खेल

Previous123456789...252253Next
23-Sep-2021 7:38 PM (31)

दुबई, 23 सितम्बर | अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) ने गुरुवार को आईसीसी पुरुष टी20 विश्व कप के लिए अधिकारिक एंथम लॉन्च किया जिस कैंपेन फिल्म में भारतीय कप्तान विराट कोहली और वेस्टइंडीज के कप्तान कीरोन पोलार्ड को एक नए अवतार में देखा गया। आईसीसी टी20 विश्व कप 17 अक्टूबर से 14 नवंबर तक यूएई और ओमान में खेला जाएगा।

एंथम को भारत के जाने माने संगीत निर्देशक अमित त्रिवेदी ने कंपोज किया है।

कोहली और पोलार्ड के अलावा अफगानिस्तान के स्पिन गेंदबाज राशिद खान और ऑस्ट्रेलिया के ऑलराउंडर खिलाड़ी ग्लेन मैक्सवेल भी एंथम में एक अलग अवतार के रुप में नजर आएगें।

आईसीसी के हवाले से पोलार्ड ने कहा, "टी20 क्रिकेट ने यह साबित किया है कि वह लगातार अपने फैंस को आकर्षित करने के लिए कुछ नया करता रहता है। पूरी दुनिया भर में जितने भी लोग इस टूर्नामेंट को देखेंगे, मैं दुबई में उनका मनोरंजन करने के लिए काफी उत्साहित हूं।"

मैक्सवेल ने कहा, आईसीसी टी20 विश्व कप काफी कठिन और मजेदार होने वाला है। कई टीमें हैं जो इस ट्रॉफी की हकदार हैं। हर मैच फाइनल की तरह होगा। हम जल्द से जल्द इसकी शुरुआत करना चाहते हैं।(आईएएनएस)


23-Sep-2021 5:46 PM (35)

नई दिल्ली. आईपीएल में दिल्ली कैपिटल्स के तेज गेंदबाज एनरिक नॉर्किया ने अपनी रफ्तार से तहलका मचा रखा है. आईपीएल के पहले चरण में दिल्ली का यह गेंदबाज खेलने से चूक गया था. यूएई में दूसरे चरण में वापसी करने वाले नॉर्किया अब गोली की रफ्तार से गेंद डाल रहे हैं. यूएई नॉर्किया पसंदीदा जगह भी है जहां आईपीएल 2020 में उन्होंने ने 16 मैचों में 22 विकेट चटकाए थे. सनराइजर्स हैदराबाद के खिलाफ नॉर्किया ने अपने पहले दो ओवर में सभी गेंदे 145 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से ऊपर डाली. इस दौरान नॉर्किया ने 151.7 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से गेंद फेंकी जो आईपीएल 2021 की सबसे तेज बॉल है. नॉर्किया ने लगातार दूसरे साल आईपीएल में सबसे तेज गेंद फेंकी है.

आईपीएल इतिहास में सबसे तेज गेंद फेंकने वाले बॉलर
दक्षिण अफ्रीका के तेज एनरिक नॉर्किया आईपीएल इतिहास में सबसे तेज गेंद फेंकने वाले गेंदबाज भी हैं. नॉर्किया ने आईपीएल 2020 में राजस्थान रॉयल्स के खिलाफ 156.2 किलोमीटर प्रति घंटे की की रफ्तार से गेंद डाली थी. हालांकि राजस्थान के बल्लेबाज बटलर ने चौका लगा दिया था. लेकिन अगली ही गेंद पर उन्होंने बटलर की गिल्लियां बिखेर दी. इस गेंद की रफ्तार भी 155.4 किलोमीटर प्रति घंटा था.

आईपीएल के इतिहास में अगर सबसे तेज की गेंद की लिस्ट पर नजर डालें तो अब पहले तीन स्थानों पर  नॉर्किया का कब्जा है. इसके बाद चौथे नंबर पर डेल स्टेन (154.4 किमी) की बारी आती है. 5वें नंबर पर कगिसो रबाडा (154.3 किमी) हैं. खास बात ये है कि ये सारे गेंदबाज दक्षिण अफ्रीका से हैं.

हैदराबाद के खिलाफ बने मैन ऑफ द मैच नॉर्किया
नॉर्किया ने हैदराबाद के खिलाफ 4 ओवर में सिर्फ 12 रन देकर दो विकेट झटके. उनके इस प्रदर्शन की वजह उन्हें मैन ऑफ द मैच चुना गया. इस गेंदबाज ने हैदराबाद के सलामी बल्लेबाज डेविड वॉर्नर को पहले ओवर में पहली गेंद 149 और दूसरी गेंद 146 किमी प्रति घंटे के रफ्तार से डाली. नॉर्खिया ने 147 किमी की गति वाली से तीसरी गेंद डाली जिस पर वॉर्नर अपना विकेट दे बैठे. वॉर्नर ने स्क्वायर लेग की शॉट खेलना चाहा, लेकिन गेंद बल्ले का ऊपरी किनारा लेते हुए पॉइंट के फील्डर के हाथों में चली गई. नॉर्किया की इस तेज गेंदबाजी ने फैंस को रावलपिंडी एक्सप्रेस शोएब अख्तर की याद दिला दी है. (news18.com)


23-Sep-2021 5:42 PM (24)

नई दिल्ली. फोर्ब्स ने 2021 में सबसे ज्यादा कमाई वाले फुटबॉलर्स की लिस्ट जारी की है. इसमें पुर्तगाल के क्रिस्टियानो रोनाल्डो 125 मिलियन डॉलर (922 करोड़ रुपये) कमाई के साथ टॉप पर हैं. दूसरे नंबर पर अर्जेंटीना के लियोनेल मेसी हैं जिन्होंने 110 मिलियन डॉलर (811 करोड़ रुपये) कमाए हैं. 

मैनचेस्टर यूनाइटेड के स्ट्राइकर रोनाल्डो की कमाई पिछले साल की तुलना में बढ़ी है. रोनाल्डो ने साल 2020 में 858 करोड़ कमाए थे यानि उन्हें इस साल 64 करोड़ ज्यादा आमदनी हुई है. रोनाल्डो की सैलरी 70 मिलियन डॉलर है जबकि उन्होंने विज्ञापनों से 55 मिलियन डॉलर की कमाई की है. रोनाल्डो इंटरनेशनल फुटबॉल में सबसे ज्यादा गोल करने वाले खिलाड़ी हैं.

बार्सिलोना छोड़ पेरिस सेंट जर्मेन से जुड़ने वाले लियोनेल मेस्सी की कमाई घट गई है. पिछले साल इस खिलाड़ी ने 924 करोड़ रुपये कमाए थे जबकि इस साल उनकी आमदनी 811 करोड़ रही. मेसी की सैलरी 75 मिलियन डॉलर है जबकि उन्होंने विज्ञापनों से 35 मिलियन डॉलर की कमाई की है. सैलरी के मामले में मेसी अब भी रोनाल्डो से आगे हैं लेकिन विज्ञापन जगत पर पुर्तगाली स्टार का जलवा है.

इस लिस्ट में तीसरे स्थान पर ब्राजील के स्टार फुटबॉलर नेमार हैं. नेमार ने इस साल 95 मिलियन डॉलर (701 करोड़) कमाई की है. पिछले साल उन्होंने 704 करोड़ रुपये की कमाई की थी. नेमार को 75 मिलियन डॉलर सैलरी से जबकि 20 मिलियन डॉलर विज्ञापन से मिले हैं. 

22 साल के किलियन एमबापे फिलहाल फ्रेंच क्लब पीएसजी के लिए खेलते हैं. फ्रांसीसी फुटबॉलर ने इस साल 43 मिलियन डॉलर (317 करोड़ रुपये) की कमाई की है. इस फुटबॉलर की कमाई भी पिछले साल की तुलना में घटी है. 

फोर्ब्स की लिस्ट में 5वें नंबर पर लिवरपूल के स्टार खिलाड़ी मोहम्मद सालाह हैं जिन्होंने इस साल 41 मिलियन डॉलर (302 करोड़ रुपये) की कमाई की है. पिछले साल की तुलना में सालाह की कमाई 31 करोड़ बढ़ी है. सालाह ने साल 2020 में 271 करोड़ रुपये कमाए थे.

इस लिस्ट में स्पेन के आंद्रे इनिएस्ता (Andres Iniesta) 7वें नंबर पर हैं. उनकी कमाई 37 मिलियन डॉलर (272 करोड़ रुपये) है. इसके बाद 8वें नंबर पर पॉल पोग्बा (250 करोड़ रुपये), 9वें नंबर पर गेरेथ बेल (236 करोड़ रुपये) और 10वें नंबर पर एडेन हेजार्ड (213 करोड़ रुपये) हैं.  (news18.com)


23-Sep-2021 1:59 PM (27)

नई दिल्ली : ZEE5 की वेब सीरीज 'ब्रेक पॉइंट' भारतीय टेनिस की दुनिया को करीब से देखने का मौका देती है. अश्विनी अय्यर तिवारी और नितेश तिवारी द्वारा सह-निर्देशित, 'ब्रेक पॉइंट' एक अनकही 'ब्रोमेंस टू ब्रेकअप' कहानी है, जो लिएंडर पेस और महेश भूपति के प्रतिष्ठित ऑन-कोर्ट साझेदारी और ऑफ-कोर्ट जीवन पर आधारित है, जिसका प्रीमियर ZEE5 पर पहली अक्तूबर को होगा. 

सात एपिसोड की वेब सीरीज न केवल ली-हेश की विशेषता वाले महाकाव्य टेनिस मैचों का निर्माण करेगी, बल्कि ऑन और ऑफ कोर्ट रिलेशनशिप और उनके पब्लिक स्प्लिट भी रीकंस्ट्रक्ट किया जाएगा. 'ब्रेक पॉइंट' में मार्टिना हिंगिस, सानिया मिर्जा, रोहन बोपन्ना जैसे अन्य टेनिस दिग्गज भी शामिल हैं, जिन्होंने जादुई ली-हेश रिश्ते पर अपने विचार साझा किए हैं जिसने उन्हें ब्रेकअप की कगार पर होने के बावजूद कोर्ट पर ग्रैंड स्लैम जीतते हुए देखा है.

खेल के मैदान से प्रसिद्ध मेहमानों की सूची में मार्टिना हिंगिस भी शामिल हैं, जिन्होंने लिएंडर पेस और महेश भूपति दोनों के साथ डबल्स खेला है. उस समय के बारे में बात करते हुए, जब पेस और भूपति ने अलग होने का फैसला किया था, मार्टिना हिंगिस कहती हैं, 'या तो आप इसे बना सकते हैं या नहीं, लेकिन संकोच करने का समय नहीं है और एक बार जब आप अपने साथी पर संदेह करना शुरू कर देते हैं, तो अलग होना बेहतर होता है. उन्होंने जो कुछ भी किया, जो उन्होंने साझा किया, उनकी कहानियां और उनकी सफलता, यह कुछ ऐसा है जो हमेशा के लिए जीवित रहेगा.'

अपने पब्लिक ब्रेक-अप के बावजूद, लिएंडर पेस और महेश भूपति 1990 के दशक के अंत में सबसे अधिक सफल युगल जोड़ी थे. 'ब्रेक पॉइंट' उनकी दोस्ती, साझेदारी, भाईचारे, महत्वाकांक्षा और कड़ी मेहनत पर आधारित एक कहानी है. (ndtv.in)
 


23-Sep-2021 12:11 PM (29)

-अभिनव कुमार

जमशेदपुर. अंतरराष्‍ट्रीय स्‍तर पर कभी देश का नाम रोशन करने वाला चैंपियन मुक्‍केबाज आर्थिक कठिनाइयों के दौर से गुजर रहा है. न तो बॉक्सिंग महासंघ ने और न ही सरकार ने इस चैंपियन की ओर मदद का हाथ बढ़ाया है. किसी संस्‍था ने भी इनकी तरफ नहीं देखा है. ऐसे में एशियन और राष्‍ट्रमंडल खेलों में भारत को रजत ओर कांस्‍य पदक दिलाने वाले मुक्‍केबाज बिरजू साह दो जून की रोटी की जुगाड़ में सिक्‍योरिटी गार्ड की नौकरी करने को मजबूर हैं. आर्थिक कठिनाइयां ऐसी हैं कि उनके बच्‍चों ने पैसों की तंगी के चलते पढ़ाई-लिखाई छोड़ दी. वह किसी तरह से परिवार के लिए दो वक्‍त के खाने का इंतजाम कर पा रहे हैं.

हमारे देश में क्रिकेट खिलाड़ियों को छोड़ बाकी स्पोर्ट्स के खिलाड़ियों का क्या हाल है, यह किसी से छुपा नहीं है. इसी का ताज़ा उदाहरण हैं जमशेदपुर के बॉक्सिंग प्लेयर रहे बिरजू साह. उनका नाम कभी वर्ल्ड के टॉप 7 बॉक्सिंग प्लेयर में शुमार हुआ करता था. बिरजू साह ने इंडिया के लिए साल 1994-95 में सिल्वर व ब्रॉन्ज़ मेडल एशियाई गेम्स और कॉमनवेल्थ गेम्स (जापान) में जीता था. बिरजू साह ने देश में खेले गए विभिन प्रतियोगिताओं में न जाने कितने मेडल जीत रखे हैं. दुर्भाग्य की बात यह है कि घर की आर्थिक स्थिति ठीक न होने की वजह से बिरजू पिछले 7 साल से सिक्योरिटी गार्ड की नौकरी कर रहे हैं. बिरजू के पिता और पत्नी दोनों पैरालिसिस से ग्रसित हैं. उनके 2 बच्चे हैं, जिन्होंने पढ़ाई छोड़ दी है. बिरजू साह का कहना है कि उन्होंने बॉक्सिंग को हमेशा खुद से और परिवार से आगे देखा है, पर कहीं न कहीं सरकार और स्‍पोर्ट्स की राजनीति ने उन्हें और उनके टैलेंट को पीछे छोड़ दिया.

बिरजू साह बताते हैं कि उन्‍हें बॉक्सिंग का जुनून आज भी उतना ही है, जितना पहले था. इसे बस बात से समझा जा सकता है कि गॉर्ड की नौकरी बाद समय निकाल कर वह बच्‍चों को बॉक्सिंग की ट्रेनिंग देते हैं. वह खुद भी रोज़ प्रैक्टिस करते हैं, ताकि खुद को फिट रखा जा सके. बिरजू साह का कहना कि एक बार रिंग में उतर जाने के बाद वह अपना सारा दुख-दर्द भूल जाते हैं. बिरजू ने कहा कि उन्हें कोई याद रखे या न रखे, लेकिन वह जिंदगी से लड़ते रहेंगे, क्योंकि वह कल भी एक प्लेयर थे और आज भी एक प्‍लेयर हैं. (news18.com)


22-Sep-2021 8:15 PM (45)

नई दिल्ली. सनराइजर्स हैदराबाद के तेज गेंदबाज टी नटराजन को कोविड-19 पॉजिटिव पाया गया है. हालांकि बीसीसीआई ने कहा कि टीम का शाम (22 सितंबर) को दिल्ली कैपिटल्स के खिलाफ होने वाला इंडियन प्रीमियर लीग मैच पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार होगा. आईपीएल के दूसरे चरण में कोरोना की इंट्री पर इंग्लैंड के पूर्व कप्तान माइकल वॉन ने बीसीसीआई पर तंज कसा है.

वॉन ने टी नटराजन के कोविड-19 पॉजिटिव की खबर आने के बाद तुरंत ट्वीट किया, “देखते हैं आईपीएल पिछले टेस्ट (भारत बनाम इंग्लैंड मैनचेस्टर टेस्ट) की तरह रद्द होता है या नहीं! मैं गारंटी देता हूं कि यह नहीं होगा.” बता दें कि भारत और इंग्लैंड के बीच मैनचेस्टर में खेला जाना आखिरी टेस्ट मैच हेड कोच रवि शास्त्री और सपोर्ट स्टाफ के कोविड-19 पॉजिटिव होने के चलते रद्द करना पड़ा था.

आईपीएल पर फिर कोरोना का साया
घुटने की सर्जरी से वापसी कर रहे बायें हाथ के तेज गेंदबाज नटराजन दिल्ली के खिलाफ मैच से पहले कोरोना पॉजिटिव पाए गए. उनके करीबी संपर्क में आए छह लोगों को भी पृथकवास में भेज दिया गया है जिसमें भारतीय टीम से बाहर चल रहे ऑलराउंडर विजय शंकर भी शामिल हैं. बीसीसीआई की विज्ञप्ति के अनुसार, ‘‘सनराइजर्स हैदराबाद का खिलाड़ी टी नटराजन आरटी-पीसीआर जांच में कोविड-19 पॉजिटिव आया है. खिलाड़ी ने खुद को बाकी की टीम से अलग कर लिया है और उसे अभी कोई लक्षण नहीं है.’’

विज्ञप्ति के अनुसार, ‘‘बाकी की टीम का स्थानीय समयानुसार आज सुबह पांच बजे आरटी-पीसीआर परीक्षण कराया गया जिसमें करीबी संपर्क भी शामिल हैं. सभी की रिपोर्ट नेगेटिव आयी है.” सनराइजर्स हैदराबाद और दिल्ली कैपिटल्स के बीच आज रात को होने वाला मैच दुबई अंतरराष्ट्रीय स्टेडियम में तय कार्यक्रम के अनुसार खेला जायेगा. चिकित्सा टीम द्वारा करीबी संपर्कों में विजय कुमार (टीम मैनेजर), श्याम सुंदर जे (फिजियोथेरेपिस्ट), अंजना वैनन (डॉक्टर), तुषार खेडकर (लॉजिस्टिक्स मैनेजर) और पेरियासैमी गणेशन (नेट गेंदबाज) को पाया गया.

अब नटराजन को अब 10 दिन तक पृथक रहना होगा और बायो-बबल में उनकी वापसी परीक्षण में दो बार नेगेटिव आने के बाद ही होगी. सनराइजर्स हैदराबाद के लिये यह बड़ा झटका होगा क्योंकि टीम नटराजन के चोटिल होने के कारण पहले चरण में उनकी सेवायें नहीं ले पायी थी. तीस वर्षीय नटराजन ने आईपीएल में 24 मैच खेलकर 20 विकेट चटकाये हैं.

मई में भारत में बायो-बबल में कई कोविड-19 पॉजिटिव मामले सामने आने के बाद आईपीएल रोक दिया गया था जो 19 सितंबर से यूएई में बहाल हुआ है. उस समय भी सनराइजर्स हैदराबाद के सीनियर विकेटकीपर बल्लेबाज ऋद्धिमान साहा कोविड-19 पॉजिटिव पाये गये थे. लीग उनकी रिपोर्ट आने के बाद निलंबित कर दी गयी थी जिसमें पहले तीन और मामले सामने आये थे. (news18.com)


22-Sep-2021 7:45 PM (32)

नई दिल्ली. विराट कोहली ने आईपीएल से शुरू होने से पहले भारतीय फैंस को दो करारे झटके दिए हैं. कोहली ने पिछले हफ्ते पहले वर्कलोड का हवाला देते हुए पहले टी20 वर्ल्ड कप के बाद भारतीय टी20 टीम की कप्तानी छोड़ने का ऐलान किया है. उसके बाद कोहली ने आईपीएल 2021 के बाद रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर की भी कप्तानी छोड़ने की घोषणा की. कोहली 2016 से ही टेस्ट, वनडे, टी20 इंटरनेशनल में भारत और आईपीएल में आरसीबी की कप्तानी कर रहे हैं. भारत की कप्तानी करते हुए कोहली टीम को अभी तक एक भी आईसीसी खिताब नहीं दिला पाए जबकि आरसीबी को एक बार भी चैंपियन नहीं बना सके. हालांकि बतौर कप्तान कोहली ने टेस्ट और वनडे क्रिकेट में जबरदस्त बल्लेबाजी की है लेकिन टी20 क्रिकेट में उनका प्रदर्शन गिरा है.

इसके अलावा कोहली पिछले दो सालों से बड़ी पारी खेलने को तरस रहे हैं. इंटरनेशनल क्रिकेट में 70 शतक जड़ चुके कोहली नवंबर 2019 के बाद से ही सेंचुरी नहीं लगा सके है. बल्लेबाजी पर ही ध्यान केंद्रित करने के लिए विराट ने टी20 फार्मेट में कप्तानी छोड़ने की घोषणा की है. कोहली 5 नवंबर को 33 साल के हो जाएंगे और उनके फिटनेस को देखते हुए कहा जा सकता है कि वह अभी 4-5 साल आसानी से क्रिकेट खेल सकते हैं. क्रिकेट में कई बार ऐसा देखा गया है कि अपने लंबे करियर को लंबा खींचने के लिए बल्लेबाज किसी एक फार्मेट को खेलना छोड़ देते हैं. सचिन तेंदुलकर, राहुल द्रविड़, वीवीएस लक्ष्मण, अनिल कुंबले जैसे दिग्गज अपने करियर के आखिरी दिनों में सिर्फ टेस्ट क्रिकेट ही खेलते थे. कोहली भी किसी एक फार्मेट को छोड़ सकते हैं.

दैनिक भास्कर की एक रिपोर्ट के अनुसार, टी20 टीम की कप्तानी छोड़ने के बाद विराट के इस फार्मेट में कम ही खेलने की उम्मीद है. भारतीय टीम टी20 वर्ल्ड कप के बाद शुरू हो रहे घरेलू सीजन में 14 टी20, 4 टेस्ट और 3 वनडे मैच खेलने वाली है. अगले साल भी टी20 वर्ल्ड कप होना है तो ऐसे में सभी टीमें टी20 मैच ही ज्यादा खेल रही है. विराट कोहली आईपीएल में तो जरूर खेलेंगे लेकिन टी20 इंटरनेशनल मैचों से हट सकते हैं. पिछले चार सालों में कोहली ने टी20 इंटरनेशनल क्रिकेट से कई बार ब्रेक भी लिया है जिसमें रोहित शर्मा (19 मैच) ने कप्तानी की है.

विराट कोहली पहले भी टीम इंडिया के बिजी शेड्यूल और वर्कलोड मैनेजमेंट पर सवाल उठा चुके हैं. इन दिनों मैदान पर उतरने से पहले खिलाड़ियों को बायो-बबल में रहना जरूरी होता है. इसका प्रभाव भी खिलाड़ियों के मानसिक स्वास्थ्य पर असर डाल रहा है. अब विराट के पास मौका है कि वह खुद टी20 इंटरनेशनल से अलग होकर अपना वर्कलोड कम कर सकते हैं.

कप्तानी में गिरा टी20 इंटरनेशनल में प्रदर्शन
विराट कोहली टी20 इंटरनेशनल क्रिकेट और टी20 क्रिकेट में सबसे ज्यादा रन बनाने खिलाड़ी हैं. कोहली ने बतौर कप्तान और खिलाड़ी 45-45 मैच खेले हैं. बतौर खिलाड़ी उन्होंने 45 मैचों में 52.65 की औसत से 1657 रन बनाए हैं और 16 अर्धशतक जड़ा है. वहीं कप्तानी संभालने के बाद इस खिलाड़ी ने 12 अर्धशतक की बदौत 1502 रन बनाए हैं. इस दौरान उनका औसत गिरकर 48.45 का हो गया.  (news18.com)


22-Sep-2021 7:17 PM (38)

 दुबई, 22 सितम्बर | सनराइजर्स हैदराबाद के तेज गेंदबाज टी. नटराजन निर्धारित आरटी- पीसीआर टेस्ट में कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। उन्होंने खुद को टीम के अन्य सदस्यों से अलग कर लिया है और वह फिलहाल लक्ष्णरहित हैं। नटराजन के करीबी संपर्क में आए लोगों में उनके टीम के साथी खिलाड़ी विजय शंकर, नेट गेंदबाज पेरियासामी गणेशन, टीम मैनेजर विजय कुमार, फिजियोथेरेपिस्ट श्याम सुंदर जे, डॉक्टर अंजना वनान और लॉजिटिस्टिक मैनेजर तुषार खेडकर हैं जिन्हें आईसोलेशन में रखा गया है।

आईपीएल ने बुधवार को विज्ञप्ति जारी कर कहा, टीम के अन्य सदस्यों सहित करीबी संपर्क में आए लोगों का स्थानीय समयानुसार सुबह पांच बजे आरटी-पीसीआर टेस्ट किया गया और सभी की रिपोर्ट नेगेटिव आई है। इसके बाद आज होने वाला हैदराबाद और दिल्ली कैपिटल्स के बीच मुकाबला दुबई इंटरनेशनल स्टेडियम में तय कार्यक्रम के अनुसार होगा।

नटराजन को घुटने में चोट लगी थी और उनकी सर्जरी हुई थी। वह आईपीएल 2021 के दूसरे चरण से वापसी करने वाले थे। अप्रैल में आईपीएल के पहले चरण में उन्होंने फ्रेंचाइजी के लिए दो मुकाबले खेले थे।

इससे पहले, गत चार मई को हैदराबाद के रिद्धिमान साहा, दिल्ली कैपिटल्स के अमित मिश्रा, कोलकाता नाइट राइडर्स (केकेआर) के संदीप वारियर और वरूण चक्रवर्ती और चेन्नई सुपर किंग्स के कोच लक्ष्मीपति बालाजी और माइकल हसी के कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के बाद इस टूनार्मेंट को स्थगित किया गया था।

आईपीएल 2021 को करीब चार महीने बाद कड़े बायो-बबल प्रोटोकॉल में यूएई में 19 सितंबर से शुरू किया गया।(आईएएनएस)


22-Sep-2021 11:43 AM (54)

नई दिल्ली. राजस्थान रॉयल्स ने पंजाब किंग्स के खिलाफ रोमांचक जीत हासिल की. इस सुपर रोमाचंक मैच के अंतिम ओवर में युवा गेंदबाज कार्तिक त्यागी ने 4 रन का बचाव किया. लेकिन इस मैच को जीतने में राजस्थान रॉयल्स ने अपने ओवरों को थोड़ा धीमा फेंका और इसकी कीमत कप्तान संजू सैमसन को चुकानी पड़ी. राजस्थान रॉयल्स के कप्तान पर उनकी टीम द्वारा मैच के दौरान धीमी ओवर गति बनाए रखने के लिए जुर्माना लगाया गया है. हालांकि, राजस्थान रॉयल्स ने इस मैच को पंजाब किंग्स से महज 2 रन से जीत लिया.

आईपीएल गवर्निंग काउंसिल द्वारा जारी विज्ञप्ति के अनुसार, “चूंकि न्यूनतम ओवर रेट अपराधों से संबंधित आईपीएल की आचार संहिता के तहत यह उनकी टीम का सीजन का पहला अपराध था. संजू सैमसन पर 12 लाख रुपये का जुर्माना लगाया गया.” सैमसन को इस बात से कोई आपत्ति नहीं होगी, क्योंकि उसकी टीम और विशेष रूप से युवा कार्तिक त्यागी ने मैच में शानदार जीत दिलाई. राजस्थान रॉयल्स ने 185 रन बनाए (यशस्वी जायवाल (49), महिपाल लोमरार (43), अर्शदीप (5-32), मोहम्मद शमी (3-21) ने पंजाब किंग्स को 4 विकेट के नुकसान पर 183 रन पर रोक दिया. (मयंक अग्रवाल (67), केएल राहुल (49), कार्तिक त्यागी (2-29), राहुल तेवतिया (1-23).

कार्तिक त्यागी ने एक शानदार अंतिम ओवर किया और इस तरह राजस्थान रॉयल्स (RR vs PBKS) ने दुबई में हार के जबड़े से जीत छीन ली. 185 रनों का पीछा करते हुए पंजाब किंग्स को 15 गेंदों में 10 रन की जरूरत थी और टीम के पास 8 विकेट शेष थे. त्यागी के पास अंतिम ओवर में बचाव के लिए केवल चार रन थे, लेकिन उन्होंने दो विकेट लिए और एक रन देकर राजस्थान रॉयल्स के लिए दो रन की जीत हासिल की.

पंजाब किंग्स को पहले 15 गेंदों में 10 और फिर 12 गेंदों में 8 रन बनाने थे. अंतिम ओवर में टीम को सिर्फ चार रन बनाने थे, लेकिन फिर एक चमत्कार हो गया. जब त्यागी ने अंतिम ओवर फेंकने आए तो वह ना केवल चौके का बचाव कर रहे थे. बल्कि उन्होंने एडन मार्कराम और निकोलस पूरन की 39 गेदों में 57 रनों की शानदार साझेदारी को भी रोकना था.

कुछ ऐसा था अंतिम ओवर का रोमांच:
पहली गेंद – उनकी पहली गेंद कम फुल-टॉस थी, जिसे मार्कराम ने अतिरिक्त कवर के लिए मिस किया.
दूसरी गेंद- दक्षिण अफ्रीकी बल्लेबाज मार्करान ने दूसरी गेंद पर सिंगल लिया.
तीसरी गेंद – अगली गेंद पर निकोलस पूरन यॉर्कर लेंथ की गेंद पर कैच हो गए और ड्रेसिंग रूम लौट गए.
चौथी गेंद- अगली गेंद को नए बल्लेबाज दीपक हुड्डा ने मिस किया.
पांचवी गेंद- गेंद दीपक हुडा के बल्ले से लगकर सैमसन के हाथों में चली गई. अंतिम गेंद पर पंजाब को जीत के लिए 3 रन बनाने थे.
छठी गेंद- अंतिम गेंद खेलने के लिए फैबियन एलन आए, जिन्हें अंतिम गेंद में 3 रन बनाने थे. त्यागी ने अंतिम गेंद एक बार फिर फुल वाइड ही डाली और फेबियन एलेन इस पर रन नहीं बना सके. इस तरह से राजस्थान रॉयल्स ने एक हारा हुआ मुकाबला जीत लिया.

कार्तिक त्यागी बने ‘प्लेयर ऑफ द मैच’
अपनी इस शानदार गेंदबाजी के लिए कार्तिक त्यागी को ‘प्लेयर ऑफ द मैच’ चुना गया. त्यागी ने मैच के बाद कहा, ”मैं आईपीएल के भारत में खेले गए पहले फेज के दौरान चोटिल हो गया था. लेकिन जब टूर्नामेंट सस्पेंड हुआ, तब तक मैं फिट हो गया था. इसका मुझे काफी दुख था. इसलिए अब काफी अच्छा लग रहा है. मैं वर्षों से लोगों से बात कर रहा हूं और वे मुझसे कहते रहते हैं कि इस प्रारूप में चीजें बदलती रहती हैं. इसलिए मुझे विश्वास करते रहना चाहिए. मैंने हमेशा सभी से सुना है और इस प्रारूप में खेल भी देखे हैं, जहां अजीब चीजें हुई हैं. मुझे कुछ खास मौके पर बड़ी भूमिका निभाने का सौभाग्य मिला. मैं पहले थोड़ी बहुत छोटी गेंदबाजी कर रहा था, बाद में काफी फीडबैक मिलने के बाद इस पर होशपूर्वक काम किया.”

(news18.com)


22-Sep-2021 9:14 AM (32)

मैड्रिड. चैंपियन्स लीग में बायर्न म्यूनिख के हाथों करारी हार झेलने के बाद एक सप्ताह से भी कम समय में बार्सिलोना को स्पेनिश फुटबॉल लीग ला लिगा में अपने घरेलू मैदान कैंप नोउ में ग्रेनाडा के खिलाफ 1-1 से ड्रा खेलना पड़ा. बार्सिलोना पूरे मैच में पिछड़ा रहा और एक समय उस पर हार का खतरा मंडरा रहा था. लेकिन आखिर में वह डिफेंडर रोनाल्ड अरायो के 90वें मिनट में किये गये गोल से मैच बराबर करने में सफल रहा. ग्रेनाडा की तरफ से डोमिंगोज दुआर्ते ने दूसरे मिनट में ही गोल कर दिया था.

लियोनेल मेसी से नाता तोड़ने के बाद बार्सिलोना के लिये यह दूसरा झटका है. इससे पहले उसे बायर्न के हाथों 3-0 से करारी शिकस्त झेलनी पड़ी थी. ग्रेनाडा लगातार दो ड्रॉ और फिर दो हार के बाद इस मैच में खेलने के लिये उतरा था. अप्रैल में जब कैंप नोउ में इन दोनों टीमों के बीच मुकाबला हुआ था, तब ग्रेनाडा जीता था. इस ड्रॉ से बार्सिलोना चार मैच में आठ अंक के साथ सातवें स्थान पर खिसक गया है. वह अपने चिर प्रतिद्वंद्वी रियाल मैड्रिड से पांच अंक पीछे है. रियाल के पांच मैचों में 13 अंक हैं. रीयाल ने एक अन्य मैच में वेलेंसिया को 2-1 से हराया था.

बार्सिलोना के खिलाफ मैच में ग्रेनाडा ने गोल से शुरुआत की. एस्कयूडर्डो से पहले क्रॉस पर दुआर्ते ने गोल दागकर मैच में 88वें सेकेंड में टीम को बढ़त दिला दी थी. इस गोल के बाद ग्रेनाडा पहले हाफ में बार्सिलोना पर हावी रहा. बार्सिलोना ने ग्रेनाडा के मजबूत डिफेंस को भेदने की काफी कोशिश की. लेकिन पहले हाफ में गोल दागने में टीम सफल नहीं हो पाई. दूसरे हाफ में भी बार्सिलोना के खेल में कोई सुधार नजर नहीं आया.

रोनाल्ड कोमैन ने लुक डे जॉन्ग को भी उतारा. लेकिन वो भी ग्रेनाडा के डिफेंस को भेदने में नाकाम रहे. मैच में बराबरी हासिल करने के लिए 75वें मिनट में बार्सिलोना ने जेरार्ड पिके को मैदान में उतारा. इसका टीम को फायदा हुआ और विपक्षी टीम के गोल पोस्ट पर लगातार हमले होने लगे. आखिरकार मेहनत रंग लाई और 90वें मिनट में डिफेंडर रोनाल्ड अरायो ने बराबरी का गोल दाग टीम को राहत की सांस पहुंचाई और टीम को हराने से बचा लिया. (news18.com)


22-Sep-2021 8:49 AM (71)

दुबई. कार्तिक त्यागी जब मंगलवार रात पंजाब किंग्स के खिलाफ मैच का अंतिम ओवर डाल रहे थे, तो शायद उन्हें भी चमत्कार की उम्मीद नहीं रही होगी. पंजाब को सिर्फ 4 रन बनाने थे और 8 विकेट बचे थे. सामने लगभग 200 टी20 मैच में 250 से अधिक छक्के लगाने वाले दिग्गज बल्लेबाज निकोलस पूरन थे. लेकिन सिर्फ 12वां टी20 मैच खेल रहे कार्तिक ने 20वें ओवर में महज एक रन देकर राजस्थान रॉयल्स को 2 रन से रोमांचक जीत दिला दी.

उप्र के 20 साल के तेज गेंदबाज कार्तिक त्यागी ने 20वीं ओवर की पहली गेंद लो फुलटॉस डाली. इस पर एडेन मार्करम एक भी रन नहीं बना सके. दूसरी गेंद लगभग यॉर्कर थी. लेकिन मार्करम एक रन बनाने में सफल रहे. त्यागी ने तीसरी गेंद वाइड याॅर्कर डाली. निकोसन पूरन कट मारने के चक्कर में विकेट के पीछे संजू सैमसन को कैच थमा बैठे. अब पंजाब को अंतिम तीन गेंद पर 3 रन बनाने थे और 7 विकेट बचे थे.

दीपक त्यागी ने चौथी गेंद फुल वाइड डाली. लेकिन यह विकेट से काफी बाहर थी. लेकिन हुडा ने बाहर जाकर गेंद को मारने का प्रयास किया. इस कारण अंपायर ने इसे वाइड नहीं दी. पांचवीं गेंद भी त्यागी ने ऐसी ही डाली और गेंद हुडा के बल्ले से लगकर सैमसन के हाथों में चली गई. अब अंतिम गेंद पर पंजाब को जीत के लिए 3 रन बनाने थे. त्यागी ने अंतिम गेंद एक बार फिर फुल वाइड ही डाली और फेबियन एलेन इस पर रन नहीं बना सके. इस तरह से राजस्थान राॅयल्स ने एक हारा हुआ मुकाबला जीत लिया. त्यागी ने 4 ओवर में 29 रन देकर 2 विकेट लिए. यानी इससे पहले 3 ओवरों में उन्होंने 28 रन दिए थे और एक भी विकेट नहीं मिला था. मैच में राजस्थान ने पहले खेलते हुए 185 रन बनाए थे. जवाब में पंजाब की टीम 4 विकेट पर 183 रन ही बना सकी.

2009 में मुनाफ पटेल ने किया था कारनामा

कार्तिक त्यागी अंतिम ओवर में सबसे कम रन बचाने के मामले में मुनाफ पटेल के बराबर पहुंच गए हैं. मुनाफ ने भी 2009 में राजस्थान की ही ओर से खेलते हुए मुंबई इंडियंस के खिलाफ अंतिम ओवर में 4 रन नहीं बनने दिए थे. लेकिन तब मुंबई के 7 विकेट गिर गए थे. 146 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए मुंबई ने 19 ओवर में 142 रन पर 7 विकेट गंवा दिए थे. अंतिम ओवर में उसे 4 रन बनाने थे. लेकिन टीम सिर्फ एक रन ही बना सकी थी और सभी 3 विकेट गंवा दिए थे. 2 खिलाड़ी तब रन आउट हुए थे. (news18.com)


22-Sep-2021 8:47 AM (38)

मकाय, 21 सितंबर| मैके (ऑस्ट्रेलिया), 21 सितंबर (आईएएनएस) भारत की वनडे टीम की कप्तान मिताली राज खेल के सभी प्रारूपों में करियर के 20,000 रन बनाने वाली पहली महिला बल्लेबाज बन गई हैं। महिला क्रिकेट में सबसे ज्यादा रन बनाने वाली मिताली ने मंगलवार को यहां ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पहले वनडे में 107 गेंदों में 61 रन की पारी खेली।

उन्होंने 217 वन मैचों में 7304 रन बनाए हैं, जबकि 11 टेस्ट में उन्होंने कुल 669 रन बनाए हैं। 89 टी20 में मिताली ने 2364 रन बनाए हैं।

भारतीय महिलाओं के कुछ जल्दी विकेट गंवाने के बाद मंगलवार को, भारत के कप्तान ने 63 रन की पारी खेली और तीसरे विकेट के लिए यास्तिका भाटिया (35) के साथ 77 रन जोड़े।

इसी क्रम में मिताली ने अपना 59वां वनडे अर्धशतक भी लगाया। मिताली ने भारत को 50 ओवर में 225/8 तक पहुंचाने में मदद की लेकिन भारत यह मैच नौ विकेट से हार गया।

मंगलवार की पारी ने भारत के वनडे कप्तान को बल्लेबाजों के लिए आईसीसी महिला एकदिवसीय रैंकिंग में नंबर एक स्थान पर बने रहने में मदद की। मिताली 762 अंकों के साथ शीर्ष स्थान बरकरार है। (आईएएनएस)


22-Sep-2021 8:45 AM (43)

नई दिल्ली. पंजाब किंग्स ने राजस्थान रॉयल्स के खिलाफ दूसरे हाफ के पहले मैच में क्रिस गेल को प्लेइंग-11 में शामिल ही नहीं किया. इससे सिर्फ फैंस ही नाराज नहीं नजर आए, बल्कि सुनील गावस्कर और इंग्लैंड के पूर्व कप्तान केविन पीटरसन का भी गुस्सा फूट पड़ा. दरअसल, आज गेल का 42वां जन्मदिन भी है. ऐसे में फैंस को यह उम्मीद थी कि यह सिक्सर किंग इस मुकाबले में जरूर खेलेगा. लेकिन जब टॉस जीतने के बाद कप्तान केएल राहुल ने टीम के 4 विदेशी खिलाड़ियों का नाम बताया तो सब दंग रह गए. क्योंकि गेल उसमें शामिल नहीं थे.

पीटरसन को यह काफी नागवार गुजारा. उन्होंने मैच शुरू होने से पहले गेल का इंटरव्यू किया था और वो भी इस बात का हजम नहीं कर पाए कि क्यों 42वें जन्मदिन के मौके पर गेल को प्लेइंग-11 का हिस्सा नहीं बनाया गया.

पीटरसन ने स्टार स्पोर्ट्स पर कहा कि इस पर सवाल जरूर पूछे जाएंगे. मुझे समझ में नहीं आता कि आप क्रिस गेल को उनके जन्मदिन पर बाहर क्यों रखेंगे. अगर कोई एक मैच था, जिसमें आप उन्हें खिलाने जा रहे थे, तो यह वही मुकाबला था. अगर वह असफल हो जाते, तो आप कहते हैं ‘ठीक है, तुम थोड़ा आराम कर सकते हो’. इसलिए मैं इस सोच को बिल्कुल नहीं समझ सकता.

वहीं, गावस्कर भी इस फैसले से चकित नजर आए. उन्होंने कहा कि गेल को टीम में नहीं देखना वाकई चौंकाने वाला है. वो ऐसे खिलाड़ी हैं, जिसने दुनिया भर की टी20 लीग में अपनी बादशाहत साबित की है. उन्होंने कहा कि गेल को बाहर बैठाने के फैसले नासमझी भरा है. इसके पीछे की वजह मुझे समझ नहीं आ रही.

गेल को बाहर बैठाने का फैसला बेतुका: गावस्कर
उन्होंने कहा कि मैं, केपी (केविन पीटरसन) की तरह, बिल्कुल हैरान हूं कि क्रिस गेल आज नहीं खेल रहे हैं. आज जिन चार विदेशी खिलाड़ियों को चुना गया, वे शानदार खेल सकते हैं और आज पंजाब किंग्स के लिए मैच जीत सकते थे. लेकिन तथ्य यह है कि जन्मदिन पर टी20 के ऐसे धाकड़ बल्लेबाज को आप बाहर बैठा रहे हैं. वो केवल आईपीएल ही नहीं, सीपीएल, बिग बैश. आप इसे नाम दें, हर एक T20 लीग में उनका दबदबा है और आप उन्हें इस खेल के लिए उनके जन्मदिन पर छोड़ दें, यह बेतुकी बात है.

गेल ने पहले हाफ में सभी 8 मैच खेले थे
गेल ने आईपीएल 2021 के पहले हाफ में पंजाब किंग्स की तरफ से सभी 8 मैच खेले थे. उन्होंने 25 के औसत से 178 रन बनाए थे. लेकिन वो एक भी अर्धशतक नहीं लगा पाए थे.

(news18.com)


21-Sep-2021 7:28 PM (52)

 मकाय, 21 सितम्बर | डार्सी ब्राउन (4/33) की शानदार गेंदबाजी के बाद रेचल हेन्स (नाबाद 93) और एलिसा हेली (77) की बेहतरीन पारी के दम पर ऑस्ट्रेलिया की महिला टीम ने यहां हारुप पार्क में खेले गए पहले वनडे मुकाबले में भारतीय महिला टीम को नौ विकेट से हराकर तीन मैचों की सीरीज में 1-0 की बढ़त बनाई। ऑस्ट्रेलिया ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी का फैसला किया और भारत ने पहले बल्लेबाजी करते हुए कप्तान मिताली राज के 107 गेंदों पर तीन चौकों की मदद से 61 रन की पारी के दम पर 50 ओवर में आठ विकेट पर 225 रन बनाए। लक्ष्य का पीछा करने उतरी ऑस्ट्रेलिया की टीम ने 41 ओवर में एक विकेट पर 227 रन बनाकर मैच अपने नाम किया।

ब्राउन को उनकी शानदार गेंदबाजी के लिए प्लेयर ऑफ द मैच चुना गया।

भारत की ओर से पूनम यादव ने एकमात्र विकेट लिया। लक्ष्य का पीछा करने उतरी ऑस्ट्रेलिया टीम को रेचल और हेली ने बेहतरीन शुरूआत दिलाई और पहले विकेट के लिए 126 रनों की बड़ी साझेदारी की। इस साझेदारी को पूनम ने हेली को आउट कर तोड़ा। हेली ने 77 गेंदों पर आठ चौकों और दो छक्कों के सहारे 77 रन बनाए।

पहला विकेट गिरने के बाद रेचल ने कप्तान मेग लेनिंग के साथ पारी आगे बढ़ाई और दोनों बल्लेबाजों ने दूसरे विकेट के लिए 101 रनों की अविजित साझेदारी कर टीम को बड़ी जीत दिलाई। ऑस्ट्रेलिया की पारी में रेचल 100 गेंदों पर सात चौकों की मदद से नाबाद 93 और लेनिंग 69 गेंदों पर सात चौकों के सहारे 53 रन बनाकर नाबाद रहीं।

इससे पहले, भारत की शुरूआत कुछ खास नहीं रही और उसने शैफाली वर्मा (8) और स्मृति मंधाना (16) के विकेट जल्द गंवाए। फिर यास्तिका भाटिया ने मिताली के साथ भारतीय पारी को संभाला और दोनों बल्लेबाजों ने तीसरे विकेट के लिए 77 रन जोड़े। हालांकि, यस्तिका के आउट होने के साथ ही इस साझेदारी का अंत हो गया। यास्तिका ने 51 गेंदों पर दो चौकों की मदद से 35 रन बनाए।

नए बल्लेबाज के रूप में उतरीं दीप्ति शर्मा (9) रन बनाकर पवेलियन लौटीं जबकि अर्धशतक जड़ने के बाद मिताली ज्यादा देर अपनी पारी नहीं बढ़ा सकीं और पांचवें बल्लेबाज के रूप में आउट हुईं। मिताली के आउट होने के बाद पूजा वस्त्राकर (17) और स्नेह राणा (2) के विकेट गंवाए।

अंत में ऋचा घोष ने झूलन गोस्वामी के साथ मिलकर आठवें विकेट के लिए 45 रनों की साझेदारी की और टीम का स्कोर 200 के पार पहुंचाया। लेकिन गोस्वामी के आउट होने के साथ ही इस साझेदारी का अंत हो गया। गोस्वामी 24 गेंदों पर एक चौके और एक छक्के की मदद से 20 रन बनाकर आउट हुईं जबकि ऋचा 29 गेंदों पर तीन चौकों और एक छक्के की मदद से 32 और मेघना सिंह एक रन बनाकर नाबाद रहीं।

ऑस्ट्रेलिया की ओर से ब्राउन के अलावा सोफी मोलिनेउक्स और हनाह डार्लिगटन को दो-दो विकेट मिले।

दोनों टीमों के बीच दूसरा वनडे मैच इसी मैदान पर शुक्रवार को खेला जाएगा। (आईएएनएस)


21-Sep-2021 7:28 PM (44)

 दुबई, 21 सितम्बर | वेस्टइंडीज के पूर्व खिलाड़ी ब्रायन लारा का मानना है कि रॉयल चेलेंजर्स बेंगलोर (आरसीबी) को कोलकाता नाइट राइडर्स (केकेआर) के खिलाफ मिली हार का विराट कोहली के आईपीएल के बाद टीम की कप्तानी से हटने के फैसले से लेना देना नहीं है। लारा ने क्रिकेट डॉट कॉम से कहा, "इस बारे में नहीं पता कि कोहली का फैसला परेशानी का कारण है। मुझे ऐसा नहीं लगता। एक प्रोफेशनल टीम होने के नाते वे इस साल जीतना चाहेंगे और कोहली भी इसे जीतना चाहेंगे। यह कहना जल्दबाजी होगी कि ऐसी घोषणा से टीम प्रभावित हुई है।"

उन्होंने कहा, "वे एक ऐसी टीम से हार गए, जिसे हम सभी जानते हैं। जब वे अपने सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन पर होते हैं, तो उन्हें बाहर रखना बहुत मुश्किल होता है।"

केकेआर ने आरसीबी को 92 रनों पर समेटने के बाद नौ विकेट से जीत हासिल की थी।

लारा से पहले टीम के कोच माइक हेसन ने भी कहा कि कोहली के कप्तानी से हटने के बयान का टीम के इस मैच में प्रदर्शन से कोई लेना देना नहीं है।

लारा ने कहा, "यह आरसीबी का खराब प्रदर्शन था। हम जानते हैं कि केकेआर बहुत अच्छी टीम है। उनके पास अपने कुछ दिक्कते हैं। टूर्नामेंट के पहले हाफ में उनका प्रदर्शन खराब रहा था।"

हालांकि, लारा ने कहा कि कोहली का विकेट एक तकनीकी खामी से अधिक था।

आरसीबी का अगला मुकाबला चेन्नई सुपर किंग्स के साथ 24 सितंबर को होगा।(आईएएनएस)


21-Sep-2021 7:07 PM (33)

 नई दिल्ली, 21 सितम्बर | श्रीलंका के महान ऑफ स्पिनर मुथैया मुरलीधरन का मानना है कि राशिद खान बल्लेबाजों को खेलने के लिए ज्यादा समय नहीं देते हैं जो उन्हें खेल के सबसे छोटे प्रारूप में सफल गेंदबाज बनाता है। मुरलीधरन इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) में सनराइजर्स हैदराबाद के स्पिन गेंदबाजी सलाहकार हैं। राशिद आईपीएल में हैदराबाद फ्रेंचाइजी का प्रतिनिधित्व करते हैं और मुरलीधरन ने उनके साथ काफी काम किया है।

ईएसपीएनक्रिकइंफो के ऑन द बॉल कार्यक्रम में अपनी टीम के सबसे खतरनाक गेंदबाज राशिद के बारे में पूछे जाने पर मुरलीधरन ने कहा, "राशिद तेज गति से गेंदबाजी करते हैं। बहुत कम बार आपको उनके खिलाफ आसानी से खेलने का मौका मिलता है। अगर वह छोटी गेंद भी डाले तो आप उस पर प्रहार नहीं कर सकते। अगर आप उनकी गुगली को हाथों से पढ़ने में चूके तो आप फंस जाओगे और यह उनकी खासियत है।"

यह पूछे जाने पर कि क्या मुरलीधरन नेट्स में पीछे खड़े रहकर राशिद की गेंदों को पढ़ पाते हैं, उन्होंने कहा, "मैं अपनी पूरी जि़ंदगी में नंबर 10 और 11 का बल्लेबाज रहा हूं। मैं दूसरे गेंदबाजों को नहीं पढ़ पाता था तो मैं राशिद जैसे बढ़िया गेंदबाज को कैसे पढ़ पाऊंगा। उन्हें हाथ से पढ़ पाना बहुत कठिन है। कभी-कभी अच्छे भारतीय बल्लेबाज उनकी गेंदों को पढ़ लेते हैं लेकिन ऐसा हर बार नहीं होता। विदेशी बल्लेबाज उनके सामने चकमा खा जाते हैं। अगर आप उनकी गेंद को पिच से पढ़ने की कोशिश करोगे तो बहुत देर हो जाएगी।"

हैदराबाद की टीम आईपीएल 2021 की अंक तालिका में फिलहाल सात मैचों में एक जीत और छह हार के साथ दो अंक लेकर सबसे नीचे आठवें स्थान पर है। हैदराबाद का आईपीएल के इस सीजन के दूसरे चरण में सामना बुधवार को दिल्ली कैपिटल्स से होगा। (आईएएनएस)


21-Sep-2021 6:57 PM (24)

नई दिल्ली, 21 सितम्बर | भारतीय टीम के पूर्व तेज गेंदबाज अजीत अगरकर का मानना है कि टी20 विश्व कप और आईपीएल 2021 सीजन के बाद टी20 की कप्तानी छोड़ने का फैसला करने के बावजूद विराट कोहली उसी ऊर्जा और तीव्रता के साथ खेलेंगे। अगरकर ने कहा, "मुझे लगता है कि हमने उनके पूरे करियर में एक चीज देखी है, यहां तक कि जब वह कप्तान नहीं थे और जब महेंद्र सिंह धोनी के नेतृत्व में खेलते थे, तब भी ऊर्जा और जुनून वैसा ही लगता था। मैं इसे बदलने की कल्पना नहीं कर सकता।"

कोहली ने हाल ही में आईसीसी टी20 विश्व कप और आईपीएल 2021 सीजन के बाद भारतीय टीम और रॉयल चेलेंजर्स बेंगलोर की कप्तानी छोड़ने का फैसला किया था।

भारत के पूर्व विकेटकीपर बल्लेबाज पार्थिव पटेल ने कहा कि बायो-बबल में लंबे समय तक रहने के साथ-साथ कार्यभार को देखते हुए आरसीबी की कप्तानी छोड़ने के बाद कोहली राहत महसूस करेंगे।

उन्होंने कहा, "मुझे लगता है कि वह खुश से ज्यादा भावुक दिख रहे थे। मुझे लगता है कि जब आप इतने सालों तक एक फ्रेंचाइजी के लिए खेल रहे होते हैं तो आपको वो भावनात्मक जुड़ाव मिलता है जो आरसीबी में था। मुझे लगता है कि आरसीबी ने वास्तव में 2008 में कोहली की प्रतिभा को पहचाना और फिर उन पर बहुत भरोसा दिखाया क्योंकि अगर आप उनकी और आरसीबी की यात्रा को देखें, तो यह एक रोलरकोस्टर रहा है।" (आईएएनएस)


21-Sep-2021 1:16 PM (40)

नई दिल्‍ली. न्‍यूजीलैंड के ऐन वक्‍त पर पाकिस्‍तान दौरा रद्द करने से निराश बोर्ड पाकिस्‍तान क्रिकेट बोर्ड के चेयरमैन रमीज राजा को दोहरा झटका लगा है. अब इंग्‍लैंड ने भी पाकिस्‍तान का दौरा रद्द कर दिया है. जिसके बाद रमीज राजा ने कहा कि इंग्‍लैंड ने क्रिकेट बिरादरी के एक सदस्‍य को निराश किया. इसके साथ ही उन्‍होंने कहा कि अब समय आ गया है कि पाकिस्‍तान की क्रिकेट टीम दुनिया की बेस्‍ट टीम बने.

पीसीबी के चेयरमैन ने ट्वीट करते हुए कहा कि इंग्‍लैंड से निराश हूं, वे जरूरी समय में अपने वादे से मुकर गए और क्रिकेट बिरादरी के एक सदस्‍य को निराश किया. हम निश्चित तौर पर इससे भी बाहर निकल जाएंगे. पाकिस्‍तान क्रिकेट के लिए यह जगाने वाला कॉल है कि वह दुनिया की सर्वश्रेष्‍ठ टीम बनें, जिससे बाकी की टीमें बिना कोई बहाना बनाए उसके साथ खेलने के लिए कतार में लगे.

पहले न्‍यूजीलैंड और अब इंग्‍लैंड
इंग्लैंड की महिला और पुरुष टीम को अगले महीने पाकिस्तान आना था. लेकिन इंग्लैंड एंड वेल्स क्रिकेट बोर्ड ने मानसिक दवाब और मौजूदा परिस्थितियों को देखते हुए दौरा रद्द कर दिया है. इससे पहले 18 साल बाद पाकिस्तान का दौरा करने वाली न्‍यूजीलैंड टीम ने ऐन मौके पर दौरा रद्द कर दिया था.

न्‍यूजीलैंड को पाकिस्‍तान के साथ तीन वनडे और पांच टी20 अंतरराष्ट्रीय मैच खेलने थे. लेकिन न्यूजीलैंड क्रिकेट ने पहले वनडे इंटरनेशनल मैच से पूर्व पाकिस्तान का दौरा रद्द कर दिया था. इसका कारण उसने टीम की सुरक्षा को गंभीर खतरा बताया था. (news18.com)


21-Sep-2021 9:33 AM (46)

नई दिल्ली. इंडियन प्रीमियर लीग के 31वें मुकाबले में कोलकाता नाइट राइडर्स ने रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर को एकतरफा अंदाज में 9 विकेट से हरा दिया. कोलकाता ने 93 रनों के लक्ष्य को 60 गेंद पहले ही हासिल कर लिया. कोलकाता की बेहतरीन गेंदबाजी ने बैंगलोर की दिग्गज बल्लेबाजों को सरेंडर करने पर मजबूर कर दिया. कोहली महज 5 रन बना पाए, मैक्सवेल ने 4 रन बनाए, डिविलियर्स और हसारंगा तो पहली ही गेंद पर आउट हो गए. इसके बाद आरसीबी के गेंदबाजों को शुभमन गिल और डेब्यू कर रहे वेंकटेश अय्यर ने आड़े हाथों लिया और अपनी टीम को टूर्नामेंट में तीसरी जीत दिलाई. इस हार के बाद आरसीबी के कप्तान विराट कोहली ने कहा कि उनकी टीम की आंखें खुल गई हैं और साथ ही उन्होंने करारी शिकस्त की वजह भी बताई. यही नहीं विराट कोहली ने मैन ऑफ द मैच रहे वरुण चक्रवर्ती की भी जमकर तारीफ की.

विराट कोहली ने मैच के बाद कहा, ‘ये हार हमारे लिए आंखें खोलने की तरह है. इस पिच पर अच्छी साझेदारी की जरूरत थी. ईमानदारी से कहूं तो हमें नहीं लग रहा था कि मैच के दौरान ओस इतनी जल्दी गिरने लगेगी. ये पिच बल्लेबाजी के लिए अच्छी लग रही थी. एक वक्त पर हमारा स्कोर 42 रन पर एक विकेट था लेकिन इसके बाद हमने 20 रनों के अंदर 5 विकेट गंवा दिये. इसके बाद वापसी करना आससान नहीं होता. ये मैच हमारी आंखें खोलने वाला था और अब हमें पता है कि हमें किस मोर्चे पर काम करना है.’

विराट कोहली ने वरुण चक्रवर्ती को बताया भविष्य
विराट कोहली ने वरुण चक्रवर्ती की गेंदबाजी की जमकर तारीफ की. यही नहीं कप्तान कोहली ने वरुण चक्रवर्ती को टीम इंडिया का भविष्य करार दिया. विराट कोहली ने बताया कि डग आउट में बैठकर वो वरुण चक्रवर्ती के बारे में ही बातें कर रहे थे. विराट बोले, ‘शानदार गेंदबाजी. यही मैं डग आउट में बैठकर कह रहा था कि वरुण चक्रवर्ती हमारे लिए अहम खिलाड़ी साबित हो सकते हैं. हम युवा खिलाड़ियों से ऐसा ही प्रदर्शन देखना चाहते हैं ताकि भारत की बेंच स्ट्रेंथ और मजबूत हो. वरुण चक्रवर्ती जल्द ही टीम इंडिया के लिए खेलने वाले हैं और ये टीम के लिए बहुत अच्छी बात है.’ बता दें वरुण चक्रवर्ती का टी20 वर्ल्ड कप के लिए चयन हुआ है और इस मिस्ट्री स्पिनर ने अपने चयन को एक बार फिर सही साबित किया. चक्रवर्ती ने 4 ओवर में महज 13 रन देकर 3 विकेट चटकाए और उन्हें मैन ऑफ द मैच भी चुना गया. (news18.com)


21-Sep-2021 9:32 AM (42)

-निरंजन कुमार सिंह 

रांची. झारखंड की राजधानी रांची से तकरीबन 40 किलोमीटर दूर स्थित अपनी प्राकृतिक खूबसूरती के लिए प्रसिद्ध जोन्हा जलप्रपात में कभी भगवान बुद्ध ने स्नान किया था. खुद में अनुपम सौंदर्य और अपार ऊर्जा समेटे इस झरने की श्वेत धवल जलधारा 150 फीट की ऊंचाई से निरंतर प्रवाहित होती रहती है. जलप्रपात की ऊर्जा और शक्ति को 19 साल की तीरंदाज सावित्री कई वर्षों से करीब से महसूस कर रही है. उनका संघर्ष, जुनून और बुलंद इरादे जोन्‍हा जलप्रपात से किसी भी मायने में कम नहीं है. यहां की सीढ़‍ियों पर भी सामान्य सी दिखने वाली सावित्री के जज्बे की गहरी और अमिट छाप दिखती है. सावित्री रोजाना तीरंदाजी का अभ्यास करने घर से प्रशिक्षण केंद्र जाने के क्रम में झरने के निचले हिस्से से ऊपर सड़क तक आती हैं. इस क्रम में वह प्रतिदिन तकरीबन 735 सीढ़ियां चढ़ती और उतरती हैं. इस क्रम में वह अपनी साइकिल को सिर और कंधे पर लेकर चलती हैं. शाम को घर वापसी के वक्‍त भी सीढ़‍ियां उतरने में यही प्रक्रिया दोहराती हैं.

जोन्हा के पास ही स्थित कोनारडीह गांव की रहनेवाली सावित्री हर दिन झरने से होकर गुजरती हैं. झरने के इस पार सावित्री का गांव है और वहां से तकरीबन 10 किलोमीटर दूर उस पार जोन्हा तीरंदाजी प्रशिक्षण केंद्र स्थित है. साइकिल चलाकर झरने की सीढ़ियों को पार नहीं किया जा सकता, इसलिए साइकिल को उठाकर इस सफर को तय करना सावित्री की मजबूरी है. सीढ़ियां चढ़ने के बाद आगे की यात्रा तय करने के लिए वह साइकिल चलाकर जाती हैं.

क्षमता, आत्मविश्वास, मेहनत और लगन से भरपूर झारखंड की प्रतिभाएं कभी भी संसाधनों की मोहताज नहीं रहीं हैं. खेल के क्षेत्र में तो संकल्प के बूते यहां की प्रतिभाओं ने लगातार अपने-दम-खम का लोहा मनवाया है. ऐसी ही प्रतिभाओं में सावित्री भी शुमार हैं. वह 5 बहनों में सबसे छोटी हैं. सावित्री बताती हैं कि कई बार वह खाली पेट ही अभ्यास करने के लिए घर से चल देती हैं. सेंटर पहुंचने में दो घंटे लगते हैं. इसलिए घर से काफी पहले निकलना पड़ता है. सावित्री चैंपियन बनने के साथ नौकरी भी करना चाहती हैं, ताकि परिवार के भरण-पोषण करने में माता-पिता का सहयोग कर सकें.

तीरंदाजी प्रशिक्षण केंद्र पहुंचने में उन्हें रोज डेढ़ से 2 घंटे का वक्‍त लगता है. गरीब परिवार से आनेवाली सावित्री 11वीं कक्षा की छात्रा हैं और भविष्य में बड़ी तीरंदाज बनकर ओलिंपिक में अपने देश के लिए पदक लाने की इच्छा रखती हैं. उनकी आंखों में सफलता की बुलंदियां छूने का सपना दिखता है.

जोन्हा जलप्रपात की सीढ़‍ियों पर पड़ते सावित्री के तेज कदम खेल के प्रति उनके जुनून और संकल्प को दर्शाता है. विकास की चमक-दमक और साधन-सुविधाओं से दूर, लेकिन अपार क्षमता से भरपूर झारखंड की बेटियों को कमोबेश ऐसे ही संघर्ष से गुजरना पड़ता है. यहां पगडंडियों पर दौड़कर और बांस की हाकी स्टिक व धनुष से अभ्यास कर बेटियां बड़ी से बड़ी प्रतिस्पर्धाओं में मैदान मार लेती हैं. विषम परिस्थितियों में रह रही सावित्री जैसी चैंपियन बेटियों को मौका, सहयोग और प्रोत्साहन मिले, तो उनमें पदकों का अंबार लगाने की अद्भुत क्षमता है. (news18.com)


Previous123456789...252253Next