कारोबार

Previous123456789...9091Next
23-Jul-2021 5:57 PM (20)

रायपुर, 23 जुलाई। प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में केंद्रीय मंत्रिमंडल ने विशेष इस्पात के लिए उत्पादन-सम्बद्ध प्रोत्साहन (पीएलआई) योजना को मंजूरी दी। इस योजना की अवधि वर्ष 2023-24 से वर्ष 2027-28 तक पांच वर्षों की होगी। 6322 करोड़ रूपए के बजटीय परिव्यय के साथ इस योजना से करीब 40,000 करोड़ रूपए का निवेश होने और विशेष इस्पात के लिए 25 मिलियन टन क्षमता का संवर्धन होने की उम्मीद है। इस योजना से करीब 5,25000 लोगों को रोजगार मिलेगा जिसमें से 68,000 प्रत्यक्ष रोजगार होगा।

 

विशेष इस्पात को लक्ष्य सेग्मेंट के रूप में चुना गया है क्योंकि वर्ष 2020-21 में 102 मिलियन टन इस्पात के उत्पादन में से देश में मूल्य-वर्धित इस्पात/विशेष इस्पात के केवल 18 मिलियन टन का उत्पादन हुआ था। इसके अलावा, उसी वर्ष 6.7 मिलियन टन के आयात में से, करीब 4 मिलियन टन आयात विशेष इस्पात का ही था, जिसके परिणामस्वरूप करीब 30,000 करोड़ रूपए की विदेशी मुद्रा का व्यय हुआ। विशेष इस्पात के उत्पादन में आत्मनिर्भर बनकर, भारत इस्पात की मूल्य श्रृंखला मे उन्नति करेगाऔर कोरिया और जापान जैसे उन्नत इस्पात विनिर्माणकारी देशों के समकक्ष आएगा।

 

आशा है कि वर्ष 2026-27 के अंत तक विशेष इस्पात का उत्पादन 42 मिलियन टन हो जाएगा। इससे यह सुनिश्चित होगा कि करीब 2.5 लाख करोड़ मूल्य के विशेष इस्पात का उत्पादन और खपत भारत में होगा जिसका अन्यथा आयात किया जाता। इसी प्रकार, विशेष इस्पात का निर्यात वर्तमान के 1.7 मिलियन टन के मुकाबले लगभग 5.5 मिलियन टन हो जाएगा जिससे 33,000 करोड़ रूपए की विदेशी मुद्रा प्राप्त होगी।

इस योजना का लाभ बड़े भागीदारों अर्थात एकीकृत इस्पात संयंत्रों और छोटे भागीदारों (द्वितीय इस्पात भागीदार), दोनों को प्राप्त होगा।


23-Jul-2021 5:50 PM (24)

नई दिल्ली/मुंबई, 23 जुलाई। वेदांता के चेयरमैन अनिल अग्रवाल ने बताया कि माईन, मेटल, ऑयल एवं गैस का प्रमुख उत्पादक वेदांता समूह समुदाय के प्रति अपनी प्रतिबद्धता के अनुरूप प्रमुखता से समुदाय कल्याण पर केंद्रित कर रहा है। वित्त वर्ष 2021 में कंपनी द्वारा 331 करोड रूपये व्यय किये है जो कि वैधानिक आवश्यकता से 28 प्रतिशत  यानि 93 करोड रूपयें अधिक है। इन वर्षों में, वेदांता ने देश में सबसे अधिक ख्यातिप्राप्त और प्रभावशाली सीएसआर कार्यक्रमों को संचालित किया है। वित्त वर्ष 2020 के दौरान, कंपनी द्वारा सीएसआर पहलों हेतु 296 करोड़ रुपये खर्च किए गये थे।

श्री अग्रवाल ने बताया कि कंपनी का सीएसआर खर्च सबसे अधिक है, जो कि शिक्षा, स्वास्थ्य, स्थायी आजीविका, महिला सशक्तिकरण, खेल और संस्कृति, पर्यावरण और सामुदायिक विकास के मुख्य प्रभाव क्षेत्रों में किया गया है। समूह के दिशा-निर्देशों के अनुरूप, समूह की प्रत्येक व्यावसायिक इकाई ने संबंधित सीएसआर एजेंडा को क्रियान्वित करके अपनी भूमिका निभाई है। वेदांता अपने व्यवसाय को सामाजिक जिम्मेदारी, नैतिक और पर्यावरण के अनुकूल तरीके से संचालित करने के लिए प्रतिबद्ध है और अपने परिचालन क्षेत्रों में और आसपास के समुदायों के जीवन की गुणवत्ता में सुधार की दिशा में लगातार कार्यरत है।
श्री अग्रवाल ने बताया कि वेदांता सुस्थापित विरासत है और हम हमारें कार्यक्षेत्र के आस पास समुदायों के सामाजिक हित में पुनर्निवेश करने की प्रतिबद्धता है। हमारा मानना है कि केंद्र और राज्य सरकारों के सहयोग से हमारे प्रयास आमजन को सकारात्मक रूप से लाभान्वित कर एकीकृत और समावेशी विकास में योगदान दे रहे हैं। हम कोविड 19 से राहत एवं बचाव लिये सरकार के सहयोग में अग्रणी रहे हैं। फील्ड अस्पतालों की स्थापना राज्यों के जिला अस्पतालों को प्रदान की जाने वाली सबसे महत्वपूर्ण और प्रासंगिक सहायता में से एक है। कर्मचारियों, परिवारों और व्यापार भागीदारों के लिए मेगा टीकाकरण अभियान पर हमारे प्रयास ने समुदायों के लिए सुरक्षा सुनिश्चित की है। फाउंडेशन द्वारा पहल कर हाल ही में स्वस्थ गांव अभियान की घोषणा की है जिसके तहत् 12 राज्यों के 24 जिलों में समुदायों को संपूर्ण स्वास्थ्य सेवा प्रदान करने के लिए अगले पांच वर्षों में 5,000 करोड़ रुपये खर्च करने की योजना है।

महिलाओं और बच्चों के लिए वेदांता की प्रमुख पहल, नंद घर ने 11 राज्यों में 2,400 नंद घरों की स्थापना के साथ  मॉडल आंगनवाडी के पारिस्थिमिकी तंत्र का मार्ग प्रशस्त कर एक नये मील का पत्थर स्थापित किया है। इस पहल का उद्देश्य 7 करोड़ बच्चों और 2 करोड़ महिलाओं के जीवन को लाभान्वित करना है।


23-Jul-2021 1:06 PM (13)

मुंबई, 23 जुलाई : जोमैटो के शेयरों की आज शेयर बाजार में जबरदस्त एंट्री हुई है. इस तरह कंपनी आईपीओ के रास्ते जाने वाली पहली स्टार्टअप कंपनी बन गई है. वहीं, इस लिस्टिंग के साथ ही कंपनी का मार्केट कैपिटल यानी बाजार पूंजीकरण बढ़कर 1 लाख करोड़ हो गया. आज कंपनी के शेयर अपने इशू प्राइस से 53 फीसदी प्रीमियम पर लिस्ट हुए हैं. कंपनी के शेयर का आईपीओ 76 रुपये के इशू प्राइस पर जारी हुआ था, लेकिन इसकी लिस्टिंग 116 रुपये प्रति शेयर पर हुई है. पहले ही घंटे में कंपनी के शेयरों का प्राइस लिस्टिंग के 53 पर्सेंट से 81 पर्सेंट यानी 138 रुपये प्रति शेयर हो चुका था.  अगर ट्रेडिंग पर नजर डालें तो सुबह 10:38 पर कंपनी के शेयर 0.95 अंकों यानी 0.018% की तेजी के साथ 5,226.30 रुपये पर ट्रेड कर रहे थे.

बता दें कि जोमैटो 9,375 करोड़ का आईपीओ लेकर आया था, कोल इंडिया के 15,199.44 करोड़ के आईपीओ के बाद देश का दूसरा सबसे बड़ा आईपीओ था. जोमैटो ने इस लिहाज से भी इतिहास बनाया है कि पब्लिक होने वाला वो देश का पहले मेगा स्टार्टअप है.

जोमैटो के आईपीओ को  38.25 गुना बार सब्सक्राइब किया गया है. क्वालिफाइड इंस्टीट्यूशन बायर्स के लिए रिजर्व हिस्से को 51.79 गुना बार सब्सक्राइब किया गया. नॉन-इंस्टीट्यूशनल निवेशकों का हिस्सा 32.96 गुना बार सब्सक्राइब हुआ. वहीं, रिटेल पोर्शन को 7.45 गुना बार सब्सक्राइब किया गया. 

कंपनी के फाउंडर दीपेंदर गोयल ने लिस्टिंग से पहले ट्वीट कर हर्ष जताया और कहा कि उन्हें सफलता और असफलता को लेकर को निश्चिंतता नहीं है, लेकिन वो इतना जानते हैं कि कंपनी अपना बेस्ट देगी.

इस आईपीओ से जोमैटो ने 4,196.51 करोड़ रुपये इकट्ठा किए हैं. आईपीओ में कंपनी को 186 एंकर निवेशक मिले हैं. (ndtv.in)
 


22-Jul-2021 9:09 AM (96)

भारतीय बाजार में एक के बाद एक इलेक्ट्रिक टू-व्हीलर लॉन्च होने वाले हैं. इसी कड़ी में टू-व्हीलर निर्माता कंपनी सिंपल एनर्जी 15 अगस्त को  अपने इलेक्ट्रिक स्कूटर से पर्दा उठाएगा. यह स्कूटर स्पोर्टी लुक में नजर आने वाला है.

दरअसल, सिंपल एनर्जी का रिसर्च एंड डेवलेपमेंट सेंटर बेंगलुरू शहर में है, और यहीं कंपनी अपना पहला प्रोडक्शन प्लांट लगाने की तैयारी में है. कंपनी का अगले साल प्रोडक्शन शुरू करने का प्लान है. मीडिया रिपोर्ट की मानें तो कंपनी सबसे पहले अपना प्रोडक्ट बेंगलुरू में ही लॉन्च करेगी.

सिंपल एनर्जी ने इस महीने की शुरुआत में 'सिंपल वन' नाम से ट्रेडमार्क किया. जबकि कंपनी के पहले इलेक्ट्रिक स्कूटर का कोडनेम मार्क 2 है. रिपोर्ट के अनुसार यह इलेक्ट्रिक स्कूटर महज 3.6 सेकंड में 50 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से दौड़ने लगेगा. 

सिंपल वन इलेक्ट्रिक स्कूटर में 4.8 kWh लिथियम-आयन बैटरी मिलेगी. एक बार चार्ज फुल चार्ज हो जाने पर यह इलेक्ट्रिक स्कूटर इको मोड में 240 किलोमीटर की रेंज दे सकता है. इसकी टॉप स्पीड 100 किमी प्रति घंटे होगी. 

स्पोर्टी लुक में नजर आएगा स्कूटर
स्कूटर को लिथियम-आयन बैटरी पैक का इस्तेमाल किया जाएगा. जिसे आसानी से चार्ज करने के लिए हटाया जा सकता है. बैटरी को नियमित सॉकेट में 40 मिनट में और चार्जिंग स्टेशन पर 17 मिनट में चार्ज किया जा सकता है. 

इस इलेक्ट्रिक स्कूटर में ग्राहकों को टचस्क्रीन इंफोटेंमेंट इंस्ट्रूमेंट स्क्रीन और ब्लूटूथ कनेक्टिविटी जैसे स्मार्ट फीचर्स मिल सकते हैं. इसमें इंस्ट्रूमेंट पैनल 4जी कनेक्टिविटी के साथ 7 इंच का टच डिस्प्ले होगा. कंपनी ने संकेत दिया है कि सिंपल वन इलेक्ट्रिक स्कूटर की कीमत 1.10 लाख से 1.20 लाख रुपये के बीच हो सकती है. (aajtak.in)


21-Jul-2021 2:09 PM (34)

रायपुर, 21 जुलाई। रायपुर सराफा एसोसिएशन के अध्यक्ष हरख मालू ने बताया कि हॉलमार्किंग यूनिक एचयूआईडी का पूरजोर विरोध करते हुए केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल एवं केंद्रीय ब्यूरो प्रमुख प्रमोद तिवारी के नाम मंगलवार को बीआईएस छत्तीसगढ़ राज्य प्रमुख वी. गोपीनाथन को ज्ञापन सौंपकर व्यवहारिक दिक्कतों को दूर करने की मांग की है। 

श्री मालू ने बताया कि क्योंकि प्रत्येक गोल्ड ज्वेलरी पर यूनिक आईडेंटिफिकेशन नंबर डालना अनिवार्य किया गया है। ज्ञापन सौंपने वालों में रायपुर सराफा के वरिष्ठ सदस्य धरमचंद भंसाली, अध्यक्ष हरख मालू, छत्तीसगढ़ सराफा एसोसिएशन के पूर्व पदाधिकारी प्रकाश गोलछा एवं रविकांत लूंकड़ शामिल थे। हॉलमार्किंग की अनिवार्यता लेने के लिए व्यापारियों को यूनिक एचयूआईडी लेना अनिवार्य है लेकिन इसकी जटिल प्रक्रियाओं के कारण सराफा कारोबारी काफी परेशान है। 

श्री मालू ने बताया कि यह नया नियम व्यापारियों एवं कारीगरों के लिए फांसीवादी कानून है इसलिए इस पर तत्काल रोक लगाया जाना चाहिए। केंद्र सरकार द्वारा अदुरदर्शिता पूर्ण निर्णयों की वजह से सराफा व्यापारी वर्तमान में इतिहास के सबसे विकट व्यवसायिक संकट से जूझ रहे हैं। देश के प्रत्येक सराफा व्यापारी हॉलमार्किंग कानून का समर्थन करता है लेकिन केंद्र सरकार व बीआईएस के अधिकारियों ने पिछले दिनों कहा था कि हम एचयूआईडी नियम को अभी लागू नहीं करने जा रहे है। 

श्री मालू ने बताया कि उसके बावजूद भी इस नियम को लागू कर दिया गया। केंद्र सरकार कि मंशा सिर्फ और सिर्फ क्वालिटी कंट्रोल करने की है तो एचयूआईडी के माध्यम से अतिरिक्त बाध्यता क्यों लागू की जा रही है। यह सराफा व्यापारियों के किसी भी वर्ग को हॉलमार्क सेंटर में एचयूआईडी स्वीकार नहीं है। 


21-Jul-2021 2:08 PM (60)

रायपुर, 21 जुलाई। छत्तीसगढ़ चेम्बर ऑफ  कॉमर्स एंड इंडस्ट्रीज के प्रदेश अध्यक्ष अमर पारवानी, महामंत्री अजय भसीन, कोषाध्यक्ष उत्तम गोलछा, कैट के प्रदेश अध्यक्ष जितेन्द्र दोशी, महामंत्री सुरिन्दर सिंह, कोषाध्यक्ष अजय अग्रवाल, चेम्बर कार्यकारी अध्यक्ष राजेन्द्र जग्गी, विक्रम सिंहदेव, राम मंधान, मनमोहन अग्रवाल ने बताया कि चेम्बर और कैट के तत्वावधान में पूरे प्रदेश में व्यापारी,उनके परिवार सहित उनके दुकान-संस्थान में कार्यरत कर्मचारी एवं उनके भी परिवारों को शत-प्रतिशत टीकाकरण करवाने हेतु टीकाकरण अभियान चलाया जा रहा है। 

श्री पारवानी ने बताया कि रायपुर नगर निगम महापौर एजाज ढेबर द्वारा रविभवन स्थित दुकानों में यह प्रतिष्ठान 100 प्रतिशत वेक्सीनेटेड है का स्टीकर चिपकाया गया। यह कार्यक्रम राजधानी रायपुर एवं पूरे प्रदेश में चलाया जायेगा। श्री ढेबर ने बताया कि चेम्बर एवं कैट के संयुक्त तत्वाधान में टीकाकरण अभियान चलाया जा रहा है, यह बहुत ही सराहनीय है। यदि इसी तरह सभी व्यापारी जागरूक होकर टीकाकरण करवाये तो तीसरी चरण में कोरोना महामारी से बचने में मदद होगी। 

श्री पारवानी ने बताया कि सभी व्यापारी संघों के बीच मेें जाकर वैक्सीनेशन कैम्प लगवाकर 100 प्रतिशत टीकाकरण करवाया जा रहा है। कैम्प लगाकर राजधानी रायपुर में 22 जून से लगातार टीकाकरण किया जा रहा है एवं प्रदेश के प्रत्येक जिलों के व्यापारियों एवं उनके संस्थान में कार्यरत कर्मचारियों का 100 फीसदी टीकाकरण किया जाना ही हमारा लक्ष्य है। 

श्री पारवानी ने बताया कि इसी मुहिम को आगे बढ़ाते हुए अब पूरे प्रदेश में चेम्बर द्वारा जिन व्यापारियों एवं उनके कर्मचारियों ने वैक्सीन लगवा ली है, उन व्यापारियों की दुकानों के बाहर यह प्रतिष्ठान 100 प्रतिशत वेक्सीनेटेड है का स्टीकर चिपकाया जाएगा जिससे दुकान में खरीदी करने आने वाले ग्राहकों के मन में किसी प्रकार से संक्रमण का डर ना रहे, वही दूसरी ओर व्यापारी एवं उनके परिवार भी सुरक्षित रहे। जो व्यापारी अभी तक टीका न नहीं लगवाये हैं वे भी प्रेरित होकर टीकाकरण करवायें।


21-Jul-2021 2:06 PM (38)

बालकोनगर, 21 जुलाई। बालको के मुख्य कार्यकारी अधिकारी एवं निदेशक अभिजीत पति ने बताया कि वेदांता समूह की कंपनी भारत एल्यूमिनियम कंपनी लिमिटेड (बालको) को डन एंड ब्रैडस्ट्रीट ने देश के शीर्ष 150 गैर सूचीबद्ध कंपनियों की सूची में शामिल किया है। डन एंड ब्रैडस्ट्रीट ने वर्ष 2021 के लिए देश की शीर्ष 500 कंपनियों की सूची जारी की है। सूची में उन कंपनियों को शामिल किया गया है जो पर्यावरण, सामाजिक उत्तरदायित्व तथा गवर्नेंस के क्षेत्र में बेहतरीन प्रदर्शन करते हुए व्यवसाय को नए आयाम दे रहे हैं।

श्री पति ने बताया कि डन एंड ब्रैडस्ट्रीट ने 'भारत के शीर्ष 500 कंपनीÓ की अपनी सूची में विभिन्न क्षेत्रों से देश के उन प्रमुख कंपनियों को शामिल किया है जो अर्थव्यवस्था की मजबूती में महत्वपूर्ण योगदान दे रहे हैं। इस वर्ष की थीम है-लेइंग द फाउंडेशन फॉर एन ईएसजी रेडी कॉरपोरेट इंडिया। विश्वस्तरीय प्रबंधन, उच्च गुणवत्ता के एल्यूमिनियम उत्पादन, ग्राहक संतुष्टि, नवाचार, सामुदायिक विकास, पर्यावरण संरक्षण एवं संवर्धन, गवर्नेंस, कुल आय, लाभप्रदता, बाजार पंूजीकरण आदि मानदंडों के आधार डन एंड ब्रैडस्ट्रीट की सूची में बालको को स्थान मिला।

श्री पति ने बताया कि ऐसे सम्मान पर्यावरण, सामुदायिक उत्तरदायित्व एवं गवर्नेंस के मानदंडों के प्रति बालको के मनोबल को मजबूती देते है। औद्योगिक स्वास्थ्य, सुरक्षा एवं पर्यावरण प्रबंधन, सामुदायिक विकास तथा बेहतरीन प्रशासन के प्रति बालको कटिबद्ध है। देश की सतत उन्नति में योगदान के लिए बालको ने अत्याधुनिक डिजिटल तकनीकों को बढ़ावा दिया है।

श्री पति ने बताया कि कोरबा स्थित होटल आशीर्वाद-इन के सीएमडी नवीन अरोरा ने बालको के उत्कृष्ट पर्यावरण प्रबंधन की प्रशंसा की है। श्री अरोरा ने बताया कि बालको ने देश को आर्थिक रूप से सशक्त बनाने, विश्वस्तरीय प्रचालन, पर्यावरण के संरक्षण एवं संवर्धन की दिशा में उत्कृष्ट कार्य किए हैं। उन्होंने बालको के उज्ज्वल भविष्य की शुभकामनाएं दी हैं।  

बालकोनगर, 21 जुलाई। बालको के मुख्य कार्यकारी अधिकारी एवं निदेशक अभिजीत पति ने बताया कि वेदांता समूह की कंपनी भारत एल्यूमिनियम कंपनी लिमिटेड (बालको) को डन एंड ब्रैडस्ट्रीट ने देश के शीर्ष 150 गैर सूचीबद्ध कंपनियों की सूची में शामिल किया है। डन एंड ब्रैडस्ट्रीट ने वर्ष 2021 के लिए देश की शीर्ष 500 कंपनियों की सूची जारी की है। सूची में उन कंपनियों को शामिल किया गया है जो पर्यावरण, सामाजिक उत्तरदायित्व तथा गवर्नेंस के क्षेत्र में बेहतरीन प्रदर्शन करते हुए व्यवसाय को नए आयाम दे रहे हैं।

श्री पति ने बताया कि डन एंड ब्रैडस्ट्रीट ने 'भारत के शीर्ष 500 कंपनीÓ की अपनी सूची में विभिन्न क्षेत्रों से देश के उन प्रमुख कंपनियों को शामिल किया है जो अर्थव्यवस्था की मजबूती में महत्वपूर्ण योगदान दे रहे हैं। इस वर्ष की थीम है-लेइंग द फाउंडेशन फॉर एन ईएसजी रेडी कॉरपोरेट इंडिया। विश्वस्तरीय प्रबंधन, उच्च गुणवत्ता के एल्यूमिनियम उत्पादन, ग्राहक संतुष्टि, नवाचार, सामुदायिक विकास, पर्यावरण संरक्षण एवं संवर्धन, गवर्नेंस, कुल आय, लाभप्रदता, बाजार पंूजीकरण आदि मानदंडों के आधार डन एंड ब्रैडस्ट्रीट की सूची में बालको को स्थान मिला।

श्री पति ने बताया कि ऐसे सम्मान पर्यावरण, सामुदायिक उत्तरदायित्व एवं गवर्नेंस के मानदंडों के प्रति बालको के मनोबल को मजबूती देते है। औद्योगिक स्वास्थ्य, सुरक्षा एवं पर्यावरण प्रबंधन, सामुदायिक विकास तथा बेहतरीन प्रशासन के प्रति बालको कटिबद्ध है। देश की सतत उन्नति में योगदान के लिए बालको ने अत्याधुनिक डिजिटल तकनीकों को बढ़ावा दिया है।

श्री पति ने बताया कि कोरबा स्थित होटल आशीर्वाद-इन के सीएमडी नवीन अरोरा ने बालको के उत्कृष्ट पर्यावरण प्रबंधन की प्रशंसा की है। श्री अरोरा ने बताया कि बालको ने देश को आर्थिक रूप से सशक्त बनाने, विश्वस्तरीय प्रचालन, पर्यावरण के संरक्षण एवं संवर्धन की दिशा में उत्कृष्ट कार्य किए हैं। उन्होंने बालको के उज्ज्वल भविष्य की शुभकामनाएं दी हैं।  

बालकोनगर, 21 जुलाई। बालको के मुख्य कार्यकारी अधिकारी एवं निदेशक अभिजीत पति ने बताया कि वेदांता समूह की कंपनी भारत एल्यूमिनियम कंपनी लिमिटेड (बालको) को डन एंड ब्रैडस्ट्रीट ने देश के शीर्ष 150 गैर सूचीबद्ध कंपनियों की सूची में शामिल किया है। डन एंड ब्रैडस्ट्रीट ने वर्ष 2021 के लिए देश की शीर्ष 500 कंपनियों की सूची जारी की है। सूची में उन कंपनियों को शामिल किया गया है जो पर्यावरण, सामाजिक उत्तरदायित्व तथा गवर्नेंस के क्षेत्र में बेहतरीन प्रदर्शन करते हुए व्यवसाय को नए आयाम दे रहे हैं।

श्री पति ने बताया कि डन एंड ब्रैडस्ट्रीट ने 'भारत के शीर्ष 500 कंपनीÓ की अपनी सूची में विभिन्न क्षेत्रों से देश के उन प्रमुख कंपनियों को शामिल किया है जो अर्थव्यवस्था की मजबूती में महत्वपूर्ण योगदान दे रहे हैं। इस वर्ष की थीम है-लेइंग द फाउंडेशन फॉर एन ईएसजी रेडी कॉरपोरेट इंडिया। विश्वस्तरीय प्रबंधन, उच्च गुणवत्ता के एल्यूमिनियम उत्पादन, ग्राहक संतुष्टि, नवाचार, सामुदायिक विकास, पर्यावरण संरक्षण एवं संवर्धन, गवर्नेंस, कुल आय, लाभप्रदता, बाजार पंूजीकरण आदि मानदंडों के आधार डन एंड ब्रैडस्ट्रीट की सूची में बालको को स्थान मिला।

श्री पति ने बताया कि ऐसे सम्मान पर्यावरण, सामुदायिक उत्तरदायित्व एवं गवर्नेंस के मानदंडों के प्रति बालको के मनोबल को मजबूती देते है। औद्योगिक स्वास्थ्य, सुरक्षा एवं पर्यावरण प्रबंधन, सामुदायिक विकास तथा बेहतरीन प्रशासन के प्रति बालको कटिबद्ध है। देश की सतत उन्नति में योगदान के लिए बालको ने अत्याधुनिक डिजिटल तकनीकों को बढ़ावा दिया है।

श्री पति ने बताया कि कोरबा स्थित होटल आशीर्वाद-इन के सीएमडी नवीन अरोरा ने बालको के उत्कृष्ट पर्यावरण प्रबंधन की प्रशंसा की है। श्री अरोरा ने बताया कि बालको ने देश को आर्थिक रूप से सशक्त बनाने, विश्वस्तरीय प्रचालन, पर्यावरण के संरक्षण एवं संवर्धन की दिशा में उत्कृष्ट कार्य किए हैं। उन्होंने बालको के उज्ज्वल भविष्य की शुभकामनाएं दी हैं।  


21-Jul-2021 2:03 PM (69)

रायपुर, 21 जुलाई। जीके होंडा के संचालक पुनीत पारवानी ने बताया कि सेंट्रल इंडिया की सबसे बड़ी टू व्हीलर डीलरशिप जीके होंडा का नया शोरूम मिनोचा पेट्रोल पंप तेलीबांधा में बनकर तैयार है। जीके होंडा 11 वर्षों से ग्राहकों के भरोसे पर खरा उतरते आया है। होंडा के एमडी अतसुशी ओगाता आज शो रूम का उद्घाटन किया जाएगा। विगत वर्षों से जीके होंडा पर 80,000 से भी अधिक ग्राहकों ने भरोसा किया है, उसी भरोसे के साथ अब जीके होंडा ग्राहकों की सेवा में अपने नए और भव्य शोरूम के साथ तैयार हैं।


21-Jul-2021 2:01 PM (28)

रायपुर, 21 जुलाई। अधिवक्ता परिषद छग प्रांत की प्रदेश कार्यसमिति की बैठक में क्षेत्रीय मंत्री दीपेंद्र द्वारा प्रदेश अध्यक्ष गोपकुमार रायपुर अधिवक्ता, संतोष सोनी अधिवक्ता प्रदेश कार्यकारी अध्यक्ष तथा नीरज शर्मा अधिवक्ता बिलासपुर,  प्रदेश महामंत्री धर्मेश श्रीवास्तव, कोषाध्यक्ष व अन्नपूर्णा महिला प्रमुख नियुक्त किये गये। 

बैठक मे जन सामान्य तक न्यायदान मे सहयोग करने व न्याय केंद्र के माध्यम से गरीब पिछड़े समाज के बंधुओं को नि:शुल्क सलाह देने हेतु तथा राष्ट्रहित व अधिवक्ता हित के कार्य विस्तार और जनसामान्य व तरूण अधिवक्ताओ को स्टडी सर्किल के द्वारा प्रशिक्षित करने पर कार्य करने विस्तार से योजना बनी। 


21-Jul-2021 1:59 PM (27)

रायपुर, 21 जुलाई। अग्रसेन महाविद्यालय में इस वर्ष प्रवेश लेने वाले सभी विद्यार्थियों को शिक्षण शुल्क में 25 प्रतिशत की छूट देने का निर्णय लिया गया है। यह छूट सभी पाठ्यक्रमों में प्रवेश लेने वाले प्रथम वर्ष के नए विद्यार्थियों के साथ ही वर्तमान में अग्रसेन महाविद्यालय में पढ़ रहे सभी छात्रों को भी अगले वर्ष या सेमेस्टर में प्रवेश लेने पर भी दी जाएगी।

महाविद्यालय का संचालन करने वाली  महाराजाधिराज अग्रसेन शिक्षण समिति की बैठक में निर्णय का औपचारिक रूप से अनुमोदन किया गया।  इसकी जानकारी देते हुए प्राचार्य डॉ. युलेंद्र कुमार राजपूत ने बताया कि  समिति ने इस तथ्य को एकमत से स्वीकार किया कि कोरोना संकट के कारण प्राय: सभी लोगों को आर्थिक कठिनाइयों से गुजरना पड़ रहा है।

 साथ ही अग्रसेन महाविद्यालय के लक्षित युवाओं में से अधिकांश अभ्यर्थी निम्न-मध्यम वर्गीय समुदाय से सम्बंधित होते हैं। इस स्थिति को ध्यान में रखते हुए प्रबंध समिति ने इस वर्ष शिक्षण शुल्क में 25 प्रतिशत छूट देने का निर्णय लिया है. उन्होंने बताया कि महाविद्यालय में सभी पाठ्यक्रमों का कुल शुल्क भी अपेक्षाकृत रूप से कम है।

 इसके साथ-साथ शिक्षण शुल्क में 25 प्रतिशत छूट देने का लाभ मिलने से सभी छात्रों को काफी हद तक आर्थिक सहायता मिल सकेगी। प्राचार्य ने यह भी बताया कि अग्रसेन महाविद्यालय में आने वाले छात्रों को अन्य प्रकार से भी कोई आर्थिक समस्या होने पर उसका भी समाधान करने और सहयोग करने का प्रयास किया जाता है।


20-Jul-2021 4:52 PM (41)

बेंगलुरू, 20 जुलाई | एमआई का सब-ब्रांड रेडमी इंडिया ने मंगलवार को भारत में अपना पहला 5जी स्मार्टफोन-रेडमी नोट 10टी 5जी को पेश किया है। जिसकी कीमत 13,999 रुपये रखी गई है। इस स्मार्टफोन को दो शानदार वेरिएंट में पेश किया है। जिसमें पहला 4जीबी प्लस 64जीबी वेरिएंट की शुरूआती कीमत 13,999 रुपये और दूसरा 6जीबी प्लस 128जीबी वैरिएंट की 15,999 रुपये है। यह 26 जुलाई से ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों प्लेटफॉर्म पर उपलब्ध होगा।

रेडमी नोट 10टी 5जी स्पेसिफिकेशन्स की बात करें तो इसमें एक डाइमेंशन 700 चिपसेट दिया गया है और एक सक्षम 48एमपी कैमरा सेटअप के साथ इमर्सिव 90हट्र्ज 6.5-इंच अडेप्टिवसिंक डोटडिसप्ले दिया गया है।

रेडमी इंडिया की बिजनेस हेड, स्नेहा टैनवाला ने कहा, " रेडमी नोट 10टी 5जी के लॉन्च के साथ, हम रेडमी का पहला 5जी स्मार्टफोन लाये हैं।"

स्मार्टफोन 48एमपी प्राइमरी कैमरा, 2एमपी मैक्रो कैमरा और 2एमपी डेप्थ सेंसर के साथ ट्रिपल कैमरा सिस्टम को स्पोर्ट करता है। यह बॉक्स से बाहर 22.5 डब्ल्यू फास्ट चार्जर के साथ 5000 एमएएच की विशाल बैटरी पैक करता है और 18वॉट फास्ट चाजिर्ंग के साथ दिया गया है।

चिपसेट लगातार और बेहतर प्रदर्शन चलने के लिए 2.2जीहट्र्ज तक के ऑक्टा-कोर प्रोसेसर से लैस है। वलहल आटेक्चर के साथ जीपीयू माली जी57 30 प्रतिशत अधिक लाइट दक्षता और प्रदर्शन घनत्व के साथ उच्च अंत प्रदर्शन प्रदान करता है।

यह 3.5 मिमी हेडफोन जैक और कॉनिर्ंग गोरिल्ला ग्लास के साथ आता है जो आगे प्रतिरोध जोड़ता है और डिवाइस को आकस्मिक बूंदों और खरोंच से बचाता है।

रेडमी नोट 10टी 5जी को चार कलर में मैटेलिक ब्लू, मिंट ग्रीन, क्रोमियम व्हाइट और ग्रेफाइट ब्लैक में उतारा गया है। (आईएएनएस)


20-Jul-2021 3:10 PM (71)

नई दिल्ली. कहानी लेडी मेहरबाई टाटा  की... जिसके बदौलत टाटा स्टील कंपनी को आज पहचान मिली है. अधिकांश लोग इस महिला को नहीं जानते होंगे, जिसे व्यापक रूप से पहली भारतीय नारीवादी प्रतीकों में से एक माना जाता है. लेडी मेहरबाई टाटा, बाल विवाह उन्मूलन से लेकर महिला मताधिकार तक और लड़कियों की शिक्षा से लेकर पर्दा प्रथा तक को हटाने के लिए जानी जाती हैं. लेकिन इतना ही नहीं उन्हें देश के सबसे बड़े स्टील कंपनी, टाटा स्टील  को बचाने में उनके योगदान के लिए भी जाना जाता है. आइए जानते हैं कैसे इन्होंने सही समय पर सही निर्णय लेकर टाटा स्टील को डूबने से बचा लिया था...

इस किताब में हुआ खुलासा
अपनी नवीनतम पुस्तक टाटा स्टोरीज में हरीश भट बताते हैं कि कैसे लेडी मेहरबाई टाटा ने स्टील की दिग्गज कंपनी को बचाया था. जमशेदजी टाटा के बड़े बेटे सर दोराबजी टाटा ने अपनी पत्नी लेडी मेहरबाई के लिए लंदन के व्यापारियों से 245.35 कैरेट जुबली हीरा खरीदा था जो कि कोहिनूर (105.6 कैरेट, कट) से दोगुना बड़ा है. 1900 के दशक में इसकी कीमत लगभग 1,00,000 पाउंड थी. यह बेशकीमती हार लेडी मेहरबाई के लिए इतना खास था कि वह इसे स्पेशल मौकों पर पहनने के लिए रख दिया था. लेकिन हालात साल 1924 में हालात ने कुछ यूं करवट लिया कि लेडी मेहरबाई ने इसे बेचने का फैसला ले लिया.

हुआ यूं कि उस समय टाटा स्टील के सामने कैश की संकट आ गई और कंपनी के कर्मचारियों को वेतन देने के लिए पैसे नहीं बचे थे. उस वक्त लेडी मेहरबाई के लिए कंपनी के कर्मचारी और कंपनी को बचाना ज्यादा सही लगा और वे जुबली डायमंड सहित अपनी पूरी निजी संपत्ति इम्पीरियल बैंक को गिरवी रख दी ताकि वे टाटा स्टील के लिए फंड जुटा सकें. लंबे समय के बाद, कंपनी ने रिटर्न देना शुरू किया और स्थिति में सुधार हुआ. भट ने कहा कि गहन संघर्ष के उस समय में एक भी कार्यकर्ता की छंटनी नहीं की गई थी.

जानिए कैसी थी लेडी मेहरबाई टाटा?
टाटा समूह के अनुसार, सर दोराबजी टाटा ट्रस्ट की स्थापना के लिए सर दोराबजी टाटा की मृत्यु के बाद जुबली हीरा बेचा गया था. लेडी मेहरबाई टाटा उन लोगों में से एक थीं, जिनसे 1929 में पारित शारदा अधिनियम या बाल विवाह प्रतिबंध अधिनियम के लिए परामर्श किया गया था. उन्होंने भारत के साथ-साथ विदेशों में भी इसके लिए सक्रिय रूप से प्रचार किया. वह राष्ट्रीय महिला परिषद और अखिल भारतीय महिला सम्मेलन का भी हिस्सा थीं. 29 नवंबर, 1927 को लेडी मेहरबाई ने मिशिगन में हिंदू विवाह विधेयक के लिए एक मामला बनाया. उन्होंने 1930 में अखिल भारतीय महिला सम्मेलन में महिलाओं के लिए समान राजनीतिक स्थिति की मांग की. लेडी मेहरबाई टाटा भारत में भारतीय महिला लीग संघ की अध्यक्ष और बॉम्बे प्रेसीडेंसी महिला परिषद की संस्थापकों में से एक थीं.लेडी मेहरबाई के नेतृत्व में भारत को अंतरराष्ट्रीय महिला परिषद में शामिल किया गया था.(news18.com)


20-Jul-2021 2:45 PM (87)

रायपुर, 20 जुलाई। क्रेडाई छत्तीसगढ़ की नई कार्यकारणी की बैठक आयोजित की गई। वर्ष 2021-2023 के लिये मृणाल गोलछा (अध्यक्ष) एवं संजय रहेजा (सचिव) ने अपना कार्यभार संभाला। संजय रहेजा को प्रेसिडेंट इलेक्ट वर्ष 2023-2025 के लिए चुना गया। करीब 80 सदस्य उपस्थित थे।

क्रेडाई छत्तीसगढ़ अध्यक्ष मृणाल गोलछा ने बताया कि क्रेडाई सीएसआर कार्यकलापों का विस्तार किया जायेगा एवं शासन द्वारा बनायी गयी नई नीतियों को आम जन तक पहुंचने का प्रयास करेंगे। उन्होंने समस्त आगंतुकों को धन्यवाद दिया एवं भविष्य में सहयोग की कामना की। 

निर्वतमान अध्यक्ष रवि फतनानी ने संतोष प्रगट किया कि उनके कार्यकाल में क्रेडाई नेशनल द्वारा आयोजित राष्ट्रव्यापी सम्मेलन एनआईएस 2020 का आयोजन किया गया जिसमें पुरे देश से करीब 1200 सदस्यों ने भाग लिया एवं कार्यक्रम अत्यंत सफलतापूर्वक आयोजित किया गया। जिसकी सरहाना देश भर से आये हुए क्रेडार्ई के सदस्यों ने की। 

श्री फतनानी ने बताया कि इसी कार्यकाल में कोरोना महामारी ने दस्कत दी जिसमें क्रेडाई ने बढ़-चढ़ कर शासन के साथ मिलकर मदद की। करीब 21 लाख रुपये क्रेडाई ने शासन को कोरोना मरीजों की सहायता के लिए प्रदान किये।  भूतपूर्व अध्यक्षों को मोमेंटो भेंट कर सम्मान किया गया।  क्रेडाई की नयी टीम में रमेश राव एवं पंकज लोहाटी को उपाध्यक्ष बनाया गया है। 

अशोक मुंदड़ा एवं प्रतीक केवलानी को जॉइंट सेक्रेटरी बनाया गया है जबकि कंस्यूमर ग्रेवियेंस सेल की जिम्मेदारी आनंद सिंघानिया एवं जी.एस. राजपाल को सौंपी गई है। इसी प्रकार कोषाध्यक्ष की जिम्मेदारी आयुष मोदी को सौंपी गयी है।  वहीं लीगल विभाग विजय नत्थानी, निखिल धगट एवं शशांक खेतान मिल कर देखेंगे। 

टैक्सेशन कमेटी का भार सुनील तापडिय़ा एवं संजीव अग्रवाल (दुर्ग/भिलाई) को दिया गया है। डिजिटल मीडिया एवं ई-बुलेटिन की जिम्मेदारी मनजोत राजपाल को सौंपी गयी है।  मार्किट सर्वे एवं रिसर्च ऋत्विक नथानी एवं अभिषेक फतनानी मिलकर देखेंगे। स्किल डेवलपमेंट का भार ललित राठी को सौंपा गया है। सीएसआर विजि़बिलिटी की जिम्मेदारी शैलेश वर्मा, राकेश पांडेय, अभिलेश कटारिया, अमित मुंदड़ा (दुर्ग/भिलाई) एवं अमित अग्रवाल (बिलासपुर)को सौंपी गयी है।  

स्पॉन्सरशिप एवं इवेंट्स का भार संजय बघेल, आबिद सूर्या, दीपांश सरावगी एवं विजय राठी को सौंपी गयी है। नई पहल की जिम्मेदारी अभिषेक बछावत एवं जसदीप गाँधी को सौंपी गयी है। बल्क परचेस का भार सुमित बरडिय़ा को सौंपा गया है। लर्निंग एवं डेवलपमेंट की जिम्मेदारी प्रस्सन नीले, अजय नागले (दुर्ग/भिलाई) एवं सुहैल हक़ (बिलासपुर) को सौंपा गया है।  

कार्यकारणी समिति में अजय श्रीवास्तव (बिलासपुर), मनीष सोमानी (जगदलपुर) एवं विनोद बोहरा (राजनांदगाव) को जगह दी गयी है।  युथ विंग का स्टेट कॉर्डिनेटर जयेश सचदेव एवं सचिव शशांक अग्रवाल को बनाया गया है। इस अवसर पर माधवी नथानी की अध्य्क्षता में क्रेडाई विमेंस विंग का गठन किया गया। 

कुछ अहम बातें

0 सीएसआर कार्यकलापों का विस्तार होगा

0 शासन की नई नीतियों के तहत आमजन को लाभ पहुंचाया जाएगा।

0 कोरोना मरीजों के लिए लगभग 21 लाख  मदद

0  विमेंस विंग का गठन


20-Jul-2021 2:40 PM (39)

रायपुर, 20 जुलाई। कन्फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष अमर पारवानी, चेयरमेन मगेलाल मालू, अमर गिदवानी, प्रदेश अध्यक्ष जितेन्द्र दोशी, कार्यकारी अध्यक्ष विक्रम सिंहदेव, परमानन्द जैन, वाशु माखीजा, महामंत्री सुरिन्द्रर सिंह, कार्यकारी महामंत्री भरत जैन, कोषाध्यक्ष अजय अग्रवाल एवं मीडिय़ा प्रभारी संजय चौबे ने बताया कि कैट हमारे केंद्रीय उपभोक्ता मामलों के मंत्री पीयूष गोयल को तत्काल कार्रवाई करने और दालों की स्टॉक सीमा को 200 मिलियन टन से 500 मिलियन टन तक बढ़ाने के लिए आभार।

कैट ने धन्यवाद व्यक्त करते हुए बताया कि उनका ये त्वरित निर्णय देश के लाखों दाल विक्रेताओं को होने वाली दिक्कतों से बचा लिया है। कैट ने गोयल से केवल एक वीडियो कॉन्फ्रेंस में अनुरोध किया था कि देश के दाल व्यापारियों को उपभोक्ता मामलों के मंत्रालय की 2 जुलाई की अधिसूचना  के बाद काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा था जिसके तहत दालों की स्टॉक सीमा को थोक विक्रेताओं के लिए 200 मिलियन टन कर दिया गया था और खुदरा विक्रेताओं के लिए 5 टन।


20-Jul-2021 2:39 PM (39)

रायपुर, 20 जुलाई। कृष्णा पब्लिक स्कूल, कमल विहार, डूंडा के छात्र ने राष्ट्रीय प्रतिभा खोज परीक्षा 2021 के दूसरे दौर में उत्कृष्ट प्रदर्शन कर श्रेष्ठता साबित की। नीरज बांडेय ने राष्ट्रीय शैक्षिक अनुसंधान और प्रशिक्षण परिषद (एनसीईआरटी) द्वारा आयोजित राष्ट्रीय प्रतिभा खोज परीक्षा (एनटीएसई) के दूसरे दौर के लिए अर्हता प्राप्त की है।

राष्ट्रीय प्रतिभा खोज परीक्षा दसवीं कक्षा के मेधावी छात्रों को छात्रवृत्ति प्रदान करने के लिए एक राष्ट्रीय स्तर की परीक्षा है। यह दो चरणों में आयोजित किया जाता है जिसमें पहला राउंड सैट और मैट होता है। इस बीच इस परीक्षा का एकमात्र उद्देश्य योग्य और संभावित उम्मीदवारों को विज्ञान और सामाजिक अध्ययन के क्षेत्र में अपनी उच्च शिक्षा प्राप्त करने के लिए छात्रवृत्ति प्रदान करना है। 

एनटीएसई मानदंड के अनुसार उच्चतर माध्यमिक स्तर की छात्रवृत्ति राशि 1250 रुपये, स्नातक / स्नातकोत्तर को 2000 रुपये की छात्रवृत्ति मिलेगी और पीएचडी कार्यक्रम के लिए छात्रवृत्ति यूजीसी के मानदंडों के अनुसार उपलब्ध होगी।

केपीएस 2013 से एनटीएसई में उत्कृष्ट प्रदर्शन कर रहा है और इस साल भी नीरज बांडेय ने स्कूल की इस परंपरा  को बनाए रखा। स्कूल के गणमान्य पदाधिकारियों और शिक्षकों ने बधाइयों के साथ ही साथ अगले दौर के लिए शुभकामनाएं दीं हैं। नीरज की इस उपलब्धि पर शाला परिवार अत्यंत गौरवान्वित महसूस कर रहा है।


20-Jul-2021 2:37 PM (34)

रायपुर, 20 जुलाई। आईआईआईटी के अस्सिटेंट रजिस्ट्रार हरीश कुमार ने बताया कि आउटरीच इंटर्नशिप प्रोग्राम (ओआईपी) प्रमुख अनुसंधान गतिविधि-आधारित कार्यक्रमों में से एक है, जहां देश भर के प्रतिष्ठित संस्थानों के छात्रों का चयन फैकल्टी के सुपरविशन में 6 से 8 सप्ताह की इंटर्नशिप रिसर्च प्रोजेक्ट करने का अवसर देने के लिए किया जाता है। 

श्री कुमार ने बताया कि इंटर्नशिप प्रोग्राम विद्यार्थियों को 5 प्रतिशत लैब,एआई और एमएल लैब,आईओटी लैब, वीएलएसआई लैब, स्पीच प्रोसेसिंग लैब, नेटवर्किंगग लैब, एंटीना और माइक्रोवेव सर्किट डिज़ाइन लैब, एनीकोइक चैंबर, आदि जैसी उन्नत प्रयोगशालाओं का विश्लेषण करने के साथ-साथ सिमुलेटर और अत्याधुनिक उपकरण सीखने का अवसर प्रदान करता है। 2017 से प्रति वर्ष इसी तरह के ओआईपी आयोजित करता आ रहा है। 


19-Jul-2021 2:21 PM (62)

नई दिल्ली,19 जुलाई | सोमवार को सामने आई एक नई रिपोर्ट मुताबिक, मिलिनिएल्स और जेन जेड के नेतृत्व में ऑनलाइन गतिविधियों में तेजी हुई है। इसे देखते हुए भारत का डिजिटल विज्ञापन बाजार अगले दशक में 10 गुना बढ़ने की उम्मीद है। साल 2020 में इसमें 3 अरब डॉलर बढ़ोतरी हुई है। आने वाले साल 2030 तक यह 25-30 बिलियन डॉलर तक पहुंच जाएगा। डिजिटल विज्ञापन बाजार के कुल विज्ञापन बाजार में 70-85 प्रतिशत का योगदान होने की संभावना है, जो वर्तमान में देश में 33 प्रतिशत है।

आधारित बाजार अनुसंधान फर्म ( रिडसीर) के रिपोर्ट के मुताबिक, इस बढ़ते विकास के लिए जीडीपी/केपीटल, डिजिटल बैंकीं में वृद्धि और डारेक्ट टू सेलार / चैलेंजर ब्रांडों का डिजिटल विज्ञापनों के विकास को आगे बढ़ाएंगे।

रिडसीर के इंगेजमेंट मैनेजर,अभिषेक गुप्ता ने कहा,नए जमाने की कंपनियां हाल के वर्षों में डिजिटल विज्ञापनों पर प्रमुख रूप से खर्च कर रही हैं। ट्रेडिशनल कंपनियां भी डिजिटल पर तेजी से खर्च कर रही हैं। इस बढ़ती विकास का एक प्रमुख हिस्सा युवा और टिनेजर्स है। जो अपना अधिकांश समय डिजिटल पर बिताते हैं।

उन्होंने कहा, इस प्रवृत्ति के केवल बढ़ने की उम्मीद है क्योंकि विशेष रूप से टियर 2प्लास( बड़े शहर) शहरों में अधिक लोग वेबसाइटों, ऐप्स, सोशल मीडिया के माध्यम से अधिक डिजिटल रूप से जुड़ते हैं।

रिपोर्ट में कहा गया है कि 2015 बनाम 2020 की तुलना से पता चलता है कि, लोकप्रिय ऐप में मासिक सक्रिय उपयोगकर्ता (एमएयू) कितने महत्वपूर्ण हैं, जिसमें चैट मैसेंजर, ओटीटी, ई-कॉमर्स, सोशल मीडिया, जैसे अन्य शामिल हैं।

यह वृद्धि यूजर्स द्वारा खर्च किए गए समय, जुड़ाव और अन्य फैक्टार में भी रिफ्लेक्ट होती है।

भारत के डिजिटल विज्ञापन खर्च में लगातार वृद्धि हुई है। हालाँकि, यह तुलनात्मक रूप से चीन और अमेरिका जैसे देशों की तुलना में बहुत कम है। जहाँ डिजिटल अपनाने की दर अभी भी भारत की तुलना में अधिक है।

गुप्ता ने जोर कहा डिजिटल विज्ञापनों का विकास जारी रहने और मजबूत होने की संभावना है। क्योंकि कोविड के मद्देनजर डिजिटल सेवाओं के यूजर्स कई गुना बढ़ गऐ है। यह कंपनियों और ब्रांडों द्वारा खर्च किए गए विज्ञापन पर सकारात्मक प्रभाव डालने के लिए जरुरी है। क्योंकि यूजर्स इन प्लेटफार्मों पर अतिरिक्त समय और खर्च करते है,। (आईएएनएस)


18-Jul-2021 1:57 PM (49)

भारतीय कंपनी बोल्ट ने अपने नए वायरलेस हेडफोन Boult Audio ProBass एंकर को लॉन्च कर दिया है. कंपनी ने इस वायरलेस हेडफोन में शानदार लुक और जबरदस्त फीचर्स दिए हैं. कंपनी का ये नया वायरलेस हेडफोन, प्रीमियम वायरलेस हेडफोन में मिलने वाले ANC और वायरलेस कनेक्टिविटी फीचर को सपोर्ट करता है. कंपनी के अनुसार इस वायरलेस हेडफोन की बैटरी 30 घंटे का बैटरी बैकअप दे सकती है. बोल्ट के इन वायरलेस हेडफोन का इस्तेमाल देर तक कंप्यूटर पर गेम खेलने और गाने सुनने के लिए किया जा सकता है. हेडफोन्स के शौकीन लोगों के लिए ये एक अच्छा विकल्प साबित हो सकता है.

Boult Audio ProBass वायरलेस हेडफोन का वजन सिर्फ 150 ग्राम है, जिसमें इन-बिल्ट माइक्रोफोन दिया गया है. यूज़र्स के कम्फर्ट के लिए इसमें प्रोटीन लेदर ईयर कप्स और ईयर बैंड्स का इस्तेमाल किया गया है. कंपनी ने इस हैडफोन को पूरे ब्लैक कलर का लुक दिया है. यूज़र्स को शानदार और क्लियर ऑडियो क्वालिटी का अनुभव कराने के लिए इसमें 40mm के ड्राइवर्स और ANC सपोर्ट दिए गए हैं.

कंपनी के अनुसार ये हेडफोन शानदार बेस आउटपुट प्रदान करते हैं. बोल्ट के इन वायरलेस हेडफोन में सिरी और गूगल असिस्टेंट का सपोर्ट भी दिया गया है.

कंपनी के दावे के मुताबिक इस हेडफोन की बैटरी का इस्तेमाल सिंगल चार्ज में 30 दिनों तक किया जा सकता है. ग्राहक को ये शानदार फीचर्स और स्टाइलिश लुक वाला हेडफोन वाकई पसंद आने वाला है.

ज़्यादा नहीं है कीमत
भारत में लॉन्च के साथ बोल्ट Audio ProBass वायरलेस हेडफोन की कीमत 3,999 रुपये रखी गई है. इस कीमत पर बाज़ार में मिलने वाले वायरलेस हेडफोन को ये टक्कर दे सकता है. ग्राहक इन हेडफोन को अमेज़न इंडिया से खरीद सकते हैं. बाकि देशो में इसके लॉन्च को लेकर अभी कोई जानकारी सामने नहीं आई है. (news18.com)


17-Jul-2021 6:02 PM (43)

रायपुर, 17 जुलाई। कन्फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष अमर पारवानी, चेयरमेन मगेलाल मालू, अमर गिदवानी, प्रदेश अध्यक्ष जितेन्द्र दोशी, कार्यकारी अध्यक्ष विक्रम सिंहदेव, परमानन्द जैन, वाशु माखीजा, महामंत्री सुरिन्द्रर सिंह, कार्यकारी महामंत्री भरत जैन, कोषाध्यक्ष अजय अग्रवाल एवं मीडिय़ा प्रभारी संजय चौबे ने बताया कि केंद्रीय महिला कल्याण एवं बाल विकास मंत्री स्मृति ईरानी ने कैट के बैनर तले देश के विभिन्न राज्यों के व्यापारी नेताओं के साथ अपने मंत्रालय में हुई एक मीटिंग में कहा कि देश के व्यापारियों को अब तक देश के आर्थिक चक्र को मज़बूती से चलाए जाने के लिए जाना जाता है किंतु पूरे देश में व्यापारी एक बड़ा सामाजिक बदलाव लाने में भी आम बड़ी महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकते हैं और अब समय आ गया है जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बेटी बचाओ-बेटी पड़ाओ अभियान के साथ देश भर के व्यापारी संगठनों को एक मिशन के रूप में लेना चाहिए और देश के सभी बाज़ारों में महिलाओं की सुरक्षा की जि़म्मेदारी को उठाना चाहिए। उन्होंने यह भी कहा कि  देश के छोटे से छोटे हिस्से में भी व्यापारियों की दुकानें हैं और अगर उसी मोहल्ले के महिलाओं और बेटियों के अभिभावक व्यापारी बन जाएँ तो देश में किसी भी महिला या बेटी के साथ कोई दुर्घटना नहीं होगी ।

श्री पारवानी ने बताया कि और कैट के प्रदेश अध्यक्ष जितेन्द्र दोशी ने बताया कि ईरानी के आग्रह को स्वीकार करते हुए कैट बहुत जल्द देश भर में महिला सुरक्षा एवं समर्पण का एक विराट राष्ट्रीय अभियान शुरू करेगा और देश में एक नई सामाजिक क्रांति का सूत्रपात करेगा । उन्होंने बताया की  देश के 8 करोड़ व्यापारी देश के महिलाओं और बेटियो के प्रति अपनी जिम्मेदारियो को समझते है और उनकी सुरक्षा और प्रगति का दायित्व पूरी तरह निभाएंगे। इसके लिए कैट पूरी तरह से तैयार है और देश के हर छोटे बड़े व्यापारी के सहयोग के साथ इस अभियान को तेजी से आगे ले कर जाएंगे।


17-Jul-2021 1:30 PM (47)

नई दिल्ली, 17 जुलाई। अरबपति मुकेश अंबानी की कंपनी रिलायंस रिटेल वेंचर्स लिमिटेड (आरआरवीएल) ने जस्ट डायल लिमिटेड के अधिग्रहण की घोषणा की है। कंपनी जस्ट डायल में 40.95 फीसदी हिस्सेदारी के लिए 3,497 करोड़ रू निवेश करेगी। वीएसएस मणी जस्ट डायल के प्रबंध निधेशक और मुख्य कार्यकारी अधिकारी को तौर पर अपनी कामकाज जारी रखेंगे।

आरआरवीएल द्वारा दी गई पूंजी जस्ट डायल के विकास और विस्तार में काम आएगी। जस्ट डायल अपनी लोकल व्यवसायों की लिस्टिंग को और पुख्ता करेगी। जस्ट डायल अपने प्लेटफॉर्म पर लाखों उत्पादों और सेवाओं के विस्तार पर काम करेगी जिससे लेनदेन को बढ़ावा मिलेगा। यह निवेश जस्ट डायल के मौजूदा डेटाबेस  को भी मदद पहुंचाएगा। 31 मार्च 2021 तक जस्ट डायल के डेटाबेस में 30.4 मिलियन लिस्टिंग थी और तिमाही के दौरान 129.1 मिलियन यूनिक यूजर्स जस्ट डायल प्लेटफॉर्म का इस्तेमाल कर रहे थे।

सौदे पर बोलते हुए, आरआरवीएल की निदेशक, ईशा अंबानी ने कहा, रिलायंस, पहली पीढ़ी के उद्यमी वीएसएस मणि के साथ साझेदारी करने को लेकर उत्साहित है, जिन्होंने अपने व्यापारिक कौशल और दृढ़ता के बल पर मजबूत व्यवसाय बनाया है। जस्ट डायल में निवेश हमारे लाखों साझेदार व्यापारियों, सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यमों के लिए डिजिटल इकोसिस्टम को और बढ़ाएगा, साथ ही यह न्यू कॉमर्स के प्रति हमारी प्रतिबद्धता को रेखांकित करता है।


Previous123456789...9091Next