कारोबार

Posted Date : 25-Apr-2019
  • कोल्ड ड्रिंक्स से कुछ देर के लिए गला ठंडा हो जाता है, लेकिन थोड़ी देर बाद इसका असर खत्म हो जाता है। इसके अलावा अधिक कोल्ड ड्रिंक्स का सेवन करने से सेहत पर भी बुरा असर पड़ता है। लेकिन आज हम आपको ऐसी ड्रिंक के बारे में बता रहे हैं जिसे आप घर पर बना सकते हैं और इससे हेल्थ को किसी तरह का नुकसान नहीं होता। दरअसल, हम बात कर रहे हैं चने के सत्तू की। गर्मी के मौसम में यह आपको लंबे समय तक कूल रखेगा और इसके कोई नुकसान भी नहीं है बल्कि चने के सत्तू का शर्बत सेहत के लिए लाभदायक होता है।

    जानकारी के मुताबिक गर्मियों के दिनों में लू से बचने के लिए चने के सत्तू का सेवन फायदेमंद होता है। इसमें कई तरह के पोषक तत्व भी मौजूद होते हैं जो शरीर को पोषण देते हैं, शरीर में पानी की कमी नहीं होती। यह बालों और स्किन के सेल्स को मरने नहीं देता। आधे कप सत्तू में 3 ग्राम फैट, 10 ग्राम प्रोटीन और 178  कैलोरी पाई जाती है।इसी के साथ चने के सत्तू का सेवन करने से आप अपना बढ़ता वजन आसानी से कम कर सकते हैं। इसमें पाए जाने वाले पौष्टिक तत्व शरीर को जरूरी न्यूट्रीशन पहुंचाते हैं। इसके सेवन से पेट भरा-भरा रहेगा और भूख नहीं लगेगी। जिससे बढ़ते मोटापे को कम किया जा सकता है। चने के सत्तू का सेवन करने से डायबिटीज के रोगियों को फायदा होता है। रोजाना इस सत्तू का सेवन करने से शरीर में एक्स्ट्रा ग्लूकोज की मात्रा को कम होती है। ब्लड शुगर की मात्रा भी कंट्रोल में रहती है।
    कोल्ड ड्रिंक्स से कुछ देर के लिए गला ठंडा हो जाता है, लेकिन थोड़ी देर बाद इसका असर खत्म हो जाता है। इसके अलावा अधिक कोल्ड ड्रिंक्स का सेवन करने से सेहत पर भी बुरा असर पड़ता है। लेकिन आज हम आपको ऐसी ड्रिंक के बारे में बता रहे हैं जिसे आप घर पर बना सकते हैं और इससे हेल्थ को किसी तरह का नुकसान नहीं होता। हम बात कर रहे हैं चने के सत्तू की। गर्मी के मौसम में यह आपको लंबे समय तक कूल रखेगा और इसके कोई नुकसान भी नहीं है बल्कि चने के सत्तू का शर्बत सेहत के लिए लाभदायक होता है।
    जानकारी के मुताबिक गर्मियों के दिनों में लू से बचने के लिए चने के सत्तू का सेवन फायदेमंद होता है। इसमें कई तरह के पोषक तत्व भी मौजूद होते हैं जो शरीर को पोषण देते हैं, शरीर में पानी की कमी नहीं होती। यह बालों और स्किन के सेल्स को मरने नहीं देता। आधे कप सत्तू में 3 ग्राम फैट, 10 ग्राम प्रोटीन और 178  कैलोरी पाई जाती है।
    इसी के साथ चने के सत्तू का सेवन करने से आप अपना बढ़ता वजन आसानी से कम कर सकते हैं। इसमें पाए जाने वाले पौष्टिक तत्व शरीर को जरूरी न्यूट्रीशन पहुंचाते हैं। इसके सेवन से पेट भरा-भरा रहेगा और भूख नहीं लगेगी। जिससे बढ़ते मोटापे को कम किया जा सकता है। चने के सत्तू का सेवन करने से डायबिटीज के रोगियों को फायदा होता है। रोजाना इस सत्तू का सेवन करने से शरीर में एक्स्ट्रा ग्लूकोज की मात्रा को कम होती है। ब्लड शुगर की मात्रा भी कंट्रोल में रहती है।

    ...
  •  


Posted Date : 24-Apr-2019
  • नई दिल्ली, 24 अप्रैल । अपने स्मार्टफोन के लिए जानी जाने वाली चीन की कंपनी ङ्गद्बड्डशद्वद्ब अब लाइफ स्टाइल प्रॉडक्ट मार्केट में भी अपनी पहुंच बढ़ाने की कोशिश कर रही है। स्मार्टफोन के अलावा इस साल कंपनी ने 44 से ज्यादा प्रॉडक्ट लॉन्च किए हैं। 
    आज कंपनी ने एक नया प्रॉडक्ट लॉन्च किया है, जिसका नाम रूद्ब ॥ढ्ढरूह्र श्वद्यद्गष्ह्लह्म्द्बष् क्चद्बष्4ष्द्यद्ग ञ्ज1 है। चीन में इस बाइसाइकल की कीमत 2,999 युआन (करीब 31,000 रुपये) है। वहां इसकी बिक्री 4 जून से शुरू होगी। 
    कंपनी ने बताया है कि हीमो इलेक्ट्रिक बाइसाइकल का डिजाइन यूनीक है और इसके पार्ट को फायर-रेसिस्टेंट मटीरियल से बनाया गया है। इतना ही नहीं, इस नई बाइसाइकल को हाई-सेंसटिव डिजिटल डिस्प्ले के साथ पेश किया गया है। बात की जाए, इसके हेडलाइट की तो इसे हीमो इंग्लिश लोगो के डिजाइन से लिया गया है, जो 18,000 सीडी ब्राइटनेस देती है। 
    इलेक्ट्रिक साइकल में 350 वॉट का ब्रशलेस पर्मानेंट मैगनेट मोटर दिया गया है, जो कि हाई-एंड परफॉर्मेंस देता है। इसमें 90 एमएम का वाइड टायर और 88 एमएम के थिक हाई इलैस्टिक रबर के ड्यूल ब्रेक सिस्टम दिए गए हैं। 
    इस बाइक को सिंगर टच स्टार्ट बटन और एक मल्टि-फंक्शनल कॉम्बिनेशन स्विच के साथ लॉन्च किया गया है। बात की जाए इसकी बैटरी लाइफ की तो रूद्ब ॥ढ्ढरूह्र श्वद्यद्गष्ह्लह्म्द्बष् क्चद्बष्4ष्द्यद्ग ञ्ज1 में 14,000 एमएएच की बैटरी दी गई है, जिसके बारे में कंपनी का दावा है कि एक बार फुल चार्ज करके इसे 120 किलोमीटर तक चलाया जा सकता है। (नवभारतटाईम्स) 

    ...
  •  


Posted Date : 23-Apr-2019
  • कैट का व्यापारियों से सौ फीसद मतदान करने जागरूकता अभियान 

    रायपुर, 23 अप्रैल। कॅान्फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स कैट के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष अमर पारवानी एवं प्रवक्ता राजकुमार राठी ने बताया कि सोमवार को अमर पारवानी के नेतृत्व में गुरूनानक चौक में एक कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इस कार्यक्रम से कैट के सभी पदाधिकारियों एवं व्यापारी के साथ गुरूनानक चौक के सभी दुकानों में जाकर व्यापारी से आग्रह किया कि लोकतंत्र को मजबूत करने हम सब व्यापारी बन्धुओं को लोकसभा चुनाव में सौ फीसद मतदान करने में सहयोग प्रदान करे। देशभर में 40 हजार से ज्यादा व्यापारिक संगठन है, जो कुल मिलाकर देश के 7 करोड़ व्यापारियों का प्रतिनिधित्व करते हैं, इस दृष्टि से यह देश का सबसे बड़ा वोट बैंक है।

    इस कार्यक्रम में विक्रम सिंह देव, परमानन्द जैन, अजय तनवानी, मोतीलाल सचदेव, नरेश गंगवानी, कैलाश खेमानी, संजय जैसिंह, विजय कोठारी, सुरेन्दर सिंह, सत्यनारायण अग्रवाल, श्याम माहेश्वरी सहित गुरूनानक चौक व्यापारी संघ के बड़ी संख्या में व्यापारीगण उपस्थित रहे।

     

    ...
  •  


Posted Date : 22-Apr-2019
  • रायपुर, 22 अप्रैल । मैग्नेटो द मॉल में रविवार को एस्थेटिक इंस्टिट्यूट ऑफ डिजाइन द्वारा अर्थ डे कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इस कार्यक्रम में पृथ्वी और पर्यावरण संरक्षण के बारे में सभी को जानकारी दी गई। साथ ही यहां गेम्स और अर्थ डे थीम की रंगोली के साथ पोस्टर मेकिंग कम्पटीशन भी रखा गया। अंत में सभी को फेलिसिटशन के रूप में पौधे बांटे गए।  

     

     

    ...
  •  


Posted Date : 22-Apr-2019
  • मतदान केंद्र तक लाने की जिम्मेदारी भी संभाली

    रायपुर, 22 अप्रैल। लोकसभा के तीसरे चरण के मतदान मद्देनजर होंडा कंपनी की ओर से शनिवार को अनुपम नगर से कैट के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष अमर पारवानी की सहभागिता में जनजागरूकता रैली निकाली गई। होंडा कंपनी ने इस दौरान लोगों को मतदान केंद्र तक पहुंचाने लाने की जिम्मेदारी ली।  रैली विभिन्न मार्गों से होते हुए गैं्रड होंडा, सिटी होंडा, जीके होंडा शोरूम सहित तेलीबांधा मरीन ड्राइव पहुंचकर पूर्ण हुई। 

    इस रैली के माध्यम से प्रत्येक जनमानस को मताधिकार का उपयोग कर राष्ट्र को सुद्दढ़, नीतिवान और जनकल्याणकारी सरकार बनाने की प्रेरणा देना है। जागरूकता रैली में कोई सीट न जाए खाली, जन-जन की पुकार, वोट देना हमारा अधिकार, आपके वोट से आएगा बदलाव, अब नहीं चलेगा दारू-नोट, अब यही सोच बढ़ाएंगे, देश का विकास करवाएंगे जैसे अन्य स्लोगन से लोगों को प्रेरित किया गया। इस अवसर पर होंडा के एरिया जोनल मैनेजर चंदन कुमार, एरिया इंचार्ज भाविन पटेल एवं होंडा कंपनी के अधिकारी उपस्थित रहे। 

     

    ...
  •  


Posted Date : 20-Apr-2019
  • नई दिल्ली, 20 अप्रैल। अब सेट टॉप बॉक्स बदले बिना ही बदलें केबल ऑपरेटर, जिस तरह आप अपना बिना मोबाइल नंबर बदले किसी दूसरे ऑपरेटर में अपना नंबर पोर्ट करा लेते हैं, ठीक उसी तरह अब आप बिना सेट टॉप बॉक्स बदले किसी दूसरे सर्विस प्रोवाइडर में अपना डीटीएच बदल सकते हैं।
    टीबी देखने वालों के लिए अच्छी खबर है क्योंकि ऐसी जानकारी मिली है कि अब मोबाइल नंबर पोर्टेबिलिटी की तरह आप अपना सेटअप बॉक्स भी बदल सकते हैं। सीधे शब्दों में कहें तो जिस तरह आप अपना बिना मोबाइल नंबर बदले किसी दूसरे ऑपरेटर में अपना नंबर पोर्ट करा लेते हैं, ठीक उसी तरह अब आप अपना सेट टॉप बॉक्स बदले किसी दूसरे सर्विस प्रोवाइडर में अपना डीटीएच बदले सकते हैं।
    दरअसल, हाल ही में भारतीय दूरसंचार नियामक प्राधिकरण के चेयरमैन आरएस शर्मा ने इस बात की जानकारी दी और मीडिया से बात करते हुए उन्होंने बताया कि पिछले कई सालों से हम सेट टॉप बॉक्स को सभी डीटीएच और केबल सर्विस प्रोवाइडर के बीच काम करने लायक बनाने की कोशिश कर रहे हैं।  इसके अलावा आरएस शर्मा ने ये भी कहा है कि इस साल के अंत तक इस सेवा को शुरू करने की उम्मीद है। वहीं शर्मा ने ये भी कहा कि किसी प्रोडक्ट में इंटरऑपरेबिलिटी का विचार बाद में नहीं आना चाहिए बल्कि प्रोडक्ट की प्लानिंग करते समय ही यह काम होना चाहिए।
    ऐसे में कहा जा रहा है कि डीटीएच सर्विस प्रोवाइडर और केबल ऑपरेटर बदलने की यह सुविधा मोबाइल नंबर पोर्टेबिलिटी की तरह होगी। बता दें कि जिस तरह आप मोबाइल नंबर पोर्टेबिलिटी के लिए टेलिकॉम कंपनियों में रिक्वेस्ट करते हैं, ठीक उसी तरह अब डीटीएच सर्विस प्रोवाइडर कंपनी को भी बदल सकते हैं।
    ट्राई के ने अभी हाल ही में केबल टीवी और डीटीएच नियम में बदलाव किया है, जिसे 1 फरवरी से लागू कर दिया गया है। इस नियम के तहत यूजर को सिर्फ उन्ही चैनल्स के लिए पैसा देना होगा, जो उन्होंने सेलेक्ट किया है। ऐसे में डिश टीवी ने अपने यूजर्स के लिए, मेरा अपना पैक, प्लान लॉन्च किया है, जिसमें यूजर को 100 सेलेक्टेड पेड चैनल्स और 100 फ्री टू एयर चैनल का लाभ मिलेगा। जानकारी के अनुसार 100 फ्री टू एयर चैनल में यूजर को 25 डीडी (दूरदर्शन) का चैनल मिलेगा। वहीं बाकि के बचे 75 चैनल का चुनाव यूजर अपने अनुसार कर सकते हैं। फिलहाल आइए जानते हैं इसके लिए आपको कितना पैसा देना होगा। (न्यूज18)

     

    ...
  •  


Posted Date : 20-Apr-2019
  • नई दिल्ली, 20 अप्रैल । बजाज ऑटो ने घरेलू बाजार में छोटी कार क्यूट को लॉन्च किया। यह कार एक लीटर पेट्राल में 35 किलोमीटर और एक किलोग्राम सीएनजी में 43 किलोमीटर तक चल सकती है।
    क्यूट के पेट्रोल मॉडल की कीमत मुंबई में 2.48 लाख रुपये (एक्स शोरूम) और सीएनजी की 2.78 लाख रुपये (एक्स शोरूम) रखी गई है। बजाज की क्यूट जो एक क्वाड्रीसाइकल है को 15 राज्यों में निजी और 20 राज्यों में वाणिज्यिक वाहन के रूप में पंजीकृत कराया जा सकता है। क्यूट के पेट्रोल मॉडल में 216 सीसी का सिंगल सिलिंडर लिक्विड कूल डीटीएसआई इंजन है। यह इंजन 5,500 आरपीएम पर 13 बीएचपी शक्ति उत्पादन करता है। यह 4,00 आरपीएम पर 18.9 एनएम का टॉर्क देता है। वहीं, सीएनजी मॉडल 5,500 आरपीएम पर 11 बीएचपी शक्ति देता है। यह 4,000 आरपीएम पर 16.1 एनएम टॉर्क उत्पादन करता है।
    क्वाड्रीसाइकल उस गाड़ी को कहते हैं जो ऑटो और छोटी कार के बीच के गैप को भरती है। सीधे तौर पर मॉडिफाइड ऑटो जिसमें कार जैसी सुविधा मिले। सरकार ने हाल ही में इसको लेकर नए नियम बनाए हैं। इसके तहत क्वाड्रीसाइकल वर्ग की गाड़ी में 70 किलोमीटर प्रति घंटे से ज्यादा की रफ्तार नहीं हो सकती। साथ ही, इसकी लंबाई तीन मीटर और चौड़ाई डेढ़ मीटर से ज्यादा नहीं होगी।
    बजाज क्यूट के पेट्रोल वर्जन का प्राइस 2.48 लाख रुपये से और सीएनजी वर्जन का का प्राइस 2.78 लाख रुपए है। वहीं टाटा नैनो का प्राइस 2.26 लाख रुपए से लेकर 3.20 लाख रुपए है। कीमत के मामले में यह टाटा नैनो से भी सस्ती होगी। (लाइव हिन्दुस्तान)

    ...
  •  


Posted Date : 19-Apr-2019
  • नई दिल्ली, 19 अप्रैल 2019, । अमेजन, फ्लिपकार्ट जैसी विश्वस्तरीय ई-कॉर्मस कंपनियों से टक्कर लेने के लिए मुकेश अंबानी ने नया एलान किया है। रिलांयस इंडस्ट्रीज ने अब इन ई-कॉमर्स वेबसाइट्स से अपने उत्पादों को हटाना शुरू कर दिया है। इसमें वो विदेशी ब्रांड्स भी शामिल हैं, जिनका कंपनी को भारत में बेचने का लाइसेंस कंपनी को मिला है। 
    इन वेबसाइट्स से किया हटाना शुरू
    रिलायंस कई विदेशी ब्रांड्स को बेचता है। यह ब्रांड्स अमेजन और फ्लिपकार्ट के अलावा मिंत्रा, जबोंग व टाटा क्लिक पर भी बिकते हैं। अब कंपनी अपने उत्पादों को यहां से हटाने लगी है। रिलायंस रिटेल के पास कई इंटरनेशनल ब्रांड्स जैसे कि डीजल, केट स्पेड, स्टीव मॉडेन, बरबेरी, कानाली, एम्पोरियो अरमानी, फुर्ला, जिम्मी छू और मॉर्क्स एंड स्पेंसर शामिल है। 
    रिलायंस के पास फिलहाल अपना एक पोर्टल है, जिसके जरिए वो कपड़े व लाइफस्टाइल के उत्पाद बेचती है। रिलायंस ट्रेंड और रिलायंस ब्रांड्स से कहा गया है कि वो सभी उत्पादों को अन्य सभी वेबसाइट्स से हटाना शुरू कर दे।
    रिलायंस ब्रांड्स ने पिछले वित्त वर्ष में 336.41 करोड़ रुपये का मुनाफा कमाया था। नए वेंचर के जरिए रिलायंस तीन करोड़ व्यापारियों को अपने साथ जोड़ेगी। हालांकि यह ऑनलाइन-ऑफलाइन वेंचर होगा, जिसके जरिए लोग किसी भी तरह से उत्पाद खरीद सकेंगे। (अमर उजाला)

    ...
  •  


Posted Date : 19-Apr-2019
  • नई दिल्ली, 19 अप्रैल 2019, । ई-कॉमर्स दिग्गज ्रद्वड्ड5शठ्ठ अपनी सर्विस चीन से बंद करने की तैयारी में है. 18 जुलाई से चीन से ई-कॉमर्स वेबसाइट ऐमेजॉन की सर्विस बंद कर दी जाएंगी यानी लोग ऐमेजॉन से खरीदारी नहीं कर पाएंगे.  चीन में ऐमेजॉन को द्यद्बड्ढड्डड्ढड्ड के ञ्जद्वड्डद्यद्य और छ्वष्ठ.ष्शद्व से कड़ी टक्कर मिल रही थी.

    ऐमेजॉन दुनिया की सबसे बड़ी ई-कॉमर्स कंपनी है, लेकिन फिर भी चीनी ऑनलाइन रिटेलर्स से शायद मुकाबला करने में कंपनी फेल हो गई है. जुलाई 18 तक ऐमजॉन चीन में अपने तमाम ई-कॉमर्स से जुड़े ऑपरेशन्स बंद कर देगी. हालांकि ऐमेजॉन की दूसरी सर्विस चीन में पहले जैसे ही मिलती रहेंगी, उदाहरण के लिए ्रद्वड्ड5शठ्ठ ङ्खद्गड्ढ स्द्गह्म्1द्बष्द्गह्य. आपको बता दें कि ्रङ्खस् से कंपनी के रेवेन्यू का बड़ा हिस्सा आता है.

    ऐमेजॉन अब चीन में ओवरसीज गुड्स और क्लाउड सर्विस पर फोकस करेगी. आपको बता दें कि चीनी ई-कॉमर्स मार्केट में ्रद्यद्बड्ढड्डड्ढड्ड के ञ्जद्वड्डद्यद्य और छ्वष्ठ.ष्शद्व का एक तरह से कब्जा है और रिपोर्ट के मुताबिक ई-कॉमर्स के टोटल मार्केट शेयर का 82 फीसदी हिस्सा इन दोनों वेबसाइट्स के पास ही हैं. यानी वहां के लोग लोकल कंपनियों को तरजीह देते हुए एक तरह से अमेरिकी कंपनी ्रद्वड्ड5शठ्ठ को बायकॉट किया है.

    ऐमेजॉन के मुताबिक अब कंपनी क्रॉस बॉर्डर मार्केट पर ध्यान देगी. कंपनी ने स्नञ्ज  को दिए एक स्टेटमेंट में कहा है, ‘हम सेलर्स को नोटिफाई करके बता रहे हैं कि अब हम ्रद्वड्ड5शठ्ठ.ष्ठ्ठ को बंद करने जा रहे हैं और 18 जुलाई से कोई सर्विस नहीं दी जाएगी’

    चीन के यूजर्स अब ऐमेजॉन ऑनाइन स्टोर से ऑर्डर नहीं कर पाएंगे, हालांकि ऐमेजॉन ग्लोबल से अब भी चीन के यूजर्स ऑर्डर कर सकते हैं जैसे दूसरे देशों में होता है. हालांकि इसके लिए ज्यादा पैसे और ज्यादा वक्त लगता है.

    भारत की बात करें तो यहां स्थिति कुछ अलग है. भारतीय ई-कॉमर्स कंपनी फ्लिपकर्ट को ऐमेजॉन से कड़ी टक्कर मिलती है. हालांकि एक तथ्य ये भी है कि फ्लिपकार्ट का भी अधिग्रहण अमेरिकी कंपनी वॉलमार्ट ने कर लिया है. इसके अलावा दूसरी भारतीय ई-कॉमर्स कंपनी जैसे स्नैपडील काफी पिछड़ गई है और पेटीएम ई-कॉमर्स बाजार में लगातार स्ट्रगल कर रही है. (आजतक)

    ...
  •  


Posted Date : 17-Apr-2019
  • व्यापारियों से की शत प्रतिशत मतदान करने की अपील-कैट

    रायपुर, 17 अप्रैल। कॅान्फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष अमर पारवानी एवं प्रवक्ता राजकुमार राठी ने बताया कि मंगलवार को कैट कार्यकारिणी समिति की बैठक सिविल लाईन्स स्थित वृन्दावन हॉल में हुई। 

    बैठक में अमर पारवानी ने सदस्यों को सम्बोधित करते हुए कहा कि आगामी लोकसभा चुनाव में व्यापारियों से शत-प्रतिशत मतदान करने की अपील की और कहा कि आप के एक वोट से नए भारत के निर्माण की नींव रखी जाएगी। इसलिए अपने मतदान के अधिकार का उपयोग करें एवं व्यापारी समाज की ताकत से राजनीतिक दल को अवगत कराएं। इस दौरान वहां उपस्थित सभी  कार्यकारिणी सदस्यों ने अपने मताधिकार का उपयोग करने का संकल्प लिया।

    इस अवसर पर प्रदेश कार्यकारिणी समिति की बैठक में मंगेलाल मालू, विक्रम सिंह देव, जितेन्द्र दोषी, परमानन्द जैन, अजय अग्रवाल, अजय तनवानी,  नरेश गंगवानी, मोतीलाल सचदेव, कैलाश खेमानी, भरत जैन, सुरिन्दर सिंह, पवन वाधवा, नरेन्द्र कुमार दुग्गड़, राम मंधान, जितेन्द्र गोलछा, वासु माखीजा, राकेष ओचवानी, संजय जैसिंह, अषोक मालू, विजय शर्मा, अमर दास खट्टर, आशीष सोनी, जनक वाधवानी, कन्हैया गुप्ता, सतीष श्रीवास्तव, नरेश चन्दानी, सुभाष अग्रवाल, मोहम्मद आसिफ, जयराम कुकरेजा, दिनेश पटेल सहित अन्य सदस्य उपरिस्थत रहे।

    ...
  •  


Posted Date : 17-Apr-2019
  • एसएमसी हॉस्पिटल में हुआ डबल वाल्व बैलून वाल्वोटॉमी

    रायपुर, 17 अप्रैल। एसएमसी हॉस्पिटल में भर्ती बेमेतरा निवासी भीखमंगा निर्मलकर 42 जो पिछले 6 महीनों से पैदल चलने पर सांस फूलने की शिकायत से परेशान था। इकोकार्डिआग्राफी जांच से पता चला कि मरीज के ह्दय के दोनों वाल्व में सिकुडऩ है। ऐसी स्थिति में मरीज के ह्दय का वाल्व बदलने की शल्पक्रिया की जाती है। इस शल्पक्रिया के दौरान सामान्यत: बाएं ओर के वाल्व को बैलून से चौड़ा किया जाता है जिसे बैलून माइट्रल वाल्वोटॉमी कहते है। 

    डॉ.एसएस मोहंती, डॉ. सतीश सूर्यवंशी सहित ह्दय रोग विशेषज्ञ एसएमसी ह्दय रोग संस्थान रायपुर द्वारा अपनी टीम के साथ मरीज के दोनों वाल्व का बैलूनिंग प्रक्रिया से इलाज किया। माइट्रल वाल्व की बैलूनिंग पहली की गई 28 मिलीमीटर एक्यूरा बैलून से। इसके बाद ट्राईकस्पीड वाल्व की बैलूनिंग की गई। ट्राईकस्पीड वाल्व की सिकुडऩ दूर करने के लिए जो वाल्व का साइज है उससे 2 मिलीमीटर साइज का बैलून उपयोग में लिया जाता है। इस साइज का एक्यूरा बैलून नहीं आता। इसलिए इसे दो बैलून ह्दय में अलग-अलग रास्ते से डाला जाता है।  इस दौरान यहां अंकित मिश्रा, युवराज चंद्राकर, दानेश साहू, विजय देवांगन, सुमित केरकेटा सहित विनीता नायक शामिल रहे। 

     

     

    ...
  •  


Posted Date : 17-Apr-2019
  • नई दिल्ली, 17 अप्रैल (बिजनेस डेस्क)। भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) ग्राहकों को सैलरी पैकेज अकाउंट खोलने की सेवा भी देता है। एसबीआई का ये अकाउंट सैलरी पाने वाले ग्राहकों को दिया जाने वाला खास सेविंग अकाउंट है। एसबीआई की वेबसाइट के अनुसार, सैलरी पैकेज अकाउंट एक जीरो बैलेंस अकाउंट है, जिसमें मासिक औसत बैलेंस रखने की जरूरत नहीं होती है। ग्राहकों को सैलरी अकाउंट के साथ एटीएम-डेबिट कार्ड और इंटरनेट बैंकिंग जैसी सर्विस भी दी जाती हैं।

    1. भारतीय स्टेट बैंक केंद्र सरकार, राज्य सरकार, रक्षा बल, अर्धसैनिक बल, पुलिस और निजी संस्थान आदि के लिए सैलरी अकाउंट पैकेज की पेशकश करता है।

    2 एसबीआई में सैलरी अकाउंट खोलने के लिए 2 पासपोर्ट साइज फोटो, पहचान पत्र, पते का प्रमाण, नौकरी का प्रमाण और नई सैलरी स्लिप होना जरूरी है। ज्वाइंट अकाउंट खोलने के लिए दोनों आवेदकों का पहचान पत्र और पते का प्रमाण होना जरूरी है।

    3. कर्मचारी की सैलरी या पोस्ट के आधार पर सैलरी अकाउंट सिल्वर, गोल्ड, डायमंड और प्लेटिनम जैसे 4 वेरिएंट ऑप्शन में उपलब्ध हैं। एसबीआई की वेबसाइट के अनुसार, इन चारों अकाउंट वेरिएंट में अलग-अलग फीचर्स मिलते हैं।

    4. एसबीआई में मौजूदा सेविंग अकाउंट को भी सैलरी अकाउंट में बदला जा सकता है।

    5. एसबीआई सैलरी अकाउंट में एटीएम-डेबिट कार्ड मुफ्त जारी किए जाते हैं और मेंटेनेंस फीस भी नहीं होती है। एटीएम-डेबिट कार्ड सैलरी अकाउंट के प्रकार पर निर्भर करता है।

    6.सैलरी पैकेज अकाउंट के साथ एनपीएस और पीपीएफ सर्विस भी उपलब्ध हैं।

    7. अगर लगातार 3 महीनों तक सैलरी अकाउंट में सैलरी नहीं आती है तो सैलरी पैकेज अकाउंट के तहत मिलने वाली खास सुविधाएं वापिस ले ली जाती हैं। ऐसे में सैलरी अकाउंट सामान्य सेविंग अकाउंट की तरह चलता है और उसी प्रकार से चार्ज लगते हैं।

    8. नौकरी बदलने पर भी अकाउंट से सैलरी निकालना जारी रख सकते हैं। ऐसी स्थिति में बैंक अकाउंट की जानकारी के बारे में नए नियोक्ता को सूचित करना होगा। इसके लिए कर्मचारी को शाखा में जाकर नए नियोक्ता के बारे में जानकारी देनी होगी। 

    ...
  •  


Posted Date : 17-Apr-2019
  • नौकरी करने वालों के लिए पीएफ का पैसा बड़ा अहम होता है. लेकिन परेशानियां तब आती है जब रकम निकालने का समय आता है.आमतौर पर लोग पीएफ का पैसा निकालने को लेकर काफी घबरा जाते हैं, लेकिन हम अपनी खबर में आपको बताएंगे कि पीएफ का पैसा कितनी आसानी से निकाला जा सकता है. आपको बता दें कि पीएफ की राशि को एमरजेंसी की स्थिति में निकाला जा सकता है. 8 परिस्थितियों में आप पीएफ की राशि को निकाल सकते हैं. कुछ परिस्थितियों में आप पीएफ का पूरा हिस्सा निकाल सकते हैं और कुछ में पीएफ के कुल पैसे का एक निश्चित हिस्सा ही निकाला जा सकता है.

    (1) री-पेमेंट ऑफ होम लोन
    इसके लिए आपकी नौकरी के 10 साल होना चाहिए.
    इसके तहत कोई भी व्यक्ति अपनी सैलरी का अधिकतम 36 गुना तक पीएफ का पैसा निकाल सकता है.


     इसके लिए अपनी नौकरी के सयम के दौरान सिर्फ एक बार ही पीएफ के पैसों का इस्तेमाल किया जा सकता है. 

    (2) बीमारी के इलाज के लिए 
     पीएफ खाताधारक अपने या परिवार के इलाज के लिए पीएफ का पूरा अमाउंट विद्ड्रॉल कर सकता है.

    इस स्थिति में कभी भी पीएफ का पैसा निकाला जा सकता है.

    इसके लिए एक महीने या उससे अधिक तक अस्पताल में भर्ती होने का सबूत देना होता है.
     साथ ही इस समय के लिए इंप्लॉयर के द्वारा अप्रूव लीव सर्टिफिकेट भी देना होता है.
     पीएफ के पैसों से मेडिकल ट्रीटमेंट लेने के लिए व्यक्ति को अपने इंप्लॉयर या फिर ईएसआई के द्वारा अप्रूव एक सर्टिफिकेट भी देना होता है.
    पैसा निकालने के लिए फॉर्म 31 के तहत आवेदन करना होता है. 

    पीएफ का पैसा कैसे निकाले, पीएफ, पीएफ पासबुक कैसे बनाये, पीएफ निकासी फार्म ऑनलाइन, पीएफ पासबुक, पीएफ अकाउंट, पीएफ नंबर, पीएफ लॉगिन, पीएफ कार्यालय, पीएफ का पैसा निकालना है, पीएफ का पैसा निकालने के लिए, पीएफ का पैसा चेक करना है, पीएफ का पैसा कैसे मिलेगा, पीएफ का पैसा कैसे, पीएफ का पैसा निकालने की जानकारी, पीएफ का पैसा कब मिलेगा

    (3) शादी के लिए
    खाताधारक अपनी या भाई-बहन की या फिर अपने बच्चों की शादी के लिए पीएफ की राशि को निकाल सकता है.
    इसके अलावा अपनी पड़ाई या फिर बच्चों की पड़ाई के लिए भी पीएफ की राशि को निकाल सकते हैं. इसके लिए कम से कम 7 साल की नौकरी हो जानी चाहिए.
     इसका आपको सबूत देना होगा.

    (4) एजुकेशन के लिए
     एजुकेशन के मामले में आपको अपने एम्प्लायर के द्वारा फॉर्म 31 के तहत आवेदन करना होता है. आप पीएफ निकालने की तारीख तक कुल जमा का 50 प्रतिशत पीएफ ही निकाल सकते हैं.
     एजुकेशन के लिए पीएफ का इस्तेमाल कोई भी व्यक्ति अपने पूरे सेवाकाल में सिर्फ तीन बार कर सकता है.

    पीएफ का पैसा कैसे निकाले, पीएफ, पीएफ पासबुक कैसे बनाये, पीएफ निकासी फार्म ऑनलाइन, पीएफ पासबुक, पीएफ अकाउंट, पीएफ नंबर, पीएफ लॉगिन, पीएफ कार्यालय, पीएफ का पैसा निकालना है, पीएफ का पैसा निकालने के लिए, पीएफ का पैसा चेक करना है, पीएफ का पैसा कैसे मिलेगा, पीएफ का पैसा कैसे, पीएफ का पैसा निकालने की जानकारी, पीएफ का पैसा कब मिलेगा

    (5) प्लॉट खरीदने के लिए
     प्लॉट खरीदने के लिए पीएफ का पैसा इस्तेमाल करने के लिए आपका कार्यकाल 5 साल पूरा होना चाहिए. प्लॉट आपके, आपकी पत्नी के या दोनों के नाम पर रजिस्टर्ड होना चाहिए.
     प्लॉट या प्रॉपर्टी किसी प्रकार के विवाद में फंसी नहीं होनी चाहिए और न ही उस पर कोई कानूनी कार्रवाई चल रही होनी चाहिए.
     प्लॉट खरीदने के लिए कोई भी व्यक्ति अपनी सैलरी का अधिकतम 24 गुना तक पीएफ का पैसा निकाल सकता है.
    इस तरह की स्थिति में आप अपनी नौकरी के कुल समय में सिर्फ एक ही बार पीएफ का पैसा निकाल सकते हैं.

    (6) घर बनाने या फ्लैट के लिए
    इस तरह की स्थिति में आपकी नौकरी के 5 साल पूरा होना आवश्यक है.
     इसके तहत कोई भी व्यक्ति अपनी सैलरी का अधिकतम 36 गुना तक पीएफ का पैसा निकाल सकता है.
    इसके लिए अपनी नौकरी के सयम के दौरान सिर्फ एक बार ही पीएफ के पैसों का इस्तेमाल किया जा सकता है.

    पीएफ का पैसा कैसे निकाले, पीएफ, पीएफ पासबुक कैसे बनाये, पीएफ निकासी फार्म ऑनलाइन, पीएफ पासबुक, पीएफ अकाउंट, पीएफ नंबर, पीएफ लॉगिन, पीएफ कार्यालय, पीएफ का पैसा निकालना है, पीएफ का पैसा निकालने के लिए, पीएफ का पैसा चेक करना है, पीएफ का पैसा कैसे मिलेगा, पीएफ का पैसा कैसे, पीएफ का पैसा निकालने की जानकारी, पीएफ का पैसा कब मिलेगा

    (7) हाउस रिनोवेशन
    इस स्थिति में आपके की नौकरी के कम से कम 5 साल पूरे होने चाहिए.
     इसके तहत कोई भी व्यक्ति अपनी सैलरी का अधिकतम 12 गुना तक पीएफ का पैसा निकाल सकता है.
     इसके लिए अपनी नौकरी के सयम के दौरान सिर्फ एक बार ही पीएफ के पैसों का इस्तेमाल किया जा सकता है.

    (8) प्री-रिटायरमेंट
    इसके लिए आपकी उम्र 54 वर्ष होनी चाहिए.
    इस स्थिति में आप कुल पीएफ बैलेंस में से 90 फीसदी तक की रकम निकल सकते हैं, लेकिन यह विद्ड्रॉ सिर्फ एक ही बार किया जा सकता है.

    ...
  •  


Posted Date : 16-Apr-2019
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    भिलाई नगर, 16 अप्रैल।
    सचदेवा न्यू पीटी कॉलेज में दसवीं, ग्यारहवीं एवं बारहवीं के विद्यार्थियों हेतु समर कोर्स में प्रवेश प्रारंभ हो चुका है। 
    इस कोर्स में संस्था स्कूली कक्षा, दसवीं, ग्यारहवीं, तथा बारहवीं की तैयारी इस तरह से करवाती है कि छात्र स्कूल में अपनी कक्षा में टॉप पॉजीशन बना कर रखतें हैं। संस्था के प्रमुख विषय विशेषज्ञों तथा अनुभवी प्राध्यापकों द्वारा 12वीं की पढ़ाई इस तरह करवाई जाती है कि वे बोर्ड परीक्षा में अच्छे अंकों से उत्तीर्ण होने के साथ-साथ प्रथम प्रयास में ही मेंडिकल-इंजीनियरिंग में प्रवेश पाने मे सफल हो सकें। छात्र-छात्राओं को एक ही छत के नीचे सभी विषयों की कोचिंग अनुभवी शिक्षकों की टीम द्वारा मिल जाती है। 

    गर्मी की छुट्टियों में समर कोर्स करने से छात्र अपने बोर्ड परीक्षा की तैयारी गर्मी की छुट्टियों में ही कर चुके होते हैं जिस कारण से उनके पास काफी समय रहता है जिसे वे अपने प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी में लगा सकते हैं। संस्था द्वारा क्लास रूम कोचिंग के साथ-साथ अनेक सुविधाएँ छात्रों को प्रदान की जाती है। 

    प्रत्येक विषय में अध्याय की समाप्ति पर छात्र-छात्राओं को उस अध्याय से संबंधित प्रिंटेड नोट्स वितरित किया जाता है, जिसका फायदा उन्हें बोर्ड परीक्षा के साथ-साथ प्रतियोगी परीक्षाओं में भी होता है। इसके अलावा प्रत्येक अध्याय से संबंधित बोर्ड परीक्षा एवं मेडिकल-इंजीनियरिंग स्तर के मॉडल टेस्ट संचालित किये जाते है। संस्था छत्तीसगढ़ में भिलाई, रायपुर, तथा बिलासपुर में संचालित है। 

     

    ...
  •  


Posted Date : 13-Apr-2019
  • अविनाश अशियाना में रु. 8.26 लाख की शुरुआती कीमत में फ्लैट

    रायपुर, 13 अप्रैल। छत्तीसगढ़ की सबसे विश्वसनीय रियल एस्टेट कंपनी अविनाश ग्रुप के द्वारा अविनाश आशियाना में 0 प्रतिशत जीएसटी, बिना अतिरिक्त चार्ज दिया जा रहा है। जिससे ग्राहक अविश्वसनिय कीमत अपने घर खरीदने का सपना पूरा कर सकेगे।

    ग्राहकों के लिए एक आकर्षक योजना भी दी गयी है जिसके अंतर्गत 1 बीके फ्लैट रु 8.26 लाख मे लिमीटेड पिरीयेड के लिये फ्री क्लब मेम्बरशीप, फ्री पार्किग, इल्कट्रीसिटी मीटर फ्री, फ्री सिकींग फंड एवं फ्री मेन्टेन्स 3 साल के लिये का ऑफर दिया जा रहा है। जिसके तहत 1.35 लाख से 1.38 तक की बचत फ्लैट की बुकिंग पर कर सकते है। 

    रू. 12.48 लाख मे 1बीएचके व रु. 18.26 लाख मे 2बीएचके बजट में घर का सपना पूरा करने के अवसर प्रदान किया जा रहा हैं जिसमे रजिस्ट्री समेत सभी खर्च सम्मिलित है। प्रधानमंत्री आवास योजना के अंतर्गत बायर्स भी अपने बजट के अनुरूप अपनी पसंद का घर चुनकर ऑन द स्पॉट बुकिंग करा सकते हैं बैंक लोन की सुविधा भी उपलब्ध है। 

    अविनाश ग्रुप  प्रबंध संचालक आनंद सिंघानिया ने बताया कि अविनाश ग्रुप के अर्फोडेबल बजट में से अपने बजट के अनुसार वल्र्ड क्लास इन्फ्रास्ट्रक्चर, मॉडर्न एमिनिटिज सहित शानदार लोकेशन में अपनी पसंद का घर चुन सकते हैं, जिसमें क्लब, जिम, मंदिर, जॉगिंग ट्रैक, भव्य गार्डन, सामुदायिक भवन एवं दो लिफ्ट प्रति ब्लॉक, अंडर ग्राउन्ड ड्रेनेज, बाउन्ड्री वाल से घिरा परिसर, चौड़ी सडक़ें एवं भरपूर पानी जैसी मूलभूत एवं उच्चकोटी की सुविधाएं भी प्रदान की गई है। 

    ...
  •  


Posted Date : 13-Apr-2019
  • नई दिल्ली, 13 अप्रैल। छोटी बचत योजनाओं (Small Saving Scheme) पर मिलने वाली नई ब्याज दरें 1 अप्रैल 2019 से लागू हो गई हैं. नई ब्याज दरें 1 अप्रैल 2019 से 30 जून 2019 तक लागू होंगी. बता दें कि हर 3 महीने में छोटी बचत योजनाओं के लिए नई ब्याज दरों का ऐलान किया जाता है. छोटी बचत योजनाओं के अंतर्गत किसान विकास पत्र, सुकन्या समृद्धि योजना  (Sukanya Samriddhi Scheme) और PPF  आती हैं.

    इसके अंतर्गत सेविंग डिपॉजिट, रिकरिंग डिपॉजिट, सीनियर सिटीजन सेविंग डिपॉजिट (5 वर्ष), नेशलन सेविंग सर्टिफिकेट की दरें भी तय की जाती है. वित्त मंत्रालय हर तीन महीने में इनकी ब्याज दरों को तय करता है. पिछले महीने वित्त मंत्रालय ने ब्याज दरों में कोई बदलाव नहीं किया था. गौरतलब है कि श्वक्कस्नह्र की ब्याज दरें 2018-19 के लिए तय की गई हैंमौजूदा समय में लागू ब्याज दरें

    सुकन्या समृद्धि योजना               8.5 फीसदी ब्याज

    पोस्ट ऑफिस डिपॉजिट (1-3 साल) 7 फीसदी ब्याज
    नेशनल सेविंग सर्टिफिकेट (5 साल) 8 फीसदी ब्याज
    किसान विकास पत्र                   7.7 फीसदी ब्याज
    ईपीएफओ              8.65 फीसदी ब्याज

    ...
  •  


Posted Date : 13-Apr-2019
  • नई दिल्ली, 13 अप्रैल। भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) ने हाल में अपने योनो ऐप के जरिये बिना डेबिट कार्ड के एटीएम से कैश निकालने की सुविधा अपने ग्राहकों को प्रदान की है। हालांकि, यह पहला बैंक नहीं है, जो बिना डेबिट कार्ड के एटीएम से पैसे निकालने की सुविधा दे रहा है। एसबीआई के अलावा, निजी क्षेत्र के दो बैंक आईसीआईसीआई और एक्सिस बैंक भी ऐसी सुविधा प्रदान करते हैं, लेकिन उनका तरीका एसबीआई से अलग है। यह बेहद सुविधाजनक है, लेकिन इसकी अपनी कुछ सीमाएं हैं। आइए, जानते हैं बिना कार्ड कैसे निकाल सकते हैं एटीएम से पैसे।  

    1. एसबीआई के एटीएम से कार्डलेस विद्ड्रॉल 
    जैसा कि आपको पता होगा कि एसबीआई के एटीएम से पैसे निकालने के लिए आपको इसके योनो ऐप का इस्तेमाल करना पड़ता है। 

    2. आईसीआईसीआई बैंक के एटीएम से कार्डलेस विद्ड्रॉल 
    आईसीआईसीआई बैंक के एटीएम से बिना डेबिट कार्ड के पैसे निकालने का तरीका थोड़ा अलग है। यह सुविधा उन्हीं लोगों की मिलती है, जिनका इस बैंक में सेविंग अकाउंट नहीं है। इसे इस तरह समझते हैं। माना आपका आईसीआईसीआई बैंक में सेविंग अकाउंट है और आपका बच्चा किसी काम से शहर से बाहर गया है। अचानक उसे पैसों की जरूरत पड़ जाती है। ऐसे में अगर आपके पास अपने बच्चे का मोबाइल नंबर है तो वह कुछ प्रक्रियाओं का पालन कर आसानी से आईसीआईसीआई बैंक के एटीएम से बिना आपके डेबिट कार्ड का इस्तेमाल किए पैसे निकाल सकता है। 

    बिना कार्ड के कैसे निकालें पैसे 
    एसबीआइ बैंक की वेबसाइट के मुताबिक, आपको नेटबैंकिंग पोर्टल लॉगइन करना पड़ता है और कार्डलेस कैश विदड्रॉल प्रक्रिया शुरू करनी पड़ती है। नेटबैंकिंग पोर्टल में लॉगइन करने के बाद आप सेविंग अकाउंट में जाएं और उस व्यक्ति का नाम और उसका मोबाइल नंबर डालें, जिसे आप कार्डलेस कैश विदड्रॉल सेवा के जरिये पैसे ट्रांसफर करना चाहते हैं। 

    अब फंड ट्रांसफर टैब को क्लिक करें और कार्डलेस कैश विदड्रॉल ऑप्शन के तहत बेनिफिशियरी का नाम सिलेक्ट करें। इसके बाद, आप ट्रांसफर की जाने वाली राशि डालें। सफलतापूर्वक ऑथेंटिकेशन के बाद जो राशि आपने डाली है, वह आपके अकाउंट से कट जाएगी। 

    अब आपके (सेंडर) मोबाइल पर आईसीआईसीआई बैंक की तरफ से एसएमएस के जरिये चार अंकों का एक यूनिक कोड मिलेगा और इसी समय बेनिफिशियरी को भी उसके मोबाइल पर छह अंकों का एक यूनिक कोड मिलेगा। आपको चार अंकों का यह कोड बेनिफिशयरी को बताना होगा। यह 
    इसके बाद, बेनिफिशियरी को आईसीआईसीआई बैंक के एटीएम में अपना मोबाइल नंबर, चार और छह अंकों का वेरिफिकेशन कोड (जो एसएमएस से मिला है) और कुल राशि डालनी होगी। 

    कैश विद्ड्रॉल लिमिट ऐंड ट्रांजैक्शन चार्ज 
    सेंडर बेनिफिशियरी को प्रति ट्रांजैक्शन 10 हजार रुपये, एक दिन में 20,000 रुपये और एक महीने में 25,000 रुपये ट्रांसफर कर सकता है। इस सुविधा के लिए प्रति ट्रांजैक्शन 25 रुपये का शुल्क अकाउंट से कटता है, जिसमें टैक्स भी सम्मिलत है। कार्डलेस कैश विदड्रॉल की प्रक्रिया के दौरान पासकोड वगैरह डालने में अगर कोई मिसमैच होता है, तो कार्डलेस कैश विदड्रॉल ट्रांजैक्शन ब्लॉक हो जाएगा और राशि सेंडर के अकाउंट में लौट जाएगी। 

    3. एक्सिस बैंक के एटीएम से कार्डलेस विद्ड्रॉल 
    इंस्टा मनी ट्रांसफर ( ढ्ढरूञ्ज) एक इंटरनेट बैंकिंग सेवा है, जिसके जरिये आप बेनिफिशियरी को नकदी भेज सकते हैं। आईसीआईसीआई बैंक के कॉन्सेप्ट की तरह ही बेनिफिशियरी बैंक के एटीएम से बिना डेबिट कार्ड के पैसे निकाल सकता है। 

    बिना डेबिट कार्ड करें कैश विद्ड्रॉल 
    एक्सिस बैंक की वेबसाइट के मुताबिक, आपको निम्नलिखत प्रक्रियाओं का पालन करना होगा। सबसे पहले आप एक्सिस बैंक की नेटबैंकिंग को लॉगइन करें और फंड ट्रांसफर प्रोसेस की शुरुआत करें। बेनिफिशियरी का नाम, मोबाइल नंबर और एड्रेस डालकर उसे रिजस्टर करें। इसके बाद, भेजी जाने वाली रकम डालें, एक सेंडर कोड (एटीएम से पैसे निकालने के लिए बेनिफिशियरी को इसकी जरूरत होगी) और प्रोसेस इनिशिएट करें। 

    एटीएम में बेनिफिशियरी आईएमटी ऑप्शन सिलेक्ट करने के बाद 'विद्ड्रॉ आईएमटी' को क्लिक करेगा और उन विवरणों को डालेगा, जो उसे एसएमएस के जरिये उसके मोबाइल पर मिला है, मतलब सेंडर्स कोड, एसएमएस कोड और आईएमटी अमाउंट। सभी विवरणों के मैच कर जाने के बाद एटीएम मशीन से कैश निकल जाएगा। बेनिफिशियरी आईएमएटी कैशएक्सिस बैंक, बैंक ऑफ इंडिया और लक्ष्मी विलास बैंक के किसी भी एटीएम से निकाल सकता है। 

    कैश विद्ड्रॉल लिमिट और ट्रांजैक्शन चार्ज 
    सेंडर प्रति ट्रांजैक्शन अधिकतम 10,000 रुपये और एक महीने में 25,000 रुपये भेज सकता है। इस सुविधा के लिए प्रति ट्रांजैक्शन 25 रुपये का शुल्क अकाउंट से कटता है, जिसमें टैक्स भी सम्मिलत है। (एनडीटीवी)

    ...
  •