसमें कोण्डागांव के टीम ने शानदार प्रदर्शन करते हुए 5 गोल्ड, 3 सिल्वर और 3 कांस्य पदक हासिल कर जिले का नाम रोशन किया। उनकी इस उपलब्धि पर, आईटीबीपी 41वीं वाहिनी सेनानी राणा युद्धवीर सिंह ने प्रशिक्षक सहित सभी पदक विजेता प्रतिभगियों की प्रसंशा की साथ ही भविष्य के लिए शुभकामनाएं दी।


Date : 18-Sep-2019

छत्तीसगढ़ संवाददाता

राजनांदगांव, 18 सितंबर। सीबीएसई ईस्ट जोन तीरंदाजी प्रतियोगिता में छत्तीसगढ़ की टीम ने शानदार प्रदर्शन करते सबसे ज्यादा मेडल जीतने में सफलता हासिल की। इस चैम्पियनशिप में असम की टीम को ओवर ऑल चैम्पियनशिप का खिताब दिया गया। तीरंदाजी प्रतियोगिता में गुवाहाटी रीजन और भुवनेश्वर रीजन के अंतर्गत पं. बंगाल, उड़ीसा, असम, मणिपुर, छत्तीसगढ़ की टीम ने हिस्सा लिया। जिसमें अंडर 14, 17 एवं 19 बालक एवं बालिका टीम ने हिस्सा लिया।

उक्त स्पर्धा में दिल्ली पब्लिक स्कूल राजनांदगांव की टीम ने इंटरनेशनल कोच हीरू साहू की अगुवाई में भाग लिया। जिसमें इंडिया बुक ऑफ  वल्र्ड रिकार्ड में नाम दर्ज इंटरनेशनल रिकर्व तीरंदाजी खिलाड़ी योगेन्द्र निर्मलकर 9वीं ने गोल्ड मेडल, रोहन आंगनपल्ली 8वीं ने गोल्ड, समद्धि तिवारी 5वीं गोल्ड एवं 2 सिल्वर, पूजा नागवंशी 11वीं सिल्वर एवं ब्रांज, ओमिशा वर्मा 11वीं गोल्ड एवं सिल्वर, निकिता सिंह 11वीं गोल्ड एवं सिल्वर मेडल प्राप्त किया। स्पर्धा में सिलेक्ट होने वाले खिलाड़ी आगामी नवंबर माह में होने वाले सीबीएसई नेशनल गेम में भाग लेने पंजाब जाएंगे। प्राचार्य सीएचएच इन्ना रेड्डी, खेल अधिकारी अश्वनी राय, मोहन राव सहित स्टाफ ने बधाई दी है।

रजक महासंघ ने किया स्वागत

राष्ट्रीय रजक महासंघ के राष्ट्रीय सहसचिव कोमल रजक के नेतृत्व में संभागीय महासचिव संतोष रजक अधिवक्ता, प्रवक्ता हेमंत निर्मलकर, सहसचिव पवन निर्मलकर, अभा क्रीड़ा अकादमी संभागीय संयोजक देवा निर्मलकर ने तीरंदाजी टीम का स्थानीय रेलवे स्टेशन में भव्य स्वागत किया गया।


Date : 18-Sep-2019

छत्तीसगढ़ संवाददाता

दल्लीराजहरा, 18 सितंबर। राजहरा माइंस एथलेटिक्स क्लब के पांच बालिका एथलीटों ने अलवर राजस्थान मेें संपन्न 31वीं वेस्ट जोन जूनियर नेशनल एथलेटिक्स प्रतियोगिता मेंं एएफआई छत्तीसगढ़ राज्य के लिए कुल 7 मैडल जीतकर लौहनगरी एवं प्रदेश को गौरवान्वित किया है। 

इस प्रतियोगिता के अंतर्गत बालिका 18 वर्ग से कम समूह मेंं राजहरा माइंस एथलेटिक्स क्लब की दामिनी सिंह ने 400 मीटर हर्डल रेस मेंं सिल्वर मैडल तथा 1000 मीटर मिडले रिलेरेस मेंं ब्रांज मैडल अर्जित किया। मिडले रिलेरेस में दामिनी के सहयोगी रहे निधि यादव, तेजेश्वरी साहू व लोकेश्वरी यादव ने भी ब्रांज मैडल अर्जित किया। वहीं बालिका 20 वर्ष आयु वर्ग समूह मेंं प्रियंका निषाद ने 1500 मीटर दौड़ एवं 5000 मीटर दौड़ मेंं दो ब्रांज मैडल अर्जित किया। इन खिलाडिय़ों ने राजहरा माइंस एथलेटिक्स क्लब के एनआईएस कोच सुदर्शन कुमार सिंह के कुशल मार्गदर्शन में पदक जीतने में सफलता पायी है।

  एनआईएस गोल्ड मेडलिस्ट कोच सुदर्शन कुमार सिंह ने बताया कि प्रथम बार वर्ष 1993 मेें उक्त वेस्ट जोन प्रतियोगिता में मध्यप्रदेश राज्य का प्रतिनिधित्व किया गया था,उस समय छत्तीसगढ़ राज्य का गठन नहीं हुआ था। तब से लेकर वर्तमान मेंं 2019 तक 27 वर्षों मेंं उनके द्वारा प्रशिक्षित राजहरा माइंस एथलेटिक्स क्लब के एथलीटों ने विभिन्न प्रतियोगिताओं में मध्यप्रदेश एवं छत्तीसगढ़ राज्य के लिए कुल 125 मैडल अर्जित किया है जिसमें 23 गोल्ड,51 सिल्वर एवं 51 ब्रांज मैडल शामिल हैं। उनकी इस उपलब्धि पर राजहरा माइंस महाप्रबंधक तपन सूत्रधार,खदान अधिकारी प्रवीण मराठे व एमपी सुधीर सहित खिलाडिय़ों के माता पिता ने हर्ष व्यक्त कर उनके उज्ज्वल भविष्य की कामना की है।

उपरोक्त जानकारी देते हुए एनआईएस कोच सुदर्शन कुमार सिंह ने यह भी बताया कि एथलेटिक्स फेडरेशन ऑफ इण्डिया द्वारा छत्तीसगढ़ राज्य एथलेटिक्स के इस सत्र 2019-20 मेंं हुए प्रतियोगिताओंं मेेंं प्रवेश देने से मना होने के कारण राज्य के एथलीटों को बहुत बड़ा नुकसान का सामना करना पड़ रहा है। ऑन लाईन इंट्री में जानकारी के अभाव,कुछ नासमझी और छत्तीसगढ़ राज्य एथलेटिक्स संघ के कुछ पदाधिकारी द्वारा राज्य के एथलीटों को गुमराह करने के कारण नाममात्र के 8 बच्चे ही उक्त प्रतियोगिता में भाग ले पाये। छत्तीसगढ़ राज्य के एथलीट संस्थाएं,खिलाड़ी व प्रशिक्षकों की नजर राज्य एथलेटिक्स फेडरेशन से अधिक अपने एथलीट तैयारी मेंं रहती है जिससे भारी नुकसान हुआ है।


Date : 17-Sep-2019

नई दिल्ली, 17 सितंबर । श्रीलंका के कुछ सीनियर क्रिकेटर्स द्वारा पाकिस्तान दौरे पर से जाने से इनकार करना पूर्व क्रिकेटर जावेद मियांदाद को रास नहीं आया है। पाकिस्तान के इस पूर्व कप्तान ने श्रीलंका क्रिकेट बोर्ड को सलाह दी है कि वह अपने उन खिलाडिय़ों पर कुछ जुर्माना लगा दे, जिन्होंने पाकिस्तान टूर करने से इनकार किया है। इसके साथ ही उन्होंने पाक टीम के खिलाडिय़ों को सलाह दी है कि कुछ श्रीलंकाई क्रिकेटर्स के यहां नहीं आने से पाक खिलाडिय़ों पर इसका प्रभाव नहीं पडऩा चाहिए। 
श्रीलंकाई खिलाडिय़ों पर भडक़े मियांदाद ने पाकिस्तानी क्रिकेटर्स को सलाह दी कि वह अपनी आगामी सीरीज पर पूरी तरह फोकस करें और सीरीज में पूरा दमखम दिखाएं। पाक खिलाडिय़ों को इस सीरीज के लिए अपनी तैयारियों में कोई कसर नहीं छोडऩी चाहिए। खिलाडिय़ों के लिए यह मुद्दा नहीं होना चाहिए श्रीलंका का कौन सा खिलाड़ी इस दौरे पर नहीं आ रहा है। उन्हें बस अपनी बेस्ट परफॉरमेंस पर ध्यान देना चाहिए। 
पाकिस्तान के प्रमुख अखबार डॉन ने मियांदाद के हवाले से लिखा, खिलाडिय़ों के लिए इंटरनैशनल मैच पहली प्राथमिकता होने चाहिए और श्रीलंका क्रिकेट बोर्ड को उन खिलाडिय़ों पर जुर्माना लगाना चाहिए, जिन्होंने पाकिस्तान दौरे पर जाने से मना कर दिया है। 
श्रीलंका के टी20 इंटरनैशनल कैप्टन लसिथ मलिंगा, एंजेलो मैथ्यूज और दिमुथ करुणारत्ने के नाम उन 10 खिलाडिय़ों में शामिल है, जिन्होंने पाकिस्तान दौरे से खुद को बाहर कर लिया। श्रीलंका की टीम को पाकिस्तान में 27 सितंबर से 9 अक्टूबर के बीच तीन वनडे और तीन टी20 मैच खेलने हैं। 
ये हैं बॉयकॉट करने वाले खिलाड़ी 
इन 10 खिलाडिय़ों में लसिथ मिलंगा, एंजेलो मैथ्यूज के अलावा, निरोशान डिकवेला, कुसल परेरा, धनंजय डिसिल्वा, तिसारा परेरा, अकीला धनंजय, सुरंगा लकमल, दिनेश चंडीमल और दिमुथ करुणारत्ने शामिल हैं। (नवभारत टाईम्स)