खेल

Posted Date : 15-Apr-2018

  • भोपाल, 15 अप्रैल। जहां एक तरफ पूरा देश कॉमनवेल्थ गेम्स में 26 गोल्ड मेडल मिलने पर गर्व महसूस कर रहा है। लेकिन खिलाडिय़ों को यहां तक पहुंचने में कितना संघर्ष करना पड़ता है हमारे देश में ये हकीकत भी किसी से छिपी नहीं है। हम अपने खिलाडिय़ों से हर प्रतियोगिता में सोने की उम्मीद तो करते हैं लेकिन सुविधाएं देने के नाम पर सरकारी तिजोरी खुलती नहीं है। ऐसी ही एक तस्वीर मध्यप्रदेश के दमोह से आई है, जहां राज्य की हॉकी टीम में चयन के लिए ट्रायल देने आई खिलाडिय़ों को 5 रुपये की थाली से पेट भरना पड़ा।  मध्यप्रदेश के दमोह के जेपीबी गल्र्स स्कूल के मैदान में 42 बच्चियां हॉकी के लिए ट्रॉयल देने आई थीं। इनमें से 18 राष्ट्रीय खेलों में मध्यप्रदेश की हॉकी टीम की नुमाइंदगी करेंगी।
    इन खिलाडिय़ों के रहने के लिये गल्र्स स्कूल के हॉस्टल में इंतजाम किया गया था लेकिन खाने के लिये इनके कोच को गरीबी रेखा से नीचे रहने वाले लोगों के लिये दीनदयाल रसोई से 5 रुपये वाली थाली की पर्ची कटवाने पड़ी। 
    कांग्रेस प्रवक्ता दीप्ति सिंह ने सीएम शिवराज पर निशाना साधते हुए कहा कि मुख्यमंत्री निवास में 3000 रूपये की थाली उपलब्ध है और जो बेटियां नाम रोशन करेंगी उन्हें 5 रूपये की थाली खिलाई जा रही है।  ये हालात तब हैं जब मध्यप्रदेश की बेटियां हॉकी में राष्ट्रीय स्तर पर 2015, 2016 में मेडल जीत चुकी हैं। (खबर न्यूज)

    ...
  •  


Posted Date : 15-Apr-2018

  • मनीष शर्मा
    गोल्ड कोस्ट, 15 अप्रैल । ऑस्ट्रेलिया में 21वें कॉमनवेल्थ खेलों के आखिरी 10वें दिन भारत ने 66 पदकों के साथ बहुत ही शानदार अंदाज में अपने शानदार अभियान का समापन किया।यह कुल मिलाकर भारत का खेलों के इतिहास में तीसरा सर्वकालिक सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन रहा। करोड़ों हिंदुस्तानी खेलप्रेमियों की नजरें आखिरी दिन इस बात पर लगी थीं कि क्या भारत साल 2014 में ग्लास्गो के प्रदर्शन को पीछे छोड़ पाएगा या नहीं। और भारतीय दल ने इन उम्मीदों पर पूरी तरह खरा उतरते हुए ग्लास्गो के 64 पदकों को पीछे छोड़ते हुए इतिहास रच दिया, लेकिन इसके साथ भारतीयों को थोड़ा यह मलाल जरूर होगा कि वे मैनचेस्टर (साल 2002, 69 पदक) से कुछ ही पीछे रह गए। 
    लेकिन भारतीय दल को यह मलाल जरूर हो सकता कि वे मैनचेस्टर में साल 2002 में सर्वकालिक सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन मतलब 69 पदकों की बराबरी नहीं कर पाएंगे। बहरहाल गोल्ड कोस्ट का यह प्रदर्शन भारत का तीसरा सर्वकालिक सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन बन गया है। भारत के खाते में अभी तक 65 पदक आ चुके हैं। और अब सिर्फ बैडमिंटन डबल्स फाइनल का मुकाबला बचा है। आखिरी दिन रविवार को भारत का प्रदर्शन कुछ ऐसा रहा।
    बैडमिंटन 
    सायना नेहवाल ने हमवतन और रियो ओलंपिक की रजत पदक विजेता पीवी सिंधु को हराकर अंतिम दिन रविवार को महिला एकल वर्ग का स्वर्ण पदक अपने नाम किया। सायना ऐसे में राष्ट्रमंडल खेलों में दो स्वर्ण पदक जीतने वाली पहली भारतीय महिला बैडमिंटन खिलाड़ी बन गई हैं। सिंधु को हार के कारण रजत पदक से संतोष करना पड़ा। लंदन ओलंपिक की कांस्य पदक विजेता सायना ने सिंधु को 56 मिनट तक चले इस मैच में 21-18, 23-21 से मात देकर राष्ट्रमल खेलों का दूसरा स्वर्ण पदक अपने नाम किया।
    वहीं पुरुष वर्ग में वल्र्ड नम्बर-1 भारतीय खिलाड़ी किदांबी श्रीकांत एकल वर्ग के फाइनल में उलटफेर का शिकार होना पड़ा और इस कारण वह स्वर्ण पदक से चूक गए। श्रीकांत को मलेशिया के दिग्गज ली चोंग वेई ने मात देकर राष्ट्रमंडल खेलों का पांचवां स्वर्ण पदक हासिल किया। इस कारण भारतीय खिलाड़ी को रजत पदक से संतोष करना पड़ा। वल्र्ड नम्बर-7 ली ने श्रीकांत को एक घंटे और पांच मिनट तक चले मैच में 19-21, 21-14, 21-14 से मात देकर जीत हासिल की। 
    टेबल टेनिस
    अचंत शरत कमल ने पुरुषों की एकल वर्ग स्पर्धा का कांस्य पदक अपने नाम कर लिया। शरत ने कांस्य पदक के लिए खेले गए इस मैच में इंग्लैंड के सैमुएल वॉकर को मात दी। शरथ ने सैमुएल को 4-1 (11-7, 11-9, 9-11, 11-6, 12-10) से हराकर इस मैच को जीता और आखिरकार कांस्य पदक जीतने में सफल रहे।
    वहीं  मिक्स्ड डबल्स में मनिका बत्रा और साथियान गणाशेखरन ने कांस्य पदक अपने नाम किया। (एनडीटीवी)

    ...
  •  


Posted Date : 14-Apr-2018
  • अभी तक भारत के कुल 59 पदक
    कुश्ती के सभी 12 वर्गों में भारतीयों ने जीते पदक
    आखिरी दिन है क्या पीछे छूट पाएगा मैनचेस्टर?
    नई दिल्ली, 14 अप्रैल :गोल्ड कोस्ट: गोल्ड कोस्ट में चल रहे 21वें कॉमनवेल्थ खेलों के आखिरी और 10वें दिन भारत पर मानो स्वर्ण पदक की बरसात सी ही हो गई. शनिवार को भारत ने कुल मिलाकर आठ स्वर्ण पदकों पर कब्जा किया. स्वर्ण पदक की इस बारिश के बीच एथलेटिक्स की भाला फेंक स्पर्धा में नीरज चोपड़ा ने इतिहास रच दिया. नीरज चोपड़ा खेलों के इतिहास में भाला फेंक में स्वर्ण पदक जीतने वाले पहले भारतीय खिलाड़ी बन गए हैं. एक खास बात यह रही कि भारत ने पूरे खेलों के दौरान कुश्ती के सभी 12 वर्गों में पदक जीते. इसमें 5 स्वर्ण, 3 रजत और 4 कांस्य शामिल रहे. और यह बात भारत की कुश्ती की ताकत दुनिया को बताने के लिए काफी है. 
    बहरहाल खेलों के नौवें दिन के शाम के सेशन में मुक्केबाजी में विकास कृष्ण, महिला टीटी में सिंगल्स में मनिका बत्रा, कुश्ती में सुमित मलिक और विनेश फोगाट ने स्वर्ण पदक दिलाए, तो शनिवार सुबह बॉक्सिंग में स्टार मैरीकॉम और गौरव सोलंकी ने भी सोने पर मुक्का जड़ा. इसके अलावा सुबह के सेशन में शूटिंग में संजीव राजपूत ने भी सोने पर निशाना साधा. 
    इससे अलावा मुक्केबाजी में सतीश कुमार, अमित पंघाल और मनीष कौशिक को अपने-अपने भार वर्ग में रजत पदक मिले, तो ओलंपिक पदक विजेता साक्षी मलिक और सोमवीर भी कांस्य झटकने में कामयाब रही हैं. इसके अलावा बैडमिंटन में महिला डबल्स टीम और टीटी में पुरुष डबल्स टीम को हार के साथ ही रजत से संतोष करना पड़ा, तो इस वर्ग का कांस्य भी भारत को मिला.
    वहीं बैडमिंटन में श्रीकांत किदांबी, सायना नेहवाल और पीवी सिंधू ने महिला वर्ग के सिंगल्स के फाइनल में प्रवेश कर लिया है. इस वर्ग में स्वर्णिम टक्कर अब रविवावर को इन्हीं दोनों  खिलाड़ियों के बीच होगी. इसके अलावा टेबल टेनिस के सिंगल्स के पुरुष वर्ग में भारत स्टार खिलाड़ी अचंत शरत कमल सेमीफाइनल में हार गए. भारत के नौवें दिन का आखिरी पदक मुक्केबाज सतीश कुमार की फाइनल में हार के साथ रजत के रूप में आया. इसी के साथ खेल के नौवें दिन भारत के पदकों की संख्या 59 हो गई है. इसमें 25 स्वर्ण, 16 रजत और 18 कांस्य पदक शामिल हैं.
    मुक्केबाजी
    शाम के सेशन में भारत के विकास कृष्ण ने शनिवार को 75 किलोग्राम वर्ग में स्वर्ण पदक अपने नाम किया. विकास ने फाइनल मुकाबले में कैमरून के दियूदोन विल्फ्रे सेयी को 5-0 से हराया. विकास ने शनिवार को बॉक्सिंग में भारत को तीसरा स्वर्ण दिलाया, इससे पहले सुबह एमसी मैरीकोम और गौरव सोलंकी ने स्वर्ण जीता था. नौवें दिन के आखिरी मुकाबले में सतीश कुमार 91 किग्रा वर्ग में इंग्लैंड के फ्रेजर क्लार्क से 5-0 से हार गए और उन्हें रजत पदक से संतोष करना पड़ा. 
    सुबह के सेशन में मैरी कॉम ने शनिवार को महिला मुक्केबाजी की 45-48 किलोग्राम भारवर्ग के स्पर्धा का स्वर्ण अपने नाम कर लिया है. इस दिग्गज मुक्केबाज ने फाइनल में इंग्लैंड की क्रिस्टिना ओ हारा को 5-0 से मात देकर पहली बार राष्ट्रमंडल खेलों में पदक हासिल किया.
    वहीं, पुरुष वर्ग में गौरव सोलंकी ने शनिवार को मुक्केबाजी में दूसरा स्वर्ण पदक दिलाया है गौरव ने पुरुषों की 52 किलोग्राम भारवर्ग स्पर्धा के फाइनल में उत्तरी आयरलैंड के ब्रेंडन इरवाइन को 4-1 से मात देते हुए सोने का तमगा हासिल किया, तो मनीष कौशिक 60 किग्रा भार वर्ग में हार गए और उन्हें रजत से संतोष करना पड़ा. इस वर्ग में एक और अन्य मुक्केबाज भारत के मुक्केबाज अमित पंघाल 46-49 किलोग्राम भारवर्ग स्पर्धा के फाइनल में हार कर रजत पदक से संतोष करना पड़ा है.अमित को इंग्लैंड के गलाल याफाई को 3-1 से मात देते हुए उनके स्वर्ण के सपने को तोड़ दिया
    कुश्ती
    पुरुष फ्री-स्टाइल के 125 किग्रा वर्ग में सुमित मलिक ने स्वर्ण पदक जीता, तो महिलाओं की 50 किग्रा फ्री-स्टाइल नोर्डिक सिस्टम में विगनेश ने सोने पर कब्जा किया, तो महिलाओं में ही 62 किग्रा फ्री-स्टाइल कुश्ती में साक्षी मलिक ने तीसरे स्थान पर रहते हुए कांस्य पदक जीता. इसके अलावा पुरुष वर्ग में ही सोमवीर ने 86 किग्रा फ्री-स्टाइल वर्ग में कांस्य पदक जीता.
    एथलेटिक्स
    भारत के नीरज चोपड़ा ने इतिहास रच दिया है. उन्होंने भाला फेंक में वह कारनामा कर दिखाया, जो उनसे पहले इन खेलों के इतिहास में कोई और भारतीय नहीं ही कर सका. नीरज चोपड़ा ने अपने चौथे प्रयास में 86.47 मीटर जेवलिन फेंका. और इस दूरी को कोई और खिलाड़ी नहीं ही भेद सका. वहीं, तिहरी कूद में अरपिंदर सिंह कांस्य से चूक गए और वह चौथे स्थान पर रहे. वहीं, भारतीय महिलाएं चार गुणा चारसौ रिले दौड़ में फाइनल में सातवें स्थान पर रहीं. (ndtv)

    ...
  •  


Posted Date : 14-Apr-2018
  • मुंबई ने पहले बैटिंग कर बनाए थे 7 विकेट पर 194 रन
    दिल्‍ली ने लक्ष्‍य आखिरी गेंद पर तीन विकेट खोकर हासिल किया
    जेसन रॉय ने नाबाद 91 रन की जोरदार पारी खेली

    नई दिल्ली, 14 अप्रैल,: जेसन रॉय (नाबाद 91, 53 गेंद, छह चौके व छह छक्‍के) और ऋषभ पंत (47 रन, 25 गेंद, छह चौके और दो छक्‍के) की तूफानी पारियों की बदौलत दिल्‍ली डेयरडेविल्‍स ने आज यहां आईपीएल 2018 के रनों से भरपूर मैच में मुंबई इंडियंस को 7  विकेट से हरा दिया. टूर्नामेंट में दिल्‍ली की यह पहली जीत है जबकि मुंबई को अपने तीनों ही मैच में हार का सामना करना पड़ा है. दिल्‍ली के आमंत्रण पर पहले बैटिंग करते हुए मुंबई ने सूर्यकुमार यादव (53), ईविन लेविस (48) और ईशान किशन (44) की तूफानी पारियों की बदौलत20 ओवर में 7  विकेट पर 194 रन बनाए.जवाब में रॉय और पंत की पारियों की बदौलत दिल्‍ली ने लक्ष्‍य 20 वें आखिरी की आखिरी गेंद पर केवल तीन विकेट खोकर हासिल कर लिया. रॉय के साथ श्रेयस अय्यर 27 रन बनाकर नाबाद रहे. मुंबई के वानखेड़े स्‍टेडियम पर हुए इस मैच में दिल्‍ली के कप्‍तान गौतम गंभीर ने टॉस जीता और मुंबई को पहले बैटिंग के लिए बुलाया था.
    दिल्‍ली की पारी: जेसन रॉय ने बनाया विजयी रन
    जवाब में दिल्‍ली डेयरडेविल्‍स की पारी गौतम गंभीर और जेसन रॉय ने शुरू की. मुंबई के लिए पहला ओवर हार्दिक पंड्या ने फेंका, जिसमें 11 रन बने.इस ओवर में जेसन रॉय और गंभीर ने एक-एक चौका लगाया. स्पिनर अकिला धनंजय की ओर से फेंके गए दूसरे ओवर में रॉय ने छक्‍का और फिर चौका जमा दिया. ओवर में 12 रन बने. तीसरे ओवर में जसप्रीत बुमराह को बॉलिंग के लिए लाया गया.तीसरे ओवर में जसप्रीत बुमराह को बॉलिंग के लिए लाया गया. इस ओवर में महज दो रन बने.मुस्‍तफिजुर की ओर से फेंका गया चौथा ओवर भी किफायती रहा, इसमें 4 रन बने.पारी के 5वें ओवर में हार्दिक को गौतम गंभीर ने चौका और फिर जेसन रॉय ने दो छक्‍के और चौका जमाया. बेहद महंगे रहे  इस ओवर में  21रन बने और स्‍कोर 50 तक पहुंच गया. पारी के छठे ओवर में मुस्‍तफिजुर ने दिल्‍ली के कप्‍तान गौतम गंभीर (15 रन, दो चौके) को रोहित शर्मा से कैच कराकर टीम को पहली सफलता दिलाई.सातवें ओवर में लेग ब्रेक बॉलर मयंक मार्कंडे गेंदबाजी आए. ओवर में पंत के दो चौकों सहित 10 रन बने.नौवें ओवर में दिल्‍ली के बल्‍लेबाजों ने मार्कंडे के खिलाफ आक्रामक तेवर दिखाए. इस ओवर में रॉय ने छक्‍का और फिर पंत ने दो चौके लगाए. ओवर में 17 रन बने. 10वें ओवर में पंत के गुस्‍से का शिकार बनने की बारी धनंजय की थी. इस ओवर में पंत ने दो छक्‍के और एक चौका लगाया. दिल्‍ली का स्‍कोर इस ओवर में 100 रन के पार पहुंच गया. ओवर में 19 रन बने.10 ओवर के बाद स्‍कोर एक विकेट खोकर 104 रन था.
    पारी के 11वें ओवर में जेसन रॉय ने अर्धशतक पूरा किया. उन्‍होंने 27 गेंदों का सामना करते हुए तीन चौके और चार छक्‍के लगाए. रॉय और पंत की जोड़ी मुंबई के लिए मुश्किल बनती नजर आ रही थी.पारी के 12वें ओवर में गेंदबाजी के लिए आए क्रुणाल पंड्या ने पंत (47 रन, 25 गेंद, छह चौके, दो छक्‍के) की पारी का अंत कर दिया. कैच पोलार्ड ने बेहतरीन तरीके से लपका.पंत की जगह ग्‍लेन मैक्‍सवेल बैटिंग के लिए आए. उन्‍होंने 13वें ओवर में मार्कंडे को चौका और छक्‍का जमा दिए. ओवर में 16 रन बने. हालांकि मैक्‍सवेल की पारी लंबी नहीं चली और 14वें ओवर में वे 13 रन बनाकर क्रुणाल की गेंद पर हार्दिक पंड्या के हाथों कैच हो गए.मैक्‍सवेल की जगह श्रेयस अय्यर बैटिंग के लिए आए.अंतिम पांच ओवर में दिल्‍ली को जीत के लिए 47 रन की जरूरत थी. पारी के 16वें ओवर में क्रुणाल पंड्या को जेसन रॉय ने छक्‍का और अय्यर ने चौका लगाया. ओवर में 12 रन बने.आखिरी के दो ओवरों में दिल्‍ली को 16 रन की जरूरत थी और सात विकेट शेष थे. 19वां ओवर बुमराह ने फेंका जिसमें  केवल पांच रन बने. आखिरी ओवर में दिल्‍ली को जीत के लिए 11 रन चाहिए थे.जिसे टीम ने जेसन रॉय की बल्‍लेबाजी की बदौलत आखिरी गेंद पर हासिल कर लिया.
    विकेट पतन: 1-50 (गंभीर, 5.1), 2-119 (पंत, 11.5 ), 3-135 (मैक्‍सवेल, 13.2 ov)
    मुंबई की पारी: सूर्यकुमार और लेविस ने दी तेज शुरुआत
    सूर्यकुमार यादव और ईविन लेविस ने मुंबई इंडियंस की पारी शुरू की. दिल्‍ली के लिए पहला ओवर ट्रेंट बोल्‍ट ने फेंका जिसमें 15 रन बने. इस ओवर में सूर्यकुमार और लेविस ने एक-एक चौका जमाया. लेग बाय के जरिये भी चार रन आए.दूसरा ओवर शाहबाज नदीम ने फेंका, इसकी आखिरी गेंद पर लेविस का कैच स्‍क्‍वेयर लेग पर बोल्‍ट से छूटा. ओवर में 10 रन बने.तीसरे ओवर में सूर्यकुमार ने बोल्‍ट को दो चौके और लेविस ने छक्‍का जमाया. ओवर में 15 रन बने. दोनों बल्‍लेबाजों के आक्रामक रुख के कारण मुंबई का स्‍कोर तेजी से बढ़ रहा था.पारी के चौथे ओवर में लेविस ने नदीम को छक्‍का लगाया. इसके साथ ही मुंबई के 50 रन 3.4 ओवर में पूरे हुए.पांचवें ओवर में गेंदबाजी के लिए आए शमी को सूर्यकुमार यादव ने पहले छक्‍का और फिर दो चौके लगाए. ओवर में 14 रन बने.पांच ओवर के बाद मुंबई इंडियंस का स्‍कोर बिना विकेट खोए 66 रन था.मुंबई के ओपनरों की धमाकेदार बल्‍लेबाजी के आगे दिल्‍ली के बॉलर सहमे नजर आए. छठे ओवर में क्रिस्टियन को लेविस ने तीन चौकों और एक छक्‍के की मदद से 18 रन धुन दिए.सातवें ओवर में लेग स्पिनर राहुल तेवतिया बॉलिंग के लिए आए. उनका ओवर दिल्‍ली के लिहाज से अच्‍छा रहा और इसमें केवल तीन रन बने.मैच में मुंबई के ओपनर दिल्‍ली की मुश्किलें बढ़ाते हा रहे थे. विकेट की तलाश में दिल्‍ली के कप्‍तान गंभीर ने आठवें ओवर में मैक्‍सवेल को बॉलिंग के लिए उतारा. इस ओवर में हालांकि विकेट तो नहीं मिला लेकिन मैक्‍सवेल ने महज 5 रन खर्च किए.पारी के 9वें ओवर में लेविस ने राहुल तेवतिया को छक्‍का जड़ते हुए स्‍कोर 100 रन पहुंचा दिया.मुंबई का पहला विकेट ईविन लेविस (48 रन, 28 गेंद, चार चौके और चार छक्‍के) के रूप में गिरा, जिन्‍हें राहुल तेवतिया ने जेसन रॉय से कैच कराया. पहले विकेट के लिए सूर्यकुमार और लेविस के बीच 102 रन की साझेदारी हुई. अगले ओवर में सूर्यकुमार यादव ने 29 गेंदों पर अर्धशतक पूरा किया जिसमें सात चौके और एक छक्‍का शामिल था. 10 ओवर के बाद मुंबई का स्‍कोर एक विकेट पर 107 रन था.
    11वें ओवर में तेवतिया ने दिल्‍ली को एक और कामयाबी दिलाते हुए सूर्यकुमार (53 रन, 32 गेंद, सात चौके, एक छक्‍का) को एलबीडब्‍ल्‍यू कर दिया.12वां ओवर मैक्‍सवेल ने फेंका, इसमें 11 रन बने.पारी के 13वें ओवर में ईशान किशन ने राहुल तेवतियां को एक चौका और दो छक्‍का लगाए. ओवर में 19 रन बने.मुंबई के 150 रन 15वें ओवर में पूरे हुए.15  ओवर के बाद मुंबई इंडियंस का स्‍कोर दो विकेट खोकर 158 रन था.पारी के 16वें ओवर में मुंबई ने ईशान किशन (44 रन, 23 गेंद, पांच चौके, दो छक्‍के) और कीरोन पोलार्ड (0)के विकेट गंवाए. इन दोनों को क्रिस्टियन ने बोल्‍ड किया.पारी के 18वें ओवर में रोहित शर्मा (18) भी ट्रेंट बोल्‍ट के शिकार बन गए. उनका कैच जेसन रॉय ने पकड़ा.पारी के 19वें ओवर में शमी ने क्रुणाल पंड्या (11)को राहुल तेवतिया से कैच करा दिया. इसके बाद अंतिम ओवर में हादिक पंड्या भी आउट हो गए. अकिला धनंजय और मयंक मार्कंडे 4-4 रन बनाकर नाबाद रहे. दिल्‍ली के ट्रेंट बोल्‍ट, डेनियल क्रिस्टियन और राहुल तेवतिया को तीन-तीन विकेट मिले.
    विकेट पतन:102-1 (लेविस, 8.6), 109-2 (सूर्यकुमार, 10.2), 3-166 (ईशान, 15.4 ov), 4-166 (पोलार्ड, 15.5) ,5-179 (रोहित शर्मा, 17.3),185-6 (क्रुणाल, 18.3), 187-7 (हार्दिक, 19.1)
    मुंबई ने बेन कटिंग की जगह पर अकिला धनंजय और प्रदीप सांगवान की जगह हार्दिक पंड्या को प्‍लेइंग इलेवन में स्‍थान दिया है. दूसरी ओर दिल्‍ली ने कॉलिन मुनरो की जगह जेसन रॉय और क्रिस मॉरिस की जगह डेन क्रिस्टियन को टीम में चुना है.मुंबई इंडियंस की बात करें, तो  कप्तान रोहित का बल्ला अभी तक नहीं चला है.
    दिल्ली का भी मुंबई जैसा ही हाल है. कप्तान गंभीर ने पहले मैच में जरूर अर्धशतक लगाया था, लेकिन अन्य बल्लेबाज नहीं चले हैं. गेंदबाजी में भी दिल्ली का प्रदर्शन अब तक अच्छा नहीं रहा है. दिल्ली को अपनी पहली जीत दर्ज करने के लिए एकजुट होकर खेलना होगा और अमित मिश्रा को अहम भूमिका निभानी होगी. और तभी जाकर दिल्ली उस बड़े चैलेंज को भेद जाएगी, जिस पर मुंबई की भी नजरें गड़ी हैं. और दोनों टीमों के लिए यह बड़ा चैलेंज अपनी पहली जीत दर्ज करना है. 
    मुंबई इंडियंस: रोहित शर्मा (कप्‍तान), ईविन लेविस, ईशान किशन, सूर्यकुमार यादव, हार्दिक पंड्या, क्रुणाल पंड्या, कीरोन पोलार्ड, मयंक मार्कंडे, जसप्रीत बुमराह, मुस्‍तफिजुर रहमान और अकिला धनंजय.
    दिल्‍ली डेयरडेविल्‍स: गौतम गंभीर (कप्‍तान), जेसन रॉय, गौतम गंभीर, श्रेयस अय्यर, ऋषभ पंत, ग्‍लेन मैक्‍सवेल, विजय शंकर, डेनियल क्रिस्टियन, राहुल तेवतिया, शाहबाज नदीम, मोहम्‍मद शमी और ट्रेंट बोल्‍ट. (ndtv)

    ...
  •  


Posted Date : 14-Apr-2018
  • भारत ने लगाया पदकों का अर्धशतक, विनेश फोगाट ने जीता गोल्ड, भारत को मिले 23 गोल्ड

    गोल्ड कोस्ट, 14 अप्रैल। ऑस्ट्रेलिया के गोल्ड कोस्ट में आयोजित 21वें राष्ट्रमंडल खेलों में आज भारत के लिए सुनहरा दिन है। भारत अभी तक 6 गोल्ड मेडल जीत लिए हैं इसके साथ ही साथ भारत को एक ब्रॉन्ज मेडल भी मिला है। पहले मैरी कॉम फिर शूटर संजीव राजपूत के बाद मुक्केबाज गौरव सोलंकी ने स्वर्ण दिलाया तो अब नीरज चोपड़ा ने गोल्ड मेडल जीत लिया है। कॉमनवेल्थ गेम्स में ये भारत का 21वां गोल्ड मेडल रहा। इसके बाद रेसलर साक्षी मलिक ने भारत को ब्रॉन्ज मेडल दिलवाया तो फिर रेसलर सुमित ने भारत को पांचवां गोल्ड दिलवा दिया। इसी के साथ भारत ने कॉमनवेल्थ गेम्स में अपने 50 पदक भी पूरे किए। इसके बाद रेसलर विनेश फोगाट ने फ्री स्टाइल के 50 किलोग्राम इवेंट में गोल्ड मेडल जीता। भारत ने अब तक 23 गोल्ड, 13 सिल्वर और 15 ब्रॉन्ज मेडल जीत लिए हैं।
    भारत के खाते में एक और गोल्ड आ गया है। विनेश ने फ्री स्टाइल के 50 किलोग्राम इवेंट में गोल्ड मेडल जीता है। फाइनल मुकाबले में वीनेश ने कनाडा की रेसलर जेसिका मेकडोनाल्ड को हराया।
    रेसलर सुमित मलिक ने पुरुषों के 125 किलो भारवर्ग फ्री स्टाइल कुश्ती में गोल्ड मेडल जीता। भारतीय पहलवान सुमित ने पाकिस्तान के तायब राजा को फ्री स्टाइल के 125 किलोग्राम इवेंट में हराया। सुमित ने ये मुकाबला 10-4 से जीता।
    मुक्केबाजी स्पर्धा में भारत की मैरी कॉम ने स्वर्ण पदक जीत लिया। पांच बार विश्वविजेता रहीं मैरी कॉम ने फाइनल के 45-48 किलोग्राम भारवर्ग स्पर्धा में इंग्लैंड की क्रिस्टिना ओ हारा को 5-0 से हराया। मैरी कॉम ने सेमीफाइनल में श्रीलंका की अनुशा दिलरुक्सी को 5-0 से मात देकर फाइनल में जगह बनाई थी।
    राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने राष्ट्रमंडल खेलों के मुक्केबाजी स्पर्धा में स्वर्ण पदक जीतने पर भारत की अनुभवी मुक्केबाज व पांच बार की विश्व चैम्पियन एमसी मैरी कॉम को बधाई दी है। राष्ट्रपति ने ट्विटर पर दिए अपने बधाई संदेश में कहा, राष्ट्रमंडल खेलों में महिलाओं के 45-48 किग्रा मुक्केबाजी स्पर्धा में स्वर्ण पदक जीतने के लिए मणिपुर और भारत की आइकन मैरी कॉम को बधाई।
    रेसलर साक्षी मलिक ने महिलाओं की 62 किलो भार वर्ग फ्री स्टाइल कुश्ती में कांस्य पदक अपने नाम किया।साक्षी ने न्यूजीलैंड की टेलर फोर्ड को मात देकर कांस्य पदक अपने नाम किया। साक्षी ने यह मुकाबला अपने मजबूत डिफेंस के दम पर 6-5 से जीता। अंतिम राउंड में टेलर ने साक्षी को पटक दिया था, लेकिन इस दिग्गज पहलवान ने अपने डिफेंस के कारण टेलर को जरूरी अंक नहीं लेने दिए और महज एक अंक के अंतर से कांसे पर कब्जा किया।
    नीरज चोपड़ा ने जैवलिन थ्रो में भारत के नाम एक और गोल्ड मेडल करवा दिया। नीरज ने 86.47 मीटर की दूरी पर भाला फेंक कर ये गोल्ड अपने नाम किर इतिहास रच दिया। नीरज भाला फेंक में भारत के लिए गोल्ड मेडल जीतने वाले पहले भारतीय खिलाड़ी है। नीरज से पहले कोई भी भारतीय खिलाड़ी जैवलिन थ्रो में भारत के लिए गोल्ड नहीं जीत सका था।
    मुक्केबाज गौरव सोलंकी ने उत्तरी आयरलैंड के ब्रेंडन इरवाइन को 4-1 से हराया। उन्होंने पुरुषों की 52 किलोग्राम भारवर्ग स्पर्धा यह सफलता हासिल की है।
    मैच के पहले राउंड में मैरी कॉम ने धीरज से काम लिया और मौके की ताक में रहीं। जब भी मौका मिला उन्होंने पंज जमाए। दूसरे राउंड में भी वे उसी तरह थी लेकिन क्रिस्टिना की ओर से कोशिशें जारी थीं। लेकिन ज्यों ज्यों मुकाबला बढ़ रहा था मैरी कॉम भी आक्रामक होती जा रहीं थीं और क्रिस्टिना पर दवाब बनाया हुआ था। अंतिम राउंड में क्रिस्टिना आक्रामक हो गई थीं लेकिन मैरी कॉम ने अपना पलड़ा भारी रखा और गोल्ड मेडल जीत लिया। 
    भारत के स्टार रायफल शूटर संजीव राजपूत ने गोल्ड 50 मीटर राइफल स्पर्धा में जीत हासिल की वहीं गौरव सोलंकी ने 52 किग्रा स्पर्धा में देश का नाम रोशन किया। 
    4 से 15 अप्रैल तक आयोजित राष्ट्रमंडल खेल में 53 देशों के एथलीट हिस्सा ले रहे हैं जिसमें भारत के 218 खिलाड़ी हैं। पिछले तीन कॉमनवेल्थ गेम्स में भारत 215 मेडल जीत चुका है। साल 2006 में 50, 2010 में 101 और 2014 में 64 मेडल भारत की झोली में आए थे। (एजेंसी)

     

    ...
  •  


Posted Date : 14-Apr-2018
  • नई दिल्ली, 14 अप्रैल। करीब 6 महीने बाद इंटरनेशनल क्रिकेट में वापसी करने वाले भारतीय क्रिकेट टीम के तेंदबाज उमेश यादव ने आईपीएल 2018 में आते ही एक के बाद एक रिकॉर्ड बनाने शुरू कर दिए हैं। अपने पहले मैच में दो विकेट हासिल करने वाले यादव ने अपने दूसरे ही मैच में एक ओवर में चौंकाते हुए पंजाब के खिलाफ तीन विकेट हासिल कर लिए। आरसीबी की तरफ से खेल रहे उमेश यादव आईपीएल में सात बार मैन ऑफ द मैच पुरस्कार से नवाजे जा चुके हैं। इससे पहले यह रिकॉर्ड आशीष नेहरा के नाम था, जिन्हें छह बार मैन ऑफ दा मैच पुरस्कार से नवाजाय गया था। उमेश यादव पॉवर प्ले के दौरान चार विकेट हासिल कर चुके हैं। साल 2015 के बाद से अबतक वह 18 विकेट पॉवर प्ले में हासिल कर चुके हैं। आईपीएल इतिहास में वह पांचवे ऐसे खिलाड़ी बन गए जिसने यह मुकाम हासिल किया हो।
    अब्राहम डिविलियर्स (57) और च्ंिटन डी कॉक (45) की बेहतरीन पारियों के दम पर रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर ने शुक्रवार को एमए चिदम्बरम स्टेडियम में इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के 11वें संस्करण में अपना जीत का खाता खोला है। बेंगलोर ने रोचक मुकाबले में किंग्स इलेवन पंजाब को चार विकेट से मात दी। पंजाब ने पहले बल्लेबाजी करते हुए मेजबान बेंगलोर के सामने 156 रनों का लक्ष्य रखा था, जिसे बेंगलोर ने तीन गेंद बाकी रहते हुए छह विकेट खोकर हासिल कर लिया। डिविलियर्स ने अहम समय पर 40 गेंदों में दो चौके और चार छक्कों की मदद से अर्धशतकीय पारी खेली। इसमें मनदीप सिंह ने उनका बखूबी साथ दिया। मनदीप ने एक छोर संभाले रखते हुए 19 गेंदों में एक चौके की मदद से 22 रन बनाए। अक्षर पटेल ने बेंगलोर को अच्छी शुरुआत से वंचित रखा। उन्होंने पहले ही ओवर की दूसरी गेंद पर खतरनाक ब्रेंडन मैक्कलम को मुजीब उर रहमान के हाथों कैच कराया। एक रन के कुल स्कोर पर आउट होने वाले मैक्कलम खाता भी नहीं खोल पाए।
    विराट कोहली ने 16 गेंदों में चार चौकों की मदद से 21 रन बनाए, लेकिन 33 के कुल स्कोर पर वह रहमान की बेहतरीन गेंद पर बोल्ड हो गए। दूसरे छोर पर डी कॉक लगातार स्कोर बोर्ड चला रहे थे। डी कॉक अर्धशतक से पांच रन दूर थे तभी पंजाब के कप्तान रविचंद्रन अश्विन ने उन्हें बोल्ड कर दिया। उन्होंने अपनी पारी में 34 गेंदों का सामना किया और सात चौकों के अलावा एक छक्का भी लगाया। युवा बल्लेबाज सरफराज ने एक बार फिर निराश किया। वह अश्विन की गेंद पर स्लिप पर करुण नायर के हाथों लपके गए। दूसरे छोर पर खड़े डिविलियर्स पंजाब की मुसीबत बने हुए थे।
    मुकाबला रोचक होता जा रहा था और इसी बीच डिविलियर्स ने मुजीब द्वारा फेंके गए 17वें ओवर में दो शानदार छक्के जड़े। इस ओवर में मनदीप ने एक चौका मारा। मुजीब ने इस ओवर में कुल 19 रन लुटाए। डिविलियर्स हालांकि 19वें ओवर की पहली गेंद पर पवेलियन लौट लिए। इसी ओवर में मनदीप भी रन आउट हो गए। वॉशिंगटन सुंदर ने (नाबाद 9) ने आखिरी ओवर में दो चौके मारे अपनी टीम को जीत दिलाई। इसस पहले बेंगलोर के कप्तान कोहली ने टॉस जीतकर पंजाब को बल्लेबाजी का न्योता दिया। पंजाब को अच्छी शुरुआत मिली, लेकिन वो इसका फायदा नहीं उठा सकी और 19.2 ओवरों में सिर्फ 155 रनों पर ही ऑल आउट हो गई।
    पंजाब को इस स्कोर तक रोकने में तीन विकेट लेने वाले मेजबान टीम के तेज गेंदबाज उमेश यादव का अहम योगदान रहा। उन्होंने चार रनों के भीतर मेहमान टीम के तीन बल्लेबाजों को पवेलियन भेजकर उसे बैकफुट पर धकेल किया जिससे वो कभी वापस नहीं आ पाई। बेंगलोर के लिए उमेश के अलावा क्रिस वोक्स, कुलवंत खेजोरोलिया, सुंदर को दो-दो विकेट मिले। युजवेंद्र चहल को एक सफलता मिली। मयंक अग्रवाल (15) और लोकेश राहुल ने पहले विकेट के लिए 3.1 ओवरों में ही 32 रन जोड़ लिए थे। चार रनों के भीतर तीन विकेट गिर जाने से पंजाब की पारी लडख़ड़ा गई।
    पहला विकेट मयंक के रूप में गिरा जिन्हें उमेश यादव ने विकेट के पीछे डी कॉक के हाथों कैच कराया। अगली गेंद पर एरॉन फिंच उमेश की गेंद पर पगबाधा करार दे दिए गए। युवराज सिंह ने चार गेंदों में सिर्फ एक चौका मारा और उमेश की गेंद पर बोल्ड हो गए। दूसरे छोरे पर राहुल टिके थे। उन्हें करूण नायर का साथ मिला। दोनों ने टीम का स्कोर 94 पहुंचा दिया। राहुल तेजी से रन बना रहे थे, नायर उन्हें स्ट्राइक दे रहे थे। इन दोनों के बीच चौथे विकेट के लिए हुई 58 रनों की साझेदारी का अंत सुंदर ने राहुल को बोल्ड कर किया। राहुल ने 30 गेंदों में दो चौके और चार छक्कों की मदद से 47 रन बनाए।
    छह रन बाद नायर को खेजोरोलिया ने अपना शिकार बनाया। मार्कस स्टोइनस (11) को वॉशिंगटन सुंदर ने टिकने नहीं दिया और 110 के कुल स्कोर पर पवेलियन भेजा। खेजोरोलिया ने अक्षर पटेल (2) को 122 के कुल स्कोर पर अपना दूसरा शिकार बनाया। अश्विन ने अंत में 21 गेंदों में 33 रनों की पारी खेल पंजाब को 150 के पार पहुंचाया। वह 153 के कुल स्कोर पर चहल की गेंद पर आउट हुए। मुजीब उर रहमान के रूप में पंजाब ने अपना आखिरी विकेट खोया। रहमान खाता भी नहीं खोल सके। (आईएएनएस)

     

    ...
  •  


Posted Date : 13-Apr-2018
  • भारत के अब तक 42 पदक, 17 स्वर्ण
    शूटिंग में तेजस्विनी और कुश्ती में पूजा ढांडा को रजत
    शाम को विकास कृष्णन व सतीश कुमार ने रजत सुनिश्चत किए

    गोल्ड कोस्ट, 13 अप्रैल। ऑस्ट्रेलिया के गोल्ड कोस्ट में चल रहे 21वें कॉमनवेल्थ खेलों का नौवां दिन भारत के लिए बहुत ही अच्छा गुजरा। जहां शूटिंग में तेजस्विनी सावंत और सिर्फ 15 साल के अनीष भानवाला ने अपने-अपने वर्गों में स्वर्ण पदक बटोरे, तो कुश्ती में 65 किग्रा भार वर्ग में बजरंग पूनिया ने भारत को शुक्रवार के तीसरे स्वर्ण से नवाजा। वहीं शूटिंग में अंजुम मौदगिल और महिला कुश्ती में पूजा ढांडा और टेबल टेनिस में महिला डबल्स की टीम ने भी रजत पदक दिलाया, तो पांच मुक्केबाजों ने अपने-अपने वर्ग के फाइनल में पहुंचकर शनिवार को स्वर्णिम जंग तय कर दी। अब देखने की बात यह होगी कि बॉक्सर खेलों के आखिरी दिन शनिवार को कितना 'बवाल' मचाते हैं।
    मुक्केबाजी में  सुबह अमित ने 46-49 किग्रा, गौरव सोलंकी ने 52 किग्रा और मनीष कौशिक ने 60 किग्रा में भार वर्ग के फाइनल में पहुंचकर रजत सुनिश्चित करते हुए स्वर्ण की जंग तय कर दी है, तो बैडमिंटन में भारत की स्टार खिलाड़ी सायना नेहवाल और पीवी सिंधु ने सिंगल्स वर्ग के सेमीफाइनल में जगह बना ली है।
    आठवें दिन ही 50 मी। राइफल प्रोन में रजत जीतने वाली तेजस्विनी सावंत ने इस बार 50 मी. राइफल पोजीशन-3 वर्ग में नया रिकॉर्ड बनाते हुए स्वर्ण पदक पर कब्जा कर लिया, तो इसी वर्ग में अंजुम मोदगिल ने रजत पदक हासिल किया। शुक्रवार या कहे कि 9वें दिन का आखिरी पदक मुक्केबाजी में 69 किग्रा वर्ग के सेमीफाइनल में मनोज कुमार की हार के साथ कांस्य के रूप में आया। इसी के साथ ही भारत के अभी तक कुल पदकों की संख्या 42 हो गई है। इसमें 17 स्वर्ण, 11 रजत और 14 कांस्य पदक शामिल हैं। 
    इसके अलावा महिलाओं की तरह ही भारतीय पुरुष हॉकी  टीम भी स्वर्ण पदक की होड़ से बाहर हो गई है। उसे न्यूजीलैंड के खिलाफ 3-2 से हार का सामना करना पड़ा। अब भारत कांस्य पदक के लिए खेलेगा।
    शूटिंग
    नौवें दिन के सुबह ही भारतीय शूटरों ने एक बार फिर से सनसनी फैला दी। अगर खेलों के आठवें दिन भारतीय महिलाओं का बोलबाला रहा था, तो नौवें दिन की सुबह भी बैटन को महिलाओं ने ही संभाला। तेजस्विनी ने कुल 457.9 अंक हासिल करते हुए राष्ट्रमंडल खेलों का रिकॉर्ड बनाते हुए स्वर्ण पदक पर कब्जा जमाया, वहीं अंजुम मौदगिल ने 455.7 अंकों के साथ रजत पदक जीता। स्कॉटलैंड की सियोनेड मिकतोश को 444.6 अंकों के साथ कांस्य पदक हासिल हुआ है। तो वहीं पुरुष वर्ग में 15 साल के अनीष भानवाला ने शानदार प्रदर्शन करते हुए 25 मीटर रैपिड फायर पिस्टल स्पर्धा के फाइनल में स्वर्ण पदक जीता। 
    कुश्ती
    पुरुष वर्ग में बजरंग पूनिया ने 65 किग्रा फ्री स्टाइल वर्ग में वेल्स के कैन कैरिग को 10-1 से धोकर स्वर्ण पदक पर कब्जा किया, लेकिन 97 किग्रा फ्री स्टाइल वर्ग में मौसम खत्री फाइल में दक्षिण अफ्रीका के मार्टिन एरसमस से 12-2 से हार गए और उन्हें रजत पदक से संतोष करना पड़ा। 
    महिला वर्ग में बबीता के वीरवार को दम दिखाने के बाद  शुक्रवार को पूजा ढांडा को 57 किग्रा वर्ग में निराशा झेलनी पड़ी है। पूजा को नाइजीरिया की ओडुनायो एडेकुओरोए के हाथों 7-5 से हार झेलने के साथ ही रजत पदक से संतोष करना पड़ा है। इससे पहले सेमीफाइनल में पूजा ने कैमरून की जोसेफ एसोंबे क 11-5 से चित किया था। हालांकि, 68 किग्रा फ्री स्टाइल वर्ग में ही भारत की दिव्या करण को नाइजीरिया की ओबोरुडुडु ब्लेसिंग के हाथों 11-1 से शिकस्त झेलने पर मजबूर होना पड़ा। 
     बैडमिंटन
    महिलाओं के सिंगल्स वर्ग में भारत की स्टार सायना नेहवाल ने कनाडा की राचेल होंडिरिच को सीधे गेमों में  21-8, 21-13 से हराकर सेमीफाइनल में प्रवेश कर लिया, तो वहीं रियो ओलम्पिक की रजत पदक विजेता पी।वी। सिंधु ने  क्वार्टर फाइनल में कनाडा की ब्रिटनी टैम को सीधे गेमों में 21-14, 21-17 से मात देकर अंतिम चार में जगह बनाई।
    पुरुष वर्ग वीरवार को ही दुनिया के नंबर एक खिलाड़ी की पायदान हासिल करने वाले श्रीकांत किदांबी ने सिंगापुर के रियान एनजी जिन को 21-5, 21-12 से हराकर अंतिम चार में जगह बना ली। वहीं पुरुष डबल्स वर्ग में सात्विक रंकीरेडडी और चिराग चंद्रशेखर शेट्टी ने मलेशिया के पेंग सून चैन व सून हुआट गोह को 21-14, 15-12 व 2109 से हराकर अंतिम चार में जगह बनाई।
    मुक्केबाजी
    आखिरकार शाम के सत्र में दो अहम मुकाबले हारने के बाद बॉक्सिंग में अच्छी खबर यह रही कि विकास कृष्णन ने 75 किग्रा भार वर्ग में उत्तरी आयरलैंड के स्टीवन डोनेली को 5-0, तो सतीश कुमार ने 91 किग्रा भार वर्ग में सेशेल्स केडी एगनेस को हराकर फाइनल में प्रवेश कर स्वर्णिम जंग तय कर दी। और साथ ही रजत पदक भी सुनिश्चत कर दिया। इससे पहले मोहम्मद हुसामुद्दीन पुरुषों के 56 किग्रा वर्ग में इंग्लैंड के पीटर मैक्ग्रैल के हाथों 5-0, तो मनोज कुमार भी 69 किग्रा वर्ग में इंग्लैंड के पैट मैकोरमैक के हाथं 5-0 से हार के साथ ही कांस्य पदक से संतोष करना पड़ा।
    वहीं सुबह के सेशन में भारतीय मुक्केबाजों अमित फांगल, गौरव सोलंकी और मनीष कौशिक ने बेहतरीन प्रदर्शन करते हुए अपने-अपने वर्गों के फाइनल में प्रवेश कर रजत सुनिश्चित करते हुए स्वर्ण की जंग तय कर दी। अमित ने यहां 49 किलोग्राम लाइटवेट स्पर्धा के सेमीफाइनल में युगांडा के जुमा मीरो को एकतरफा मुकाबले में 5-0, गौरव ने 52 किलोग्राम वर्ग में श्रीलंका के विदानालांगे इशान बांद्रा को 4-0 से हराया। वहीं मनीष कौशिक ने 60 किलोग्राम के फाइनल में उत्तरी आयरलैंड के जेम्स मैकगिवर्न को 4-1 से हराकर फाइनल में जगह बनाई। हालांकि, नमन तंवर 91 किग्रा में ऑस्ट्रेलिया के जैसन व्हॉटली के हथों 4-0 से हार झेलनी पड़ी, लेकिन वह कांस्य लेने में कामयाब रहे। 
    टेबल टेनिस
    महिला वर्ग के डबल्स के फाइनल में भारत की मनिका बत्रा और मौमा दास ने सिंगापुर की फेंक तियानवे और वाईयू मेंग्यू के हाथों 11-5, 11-4, 11-5 से हार गईं। इस हार के साथ ही भारत इस वर्ग का रजत जीतने में कामयाब रहा।
    वहीं पुरुष सिंगल्स में अचंता शरथ कमल और गणानसेकरन साथियान ने पुरुष युगल वर्ग के फाइनल में जगह बना ली है। भारतीय जोड़ी ने पहले सेमीफाइनल में सिंगापुर के कोएन पेंग और इथान पोह की जोड़ी को 7-11, 11-5, 11-1, 11-3 से हराया। इसी वर्ग में साथियान गणाशेखरन को इंग्लैंड के सैमुएल वॉकर ने सैमुएल ने 4-0 (11-8, 11-8, 13-11, 17-15) से हराकर अंतिम चार में प्रवेश किया।
    स्कवॉश : मिक्स्ड डबल्स में स्वर्णिम जंग
    दीपिका पल्लीकल और उनके पुरुष जोड़ीदार सौरव घोषाल ने नौवें दिन शुक्रवार को मिक्स्ड डबल्स वर्ग के फाइनल में जगह बना ली है। भारतीय जोड़ी ने न्यूजीलैंड की जोएले किंग और पॉल कोल की जोड़ी को 2-1 (9-11, 11-8, 11-10) से मात देते हुए फाइनल में प्रवेश किया। यह मैच 50 मिनट तक चला।
    खेलों के नौवें दिन भारत ने साल 2014 में मैनचेस्टर में जीते 15 स्वर्ण पदकों को पीछे छोड़ दिया। और अब उसके सामने आखिरी दिन सबसे बड़ा चैलेंज मैनचेस्टर के कुल पदकों के आस-पास पहुंचने या इससे आगे निकलना होगा।  (एनडीटीवी)

    ...
  •  


Posted Date : 13-Apr-2018
  • गोल्ड कोस्ट, 13 अप्रैल । कॉमनवेल्थ गेम्स के 9वें दिन की शुरुआत शानदार रही। शूटरों के निशाने सोने के तमगे जुटा रहे हैं। हरियाणा के 15 साल के अनीश भानवाला ने पुरुषों की 25 मीटर रैपिड फायर पिस्टल स्पर्धा में गोल्ड मेडल पर कब्जा किया।
     इससे पहले शूटिंग में भारत के लिए इक_े दो मेडल आए। महिलाओं की 50 मीटर राइफल थ्री पोजिशन में 37 साल की तेजस्विनी सावंत ने गोल्ड पर निशाना साधा, जबकि हमवतन अंजुम मौदगिल को सिल्वर मेडल मिला। 
    आठवें दिन ही 50 मी. राइफल प्रोन में रजत जीतने वाली तेजस्विनी सावंत ने इस बार 50 मी. राइफल पोजीशन-3 वर्ग में नया रिकॉर्ड बनाते हुए स्वर्ण पदक पर कब्जा कर लिया, तो इसी वर्ग में  अंजुम मोदगिल ने रजत पदक हासिल किया। इसी के साथ ही अब तक भारत के पदकों की संख्या 34 हो गई है। इसमें 16 स्वर्ण, 8 रजत और 10 कांस्य पदक शामिल है। 
    नौवें दिन के सुबह ही भारतीय शूटरों ने एक बार फिर से सनसनी फैला दी। अगर खेलों के आठवें दिन भारतीय महिलाओं का बोलबाला रहा था, तो नौवें दिन की सुबह भी बैटन को महिलाओं ने ही संभाला। जस्विनी ने कुल 457.9 अंक हासिल करते हुए राष्ट्रमंडल खेलों का रिकॉर्ड बनाते हुए स्वर्ण पदक पर कब्जा जमाया, वहीं अंजुम ने 455.7 अंकों के साथ रजत पदक जीता। स्कॉटलैंड की सियोनेड मिकतोश को 444.6 अंकों के साथ कांस्य पदक हासिल हुआ है।
    वीरवार को ही दुनिया के नंबर एक खिलाड़ी की पायदान हासिल करने वाले श्रीकांत किदांबी ने सिंगापुर के रियान एनजी जिन को 21-5, 21-12 से हराकर सेमीफाइनल में प्रवेश कर लिया। वहीं पुरुष डबल्स वर्ग में सात्विक रंकीरेडडी और चिराग चंद्रशेखर शेट्टी ने मलेशिया के पेंग सून चैन व सून हुआट गोह को 21-14, 15-12 व 2109 से हराकर अंतिम चार में जगह बनाई।
    अमित पंघाल ने 46-49 किग्रा भार वर्ग में भारत का रजत पदक सुनिश्चत करते हुए फाइनल में प्रवेश कर लिया है। उन्होंने युगांडा के बॉक्सर को धूल चटाई। फाइनल भिड़ंत शनिवार को होगी।
    भारतीय महिलाएं पुरुषों को चुनौती दे रही हैं। आठवें दिन महिलाओं ने 5 पदकों के साथ अपना दम दिखाया था। नौवें दिन शुरुआत हो चुकी है। दिन की समाप्ति पर क्या होता है, यह देखने वाली बात होगी। (एनडीटीवी)

    ...
  •  


Posted Date : 13-Apr-2018
  • गोल्ड कोस्ट (ऑस्ट्रेलिया), 13 अप्रैल । कॉमनवेल्थ गेम्स के 9वें दिन पहलवान बजरंग पूनिया ने भारत को 17वां गोल्ड मेडल दिलाया। उन्होंने फ्रीस्टाइल 65 किलो ग्राम भार वर्ग में वेल्स के पहलवान केन चैरिग को एकतरफा मुकाबले में 10-0 से मात दी। कुश्ती में राहुल अवारे और सुशील कुमार के बाद यह तीसरा गोल्ड मेडल है। बजरंग ने 2014 ग्लास्गो कॉमनवेल्थ में रजत पदक जीता था।
    लेकिन, अगले मुकाबले में पूजा ढांढा को महिला फ्रीस्टाइल 57 किलोग्राम भार वर्ग के फाइनल में हार का सामना करना पड़ा। उन्हें नाइजीरियाई पहलवान ओडिनायो एडेकुओरोये ने 7-5 से हराया। पूजा को सिल्वर मेडल से संतोष करना पड़ा। उधर, महिला फ्रीस्टाइल 68 किलो ग्राम वर्ग में दिव्या काकरान ने ब्रॉन्ज मेडल जीता। उन्होंने बेहद आसान मुकाबले में बांग्लादेशी प्रतिद्वंद्वी शिरिन सुल्ताना को 4-0 से मात दी।
    पुरुषों के फ्रीस्टाइल 97 किलो ग्राम वर्ग में पहलवान मौसम खत्री को सिल्वर मेडल मिला पाया। फाइनल में साउथ अफ्रीका के मार्टिन इरासमस ने उन्हें 12-2 से शिकस्त दी।
    भारत के खाते में अब तक कुल 39 मेडल आ चुके हैं। वह 17 गोल्ड, 10 सिल्वर और 12 ब्रॉन्ज मेडल के साथ पदक तालिका में तीसरे स्थान पर बरकरार है।  (आज तक)

    ...
  •  


Posted Date : 13-Apr-2018
  • गोल्ड कोस्ट (ऑस्ट्रेलिया), 13 अप्रैल । भारत के किशोर शूटर अनीश भानवाला ने गोल्ड कोस्ट में वो कारनाम किया है, जिस पर देश को नाज रहेगा। पंद्रह साल के अनीश ने गोल्ड मेडल पर निशाना साधा और देश की झोली में 16वां गोल्ड मेडला डाल दिया। पुरुषों की 25 मीटर रैपिड फायर पिस्टल स्पर्धा में उन्होंने कॉमनवेल्थ रिकॉर्ड के साथ यह कामयाबी हासिल की। इसके साथ ही वो कॉमनवेल्थ गेम्स में सबसे कम उम्र में गोल्ड मेडल जीतने वाले खिलाड़ी में भी बने। अनीश ने हमवतन 16 साल की निशानेबाज मनु भाकेर का रिकॉर्ड तोड़ा। मनु ने इन्ही खेलों में महिलाओं की 10 मीटर एयर राइफल में स्वर्ण जीता था।
    गोल्ड कोस्ट जाने से पहले तक देश के इस युवा शूटर के नाम से ज्यादातर भारतीय फैंस अंजान थे। सबकी जुबान पर गगन नारंग, चैन सिंह से बड़े शूटरों के नाम थे। पहला कॉमनवेल्थ गेम्स खेल रहे अनीश पर खुद को साबित करने का कोई दबाव नहीं था। उन्हें तो बस निशाना साधना था। पुरुषों की 25 मीटर रैपिड फायर पिस्टल में उन्होंने कमाल के निशाने लगाए। फाइनल में अनीश ने 30 अंक हासिल किए और गोल्ड मेडल पर निशाना साधा। इस स्पर्धा का सिल्वर मेडल ऑस्ट्रेलिया के सर्जई इवग्लेवस्की (28 अंक) ने जीता, जबकि ब्रॉन्ज इंग्लैंड के सैम गोविन (17 अंक) के हिस्से आया।
    बहन भी हैं निशानेबाज
    हरियाणा के रहने वाले अनीश की बड़ी बहन मुस्कान भी शूटर हैं, जो देश का प्रतिनिधित्व कर चुकी हैं। दोनों भाई बहन एक साथ प्रैक्टिस करते हैं। कॉमनवेल्थ खेलों के पूर्व शूटर गोल्ड मेडलिस्ट हरप्रीत सिंह और ओलंपिक मेडलिस्ट विजय कुमार उनके हीरो हैं और उन्हें शूटिंग की बारीकियां सिखाते हैं। अनीश का मकसद अभिनव बिंद्रा की तरह ओलंपिक में गोल्ड मेडल जीतना है। जिसके लिए वो कड़ी मेहनत कर रहे हैं। जिस रफ्तार में निशाना साध रहे हैं 2020 टोक्यो ओलंपिक में वो भारत के सबसे बड़ा मेडल के दावेदार होंगे।
    जूनियर वल्र्ड चैंपियनशिप में बना चुके हैं रिकॉर्ड
    पिछले साल अनीश ने विश्व रिकॉर्ड के साथ जूनियर वल्र्ड चैंपियन बने थे। अनीश ने चैंपियनशिप के पहले दिन 600 में से 579 शॉट्स के साथ वल्र्ड रिकॉर्ड बनाकर गोल्ड जीता था। अनीश ने जो कामयाबी हासिल की हैं , उससे देश में युवा शूटरों का हौसला बढ़ेगा। इस खेल में कई और खिलाड़ी निकल कर सामने आएंगे। (आज तक)

    ...
  •  


Posted Date : 13-Apr-2018
  • ऑस्ट्रेलिया, 13 अप्रैल। ऑस्ट्रेलिया में चल रहे कॉमनवेल्थ खेलों से भारतीय एथलीटों के पदक जीतने की खबरों के बीच एक बुरी खबर है। कॉमनवेल्थ गेम्स फेडरेशन (सीजीएफ) ने दो भारतीयों एथलीटों को तुरंत प्रभाव से निलंबित कर भारत वापस भेजने की घोषणा की है। भारतीय एथलीट केटी इरफान और राकेश बाबू को नो नीडल पॉलिसी के उल्लंघन का दोषी ठहराए जाने के बाद कॉमनवेल्थ खेल गांव से बाहर करने का फैसला किया गया है।
    इस बार के कॉमनवेल्थ खेलों में यह दूसरा मौका है जब भारतीय दल को इस तरह शर्मिंदा होना पड़ा है। इससे पहले खेलों की शुरुआत में भारत के बॉक्सिंग दल के कमरे के बाहर सुई पाई गई थी जिसके बाद भारतीय दल को फटकार लगाई गई थी। शुक्रवार को सीजीएफ ने बयान जारी कर कहा, भारतीय दल के प्रमुख विक्रम सिंह, मुख्य प्रबंधक नामदेव शिरगांवकर, एथलेटिक टीम प्रबंधक रविंदर चौधरी, दो एथलीटों राकेश बाबू और केटी इरफान और अन्य को सीजीएफ फेडरेशन कोर्ट द्वारा नो नीडल पॉलिसी के उल्लंघन का दोषी पाया गया है।
    बयान में कहा गया है कि राकेश बाबू और केटी इरफान को तुरंत प्रभाव से खेलों में भाग लेने की अनुमति नहीं है। बयान में लिखा है, दोनों खिलाडिय़ों को खेल गांव से बाहर कर दिया गया है। हमने कॉमनवेल्थ गेम्स एसोसिएशन ऑफ इंडिया से कहा है कि वह सुनिश्चित करे कि दोनों एथलीट पहली फ्लाइट से ऑस्ट्रेलिया छोड़ दें। इस मामले में सीजीएफ कोर्ट ने पाया कि ऑस्ट्रेलिया एंटी-डोपिंग अथॉरिटी की तरफ से दिए गए सबूत विश्वसनीय हैं।
    सीजीएफ ने कहा, राकेश बाबू और केटी इरफान का यह कहना कि उन्हें नहीं पता कि उनके कमरे में रखे कप में सुई कैसे आई और बाद में राकेश बाबू का यह कहना कि उन्हें नहीं पता कि उनके बैग में सिरिंज कैसे मिलीं, अविश्वसनीय और गैर-जिम्मेदार बयान है। इरफान की 20 किलोमीटर की रेसवॉकर (पैदलचाल) स्पर्धा हो चुकी है। वे उसमें 13वें स्थान पर रहे थे। वहीं, ट्रिपल जंपर बाबू को आज अपना फाइनल खेलना था।  (सत्याग्रह)

    ...
  •  


Posted Date : 13-Apr-2018
  • गोल्ड कोस्ट, 13 अप्रैल। कॉमनवेल्थ गेम्स के 9वें दिन की शुरुआत शानदार रही। शूटरों के निशाने सोने के तमगे जुटा रहे हैं। हरियाणा के 15 साल के अनीश भानवाला ने पुरुषों की 25 मीटर रैपिड फायर पिस्टल स्पर्धा में गोल्ड मेडल पर कब्जा किया।
     इससे पहले शूटिंग में भारत के लिए इक_े दो मेडल आए। महिलाओं की 50 मीटर राइफल थ्री पोजिशन में 37 साल की तेजस्विनी सावंत ने गोल्ड पर निशाना साधा, जबकि हमवतन अंजुम मौदगिल को सिल्वर मेडल मिला। 
    आठवें दिन ही 50 मी. राइफल प्रोन में रजत जीतने वाली तेजस्विनी सावंत ने इस बार 50 मी. राइफल पोजीशन-3 वर्ग में नया रिकॉर्ड बनाते हुए स्वर्ण पदक पर कब्जा कर लिया, तो इसी वर्ग में  अंजुम मोदगिल ने रजत पदक हासिल किया। इसी के साथ ही अब तक भारत के पदकों की संख्या 34 हो गई है। इसमें 16 स्वर्ण, 8 रजत और 10 कांस्य पदक शामिल है। 
    नौवें दिन के सुबह ही भारतीय शूटरों ने एक बार फिर से सनसनी फैला दी। अगर खेलों के आठवें दिन भारतीय महिलाओं का बोलबाला रहा था, तो नौवें दिन की सुबह भी बैटन को महिलाओं ने ही संभाला। जस्विनी ने कुल 457.9 अंक हासिल करते हुए राष्ट्रमंडल खेलों का रिकॉर्ड बनाते हुए स्वर्ण पदक पर कब्जा जमाया, वहीं अंजुम ने 455.7 अंकों के साथ रजत पदक जीता। स्कॉटलैंड की सियोनेड मिकतोश को 444.6 अंकों के साथ कांस्य पदक हासिल हुआ है।
    वीरवार को ही दुनिया के नंबर एक खिलाड़ी की पायदान हासिल करने वाले श्रीकांत किदांबी ने सिंगापुर के रियान एनजी जिन को 21-5, 21-12 से हराकर सेमीफाइनल में प्रवेश कर लिया। वहीं पुरुष डबल्स वर्ग में सात्विक रंकीरेडडी और चिराग चंद्रशेखर शेट्टी ने मलेशिया के पेंग सून चैन व सून हुआट गोह को 21-14, 15-12 व 2109 से हराकर अंतिम चार में जगह बनाई।
    अमित पंघाल ने 46-49 किग्रा भार वर्ग में भारत का रजत पदक सुनिश्चत करते हुए फाइनल में प्रवेश कर लिया है। उन्होंने युगांडा के बॉक्सर को धूल चटाई। फाइनल भिड़ंत शनिवार को होगी।
    भारतीय महिलाएं पुरुषों को चुनौती दे रही हैं। आठवें दिन महिलाओं ने 5 पदकों के साथ अपना दम दिखाया था। नौवें दिन शुरुआत हो चुकी है। दिन की समाप्ति पर क्या होता है, यह देखने वाली बात होगी। (एनडीटीवी)

    ...
  •  


Posted Date : 12-Apr-2018
  • नई दिल्ली, 12 अप्रैल। भारतीय बैडमिंटन खिलाड़ी किदांबी श्रीकांत का दुनिया के नंबर एक पुरुष खिलाड़ी बन गए हैं। गुरुवार को ताजा रैंकिंग में श्रीकांत डेनमार्क के विक्टर एक्सलसन को पछाड़कर दुनिया के पहले नंबर के खिलाड़ी बने। पिछले साल चोट के कारण श्रीकांत यह मुकाम हासिल करने से चूक गए थे। श्रीकांत 76895 अंकों के साथ रैंकिंग में टॉप पर पहुंच गए। 

    वल्र्ड चैंपियन डेनमार्क के विक्टर एक्सलसन 75470 अंकों के साथ दूसरे पायदान पर हैं। तीसरे पायदान पर कोरिया के सोन वेन हू 74670 अंकों के साथ तीसरे पायदान पर हैं। 
    महिला रैंकिंग में भारत की पीवी सिंधु 78824 अंकों के साथ तीसरे पायदान पर हैं। वहीं चीनी ताइपे की ताइ जू इंग 90259 अंकों के साथ चोटी पर हैं। 
    इस साल फरवरी में श्रीकांत को टाइम्स ऑफ इंडिया स्पोर्ट्स अवॉर्ड में स्पोर्ट्सपर्सन ऑफ द इयर से नवाजा गया था। श्रीकांत आधुनिक युग में इस मुकाम पर पहुंचने वाले भारत के पहले पुरुष खिलाड़ी हैं। महिलाओं के वर्ग में साइना नेहवाल मार्च 2015 में दुनिया की पहले नंबर की खिलाड़ी बन चुकी हैं। 
    श्रीकांत ने वर्ष 2017 में चार सुपर सीरीज खिताब जीते। उन्होंने इंडोनेशिया, ऑस्ट्रेलिया, डेनमार्क, फ्रैंच ओपन के खिताब अपने नाम किया। उनसे पहले सिर्फ तीन खिलाड़ी ही यह मुकाम हासिल कर पाए थे। 2 नवंबर 2017 को वह दुनिया के दूसरे नंबर के खिलाड़ी भी बने थे। 
    कंप्यूराइज्ड रैंकिंग सिस्टम लागू होने से पहले भारत के दिग्गज बैडमिंटन प्लेयर प्रकाश पादुकोण ने 1980 में चोटी के तीन टूर्नमेंट जीतकर पहले नंबर के खिलाड़ी बने थे।  (नवभारतटाईम्स)

    ...
  •  


Posted Date : 12-Apr-2018
  • गोल्ड कोस्ट (ऑस्ट्रेलिया), 12 अप्रैल।  पुरुष फ्री स्टाइल 74 किलोग्राम में सुशील कुमार ने भारत को गोल्ड दिलाया। अपेक्षा के अनुरूप यह स्टार पहलवान फाइनल में साउथ अफ्रीका के जोहानेस बोथा पर टूट पड़ा और केवल एक मिनट के भीतर फटाफट गोल्ड पर कब्जा कर लिया। सुशील ने 10-0 से कामयाबी पाई। सुशील ने राष्ट्रमंडल खेलों का तीसरा स्वर्ण पदक जीता। इससे पहले उन्होंने 2010 दिल्ली और 2014 ग्लास्गो कॉमनवेल्थ में गोल्ड मेडल जीते थे।
    पुरुष फ्री स्टाइल 57 किलोग्राम वर्ग में पहलवान राहुल अवारे भारत को 13वां गोल्ड दिलाने में कामयाब रहे। उन्होंने फाइनल में कनाडा के स्टीवन ताकाहाशी की चुनौती 15-7 से खत्म की। इस खिताबी मुकाबले में कड़ी टक्कर देखने को मिली और राहुल स्वर्ण पदक के हकदार बने। इसके बाद ही महिला फ्री स्टाइल 76 किलोग्राम वर्ग में किरण ने ब्रॉन्ज मेडल जीता। 
    किरण ने मॉरीशस की के। परिधावेन को 10-0 से धूल चटाई।
    इससे पहले महिला फ्री स्टाइल 53 किलोग्राम (नॉर्डिक सिस्टम) के फाइनल में बबीता कुमारी को निराशा हाथ लगी। वह कनाडा की पहलवान डायना विकर से पार नहीं पा सकीं। बबीता को सिल्वर मेडल से संतोष करना पड़ा। दंगलगर्ल ने यह मुकाबला 2-5 गंवाया। बबीता ने 2010 दिल्ली खेलों में रजत और ग्लास्गो में 2014 में स्वर्ण पदक जीता था।
    भारत के खाते में अब तक कुल 27 मेडल आ चुके हैं। वह 13 गोल्ड, 6 सिल्वर और 8 ब्रॉन्ज मेडल के साथ पदक तालिका में तीसरे स्थान पर बरकरार है।
    कॉमनवेल्थ गेम्स के 8वें दिन भारतीय पहलवानों की शानदार शुरुआत के बाद शूटर तेजस्विनी सावंत ने दिन का पहला पदक दिलाया। उन्होंने महिलाओं की 50 मीटर राइफल प्रोन स्पर्धा में सिल्वर मेडल हासिल किया। तेजस्विनी 618।9 अंक के साथ दूसरे स्थान पर रहीं, जबकि सिंगापुर की मार्टिना लिंडसे ने रिकॉर्ड 621.0 अंक हासिल कर गोल्ड पर कब्जा जमाया। स्कॉटलैंड की सिओनेड (618.1) ने ब्रॉन्ज जीता। इसी स्पर्धा में भारत की अंजुम मौदगिल (602.2) 16वें नंबर पर रहीं।
    37 साल की तेजस्विनी के इस रजत पदक के साथ ही शूटिंग में भारत के कुल पदकों की संख्या 12 हो गई है, जिनमें 4 गोल्ड, 3 सिल्वर और 5 ब्रॉन्ज शामिल हैं। वेटलिफ्टिंग में भारत ने सर्वाधिक 5 गोल्ड मेडल के साथ 9 पदक जीते हैं।  (आजतक)

    ...
  •  


Posted Date : 11-Apr-2018
  • नई दिल्ली, 11 अप्रैल। भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) ने कावेरी विवाद को लेकर चल रहे विरोध प्रदर्शन के चलते चेन्नई में होने वाले आईपीएल मैचों को किसी दूसरे स्थान पर शिफ्ट करने का फैसला किया है। प्रशासकों की समिति (सीओए) के प्रमुख विनोद राय ने कहा कि बीसीसीआई ने चेन्नई सुपर किंग्स (सीएसके) के घरेलू मैचों के आयोजन के लिए चार शहरों का चयन किया है जिनमें से किसी एक में इनका आयोजन किया जाएगा। इससे पहले सीएसके से कावेरी जल विवाद के कारण आयोजन स्थल बदलने पर ध्यान देने को कहा गया था।
    कावेरी जल विवाद को लेकर तमिलनाडु में राजनीतिक स्थिति संवेदनशील है। आईपीएल सूत्रों के मुताबिक चार शहरों में विशाखापत्तनम सबसे आगे चल रहा है। बाकी तीनों शहरों में तिरूवनंतपुरम, पुणे और राजकोट शामिल हैं। पहले ही कई समूह ऐसे समय में शहर में मैचों का आयोजन ना करने का आह्वान कर चुके हैं जब राज्य इस तरह की गंभीर स्थिति का सामना कर रहा है। कल सीएसके और कोलकाता नाइट राइडर्स के बीच मैच से पहले व्यापक विरोध प्रदर्शन किए गए और एक ज्ञात प्रदर्शनकारी ने सीएसके के रविंद्र जडेजा पर मैच के दौरान जूता फेंका था। राय ने इस बात की पुष्टि की कि मौजूदा स्थिति के कारण बीसीसीआई को विकल्प तलाशने पर मजबूर होना पड़ा।
    उन्होंने कहा कि हम आईपीएल मैच चेन्नई से बाहर कराने पर विचार कर रहे हैं। बीसीसीआई ने चार वैकल्पिक आयोजन स्थल तैयार रखे हैं। वे विशाखापत्तनम, तिरूवनंतपुरम, पुणे और राजकोट हैं। सीएसके इन जगहों पर अपने मैच खेल सकता है। पूर्व नियंत्रक एवं महालेखा परीक्षक राय ने कहा, हमें राज्य की मौजूदा राजनीतिक एवं सुरक्षा स्थिति को ध्यान में रखना होगा। लेकिन हमने सीएसके फ्रेंचाइजी से मौजूदा स्थिति का आकलन करने और इस संबंध में अंतिम फैसला लेने को कहा है। यह सीएसके का फैसला होगा।
    बीसीसीआई के कार्यवाहक अध्यक्ष सी के खन्ना ने कहा कि सीएसके बीसीसीआई के साथ पूरी तरह सहयोग कर रहा है और हम अपने सामने मौजूद सर्वश्रेष्ठ हल का सहारा लेंगे। हम कई आयोजन स्थलों पर ध्यान दे रहे हैं। प्राप्त जानकारी के अनुसार सीएसके के सीईओ काशी विश्वनाथन पुलिस अधिकारियों से बात कर रहे हैं और स्थिति का जायजा लेने की कोशिश कर रहे हैं।
    सीएसके के एक करीबी सूत्र ने कहा हम कई विकल्पों पर विचार कर रहे हैं। राजस्थान रॉयल्स के खिलाफ 20 अप्रैल को होने वाला हमारा अगला घरेलू मैच जयपुर में हो सकता है जो कि फिर बाहरी मैच के रूप में गिना जाएगा। और इस बीच हम वैकल्पिक आयोजन स्थल पर फैसला कर सकते हैं। कई चीजें हैं जिन पर विचार किया जाएगा जिनमें टिकट, मार्केटिंग और स्टेडियम से जुड़ी तमाम दूसरी व्यवस्थाएं शामिल हैं। उम्मीद है कि कल फैसला हो जाएगा। 
    स्पॉट फिक्सिंग 2013 के आरोपों को लेकर दो साल के निलंबन का सामना करने के बाद सीएसके ने इस साल आईपीएल में वापसी की है।
    आईपीएल सूत्रों ने कहा कि सीएसके प्रबंधन विशाखापत्तनम का चयन कर सकता है। (एजेंसी)

    ...
  •  


Posted Date : 11-Apr-2018
  • ऑस्ट्रेलिया के गोल्ड कोस्ट में चल रहे कॉमनवेल्थ गेम्स के सातवें दिन की शुरुआत भारत ने कांस्य पदक जीतने के साथ की है। देश को यह सफलता शूटर ओम मिथरवाल ने दिलाई। ओम मिथरवाल ने पुरुषों की 50 मीटर एयर मिस्टल के फाइनल में 201 का स्कोर बनाया। ऑस्ट्रेलिया के डेनियल रेपाचोली ने इस मुकाबले में 227.2 अंकों के साथ स्वर्ण पदक पर निशाना लगाया। बांग्लादेश के शूटर शकील अहमद 220.5 अंकों के साथ दूसरे स्थान पर रहे।
    इस मुकाबले में भारत के एक अन्य प्रतियोगी जीतू राय ने भी जगह बनाई थी। लेकिन उन्हें पदक जीतने में कामयाबी नहीं मिल सकी। हालांकि इससे पहले 10 मीटर एयर पिस्टल स्पर्धा में जीतू राय ने स्वर्ण जबकि उसी मुकबले में ओम मिथरवाल ने कांस्य पदक जीता था।
    शूटिंग रेंज से निकलकर रिंग की तरफ बढ़ें तो ओलंपिक गेम्स में कांस्य पदक जीतने वाली एमसी मैरीकॉम बॉक्सिंग (मुक्केबाजी) स्पर्धा के फाइनल में पहुंच गई हैं। दिलचस्प यह भी है कि पांच बार विश्व चैंपियन रह चुकी वाली मैरी कॉम को अब तक कॉमनवेल्थ गेम्स में कोई पदक नहीं मिला है। हालांकि फाइनल मुकाबले में पहुंचने के बाद कम से कम उनका रजत पदक पक्का हो गया है।
    इधर देश के पांच पुरुष बॉक्सरों ने भी सेमीफाइनल मुकाबलों में जगह बनाकर देश के लिए कम से कम कांस्य पदक पक्के कर दिए हैं। ये बॉक्सर मनोज कुमार, अमित पांघल, मोहम्मद हुसामुद्दीन, सतीश कुमार और नमन तंवर हैं। इस महीने की 15 तारीख तक चलने वाले इन खेलों में भारत ने अब तक कुल 22 पदक अपने नाम किए हैं। छठें दिन की समाप्ति पर पदक तालिका में भारत तीसरे पायदान पर था। ऑस्ट्रेलिया ने पहले जबकि ब्रिटेन ने दूसरे स्थान पर अपनी जगह बनाई हुई है। (सत्याग्रह)

    ...
  •  


Posted Date : 11-Apr-2018
  • भारतीय क्रिकेट टीम और आरसीबी के कप्तान विराट कोहली ने युवा बल्लेबाज नीतीश राणा को अपना बैट गिफ्ट किया है। आईपीएल के इस सीजन खेले गए तीसरे मुकाबले में राणा ने कोहली को अपनी गेंद पर बोल्ड किया था। राणा के प्रदर्शन के खुश होकर मैच के बाद विराट कोहली ने उन्हें अपना बैट दिया। विराट कोहली को आउट करने के बाद राणा ने कुछ अपशब्द भी कहे थे, लेकिन विराट ने उस बात को नजरअंदाज करते हुए राणा को प्रोत्साहित करने का काम किया है। दरअसल, तीसरे मैच के दौरान केकेआर के कप्तान दिनेश कार्तिक ने टॉस जीतकर आरसीबी को पहले बल्लेबाजी करने के लिए आमंत्रित किया। आरसीबी की टीम विराट कोहली और एबी डी विलियर्स की मदद से एक बड़े स्कोर की ओर बढ़ रही थी। इसी बीच कार्तिक ने एक हैरान करने वाला फैसला लिया और गेंद पार्ट टाइमर नीतीश राणा के हाथों में सौंप दी। राणा ने एक ही ओवर में पहले डी विलियर्स और फिर कोहली को आउट कर केकेआर को मैच में वापस ला दिया। कोहली के विकेट लेने के बाद उत्साहित राणा ने उन्हें देखते हुए कुछ अभद्र टिप्पणी की। राणा के इस व्यवहार की सोशल मीडिया पर काफी आलोचना भी की गई।
    वहीं मैच के बाद विराट कोहली राणा के पास गए और उन्हें बैट गिफ्ट कर भविष्य के लिए शुभकामनाएं दीं। नीतीश राणा ने इंस्टाग्राम अकाउंट पर बैट के साथ एक तस्वीर शेयर कर इस बात की जानकारी दी। राणा ने तस्वीर के साथ लिखा कि क्रिकेट के दिग्गज खिलाड़ी से जब तारीफ मिलती है तो और बेहतर करने का जोस अंदर आ जाता है। इस बैट के लिए धन्यवाद विराट भैया।
    नीतीश राणा एक विस्फोटक बल्लेबाज हैं, पिछले सीजन मुंबई इंडियंस की तरफ से खेलते हुए उन्होंने कई दमदार पारी खेली थी। इस सीजन की शुरुआत भी उनके लिए अच्छा रहा है। वह कोलकाता की टीम के अहम खिलाड़ी हैं और वह इस सीजन बल्ले से ज्यादा से ज्यादा रन बनाना चाहेंगे। (जनसत्ता)

    ...
  •  


Posted Date : 11-Apr-2018
  • गोल्ड कोस्ट (ऑस्ट्रेलिया), 11 अप्रैल। इक्कीसवें कॉमनवेल्थ खेलों के 7वें दिन भारत की शुरुआत कांस्य पदक से हुई, लेकिन कुछ ही देर बाद शूटर श्रेयसी सिंह ने महिला डबल ट्रैप स्पर्धा का गोल्ड मेडल जीत लिया। फाइनल में श्रेयसी ने शूट ऑफ के बाद 96+ का स्कोर किया। उन्होंने शूट ऑफ की अपनी ऑस्ट्रेलियाई प्रतिद्वंद्वी एमा कॉक्स (96+1) को पछाड़ा। श्रेयसी और एमा 96 के स्कोर पर बराबर रही थीं, जिसके बाद शूट ऑफ हुआ। भारत की वर्षा वर्मन 86 अंकों के साथ चौथे स्थान पर रहीं। स्कॉटलैंड की लिंडा पियरसन (87) ने ब्रॉन्ज हासिल किया।
    इससे पहले शूटिंग के पुरुष 50 मीटर पिस्टल इवेंट में ओम मिथरवाल ने भारत को ब्रॉन्ज मेडल दिलाया। उन्होंने फाइनल में 201.1 का स्कोर बनाया। लेकिन, स्टार शूटर जीतू राय 8वें पोजिशन पर जा फिसले। इस स्पर्धा का गोल्ड ऑस्ट्रेलिया के डेनियल रेपाचोली ने कॉमनवेल्थ के रिकॉर्ड 227।2 अंक के साथ हासिल किया। सिल्वर मेडल बांग्लादेश के शकील अहमद (220.5) को मिला। मौजूदा गेम्स में  मिथरवाल का यह दूसरा मेडल है। इससे पहले उन्होंने 9 अप्रैल को 10 मीटर एयर पिस्टल में भी ब्रॉन्ज जीता था।
    बॉक्सिंग क्वीन एमसी मेरी कॉम ने 45-48 किलो ग्राम भार वर्ग के फाइनल में जगह बना ली है। अब वह गोल्ड से महज एक जीत दूर हैं। सेमीफाइनल में मेरी कॉम के आगे श्रीलंका की अनुषा दिलरुक्षी की एक न चली। मेरी ने यह मुकाबला 5-0 से जीता। अनुषा को कांस्य से संतोष करना पड़ा। ओलंपिक कांस्य पदक विजेता मेरी कॉम पहले कभी राष्ट्रमंडल खेलों में पदक नहीं जीत पाई हैं। इस बार उनके लिए सुनहरा मौका है।
    मंगलवार को भारत ने सिर्फ दो पदक जीते और आने वाले दिनों के लिए कई मेडल्स पक्के भी किए। आज भारत को शूटिंग, बॉक्सिंग और एथलेटिक्स जैसे खेलों से पदकों की उम्मीद है। पदक तालिका में भारत 22 मेडल्स के साथ तीसरे नंबर पर बना हुआ है। (आज तक)

    ...
  •  


Posted Date : 11-Apr-2018
  • नई दिल्ली, 11 अप्रैल। इंडियन प्रीमियर लीग चल रही है। जहां एक तरफ खिलाड़ी एक्साइटिड हैं वहीं फैन्स भी काफी एन्जॉय कर रहे हैं। मयंती लैंगर स्पोर्ट्स वल्र्ड की जानी मानी एंकर हैं। यही नहीं वो टीम इंडिया के क्रिकेटर स्टुअर्ट बिन्नी की पत्नी भी हैं। अपनी शानदार एंकरिंग और लुक्स की वजह से वो काफी चर्चा में रहती हैं। मयंती लैंगर से एक शख्स ने डिनर डेट के लिए पूछा। जिसके बाद उन्होंने ऐसा जवाब दिया जिसने हर किसी को हैरान कर दिया। 
    8 अप्रैल को फहाद नाम के एक यूजर ने ट्वीट किया। उन्होंने लिखा- जब मैं आपको देखता हूं। तो मुझे आईपीएल अच्छा नहीं लगता। आप परफेक्ट हो, क्लास और पर्सनैलिटी का जबदस्त मेल है। काश मैं उस लायक होता कि आपको डिनर पर लेकर जा पाता। मेरे पास ये बताने के लिए शब्द नहीं है कि आप कितनी खूबसूरत हैं।
    जिसके बाद फहाद को मयंती के रिप्लाई का बेसबरी से इंतजार था। आखिरकार मयंती का जवाब आ ही गया। उन्होंने ट्वीट किया- शुक्रिया, मेरे पति और मुझे आपके साथ जाने में खुशी होगी। उनका जवाब आते ही फहाद का ट्वीट वायरल हो गया और सभी ने फहाद के मजे लिए और मयंती के ट्वीट की काफी तारीफ की। (एनडीटीवी)

    ...
  •  


Posted Date : 10-Apr-2018
  • नई दिल्ली, 10 अप्रैल। ऑस्ट्रेलिया के गोल्ड कोस्ट में जारी 21वें राष्ट्रमंडल खेलों के छठे दिन भारत की अनुभवी महिला निशानेबाज हीना सिद्धू ने भारत की झोली में 11वां स्वर्ण पदक डाल दिया। कार्डियक सर्जन हीना ने महिलाओं की 25 मीटर पिस्टल स्पर्धा के फाइनल में शानदार प्रदर्शन करते हुए सोना जीता। 
    हीना ने इस स्पर्धा में राष्ट्रमंडल खेलों का रिकॉर्ड कायम करते हुए 38 अंक हासिल किए और स्वर्ण पदक पर कब्जा जमाया। इस स्पर्धा में आस्ट्रेलिया एलीना गैलियावोविक को रजत पदक हासिल हुआ, वहीं मलेशिया की आलिया सजाना अजाहारी को कांस्य पदक मिला। 
    इससे पहले बॉक्सिंग में भारत के अमित ने शानदार प्रदर्शन करते हुए पुरुषों की 46-49 किलोवर्ग की मुक्केबाजी स्पर्धा के सेमीफाइनल में प्रवेश कर लिया। अमित ने सेमीफाइनल में प्रवेश हासिल करने के साथ ही भारत के लिए कांस्य पदक पक्का कर लिया है। हालांकि, उनकी कोशिश भारत को स्वर्ण पदक दिलाने की है। सेमीफाइनल में अब शुक्रवार को अमित का सामना युगांडा के जुमा मीरो से होगा। 
    आज सुबह भारतीय पुरुष हॉकी टीम ने मलेशिया को मात देकर सेमीफाइनल में जगह बनाई। भारत ने गोल्ड कोस्ट हॉकी स्टेडियम में खेले गए मैच में मलेशिया को 2-1 से हारा दिया। 
    भारत के लिए हरमनप्रीत सिंह ने तीसरे और 44वें मिनट में गोल किए जबकि मलेशिया के लिए फैजल सारी ने 16वें मिनट में एक मात्र गोल किया। हरमनप्रीत ने दोनों गोल पेनाल्टी कॉर्नर पर किए। 
    पांचवें दिन भारतीय एथलीटो ने शानदार प्रदर्शन करते हुए 3 गोल्ड सहित 7 मेडल जीते। भारत अब तक कुल 20 पदक के साथ पदक तालिका में तीसरे स्थान पर काबिज है। आज भारत को शूटिंग में कम से कम दो गोल्ड की उम्मीद जरूर होगी। भारत अब तक 11 गोल्ड, 4 सिल्वर और 5 ब्रॉन्ज जीत चुका है।  (एजेंसी)

    ...
  •