खेल

Previous123456789...179180Next
12-Apr-2021 4:12 PM 24

हैदराबाद की पारी में कोलकाता की ओर से पहला ओवर हरभजन सिंह ने फेंका. वे करीब दो साल के बाद यानी 699 दिन के बाद क्रिकेट के मैदान में दिखे. लेकिन दो साल बाद भी उनकी गेंदबाज़ी का अंदाज़ एकदम नहीं बदला था.

पहले दो गेंदों पर तो उन्होंने रिद्धिमान साहा को कोई रन बनाने का मौका नहीं दिया. तीसरी गेंद पर साहा एक रन लेने में कामयाब हुए.

लेकिन चौथी गेंद पर हरभजन सिंह ने अपनी स्पिन से तूफ़ानी बल्लेबाज़ डेविड वॉर्नर को चकमा दे दिया. डेविन वॉर्नर को गेंद समझ नहीं आयी और गेंद उनके बल्ले से लगकर प्वाइंट की तरफ़ उछल गयी, हालांकि पैट कमिंस कैच नहीं लपक सके. इसके बाद पांचवें गेंद पर साहा कोई रन नहीं बना सके, लेकिन उन्होंने छठी गेंद को एक्स्ट्रा कवर बाउंड्री के ऊपर से छह रन के लिए बाहर भेजा. हालांकि कोलकाता के कप्तान ओइन मोर्गन ने इसके बाद हरभजन सिंह का इस्तेमाल नहीं किया.

इसको लेकर सोशल मीडिया पर हरभजन सिंह ट्रेंड भी करने लगे. उनको लेकर सोशल मीडिया यूजर्स ने कई तरह के मीम्स इस्तेमाल किए.

मैच के बाद मोर्गन ने उनके योगदान की तारीफ़ करते हुए कहा, "भज्जी ने बेहतरीन ढंग से पहला ओवर डाला. इसके बाद उन्होंने गेंदबाज़ी नहीं की लेकिन हमलोगों ने उनके अनुभव का पूरा इस्तेमाल किया और उनके अनुभव से दूसरे गेंदबाज़ों को फ़ायदा मिला."

दरअसल ऑइन मोर्गन के पास इस मुक़ाबले के लिए हरभजन सिंह के अलावा शाकिब अल हसन और वरूण चक्रवर्ती के रूप में दो स्पिनर थे. हालांकि इन दोनों गेंदबाज़ों ने अपने चार-चार ओवरों में प्रति ओवर आठ से ज़्यादा रन ख़र्चे. इसके अलावा प्रसिद्ध कृष्णा, पैट कमिंस और आंद्रे रसेल के रूप में तीन तेज़ गेंदबाज़ों के चलते भी हरभजन सिंह को गेंदबाज़ी का मौका नहीं मिला.

इससे पहले हरभजन सिंह ने 2019 के आईपीएल का फ़ाइनल मुक़ाबला चेन्नई सुपर किंग्स की ओर से मुंबई इंडियंस के ख़िलाफ़ खेला था. 2020 में वे निजी कारणों से आईपीएल से दूर रहे थे. इस सीज़न में कोलकाता नाइट राइडर्स की टीम ने 40 साल के हरभजन सिंह को दो करोड़ रूपये के बेस प्राइस में ख़रीदा है.

वैसे ये आईपीएल में हरभजन सिंह का 161वां मैच था. भारत के लिए टेस्ट मैचों में 417 और वनडे में 269 विकेट ले चुके हरभजन सिंह आईपीएल में अब तक 150 विकेट हासिल कर चुके हैं.

भारत की ओर से खेल चुके विजय शंकर जब बल्लेबाज़ी के लिए उतरे तो चार ओवरों में टीम को 57 रनों की ज़रूरत थी. विजय शंकर ने जो तीसरी गेंद का सामना किया उस पर उन्होंने बेहतरी छक्का लगाया लेकिन अगले ही ओवर में आंद्रे रसेल की गेंद पर मोर्गन ने उनका कैच लपक लिया.

आउट होने से पहले विजय शंकर ने सात गेंदों पर 11 रन बनाए. इस बल्लेबाज़ी में आलोचना जैसा कुछ नहीं है लेकिन उनके बाद उतरे अब्दुल समद ने जिस अंदाज़ में बल्लेबाज़ी की उसे देखते हुए हैदराबाद ही नहीं बहुत सारे क्रिकेट फैंस को लगने लगा कि अगर समद को विजय शंकर की जगह बल्लेबाज़ी करने भेजा गया होता तो नतीजा कुछ और होता. अब्दुल समद ने आठ गेंदों पर नाबाद 19 रन बनाए और इसमें दो छक्के शामिल थे.

राणा-त्रिपाठी चमके
ऑइन मोर्गन, जॉनी बैरिएस्टो, डेविड वॉर्नर, आंद्रे रसेल जैसे धुरंधर क्रिकेटरों की मौजूदगी में इस मुक़ाबले में हीरो बनकर उभरे दो युवा भारतीय. कोलकाता नाइट राइडर्स की ओर से नितीश राणा और राहुल त्रिपाठी ने इस मुक़ाबले में शानदार बल्लेबाज़ी की.

नितीश राणा तो इस मैच में शतक बनाने की स्थिति में दिखाई पड़ रहे थे. तेज़ गेंदबाज़ों के साथ साथ स्पिनरों पर शाट्स खेलने में उन्हें कोई मुश्किल नहीं हो रही थी. महज 56 गेंदों पर 80 रन की पारी में उन्होंने नौ चौके और चार छक्के जमाए. मैच के बाद उन्होंने कहा कि स्पिनरों को खेलने में उन्हें कोई ख़ास मुश्किल नहीं होती है.

नितीश राणा आईपीएल की पिछली छह पारियों में तीन बार 80 या उससे ज्यादा रन बना चुके हैं और तीन बार वे अपना खाता नहीं खोल पाए हैं.

इस मुक़ाबले में राहुल त्रिपाठी ने भी उनका बखूबी साथ दिया. त्रिपाठी ने 29 गेंदों पर पांच चौके और दो छक्के की मदद से 53 रन बनाए.

बैरिएस्टो शानदार पुल शाट्स के जरिए शानदार शाट्स लगा रहे थे. 40 गेंदों पर पांच चौके और तीन छक्के के साथ 55 रन बनाकर वे आउट हुए. पैट कमिंस की गेंद पर नितीश राणा ने उनका कैच लपका. उनके आउट होने के बाद मनीष पांडेय विकेट पर टिके रहे लेकिन वे टीम को जीत दिलाने की स्थिति में नज़र नहीं आए.

मनीष पांडेय 44 गेंदों पर 61 रन बनाकर नाबाद रहे, अपनी पारी में उन्होंने दो चौके और तीन छक्के लगाए.

डेविड वॉर्नर हुए फ्लॉप

हरभजन सिंह के सामने हक्के बक्के हुए डेविड वॉर्नर जीवनदान का फ़ायदा नहीं उठा सके. अगले ही ओवर भारतीय क्रिकेट की नई सनसनी बनकर उभरे प्रसिद्ध कृष्णा की ऑफ़ स्टंप के बाहर जाती गेंद पर वॉर्नर अपना बल्ला अड़ा बैठे और विकेट के पीछे दिनेश कार्तिक से कोई चूक नहीं हुई.

चार गेंदों पर महज़ तीन रन के साथ डेविड वॉर्नर आउट हुए. अगर वे विकेट पर टिके होते तो निश्चित तौर पर उनकी टीम को फ़ायदा मिलता. 188 रनों का पीछा करने उतरी टीम के लिए वॉर्नर अगर तेजी से 30-35 रन भी बना देते तो उनकी टीम ये मुक़ाबला 10 रनों से नहीं हारती.

वहीं प्रसिद्ध कृष्णा ने इसके बाद लंबे शाट्स खेलने की कोशिश कर रहे मोहम्मद नबी को भी पवेलियन भेजा. (bbc.com)


12-Apr-2021 3:40 PM 21

ब्यूनस आयर्स, 12 अप्रैल | भारतीय पुरुष हॉकी टीम ने एफआईएच प्रो लीग के मुकाबले में ओलंपिक चैंपियन अर्जेटीना को 3-0 से हरा दिया। भारत की ओर से हरमनप्रीत सिंह, ललित उपाध्याय और मनदीप सिंह ने एक-एक गोल किए और अपनी टीम को जीत दिलाने में अहम भूमिका निभाई।

भारत ने इससे पहले रविवार को अर्जेटीना को पेनल्टी शूटआउट में 3-2 से हराकर शानदार जीत दर्ज की थी।

भारत के लिए अपना 50वां अंतरराष्ट्रीय मैच खेल रहे कृष्ण बहादुर पाठक ने पहले क्वार्टर में अर्जेंटीना को तीन गोले करने से रोका।

मैच के 11वें मिनट में हरमनप्रीत ने गोल कर टीम को बढ़त दिलाई। हरमनप्रीत को दो दिनों में यह तीसरा गोल था।

दूसरे क्वार्टर में अर्जेटीना ने बराबरी की कोशिश की और भारतीय टीम पर दबाव बढ़ाया। लेकिन ललित ने 25वें मिनट में गोल कर भारत की बढ़त को 2-0 कर दिया।

तीसरे क्वार्टर में भारत ने एक बार फिर अर्जेटीना को रोके रखा। चौथा क्वार्टर खत्म होने से ठीक पहले 58वें मिनट में मनदीप ने गोल कर टीम को बढ़त 3-0 कर दी।

निर्धारित समय तक अर्जेंटीना की टीम वापसी नहीं कर सकी और उसे हार का सामना करना पड़ा।

भारत अब अर्जेटीना के खिलाफ 13 और 14 अप्रैल को दो दोस्ताना मुकाबले खेलेगा। इसके बाद भारतीय टीम लंदन में आठ और नौ मई को ग्रेट ब्रिटेन के खिलाफ प्रो लीग के मुकाबले खेलेगी।  (आईएएनएस)
 


12-Apr-2021 10:08 AM 15

 

नई दिल्ली. आईपीएल 2021 के तीसरे मैच में कोलकाता नाइट राइडर्स ने सनराइजर्स हैदराबाद को 10 रन से हरा दिया. यह केकेआर की आईपीएल में 100वीं जीत है. मैच भले ही केकेआर ने जीता, लेकिन दिल सनराइजर्स के 19 साल के बल्लेबाज अब्दुल समद ने जीता. समद सनराइजर्स की पारी के 19वें ओवर में बल्लेबाजी के लिए उतरे और आते ही कोलकाता के तेज गेंदबाज पैट कमिंस के एक ओवर में दो छक्के जड़ दिए. वो अपनी टीम को मैच तो नहीं जिता पाए. लेकिन 8 गेंद पर 19 रन पर की पारी खेलकर सबका ध्यान अपनी तरफ खींचा. दरअसल मैच में कमिंस के खिलाफ दो छक्के लगाने से पहले भी वो इस ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाज के खिलाफ आईपीएल में एक छक्का लगा चुके हैं.

कमिंस को आईपीएल 2020 के लिए हुई नीलामी में केकेआर ने 15.5 करोड़ में खरीदा था. वो टेस्ट क्रिकेट में दुनिया के नंबर-1 गेंदबाज हैं. ऐसे में उनकी गेंदों पर दो छक्के लगाकर समद ने ये बता दिया है कि उनमें कितना दम है. इसके अलावा उन्होंने जसप्रीत बुमराह के खिलाफ दो, एनरिक नॉर्खिया पर दो और पिछले आईपीएल में सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले दिल्ली कैपिटल्स के तेज गेंदबाज कागिसो रबाडा पर भी एक छक्का लगा चुके हैं. जम्मू-कश्मीर के इस खिलाड़ी का ये दूसरा आईपीएल ही है. वो अब तक लीग में 18 अलग-अलग गेंदबाजों का सामना कर चुके हैं. लेकिन छक्के सिर्फ चार गेंदबाजों के खिलाफ लगाए हैं और वो सभी तेज गेंदबाज हैं.

इसमें कमिंस के खिलाफ उन्होंने 8 गेंद में तीन छक्के, मुंबई इंडियंस के बुमराह के खिलाफ 6 गेंद में 2 छक्के लगाए हैं. इसके अलावा उन्होंने नॉर्खिया के खिलाफ 8 और रबाडा के विरुद्ध एक गेंद खेली है. महज़ 19 साल की उम्र में इन दिग्गज गेंदबाज़ों के खिलाफ इस तरह की बल्लेबाज़ी के लिए उनकी जमकर तारीफ हो रही है.

समद को नीचे भेजना हैदराबाद को पड़ा भारी
समद मैच के 19वें ओवर में बल्लेबाजी के लिए आए थे. उस समय हैदराबाद को 12 गेंदों में जीतने के लिए 38 रन चाहिए थे. सनराइजर्स के जीतने की उम्मीद कम नजर आ ऱही थी. लेकिन समद ने कमिंस की तीन गेंदों में दो छक्कों और दो रन की बदौलत 14 रन हासिल कर लिए. कमिंस के उस ओवर में 16 रन आए.आखिरी ओवर में सनराइजर्स को जीतने के लिए 22 रन चाहिए थे. लेकिन टीम 11 रन ही जोड़ सकी और जीत से 10 रन दूर रह गई. इसके बाद उन्हें सात नंबर पर भेजने को लेकर भी सवाल उठने लगे. क्योंकि इस मैच में अगर उन्हें विजय शंकर और मोहम्मद नबी से ऊपर बल्लेबाजी के लिए भेजा जाता, तो नतीजा कुछ और होता.

समद को 2020 में सनराइजर्स ने 20 लाख रुपए में खरीदा था
19 साल के समद जम्मू-कश्मीर से क्रिकेट खेलते हैं. उन्हें आईपीएल 2020 के लिए हुई नीलामी से पहले सनराइजर्स ने ट्रायल्स के लिए शॉर्टलिस्ट किया था. उन्हें नीलामी में हैदराबाद टीम ने 20 लाख रुपए में खरीदा. वे परवेज रसूल, मंजूर डार और रसिक सलाम के बाद आईपीएल कॉन्ट्रैक्ट हासिल करने वाले जम्मू-कश्मीर के चौथे खिलाड़ी बने थे. उनकी पहचान एक ऐसे खिलाड़ी के रूप में है. जो तेज गेंदबाजी करने के साथ ही जररूत पड़ने पर बड़े शॉट्स लगा सकता है. पिछले आईपीएल में भी समद ने 12 मैच में 170 से ज्यादा के स्ट्राइक रेट से 111 रन बनाए थे. भले ही समद इस मैच में टीम को जीत नहीं दिला सके. लेकिन जिस तरह की बल्लेबाजी उन्होंने की, उससे आने वाले मैचों में वो हैदराबाद टीम का अहम हिस्सा हो सकते हैं. (news18.com)


12-Apr-2021 9:55 AM 33

 

नई दिल्ली. पूर्व भारतीय कप्तान राहुल द्रविड़ इन दिनों अपने स्वभाग के विपरीत एंग्री मैन वाले अवतार में नजर आ रहे हैं. एक विज्ञापन में द्रविड़ कार से बाहर बल्ला लहराकर खुद को 'इंद्रानगर का गुंडा' बता रहे हैं. उनका ये अवतार लोगों को काफी पसंद आ रहा है और अब पुलिस भी लोगों को यातायात नियमों, कोरोना प्रोटोकॉल का पालन करने की समझाइश देने के लिए इसका सहारा ले रही. महाराष्ट्र में कोरोना के मामले लगातार बढ़ रहे हैं. ऐसे में लोगों को इस महामारी के खिलाफ सतर्क करने के लिए मुंबई पुलिस ने द्रविड़ के इस विज्ञापन का सहारा लिया.

मुंबई पुलिस ने अपने इंस्टाग्राम अकाउंट पर द्रविड़ के इस विज्ञापन से जुड़ा एक मीम शेयर करते हुए लोगों को मास्क की अहमियत समझाई. पुलिस ने द्रविड़ की तस्वीर के साथ मजेदार कैप्शन भी दिया. कोरोनावायरस को अपनी तरफ बढ़ता देख, मास्क ने गुस्सा दिखाया. ऐसे ही सूरत पुलिस ने भी द्रविड़ के इस वीडियो को सहारा लेते हुए लोगों से अपील की वो ट्रैफिक में फंसे होने के दौरान अनावश्यक रूप हॉर्न न बजाएं. दरअसल, इस विज्ञापन में द्रविड़ ट्रैफिक में फंसे नजर आ रहे हैं और वो लगातार हॉर्न बजाने के साथ ही लोगों पर गुस्सा भी हो रहे हैं. वो इतने गुस्से में आ जाते हैं कि कार में रखे बैट से गाड़ियां फोड़ने लगते हैं.

पृथ्वी शॉ के साथ शिखर धवन ने किया जमकर डांस, कहा-बेटा शेर हो तुम, मौज कर दी, देखें वीडियो

कोहली भी द्रविड़ के इस अवतार को देखकर हैरान रह गए
इसी तरह नागपुर पुलिस ने भी द्रविड़ के 'इंदिरानगर का गुंडा' वाले विज्ञापन का सहारा लेते हुए लोगों को यातायात के नियमों का पालन करने की अपील की. नागपुर पुलिस ने अपने ट्विटर अकाउंट से मजेदार पोस्ट शेयर करते हुए लिखा- ये इंदिरानगर या कहीं भी हो. शांति बनाए रखें और जबरदस्ती हॉर्न न बजाएं. द्रविड़ के साथी खिलाड़ी भी उनके इस रूप को देखकर हैरान हैं. भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली ने भी विज्ञापन का वीडियो ट्वीट करते हुए लिखा था- राहुल भाई का ये रूप तो कभी नहीं देखा. द्रविड़ फिलहाल, नेशनल क्रिकेट एकेडमी में डायरेक्टर ऑफ क्रिकेट ऑपरेशंस हैं. (news18.com)


11-Apr-2021 10:15 PM 14

चेन्नई, 11 अप्रैल| नीतीश राणा (80) और राहुल त्रिपाठी (53) की शानदार अर्धशतकीय पारियों की मदद से कोलकाता नाइट राइडर्स ने यहां के एमए चिदम्बरम स्टेडिमय में रविवार को जारी इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के 14वें संस्करण के अपने पहले मुकाबले में सनराइजर्स हैदराबाद के सामने 188 रनों का लक्ष्य रखा है। नाइट राइडर्स ने टॉस हारने के बाद पहले खेलते हुए निर्धारित ओवरों की समाप्ति के बाद 6 विकेट पर 187 रन बनाए।

शुभमन गिल (15) अधिक देर विकेट पर नहीं टिक सके लेकिन उनकी मौजूदगी में राणा ने आत्मविश्वास के साथ खेलते हुए टीम को अच्छी शुरुआत दी। दोनों ने पहले विकेट के लिए 42 गेंदों पर 53 रनों की साझेदारी की। गिल को राशिद खान ने बोल्ड किया। गिल ने 13 गेंदों का सामना कर एक चौका और एक छक्का लगाया।

इसके बाद राणा ने राहुल त्रिपाठी के साथ ताबड़तोड़ अंदाज में खेलते हुए 50 गेदों पर 93 रनों की साझेदारी की। राहुल ने 28 गेंदों पर अर्धशतक पूरा किया। वह 16वें ओवर की दूसरी गेंद पर 146 रनों के कुल योग पर टी. नटराजन की गेंद पर विकेट की पीछे रिद्धिमान साहा के हाथों लपके गए। राहुल ने 29 गेंदों पर पांच चौके और दो छक्के लगाए।

ब्लांड बालों के साथ इस साल का आईपीएल खेलने आए कैरेबियाई ऑलराउंडर आंद्रे रसेल हालांकि कुछ खास नहीं कर सके और पांच रन के निजी योग पर राशिद खान की गेंद पर मनीष पांडे के हाथों लपक लिए गए। रसेल ने पांच गेंदों का सामना कर एक चौका लगाया। रसेल का विकेट 157 के कुल योग पर गिरा।

इसके बाद केकेआर को 18वे ओवर में दो झटके लगे। मोहम्मद नबी ने तीसरी गेंद पर कप्तान इयोन मोर्गन (2) को चलता किया और फिर अगली ही गेंद पर राणा का विजय शंकर के हाथों कैच कराया। राणा ने 56 गेंदों का सामना कर 9 चौके और 4 छक्के लगाए। शाकिब अल हसन (3) सस्ते में आउट हुए जबकि दिनेश कार्तिक 9 गेंदों पर 2 चौकों और एक छक्के की मदद से 22 रन बनाकर नाबाद लौटे।

हैदराबाद की ओर से अफगानिस्तान के दो गेंदबाजों-नबी और राशिद ने दो-दो सफलता हासिल की। नटराजन और भुवनेश्वर कुमार को भी एक-एक सफलता मिली।

इससे पहले, सनराइजर्स हैदराबाद ने टॉस जीतकर गेंदबाजी करने का फैसला किया। बीते सीजन की तरह इस सीजन में भी पूर्व विजेता सनराइजर्स की कमान आस्ट्रेलिया के धुरंधर सलामी बल्लेबाज डेविड वार्नर के हाथों है जबकि इस साल के लिए इयोन मोर्गन केकेआर के पूर्णकालिक कप्तान हैं। बीते सीजन में मोर्गन ने दूसरे हाफ में कप्तानी सम्भाली थी। पूर्व कप्तान दिनेश कार्तिक का उन्हें भरपूर साथ मिलेगा।

इन दो टीमों के बीच अब तक खेले गए मुकाबलों की बात करें तो 19 में 12 बार जीत हासिल कर कोलकाता का पलड़ा भारी है। चेन्नई की स्लो विकेट्स पर सनराइजर्स का रिकॉर्ड काफी निराशाजनक है। यहां खेले गए तीनों मैचों में उन्हें हार का सामना करना पड़ा है। ऐसा नहीं है कि नाईट राइडर्स का रिकार्ड यहां अच्छा है। उसे भी 9 में से 7 मैचों में हार मिली है।

लम्बे समय तक मुम्बई इंडियंस के लिए खेल चुके चेन्नई सुपर किंग्स के लिए खेल चुके दिग्गज स्पिनर हरभजन सिंह ने कोलकाता के लिए डेब्यू किया। हरभजन सिंह ने मुम्बई के साथ अपना आईपीएल करियर शुरू किया था और उन्होंने अपना तीसरा खिताब जीतने के बाद ही एमआई को छोड़ा था। 2018 में, वह चेन्नई में शामिल हो गए थे। (आईएएनएस)


11-Apr-2021 8:33 PM 23

ढाका, 11 अप्रैल | पाकिस्तान की अंडर-19 क्रिकेट टीम का बांग्लादेश दौरा के कोविड-19 मामलों में उछाल के बाद फिलहाल स्थगित कर दिया गया है। बीसीबी ने कहा है कि स्थिति में सुधार होने पर दोनों देश सीरीज को व्यवस्थित करने के लिए अब एक नई विंडो की तलाश करेंगे।

दोनों टीमों को चार दिवसीय मैच और पांच वन-डे खेलना था। यह दौरा 2020 विश्व कप के बाद पहली यू-19 अंतर्राष्ट्रीय सीरीज होती, जिसे बांग्लादेश ने भारत को हराकर जीता था।

पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) ने एक बयान में कहा, बांग्लादेश सरकार ने महीने की शुरूआत में राष्ट्रव्यापी तालाबंदी की घोषणा करने के बाद, शनिवार 17 अप्रैल को टीम का प्रस्थान रद्द कर दिया है।

पीसीबी ने कहा कि संबंधित बोर्ड अब एक नई विंडो की तलाश करेंगे, जिसका विवरण उचित समय में साझा किया जाएगा।(आईएएनएस)


11-Apr-2021 8:25 PM 23

चेन्नई, 11 अप्रैल | सनराइजर्स हैदराबाद ने यहां के एमए चिदम्बरम स्टेडिमय में रविवार को कोलकाता नाइट राइडर्स (केकेआर) के साथ जारी इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के 14वें संस्करण के अपने पहले मुकाबले में टॉस जीतकर गेंदबाजी करने का फैसला किया है। बीते सीजन की तरह इस सीजन में भी पूर्व विजेता सनराइजर्स की कमान आस्ट्रेलिया के धुरंधर सलामी बल्लेबाज डेविड वार्नर के हाथों है जबकि इस साल के लिए इयोन मोर्गन केकेआर के पूर्णकालिक कप्तान हैं। बीते सीजन में मोर्गन ने दूसरे हाफ में कप्तानी सम्भाली थी। पूर्व कप्तान दिनेश कार्तिक का उन्हें भरपूर साथ मिलेगा।


इन दो टीमों के बीच अब तक खेले गए मुकाबलों की बात करें तो 19 में 12 बार जीत हासिल कर कोलकाता का पलड़ा भारी है। चेन्नई की स्लो विकेट्स पर सनराइजर्स का रिकॉर्ड काफी निराशाजनक है। यहां खेले गए तीनों मैचों में उन्हें हार का सामना करना पड़ा है। ऐसा नहीं है कि नाईट राइडर्स का रिकार्ड यहां अच्छा है। उसे भी 9 में से 7 मैचों में हार मिली है।

लम्बे समय तक मुम्बई इंडियंस के लिए खेल चुके चेन्नई सुपर किंग्स के लिए खेल चुके दिग्गज स्पिनर हरभजन सिंह आज कोलकाता के लिए डेब्यू कर रहे हैं। हरभजन सिंह ने मुम्बई के साथ अपना आईपीएल करियर शुरू किया था और उन्होंने अपना तीसरा खिताब जीतने के बाद ही एमआई को छोड़ा था। 2018 में, वह चेन्नई में शामिल हो गए थे।

टीमें :कोलकाता नाइट राइडर्स (प्लेइंग इलेवन): शुभमन गिल, राहुल त्रिपाठी, नितीश राणा, इयोन मोर्गन (कप्तान), दिनेश कार्तिक (विकेटकीपर), आंद्रे रसेल, शाकिब अल हसन, पैट कमिंस, हरभजन सिंह, प्रसिद्ध कृष्ण, वरुण चक्रवर्ती

सनराइजर्स हैदराबाद (प्लेइंग इलेवन): डेविड वार्नर (कप्तान), जॉनी बेयरस्टो, रिद्धिमान साहा (विकेटकीपर), मनीष पांडे, विजय शंकर, अब्दुल समद, मोहम्मद नबी, राशिद खान, भुवनेश्वर कुमार, टी. नटराजन, संदीप शर्मा।(आईएएनएस)


11-Apr-2021 6:53 PM 36

नई दिल्ली. टीम इंडिया के पूर्व कप्तान राहुल द्रविड़ के शांत स्वभाव के बारे में सभी को पता है. मैदान पर द्रविड़ को कभी गुस्से में नहीं देखा गया. हां कई बार वे जीत का जश्न मनाते जरूर देखे गए. लेकिन पूर्व भारतीय ओपनर वीरेंद्र सहवाग ने खुलासा किया है कि एक बार द्रविड़ मैदान गुस्सा हो गए थे. इतना ही नहीं उन्होंने पूर्व कप्तान एमएस धो को डांट भी लगाई थी.

वीरेंद्र सहवाग ने बताया कि 2006 के पाकिस्तान दौरे पर एमएस धोनी ने एक गलत शॉट खेला था और उसके बाद राहुल द्रविड़ उनके ऊपर काफी गुस्सा हो गए थे. धोनी ने डेब्यू सौरव गांगुली की कप्तानी में किया था. गांगुली के बाद राहुल द्रविड़ टीम के कप्तान बने थे. क्रिकबज से बातचीत करते हुए वीरेंद्र सहवाग ने बताया, "मैंने राहुल द्रविड़ को नाराज होते हुए देखा है. जब हम पाकिस्तान में थे और धोनी नए-नए टीम में आए थे. उन्होंने एक शॉट खेला और प्वॉइंट पर आउट हो गए. उसके बाद द्रविड़ उनसे काफी नाराज हो गए और कहा "इसी तरह से तुम खेलते हो? तुम्हें गेम को खत्म करना चाहिए.’  द्रविड़ ने जिस तरह से इंग्लिश शब्दों का प्रयोग किया उससे मैं हैरानी में पड़ गया था. हालांकि उनमें से अधिकतर बातों को मैं समझ नहीं पाया था.

धोनी ने कहा- फिर से डांट नहीं सुनना चाहता हूं

जब एमएस धोनी अगली बार बल्लेबाजी करने के लिए उतरे तो मैंने देखा कि वो ज्यादा शॉट्स नहीं खेल रहे थे. मैंने उनसे पूछा कि क्या हुआ तो उन्होंने कहा कि वो द्रविड़ की डांट फिर से नहीं सुनना चाहते हैं. एमएस धोनी ने कहा, ‘मैं चुपचाप मैच खत्म करूंगा और मैदान से वापस जाऊंगा.’ 2007 टी20 वर्ल्ड कप के दौरान एमएस धोनी को टीम इंडिया का कप्तान बनाया गया था. टीम ने तब टी20 वर्ल्ड कप का खिताब भी जीता था. इतना ही नहीं धोनी की कप्तानी में टीम ने वनडे वर्ल्ड कप और चैंपियंस ट्रॉफी भी जीती. (news18.com)


11-Apr-2021 6:34 PM 27

नई दिल्ली, 11 अप्रैल | भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग ने कहा है कि उन्होंने एक बार पूर्व कप्तान राहुल द्रविड़ को जबरदस्त गुस्से में देखा था ,जब पाकिस्तान के खिलाफ एक ढीले शॉट के कारण युवा महेंद्र सिंह धोनी ने अपना विकेट गंवा दिया था। सहवाग ने क्रिकबज पर पूर्व तेज गेंदबाज आशीष नेहरा को द्रविड़ के सोशल मीडिया पर चर्चा का केंद्र बने हालिया विज्ञापन की चर्चा करते हुए बताया , मैंने देखा है कि राहुल द्रविड़ किस हद तक नाराज हो सकते हैं। यह उस समय की घटना है जब हम पाकिस्तान में थे और धोनी एक नए खिलाड़ी थे, तब उन्होंने एक शॉट खेला और पॉइंट पर पकड़े गए। द्रविड़ उनके इस शॉट पर बहुत नाराज थे। उस समय द्रविड़ ने नाराज होते हुए कहा था कि 'यही तरीका है कि आपके खेलने का? आपको मैच समाप्त करके आना चाहिए था।''

व्यापक रूप से शांत और मिलनसार व्यक्ति के रूप में जाने जाने वाले द्रविड़ विज्ञापन में बेंगलुरु में ट्रैफिक जाम में साथी यात्रियों पर चिल्लाते और हंसते हुए देखा जा सकता है।

सहवाग ने आगे कहा कि धोनी बहुत ज्यादा शॉट नहीं मार रहे थे और अगली बार जब भी वह बल्लेबाजी करने गए तो वह विकेट पर रुकना चाह रहे थे।

सहवाग ने कहा, जब धोनी अगली बार बल्लेबाजी के लिए आए, तो मैं देख सकता था कि वह ज्यादा शॉट नहीं मार रहे थे। मैंने जाकर उनसे पूछा कि क्या गलत है। उन्होंने कहा कि वह द्रविड़ द्वारा फिर से डांटना नहीं खाना चाहते। "(आईएएनएस)


11-Apr-2021 6:29 PM 30

मुम्बई, 11 अप्रैल (आईएएनएस)| दिल्ली कैपिटल्स टीम के सलामी बल्लेबाज पृथ्वी शॉ ने शनिवार को यहां आईपीएल-14 मुकाबले में अपनी टीम की चेन्नई सुपर किंग्स पर सात विकेट से जीत में अहम भूमिका निभाई। यह बतौर कप्तान ऋषभ पंत का पहला मैच था। शॉ ने कहा कि उनकी टीम को नियमित कप्तान श्रेयस अय्यर की कमी खली लेकिन पंत एक बेहतरीन कप्तान हैं। सीएसके के खिलाफ मैच में दिल्ली के नवनियुक्त कप्तान पंत ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी करने का फैसला किया। उनकी टीम उनके गुरू रहे महेंद्र सिंह धोनी की सुपर किंग्स को 188 रनों पर रोकने में सफल रही और फिर शिखर धवन (85 रन, 54 गेंद,10 चौके, 2 छक्के) तथा शॉ (72 रन, 38 गेंद, 9 चौके, 3 छक्के) के बीच पहले विकेट के लिए हुई 138 रनों की साझेदारी के दम पर सात विकेट से जीत दर्ज की।

शॉ ने मैच के बाद कहा, "हम वास्तव में श्रेयस अय्यर को याद कर रहे हैं। उन्होंने टीम का बहुत अच्छा नेतृत्व किया। हालांकि, ऋषभ पंत बहुत स्मार्ट हैं। वह निडर है और खेल का आनंद लेता है। वह मैदान पर बहुत मनोरंजक है और एक कप्तान के रूप में बहुत शांत है। वह टीम के लिए शानदार काम कर रहे हैं।"

आस्ट्रेलिया में खराब प्रदर्शन के बाद भारतीय टीम से निकाले गए शॉ ने कहा कि अभी वह भारतीय टीम में वापसी के बारे में नहीं सोच रहे हैं। इससे पहले शॉ ने विजय हजारे ट्राफी में शानदार प्रदर्शन करते हुए चार शतक लगाए। अब शॉ ने आईपीएल के इस सीजन के पहले ही मैच में शानदार अर्धशतक जड़ा है।

शॉ ने कहा, "मैं अभी भारतीय टीम के बारे में अधिक नहीं सोच रहा क्योंकि टीम से निकाला जाना सचमुच काफी निराशाजनक था। मैं उससे आगे बढ़ गया हूं। मैंने मान लिया है कि मेरी बैटिंग तकनीक में कमी है और मुझे सबसे पहले उसे सुधारना है। मुझे इस पर काम करते हुए अपने आप में सुधार लाना है। इसके लिए मैं किसी तरह का बहाना नहीं बना सकता।"

दिल्ली की टीम बीते सीजन में फाइनल तक पहुंची थी जबकि सुपर किंग्स प्लेऑफ में भी नहीं पहुंच सके थे। दिल्ली के खिलाफ धोनी का व्यक्तिगत प्रदर्शन भी निराशाजनकर रहा। वह दो गेंदें खेलकर खाता खोले बगैर पवेलिटन लौटे।

अपनी वापसी वाली पारी के बारे में पृथ्वी शॉ ने कहा, " हमने जो प्लान बनाया, उस पर अमल भी किया। ऑस्ट्रेलिया दौरे के बाद ड्रॉप होने के बाद मैं प्रवीण (आमरे) सर के पास गया। अपनी बैटिंग पर चर्चा की और फिर घरेलू मैच खेले, जिसका मुझे फायदा हुआ। मुझे बहुत खुशी है कि मैं वापसी कर सका। मेरी बैटिंग में जो भी कमी है, मैं उस पर काम कर रहा हूं।"


11-Apr-2021 6:17 PM 15

ब्यूनस आयर्स, 11 अप्रैल | स्टार गोलकीपर पीआर श्रीजेस के कुछ शानदार बचावों की बदौलत ओलंपिक चैंपियन अर्जेंटीना के खिलाफ शूट-आउट जीतने से पहले भारत के हरमनप्रीत सिंह ने निर्धारित समय का खेल खत्म होने से सिर्फ छह सेकंड पहले बराबरी का गोल करते हुए अपनी टीम को एफआईएच हॉकी प्रो लीग मुकाबले में बोनस अंक दिलाया। निर्धारित समय में मैच 2-2 की बराबरी पर समाप्त हुआ और इसी कारण भारत को एक अंक के अलावा बोनस अंक भी प्राप्त हुआ। बाद में भारत ने शूटआउट में 3-2 से शानदार जीत दर्ज की।

इस मैच में हरमनप्रीत ने भारत को 1-0 की लीड दिलाई थी। इसके बाद मार्टिन फरेरो ने लगातार दो गोल करते हुए हाफटाइम तक मेजबान टीम को 2-1 की लीड दिला दी।

ऐसा लग रहा था कि मेजबान यह मैच जीत लेंगे लेकिन निर्धारित समय की समाप्ति से पहले हरमनप्रीत ने पेनाल्टी कार्नर पर मैच का अपना दूसरा गोल कर स्कोर 2-2 कर दिया।

ड्रॉ ने प्रत्येक टीम के लिए एक अंक की गारंटी दी, लेकिन यह भारत था जो पीआर श्रीजेश से कुछ शानदार गोलकीपिंग के कारण अंतत: जीत हासिल करने में सफल रहा। दिलप्रीत सिंह के गोल से भारत ने 3-2 की जीत दर्ज की लेकिन उससे पहले श्रीजेश ने लुकास विला, मार्टिन फेरेइरो और इग्नासियो इटीज को गोल करने से नकारने के लिए शानदार बचाव किए।

मैच के बाद हरमनप्रीत ने कहा, "इस मैच की खासियत हमारी लड़ाकू प्रवृति रही। हमने अंतिम समय तक उम्मीद बनाए रखा और यह परिणाम हासिल करने के लिए अंत तक कड़ी मेहनत की। हमारे लिए यह जीत काफी मायने रखती है। "

यह परिणाम भारत को अर्जेंटीना से आगे एफआईएच हॉकी प्रो लीग स्टैंडिंग में पांचवें स्थान पर लेकर आ गया है। भारत के सात मैचों से 12 अंक हैं। अर्जेंटीना ने 11 मैचों में 11 अंक हासिल किए और वह छठे स्थान पर है।

दोनों टीमें रविवार देर रात को फिर से एक-दूसरे से भिड़ेंगी। भारतीय समयानुसार यह मैच रात 1.30 बजे से खेला जाएगा।  (आईएएनएस)


11-Apr-2021 5:50 PM 25

दिल्ली कैपिटल्स ने आईपीएल में शनिवार को खेले गए मुक़ाबले में चेन्नई सुपर किंग्स को सात विकेट से हरा दिया.

इस मुक़ाबले में दिल्ली के शिखर धवन और पृथ्वी शॉ ने बेहतरीन बल्लेबाज़ी की वहीं चेन्नई की टीम में एक सीजन के बाद वापसी करते हुए सुरेश रैना ने शानदार बल्लेबाज़ी की. लेकिन इन सबसे ज़्यादा चर्चा रही है चेन्नई सुपर किंग्स के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी की.

महेंद्र सिंह धोनी लगातार 15वें साल चेन्नई सुपर किंग्स की कप्तानी कर रहे हैं, वे आईपीएल इतिहास के सबसे कामयाब कप्तान भी हैं और सबसे बेहतरीन फिनिशर भी. लेकिन शनिवार का दिन शायद उनका दिन नहीं था.

बल्लेबाज़ी के दौरान दो गेंदों पर वे अपना खाता नहीं खोल पाए और क्लीन बोल्ड हो गए. महेंद्र सिंह धोनी जब बल्लेबाज़ी करने उतरे तब चेन्नई सुपर किंग्स की पूरे पांच ओवर की बल्लेबाज़ी बाक़ी थी. टीम को अपने बेस्ट फिनिशर से कुछ धमाकेदार शाट्स की उम्मीद थी लेकिन आवेश ख़ान ने अपनी तेजी से महेंद्र सिंह धोनी को खाता भी नहीं खोलने दिया.

205 आईपीएल मैचों के दौरान यह चौथा मौका था जब धोनी अपना खाता नहीं खोल पाए. इसके बावजूद सोशल मीडिया पर धोनी, डक अलग-अलग ट्रेंड करने लगे. सोशल मीडिया यूजर्स ने धोनी के कई मीम्स शेयर किए.

वैसे कप्तान के तौर पर भी धोनी इस मैच में कोई असर नहीं छोड़ पाए. शिखर धवन और पृथ्वी शॉ ने उनके लिए ऐसा मौका छोड़ा ही नहीं.

दिल्ली की जीत में शिखर धवन और पृथ्वी शॉ की पारी का अहम योगदान रहा. दोनों बल्लेबाज़ों ने पहले पांच ओवरों में 58 रन जोड़कर चेन्नई सुपर किंग्स की मुश्किलों को बढ़ा दिया था.

सैम ने की टॉम की धुनाई

आईपीएल की बल्लेबाज़ी से वर्ल्ड टी-20 की टीम के लिए स्थान पक्का होना है, ये जानते हुए शिखर धवन इस मैच में अपने पूरे रंग में थे. वहीं पृथ्वी शॉ उनसे भी तेज़ रफ़्तार से बल्लेबाज़ी कर रहे थे. पृथ्वी शॉ ने 38 गेंदों पर 72 रन ठोके. इस पारी में उन्होंने तीन छक्के और नौ चौके जमाए.

जबकि शिखर धवन ने 54 गेंदों पर 85 रन बनाए. उन्होंने 10 चौके और दो छक्के लगाए.

दोनों बल्लेबाज़ों के सामने अपना अपना शतक पूरा करने का मौका था लेकिन दोनों शतक नहीं बना पाए. धवन ने इस मुक़ाबले में तीन बेहतरीन कैच भी लपके. ऋतुराज गायकवाड़ और मोइन अली का मुश्किल उन्होंने बेहद आसानी से लपका.

चेन्नई और दिल्ली के इस मुक़ाबले में आमने सामने दो भाई भी थे. छोटे भाई सैम करन जब चेन्नई की ओर से बल्लेबाजी करने उतरे तब दिल्ली की ओर से बड़े भाई को दो ओवरों की गेंदबाज़ी करनी थी.

टॉम करन की पहली गेंद पर सैम ने एक रन लिया. इसके बाद टॉम ने बाउंसर फेंक कर छोटे को डराने की कोशिश की. लेकिन अगली ही गेंद पर सैम ने फ़ाइन लेग पर बाउंड्री जमा दी.

सुरेश रैना की वापसी
फिर पारी के 19वें ओवर में सैम ने अपना दम दिखाया. टॉम की तीसरी फुल टॉस को उन्होंने लॉन्ग ऑन पर छक्का जमाया और अगली बाउंसर गेंद पर मिडविकेट पर छक्का.

पांचवीं गेंद पर बाउंड्री. तीन गेंद पर छोटे भाई ने 16 रन ठोक दिए. तीन ओवर में 17 रन देने वाले टॉम ने अपने आख़िरी ओवर में 23 रन दे दिए.

इससे पहले चेन्नई सुपर किंग्स की ओर से सुरेश रैना ने ज़ोरदार वापसी की.

टीम को शुरुआती झटकों से उबारते हुए उन्होंने मोइन अली और अंबाति रायडू के साथ पारी को जमाया. रैना ने 32 गेंदों पर अपनी हाफ़ सेंचुरी पूरी की.

जब उनके बल्ले से तूफानी शाट्स निकल रहे थे तभी रविंदर जड़ेजा के साथ भागदौड़ में तालमेल गड़बड़ाया और वे रन आउट हो गए.

रैना दुबई में खेले गए पिछले सीज़न में व्यक्तिगत कारणों से हिस्सा नहीं ले पाए थे. लेकिन 14वें सीजन के पहले मुक़ाबले में 36 गेंदों पर तीन चौके और चार छक्के की मदद से उन्होंने 54 रन बनाए.

आवेश ख़ान ने डाला असर
दिल्ली की जीत में तेज़ गेंदबाज़ों का अहम योगदान रहा. क्रिस वोक्स और आवेश ख़ान, दोनों ने चेन्नई के बल्लेबाज़ों को मुश्किल में डाला.

क्रिस वोक्स ने तीन ओवरों में 18 रन देकर दो विकेट चटकाए. लेकिन असली हीरो बनकर उभरे आवेश ख़ान जिन्होंने इस मुक़ाबले में महेंद्र सिंह धोनी को शून्य पर क्लीन बोल्ड करने के साथ साथ फ़ैफ़ डू प्लेसि को भी खाता नहीं खोलने दिया.

आवेश ख़ान ने चार ओवरों में 23 रन देकर दो विकेट लिए. अपनी गेंदों की तेजी से उन्होंने ना केवल बल्लेबाज़ों को छकाया बल्कि किफ़ायती भी साबित हुए.

24 साल के आवेश ख़ान इंदौर से निकले युवा तेज़ गेंदबाज़ हैं जो 2016 की अंडर-19 वर्ल्ड कप खेलने वाली टीम में शामिल थे. उन्होंने 2018 में दिल्ली की टीम ने ख़रीदा था और अब वो ज़िम्मेदारियों को निभाते हुए दिख रहे हैं. (bbc.com)


11-Apr-2021 12:59 PM 31

नई दिल्ली. ऋषभ पंत की कप्तानी में दिल्ली कैपिटल्स ने चेन्नई सुपर किंग्स को सात विकेट से हराकर आईपीएल 2021 में जीत से आगाज किया. पंत का बतौर कप्तान आईपीएल में ये पहला मैच था और वो भी अपने गुरु महेंद्र सिंह धोनी के खिलाफ. इस मैच में चेला हर पैमाने पर गुरु पर भारी साबित हुआ. पहले टॉस का बॉस बना फिर मैच में शिकस्त दी. बतौर विकेटकीपर, बल्लेबाज खुद को साबित करने के बाद पंत कप्तानी के रोल भी फिट होने की कोशिश में जुट गए हैं. अपने पहले ही मैच में उन्होंने ये दिखाया है कि वो इस भूमिका के लिए कितने तैयार हैं. ये एक तरह से उनके करियर की नई शुरुआत भी है. पंत के लिए पिछले ऑस्ट्रेलिया दौरे से शुरू हुआ नया दौर नई उम्मीदें और सफलताएं लेकर आ रहा है.

एक साल पहले तक जिस खिलाड़ी की बल्लेबाजी और विकेटकीपिंग तकनीक को लेकर सवाल उठ रहे थे. टीम में जगह को लेकर चर्चाएं हो रही थी. वो अचानक भारतीय क्रिकेट का चहेता बन गया. देसी ही नहीं, बल्कि विदेशी खिलाड़ी भी उसकी शान में कसीदें गढ़ रहे हैं. इसकी शुरुआत ऑस्ट्रेलिया दौरे से हुई. टेस्ट में ऋद्धिमान साहा टीम इंडिया के मुख्य विकेटकीपर हैं. वो ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ एडिलेड में चार टेस्ट की सीरीज के पहले मैच में खेले. लेकिन वो टेस्ट न सिर्फ साहा, बल्कि टीम इंडिया के लिए भी किसी बुरे सपने जैसा साबित हुआ. इस टेस्ट की दूसरी पारी में भारतीय टीम महज 36 रन पर ऑलआउट हो गई. वहीं साहा, मैच की दोनों पारियों में मिलाकर 13 रन ही बना सके. इसके बाद बाकी बचे तीनों टेस्ट में टीम मैनेजमेंट ने पंत को मौका दिया.

ऑस्ट्रेलिया दौरा पंत के लिए टर्निंग प्वाइंट साबित हुआ
पंत ने इस मौके को पूरी तरह भुनाया और ये उनके करियर का टर्निंग प्वाइंट साबित हुआ. उन्होंने मेलबर्न में हुए सीरीज के दूसरे टेस्ट में सिर्फ 29 रन बनाए. लेकिन ये टीम की जीत में काम आए और पहला टेस्ट बुरी तरह गंवाने के बाद भारत ने 1-1 से सीरीज बराबर की. इसके बाद सिडनी में हुए तीसरे और ब्रिसबेन में हुए चौथे टेस्ट में तो पंत ने कमाल ही कर दिया. सिडनी में भारत को चौथी पारी में जीत के लिए 407 रन का टारगेट मिला था. रोहित शर्मा औऱ शुभमन गिल ने टीम को ठोस शुरुआत दिलाई. दोनों ने पहले विकेट के लिए 71 रन जोड़े. लेकिन स्कोरबोर्ड पर 102 रन जुड़ते-जुड़ते टीम के तीन विकेट गिर गए. पांचवें नंबर पर बल्लेबाजी करने आए पंत से किसी को बहुत ज्यादा उम्मीद नहीं थी. लेकिन वो तो कुछ और ही ठानकर आए थे. उन्होंने चेतेश्वर पुजारा के साथ चौथे विकेट के लिए 265 गेंद में 148 रन की शानदार पार्टनरशिप की और मुश्किल मे दिख रही टीम को न सिर्फ मैच में वापसी दिलाई, बल्कि जीत की उम्मीदें भी जगा दी. ये अलग बात है कि दोनों टीमों में से कोई ये मुकाबला नहीं जीता, लेकिन पंत ने सबका दिल जीत लिया. उन्होंने टेस्ट में टी20 जैसी बल्लेबाजी की और 118 गेंद में 97 रन बनाए. इस दौरान उनके बल्ले से 12 चौके और तीन छक्के निकले.

इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सीरीज में ऑलराउंड खेल दिखाया
ब्रिसबेन में तो पंत सिडनी से एक कदम आगे निकल गए और टीम को जीत दिलाकर ही लौटे. इस टेस्ट में भी भारत को जीत के लिए 328 रन चाहिए थे. लक्ष्य मुश्किल नजर आ रहा था, लेकिन पंत की बल्लेबाजी के ये भी बौना साबित हुआ. उन्होंने नाबाद 89 रन की पारी खेलते हुए टीम को ऑस्ट्रेलिया में ऐतिहासिक सीरीज जिताई. इसके बाद से उनका कद रातों-रात बढ़ गया और इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट सीरीज की टीम में साहा के शामिल होने के बावजूद पंत को मौका दिया गया और उन्होंने फिर खुद को साबित किया. न सिर्फ बल्लेबाज के तौर पर बल्कि विकेटकीपर के रूप में भी. पंत ने इंग्लैंड के खिलाफ 4 टेस्ट की सीरीज 54 की औसत से 270 रन बनाए थे. वह रोहित के बाद सबसे ज्यादा रन बनाने वाले दूसरे भारतीय थे. वहीं, टर्निंग ट्रैक होने के बावजूद वो विकेट के पीछे सबसे ज्यादा 13 शिकार करने में सफल रहे. उन्होंने सीरीज में ये बार-बार साबित किया कि वो दबाव में बिखरने की बजाए और निखरते जाते हैं.

पंत ने बतौर कप्तान पहले मैच में ही धोनी की टीम को हराया
पंत ने इंग्लैंड के खिलाफ वनडे और टी20 सीरीज में भी इसी फॉर्म को बरकरार रखा. उन्होंने वनडे में 77 से ज्यादा के औसत से 155 रन बनाए, जबकि टी20 में 129 के स्ट्राइक रेट से 102 रन बनाए. इंग्लैंड सीरीज के दौरान ही दिल्ली कैपिटल्स के रेगुलर कप्तान श्रेयस अय्यर चोटिल होकर आईपीएल से बाहर हो गए. उनकी जगह आईपीएल में टीम की कौन कप्तानी करेगा. टीम मैनेजमेंट के सामने ये सबसे बड़ा सवाल था. स्टीव स्मिथ, अजिंक्य रहाणे, आर अश्विन जैसे खिलाड़ियों के होने के बावजूद पंत को टीम की कमान सौंपी गई. ये उनके लिए भी बिल्कुल नया था. लेकिन जिस तरह पंत ने ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड के खिलाफ आत्मविश्वास दिखाया था. आईपीएल में बतौर कप्तान पहले ही मैच में पंत इसे दोहराने में सफल रहे और इस फॉर्मेट के सबसे कामयाब कप्तान और अपने गुरु धोनी की टीम को हरा दिया. जिस तरह पंत एक-एक कर कामयाबी की सीढ़ियां चढ़ रहे हैं, उससे तो यही उम्मीद है कि बतौर कप्तान भी वो आईपीएल में नए आयाम गढ़ने में सफल रहेंगे.


11-Apr-2021 11:16 AM 23

चेन्नई, 11 अप्रैल | आईपीएल के 14वें संस्करण में आज मजबूत सनराइजर्स हैदराबाद का सामना यहां एमए चिदंबरम स्टेडियम में दो बार की चैंपियन कोलकाता नाइट राइडर्स के साथ होगा। हैदराबाद की टीम पिछले सीजन में प्लेऑफ में पहुंची थी। नाइट राइडर्स और हैदराबाद के बीच अबतक 19 मुकाबले हुए हैं जिसमें से हैदराबाद की टीम ने सात जीते हैं जबकि 12 मुकाबलों में उसे हार का सामना करना पड़ा है।

हालांकि सभी विभागों की बात की जाए तो हैदराबाद की टीम ईयोन मोर्गन की कप्तानी वाली नाइट राइडर्स से ज्यादा मजबूत है।

हैदराबाद की टीम में तेज गेंदबाद भुवनेश्वर कुमार की वापसी से उसका गेंदबाजी आक्रमण मजबूत हुआ है जिसमें पहले ही राशिद खान, जेसन होल्डर और टी. नटराजन शामिल हैं।

चोट के कारण भुवनेश्वर आईपीएल के पिछले सीजन में नहीं खेल सके थे। उन्होंने हाल ही में इंग्लैंड के खिलाफ सीमित ओवरों की सीरीज में बेहतर प्रदर्शन किया था।

नाइट राइडर्स का बल्लेबाजी आक्रमण पिछले सीजन में संघर्ष करता रहा था और उसके लिए हैदराबाद के तेज और स्निप आक्रमण से पार पाना कड़ी चुनौती होगी।

नाइट राइडर्स के विस्फोटक ऑलराउंडर आंद्रे रसेल पिछले सीजन में बल्ले से उम्दा प्रदर्शन करने में नाकाम रहे थे।

नाइट राइडर्स के लिए बल्लेबाजी में मोर्गन, शाकिब अल हसन, शुभमन गिल और रसेल पर दारोमदार होगा जिससे वह हैदराबाद के खिलाफ बड़ा स््र ोर खड़ा कर सके।

नाइट राइडर्स की गेंदबाजी उसका मजबूत पक्ष है, विश्ेषकर स्पिन आक्रमण। सुनील नारायण के अलावा उन्होंने टीम में हरभजन सिंह को भी शामिल किया है जबकि वरूण चक्रवर्ती, कुलदीप यादव और शाकिब भी टीम में हैं।

इसके अलावा पैट कमिंस भी गेंदबाजी विभाग में धार देंगे। नाइट राइडर्स को अपनी बल्लेबाजी पर ध्यान केंद्रीत करने की जरूरत है।

दोनों टीमें इस प्रकार हैं :

हैदराबाद : डेविड वार्नर (कप्तान), अभिषेक शर्मा, बासिल थम्पी, भुवनेश्वर कुमार, जॉनी बेयरस्टो (विकेटकीपर), केन विलियम्सन, मनीष पांडे, मोहम्मद नबी, राशिद खान, संदीप शर्मा, शाहबाज नदीम, श्रीवत्स गोस्वामी, सिद्धार्थ कौल, खलील अहमद, टी. नटराजन, विजय शंकर, रिद्धिमान साहा (विकेटकीपर), अब्दुल समद, जेसन रॉय, जेसन होल्डर, प्रियम गर्ग, विराट सिंह, केदार जाधव, मुजीब उर रहमान और जे. सुचित।

नाइट राइडर्स : शुभमन गिल, नीतीश राणा, टिम सेफर्ट (विकेटकीपर), राहुल त्रिपाठी, रिंकू सिंह, दिनेश कार्तिक (विकेटकीपर), ईयोन मोर्गन (कप्तान), आंद्रे रसेल, सुनील नारायण, वरूण सीवी, कुलदीप यादव, पैट कमिंस, लौकी फग्र्यूसन, कमलेश नागरकोटी, शिवम मावी, संदीप वारियर, प्रसिदंध कृष्णा, शाकिब अल हसन, शेल्डन जैक्सन, वैभव अरोड़ा, करूण नायर, हरभजन सिंह, बेन कटिंग, वेंकटेश अय्यर और पवन नेगी।


11-Apr-2021 11:15 AM 26

मुंबई, 11 अप्रैल| चेन्नई सुपर किंग्स (सीएसके) के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने कहा कि आईपीएल 2021 में मैचों का शाम 7.30 बजे शुरू होने का मतलब होगा कि पहले बल्लेबाजी करने वाली टीमों को कम से कम 200 रन बनाने होंगे ताकि बाद में बल्लेबाजी करने वाली टीम दबाव में आ सके। शनिवार को यहां वानखेड़े स्टेडियम में सीएसके अपने निर्धारित 20 ओवरों में 7 विकेट पर 188 रन बनाए लेकिन शिखर धवन और पृथ्वी शॉ के बीच शतकीय साझेदारी के बाद दिल्ली ने केवल तीन विकेट के नुकसान पर लक्ष्य हासिल कर लिया।

दिल्ली के नवनियुक्त कप्तान ऋषभ पंत ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी करने का फैसला किया। उनकी टीम उनके गुरू रहे धोनी की सुपर किंग्स को 188 रनों पर रोकने में सफल रही और फिर शिखर धवन (85 रन, 54 गेंद,10 चौके, 2 छक्के) तथा पृथ्वी शॉ (72 रन, 38 गेंद, 9 चौके, 3 छक्के) के बीच पहले विकेट के लिए हुई 138 रनों की साझेदारी के दम पर सात विकेट से जीत दर्ज की।

दिल्ली की टीम बीते सीजन में फाइनल तक पहुंची थी जबकि सुपर किंग्स प्लेऑफ में भी नहीं पहुंच सके थे। दिल्ली के खिलाफ धोनी का व्यक्तिगत प्रदर्शन भी निराशाजनकर रहा। वह दो गेंदें खेलकर खाता खोले बगैर पवेलिटन लौटे।

चेन्नई के क्षेत्ररक्षकों ने सलामी बल्लेबाज पृथ्वी शॉ के कुछ कैच गिराए, जिन्होंने बाद में इनका फायदा लेते हुए डीसी को एक तेज शुरूआत प्रदान की।

मैच के बाद धोनी ने कहा, आपको कितनी ओस का सामना करना पड़ता है, यह मायने रखता है। यही कारण है कि हम जितना संभव हो उतना रन प्राप्त करना चाहते थे। आपको आगे देखना होगा, खासकर जब आपके पास ओस है, तो आपको अतिरिक्त रन बनाने होंगे। मैच के 7.30 बजे शुरू होने का मतलब है कि सभी टीमों को कम से कम 200 का लक्ष्य दिमाग में लेकर चलना होगा। "

धोनी ने अपने गेंदबाजों की यह कहते हुए आलोचना की कि उन्होंने डीसी के सलामी बल्लेबाजों को पहले विकेट के लिए 138 रन बनाने की आजादी दी और इस दौरान उन्होंने कई चौके खाए।

बकौल धोनी, हम बेहतर गेंदबाजी में कर सकते थे। इस मैच से गेंदबाज सीख गए होंगे कि भविष्य में उन्हें कैसी बॉलिंग करनी है। (आईएएनएस)


11-Apr-2021 8:58 AM 61

 

नई दिल्ली. युवा कप्तान ऋषभ पंत की अगुवाई में दिल्ली कैपिटल्स ने इंडियन प्रीमियर लीग के अपने पहले मैच में महेंद्र सिंह धोनी की चेन्नई सुपर किंग्स को सात विकेट से मात दी. दिल्ली की टीम ने चेन्नई सुपरकिंग्स की ओर से मिले 189 रनों के लक्ष्य को पृथ्वी शॉ और शिखर धवन के विस्फोटक अर्धशतकों के दम पर आसानी से हासिल कर लिया. चेन्नई सुपरकिंग्स और कप्तान महेंद्र सिंह धोनी दोनों के लिए पहला मैच बुरा साबित हुआ. कप्तान धोनी पहले बिना खाता खोले बोल्ड हो गए और मैच के बाद आईपीएल गवर्निंग काउंसिल ने उन पर जुर्माना लगा दिया.

दिल्ली कैपिटल्स के खिलाफ स्लो ओवर रेट के लिए चेन्नई के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी पर 12 लाख रुपये जुर्माना लगा है. दरअसल बीसीसीआई ने नियम बनाया है कि अब हर टीम को 90 मिनट में अपने 20 ओवर पूरे करने होंगे. इससे पहले नियम था कि 20वां ओवर 90 मिनट में शुरू किया जाए लेकिन अब डेढ़ घंटे के अंदर हर हाल में निर्धारित 20 ओवर खत्म करने होंगे. 90 मिनट में टीमों को ढाई-ढाई मिनट के दो टाइम आउट मिलेंगे. मतलब टीमों को 85 मिनट में कुल 20 ओवर फेंकने होंगे. इस हिसाब से एक घंटे में हर टीम को 14.11 ओवर फेंकने होंगे.

दूसरी ओर हार के बाद धोनी ने कहा है कि दिल्ली कैपिटल्स के खिलाफ आईपीएल के पहले मैच में खराब प्रदर्शन के बाद उनके गेंदबाजों को अपनी गलतियों से सबक लेना होगा. धोनी ने कहा,‘‘ हम बेहतर गेंदबाजी कर सकते थे. गेंदबाज अपेक्षा के अनुरूप प्रदर्शन नहीं कर सके और बेहद ढीली गेंदें डाली. उन्होंने सबक ले लिया है और आगे वे बेहतर प्रदर्शन करेंगे.’’ धोनी ने कहा कि ओस पर काफी कुछ निर्भर करता है और उसे ध्यान में रखकर हम ज्यादा से ज्यादा रन बनाना चाहते थे. (news18.com)


11-Apr-2021 8:22 AM 20

रीगा (लात्विया), 10 अप्रैल| भारतीय महिला टेनिस टीम के तीन सदस्य कोच विशाल उपाल के साथ बिली जीन किंग (बीजेके) कप के लिए लात्विया की राजधानी रीगा पहुंच गई हैं। भारतीय टीम को 16 और 17 अप्रैल को मुकाबले खेलने हैं।

अखिल भारतीय टेनिस संघ (एआईटीए) ने ट्वीट कर कहा, हमारी टीम रीगा पहुंच गई है और वहां उनका भारतीय दूतावास और भारतीय लात्विया सांस्कृतिक और इकॉनोमिक फोरम के प्रनिधि प्रवीन, एलीना और सांता ने स्वागत किया।

रुतुजा भोसले, "जील देसाई और करमान कौर थांडी दिल्ली से यहां पहुंची जबकि सानिया मिर्जा और अंकिता रैना दुबई से यहां पहुंचेंगी।"

एआईटीए ने कहा, "हमारी टीम एक दिन के आराम के बाद सोमवार से अभ्यास शुरू कर सकती है।"

इतिहास में पहली बार है जब भारतीय महिला टीम ने टूर्नामेंट के वर्ल्ड ग्रुप प्लेऑफ में जगह बनाई है।  (आईएएनएस)


11-Apr-2021 8:21 AM 18

नई दिल्ली, 10 अप्रैल| ब्राजील की महिला विश्व चैंपियन बीट्रिज फेरेरा को आगामी एआईबीए युवा पुरुष और महिला विश्व मुक्केबाजी चैंपियनशिप के एम्बेसेडर के रूप में नियुक्त किया गया था। प्रतियोगिता 13 से 23 अप्रैल को किल्स, पोलैंड में होगी। ऊर्जावाने ब्राजीली खिलाड़ी 60 किग्रा बार वर्ग की इलीट स्टार है और वह दुनिया की सर्वश्रेष्ठ महिला मुक्केबाजों में से एक हैं। वह अपने पूरे करियर के दौरान केवल पांच प्रतियोगिता हारी हैं।

फेरेरा ने कहा, " जब मुझे एआईबीए से युवा विश्व मुक्केबाजी चैंपियनशिप के राजदूत के रूप में निमंत्रण मिला, तो मैं बहुत खुश और सम्मानित हुई। इसमें प्रतिस्पर्धा करने वाले सभी एथलीटों के लिए यह एक उल्लेखनीय टूर्नामेंट है। एआईबीए, बहुत बहुत धन्यवाद! यह जानना बहुत अच्छा है कि मैं उन युवाओं के लिए एक रोल मॉडल हूं जो अपना रास्ता शुरू कर रहे हैं।"

बीट्रिज इस्मिन फेरेरा का जन्म 9 दिसंबर 1992 को हुआ था। 162 सेमी लंबी मुक्केबाज ने 18 साल की उम्र में अपने मुक्केबाजी करियर की शुरूआत की थी, जब उन्होंने कुश्ती से किनारा कर लिया था। उनकी मुक्केबाजी के रोल मॉडल अमेरिकी किंवदंती मुहम्मद अली हैं।  (आईएएनएस)


11-Apr-2021 8:20 AM 15

मोनाको, 10 अप्रैल| भारत के सुमित नागल को रोलेक्स मोंटे कार्लो मास्टर्स के शुरूआती क्वालीफाइंग राउंड में इटली के स्टेफानो ट्रावेलिया के हाथों 3-6, 0-6 से हार मिली। मुख्य ड्रॉ में जगह बनाने के लिए इटली के स्टेफानो का सामना पोलैंड के कामिल मजक्रजक से होगा। मजक्रजक ने 12वीं वरीयता प्राप्त गियानलुका मागेर को पर 6-3, 6-3 से हराया।

इस हफ्ते की शुरूआत में, 136वीं रैंकिंग वाले नागल कैग्लियारी में एटीपी 250 सरदेग्ना ओपन के पहले दौर में हार गए थे। (आईएएनएस)


10-Apr-2021 7:53 PM 26

आईपीएल 2021, अप्रैल : आईपीएल 2021 का दूसरा मुकाबला आज चेन्नई सुपर किंग्स और दिल्ली कैपिटल्स के बीच खेला जाएगा. मुकाबले से पहले दोनों टीमें एक दूसरे के खिलाफ रणनीति बनाने में जुट गई हैं. ये मैच ऋषभ पंत के लिए बेहद खास है क्योंकि वह पहली बार दिल्ली कैपिटल्स की टीम का नेतृत्व करेंगे.

2020 सीजन की उपविजेता दिल्ली की टीम धोनी की अगुवाई वाली तीन बार की चैंपियन चेन्नई सुपर किंग्स के खिलाफ अपने अभियान की शुरुआत करेंगे. इस बीच पंत ने खुलासा किया है कि एमएस धोनी के साथ टॉस के लिए बाहर जाना उनके लिए एक स्पेशल अनुभव होगा.

अय्यर हो गए थे बाहर

दिल्ली कैपिटल्स फ्रेंचाइजी के कप्तान श्रेयस अय्यर इंग्लैंड के खिलाफ हालिया वनडे सीरीज के दौरान चोटिल हो गए थे. जिसके बाद उनके कंधे की सर्जरी हुई. इसलिए फ्रेंचाइजी ने युवा विकेटकीपर को दिल्ली की कमान सौंपी है.

एक कप्तान के रूप में अपने पहले आईपीएल खेल के बारे में बात करते हुए पंत ने कहा कि यह उनके लिए एक्स्ट्रा स्पेशल होगा जब वह एमएस धोनी के सामने मैदान में उतरेंगे. उन्होंने कहा कि उन्हें उम्मीद है कि वह धोनी से प्राप्त सभी अनुभव का उपयोग करके उनके खिलाफ मैच जीत सकते हैं.

उन्होंने कहा, 'यह पहली बार होगा जब मैं एक आईपीएल टीम का नेतृत्व करूंगा और पहला मैच माही भाई के खिलाफ होगा. मैंने उससे बहुत कुछ सीखा है और मैंने उससे बहुत अनुभव प्राप्त किया है. उम्मीद है, मैं उनके खिलाफ इस अनुभव का उपयोग कर सकता हूं और हम यह मैच जीत सकते हैं.'

दिल्ली कैपिटल्स में कई वरिष्ठ खिलाड़ी हैं जो पंत को एक बेहतर कप्तान बनने में मदद कर सकते हैं. रविचंद्रन अश्विन, शिखर धवन, अजिंक्य रहाणे, स्टीव स्मिथ टीम में शामिल हैं. पंत ने कहा कि मुख्य कोच रिकी पोंटिंग की मदद से दिल्ली की टीम बहुत आगे जा सकती है.

 


Previous123456789...179180Next