गैजेट्स

Posted Date : 23-May-2018
  • नई दिल्ली, 23 मई। लखनऊ निवासी एलआईसी के ब्रांच मैनेजर सुधीर त्रिपाठी मंगलवार सुबह 11.23 बजे दफ्तर में थे। इसी बीच मोबाइल पर मेसेज आया कि दिल्ली में एसबीआई के एटीएम से उनके खाते से 8 हजार रुपये निकाल लिए गए। इसी तरह वहीं रहने वाली सुमन के खाते से भी 25 हजार रुपये निकल गए हैं। साइबर जालसाजों ने एक सप्ताह में 150 से अधिक लोगों के खातों से लाखों रुपये निकाले हैं। इनका अभी सुराग नहीं लगा है। 
    लेकिन पुलिस, बैंक और साइबर सेल की जांच में साफ हो गया है कि जालसाजों ने एटीएम बूथ में स्कीमर लगाकर लोगों के डेबिट कार्ड का डेटा कॉपी किया। फिर कार्ड का क्लोन बनाकर दिल्ली से रकम निकाल रहे हैं। सूत्रों के मुताबिक, जालसाजों ने स्कीमर लगाने के लिए ऐसे एटीएम चुने, जहां गार्ड तैनात नहीं हैं। आइये जानते हैं किस तरह जालसाज डेटा कॉपी करते हैं और कैसे स्कीमर लगाकर एटीएम से डेटा चोरी कर दूसरों की रकम को निकाल लिया जाता है। 
    केस की छानबीन में जुटे एक अफसर के मुताबिक, स्कीमर 7 हजार रुपये तक में जाता है। कई ई-कॉमर्स वेबसाइट पर भी इसे खरीदा जा सकता है। क्लोनिंग करने वाले जालसाज बैंक का मोनोग्राम और हूबहू कार्ड तैयार नहीं कर सकते। ऐसे में ये लोग स्कीमर में कॉपी डेटा एक प्लेन कार्ड की मैग्नेटिक स्ट्रिप में कॉपी कार्ड मशीन के जरिए एक स्वैप में ही सेव कर लेते हैं। 
    जब आप अपना एटीएम कार्ड इंसर्ट करने वाले खांचे में डालते हैं तो वहां लगा स्कैनर डेटा स्कैन कर लेता है। इसके अलावा हिडेन कैमरा से आपके पिन को भी रेकॉर्ड कर लिया जाता है। स्कीमर से कॉपी किए गए डेबिट कार्ड के डेटा से जालसाज एटीएम का क्लोन तैयार कर हिडेन कैमरे में रेकॉर्ड किए गए पिन कोड के जरिए जालसाज किसी भी एटीएम से रकम निकाल ले रहे हैं। 
    राजधानी के 60 प्रतिशत एटीएम में सिक्यॉरिटी गार्ड नहीं हैं। कई एटीएम में सीसीटीवी कैमरे भी काम नहीं कर रहे। पुलिस को आशंका है कि जालसाजों ने ऐसे ही एटीएम को स्कीमर लगाने के लिए टारगेट किया। सीओ गोमतीनगर दीपक कुमार सिंह का कहना है कि पुलिस ट्रांस गोमती इलाके के ऐसे ही एटीएम की छानबीन कर रही है। पुलिस को यह भी शक है कि एक निजी बैंक के एटीएम को ही टारगेट कर फ्रॉड किया गया है।
    क्या आप भी ऑनलाइन शॉपिंग करना या किसी भी तरह के भुगतान के लिए ऑनलाइन पेमेंट ऐप्स का इस्तेमाल करते हैं? ऑनलाइन पेमेंट ऐप्स के जरिए भुगतान करना आसान है लेकिन बात जब सिक्यॉरिटी की आती है तो चिंता जायज है। अगर मोबाइल ऐप सुरक्षित नहीं है तो हैकर्स आसानी से आपके निजी और बैंकिंग जानकारी को चुरा सकते हैं। आज हम आपको उन जरूरी टिप्स के बारे में बताएंगे जिनके जरिए सिक्यॉर मोबाइल पेमेंट्स किए जा सकते हैं।
    मोबाइल पेमेंट ऐप्स को हमेशा आधिकारिक स्टोर्स जैसे गूगल प्ले और ऐपल स्टोर से ही डाउनलोड करें। ध्यान रखें, कभी भी ईमेल या किसी मेसेज में मिले ऑनलाइन बैंकिंग, मोबाइल पेमेंट ऐप या शॉपिंग वेबसाइट के लिंक पर क्लिक न करें।
    ऑनलाइन बैंकिंग या शॉपिंग के लिए पब्लिक वाई-फाई और असुरक्षित इंटरनेट से बचें। ऐसा करने से आपकी जानकारी हैक होने का खतरा रहता है।
    ऑनलाइन पेमेंट ऐप्स या फिर नेट बैंकिंग के लिए हमेशा मजबूत पासवर्ड ही चुनें। याद रहे अगर आप पासवर्ड में अपरकेस व लोअरेकस के साथ स्पेशल करेक्टर का इस्तेमाल करते हैं तो सुरक्षा के लिहाज से बेहतर रहेगा।
    ऐप को परमिशन ग्रांट करने से पहले इन्हें ध्यान से पढ़ लें। अगर आपको लगता है कि कोई मोबाइल पेमेंट ऐप जरूरत से ज़्यादा परमिशन मांग रहा है तो उसे इंस्टॉल न करें। अगर परमिशंस को लेकर आपको कोई शक है तो आप ट्विटर हैंडल या वेबसाइट के जरिए ऐप निर्माता से भी संपर्क कर सकते हैं।
    सुनिश्चित करें कि आपके बैंकिंग ट्रांजेक्शन के लिए ओटीपी (वन टाइम पासवर्ड) इनेबल है। नेट बैंकिंग, डेबिट/क्रेडिट कार्ड के जरिए खरीदारी करते समय लॉगइन आईडी और पासवर्ड (या कार्ड डिटेल) डालें और फाइनल पेमेंट से पहले अपने रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर मिले ओटीपी को जरूर डालें। ऐसा करने से आपकी नेट बैंकिंग/कार्ड डिटेल चुराने की कोशिश के दौरान भी बिना ओटीपी के पेमेंट नहीं होगी।
    अच्छा रहेगा कि आप ऑनलाइन शॉपिंग और बिल भुगतान के लिए जाना-मानी और प्रतिष्ठित लोकप्रिय वेबसाइट का इस्तेमाल ही करें। जरूरी है कि फोन में एक मोबाइल सिक्यॉरिटी ऐप इंस्टॉल हो।
    किसी भी ऐप को डाउनलोड करने से पहले, पब्लिशर को वेरिफाई कर लें। गूगल प्ले में एक 'टॉप डेवलॉपरÓ बैज होता है जिससे पता चलता है कि ऐप सेफ है। यूजर रिव्यूज भी पढ़ें।
    साइबर सेल की अब तक की छानबीन में आया है कि स्कीमर के जरिए डेबिट कार्ड का डेटा कॉपी करने में यूपी के ही एक गैंग का हाथ है। आशंका है कि साइबर जालसाजों के किसी बड़े गैंग के इशारे पर इन लोगों ने डेटा कॉपी कर उन्हें मुहैया करवा दिया है। वह लोग धीरे-धीरे डेटा के जरिए डेबिट कार्ड का क्लोन तैयार कर रकम निकाल रहे हैं। पुलिस को कुछ मोबाइल फोन नंबर भी मिले हैं, जिसके जरिए गैंग के सदस्यों तक पहुंचने की कोशिश की जा रही है। साइबर सेल के इंस्पेक्टर विजय वीर सिंह सिरोही का कहना है कि कुछ सुराग मिले हैं। उसी पर काम किया जा रहा है। 
    पिछले दिनों ऑनलाइन शॉपिंग के जरिए ठगी के मामले बढ़े थे। इसमें कुछ में बैंककर्मियों की मिलीभगत सामने आई थी। जब तक जालसाज ऑनलाइन शॉपिंग से माल की डिलीवरी लेते थे, तब तक पुलिस डिलीवरी कंपनी तक पहुंच जाती थी। इससे साइबर जालसाज माल हासिल नहीं कर पाते थे। माना जा रहा है, इसीलिए जालसाजों ने स्कीमर से डेटा कॉपी कर फ्रॉड शुरू किया है।  एटीएम से रकम निकालने से पहले जांच लें कि कोई स्कीमर तो नहीं है। 
    स्वैपिंग पॉइंट के अगल-बगल हाथ लगाकर देखें। कोई वस्तु नजर आए तो सावधान हो जाएं। स्कीमर की डिजाइन ऐसी होती है कि वह मशीन का पार्ट लगे। 
    कीपैड का एक कोना दबाएं, अगर पैड स्कीमर होगा तो एक सिरा उठ जाएगा। मौजूदा समय में जरूरी है कि डेबिट कार्ड का पिन बदल दें। इससे जालसाजों के जाल में फंसने से बच सकते हैं।(नवभारत टाईम्स)

    ...
  •  


Posted Date : 22-May-2018
  • वाशिंगटन, 22 मई। वैज्ञानिकों ने खुद से जुडऩे वाले एक नये बैट्री उपकरण का विकास किया है जो कुछ ही सेकेंड में चार्ज हो सकता है और भविष्य के मोबाइल उपकरणों को ऊर्जा दे सकता है। अमरीका के कॉर्नेल विश्वविद्यालय के शोधकर्ताओं ने तेजी से चार्ज होने की क्षमता रखने चाले ऊर्जा भंडारण उपकरणों की मांग पर ध्यान देने के लिए नयी ऊर्जा संरचना का निर्माण किया है।
    गैर सुचालक सेपरेटर के दोनों ही तरफ बैट्री के एनोड एवं कैथोड की बजाए वैज्ञानिकों ने खुद से जुडऩे वाले, थ्री डी गिरोइडल संरचना में अवयवों को आपस में बांधा और बेहद सूक्ष्म स्तर के छिद्रों में ऊर्जा भंडारण एवं आपूर्ति के लिए जरूरी तत्व भरे।
    विश्वविद्यालय के प्रोफेसर उल्रिक विजनर ने बताया कि इन आपस में जुड़े डोमेन के आयामों को बेहद सूक्ष्म स्तर तक घटाने से पारंपरिक बैट्री संरचनाओं की तुलना में बेहद कम समय में ऊर्जा हासिल की जा सकती है।  (भाषा)

    ...
  •  


Posted Date : 22-May-2018
  • अभय शर्मा
    लगभग हर महीने कोई नया फीचर देने वाला इंस्टेंट मैसेजिंग एप वाट्सएप अपने यूजर्स को जल्द ही एक नया फीचर देने जा रहा है. वाट्सएप के बीटा वर्जन के बारे में जानकारी देने वाली वेबसाइट ‘वाट्सएप बीटाइंफो’ के अनुसार कंपनी ने अपने एप में ‘ग्रुप वीडियो कॉल’ का फीचर जोड़ दिया है. हालांकि अभी यह फीचर टेस्टिंग के मकसद से केवल कुछ यूजर्स को ही उपलब्ध कराया गया है.
    बीटाइंफो की खबर के मुताबिक ग्रुप वीडियो कॉल फीचर के तहत अधिकतम चार लोग एक वीडियो कॉल में शामिल हो सकते हैं. यह नया फीचर कॉल विंडो में ‘एड पार्टिसिपेंट’ नाम से दिया गया है. यूजर किसी वीडियो कॉल के दौरान ‘एड पार्टिसिपेंट’ पर क्लिक करके अन्य लोगों को वीडियो कॉल में शामिल कर सकता है.
    इस महीने की शुरुआत में वाट्सएप की ओर बताया गया था कि कंपनी ‘ग्रुप वीडियो कॉल’ फीचर पर काम कर रही है और जल्द ही इस फीचर को लॉन्च किया जा सकता है. हालांकि, बीटाइंफो ने इसका खुलासा इस साल फरवरी में ही कर दिया था.
    सोमवार को ही वाट्सएप और फेसबुक के एक नए फीचर से जुड़ी एक और खबर भी आई है. न्यूज़ वेबसाइट ‘न्यूज़बाइट्स’ के मुताबिक इन दिनों फेसबुक एक ऐसे नए फीचर पर काम कर रहा है जिससे फेसबुक मोबाइल एप यूजर अपने पोस्ट को सीधे वाट्सएप पर पोस्ट कर सकेंगे. न्यूज़बाइट्स के मुताबिक फेसबुक ने टेस्टिंग के मकसद से अपनी एप के बीटा वर्जन में यह फीचर जोड़ दिया है. हालांकि, फेसबुक और वाट्सएप दोनों की ओर से अभी तक इस फीचर की कोई आधिकारिक पुष्टि नहीं की गयी है.
    इस फीचर के बारे में और जानकारी देते हुए बताया है कि जब फेसबुक एप में किसी भी पोस्ट के शेयर बटन पर क्लिक किया जाता है तो यूजर को दो विकल्प मिलते हैं. इनमें से एक ‘शेयर नाउ’ और दूसरा ‘राइट पोस्ट’ का होता है. लेकिन, फेसबुक एप के बीटा वर्जन को इस्तेमाल करने वाले यूजर्स को यहां पर एक तीसरा विकल्प भी दिया गया है. इस विकल्प पर क्लिक करते ही एक लिंक जेनरेट होती है जिसे किसी भी वॉट्सएप कांटेक्ट के साथ सीधे साझा किया जा सकता है. (न्यूज़बाइट्स)

    ...
  •  


Posted Date : 22-May-2018
  • आधुनिक भारत के निर्माता माने जाने वाले राजा राममोहन राय की आज 246वीं जयंती है. इस मौके पर गूगल ने उन्हें डूडल के जरिये श्रद्धांजलि दी है. इसमें समाज के लिए उनके कामों को दिखाया गया है.

    भारतीय पुनर्जागरण काल के जनक राजा राममोहन राय का जन्म 22 मई, 1772 को पश्चिम बंगाल में मुर्शिदाबाद जिले के राधानगर गांव में हुआ था. वे एकेश्वरवाद के सच्चे समर्थक थे. उन्होंने छोटी उम्र में ही कट्टर हिंदू परंपराओं को नकारा और मूर्ति पूजा से दूर रहे, जबकि उनके पिता रमाकांत राय ब्राह्मण थे.

    पिता के साथ राममोहन राय के काफी धार्मिक मतभेद रहे जिसके चलते उन्होंने युवावस्था में ही घर छोड़ दिया और हिमालय और तिब्बत की यात्रा पर निकल गए. वापस लौटने पर माता-पिता ने उनका विवाह यह सोच कर कर दिया कि इससे बेटे के नजरिये में बदलाव आएगा. लेकिन ऐसा नहीं हुआ और राममोहन राय धर्म के नाम पर होने वाले पाखंड को समझाने के लिए हिंदू धर्म और उससे जुड़े वेदों व उपनिषदों का गहन अध्ययन करते रहे.

    राजा राममोहन राय के समय भारत में सती प्रथा का चलन काफी ज्यादा था. इसका विरोध करने में उन्होंने अहम भूमिका निभाई और काफी हद तक सफल भी रहे. राय ने महिलाओं को समान अधिकार दिलाने के लिए अभियान चलाया जिसमें दोबारा शादी करना और संपत्ति का अधिकार जैसी महत्वपूर्ण मांगें शामिल रहीं. 1828 में राजा राममोहन राय ने ब्रह्म समाज की स्थापना की. इसे भारत के पहले सामाजिक-धार्मिक सुधार आंदोलन के रूप में देखा जाता है. सती प्रथा पर रोक लगाने के मकसद से राय 1830 में मुगल साम्राज्य के दूत बनकर ब्रिटेन भी गए.

    राजा राममोहन राय पत्रकार के रूप में भी सक्रिय रहे. उन्होंने ‘संवाद कौमुदी’, ‘ब्रह्ममैनिकल मैग्जीन’, मिरात-उल-अखबार और बंगदूत जैसे पत्रों का संपादन व प्रकाशन किया. बंगदूत एक अनोखा पत्र था जिसमें हिंदी, बांग्ला और फारसी भाषा का प्रयोग एक साथ किया जाता था. 27 सितंबर, 1833 को राजा राममोहन राय का निधन इंग्लैंड में हुआ. ब्रिटेन के ब्रिस्टल नगर स्थित आरनोस वेल कब्रिस्तान में उनकी समाधि है. (सत्याग्रह)

    ...
  •  


Posted Date : 21-May-2018
  • रिलायंस जियो पर बड़ा हमला करते हुए एयरटेल ने इस बार एक नया प्लान पेश किया है। इस प्लान में 246 जीबी डाटा के साथ अनलिमिटेड कॉलिंग भी मिल रही है। एयरटेल के इस प्लान का सीधा मुकाबल जियो के 509 रुपये वाले प्लान से होगी। जियो के इस प्लान में रोज 4 जीबी डाटा मिलता है और इसकी वैधता 28 दिनों की है, वहीं एयरटेल के नए प्लान की वैधता 82 दिनों की है तो आइए जानते हैं एयरटेल के इस प्लान के बारे में।
    इस प्लान के खासियत की बात करें तो इसमें 246 जीबी डाटा मिलेगा और इसकी वैधता 82 दिनों की होगी यानि हर रोज आपको 3 जीबी डाटा मिलेगा।साथ ही इस प्लान में सभी नेटवर्क पर अनलिमिटेड कॉलिंग मिलेगी। इस प्लान में रोज 100 लोकल और नेशनल मैसेज भी मिलेंगे। इस प्लान की कीमत की बात करें तो इसकी कीमत 558 रुपये है। हालांकि इस प्लान की जानकारी टेलीकॉमटॉक. इन्फो नाम की वेबसाइट से मिली है, वहीं हमने एयरटेल की वेबसाइट पर चेक किया तो हमें यह प्लान नहीं दिखा। ऐसे में आपके लिए यही बेहतर होगा कि आप रिचार्ज कराने से पहले अपने नंबर पर मौजूद प्लान के बारे में जानकारी हासिल कर लें। (अमर उजाला)

    ...
  •  


Posted Date : 21-May-2018
  • नई दिल्ली. जियो और एयरटेल जैसी प्राइवेट कंपनियों पर वार करते हुए सरकारी टेलीकॉम कंपनी बीएसएनएल ने एक नया डेटा सुनामी ऑफर लॉन्च किया है. इस प्लान में कंपनी प्रतिदिन 1.5जीबी डेटा ग्राहकों को दे रही है. ये डेटा ग्राहकों को 26 दिनों तक दिया जाएगा. कंपनी ने इस प्लान की कीमत 98 रुपये रखी है. खास बात ये है कि इस ऑफर का फायदा बीएसएनएल के सभी ग्राहक उठा सकते हैं.

    हालांकि बीएसएनएल की ओर से केरल को छोड़ बाकी सभी जगहों पर 3जी स्पीड ही मुहैया कराई जाती है, जबकि जियो और एयरटेल 4जी स्पीड मुहैया कराते हैं. बीएसएनएल अपने 98 रुपये वाले पैक में 2.51 रुपये प्रति जीबी की दर से डेटा उपलब्ध कराता है. जोकि जियो के 149 रुपये वाले प्लान में 3.5 रुपये प्रति जीबी से कम है. जियो के इस प्लान में 28 दिनों के लिए प्रतिदिन 1.5जीबी डेटा दिया जाता है.

    इसी तरह एयरटेल के पास भी 149 रुपये वाला प्लान मौजूद है, जिसमें कंपनी 5.3 रुपये प्रति जीबी की दर से डेटा उपलब्ध कराती है. लेकिन जियो और एयरटेल दोनों कंपनियां डेटा के साथ-साथ प्रतिदिन अनलिमिटेड वॉयस कॉल और 100 एसएमएस भी देती हैं. जबकि बीएसएनएल के 98 रुपये वाले प्लान में वॉयस कॉल और एसएमएस का फायदा ग्राहकों को नहीं दिया जाता है.

    एयरटेल ने हाल ही में अपने 149 रुपये वाले प्लान में कुछ बदलाव किया था. इस प्लान में अब 28जीबी 3जी-4जी डेटा दिया है. हालांकि इस प्लान को चुनिंदा सर्किलों में ही उपलब्ध कराया गया था. पहले इसी प्लान में कंपनी 28 दिनों की वैलिडिटी के दौरान केवल 1जीबी डेटा मुहैया करती थी. साथ ही डेटा के अलावा एसएमएस और कॉलिंग का ऑफर भी दिया जाता था. लेकिन अनलिमिटेड कॉलिंग केवल एयरटेल टू एयरटेल ही जाती थी. ऐसे में इस बदले हुए प्लान को एयरटेल की तरफ से बड़ा कदम माना जा सकता है. (आज तक)

    ...
  •  


Posted Date : 18-May-2018
  •  भारत में रोल-ऑउट हुए ये तीन नए फीचर्स
    सोशल मीडिया नेटवर्किंग कंपनी फेसबुक ने तीन नए फीचर्स जोड़े हैं। ये तीनों ही फीचर्स सबसे पहले भारत में रोल-ऑउट किया गया है। फेसबुक ने इन फीचर्स का नाम क्रिएट एंड सेव मेमोरीज रखा है। फेसबुक एप के नए फीचर्स में आप अपने फोटोज और वीडियोज फेसबुक क्लॉउड में सेव कर सकेंगे। जिसे बाद में आप अपने फ्रेंड्स के साथ शेयर भी कर सकेंगे। इस फीचर को आज भारत में रोल-ऑउट किया गया है। बाद में इसे पूरी दुनिया के लोगों के लिए रोल-ऑउट किया जाएगा।
    इन फीचर्स के जुडऩे से फेसबुक इन-एप कैमरे में दो या तीन बदलाव देखने के मिल सकते हैं। अगर आप फेसबुक कैमरे का इस्तेमाल करके फोटो या वीडियो शूट करते हैं तो आपको इसे फेसबुक क्लॉउड में सेव करने का ऑप्शन दिखाई देगा। इस फीचर के जरिए आप अपने स्मार्टफोन के मेमोरी को बचा सकते हैं। फेसबुक क्लॉउड के जरिए आप फोटोज या वीडियोज को दुनिया में किसी से भी शेयर कर सकते हैं। कम मेमोरी स्पेस वाले स्मार्टफोन यूजर्स के लिए यह फीचर काफी फायदेमंद होगा।
    फेसबुक इन-एप कैमरा में वॉयस मैसेज रिकार्ड करने का ऑप्शन जोडऩे जा रही है। इस फीचर की मदद से यूजर्स अपनी टाइमलाइन पर अब फोटोज, वीडियोज और टेक्स्ट के अलावा वॉयस नोट्स भी शेयर कर सकेंगे। अगर आपको टाइप करने का मन नहीं है तो आप वॉयस पोस्ट के जरिए अपनी बात शेयर कर सकेंगे। यानी आप अपनी भाषा में संदेश बिना टाइप किए ही पोस्ट कर सकेंगे।
    फेसबुक पर अभी तक आप अपनी स्टोरीज शेयर कर पाते हैं, लेकिन इस नए फीचर के जुडऩे से आप अब फेसबुक स्टोरीज को सेव भी कर सकेंगे। फेसबुक ने इस फीचर का नाम आर्चीव फीचर रखा है। इस फीचर की मदद से आप अपने यादों को सहेज कर रख पाएंगे। (जागरण)

    ...
  •  


Posted Date : 16-May-2018
  • फेसबुक के स्वामित्व वाले वॉट्सऐप में लगातार नए फीचर्स और अपडेट जारी किए जा रहे हैं। वॉट्सऐप की कोशिश यूजर्स को बेहतर एक्सपीरियंस देने की है। इंस्टेंट मेसेजिंग ऐप ने अब वॉट्सऐप ग्रुप के लिए कुछ नए फीचर पेश किए हैं। 
    कंपनी ने एक आधिकारिक ब्लॉग पोस्ट में कहा, वॉट्सऐप एक्सपीरियंस की बात करें तो ग्रुप एक अहम हिस्सा हैं, बात चाहें दुनियाभर में फैले फैमिली मेंबर्स से जुडऩे की हो या फिर बचपन के दोस्तों से सालों बाद कनेक्ट होने की। अब नए तरह के वॉट्सऐप ग्रुप्स जैसे सपॉर्ट की तलाश कर रहे नए पेरेंट्स, ग्रुप स्टडी के लिए स्टुडेंट्स और प्राकृतिक आपदा में राहत पहुंचाने वाले लोग भी ग्रुप के तौर पर साथ आ रहे हैं। आज हम उन सुधारों को साझा कर रहे हैं, जिन्हें हमने खासतौर पर ग्रुप्स के लिए बनाया है।
    लोकप्रिय मेसेजिंग ऐप ने वॉट्सऐप ग्रुप में 5 नए फीचर दिए हैं, इनमें ग्रुप डिस्क्रिप्शन, एडमिन कंट्रोल, ग्रुप कैच अप, पार्टिसिपेंट सर्च और एडमिन परमिशंस शामिल हैं। 
    वॉट्सऐप यूजर्स के पास अब हमेशा के लिए ग्रुप छोडऩे का विकल्प होगा। यानी अब ग्रुप छोडऩे के बावजूद बार-बार शामिल किए जाने की परेशानी से मुक्ति मिल जाएगी। इसके अलावा, जिस यूजर ने ग्रुप बनाया है, उसे ग्रुप से हटाया नहीं जा सकेगा। नए अपडेट के बाद यूजर्स आसानी से उस मेसेज को खोज सकेंगे, जिस ग्रुप कनवर्सेशन में उन्हें मेंशन किया गया है।
    वॉट्सऐप के लाइव लोकेशन फीचर के जरिए आप दूसरे यूजर्स के साथ चैट में अपनी लोकेशन साझा कर सकते हैं। और फिर आप एक निश्चित अवधि सेट कर सकते हैं ताकि सामने वाला यूजर आपको लगातार ट्रैक कर सके। इसके लिए 15 मिनट, 1 घंटा और 8 घंटे की अवधि मिलती है।
    हाल ही में, वॉट्सऐप द्वारा अपने बिजनस ऐप में एक नया फीचर शामिल किए जाने की खबरें आईं थीं। वॉट्सऐप द्वारा चैट फिल्टर्स फीचर दिए जाने की खबरें हैं जिससे वॉट्सऐप बिजनस अकाउंट्स मेसेज को जल्दी सर्च कर पाएंगे। (नवभारत टाईम्स)।

     

    ...
  •  


Posted Date : 14-May-2018
  • भारत में सबसे ज्यादा स्मार्टफोन बेचने वाली चीन की कंपनी 'शाओमीÓ के कुछ स्मार्टफोन्स पर जल्द ही पाबंदी लग सकती है। दरअसल, चीन की ही चर्चित कंपनी 'कूलपैडÓ ने शाओमी पर पेटेंट चोरी करने का आरोप लगाया है।
    चीनी मीडिया की रिपोर्ट्स के मुताबिक कूलपैड ने जियांग्सू प्रांत के एक कोर्ट में शाओमी पर पेटेंट चोरी करने का मुकदमा दायर किया है। कूलपैड का आरोप है कि शाओमी ने उसके स्वामित्व वाली कंपनी 'यूलॉंग कम्प्यूटर टेक्नोलॉजीÓ की इजाजत के बिना ही उसके द्वारा विकसित की गई तकनीक का इस्तेमाल किया है। कूलपैड ने अपनी शिकायत में दावा किया है कि शाओमी ने अपने कुछ स्मार्टफोन्स में ऐप आइकन मैनेजमेंट, नोटिफिकेशन मैनेजमेंट और सिस्टम यूजर इंटरफेस जैसे फीचर्स के लिए जिस तकनीक का इस्तेमाल किया है, उसे यूलॉंग ने निर्मित किया है।
    खबरों के अनुसार कूलपैड ने अदालत से कहा है कि शाओमी के तीन स्मार्टफोन्स में उसकी तकनीक का इस्तेमाल किया गया है इसलिए इनकी बिक्री और उत्पादन पर तत्काल रोक लगाई जाए। बताया जाता है कि ये स्मार्टफोन एमआई मिक्स 2, रेड्मी नोट 5 और रेड्मी 5 प्लस हैं। कंपनी ने अदालत से यह अनुरोध भी किया है कि इस पूरे मामले में उसे हुए आर्थिक नुकसान की भरपाई शाओमी से करवाई जाए।
    कुछ मीडिया रिपोर्ट्स में यह भी बताया गया है कि शाओमी ने भी कूलपैड की शिकायत के बाद उससे आर-पार की लड़ाई का मन बना लिया है। खबरों के अनुसार शाओमी ने शनिवार को बीजिंग स्थित पेटेंट पुन: निरीक्षण बोर्ड में एक प्रार्थना पत्र दाखिल किया है। इसमें उसने बोर्ड से उन पेटेंट अधिकारों को रद्द करने की अपील की है जिनकी चोरी का आरोप कूलपैड ने उस पर लगाया है। (सत्याग्रह)

    ...
  •  


Posted Date : 11-May-2018
  • नई दिल्ली, 11 मई। वॉट्सऐप ग्रुपों में एक साथ कई मेंबर्स के मेसेज भेजने से लोग परेशान हैं। यही नहीं अफवाहें और फर्जी खबरों को फैलाने के लिए भी व्हाट्सएप ग्रुप के मेंबर कई दफा जिम्मेदार होते हैं। अब इन समस्याओं से निपटने के लिए, वॉट्सऐप द्वारा आईओएस, ऐंड्रॉयड और विंडोज फोन ऐप्स में 'रिस्ट्रीक्रिएट ग्रुपÓ नाम का एक नया फीचर रोल आउट करने जा रहा है। इस फीचर के आने के बाद वॉट्सएप ग्रुप एडमिन ही ग्रुप में मेसेज भेज पाएंगे। जबकि बाकी सभी ग्रुप मेंबर्स इन मेसेज को देख पाएंगे और सिर्फ एडमिन ही इन टेक्स्ट का जवाब दे पाएंगे। दूसरे ग्रुप मेंबर्स सिर्फ उन्हें पढ़ पाएंगे। रिस्ट्रीक्रिएट ग्रुप फीचर के जरिए नॉन-एडमिन मेंबर्स किसी ग्रुप में फोटोग्राफ, वीडियो, जिफ, डॉक्यूमेंट या वॉइस मेसेज तभी भेज पाएंगे जबकि ग्रुप एडमिन उन्हें अनुमति देते हैं। इस फीचर के ऐंड्रॉयड 2.18.132 और उससे ऊपर के वर्जन में उपलब्ध होने की खबरें हैं।
    वॉट्सऐप यूजर्स को जल्द ही कई नए फीचर्स मिलेंगे। वॉट्सऐप ने फेसबुक की  कॉन्फ्रेंस में नए फीचरर्स जैसे स्टिकर्स और ग्रुप वीडियो कॉलिंग आने की जानकारी दी थी। इसके अलावा वॉट्सऐप में इसके बिजनस ऐप, वॉट्सऐप बिजनस के भी कुछ फीचर्स दिए जा सकते हैं। 
    हाल ही में वॉट्सऐप में एक ब्लैक डॉट मेसेज बग आया है। जिससे वॉट्सऐप के साथ-साथ ऐंड्रॉयड स्मार्टफोन के क्रैश होने की खबरें आईं हैं। रिपोर्ट के मुताबिक, फॉरवर्ड किए जा रहे इस वॉट्सऐप मेसेज को दो वेरियंट हैं। एक में ब्लैक डॉट है जो एक चेतावनी के साथ आता है और जिस पर यूजर को टैप करने की उत्सुकता रहती है। वहीं दूसरा 'मेसेज बॉम्बÓ या खतरनाक मेसेज लोगों के फोन और वॉट्सऐप को नुकसान पहुंचा रहा है और यह किसी वार्निंग के साथ भी नहीं आता। इस मेसेज में स्पेशल कैरेक्टर हैं जो सामने से नहीं दिखते लेकिन टेक्स्ट बिहेवियर को बदल देते हैं।  (जनसत्ता)

    ...
  •  


Posted Date : 11-May-2018
  • मोबाइल के खोने पर लोग काफी परेशान हो जाते हैं। इसके लिए अब सरकार ने एक हेल्पलाइन नंबर 14422 जारी किया है। हेल्पलाइन नंबर के आने से पूरे देश में लोगों को अब शिकायत दर्ज कराने के लिए भटकना नहीं पड़ेगा। हेल्पलाइन नंबर 14422 पर डायल करने या संदेश भेजने पर शिकायत दर्ज हो जाएगी जिसके बाद पुलिस व सेवा प्रदाता कंपनी मोबाइल की खोज करेगी। दूरसंचार मंत्रालय द्वारा मई के अंत तक इसकी शुरुआत की जा सकती है।
    इस प्रक्रिया में मोबाइल के खोने पर शिकायत दर्ज होते ही पुलिस और सेवा प्रदाता मोबाइल मॉडल और आईएमईआई का मिलान करेंगी तथा पुलिस मोबाइल ट्रैक कर सकेगी। (बिजनेस स्टैंडर्ड)

     

    ...
  •  


Posted Date : 11-May-2018
  • गूगल आज अपने डूडल के जरिये भारत की प्रसिद्ध शास्त्रीय नृत्यांगना मृणालिनी साराभाई का 100वां जन्मदिन मना रहा है. डूडल में मृणालिनी साराभाई द्वारा 1949 में शुरू किया गया दर्पण एकेडमी ऑफ परफॉर्मिंग आर्ट्स ऑडिटोरियम दिखाया गया है जिसमें उनकी छात्राएं नृत्य कर रही हैं.
    मृणालिनी साराभाई का जन्म 11 मई, 1918 को केरल में हुआ. उनके पिता मद्रास हाई कोर्ट में वकील थे और मां सामाजिक कार्यकर्ता थीं. उनके तीन बच्चों में मृणालिनी सबसे छोटी थीं. 1942 में मृणालिनी की भारत के प्रसिद्ध भौतिक विज्ञानी विक्रम साराभाई से शादी हुई.
    मृणालिनी साराभाई ने नृत्य का पूरा अभ्यास युवा आयु में शुरू किया. उन्होंने भरतनाट्यम और कथकली दोनों का प्रशिक्षण लिया. 1949 में उन्होंने पेरिस में नृत्य कर खूब प्रशंसा बटोरी. कहते हैं कि उसके बाद मृणालिनी को नृत्य के लिए दुनियाभर से बुलावे आने लगे. आगे चलकर 1965 में उन्हें पद्म श्री और 1992 में पद्म भूषण से सम्मानित किया गया. 1994 में उन्हें संगीत नाटक अकादेमी फेलोशिप, जिसे संगीत नाटक अकादेमी रत्न सदस्य भी कहा जाता है, से नवाजा गया.
    मृणालिनी साराभाई केरल की पहली नागरिक थीं जिन्हें राज्य सरकार द्वारा सालाना दिया जाने वाला पुरस्कार ‘निशागांधी पुरस्करम’ दिया गया था. साल 2013 में उन्हें यह पुरस्कार मिला था. एक प्रसिद्ध नृत्यांगना के अलावा मृणालिनी साराभाई एक कवियित्री, लेखक और पर्यावरणविद् भी थीं. 21 जनवरी, 2016 को 97 वर्ष की उम्र में उनका निधन हो गया. (सत्याग्रह)

    ...
  •