सामान्य ज्ञान

Previous123Next
Posted Date : 19-Jan-2019
  • 1. पानी से भरे किसी बर्तन में पड़ा एक सिक्का किस कारण थोड़ा उठा हुआ प्रतीत होता है?
    (अ) प्रकाश के परावर्तन के कारण (ब) प्रकाश के अपवर्तन के कारण (स) प्रकाश के विवर्तन के कारण (द) प्रकाश के परिक्षेपण के कारण
    2. पानी में लटकाकर बैठे हुए व्यक्ति को उसका पैर मुड़ा हुआ और छोटा दिखाई पड़ता है?
    (अ) अपवर्तन के कारण (ब) परावर्तन के कारण (स) विवर्तन के कारण (द) परिक्षेपण के कारण
    3. जब एक काम्पेक्ट डिस्क सूर्य के प्रकाश में देखी जाती है, तो इंद्रधनुष के समान रंग दिखाई देते हैं। इसकी व्याख्या की जा सकती है?
    (अ) परावर्तन एवं विवर्तन की परिघटना के आधार पर (ब) परावर्तन एवं पारगमन की परिघटना के आधार पर (स) विवर्तन एवं पारगमन की परिघटना के आधार पर (द) अपवर्तन, विवर्तन एवं पारगमन की परिघटना के आधार पर
    4. जब प्रकाश की किरण विरल माध्यम से सघन माध्यम में जाती है, तो वह?
    (अ) सीधी दिशा में चली जाती है (ब) अभिलंब की ओर झुक जाती है (स) अभिलंब से दूर हटती है (द) इनमें से कोई नहीं
    5. पूर्ण आंतरिक परावर्तन होता है, जब प्रकाश जाता है?
    (अ) हीरे से कांच में (ब) जल से कांच में (स) वायु से जल में (द) वायु से कांच में
    6. साबुन के पतले झाग में चमकदार रंगों का बनना किस परिघटना का परिणाम है?
    (अ) बहुलित परावर्तन और व्यतिकरण (ब) बहुलित अपवर्तन और परिक्षेपण (स) अपवर्तन और परिक्षेपण (द) धु्रवण और व्यतिकरण
    7. कार में दृश्यावलोकन के लिए किस प्रकार के शीशे का प्रयोग होता है?
    (अ) अवतल दर्पण (ब) बेलनाकार दर्पण (स) उत्तल दर्पण  (द) समतल दर्पण
    8. पानी में हवा का बुलबुला वैसे काम करेगा, जैसे करता है-
    (अ) उत्तल दर्पण (ब) उत्तल लेंस (स) अवतल दर्पण (द) अवतल लेंस
    9. प्रिज्म में प्रकाश के विभिन्न रंगों का विभाजन क्या कहलाता है?
    (अ) प्रकाश का परावर्तन (ब) प्रकाश का अपवर्तन (स) प्रकाश का विवर्तन (द) प्रकाश का वर्ण विक्षेपण
    10. श्वेत प्रकाश जब प्रिज्म से होकर गुजरता है, तो वर्ण सबसे अधिक विचलित होता है, वह रंग  कौन सा है?
    (अ) लाल (ब) बैंगनी (स) पीला (द) आसमानी
    11. प्राथमिक रंग किसे कहते हैं?
    (अ) प्रकृति में पाए जाने वाले रंग (ब) इंद्रधनुष के रंग (स) श्वेत प्रकाश के स्पेक्ट्रम के रंग (द) वे रंग जो अन्य रंगों के मिश्रण से उत्पन्न नहीं किए जा सकते हैं
    12. प्रकाश का रंग निश्चित किया जाता है?
    (अ) वेग द्वारा (ब) आयाम द्वारा (स) तरंगदैध्र्य द्वारा (द) आवृत्ति द्वारा
    13. तीन रंग मूल रंग हैं। वे कौन-कौन से हैं?
    (अ) नीला, पीला और लाल (ब) नीला, हरा और लाल (स) पीला, हरा और लाल (द) नीला, पीला और हरा
    14. घड़ी साज घड़ी के बारीक पुर्जों को देखने के लिए किसका उपयोग करता है?
    (अ) फोटो कैमरा का (ब) आवद्र्धक लेंस (स) संसुक्त सूक्ष्मदर्शी (द) दूरदर्शी
    15. दूरबीन का आविष्कार किया था?
    (अ) गैलीलियो ने (ब) गुटिनबर्ग ने (स) एडिसन ने (द) ग्राह्म बेल ने
    16. प्रिंटर, मॉनिटर आदि जैसे पेरिफरल उपकरणों को क्या माना जाता है?
    (अ) हार्डवेयर (ब) सॉफ्टवेयर (स) डॉटा (द) सूचना
    17. कंप्यूटर प्रिंटर किस प्रकार का डिवाइस है?
    (अ) इनपुट (ब) आउटपुट (स) सॉफ्टवेयर (द) स्टोरेज
    18. किस प्राकृतिक प्रदेश में मौसमी वर्षा होती है, मुख्यत: गर्मी के अंत में?
    (अ) भूमध्यसागरीय प्रदेश (ब) मानसूनी प्रदेश (स) विषुवतीय प्रदेश (द) प्रेयरी प्रदेश
    19. ग्रीष्मकालीन वर्षा का प्रदेश है?
    (अ) मानसूनी प्रदेश (ब) भूमध्यसागरीय प्रदेश (स) विषुवतीय प्रदेश (द) पश्चिमी यूरोपीय प्रदेश 
    20. आर्थिक दृष्टि से सर्वाधिक विकसित प्रदेश है?
    (अ) भूमध्यसागरीय प्रदेश (ब) भूमध्यरेखीय प्रदेश (स) पश्चिमी यूरोपीय प्रदेश (द) सेंट लारेंस तुल्य
    21. विश्व में सबसे अधिक वर्षा का स्थान किस प्राकृतिक प्रदेश के अंतर्गत आते हैं?
    (अ) विषुवतीय प्रदेश में (ब) मानसूनी प्रदेश में (स) शीतोष्ण तृण प्रदेश में (द) पश्चिम यूरोपीय प्रदेश में
    22. सोना को कठोर बनाने के लिए उसमें क्या मिलाया जाता है?
    (अ) लोहा (ब) निकेल (स) तांबा (द) सीसा
    23. हॉलमार्क का चिह्न किन उत्पादों पर लगाया जाता है?
    (अ) खाद्य पदार्थ (ब) स्वर्णाभूषण (स) पेट्रोलियम उत्पाद (द) पर्यावरण मित्र उत्पादन
    24. बेवकूफों का सोना के नाम से जाना जाता है?
    (अ) पायराइट्स को (ब) गैलना को (स) फ्लूराइट्स को (द) पायरोलुसाइट्स को
    25. शुद्ध सोना होता है?
    (अ) 18 कैरेट (ब) 20 कैरेट (स) 22 कैरेट (द) 24 कैरेट
    26. पारा तथा अन्य धातु के मिश्रण को क्या कहा जाता है?
    (अ)एक्वाप्योर (ब) एक्वारेजिया (स) क्विक सिल्वर (द) अमलगम 
    27. निम्नलिखित में से कौन सी अकादमी भारत में नृत्य, नाटक तथा संगीत के विकास को प्रोत्साहन देने के लिए उत्तरदायी है?
    (अ) संगीत अकादमी (ब) ललित कला अकादमी (स) साहित्य अकादमी (द) नेशनल स्कूल ऑफ ड्रामा 
    ------------
    सही जवाब- 1.(ब)प्रकाश के अपवर्तन के कारण, 2.(अ) अपवर्तन के कारण, 3.(द) अपवर्तन, विवर्तन एवं पारगमन की परिघटना के आधार पर, 4.(ब) अभिलंब की ओर झुक जाती है, 5.(अ) हीरे से कांच में, 6.(अ) बहुलित परावर्तन और व्यतिकरण, 7.(स) उत्तल दर्पण, 8.(द) अवतल लेंस, 9.(द) प्रकाश का वर्ण विक्षेपण, 10.(ब) बैंगनी, 11.(द) वे रंग जो अन्य रंगों के मिश्रण से उत्पन्न नहीं किए जा सकते हैं, 12.(स) तरंगदैध्र्य द्वारा, 13.(द) नीला, पीला और हरा, 14.(अ) फोटो कैमरा का, 15.(द) ग्राह्म बेल ने, 16.(अ) हार्डवेयर, 17.(ब) आउटपुट,18.(ब) मानसूनी प्रदेश, 19.(अ) मानसूनी प्रदेश, 20.(स) पश्चिमी यूरोपीय प्रदेश, 21.(ब) मानसूनी प्रदेश में, 22.(स) तांबा, 23.(ब) स्वर्णाभूषण, 24.(अ) पायराइट्स को, 25.(द) 24 कैरेट, 26.(द) अमलगम, 27. (अ) संगीत अकादमी (ब) ललित कला अकादमी ।

     

    ...
  •  


Posted Date : 19-Jan-2019
  •  अमरीकी विश्वविद्यालय हाडवर्ड में होने वाले एक शोध में इस बात का दावा किया गया है कि सप्ताह में तीन दिन स्ट्राबरी और ब्लूबेरी का प्रयोग दिल के दौरे के ख़तरे को एक तिहाई तक कम कर देता है।
     93 हज़ार से अधिक महिलाओं पर किए जाने वाले इस शोध में यह बात सिद्ध की गयी है कि स्ट्राबरी और ब्लूबेरी में प्राकृतिक रूप से शामिल एक भाग फ्लेवोनोड पतली रगों में ख़ून जमने के विरुद्ध प्रतिरोध करता है जिसके परिणाम में हृदय की बीमारियां, उच्च रक्तचाप और बुद्धि की कमज़ोरी जैसी घातक बीमारियों से छुटकारा मिलता है। शोध के परिणाम में सप्ताह में कम से कम तीन बार स्ट्राबरी खाने वाली महिलाएं हार्ट अटैक के ख़तरे उन महिलाओं की तुलना में 32 प्रतिशत कम दर्ज किए गये जो महीने में केवल एक बार इस फल का प्रयोग करती हैं।  

    ...
  •  


Posted Date : 19-Jan-2019
  • देवेन्द्रनाथ ठाकुर या देवेन्द्रनाथ टैगोर  (जन्म-15 मई, 1817 - निधन- 19 जनवरी, 1905) कलकत्ता निवासी श्री द्वारकानाथ ठाकुर के पुत्र थे, जो प्रख्यात विद्वान और धार्मिक नेता थे। अपनी दानशीलता के कारण उन्होंने  प्रिंस की उपाधि प्राप्त की थी।  नोबेल पुरस्कार विजेता रबीन्द्रनाथ ठाकुर,  देवेंद्रनाथ ठाकुर के पुत्र थे।
     देवेंद्रनाथ ठाकुर  ब्रह्म समाज के प्रमुख सदस्य थे, जिसका 1843 ई. से उन्होंने बड़ी सफलता के साथ नेतृत्व किया। 1843 ई. में उन्होंने  तत्वबोधिनी पत्रिका  प्रकाशित की, जिसके माध्यम से उन्होंने देशवासियों को गम्भीर चिन्तन हृदयगत भावों के प्रकाशन के लिए प्रेरित किया। 
     राजा राममोहन राय की तरह देवेन्द्रनाथ  भी चाहते थे कि देशवासी, पाश्चात्य संस्कृति की अच्छाइयों को ग्रहण करके उन्हें भारतीय परम्परा, संस्कृति और धर्म में समाहित करें। वे हिन्दू धर्म को नष्ट करने के नहीं, उसमें सुधार करने के पक्षपाती थे। वे समाज सुधार में धीरे चलो की नीति पसंद करते थे। इसी कारण उनका केशवचन्द्र सेन तथा उग्र समाज सुधार के पक्षपाती ब्राह्मासमाजियों, दोनों से ही मतभेद हो गया। केशवचन्द्र सेन ने ब्रह्म समाज से अलग होकर अपनी नई संस्था नवविधान आरम्भ की।   देवेन्द्रनाथ जी के उच्च चरित्र तथा आध्यात्मिक ज्ञान के कारण सभी देशवासी उनके प्रति श्रद्धा भाव रखते थे और उन्हें महर्षि सम्बोधित करते थे।
     देवेन्द्रनाथ धर्म के बाद शिक्षा प्रसार में सबसे अधिक रुचि लेते थे। उन्होंने बंगाल के विविध भागों में शिक्षा संस्थाएं खोलने में मदद की। उन्होंने 1863 ई. में बोलपुर में एकांतवास के लिए 20 बीघा ज़मीन खऱीदी और वहां गहरी आत्मिक शान्ति अनुभव करने के कारण उसका नाम  शंाति निकेतन  रख दिया और 1886 ई. में उसे एक ट्रस्ट के सुपुर्द कर दिया। यहीं पर बाद में उनके पुत्र रवीन्द्रनाथ टैगोर ने विश्वभारती की स्थापना की।
    वर्ष 1851 ई. में स्थापित होने वाले ब्रिटिश इंडियन एसोसियेशन का सबसे पहला सेक्रेटरी  देवेंद्रनाथ ठाकुर को ही नियुक्त किया गया था। इस एसोसियेशन का उद्देश्य संवैधानिक आंदोलन के द्वारा देश के प्रशासन में देशवासियों को उचित हिस्सा दिलाना था।

    ...
  •  


Posted Date : 19-Jan-2019
  • बहादुरपुर का युद्ध (24 फरवरी 1658) को हुआ था। बहादुरपुर का युद्ध भारत के मुगल बादशाह शाहजहां (शासनकाल, 1628-57/58) के बेटों के बीच उत्तराधिकार की लड़ाई का निर्णय करने में सहायक रहा। 
    वर्ष 1657 में शाहजहां के बीमार पडऩे पर उनके चारों पुत्र-दारा शिकोह, शाह शुजा, औरंगजेब और मुराद बख्श, सत्ता के लिए लडऩे लगे। दूसरे पुत्र शुजा ने तुरंत स्वयं को बंगाल का स्वतंत्र प्रशासक घोषित कर दिया। दारा के पुत्र सुलेमान शिकोह ने शुजा को उत्तर प्रदेश में वाराणसी (भूतपूर्व बनारस) के पूर्वोत्तर में 8 किमी दूर स्थित बहादुरपुर में हरा दिया। सुलेमान शिकोह को बाद में उनके चाचा औरंगजेब ने कैद करके फांसी दे दी। 
    औरंगजेब ने 1658 में शाहजहां को कैद कर एक महीने बाद स्वयं को बादशाह घोषित कर दिया। उन्होंने दारा, मुराद और शुजा (जो फरार होकर 1660 में म्यांमार, भूतपूर्व बर्मा चले गए और  वहीं उनका निधन हुआ) को भी हराया।

    ...
  •  


Posted Date : 19-Jan-2019
  • बीटी बैंगन (बैसिलस थुरियनजीनिसस बैंगन) जिसे बीटी कॉटन (कपास) के रूप में निर्मित किया गया है, एक आनुवांशिक संशोधित फसल है। बीटी को बैसिलस थुरियनजीनिसस (बीटी) नामक एक मृदा जीवाणु से प्राप्त किया जाता है। बीटी बैंगन और बीटी कपास (कॉटन) दोनों में इस विधि का प्रयोग होता है। 
     आनुवांशिक संशोधित फसल (जेनेटिकली मॉडिफाइड फसलें) यानी ऐसी फसलें जिनके गुणसूत्र में कुछ मामूली से परिवर्तन कर के उनके आकार-प्रकार और गुणवत्ता में मनवांछित स्वरूप प्राप्त किया जा सकता है। यह गुणवत्ता परिवर्तन फसल में कीटाणुनाशकों से लडऩे की क्षमता या पौष्टिकता में की वृद्धि रूप में भी हो सकती है। इसी वैज्ञानिक या अप्राकृतिक परिवर्तन को आनुवांशिक संशोधित फसल कहा जाता है।  
     बीटी बैगन को लेकर काफी विवाद हुआ है। भारत में बीटी खाद्यान्न पर उठी बहस को लेकर पर्यावरण मंत्रालय ने निर्णय लिया है कि वह फिलहाल बीटी बैंगन की खेती को रोके रखेगी।
      दुनिया के कई देशों में जीएम फसलें इस्तेमाल में लाई जाती हैं। इनमें उत्तर और दक्षिण अमेरिका के अधिकांश देश शामिल हैं जहां सोयाबीन, मक्का, राई और चुकंदर आदि की जीएम फसलें उगाई और इस्तेमाल में लाई जाती हैं। संयुक्त राज्य अमेरिका में पूरी दुनिया की आधी से अधिक जीएम फसलें इस्तेमाल की जाती हैं। इसके विपरीत यूरोप के केवल सात देशों में ही अभी तक जीएम फसलों के इस्तेमाल को कानूनी मान्यता प्रदान की गई है। एशिया में भी भारत और चीन समेत केवल तीन देशों में ही जीएम फसलों को इस्तेमाल में लाए जाने की शुरुआत हुई है, लेकिन इसके लिए कड़े नियामक हैं। अफ्रीका में भी केवल तीन देश ही हैं जिन्होंने जीएम फसलों के इस्तेमाल की इजाजत अभी तक दी है।

    ...
  •  


Posted Date : 19-Jan-2019
  • पूर्वोत्तर राज्यों और उत्तरी भूटान के साथ कोलकाता को 6 लेन मार्ग से जोडऩे वाला पुल हुगली नदी पर बनकर तैयार हो गया है।
    651 करोड़ रुपए की लागत से बने इस पुल के लिए दो तिहाई निवेश विदेशी निवेशकों के गठबंधन का है। इस पुल को निवेदिता ब्रिज नाम दिया गया है।

    ...
  •  


Posted Date : 19-Jan-2019
  • टुअर डी  फ्रांस , दुनिया की सबसे लोकप्रिय और प्रतिष्ठिïत  साइकल प्रतियोगिता है।  हर वर्ष जुलाई महीने में इसका आयोजन होता है। 
    1903 में इस प्रतियोगिता का शुरुआत हुई थी।  प्रथम और द्वितीय  विश्व युद्ध के दौरान इसका आयोजन नहीं हुआ था। यह स्पर्धा फ्रांस और उसके पड़ोसी देशों से होकर गुजरती है।  लंबी दूरी की इस प्रतियोगिता को पूरा होने में कम से कम तीन सप्ताह का समय लग जाता है।  सबसे कम कुल समय लेने वाले खिलाड़ी को प्रतियोगिता का विजेता घोषित किया जाता है। 

    ...
  •  


Posted Date : 19-Jan-2019
  • जीववैज्ञानिकों ने दक्षिणी ताइवान के समुद्र तट पर केकड़े की एक ऐसी नई नस्ल खोज निकाली है, जो हू-ब-हू स्ट्रॉबेरी जैसी दिखाई देती है। इस केकड़े का कवच लाल रंग का है और उस पर सफेद दाने उभरे हुए हैं। यह नियोलियोमेरा प्युसेंस प्रजाति का केकड़ा है।
     नैशनल ताइवान ओशन यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर हो पिंग-हो का कहना है कि केकड़े की यह प्रजाति हवाई, पोलिनेशिया और मॉरिशियस के आसपास पाए जानेवाली प्रजाति से मिलती-जुलती है। लेकिन इसका सीप के आकार का एक इंच चौड़ा कवच इसे उस प्रजाति से अलग करता है।

    ...
  •  


Posted Date : 19-Jan-2019
  • गिनीज़ बुक ऑफ वल्र्ड रिकाड्र्स  प्रतिवर्ष प्रकाशित होने वाली एक सन्दर्भ पुस्तक है जिसमें विश्व कीर्तिमानों (रिकॉड्र्स) का संकलन होता है। सन् 2000 तक इसे गिनीज़ बुक ऑफ रिकाड्र्स (अमेरिका में गिनीज़ बुक ऑफ़ वल्र्ड रिकाड्र्स ) के नाम से जाना जाता था। यह  दुनिया में सर्वाधिक बिकने वाली कॉपीराइट पुस्तक के रूप में स्वयं एक रिकार्डधारी पुस्तक है। यह पुस्तक अमेरिका के सार्वजनिक पुस्तकालयों से सर्वाधिक चोरी जाने वाली पुस्तक भी है। यह किताब 1955 से लगातार निकल रही है। 
    इसे शुरू करने का श्रेय ह्यूज बीवर और उनके मित्रों नोरिस और रॉस मॅक्विटर को जाता है।  तीनों ने मिलकर 1955 में पहली गिनीज बुक ऑफ वल्र्ड रिकॉड्र्स किताब निकाली और फिर धीरे-धीरे यह नई किताब लोगों को इतनी पसंद आने लगी कि इसकी प्रतियां हर साल बढ़ती गईं।

    ...
  •  


Posted Date : 18-Jan-2019
  • 1. मिथेन निम्न में से किस गृह के वातावरण में मौजूद है?
    (अ) चंद्रमा (ब) सूर्य (स) बृहस्पति (द) मंगल
    2. प्रोटीन के पाचन में सहायक एंजाइम कौन सा है?
    (अ) यूरिएस (ब) सल्फेटेस (स) ट्रिप्सिन (द) प्रोटिएस
    3. उन देशों में लोग जिनका मुख्य खाद्यान्न पॉलिश किया हुआ चावल होता है,  निम्न में से किस बीमारी से पीडि़त हो जाते हैं?
    (अ) चर्मग्राह (ब) बेरी-बेरी से (स) स्कर्वी से (द) ऑस्टोमैलेशिया से
    4. मांसपेशियां में निम्नलिखित में से किसके एकत्र होने से थकान होती है?
    (अ) लैक्टिक अम्ल (ब) बेंजोइक अम्ल (स) पाइरूविक अम्ल (द) यूरिक अम्ल
    5. मोहनजोदड़ो की खुदाई किस नदी तट पर हुई थी?
    (अ) गंगा नदी के तट पर (ब) कृष्णा नदी के तट पर (स) सिंधु नदी के तट पर (द) इनमें से कोई नहीं
    6. किस पालवंशीय शासक ने विक्रमशिला विश्वविद्यालय की स्थापना की थी?
    (अ) विजयालय  (ब) धर्मपाल (स) मिहिरभोज (द) आमेघवर्ष
    7. तैमूर ने किस सुल्तान के शासनकाल में भारत पर आक्रमण किया था?
    (अ) नासिरुद्दीन मुहम्मद के शासनकाल में (ब) अलाउद्दीन खिलजी के शासनकाल में (स) रजिया सुल्तान के शासनकाल में (द) सिकंदर लोदी के शासनकाल में
    8. विश्व के संपूर्ण धरातलीय क्षेत्र का कितने प्रतिशत भाग कृषि योग्य है?
    (अ) 1 प्रतिशत (ब) 5 प्रतिशत (स) 11 प्रतिशत (द) 51 प्रतिशत 
    9. विश्व में बागानी कृषि का सबसे अधिक  विकास कहां हुआ है?
    (अ) मध्य अमेरिका में (ब) अमेजन बेसिन में (स) कांगो बेसिन में (द) दक्षिणी पूर्वी एशिया में मेरठ
    10. आहार में एस्कार्बिक अम्ल की कमी से कौन सा रोग होता है?
    (अ) रिकेट्स (ब) स्कर्वी (स) रतौंधी (द) बेरी-बेरी
    11. पेट्रोल (गैसोलीन) निम्नलिखित में से किसका मिश्रण है?
    (अ) हेक्सेन, हेप्टन तथा ऑक्टेन का (ब) बेंजीन, टॉलूइन तथा जाइलीन का (स) ईथेन, प्रोपेन तथा ब्यूटेन का (द) ईथेन, एथिलीन तथा एसिटिलीन का
    12. निम्नलिखित फसलों में से कौन सी एक फसल खरीफ मौसम की है?
    (अ) सोयाबीन (ब) अलसी (स) मसूर (द) सरसों
    13. निम्नलिखित में से कौन सा खेल हॉपमैन कप से संबंधित है?
    (अ) बैडमिंटन (ब) लॉन टेनिस (स) हॉकी (द) फुटबॉल
    14. स्वचालित इंजनों में कौन सा हिमनिरोधी के रूप में प्रयुक्त होता है?
    (अ) प्रोपिल एल्कोहॉल (ब) एथेनॉल (स) एथीलीन ग्लाइकॉल (द) मेथेनॉल
    15. खेती की अनिश्चितता को कौन सी पद्धति अपनाकर कम किया जा सकता है ?
    (अ) विशिष्टï कृषि पद्घति (ब) फसल उत्पादन में संकर बीज प्रयोग (स) विविधीकृत खेती (द) इनमें से कोई नहीं 
    16. निम्नलिखित में से कौन सी फसल ग्रीष्म में उगाई जाने वाली चारा मक्का की फसल के साथ मिलवां फसल के रूप में बोई जा सकती है?
    (अ) बरसीम (ब) जई (स) लोबिया (द) इनमें से कोई नहीं
    17. निम्नलिखित में से कौन सा तृणनाशी बोआई से पूर्व के रूप में अर्थात खेत में जोतकर मिला दिया जाता है?
    (अ) फ्लूक्लोरेलिन (ब) एलाक्लोर (स) पेंडीमिथेलीन (द) इनमें से कोई नहीं
    18. उत्तर भारत में मेंथा की फसल की रोपाई का उपुयक्त समय क्या है?
    (अ)1 जून से 15 जून तक (ब)1 सितंबर से 15 सितंबर तक (स) 15 नवंबर से 30 नवंबर तक (द)15 जनवरी से 15 फरवरी तक
    19. लखनऊ पैक्ट किसके बीच संपन्न हुआ था?
    (अ) कांग्रेस और ब्रिटिश सरकार (ब) मुस्लिम लीग और ब्रिटिश सरकार (स) कांग्रेस और मुस्लिम लीग (द) कांग्रेस, मुस्लिम लीग और ब्रिटिश सरकार
    20. कब कांग्रेस सरकारों ग्यारह प्रांतों में से सात का गठन किया गया?
    (अ) जुलाई 1935 (ब) जुलाई 1936 (स) जुलाई 1937 (द) जुलाई 1938
    21. कौन विंस्टन चर्चिल की जगह, 1945 में ग्रेट ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बने?
    (अ) क्लेमेंट एटली (ब) एंथोनी ईडन (स) स्टेनली बाल्डविन (द) नेविले चेम्बरलिन
    22. पहली ट्रांसाटलांटिक यात्री स्टीमर का नाम क्या था?
    (अ) टाइटैनिक (ब) एसएस ग्रेट ब्रिटेन (स) संविधान (द) ग्रेट वेस्टर्न
    23.1886 में पहला उद्देश्य से तेल टैंकर का निर्माण किस देश ने बनाया?
    (अ) अमेरिका (ब) यूनाइटेड किंगडम (स) फ्रांस (द)जर्मनी
    24. निम्नलिखित में से कौनसा भारत में स्वराज्य संस्थाओं को शुरू करने का एक उद्देश्य था? 
    (अ) भारतीय परिषद अधिनियम 1909 (ब) मॉट फोर्ड सुधार (स) भारत की कैबिनेट मिशन (द) सरकार अधिनियम 1935
    25. किस वर्ष मे दादर और नगर हवेली भारत का एक केन्द्र शासित प्रदेश बन गया?
    (अ)1961 (ब) 1962 (स) 1963 (द) 1964
    26. ललित, जिसकी उन्नत किस्म है, वह है?
    (अ) आम (ब) अमरूद (स) केला (द) स्ट्राबेरी
    27. चुनार क्षेत्र किस उद्योग के लिए प्रसिद्ध है?
    (अ) कांच उद्योग (ब) सीमेंट उद्योग (स) बीड़ी उद्योग (द) उपर्युक्त में से कोई नहीं
    ---
    सही जवाब- 1.(स) बृहस्पति, 2.(स) ट्रिप्सिन, 3.(ब) बेरी-बेरी से, 4.(अ) लैक्टिक अम्ल, 5.(स) सिंधु नदी के तट पर, 6.(ब) धर्मपाल, 7.(अ) नासिरुद्दीन मुहम्मद के शासनकाल में, 8.(स) 11 प्रतिशत, 9.(द) दक्षिणी पूर्वी एशिया में मेरठ, 10.(ब) स्कर्वी, 11.(अ) हेक्सेन, हेप्टन तथा ऑक्टेन का, 12.(अ) सोयाबीन, 13.(ब) लॉन टेनिस, 14.(स)एथीलीन ग्लाइकॉल, 15.(स) विविधीकृत खेती, 16.(स) लोबिया, 17.(अ) फ्लूक्लोरेलिन, 18.(द)15 जनवरी से 15 फरवरी तक, 19.(स)कांग्रेस और मुस्लिम लीग, 20.(स) जुलाई1937,  21.(अ)क्लेमेंट एटली, 22.(द) ग्रेट वेस्टर्न, 23.(द) जर्मनी, 24.(ब) मॉट फोर्ड सुधार, 25.(अ)1961, 26.(ब) अमरूद, 27.(द) उपर्युक्त में से कोई नहीं। 

     

    ...
  •  


Posted Date : 18-Jan-2019
  • शरीर में कहीं भी चोट लग जाने पर डॉक्टर एक्स रे कराने की सलाह देते हैं, लेकिन 18 जनवरी 1896 से पहले यह काम मुमकिन नहीं था।
     1896 में आज ही के दिन पहली बार एक्स रे मशीन को दुनिया के सामने लाया गया। एक्स रे मशीन चिकित्सा के क्षेत्र में क्रांतिकारी आविष्कार की तरह सामने आई। इसमें एक्स किरणों के इलेक्ट्रोमैग्नेटिक विकिरण की तकनीक का इस्तेमाल होता है। इस विकिरण की मदद से शरीर के भीतर हड्डियों की तस्वीर ली जाती है। एक्स किरणों का इस्तेमाल इस तरह की चिकित्सीय जांच के अलावा स्टेरिलाइजेशन और फ्लोरेसेंस में भी होता है।
     एक्स रे की खोज ब्रिटेन के वैज्ञानिक विलियम क्रूक्स की इलेक्ट्रिकल डिसचार्ज ट्यूब की मदद से हुई। 1895 में विलहेल्म रोएंटगेन ने क्रूक्स ट्यूब पर प्रयोग के दौरान एक्स किरणों के विकिरण को देखा। पहली एक्स रे तस्वीर रोएंटगेन ने अपनी पत्नी के हाथ की निकाली। इस तस्वीर में हड्डियों के साथ अंगूठी की भी आकृति उभर कर सामने आई।  इससे काफी कुछ स्पष्ट हो गया। वर्ष  1896 में एचएल स्मिथ ने एक्स किरणों के विकिरण की तकनीक का इस्तेमाल कर पहली एक्स रे मशीन बनाकर 18 जनवरी को दुनिया के सामने पेश की। 
     1940 और 1950 के दशक में एक्स रे मशीन का इस्तेमाल जूतों की दुकानों में माप के लिए भी होता था।  शीघ्र ही इसके विपरीत प्रभावों का पता चलने पर इनका इस्तेमाल बंद हो गया।  सबसे पहले इसके ऐसे इस्तेमाल पर रोक अमेरिकी प्रांत पेनसिल्वेनिया में 1957 में लगी थी।

    ...
  •  


Posted Date : 18-Jan-2019
  • केंद्र सरकार की राजीव गांधी आरोग्य योजना  का उद्देश्य गरीबी रेखा से ऊपर (एपीएल) जीवन बसर करने वाले राज्य के लगभग प्रत्येक नागरिक को रियायती दर पर स्वास्थ्य सेवा प्रदान करना है। इस योजना की शुरुआत 2 जुलाई 2012 को महाराष्ट्र से की गई है।  
      इस योजना के तहत लाभार्थी को इलाज और प्रक्रियाओं पर होने वाले कुल खर्च का दस फीसदी ही देना  होता है।  इस योजना के तहत, एपीएल परिवार के सदस्यों को प्रतिवर्ष 1.5 लाख रुपये तक के इलाज करने का अधिकार है।  विशेष मामलों में अगर खर्चा 1.5 लाख रुपये से ज्यादा का होता है तो सरकार अतिरिक्त 50 हजार  रुपये का अनुदान देती है।  योजना के तहत 447 प्रक्रियाएं और 50 फॉलोअप पैकेज हैं। लाभार्थी 160 अस्पतालों, जिसमें से 14 अस्पताल राज्य से बाहर हैं, में इलाज करवा सकते हैं। योजना के तहत हृदय रोग, कैंसर उपचार ( शल्य चिकित्सा, कीमोथेरेपी और रेडियोथेरेपी), तंत्रिकातंत्र संबंधी बीमारियां, गुर्दे की बीमारी, जलने के मामले, पॉल- ट्रॉमा मामलों को कवर किया गया है। कर्नाटक सरकार ने राजीव आरोग्य योजना का प्रारंभ 9 जनवरी 2014 को किया है। राजीव आरोग्य योजना के प्रारंभ होने के साथ ही कर्नाटक अपनी आबादी को सार्वभौमिक स्वास्थ्य कवरेज प्रदान करने वाला भारत का पहला राज्य बन गया है। 

    ...
  •  


Posted Date : 18-Jan-2019
  • चाल्र्स मोन्टेस्कियो फ्रांस के लेखक और दार्शनिक हुए हैं,  जिनका जन्म 18 जनवरी सन 1689 ईसवी को हुआ था।   वे ऐसे विचारकों में थे जिनकी सोच का फ्रांस में आने वाली क्रांति पर बहुत प्रभाव पड़ा। 
    चाल्र्स मोन्टेस्कियो  पहले व्यक्ति थे जिन्होंने जल थल और वायु सेनाओं को एक दूसरे से अलग करने की आवश्यकता का विचार पेश किया। मोनटेस्कियो की सबसे विख्यात पुस्तक का नाम नियमों की आत्मा है जो 1748 में जेनेवा में प्रकाशित हुई। उन्होंने इस पुस्तक में विभिन्न सरकारों के बारे में चर्चा की है तथा रीति रिवाजों, प्राकृतिक एवं मानवीय नियमों और उनके आपसी संबंधों को विस्तार से बयान किया है। उनकी दूसरी पुस्तकें ईरानी पत्र और वास्तविक इतिहास हैं। सन 1755 ईसवी में मोनटेस्कियो का निधन हुआ।

    ...
  •  


Posted Date : 18-Jan-2019
  • महात्मा गांधी राष्ट्रीय  ग्रामीण रोजगार गारंटी अधिनियम (मनरेगा ) भारत में लागू एक रोजगार गारंटी योजना है, जिसे 25 अगस्त 2005 को विधान द्वारा अधिनियमित किया गया गया। यह योजना प्रत्येक वित्तीय वर्ष में किसी भी ग्रामीण परिवार के उन वयस्क सदस्यों को 100 दिन का रोजगार उपलब्ध कराती है जो प्रतिदिन 220 रुपये की सांविधिक न्यूनतम मजदूरी पर सार्वजनिक कार्य-सम्बंधित अकुशल मजदूरी करने के लिए तैयार हैं।    शुरू में इसे राष्ट्रीय  ग्रामीण रोजगार गारंटी अधिनियम (नरेगा) कहा जाता था, लेकिन 2 अक्टूबर 2009 को इसका पुन: नामकरण कर इस योजना को महात्मा गांधी के नाम पर समर्पित कर दिया गया।  
    महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी अधिनियम (मनरेगा)के तहत साल में कम से कम सौ दिनों का रोजगार गरीबों को दिए जाने का प्रावधान है।  ग्रामीण विकास मंत्रालय ने जंगली इलाकों में रहने वाले अनुसूचित जनजाति के परिवारों को महात्मा गांधी राष्ट्रीय  ग्रामीण रोजगार गारंटी अधिनियम (मनरेगा) के तहत दिए जाने वाले निर्धारित 100 दिनों के रोजगार से अधिक 50 दिनों का अतिरिक्त रोजगार उपलब्ध कराने का निर्णय 14 जनवरी 2014 को लिया। इस निर्णय के बाद से जंगली इलाकों में रहने वाले अनुसूचित जनजाति के परिवार वालों को अब 150 दिनों का रोजगार मिलेगा।
     वे आदिवासी जिन्हें वन अधिकार अधिनियम 2006 के तहत भूमि अधिकार मिले हैं, वह भी इस योजना के पात्र हैं। मनरेगा के तहत अतिरिक्त काम करने के दिन परिवारों को अपनी जमीन पर काम करने की भी अनुमति है। वन अधिकार अधिनियम 2006 के तहत लगभग 14 लाख व्यक्तियों और समुदायों को अधिकार प्राप्त हैं जिनमें से 8 लाख लोग झारखंड, ओडीशा, छत्तीसगढ़ और आंध्रप्रदेश में हैं।  वन अधिकार अधिनियम को इंदिया आवास योजना के तहत सहायता के लिए शामिल किया गया है।

    ...
  •  


Posted Date : 18-Jan-2019
  • गुलमेंहदी  एक सुगन्धित सदाबहार जड़ी-बूटी है जिसके पत्ते सुई के आकार के होते हैं। अंग्रेजी में इसे रोजमैरी के नाम से जाना जाता है। यह भूमध्यसागरीय क्षेत्र का मूल पौधा है। यह पुदीना परिवार लैमियेसी की सदस्य है, जिसमें और भी कई जड़ी-बूटी शामिल हैं।
    गुलमेंहदी का पौधा सीधा बढ़ता है और 1.5 मीटर तक लंबा होता है और कभी-कभी यह 2 मी तक पहुंच सकते है। सदाबहार पत्ते, ऊपर से हरे और नीचे से रोमिल सफेद होते है। फूल सर्दी या वसंत ऋतुु में खिलते हैं जिनका रंग बैंगनी, गुलाबी, नीला या सफेद होता है।
    यह आकर्षक पौधा कुछ हद तक सूखे का प्रतिरोध करता है इसलिए इसे विशेष रूप से भूमध्यसागरीय जलवायु क्षेत्रों मे भू-दृश्य निर्माण (लैंडस्केपिंग) के लिए प्रयोग किया जाता है। यह आसानी से उगायी जा सकता है और माना जाता है कि यह कीट प्रतिरोधी होती है। गुलमेंहदी को आसानी से किसी भी आकार में काटा जा सकता है ।   

    ...
  •  


Posted Date : 18-Jan-2019
  • राधोपनिषद, ऋग्वेदीय परम्परा का उपनिषद  है जिसमें सनकादि ऋषियों ने ब्रह्माजी से  परम शक्ति के विषय में प्रश्न किया है। ब्रह्मा जी ने वासुदेव कृष्ण को सर्वप्रथम देवता स्वीकार करके उनकी प्रिय शक्ति श्रीराधा को सर्वश्रेष्ठ शक्ति कहा है। भगवान श्रीकृष्ण द्वारा आराधित होने के कारण उनका नाम  राधिका  पड़ा। इस उपनिषद में उसी राधा की महिमामयी शक्तियों को उल्लेख है। उसके चिन्तन-मनन से मोक्ष-प्राप्ति की बात कही गयी है।
        सनकादि ऋषियों द्वारा पूछ जाने पर ब्रह्मा जी उन्हें बताते हैं कि वृन्दावन अधीश्वर श्री कृष्ण ही एकमात्र सर्वेश्वर हैं। वे समस्त जगत के आधार हैं। वे प्रकृति से परे और नित्य हैं। उस सर्वेश्वर श्री कृष्ण की आह्लादिनी, सन्धिनी, ज्ञान इच्छा,क्रिया आदि अनेक शक्तियां हैं। उनमें आह्लादिनी सबसे प्रमुख है। वह श्री कृष्ण की अंतरंगभूता  श्री राधा  के नाम से जानी जाती हैं। श्री राधा जी की कृपा जिस पर होती हैं, उसे सहज ही परम धाम प्राप्त हो जाता है। श्री राधा जी को जाने बिना श्री कृष्ण की उपासना करना, महामूढ़ता का परिचय देना है। 
     इस पुराण में श्री राधा जी के जिन 28 नामों से उनका गुणगान किया जाता है वे इस प्रकार हैं- राधा, रासेश्वरी,  रम्या, कृष्णमत्राधिदेवता, सर्वाद्या, सर्ववन्द्या,  वृन्दावनविहारिणी, वृन्दाराधा,  रमा, अशेषगोपीमण्डलपूजिता, सत्या, सत्यपरा, सत्यभामा, श्रीकृष्णवल्लभा, वृषभानुसुता, गोपी, मूल प्रकृति, ईश्वरी, गान्धर्वा, राधिका, रम्या, रुक्मिणी , परमेश्वरी, परात्परतरा,  पूर्णा, पूर्णचन्द्रविमानना, भुक्ति-मुक्तिप्रदा और  भवव्याधि-विनाशिनी। 
     यहां रम्या नाम दो बार प्रयुक्त हुआ है। ब्रह्माजी का कहना है कि राधा के इन मनोहारिणी स्वरूप की स्तुति वेदों ने भी गायी है। जो उनके इन नामों से स्तुति करता है, वह जीवन मुक्त हो जाता है। यह शक्ति जगत की कारणभूता सत, रज, तम के रूप में बहिरंग होने के कारण जड़ कही जाती है। अविद्या के रूप में जीव को बन्धन में डालने वाली  माया  कही गयी है। इसलिए इस शक्ति को भगवान की क्रिया शक्ति होने के कारण  लीलाशक्ति के नाम से पुकारा जाता है। इस उपनिषद का पाठ करने वाले श्रीकृष्ण और श्रीराधा के परम प्रिय हो जाते हैं और पुण्य के भागीदार बनते हैं।

    ...
  •  


Posted Date : 17-Jan-2019
  •  1. लोकसभा व राज्यसभा की संयुक्त बैठक कब होती है?
    (अ) राष्ट्रपति जब बुलाए (ब) लोकसभा एवं राज्यसभा में मतभेद होने पर (स) संसद का सत्र शुरु होने पर (द) इनमें से कोई नहीं
    2. संसद के दोनों सदनों के साथ-साथ बैठने पर निम्न होता है?
    (अ) भारत के उपराष्ट्रपति का चुनाव (ब) संविधान संशोधन बिल को स्वीकार करना (स) एक बिल जिस पर दोनों सदन सहमत न हो, उस पर विचार करना और पास होना (द) भारत के राष्ट्रपति का चुनाव
    3. संसद के किसी सदस्य की सदस्यता तब समाप्त समझी जाती है यदि वह बिना सदन को सूचित किए अनुपस्थित रहता है?
    (अ) 60 दिन (ब) 90 दिन (स) 120 दिन (द) 150 दिन
    4. एक वर्ष में कम से कम कितनी बार संसद की बैठक होना आवश्यक है?
    (अ) एक बार (ब) दो बार (स) तीन बार (द) चार बार
    5. भारतीय राजनीतिक व्यवस्था में कार्यपालिका किसके अधीन रहकर कार्य करती है?
    (अ) न्यायपालिका (ब) विधानपालिका (स) चुनाव आयोग (द) संघ लोक सेवा आयोग
    6. भारत में राष्ट्रपति का चुनाव किया जाता है?
    (अ) प्रत्यक्ष निर्वाचन द्वारा (ब) एकल हस्तांतरीय मत पद्धति द्वारा (स) निर्वाचन आयोग द्वारा (द) संसदीय मामलों के मंत्री द्वारा
    7. राष्ट्रपति चुनाव संबंधी मामले किसके पास भेजे जाते हैं?
    (अ) चुनाव (ब) संसद (स) उच्चतम न्यायालय  (द) उपराष्ट्रपति
    8. संघ और राज्यों की विधायी संबंधों का संचालन किन सूचियों के आधार पर किया जाता है?
    (अ) संघ सूची (ब) राज्य सूची (स) समवर्ती सूची (द) इनमें से सभी
    9. भारतीय संविधान में अवशिष्ट अधिकार है?
    (अ) राज्यों के पास (ब) केंद्र के पास (स) केंद्र व राज्य दोनों के पास (द) किसी के पास नहीं
    10. एफई 2 ओ 3 से लोहे का निर्माण किस प्रकार किया जाता है?
    (अ)एएल द्वारा अपचयन (ब)भर्जन (स)कार्बन द्वारा अपचयन (द) एच 2 प्रवाहित करके
    11. आरएच कारक किससे संबंधित है?
    (अ) नाइट्रोजन अपापचय से (ब)डीएनए से (स) रूधिर वर्ग से (द) प्रोटीन निर्माण से
    12. एक द्रव के वाष्पन के प्रक्रम के  साथ? 
    (अ) एंथॉल्पी में वृद्धि होती है (ब) एंट्रॉपी में कमी होती है (स)मुक्त ऊर्जा में कोई परिवर्तन नहीं होता है (द)एंट्रॉपी में वृद्धि होती है 
    13. हैली धूमकेतु का आवर्तकाल कितना होता है?
    (अ) 66 वर्ष (ब) 76 वर्ष (स) 86 वर्ष (द) 96 वर्ष
    14. सूर्य को छोडक़र पृथ्वी के सर्वाधिक निकट स्थित तारे के प्रकाश को पृथ्वी तक पहुंचने में कितना समय लगता है?
    (अ) 4.5 घंटा (ब) 4.5 दिन (स) 4.5 माह (द) 4.5 वर्ष
    15. सर्वप्रथम खोजा गया क्षुद्रग्रह है?
    (अ) सिरस (ब) पलास (स) जूनो (द) वेस्टा
    16. पृथ्वी के द्रव पदार्थों के घनीभूत हो जाने से बनी चट्टानों को कहते हैं?
    (अ) आग्नेय (ब) अवसादी (स) रूपांतरित (द) इनमे से कोई नहीं
    17. निम्नलिखित में से किसे प्राथमिक चट्टानों की श्रेणी में रखा जाता है?
    (अ) आग्नेय चट्टानें (ब) अवसादी चट्टानें (स) रूपांतरित चट्टानें (द) अंतर्भेदी चट्टानें
    18. ब्राजील किसका प्रमुख उत्पादक है?
    (अ) कोको का (ब) कपास का (स) कॉफी का (द) तंबाकू का
    19. सोयाबीन में क्या पाया जाता है?
    (अ)पोषक (ब) प्रोटीन (स) कार्बोहाइडे्रट (द)विटामिन 
    20. एक्स किरणों के संबंध में निम्रलिखित में से कौन-सा कथन सही है?
    (अ) वे अपवर्तित होती है (ब) वे विवर्तित होती है (स)वे प्रकाश की प्रकृति की होती हैं (द) उपर्युक्त सभी  
    21. रेत पौधों की वृद्धि के लिये उपयुक्त क्यों नहीं है?
    (अ)इसमें उपस्थित बड़े रिक्त स्थानों के कारण पानी नहीं रूकता (ब)इसमें कार्बनिक पदार्थ नहीं होता (स)इसमें खनिज तत्वों की कमी होती है (द)इसमें हानिकारक तत्व होते हैं 
    22. पनामा नहर जलमार्ग व्यापार की दृष्टि से स्वेज नहर जलमार्ग की तुलना में कम महत्वपूर्ण है, क्योंकि?
    (अ) पनामा नहर लंबाई में छोटी है (ब) पनामा नहर समतल भूमि पर नहीं है (स) घने आबाद देशों का व्यापार पनामा नहर जलमार्ग के द्वारा नहीं होता है (द) पनामा नहर में जलपाश बने हुए हैं
    23. देश के कौन से स्थान में टोडा जनजाति पाई जाती है?
    (अ) असम में (ब) नागालैण्ड में (स) नीलगिरि की पहाडिय़ों में (द) अंडमान द्वीप में
    24. पवन विमुख ढालों की अपेक्षा पवनाभिमुख ढालों पर दृष्टि अधिक होती है, यह किस वर्षा की विशेषता है?
    (अ) चक्रवातीय (ब) प्रतिचक्रवातीय (स) संवहनीय (द) पर्वतकृत
    25. निम्नलिखित में से किस क्षेत्र में सालोंभर वर्षा होती है?
    (अ) टुण्ड्रा (ब) मानसूनी (स) भूमध्यसागरीय (द) भूमध्यरेखीय
    26. निम्नलिखित में से किस क्षेत्र में जाड़े की ऋतु में ही वर्षा होती है?
    (अ) टुण्ड्रा (ब) मानसूनी (स) भूमध्यसागरीय (द) भूमध्यरेखीय
    27. कास्र्ट प्रदेशों में कंदरा की ऊपरी छत से जल के रिसकर नीचे गिरने पर उसके साथ घुले हुए पदार्थों के अधिक ताप एवं वाष्पीकरण अथवा कार्बन डाइऑक्साइड गैस के मुक्त होने के कारण छत से लटकने वाले स्तंभ को किस नाम से जाना जाता है? 
    (अ) स्टैक (ब) स्टैलेक्टाइट (स) स्टैलेग्माइट (द) कंदरा स्तंभ
    ---
    सही जवाब- 1.(ब) लोकसभा एवं राज्यसभा में मतभेद होने पर, 2.(स) एक बिल जिस पर दोनों सदन सहमत न हो, उस पर विचार करना और पास होना, 3.(अ) 60 दिन, 4.(ब) दो बार, 5.(ब) विधानपालिका, 6.(स) निर्वाचन आयोग द्वारा, 7.(स)उच्चतम न्यायालय, 8.(द)इनमें से सभी, 9.(ब)केंद्र के पास, 10.(स)कार्बन द्वारा अपचयन, 11.(स) रूधिर वर्ग से, 12.(द)एंट्रॉपी में वृद्धि होती है, 13.(द) 96 वर्ष, 14.(द)4.5 वर्ष, 15.(अ)सिरस, 16.(अ)आग्नेय, 18.(स) कॉफी का, 19.(ब) प्रोटीन, 20.(द) उपर्युक्त सभी, 21.(अ)इसमें उपस्थित बड़े रिक्त स्थानों के कारण पानी नहीं रूकता, 22.(स) घने आबाद देशों का व्यापार पनामा नहर जलमार्ग के द्वारा नहीं होता है, 23.(स)नीलगिरि की पहाडिय़ों में, 24.(द) पर्वतकृत, 25.(द) भूमध्यरेखीय, 26.(स) भूमध्यसागरीय, 27.(ब) स्टैलेक्टाइट।

    ...
  •  


Posted Date : 17-Jan-2019
  •  ब्रह्म समाज के प्रवर्तक राजा राममोहन राय थे। हिन्दू धर्म की कुरीतियों को दूर करने के लिए 1828 ईं. में ब्रह्म समाज की स्थापना की  गई। वे  समाज की प्रचलित जाति-पाति, छुआछूत , मूर्तिपूजा, बहुविवाह और सती प्रथा को दूर करना चाहते थे। 
    ब्रह्म समाज की पहली बैठक 20 अगस्त 1828 को हुई थी।  इसका प्रारंभिक नाम ब्रह्म समुदाय था, लेकिन कालान्तर में इसका नाम ब्रह्म समाज कर दिया। इस समाज के सदस्य प्रत्येक शनिवार को रात 7 बजे से 9 बजे तक मिलते थे। इसके सदस्य संस्कृत में उपनिषदों के श्लोकों का पाठ करते थे। उपनिषदों के संस्कृत श्लोकों का अनुवाद बंगला में किया जाता था और उसी में प्रार्थना की जाती थी।  प्रथम काल में ब्रह्म समाज में कोई संगठन, कोई सदस्यता शुल्क या सिद्धांत नहीं था। सप्ताह में एक दिन सभा के सदस्य केवल प्रार्थना के लिए इकट्ठा होते थे। 30 जनवरी 1830 को राजा राममोहन राय ने ब्रह्म समाज के लिए कलकत्ता में चितपुर रोड में एक मकान लेकर उसका उद्घाटन किया।  कहा गया कि इसका उपयोग सार्वजनिक सभा के लिए रूप में होगा यानी इस मकान का उपयोग उन सभी लोगों द्वारा किया जाएगा जो पवित्र ढंग से प्रार्थना में शामिल होना चाहते हैं।  राजा राममोहन राय का विश्वास था कि  ऐसा करके वे हिन्दू धर्म का पुनरुत्थान उसके मूल रूप में कर रहे हैं।  राममोहन राय द्वारा चलाई गई प्रार्थना पद्धति ईसाई पद्धति से मिलती - जुलती थी।  इसलिए  ब्रह्म समाज का यह काल ईसाई धर्म के सिद्धांतों से अधिक प्रभावित था।  1842-1865 के मध्य ब्रह्म समाज की बागडोर देवेन्द्रनाथ टैगोर के हाथों में आ गई।  उन्होंने ही ब्रह्मोपासना का प्रचलन शुरू किया।  कहा जाता है कि आजादी के पहले ब्रह्म समाज एक धार्मिक आंदोलन के साथ-साथ एक सामाजिक आंदोलन भी था जिसने कई सामाजिक कुरीतियों को दूर किया। 

    ...
  •  


Posted Date : 17-Jan-2019
  • डिस्लेक्सिया सबसे आम अधिगम विकलांगता  है। डिस्लेक्सिया से ग्रस्त व्यक्ति को पढऩे में परेशानी होती है इसके बावजूद की उसमें पढऩे और सीखने के लिए प्रेरणा और समझदारी होती है । हालांकि डिस्लेक्सिया से ग्रस्त लोगों को अपने पढ़े हुए शब्दों को समझने में परेशानी होती है पर अगर वही शब्द किसी और व्यक्ति के द्वारा ऊंची आवाज में पढ़े जाएं तो वे इसे समझ जाते हैं ।
      डिस्लेक्सिया का क्या कारण क्या है, इसे लेकर अब तक शोध किए जा रहे हैं। शोधकर्ताओं का मानना है कि विकास के दौरान कोई समस्या मस्तिष्क की जानकारी प्रक्रिया को प्रभावित करता है । उन्होंने यह भी लगता है कि आनुवंशिकी (भाग विश्वास) एक हिस्सा निभाता है। हालांकि डिस्लेक्सिया के लिए एक जीन पाया नहीं किया गया है। 
     डिस्लेक्सिया परिवारों में चलता है । डिस्लेक्सिया किसी शारीरिक विकलांगता के कारण नहीं होता है जैसे देखने और सुनने की समस्या । डिस्लेक्सिया से ग्रस्त कई लोगों को औसत या ऊपर औसत बुद्धिमत्ता रहती  है। मूलत: डिस्लेक्सिया से ग्रस्त लोगों के दिमाग में चीजों को स्वीकार करने , आयोजन, याद रखने या जानकारी का उपयोग करने में समस्या होती है । संयुक्त राज्य अमेरिका में, लगभग 5 प्रतिशत से 10 प्रतिशत की आबादी डिस्लेक्सिया के किसी प्रकार से ग्रस्त है।

    ...
  •  


Posted Date : 17-Jan-2019
  • चुकंदर या बीटा वल्गेरिस अनेक विटामिन, खनिज तत्व और एंटीऑक्सीडेंट से भर पूर एक सुपर फूड है। यह पीले, लाल, बैंगनी या जामुनी कई रंगों में मिलता है। चुकंदर हर सलाद, व्यंजन और सब्जियों में एक नया रंग भर देता है। यह सेहत के लिए बहुत उपयागी है, हम इसे सेहत का सिकंदर कहते है। कैंसर समेत कई बीमारियों में इसका उपयोग होता है। इसे कच्चा, उबाल कर या सब्जी बना कर खाया जाता है। इसकी पत्तियां और जड़ दोनों ही खाए जाते हैं। आयुर्वेद में इसका प्रयोग औषधि के रूप में भी होता है। इसका ज्यूस एक उत्कृष्ठ टॉनिक है।
    चुकंदर का पौष्टिकता और स्वाद बनाये रखने के लिए इसको बिना छिलका निकाले डेढ़ दो इंच टहनी के साथ ही 15 मिनट तक भाप में पकाना चाहिये। पकने से इसकी ऊपरी परत आसानी से निकल आती है और यह अन्य व्यंजन बनाने के लिए तैयार हो जाता है।
     चुकंदर की खेती 4000 वर्षों से की जा रही है। आयुर्वेद के कई ग्रंथों में चुकंदर के औषधीय गुणों का वर्णन मिलता है। सबसे पहले बेबीलोन साम्राज्य में इसे खाना शुरू किया गया। ग्रीक और रोम ने इसकी जड़ को औषधी के रूप में और पत्तियों को सब्जी के रूप में प्रयोग किया। हिपोक्रेट्स चुकंदर की पत्तियों से घाव की ड्रेसिंग करता था। इंग्लैंड में इसका ज्यूस बूढ़े, कमजोर और बीमार लोगों को पिलाया जाता था। अफ्रीका में इसे सायनाइड पॉइजनिंग के उपचार  में प्रयोग किया जाता था।
     चुकंदर में लगभग 10 प्रतिशत जटिल शर्करा होती है, जो शरीर को ताकत देती है। इसमें  विटामिन-ए, विटामिन बी-6, विटामिन बी-12, विटामिन-सी, विटामिन-के, फोलिक एसिड आदि और पोटेशियम, कैल्शियम, मेगनीशियम, मेंगनीज, फोसफोरस, कॉपर, लौह, बोरोन आदि खनिज होते हैं।   इसमें केले से भी ज्यादा पोटेशियम होता है। यह घुलनशील फाइबर का भी अच्छा स्रोत है। इसमें कई फाइटोन्यूट्रिएंट्स जैसे बीटाकोरोटीन, ल्यूटिन, जियाजेंथिन, बेटेन, ट्रिप्टोफेन आदि होते हैं।
    चुकंदर में कुछ गहरे रंगबिरंगे के स्वास्थ्यवर्धक तत्व होते हैं जिन्हें बीटालेन कहते हैं। बीटालेन दो तरह के होते हैं। 1- बीटासायनिन  और 2- बीटाजेंथिन  । बीटासायनिन लाल-बैंगनी रंग का तत्व है, जबकि बीटाजेंथिन पीले या नारंगी रंग का तत्व है। बीटानिन बीटरूट में प्रचुर मात्रा में होता है और इसका नाम भी बीट रूट से ही निकला है। यह एक ग्लूकोसाइड है, जो निर्जलीकृत  होकर ग्लूकोज और बीटानिडिन बनाता है।
     बीटानिन   खाद्य पदार्थों को रंग देने के काम में आता है। हल्के या गहरे लाल, बैंगनी या जामुनी रंग के चुकंदर में मुख्यत: बीटासायनिन तत्व होता है।  पीले चुकंदर में मुख्य तत्व बीटाजेंथिन होता है। सभी बीटालेन में मुख्य अणु बीटालेमिक एसिड होता है, जिससे अमाइनो एसिड डेरीवेटिव जुड़ कर बीटालेन तत्व बनता है। अमाइनो एसिड डेरीवेटिव के आधार पर बीटालेन की पहचान होती है। बीटालेन पानी में धुलनशील होते हैं।  चुकंदर में बीटानिन के अलावा वल्गाजेंथिन, आइसोबीटानिन, प्रोबीटानिन और नियोबीटानिन अन्य बीटालेन होते हैं।  
    चुकंदर में एक विशेष तत्व बीटेन होता है। यह बी-कॉम्प्लेक्स विटामिन कोलीन से बनता है। कोलीन के अणु में तीन मिथाइल ग्रुप जुडऩे पर बीटेन बनता है। बीटेन प्रोइन्फ्लेमेट्री तत्व जैसे सी-रियेक्टिव प्रोटीन, इन्टरल्यूकिन-6 और ट्यूमर नेक्रोसिस फेक्टर अल्फा का स्तर कम करता है और प्रबल एंटी-इन्फ्लेमेट्री माना गया है। यह हृदयरोग, कैंसर और डायबिटीज में बहुत उपयोगी है। 

    ...
  •  




Previous123Next