सामान्य ज्ञान

Previous123456789...7980Next
12-Apr-2021 2:39 PM 16

1. इनमें से धु्रपद गायकी के लिए प्रसिद्ध घराना कौन सा है?
(अ) मेवाती घराना (ब) ग्वालियर घराना (स) जयपुर घराना (द) किराना घराना
2. बड़े गुलाम अली किस घराना से संबंधित थे?
(अ) जयपुर घराना से (ब) ग्वालियर घराना से (स) आगरा घराना से (द) पटियाला घराना से
3. त्यागराज का नाम संबंधित है? 
(अ) हिंदुस्तानी संगीत से (ब) कर्नाटक संगीत से (स) शास्त्रीय संगीत से (द) लोककला से
4. कर्नाटक संगीत का जनक के नाम से प्रसिद्ध है?
(अ) संत कनकदास (ब) संत पुरंदर दास (स) संत त्यागराज (द) संत दीक्षतर
5. शास्त्रीय संगीत के सिद्धांत की विवेचना कहां से की गई है?
(अ) ऋग्वेद से (ब) अथर्ववेद से (स) यजुर्वेद में (द) सामवेद में
6. राग रागनियों को प्रथम बार विस्तृत विवेचन किया है?
(अ) भरत के नाट्यशास्त्र में (ब) नारद के संगीत मकरंद में (स)मतंग के वृहत्देशी में (द) शारंगदेव के संगीत रत्नाकर में
7. निम्नलिखित में से कौन सा एक हिंदुस्तानी शास्त्रीय संगीत का गायक/गायिका है? 
(अ) गीता चंद्रन (ब) लीला सैम्बन (स) गंगूबाई हंगल (द) स्वप्न सुंदरी
8. राजस्थान की प्रसिद्ध ब्लू पॉटरी की दस्तकारी का उद्भव कहां से हुआ?
(अ) कश्मीर (ब) पर्शिया (स) अफगानिस्तान (द) सिंध
9. पिछवाई कलाकृतियों में बने चित्र उद्धृत किए गए हैं?
(अ) महाभारत से (ब) रामायण से (स) भगवान कृष्ण के जीवन से (द) राजपूत राजाओं के जीवन से
10. कवि चित्रकार मोलराम चित्रकला की किस शैली के लिए प्रसिद्ध हैं?
(अ) बसोली (ब) गढ़वाल (स) गुलेर (द) कांगड़ा
11. भारत मेंं किस शिलाश्रय से सर्वाधिक चित्र प्राप्त हुए हैं?
(अ) घघरिया (ब) भीमबेटका (स) लेखाहिया (द) आदमगढ़
12. अजंता की चित्रकारी में क्या निरूपित किया गया है?
(अ) रामायण (ब) महाभारत (स) जातक (द) पंचतंत्र
13. कौन सी सभ्यताओं ने गंधार कला शैली की रचना में सहायता प्रदान की है?
(अ) भारतीय एवं रोमन (ब) भारतीय एवं मिस्त्री (स) भारतीय एवं यूनानी (द) यूनानी एवं रोमन
14. नेहरू युवा केंद्र की स्थापना कब की गई?
(अ) 1971 ई. में (ब) 1972 में (स) 1973 में (द) 1974 में
15. राष्ट्रीय शैक्षिक अनुसंधान एवं प्रशिक्षण परिषद (एनसीईआरटी) की स्थापना कब की गई?
(अ) 1940 ई. में (ब) 1961 ई. में (स) 1964 ई. में (द) 1965 ई. में
16. राष्ट्रीय सेवा योजना का शुभारंभ कब किया गया?
(अ)1968 ई. में (ब)1969 ई. में (स)1967 ई. में (द)1965 ई. में
17. पुरुष एनससी के तीन स्कंधों में से निम्नलिखित में से कौन सा एक स्कंध नहीं है?
(अ) थल सेना स्कंध (ब) जल सेना स्कंध (स) वायु सेना स्कंध (द) नौ सेना स्कंध
18. गोल्डन बॉल पुरस्कार किस खेल में दिया जाता है?
(अ) हॉकी (ब) क्रिकेट (स) फुटबॉल (द) वालीबॉल
19. निम्न प्रधानमंत्रियों में से किसने भारत में क्रिप्स मिशन भेजा?
(अ) जेम्स रैम्जे मैक्डोनाल्ड (ब) स्टेनली बाल्डविन (स) नेविल चेम्बरलेन (द) विन्स्टन चर्चिल
20. गोल्डन थे्रशहोल्ड नामक कविता संग्रह की रचयिता निम्नलिखित में से कौन हैं?
(अ) अरुणा आसफ अली (ब) एनीबेसेंट (स) सरोजिनी नायडू (द) विजयालक्ष्मी पंडित
21. निम्नलिखित में से किसने अहमदाबाद टेक्सटाइल लेबर एसोसिएशन की स्थापना की?
(अ) महात्मा गांधी (ब) सरदार वल्लभभाई पटेल (स) एनएम जोशी (द) जे.बी. कृपलानी
22. व्यक्तिगत सत्याग्रह में विनोबा भावे को प्रथम सत्याग्रही चुना गया था। दूसरा कौन था?
(अ) डॉ. राजेंद्र प्रसाद (ब) पंडित जवाहरलाल नेहरू (स) सी राजगोपालचारी (द) सरदार वल्लभभाई पटेल
23. निम्नलिखित देशों में से किसके पास दुनिया का सबसे बड़ा यूरेनियम का भंडार है?
(अ) ऑस्ट्रेलिया (ब) कनाडा (स) रशियन फेडरेशन (द) यूएसए
24. निम्नलिखित स्थानों में से कहां शोम्पेन जनजाति पाई जाती है?
(अ) नीलगिरि पहाडिय़ां (ब) निकोबार द्वीप समूह (स) स्पीति घाटी (द) लक्षद्वीप समूह 
25. संवैधानिक दृष्टि से यदि देखा जाय तो उपप्रधानमंत्री निम्न में से किसके समकक्ष होता है?
(अ) प्रधानमंत्री (ब) लोकसभा अध्यक्ष (स) उपराष्ट्रपति (द) कैबिनेट मंत्री
26. लोकसभा का विरोधी दल के पहले मान्यता प्राप्त नेता थे?
(अ) श्यामा प्रसाद मुखर्जी (ब) इंदिरा गांधी (स) राम सुभग सिंह (द) व्हाई वी चौहान
27. लोकसभा अध्यक्ष अपना पद कब खाली करता है?
(अ) लोकसभा भंग हो जाने पर (ब) राष्ट्रपति द्वारा ऐसा कहा जाने पर (स) अगली लोकसभा के गठन के बाद (द) राज्यसभा द्वारा इस संबंध में प्रस्ताव पारित करने पर
28. तारे अपनी ऊर्जा किस प्रकार प्राप्त करते हैं?
(अ) नाभिकीय संयोजन के फलस्वरूप (ब) नाभिकीय विखंडन से (स) रासायनिक क्रिया से (द) गुरुत्वाकर्षण खिंचाव से
29. प्रकाश विद्युत सेल बदलता है?
(अ) यांत्रिक ऊर्जा को विद्युत ऊर्जा में (ब) ताप ऊर्जा को यांत्रिक ऊर्जा में (स) प्रकाश ऊर्जा को रासायनिक ऊर्जा में (द) प्रकाश ऊर्जा को विद्युत ऊर्जा में 

सही जवाब- 1.(ब) ग्वालियर घराना, 2.(द) पटियाला घराना से, 3.(ब) कर्नाटक संगीत से, 4.(ब) संत पुरंदर दास, 5.(द) सामवेद में, 6.(ब) नारद के संगीत मकरंद में, 7.(स) गंगूबाई हंगल, 8.(ब) पर्शिया, 9.(स) भगवान कृष्ण के जीवन से, 10.(ब) गढ़वाल, 11.(ब) भीमबेटका, 12.(स) जातक, 13.(स) भारतीय एवं यूनानी, 14.(ब) 1972 में, 15.(ब) 1961 ई. में, 16.(ब) 1969 ई. में, 17.(ब) जल सेना स्कंध, 18.(स) फुटबॉल,19.(द) विन्स्टन चर्चिल, 20.(स) सरोजिनी नायडू, 21.(अ) महात्मा गांधी, 22.(ब) पंडित जवाहर लाल नेहरू, 23.(ब) कनाडा, 24.(ब) निकोबार द्वीप समूह, 25.(द) कैबिनेट मंत्री, 26.(स) राम सुभग सिंह, 27.(स) अगली लोकसभा के गठन के बाद, 28.(अ) नाभिकीय संयोजन के फलस्वरूप, 29.(द) प्रकाश ऊर्जा को विद्युत ऊर्जा में।
 


12-Apr-2021 2:37 PM 14

राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम, स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा 6 फरवरी 2013 को शुरू किए गए एक कार्यक्रम है। राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य मिशन के तहत बाल स्वास्थ्य जांच और जल्द उपचार सेवाओं का उद्देश्य बच्चों में चार तरह की परेशानियों की जल्द पहचान और प्रबंधन है। इन परेशानियों में जन्म के समय किसी प्रकार का विकार, बच्चों में बीमारियां, कमियों की विभिन्न परिस्थितियां और विकलांगता सहित विकास में देरी शामिल है।
इसके दायरे में अब जन्म से लेकर 18 वर्ष की आयु तक के बच्चों को शामिल किया गया है।   सरकारी और सरकारी सहायता प्राप्त विद्यालयों में कक्षा एक से 12वीं तक में पढऩे वाले 18 वर्ष तक की आयु वाले बच्चों के अलावा ग्रामीण क्षेत्रों और शहरी झुग्गी बस्तियों में रहने वाले 0-6 वर्ष के आयु समूह तक के सभी बच्चों को इसमें शामिल किया गया है। ये संभावना है कि चरणबद्ध तरीके से लगभग 27 करोड़ बच्चों को इन सेवाओं का लाभ प्राप्त होगा। 
इस कार्यक्रम के तहत सभी जिलों में शीघ्र देखभाल केन्द्र खोले जाने हैं, जिनमें खण्ड स्तर पर वहां भेजे गए मरीजों का इलाज किया जाना है। राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम के शुभारंभ के साथ इसमें सार्वजनिक स्वास्थ्य केन्द्रों में बच्चों की नियमित स्वास्थ्य जांच के साथ-साथ इसे आंगनवाड़ी और सरकार एवं सरकारी सहायता प्राप्त विद्यालयों में लागू किया जाना है।  इस कार्यक्रम के तहत देशभर में एक चरणबद्ध तरीके से चलाए गए अभियान में 25 करोड़ बच्चों को शामिल किया जाना है और उन्हें जिला अस्पतालों और क्षेत्रीय स्तरों पर नि:शुल्क प्रबंधन और उपचार सुविधाएं प्रदान की जानी है। चलते-फिरते चिकित्सा दलों द्वारा आंगनवाड़ी केन्द्रों में पंजीकृत 6 वर्ष तक की आयु के सभी बच्चों की स्वास्थ्य जांच की जानी है। सरकारी सहायता प्राप्त स्कूलों के बच्चों के स्वास्थ्य की भी ऐसी ही जांच की जानी है।
 

केनोपनिषद
केनोपनिषद दस प्रधान उपनिषदों में से एक है। सामवेदीय उपनिषदों में छांदोग्य और केन उपनिषद् प्रसिद्घ है। इन दोनों पर शंकराचार्य तथा अन्य विद्वानों ने टिप्पिणयां लिखी हैं। इस उपनिषद का केन नाम इसलिए पड़ा कि इसका प्रारंभ केन (किसके द्वारा) शब्द से होता है। इसमें संपूर्ण विश्व का धारण और संचालन करने वाली सत्ता के बारे में बताया गया है।

स्कंध
स्कंध एक संस्कृत शब्द है । जिसका अर्थ है- समष्टिï। पालि खंध, बौद्घ मत के अनुसार पांच तत्व, जो मिलकर व्यक्ति के मानसिक एवं शारीरिक अस्तित्व को संपूर्ण बनाते हैं। 
आत्मा की पहचान किसी एक हिस्से से नहीं होती, न ही यह हिस्सों का योग है। ये हैं- (1) पदार्थ या शरीर (रूप), चार तत्वों, पृथ्वी, वायु, अग्रि, एवं जल का अभिव्यक्त स्वरूप (2) संवेदना या अनुभूति (वेदना), (3) वस्तुओं का संवेदन बोध (संस्कृत में संज्ञा, पालि में सन्ना), (4) मानसिक रचना (संस्कार या संखार) और (5) तीन अन्य मानसिक समष्टिïयों की जागरूकता या चेतना, (विज्ञान या विन्नान) सभी व्यक्ति निरंतर परिवर्तन की स्थिति में हैं, क्योंकि चेतना का तत्व हमेशा एक सा नहीं रहता तथा मनुष्य की तुलना नदी से हो सकती है, जिसकी एक पहचान बनी रहती है, हालांकि इसको बनाने वाली जल की बूंदें हर क्षण बदलती रहती हैं।
 


12-Apr-2021 2:36 PM 16

नौरोज या नवरोज अफगानिस्तान, ईरान सहित कई देशों में   वसंत की शुरुआत होता है। ठीक वैसे ही जैसे भारत में वसंत पंचमी। अफगानिस्तान में 21 मार्च को नौरोज मनाया जाता है। मुगल शासक अकबर ने भी नौरोज मनाने की परंपरा शुरू की थी। 
फारसी में नौरोज का मतलब होता है नया दिन। यह साल का पहला नहीं बल्कि वसंत का पहला दिन होता है। आज दुनिया में नौरोज का उत्सव करीब 30 करोड़ लोग मनाते हैं। इसकी परंपरा जोरास्त्रियन समय से है जो 3 हजार साल पुराना है। आज यह त्यौहार ईरान, अफगानिस्तान, ताजिकिस्तान, अजरबाइजान, तुर्की सहित चीन और इराक के कुछ इलाकों में मनाया जाता है।
त्यौहार के काफी पहले से तैयारियां शुरू हो जाती हैं। ईरान मेें महिलाएं हफ्त सिन बनाती हैं। हफ्त सिन या सात एस नौरोज उत्सव की खास परंपरा है। इसमें सात चीजें होती हैं जो एस के साथ शुरू होती हैं। सिक्के, सिब यानी सेब, सोमाच (खटाई का मसाला), सोंबोल (तुरसावा), हरी सब्जी और सिरका के अलावा सिर यानी लहसुन भी। सामान्योलू नाम का पकवान बनता है। गेंहू से बनी यह लाप्सी ब्रेड के साथ खाई जाती है। गेहूं एक हफ्ता भिगाया जाता है और फिर इसे पकाया जाता है। इसे बनाते समय औरतों के गाना गाने की भी परंपरा है।
जर्मनी में  बड़ा सा अलाव जला कर जश्न मनाया जाता है।  इस आग को चर्शानबेह सौरी कहते हैं। इस आग पर से कूदने का मतलब है पुराने से नए साल में कूदना। इस त्यौहार से पहले घर की अच्छे से साफ सफाई की जाती है। लंबी ठंड के बाद बाहर गालीचे बिछाए जाते हैं, बैठक सजाई जाती है। तैयारी पूरी होने के बाद शुरू होता है उत्सव। अफगानिस्तान के उत्तरी शहर मजार ए शरीफ में झंडा फहराया जाता है जो 40 दिन लगा रहता है। ताजिकिस्तान में नौरोज के दिन खास नृत्य किया जाता है। । तुर्की के कुर्द लोग भी नौरोज मनाते हैं। इस्तांबूल में ये लोग नए कपड़े पहन, मिलते जुलते हैं और त्यौहार मनाते हैं।

कोक कितने प्रकार का होता है?
कोक, कठोर, सरंध्र, ज्वलनशील तथा अधिकांशत: शुद्घ कार्बन है, जिसे प्राय: बिटुमनी कोयले को ताप देकर उसमें से वाष्पशील तत्वों को निकालकर बनाया जाता है। इसके जलने से तेज ऊष्मा  निकलती है और धुंए की मात्रा बहुत कम होती है होती है। 
कोक दो प्रकार का होता है- 1. अच्छे किस्म के कोयले से निर्मित धातु कर्मी कोक जिसे मुख्यत: लोहा इस्पात उद्योग में प्रयोग किया जाता है। 2. गैस उत्पादन के पश्चात अवशिष्टï कोयला अथवा अल्प कार्बन वाले कोयले को उच्च ताप देकर निर्मित कोक जिसका उपयोग घरेलू कार्यों में किया जाता है। इसे घरेलू कोक कहते हैं।
 


12-Apr-2021 2:35 PM 17

सिकाडा एक प्रकार का कीट है। इसे फसलों को फायदा पहुंचाने वाले कीट के रूप में जाना जाता है।  अमरीका के उत्तरी हिस्से में सिकाडा कीट भारी संख्या में पाए जाते हैं। ये कीट अपने जीवन का अधिकांश हिस्सा पेड़ों की जड़ों में बिताते हैं जहां वह जाइलम पर निर्भर होते हैं। जब ये बड़े होते हैं तो एक साथ लाखों की संख्या में प्रजनन के लिए बाहर आते हैं। ये कीट हर 13 से 17 वर्ष में ज़मीन के नीचे से बाहर निकलते हैं और प्रजनन करते हैं। चूंकि इन कीटों की संख्या लाखों में होती है इसलिए कई कीट मरते भी हैं।

सिकाडा प्रजनन के दौरान भारी शोर मचाते हैं। इन कीटों के प्रजनन का समय कुछ हफ्तों का ही होता है। इनकी संख्या प्रति वर्ग मीटर में 350 तक हो सकती है। कुछ जानवर इन कीटों को खाते भी हैं। लेकिन अधिकांश कीट मर कर मिट्टी में मिल जाते हैं। इन कीटों के शरीर के सडऩे से मिट्टी में बैक्टीरिया, फफूंद और नाइट्रोजन की मात्रा बढ़ती है। यही कारण है कि जिन इलाक़ों में ये कीट मरते हैं, वहां के पेड़ ज्यादा तेजी से बढ़ते हैं।

वैज्ञानिकों के शोध में यह बात सामने आयी कि कीटों के मिट्टी में मिलने से मिट्टी में नाइट्रोजन की मात्रा बढ़ती है। नाइट्रोजन की मात्रा बढऩे से पेड़ों को तेजी से बढऩे में मदद मिलती है। उनके मुताबिक ये कीट वास्तव में वही नाइट्रोजन छोड़ते हैं जो ये अपने पूरे जीवन में पेड़ों की जड़ों से एकत्र करते हैं। सिकाडा झींगुरों की तरह काफी शोर करते हैं, लेकिन ये झींगुर से भिन्न हैं। इसी तरह से ये फतिंगा या टिट्डी  से भी भिन्न हैं।  
 


12-Apr-2021 2:34 PM 15

जीएम फूड यानी जेनेटिकली मोडिफाइड फूड।  जीएम पौधों का उत्पादन जेनेटिक इंजीनियरिंग विधि से किया जाता है। इसमें आनुवांशिक सामग्री मिलाकर फसल के गुण बदलते हैं। जींस के हस्तांतरण का यह कार्य प्रयोगशाला में होता है। उसके बाद उस फसल की प्रायोगिक खेती  कर उसे परखा जाता है। उसका बाद व्यापारिक रूप से फसल का उत्पादन किया जाता है।
 जीएम फूड की स्वीकार्यता को लेकर दुनिया भर में विवाद रहा है।  जिन जेनिटकली मोडिफाईड फसलों को कृषि विशेषज्ञ एवं वैज्ञानिक दुनिया में खाद्यान्न संकट के हल तथा कुपोषण से मुक्ति , घटती उत्पादकता एवं घटते जल संसाधनों तथा बढ़ती मांग में सामंजस्य बनाये रखने के लिए विज्ञान का वरदान मान रहे थे। वहीं वैज्ञानिक एवं पर्यावरणविद इन जी.एम फसलों के मानव स्वाथ्य एवं पर्यावरण विरोधी परिणामों से हतप्रभ है।  दुनियाभर में जहां-जहां जीएम फसलों का उत्पादन किया गया है वहां उसके दुष्परिणाम सामने आ रहे हैं। अर्जेंटीना, दक्षिण अफ्रीका, केन्या, और युगांडा के उदाहरण हमारे सामने हैं।  जी.एम. कॉटन की फसल ने दक्षिण अफ्रीका में, जी.एम. आलू की फसल ने युगांडा तथा जी.एम. मक्का एवं आलू ने केन्या में कहर ढाया है। इन देशों में उत्पादकता घटी है मिट्टी जहरीली हुई है तथा मनुष्यों और जानवरों में नई-नई बीमारियां देखी जा रही हैं।
 


11-Apr-2021 1:26 PM 23

1. फेमिना मिस इंडिया वल्र्ड-2014 का खिताब किसने जीता?
(अ) कोयल राणा (ब)गेल निकोल डिसिल्वा (स) जटालिका मल्होत्रा (द) गरिमा सक्सेना 
2. हाल ही में आयोजित आईसीसी टी -20 विश्व कप 2014 का खिताब किसने जीता?
(अ)भारत (ब) श्रीलंका (स) दक्षिण अफ्रीका (द) वेस्टइंडीज 
3. हाल ही में आयोजित आईसीसी टी -20 महिला विश्व कप 2014 का खिताब किसने जीता?
(अ) वेस्टइंडीज (ब)इंग्लैंड (स) न्यूजीलैंड (द) ऑस्ट्रेलिया
4. श्वेत प्रकाश जब प्रिज्म से होकर गुजरता है, तो जो वर्ण सबसे कम विचलित होता है, वह कौन सा है?
(अ) लाल (ब) पीला (स) बैंगनी (द) हरा
5. निम्नलिखित में से कौन सा रंग सम्मिश्रण दिन और रात के समय सर्वाधिक सुविधाजन होता है?
(अ)नारंगी और नीला (ब) श्वेत और काला (स) पीला और नीला (द) लाल और हरा 
6. किसने स्मृति ग्रंथ  ‘दानसागर’ एवं ज्योतिष ग्रंथ  ‘अद्भुत सागर’ की रचना की?
(अ) सामंत सेन (ब) विजय सेन (स) बल्लाल सेन (द) इनमें से कोई नहीं
7. कश्मीर पर लगभग 50 वर्ष तक शासन करने वाली रानी दिद्दा किस वंश की थी?
(अ) कार्काेट वंश (ब) उत्पल वंश (स) लोहार वंश (द) इनमें से कोई नहीं
8. इंदिरा गांधी दूसरी दूसरी अवधि के लिए प्रधानमंत्री बनी?
(अ) 1980 से 1984 तक (ब)1975 से 1979 तक (स) 1977 से 1982 तक (द) 1982 से 1984 तक
9. जवाहरलाल नेहरू के निधन के पश्चात किसने प्रधानमंत्री पद ग्रहण किया?
(अ) लाल बहादुर शास्त्री (ब) श्रीमती इंदिरा गांधी (स) गुलजारी लाल नंदा (द) मोरारजी देसाई
10. प्रथमत: सौरमंडल के बारे में विश्व के समक्ष जानकारी प्रस्तुत करने का श्रेय किस विद्धान को है?
(अ) गैलीलियो (ब) स्ट्रैबो (स) कॉपरनिकस (द) केप्लर
11. सूर्य के चारों ओर घूमने वाले खगोलीय पिण्ड क्या कहलाते हैं?
(अ) ग्रह (ब) उपग्रह (स) क्षुद्रग्रह (द) सौर तारा
12. हाल ही में निजी क्षेत्र के किस बैंक ने कम आमदनी वाले लोगों के लिए आशा होम लोन सेवा शुरू की है?
(अ) बैंक ऑफ बड़ौदा (ब) एचडीएफसी बैंक (स) एक्सिस बैंक (द) आईसीआईसी बैंक
13. भारतीय रिजर्व बैंक का डिप्टी गवर्नर किसे नियुक्त किया गया है?
(अ)मोहन राजन (ब) आर. गांधी (स) पुलकित वाडरा (द) विनय शेट्टी 
14. आनुपातिक कर प्रणाली में?
(अ)आय के सभी स्तरों पर समान दर से कर लगाया जाता है (ब)आय के सभी स्तरों पर कर की दर बढ़ती जाती है (स)आय के सभी स्तरों पर कर की राशि समान रहती है (द) उपरोक्त सभी
15. जिस सीमा को लॉघने पर तारों में आंतरिक निपात होता है उसे कहते हैं
(अ)चंद्रशेखर सीमा (ब) एडिंग्टन सीमा (स) होयले सीमा (द)उपरोक्त कोई नहीं
16. चंद्रमा पर कदम रखने वाला पहला देश?
(अ)यू.एस.ए. (ब) रूस (स) इंग्लैंड (द) फ्रांस
17. संगमकालीन दक्षिण भारत में भगवान कृष्ण की तुलना किस देवता से की गई है?
(अ) मरुगन देवता से (ब) सुब्रह्मण्यम देवता से (स) वेलन देवता से (द) मैयों देवता से
18. विज्ञान के किस क्षेत्र में ह्वाइट ड्वार्फ के बारे में सीखेंगे?
(अ) खगोलशास्त्र (ब) कृषि (स) जेनेटिक्स (द) एंथ्रोपोलॉजी
19. निम्नलिखित में से किस एक नगर में भूमध्य सागरीय जलवायु नहीं पाई जाती है?
(अ) लास एंजिल्स (ब) रोम (स) केपटाउन (द) न्यूयार्क 
20. मोस्ट एफिशियंट नवरत्न अवार्ड-2013 किसे दिया गया है?
(अ)भारत इलेक्ट्रॉनिक लिमिटेड (ब)हिंदुस्तान पेट्रोलियम कॉर्पोरेशन लिमिटेड (स) हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड (द) महानगर टेलीफोन निगम लिमिटेड  
21. निम्नलिखित में से कौन सा एक तत्व है?
(अ)प्लास्टिक (ब)हीरा (स) अल्कोहल (द)बर्फ
22. वह आज्ञापत्र, जो ईस्ट इंडिया कंपनी को निरीक्षण तथा चुंगी की अदायगी से बचाता था, किस नाम से पुकारा जाता था?
(अ)दस्तक (ब) ओरंग (स) जकात (द) गौमत्शा
23. भारत में रेशम-उद्योग के मुख्य केंद्र निम्रांकित में से कौन से हैं?
(अ)श्रीनगर (ब) अमृतसर (स) तांजावर (द) उपर्युक्त सभी
24. गरीबी की रेखा निर्धारित करने का आधार क्या है?
(अ)प्रति व्यक्ति आय (ब) प्रति व्यक्ति द्वारा किया गया व्यय (स)परिवार की आय (द) इनमें से कोई नहीं
25. अनुसूचित जाति और अनुसूचित जन जाति के लिये राष्ट्रीय आयोग के गठन की व्यवस्था संविधान के किस अनुच्छेद के अधीन की गई है?
(अ)अनुच्छेद 330 के (ब) अनुच्छेद 338 के (स) अनुच्छेद 340 के (द) अनुच्छेद 342 के
26. व्यक्तिगत सत्याग्रह में विनोबा भावे को प्रथम सत्याग्रही चुना गया था। दूसरा कौन था?
(अ) डॉ. राजेंद्र प्रसाद (ब) पंडित जवाहरलाल नेहरू (स) सी राजगोपालचारी (द) सरदार वल्लभभाई पटेल
27. अंतरिक्ष में सबसे तेज गति से घूमने वाले तारे का नाम क्या है?
(अ) प्राक्सिमा सेंचुरी (ब) केटलर-22बी (स) केटरल-24बी (द)बी.एफ.टी.एस.102
28. किसे गॉड पार्टिकल कहा जाता है?
(अ)यूरेनियम (ब)टाइटेनियम (स) बोसोन (द) हिग्स बोसोन 

सही जवाब-1.(अ)कोयल राणा, 2.(ब)श्रीलंका, 3.(द) ऑस्ट्रेलिया, 4.(अ) लाल, 5.(द) लाल और हरा, 6.(स) बल्लाल सेन, 7.(स) लोहार वंश, 8.(अ) 1980 से 1984 तक, 9.(स) गुलजारी लाल नंदा, 10.(स) कॉपरनिकस, 11.(अ) ग्रह, 12.(स)एक्सिस बैंक, 13.(ब) आर. गांधी, 14.(अ)आय के सभी स्तरों पर समान दर से कर लगाया जाता है, 15.(अ)चंद्रशेखर सीमा, 16.(अ)यू.एस.ए.,17.(द) मैयों देवता से, 18.(अ) खगोलशास्त्र, 19.(द) न्यूयार्क, 20.(द) महानगर टेलीफोन निगम लिमिटेड, 21.(ब)हीरा, 22.(अ)दस्तक, 23.(द)उपर्युक्त सभी,  24.(अ)प्रति व्यक्ति आय, 25.(ब)अनुच्छेद 338 के, 26.(ब) पंडित जवाहरलाल नेहरू, 28.  (द) बी. एफ. टी. एस. 102, 29.(द) हिग्स बोसोन।
 

 


11-Apr-2021 1:19 PM 21

कैटादिन , संयुक्त राज्य अमरीका, के उत्तरपूर्व सीमांत पर मेन राज्य के मध्य भाग में पिस्कैटाक्वॉइस जनपद के अंतर्गत स्थित एक पर्वत है, जिसकी ऊंचाई 5 हजार 268 फुट है।
यह पूर्णतया ग्रेनाइट चट्टानों से निर्मित है और कई भागों में नग्न पत्थर सतह पर उभर आए हैं। बाहर की ओर चट्टानों के टूटने फूटने से पर्वत विदीर्ण एवं बीहड़ सा लगता है। शिखरांचल पर लाइकेन तथा उसी जाति छोटे पौधे उगते हैं। इसके दो ढाई हजार फुट नीचे आदि जाति के छोटे पौधे मिलते हैं। ऊंचाई से देखने पर सारा पर्वतक्षेत्र शंक्वाकार ग्रेनाइट शिखर एवं मध्यांचलों में प्रवाहित छोटी बड़ी नदियां तथा झीलें बहुत ही मनोरम दृश्य उपस्थित करती हैं। शिखरांचल में ग्रेनाइट चट्टानों के ऊपर कहीं-कहीं ट्रैप  तथा अन्य चट्टानें मिलती हैं जिनमें बलुआ पत्थर प्रमुख हैं। सारा पर्वतप्रांत बीहड़ एवं दुर्गम है और केवल पेनॉब्सकाट नदी एकमात्र मार्ग प्रदान करती हैं; इसमें भी बालू के ढूहे एवं प्रपात इत्यादि हैं। प्राकृतिक सौंदर्य एवं बीहड़ता के कारण कैटादिन पर्वत प्रांत तथा आसपास के क्षेत्रों को वर्ष 1931  में नेशनल पार्क  का रूप दे दिया गया है।
 


11-Apr-2021 1:18 PM 19

अबू सिंबल मिस्र के दो प्राचीन मंदिर हैं, जिन्हें फैरो रैमजिज द्वितीय ने ईसा से पहले तेरह सौ साल पहले बनवाया था। ये मंदिर चट्टïानों को काटकर बनाए गए थे। 
बड़े मंदिर के भीतर रैमजिज द्वितीय और तीन अन्य देवताओं की प्रतिमाएं हैं, लेकिन मंदिर का अग्रभाग बड़ा ही भव्य है। इसमें बैठे हुए फैरो की चार प्रतिमाएं बनी हुई हैं, जो बीस- बीस  मीटर ऊंची हैं।  ये मंदिर रैमजिज द्वितीय को समर्पित हैं।  इसी के पास एक छोटा मंदिर है , जो रैमजिज द्वितीय की पत्नी नैफरतारी को समर्पित है। इसके मुख्य द्वार के दोनों तरफ तीन-तीन प्रतिमाएं खड़ी हैं, जो दस - दस मीटर ऊंची हैं। 
अबू सिंबल के ये मंदिर आसवान बांध से कोई 280 किलोमीटर दूर थे, लेकिन जब बांध बनकर तैयार हुआ तो नासिर झील में पानी चढऩे लगा, जो इन मंदिरों के लिए खतरनाक साबित हो सकता था। 
संयुक्त राष्टï्र की मदद से इन मंदिरों के एक- एक हिस्से को अलग करके उसी चट्टान पर 60 फीट ऊपर दोबारा जोड़ा गया। ये काम 1964 में शुरू होकर 1968 में पूरा हुआ। 
 


11-Apr-2021 1:17 PM 21

ताबुन एक प्रकार का रासायनिक हथियार है। श्रेडर ने ही 1936 में ताबुन की खोज की थी। दूसरे विश्व युद्घ के दौरान बमों में रासायनिक हथियार भर दिए जाते थे। हालांकि इन बमों का इस्तेमाल कभी नहीं हुआ। तरल रूप में ताबुन फल जैसी खुशबू देता है, कुछ कुछ कड़वे बादाम की तरह। गैस त्वचा के संपर्क में आने पर या फिर सूंघने पर नाक के जरिए शरीर में चली जाती है। इसका असर और लक्षण सारिन जैसा ही है, जो एक प्रकार का घातक रासायनिक हथियार है। 
 

लेफ्टिस्ट
उन लोगों या दलों को लेफ्टिस्ट कहते हैं, जिनके विचार साम्यवाद या समाजवाद से प्रभावित होते हैं और कुछ उदारवादी होते हैं। वस्तुत: वामपंथी का तात्पर्य इस शब्द से अब लिया जाता है। उसका पहले विचारधारा से कोई संबंध नहीं था। फ्रांसीसी क्रांति के समय उग्रपंथी राष्टï्रीय महासभा में अध्यक्ष के बाईं ओर बैठते थे। उन्हें ही वामपंथी कहा जाता था। 
 


11-Apr-2021 1:14 PM 18
तृतीय आम चुनाव में निर्वाचन आयोग ने पांच राजनीतिक दलों को राष्ट्रीय दलों के रुप में मान्य किया और इस समय की परिस्थितियां एक बड़े बदलाव का संकेत के साथ यह भी बतलाती है कि देश की परिस्थितियां कांग्रेस के अनुकूल न थी। 1959 में एक नए राजनीतिक दल स्वतंत्र पार्टी का निर्माण हुआ, इस नए राजनीतिक दल को राजाओं और जमीदारों का समर्थन प्राप्त हुआ। सैद्धांतिक दृष्टिकोण से स्वतंत्र पार्टी अन्य राजनीतिक दलों से भिन्न थी। 
1962 में हुआ तीसरा आम चुनाव कई मायनों में खास था। पहली बार इस चुनाव में लोगों ने शख्सियत के बदले मुद्दों को तरजीह दी। लेकिन ये चुनाव पंडित जवाहरलाल नेहरू के लिए आखिरी चुनाव साबित हुआ। गौरतलब है कि आजादी के बाद का पहला और दूसरा चुनाव नेहरू ने अपनी शख्सियत के दम पर लड़ा। 1962 के चुनाव की सबसे बड़ी खासियत ये थी कि अब तक स्वतंत्रता आंदोलन की खुमारी उतर चुकी थी। नेहरू खुद इस बात को समझ चुके थे और उन्होंने भी अपनी उपलब्धियों के दम पर इस इलेक्शन में उतरने का फैसला किया। नेहरू ने लोगों के बीच कृषि और उद्योग विकास की तस्वीर रखी। साथ ही ये भी बताया कि दो पंचवर्षीय योजनाओं के बाद देश ने कितनी तरक्की की है।
पहली बार इस चुनाव में सभी उम्मीदवारों के लिए एक बैलेट बॉक्स का इस्तेमाल किया गया। इससे पहले के दोनों चुनाव में सभी उम्मीदवारों के लिए अलग-अलग बैलेट बॉक्स का इस्तेमाल किया जाता था। अब एक ही पेपर में वोटरों को अपने पसंदीदा उम्मीदवार को चुनना था। नेहरू की जिंदगी के इस आखिरी चुनाव में उनके सामने कांग्रेस के भीतर ही नई परेशानी सामने आने वाली थी और ये परेशानी बने पार्टी के पूर्व अध्यक्ष जे. बी. कृपलानी और राजगोपालाचारी। इस चुनाव में सबकी नजरें टिकी थीं नॉर्थ बॉम्बे सीट की तरफ।
दरअसल कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष जे. बी. कृपलानी अपने ही रक्षा मंत्री कृष्णा मेनन के खिलाफ खड़े हो गए थे। इसके पीछे वजह थी अक्साई चीन पर चीन का कब्जा। दरअसल अक्साई चीन के मुद्दे पर रक्षा मंत्री कृष्णा मेनन के खिलाफ खुद कृपलानी ने ही मोर्चा खोला और 11 अप्रैल 1961 को संसद के भीतर भाषण दिया जिसे आजादी के बाद संसद के भीतर सबसे बेहतरीन भाषण माना गया। हालांकि नेहरू के करिश्मे की वजह से कृपलानी को चुनाव में हार का सामना करना पड़ा।
इस चुनाव की एक और खासियत थी कांग्रेस के भीतर ही विरोधी ग्रुप तैयार करने की कोशिश। राजगोपालाचारी ने साफ कहा कि इकलौती पार्टी भी कई बार निरंकुश हो जाती है, लेकिन राजा जी के इस कॉन्सेप्ट का विरोध किया गया, इसलिए राजगोपालाचारी ने स्वतंत्र पार्टी की स्थापना की और कांग्रेस के खिलाफ चुनाव में उतरे। स्वतंत्र पार्टी को चुनाव में 18 सीटें जीतने में कामयाबी मिलीं। लोकसभा चुनाव में इस बार सीटों की संख्या 419 से बढक़र 494 हो गई, लेकिन कांग्रेस की सीटें 371 से घटकर 361 ही रह गईं। कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ इंडिया ने 29 और  स्वतंत्र पार्टी ने 18 सीटें हासिल कीं। इस प्रकार कम्युनिस्ट पार्टी प्रमुख विपक्षी दल के रूप में उभरी। 
 
प्रमुख संगठनों के मुख्यालय
संगठन मुख्यालय
विश्व व्यापार संगठन जेनेवा
अमरीकी राज्यों का संगठन वांिशंगटन डी.सी
अरब लीग टयूनिश
परम्पर आर्थिक सहायता परिषद (कोमेकान) मास्को
वल्र्ड काउंसिल आफ चर्चेंज जेनेवा
अफ्रीकी आर्थिक आयोग आदिस अबाबा
पश्चिमी एशिया आर्थिक आयोग   बगदाद
गैट जेनेवा
एमनेस्टी इंटरनेशनल लंदन
एशियाई विकास बैंक मनीला
दक्षिण पूर्वी एशियाई राष्टï्रों का संघ जकार्ता
नाटो ब्रुसेल्स
अफ्रीकी एकता संगठन आदिस अबाबा
चोगम (राष्ट्रमंडलीय राष्टï्राध्यक्ष सम्मेलन) स्ट्रांसबर्ग
पेट्रोलियम उत्पादक देशों का संगठन वियाना
आर्थिक सहयोग और विकास संगठन पेरिस
यूरोपीय मुक्त व्यापार संघ जेनेवा
रेडक्रास जेनेवा
सार्क काठमाण्डु
संयुक्त राष्टï्र पर्यावरण कार्यक्रम नैरोबी
इंटरपोल पेरिस
संयुक्त राष्टï्र शरणार्थी उच्चायोग जेनेवा
अंतरराष्ट्रीय परमाणु ऊर्जा एजेंसी वियाना
संयुक्त राष्ट्र औद्योगिक विकास संगठन वियाना
विश्व वन्य जीव संरक्षण कोष ग्लाड (स्विटजरलैंड)
अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक कमेटी लुसाने
यूरोपीय कामन मार्कट जेनेवा
 

10-Apr-2021 12:17 PM 23
1. निम्नलिखित में से किस काल में अछूत की अवधारणा स्पष्ट रूप से उदित हुई?
(अ) ऋग्वैदिक काल (ब) उत्तर वैदिक काल (स) धर्मशास्त्र के काल (द) उत्तर-गुप्त काल
2. प्राचीन भारत में निष्क नाम से किसे जाना जाता था?
(अ) स्वर्ण आभूषण (ब) गायें (स) तांबे के सिक्के (द)चांदी के सिक्के
3. अमरकोट के राजा वीरसाल के महल में किस मुगल बादशाह का जन्म हुआ था?
(अ) बाबर (ब) औरंगजेब (स) अकबर (द) जहांगीर
4. मुगल दरबार में ‘पर्दा शासन’ के लिए जिम्मेदार ‘अतका खेल’ या ‘हरम दल’ की सर्वप्रमुख सदस्या कौन थी?
(अ) माहम अनगा (ब) हमीदा बानो बेगम (स) मेहरुन्निसा (द) जहांआरा बेगम
5. किस जाट नेता ने बादशाह अकबर के मकबरे (सिकंदरा) को हानि पहुंचाई तथा अकबर की कब्र को खोदकर उसकी अस्थियों को जला दिया?
(अ) गोकुला (ब) राजाराम (स) चूड़ामणि (द) बदनसिंह 
6. अकबर ने निम्नलिखित में से किसे ‘कविराय’ या ‘कविराज’ की उपाधि प्रदान की थी?
(अ) बीरबल (ब)अबुल फजल (स)फैजी (द)अब्दुर्रहीम खानखाना
7. सबसे अधिक क्रोमोसोम किसमें पाए जाते हैं?
(अ) बाघ (ब) टेरिडोफाइट्स में (स) हाथी में (द) एंजियोस्पर्म में
8. निम्न में से कौन-सा एक जीवित जीवाश्म है?
(अ) साइकस (ब) सिलैजिनेला (स) पाइनस (द) सीड्रस
9. श्वसन मूल किस पौधे में पाई जाती हैं?
(अ) पान में (ब) चेस्टनट में (स) जूसिया में (द) मक्का में
10. साबूदाना किससे प्राप्त होता है?
(अ) साइकस से (ब) पाइनस से (स) सेड्रस से (द) जूनीपेरस से
11. निम्नलिखित में से कौन एक जड़ नहीं है?
(अ) आलू (ब) गाजर (स) शकरकंद (द) मूली 
12. जड़ें  किस भाग से विकसित होती हैं?
(अ) प्रांकुर से (ब) मूलांकुर से (स) तने से (द) पत्ती से
13. गाजर एक प्रकार से क्या है?
(अ)जड़ (ब) तना (स) पुष्प (द) प्रकंद
14. हल्दी के पौधे का खाने योग्य हिस्सा निम्नलिखित में से कौन-सा होता है?
(अ) जड़ (ब) प्रकंद (स)फल (द) कंद
15. प्याज किसका परिवर्तित रूप है?
(अ) तने का (ब) जड़ का (स) पत्तियों का (द) फल का
16. मनुष्य के किस अंग की त्वचा सबसे मोटी होती है?
(अ) हथेली (ब) पैर का तलवा (स)गर्दन (द) सिर
17. कोशिका में पाया जाने वाला आनुवांशिक पदार्थ निम्नलिखित में से कौन-सा है?
(अ) डीएनए (ब) आरएनए (स)प्रोटीन (द) कार्बोहाइड्रेट
18. वीनस के फूलों की डलिया के नाम से निम्नलिखित में से किसे जाना जाता है?
(अ) ल्यूकोसोलीनिया (ब) साइकॉन (स) यूस्पंजिया (द)यूप्लेक्टेला
19. किलोवाट घंटा निम्नलिखित में से किसका मात्रक है?
(अ) ऊर्जा (ब) शक्ति (स) विद्युत आवेश (द) विद्युत धारा
20. निम्नलिखित में से कौन-सा तांबे का शत्रु तत्व है?
(अ) गंधक (ब) कार्बन (स) नाइट्रोजन (द) हाइड्रोजन
21. परमाणु के नाभिक में निम्न कण होते हैं?
(अ) प्रोटॉन एवं न्यूट्रॉन (ब) इलेक्ट्रॉन एवं अल्फा-कण (स)प्रोटॉन एवं इलेक्ट्रॉन (द) इलेक्ट्रॉन एवं न्यूट्रॉन
22. शाक-सब्जी उत्पन्न करने वाले पौधों का अध्ययन निम्नलिखित में से क्या कहलाता है?
(अ)आलेरीकल्चर (ब) सेरीकल्चर (स) सिल्वीकल्चर (द) पिसीकल्चर
23. निम्नलिखित में से रासायनिक यौगिक कौन-सा है?
(अ) वायु (ब) ऑक्सीजन (स) अमोनिया (द) पारा
24. घूर्णन करती एक गोल मेज पर अचानक एक लडक़ा आकर बैठ जाता है। मेज के कोणीय वेग पर क्या प्रभाव पड़ेगा?
(अ) कम हो जाएगा (ब) बढ़ जाएगा (स) उतना ही रहेगा (द) कुछ नहीं कहा जा सकता 
25. निम्न में से आग बुझाने वाली गैस कौन-सी है?
(अ) हाइड्रोजन (ब) ऑक्सीजन (स) नाइट्रोजन (द) कार्बन डाइ ऑक्साइड
26. बायोलॉजी के जन्मदाता के रूप में निम्नलिखित में से किसे जाना जाता है?
(अ) थिओफ्रैस्टस (ब) हक्सले (स) लेमार्क (द) अरस्तु
27. किस पौधे का फल भूमि के नीचे पाया जाता है?
(अ) आलू (ब) गाजर (स) प्याज (द) मूंगफली
28. कोशिका को एक निश्चित रूप निम्नलिखित में से कौन प्रदान करती है?
(अ) कोशिका झिल्ली (ब) केंद्रिका (स) कोशिका भित्ति (द) गॉल्जीकाय
29. पत्तियों को हरा रंग किसके द्वारा प्राप्त होता है?
(अ) क्रोमोप्लास्ट (ब)क्लोरोप्लास्ट (स)ल्यूकोप्लास्ट (द) टोनोप्लास्ट
30. राष्ट्रीय पर्यावरण अभियांत्रिकी संस्थान कहां निम्नलिखित में से किस स्थान पर है?
(अ) रांची में (ब) कटक में (स) जमशेदपुर में (द) नागपुर में
31. तितली की आंखें रात में क्यों चमकती हैं?
(अ) विशेष लेंस के कारण (ब) जीन प्रभाव के कारण (स) टेपिटम लुसिडम के कारण (द) कोई स्पष्ट कारण ज्ञात नहीं  
 
सही जवाब-1.(स)धर्मशास्त्र के काल, 2.(अ)स्वर्ण आभूषण, 3.(स)अकबर, 4.(अ)माहम अनगा, 5.(ब)राजाराम, 6.(अ)बीरबल, 7.(ब) टेरिडोफाइट्स में, 8.(अ)साइकस, 9.(स) जूसिया में, 10.(अ) साइकस से, 11.(अ)आलू, 12.(ब) मूलांकुर से, 13.(अ)जड़, 14.(ब) प्रकंद, 15.(अ) तने का, 16.(ब) पैर का तलवा, 17.(अ)डीएनए, 18.(द) यूप्लेक्टेला, 19.(अ)ऊर्जा, 20.(अ)गंधक, 21.(अ) प्रोटॉन एवं न्यूट्रॉन, 22.(अ)आलेरीकल्चर, 23.(स)अमोनिया, 24.(अ)कम हो जाएगा, 25.(द)कार्बन डाइ ऑक्साइड, 26.(द)अरस्तु, 27.(द) मूंगफली, 28.(स)कोशिका भित्ति, 29.(ब)क्लोरोप्लास्ट, 30.(द) नागपुर में, 31.(स) टेपिटम लुसिडम के कारण। 
 
 

10-Apr-2021 12:15 PM 23

लाल रंग के गुबरैले को अक्सर अच्छी किस्मत से जोड़ कर देखा जाता है । साथ ही मिस्र में इस काले गुबरैले को इतना पवित्र माना जाता है कि किसी को दफनाने के दौरान कब्र में पत्थर के बने गुबरैले का ताबीज भी रखा जाता है ताकि मरने के बाद गुबरैला व्यक्ति की रक्षा कर सके ।
 परीक्षणों से यह बात सामने आई है कि गोबर में पाया जाने वाला कीड़ा  गुबरैला  प्रकृति में सबसे ज्यादा ताकतवर प्राणी होता है। आधा इंच लंबा गुबरैला ने परीक्षणों के दौरान अपने वजन की तुलना में 1141 गुना अधिक वजन खींच सकता है। वह इतना अधिक वजन खींच सकता है कि उसकी तुलना में एक आदमी को छह भरी हुईं डबल डेकर बसें खींचनी पड़े।
 ब्रिटिश शोधकर्ताओं का कहना है कि सींगदार नर गुबरैले की यह चमत्कारी ताकत उसकी सहवास रणनीति (मेटिंग स्ट्रेटजी) का एक हिस्सा होती है जिसके बल पर वह अपने लिए मादा को हासिल करता है। लंदन विश्वविद्यालय के क्वीन मैरी कॉलेज के एक शोधकर्ता डॉ. रॉब नेल का कहना है कि कीडों मकोड़ों में अपनी आश्चर्यजनक ताकत दिखाने की क्षमता होती है और यह उनके सेक्स जीवन का अभिन्न भाग होता है।
 मादा गुबरैला गोबर के बड़े ढेर में सुरेंगें बनाती है, जिन सुरंगों में नर गुबरैले उनसे सहवास करते हैं। अगर किसी सुरंग में पहले से ही कोई नर और मादा मौजूद है और कोई दूसरा नर सुरंग में प्रवेश करता है तो उसे अपने सींगों के बल से दूसरे नर को सुरंग से बाहर निकालना होता है। इस लड़ाई में जो भी जीतता है, मादा उसी की हो जाती है। 
 


10-Apr-2021 12:14 PM 16

भारत निर्वाचन आयोग प्रारम्भ से बहु-सदस्यीय निकाय नहीं था। जब यह पहले पहल 1950 में गठित हुआ तब से और 15 अक्टूबर 1989 तक केवल मुख्य निर्वाचन आयुक्त सहित यह एक एकल-सदस्यीय निकाय था।  16 अक्टूबर 1989 से 1 जनवरी 1990 तक यह आर.वी.एस. शास्त्री (मु.नि.आ.) और निर्वाचन आयुक्त के रूप में एस.एस. धनोवा और वी.एस. सहगल सहित तीन-सदस्यीय निकाय बन गया।  2 जनवरी 1990 से 30 सितम्बर 1993 तक यह एक एकल-सदस्यीय निकाय बन गया और फिर 1 अक्टूबर 1993 से यह तीन-सदस्यीय निकाय बन गया। 
 मुख्य निर्वाचन आयुक्त
भारत के संविधान के अनुच्छेद 324(2) के अधीन मुख्य निर्वाचन आयुक्त और निर्वाचन आयुक्तों की नियुक्ति का अधिकार भारत के राष्ट्रपति को दिया गया है।  संविधान का अनुच्छेद 324 (2) मुख्य निर्वाचन आयुक्त को छोडक़र समय समय पर निर्वाचन आयुक्तों की संख्या को निश्चित करने का अधिकार भी भारत के राष्ट्रपति को देता है। 
 मुख्य निर्वाचन आयुक्त अथवा निर्वाचन आयुक्त अपने पद का कार्यभार संभालने की तिथि से 6 वर्ष की अवधि के लिए पदस्थ रहते हैं।  फिर भी यदि मुख्य निर्वाचन आयुक्त अथवा निर्वाचन आयुक्त छ: वर्ष की अवधि समाप्त होने से पहले पैंसठ वर्ष की आयु प्राप्त कर लेते हैं तो वह पैंसठ वर्ष की आयु प्राप्त करने की तिथि से अपने पद को छोड़ देंगे। 

मुख्य चुनाव आयुक्तों की सूची
1. सुकुमार सेन -21 मार्च 1950 - 19 दिसम्बर 1958
2. के. वी. के. सुंदरम - 20 दिसम्बर 1958 - 30 सितंबर 1967
3. एस. पी. सेन वर्मा - 1 अक्टूबर 1967 - 30 सितंबर 1972
4. डॉ. नागेन्द्र सिंह- 1 अक्टूबर 1972 - 6 फऱवरी 1973
5. टी. स्वामीनाथन -7 फऱवरी 1973 - 17 जून 1977
6. एस. एल. शकधर - 18 जून 1977 - 17 जून 1982
7. आर. के. त्रिवेदी- 18 जून 1982 - 31 दिसम्बर 1985
8. आर. वी. एस शास्त्री -1 जनवरी 1986 - 25 नवम्बर 1990
9. वी. एस. रमादेवी- 26 नवम्बर 1990 - 11 दिसम्बर 1990
10. टी. एन. शेषन-12 दिसम्बर 1990 - 11 दिसम्बर 1996
11.  एम. एस. गिल - 12 दिसम्बर 1996 - 13 जून 2001
12. जे. एम. लिंगदोह -14 जून 2001 - 7 फऱवरी 2004
13. टी. एस. कृष्णमूर्ति - 8 फऱवरी 2004 - 15 मई 2005
14. बी. बी. टंडन -16 मई 2005 - 28 जून 2006
15. एन गोपालस्वामी - 29 जून 2006 - 20 अप्रैल 2009
16. नवीन चावला - 21 अप्रैल 2009 - 29 जुलाई 2010
17. शाहबुद्दीन याकूब कुरैशी - 30 जुलाई 2010 - 10 जून 2012
18. वी. एस. संपत -11 जून 2012 - 15 जनवरी 2015
19. एच. एस. ब्रह्मा -16 जनवरी 2015 – 18 अप्रैल 2015
20. डॉ. नसीम जैदी - 18 अप्रैल 2015 -वर्तमान (संभावित जुलाई 2017)

 


10-Apr-2021 12:13 PM 22

माइंड्स ऑफ मड को  इसे दलदल के अंदर का ज्वालामुखी भी कह सकते हैं। पृथ्वी के अंदर की गैस जब पृथ्वी की कमज़ोर सतह को तलाश लेती है तो वहां निकलने की कोशिश करती है  । उस दबाव के चलते पृथ्वी की सतह पर दलदल जैसी स्थिति बनती है ।
पूर्वी अजऱबैजान ऐसी दलदलीय ज्वालामुखी का घर है।   दुनिया भर के एक हज़ार दलदलीय ज्वालामुखी में एक तिहाई यहीं स्थित हैं  । ज्वालामुखी का शीर्ष पृथ्वी से 700 मीटर की ऊंचाई तक स्थित होता है और 10 किलोमीटर के दायरे में भी फैला हो सकता है  । इनमें से ज़्यादातर 400 मीटर की ऊंचाई पर होते हैं   । आम ज्वालामुखी के उलट यह ठंडा होता है, लेकिन यह भी उतना ही खतरनाक होता है । इसकी चपेट में आने के बाद इंसान का दम घुट जाता है ।

स्पेन का नया द्वीप

स्पेन के द्वीपसमूह कैनरी आइसलैंड से मात्र कुछ ही दूरी पर एक नया द्वीप जन्म ले रहा है। इन दिनों स्पेन के द्वीपसमूह कैनरी आइसलैंड से मात्र 70 मीटर की दूरी पर समुद्र की गहराइयों में फूटे ज्वालामुखी के कारण एक नया द्वीप जन्म ले रहा है। आसपास रहने वाले लोग इस प्राकृतिक घटना के साक्षी बन रहे हैं।
एल हेरो के नजदीक स्थित कैनरी द्वीप के पास खौलते समुद्र से 20 मीटर की ऊंचाई तक लावा की धाराएं फूट रही हैं और चारों तरफ हवा में सल्फर की गंध फैली हुई है। फूट रहा ज्वालामुखी सतह से करीब 3 हजार फीट नीचे है। जैसे-जैसे समुद्र से प्रकट होते द्वीप का आकार फैल रहा है, वैसे-वैसे ज्वालामुखी से ज्यादा मात्रा में मलबा, पत्थर और कीचड़ बाहर निकल रहा है। अब तक समुद्री ज्वालामुखी की यह विस्फोटक शक्ति सतह के नीचे ही दिखाई देती थी, लेकिन वैज्ञानिक और आसपास के द्वीप वासी प्रकृति की इस शक्ति का साक्षात कर रहे हैं। द्वीपवासियों में इस बात को लेकर बहस चल रही है कि इस नए द्वीप को क्या नाम दिया जाए।
समुद्र में जिस जगह यह द्वीप प्रकट हो रहा है, वह सतह से 100 मीटर से भी कम दूरी पर स्थित एल हेरो के पास है और विशेषज्ञों का मानना है कि यदि समुद्री ज्वालामुखी का फूटना जारी रहा तो यह नया द्वीप मुख्यभूमि से मिल जाएगा। समुद्र में फूटे इस ज्वालामुखी के कारण कैनरी द्वीप के घरों को खाली करवा दिया गया है और आसपास की सडक़ों को बंद कर दिया गया है. समुद्र में जहाजों की आवाजाही पर भी रोक लगा दी गई  है। इस द्वीप में 500 से भी ज्यादा सुप्त ज्वालामुखी हैं ।  
एल हेरो में पिछला ज्वालामुखी वर्ष 1771 में फूटा था जबकि कैनरी 
 


10-Apr-2021 12:11 PM 14

सेरेस यह सबसे छोटा बौना ग्रह है। इसे पहले 1 सेरेस के नाम से क्षुद्रग्रह माना जाता था। इसकी कक्षा  है 44 करोड़ 60 लाख किमी सूर्य से।
वहीं व्यास है 950 किमी। सेरेस कृषि का रोमन देवता है। इसकी खोज गुईसेप्पे पिआज्जी ने 1 जनवरी 1801 में की थी।
सेरेस मंगल और बृहस्पति मे मध्य स्थित मुख्य क्षुद्र ग्रह पट्टे में है। यह इस पट्टे में सबसे बड़ा पिंड है। सेरेस का आकार और द्रव्यमान उसे गुरुत्व के प्रभाव में गोलाकार बनाने के लिये पर्याप्त है। अन्य बड़े क्षुद्रग्रह जैसे 2 पलास, 3 जुनो तथा 10 हायजीआ अनियमित आकार के हंै।
सेरेस का एक चट्टानी केन्द्रक है और 100 किमी मोटी बर्फ की परत है। यह 100 किमी मोटी परत सेरेस के द्रव्यमान का 23-28 प्रतिशत तथा आयतन का 50 प्रतिशत है। यह पृथ्वी पर के ताजे जल से ज्यादा है। इस के बाहर एक पतली धूल की परत है। सेरेस की सतह ‘ष्ट’ वर्ग के क्षुद्रग्रह के जैसी है। सेरेस पर एक पतले वातावरण के संकेत मीले है। सेरेस तक कोई अंतरिक्ष यान नहीं गया है, लेकिन नासा का डान इसकी यात्रा 2015 मे करेगा।
 


10-Apr-2021 8:20 AM 28

क्या आपको मालूम है कि वर्ष 2004 में फेसबुक का जन्म हुआ तो इसका होमपेज या स्टार्ट पेज या मुख्य वेबपेज मौजूदा फेसबुक से तो एकदम ही अलग था. तब और अब के फेसबुक में कुछ भी वैसा नहीं है. सबकुछ बदल चुका है. फरवरी 2004 में जब मार्क जुकरबर्ग ने इसे लांच किया तो केवल हार्वर्ड स्टूडेंट्स के लिए ही था, जहां उनके प्रोफाइल्स होते थे. ये हार्वर्ड स्टूडेंट्स की डायरेक्ट्री की तरह इस्तेमाल किया जाता था. फेसबुक पर जो पहला चेहरा आया, वो गील्स बैंड के लीड सिंगर पीटर वोल्फ थे. तब इसका नाम द फेसबुक था.

वर्ष 2005 में फेसबुक के लांच होने के एक साल बाद इसके होमपेज का चेहरा कुछ यूं हो गया. अब इसे अमेरिका की अन्य यूनिर्सिटीज के स्टूडेंट्स के लिए खोल दिया गया. अब इसके होमपेज पर स्टूडेंट की प्रोफाइल उनकी फोटो के साथ खुलने लगी थी. फेसबुक पर आने वाले स्टूडेंट्स भी बढने लगे थे. हालांकि वर्ष 2004 में लांच के एक हफ्ते बाद ही इसके फाउंडर मार्क जुकरबर्ग तब विवादों में आ गए जबकि हार्वर्ड के ही उनके तीन सीनियर्स ने आरोप लगाया कि ये पूरा आइडिया उनका था, जिसे जुकरबर्ग ने चुराया है.

वर्ष 2006 से फेसबुक को और विस्तार दिया गया. अब ये केवल हार्वर्ड और अमेरिकी यूनिवर्सिटी के स्टूडेंट्स के लिए ही सोशल मीडिया वेबसाइट नहीं थी बल्कि कोई भी इसका मेंबर बन सकता था. बस उसकी उम्र कम से कम 13 साल की होनी चाहिए थी. संदेशों के आदान प्रदान के साथ अब इसमें फ्रेंड्स बनाने का विकल्प भी ज्यादा आसान हो गया था. वर्ष 2006 के फेसबुक का ये पेज मार्क जुकरबर्ग की तस्वीर के साथ उनकी प्रोफाइल दिखा रहा है.

वर्ष 2007 तक फेसबुक के फीचर्स में कई बदलाव और आ गए,जो लोगों को कहीं ज्यादा इस प्लेटफार्म से जुडऩे के लिए आकर्षित करने लगे थे. फेसबुक अब एक बड़ी कंपनी में तब्दील होने लगी थी. अब ये साइट स्टेट्स अपडेट के साथ फोटो शेयरिंग की सुविधा देने लगी थी.  अब तक इसके एक लाख बिजनेस पेज हो चुके थे. इन्हें ग्रुप पेज के तौर पर शुरू किया गया था. बाद में उन्हें कंपनी पेज के तौर पर प्रोमोट किया गया.

वर्ष 2009 में फेसबुक का होमपेज अपने यूजर्स के लिए फिर बदला हुआ था. हालांकि कंपनी को एक विवाद से छुटकारा मिल गया था. मार्क जुकरबर्ग ने हार्वर्ड के उन तीन सीनियर्स के साथ विवाद सुलझा लिया था, जिन्होंने अदालत में जाकर उनके खिलाफ प्रोजेक्ट को चुराने का आरोप लगाया था. हांलाकि इसके बदले जुकरबर्ग को मोटी रकम चुकानी पड़ी. अक्टूबर 2008 में फेसबुक ने अपना इंटरनेशनल हेडक्वार्टर आयरलैंड के डब्लिन में स्थापित किया. सितंबर 2009 में उसने आमदनी शुरू हो जाने की घोषणा की, ये आमदनी एड रेवन्यू से हो रही थी. फेसबुक के ट्रैफिक में असली तेजी वर्ष 2009 के बाद आनी शुरू हुई.

ये फेसबुक का वर्ष 2010 में बदला हुआ रूप है. जब टेक्स्ट मैसेज के साथ फोटो भी पोस्ट होने लगीं थीं. जुलाई 2010 में कंपनी ने घोषणा की कि उसके 500 मिलियन यूजर्स हो चुके हैं. कंपनी डेटा के अनुसार आधे मेंबर रोज फेसबुक का इस्तेमाल कर रहे थे.

वर्ष 2011 में फेसबुक. 2011 की शुरुआत में फेसबुक ने हेडक्वार्टर को कैलिफोर्निया ले जाने की घोषणा की. उसी दौरान ये भी पता लगा कि नियमों के उल्लंघन की वजह से फेसबुक रोज तकरीबन 20 हजार यूजर्स की प्रोफाइल हटा रहा है. जून 2011 में फेसबुक के पेज व्यूज एक ट्रिलियन तक पहुंच गए. गूगल के बाद ये अमेरिका की दूसरी सबसे ज्यादा विजिट की जाने वाली साइट बन गई.

वर्ष 2012 में फेसबुक में एक बड़ा बदलाव हुआ. होमपेज के साथ यूजर्स का एक पर्सनल पेज भी क्रिएट किया गया. जिसमें उसे कवर फोटो लगाने की सुविधा दी गई. इस पेज का लुक इस तरह था. वर्ष 2012 में फेसबुक का आईपीओ बाजार में आया. जो काफी हिट रहा. इसकी मार्केट पूंजी 104 बिलियन डॉलर तक पहुंच गई. फेसबुक अपना रेवेन्यू ज्यादातर एड से हासिल करता है, जो इसके स्क्रीन पर आते हैं.

ये फेसबुक का मौजूदा रूप है. लेकिन पिछले दिनों करोड़ों लोगों के पर्सनल डेटा लीक होने के बाद इस साइट में बड़े पैमाने पर बदलाव की बात कही जा रही है. इसका असर शायद हम आने वाले दिनों में देखेंगे.

फेसबुक विजिट के मामले में गूगल के बाद अब दूसरे नंबर की साइट है. इसके एक्टिव यूजर्स 2.6 बिलियन (वर्ष 2020 तक) के ऊपर हो चुके हैं. ये 140 भाषाओं में है. इसका रेवन्यू 85,965 मिलियन डॉलर से कहीं ज्यादा का है जबकि शुद्ध मुनाफा 29,146 मिलियन डॉलर. दुनियाभर में इसके 58,604 (वर्ष 2020 तक) कर्मचारी हैं. फेसबुक ने पिछले दिनों कई कंपनियों को टेकओवर किया है. (news18.com)


10-Apr-2021 8:20 AM 24

 

काशी विश्वनाथ मंदिर और ज्ञानवापी मस्जिद मामले में वाराणसी कोर्ट ने पुरातात्विक सर्वे कराने की बात की. इसके बाद से हिंदू-मुस्लिम संगठन अपने-अपने तरीके से इसपर खुशी और एतराज जता रहे हैं. इधर मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के सदस्य जफरयाब जिलानी ने फास्ट ट्रैक कोर्ट के सर्वेक्षण के फैसले को 1991 के प्लेसेज ऑफ वर्शिप एक्ट का उल्लंघन कहते हुए इसे चुनौती देने की बात कह डाली.

क्या कहता है पूजास्थल पर बना ये नियम
काशी विश्वनाथ मंदिर और ज्ञानवापी मस्जिद परिसर का मुकदमा साल 1991 में बने पूजा स्थल कानून के तहत आ रहा है. इसके मायने यह हैं कि देश की आजादी के समय यानी 15 अगस्त 1947 को जो भी प्लेसेज ऑफ वर्शिप यानी पूजा स्थल, जिस भी संप्रदाय का था, वो उसी का रहेगा. यानी अगर कहीं मंदिर है तो वो मंदिर ही रहे और मस्जिद है तो उसमें कोई फेरबदल न हो. ये कानून अलग-अलग मजहब को मानने वालों की आस्था बनाए रखने और खासतौर पर उनके बीच संघर्ष की स्थिति को टालने के लिए बना था. इसे साल 1991 में नरसिम्हा राव सरकार ने पारित किया था.

किसलिए बना ये नियम 

इस कानून का पूरा नाम प्लेसेज ऑफ वर्शिप (स्पेशल प्रोविजन) एक्ट, 1991 है. इससे एक धर्मस्थल को उसी तरह सुरक्षित रखा जा सकता है और दूसरे धर्म के लोग वहां अतिक्रमण नहीं कर सकते. अधिनियम के तहत तीन साल तक की सजा के साथ-साथ जुर्माना भी हो सकता है, अगर कोई एक धर्मस्थल को दूसरे में बदलने की कोशिश करे या ऐसा करने की कोशिश में लिप्त पाया जाए. हालांकि इस मामले में अयोध्या विवाद को छूट दी गई थी.

मुस्लिम नेता कर रहे एतराज 
इधर वाराणसी के ज्ञानवापी मस्जिद परिसर में अदालत ने पुरातात्विक सर्वे कराने का आदेश दिया, जिसपर कई मुस्लिम संगठन और नेता एतराज जताते हुए तर्क दे रहे हैं कि ये 1991 प्लेस ऑफ वर्शिप एक्ट का उल्लंघन है. एआईएमआईएम अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी के मुताबिक मस्जिद कमेटी को तुरंत इस आदेश पर एतराज करना चाहिए, इससे पहले कि पुरातत्व विभाग काम शुरू करे.

क्या है काशी में मंदिर-मस्जिद विवाद 
अयोध्या में रामजन्मभूमि फैसले के बाद से कई जगहों पर मथुरा और काशी का जिक्र आने लगा है. काशी का मामला यही है, जिस बारे में फिलहाल चर्चा है, यानी ज्ञानवापी मस्जिद विवाद, जिसमें याचिकाकर्ताओं के मुताबिक मस्जिद को मुगल शासक औरंगजेब ने प्राचीन मंदिर को गिराकर बनवाया था. कहा तो ये तक जाता है कि मस्जिद में उन्हीं अवशेषों का इस्तेमाल हुआ, जो कभी मंदिर में थे. याचिका में इसके सबूत के तौर पर पुराने दस्तावेज भी सौंपे गए. फिलहाल फास्ट ट्रैक कोर्ट ने मंदिर-मस्जिद परिसर में पुरातत्व विभाग को खुदाई और सर्वेक्षण के आदेश दिए हैं. जो भी हकीकत हो, इसके बाद ही पता चल सकेगी.

क्या मथुरा में कृष्ण मंदिर ढहाकर बनी मस्जिद?
अब जानते हैं कि आखिर मथुरा में किस बात का हल्ला है. यहां पर शाही ईदगाह मस्जिद विवाद चल रहा है, जिसके तहत याचिकाकर्ताओं का दावा है कि श्रीकृष्ण जन्मभूमि के 13 एकड़ के कटरा केशव देव मंदिर के परिसर पर 17वीं शताब्दी में शाही ईदगाह बनाया गया था. उनका कहना है कि फिलहाल जहां मस्जिद है, वहीं किसी समय कंस का कारागार था और फिर कृष्ण मंदिर हुआ. बाद में मुगलों ने इसे नष्ट करवाकर शाही ईदगाह मस्जिद बनवा दी. इस मामले में भी यही कहा जा रहा है कि मुगल शासक औरंगजेब ने मंदिर तोड़ने का आदेश दिया था.

अब प्लेसेज ऑफ वर्शिप एक्ट 1991 पर भी विवाद हो रहा है
हाल ही में सुप्रीम कोर्ट ने इस बारे में सरकार को तलब करते हुए एक याचिका का जवाब देने को कहा. याचिका में कहा गया कि ये एक्ट हिंदुओं समेत सिखों, बौद्ध धर्म के लोगों को अपने धर्म स्थल पर अवैध कब्जा करने के खिलाफ दावे से रोकने वाला है. इस बारे में सुप्रीम कोर्ट वकील अश्विनी उपाध्याय ने याचिका दायर करते हुए इस एक्ट को चुनौती दी. उन्होंने कहा कि आक्रामणकारियों ने कई धर्मों के पूजा स्थलों को तोड़कर अपने धर्म स्थल बना दिए. अब कानून बनाकर हमें उन पूजा स्थलों का सच जानने से रोकना असंवैधानिक है.(news18.com)


10-Apr-2021 8:18 AM 20

काशी विश्वनाथ मंदिर और उसी परिक्षेत्र में स्थित ज्ञानवापी मस्जिद मामले पर राजनीति शुरू हो चुकी है. दरअसल वाराणसी की एक स्थानीय अदालत ने गुरुवार को आर्कियोलॉजिकल सर्वे ऑफ इंडिया को इस जगह के सर्वेक्षण के लिए खुदाई का काम सौंपा है. कोर्ट ने निर्दश दिया है कि केंद्र के पुरातत्व विभाग के 5 लोगों की टीम बनाकर पूरे परिसर का अध्ययन किया जाए.

क्या रहा है विवाद 
मस्जिद काफी समय से विवादित रही है. हिंदू पक्ष का कहना है कि मस्जिद के नीचे असल में मंदिर है, जिसे औरंगजेब के समय में नष्ट कर दिया गया था. इसी बात को कहते हुए सबसे पहले साल 1991 में वाराणसी सिविल कोर्ट में स्वयंभू ज्योतिर्लिंग भगवान विश्वेश्वर की ओर से ज्ञानवापी में पूजा-अर्चना की अनुमति के लिए याचिका दायर की गई थी. इसके बाद से मस्जिद विवादों में आ गई. याचिका तीन पंडितों ने लगाई थी. इसके बाद साल 2019 में वकील विजय शंकर रस्तोगी ने सिविल कोर्ट में आवेदन किया. इसमें अनुरोध था कि ज्ञानवापी परिसर का सर्वे किया जाए ताकि इसके बारे में सच्चाई सामने आ सके.

इन रिपोर्ट्स में मुगल शासक के हमले का उल्लेख

याचिकाकर्ता समेत कई हिंदू संगठनों का मानना है कि इस जगह पर लगभग 2,000 साल पुराना मंदिर था, जिसे औरंगजेब ने 1669 में नष्ट करवा दिया था और इसके अवशेषों का इस्तेमाल मस्जिद बनाने के लिए हुआ. द वायर की रिपोर्ट में इसका जिक्र हुआ है. इसके मुताबिक याचिकाकर्ता ने कहा कि औरंगजेब, एक के बाद एक लगातार कई स्कूल और मंदिर इस आरोप के साथ ध्वस्त करवा रहा था कि वहां तंत्र-मंत्र जैसी शिक्षा दी जाती है. एशियाटिक सोसायटी ऑफ बंगाल से छपी किताब Maasir-I-'Alamgiri में भी इस बात का उल्लेख मिलता है, जो औरंगजेब पर लिखी गई थी.

वाराणसी की इस जगह का जिक्र ब्रिटिश सैलानी रेगिनेल्ड हेबर ने भी साल 1824 में किया था. उन्होंने कई रिपोर्ट्स में कहा कि जैसा कि मस्जिद निर्माण में लगी और दिखती सामग्री से पता लगता है कि इस जगह हिंदू मंदिर रहा होगा, जो बाद में मस्जिद बन गया.

क्या मंदिर के अवशेषों से बनी मस्जिद 
पुरातत्व विशेषज्ञ और लेखक एडविन ग्रीव्स ने भी अपनी किताब Kashi the city illustrious में इसका जिक्र किया है कि मस्जिद में कई चीजें ऐसी दिखती हैं, जो किसी हिंदू मंदिर की झलक देती हैं. यहां बता दें कि ज्ञानवापी मस्जिद के बाहर नंदी की विशाल मूर्ति है. ये शिव का वाहन कहा जाता है. नंदी की दिशा मस्जिद की ओर होना भी हिंदू याचिकाकर्ताओं के लिए बहस की एक वजह रही.

काफी पुराना रहा है मंदिर का इतिहास 
वैसे ज्ञानवापी का इतिहास 11वीं सदी से शुरू हुआ माना जाता है. कहा जाता है कि राजा हरीशचंद्र ने इसका जीर्णोद्धार कराया था. जिसके बाद से लगातार हिंदू शासक इस मंदिर की देखभाल और सौंदर्यीकरण करवाते रहे. हालांकि मंदिर के निर्माण के समय के बारे में एकमत नहीं है. कहीं-कहीं ये जिक्र भी मिलता है कि इसका निर्माण राजा विक्रमादित्य ने करवाया था, जो बाद में कई बार मुगल आक्रांताओं के हमले का शिकार होता और बनता-बिगड़ता रहा. हालांकि औरंगजेब के मंदिर को तुड़वाकर मस्जिद बनाने की बात कई बार कही जाती है.

रानी अहिल्याबाई ने बनवाया नया मंदिर 
बाद में साल 1780 में मालवा की शासक रानी अहिल्याबाई ने ज्ञानवापी परिसर के बगल में ही एक मंदिर बनवा दिया. यही वो मंदिर है, जिसे आज काशी विश्वनाथ मंदिर कहा जाता है. आज यही मंदिर हिंदू श्रद्धालुओं को दुनियाभर से आकर्षित कर रहा है. वैसे इसी बीच ये ज्ञानवापी मस्जिद विवाद को एक बार फिर से हवा मिली, जब विश्वनाथ कॉरिडोर की बात हुई. इस विश्वनाथ कॉरिडोर के कारण वाराणसी में आए श्रद्धालु आसानी से मंदिर जाकर दर्शन कर सकेंगे, ऐसी योजना है. लगभग 5.3 लाख वर्गफुट में बन रहे इस कॉरिडोर के लिए कई निर्माण कार्य होने हैं.

कॉरिडोर को लेकर जताई आशंका 
इस बीच कई मुस्लिम संगठनों ने आशंका जताई कि कॉरिडोर बनने से ज्ञानवापी मस्जिद को नुकसान हो सकता है. इसे ही देखते हुए मस्जिद की देखरेख करने वाली कमिटी अंजुमन इंतजामिया मसाजिद ने सर्वोच्च न्यायालय में याचिका डाल दी. हालांकि याचिका वहां से ये कहते हुए खारिज हो गई कि महज संदेह की बिना पर कॉरिडोर की योजना या निर्माण कार्य नहीं रोका जा सकता.

लगभग 350 साल पुराने दस्तावेज सौंपे गए
ज्ञानवापी की सच्चाई और दोनों पक्षों के साथ इंसाफ के लिए फिलहाल मामला ASI के पास जा चुका है. वो अपने सर्वेक्षण से समझने की कोशिश करेगी कि किसके दावे में दम है. वैसे कहा जाता रहा है कि अपने पक्ष में सबूत के तौर पर हिंदू याचिकाकर्ताओं ने एक साढ़े 3 सौ साल पुराना दस्तावेज जमा कराया है, जो कथित तौर पर औरंगजेब के दरबारी के यहां से 18 अप्रैल 1669 को जारी किया गया था.

डीएनए की एक रिपोर्ट में इसका जिक्र है. दस्तावेज फारसी भाषा में है, जिसके हिंदी अनुवाद में औरंगजेब को जानकारी दी जा रही है कि उनके आदेश के मुताबिक 2 सितंबर 1669 को काशी विश्वनाथ मंदिर (प्राचीन) को ध्वस्त कर दिया गया. हकीकत जो भी हो, ये तो तय है कि फिलहाल इस मस्जिद का इतिहास रहस्यों के घेरे में है और सर्वेक्षण के बाद ही इस बारे में कुछ पुख्ता कहा जा सकेगा. (news18.com)


09-Apr-2021 12:11 PM 26

1. हाल ही में फ्रांस के नए प्रधानमंत्री के रूप मे किसने कार्यभार संभाला है?
(अ) फ्रांसोआ ओलांद (ब) जॉ मार्क ऐरो (स) मानुएल वाल्स (द) फ्रेडेरिक दाबी
2. हाल ही में सिमोन डैक पुरस्कार के लिए निम्नलिखित में से किसका चयन किया गया है? 
(अ)अनीश कपूर (ब) सुमीत चुग (स)बी.आर. शेट्टी (द) तलवीन सिंह 
3. हाल ही में केंद्रीय खेल मंत्रालय ने किस भारतीय खेल संघ की मान्यता रद्द कर दी है?
(अ) मुक्केबाजी संघ (ब) बैडमिंटन संघ (स) फुटबॉल संघ (द) हॉकी संघ
4. दक्षिण अफ्रीका में प्रवाहित होने वाली सबसे लंबी नदी निम्नलिखित में से कौन सी है?
(अ) कांगो, जायरे (ब) नील (स) नाइजेर (द) जेम्बेजी
5. ऑस्ट्रेलिया महाद्वीप में प्रवाहित होने वाली सबसे लंबी नदी है?
(अ) मर्रे डार्लिंग (ब) मिचेल (स) मर्चिसन (द) गिल्बर्ट
6. कौन सा महाद्वीप मरुस्थल विहीन है?
(अ) एशिया (ब) यूरोप (स) अफ्रीका (द) आस्ट्रेलिया
7. वेनेजुएला स्थित उष्ण कटिबंधीय घास के मैदान को कहा जाता है?
(अ) लानोज (ब) कैम्पोस (स) पार्कलैंड (द) सवाना
8. अमेजन नदी के दक्षिण में स्थित ब्राजील के मैदानी क्षेत्र में पाए जाने वाले उष्ण कटिबंधीय घासभूमियों को किस नाम से जाना जाता है?
(अ) लानोज (ब) कैम्पोस (स) पार्कलैंड (द) सवाना
9. गेहूं की कृषि निम्नलिखित में से किससे संबंधित है?
(अ) सेल्वास (ब) लानोज (स) केम्पास (द) स्टेपी
10. गेहूं की खेती निम्नलिखित में से किस मृदा से संबंधित है?
(अ) चेरनोजम (ब) पॉडजोल (स) लाल (द) जलोढ़
11. ट्रक फार्मिंग का दूसरा नाम निम्नलिखित में से क्या है?
(अ) रेशम उत्पादन कृषि (ब) अंगूरोत्पादन कृषि (स) फल कृषि (द) विपणन बागवानी
12.जमीन पर फैलने वाली सब्जियों की व्यापारिक कृषि कहलाती है?
(अ) वेजीकल्चर (ब) ओलेरीकल्चर (स) आरबोरीकल्चर (द) एपीकल्चर
13. मानचित्र का वर्षा का वितरण दिखाने के लिए किस रेखा का प्रयोग किया जाता है?
(अ) आइसोहाइट (ब) आइसोथर्म (स) आइसोबार (द) आइसोहेलाइन
14. सामान जनसंख्या घनत्व वाले स्थानों को मिलाने वाली रेखाएं कौन सी हैं?
(अ)आइसोप्रैक्ट (ब)आइसोडोपेन (स) आइसोटैक (द) आइसोपाइक्निक
15. धु्रवों पर क्षोभमण्डल किस ऊंचाई तक विद्यमान है?
 (अ)5 किमी तक (ब) 10 किमी तक (स) 8 किमी तक (द) 18 किमी तक
16. एक बायोगैस बेहतर काम करेगा यदि?
(अ)40अंश सेंटीग्रेट के लगभग की वायवीय (एयरोविक) स्थिति में हो (ब) 40अंश सेंटीग्रेट अवायवीय स्थिति के तहत हो (स) 45अंश सेंटीग्रेट के लगभग की वायवीय स्थिति मेें हो (द)इनमें से कोई नहीं  
17. भारत में मुगल काल की अधिकांश इमारतों में किस प्रकार की चट्टानों या पत्थरों का उपयोग बहुतायत से मिलता है?
(अ) नीस पत्थरों का (ब) संगमरमर का (स) चूना-पत्थर का (द) बलुआ-पत्थर का 
18. चोल राजाओं ने किस धर्म को संरक्षण प्रदान किया?
(अ) जैन धर्म (ब) बौद्ध धर्म (स) शैव धर्म (द) वैष्णव धर्म   
19. भारतीय नौसेना में सेना के लेफ्टीनेंट कर्नल के समकक्ष कौन होता है?
(अ) कोमोडोर (ब) कैप्टन (स) कमांडर (द)लेफ्टीनेंट कमांडर
20. अफ्रीका महाद्वीप का दक्षिणतम बिंदु है?
(अ)आशा अंतरीप (ब) केप अगुलहास (स) केपटाऊन (द) नेटाल
21. विश्व में मैदानों का सर्वाधिक विस्तार किस महाद्वीप में है?
(अ) एशिया (ब) यूरोप (स) उत्तर अमेरिका (द) अफ्रीका 
22. मासेलो क्या है?
(अ) एक अमेरिकी भाषा (ब) ब्राजील का एक बंदरगाह (स) दक्षिण अफ्रीका की एक जनजाति (द) साइबेरिया का एक जानवर
23. निम्नलिखित में कौन सा एक पत्तन गुजरात में पोत के तोडऩे एवं मरम्मत हेतु प्रसिद्ध है?
(अ) पोरबंदर (ब) पाटन (स) पीपावाव (द) माण्डवी
24. सघन खेती के लिए खेतिहर क्षेत्र होना चाहिए?
(अ) अधिक वर्षा वाला (ब) कम वर्षा वाला (स) सिंचित (द) असिंचित 
25. सेलीकल्चर का संबंध निम्न में से किससे है?
(अ)लाख से (ब)रेशम कीट से (स)मधुमक्खी से (द)मछली से
26. उस इसरो रॉकेट का नाम क्या है जो अंतरिक्ष में आईआरएनएसएस -1 बी को ले जाएगा?
(अ) पीएसएलवी सी-20 (ब) पीएसएलवी सी-24 (स) पीएसएलवी सी-25 (द) पीएसएलवी सी-26
27. के. शिवरामकृष्णन पैनल का क्या उद्देश्य है? 
(अ) स्वीस खातों से काला धन लाना (ब) महिलाओं के खिलाफ अत्याचार संभाल करने के लिए आवश्यक दिशा निर्देश (स) सीमांध्र की नई राजधानी का नाम सुझाने के लिए (द) टैक्स सुधारों के लिए
28. सन फ्लावर मूवमेंट (सूरजमुखी छात्र आंदोलन) का संबंध किस देश से है? 
(अ)तिब्बत (ब) थाईलैंड (स) ताइवान (द) भारत 

सही जवाब- 1.(स)मानुएल वाल्स, 2.(ब) सुमीत चुग, 3.(अ)मुक्केबाजी संघ, 4.(ब) नील, 5.(अ) मर्रे डार्लिंग, 6.(ब) यूरोप, 7.(अ)लानोज, 8.(ब) कैम्पोस, 9.(द) स्टेपी, 10.(अ)चेरनोजम, 11.(द) विपणन बागवानी, 12.(ब) ओलेरीकल्चर, 13.(अ) आइसोहाइट, 14.(द) आइसोपाइक्निक, 15.(स)8 किमी तक, 16.(ब)40अंश सेंटीग्रेट अवायवीय स्थिति के तहत हो, 17.(द) बलुआ-पत्थर का, 18.(स) शैव धर्म, 19.(स) कमांडर,  20.(ब) केप अगुलहास, 21.(ब) यूरोप, 22.(ब) ब्राजील का एक बंदरगाह, 23.(ब) पाटन, 24.(स) सिंचित, 25.(ब) रेशम कीट से, 26.(ब) पीएसएलवी सी-24, 27.(स) सीमांध्र की नई राजधानी का नाम सुझाने के लिए, 28.(स) ताइवान।

   

 


09-Apr-2021 12:07 PM 25

कम्पयूटर की दुनिया में विंडोज़ एक्सपी एक जाना - पहचाना नाम है। इसकी बिक्री अक्टूबर 2001 में शुरू हुई थी और इसे ग्राहकों ने काफी पसंद किया। बाजार शोध फर्म नेट एप्लीकेशंस के आंकड़ों के मुताबिक अगस्त 2012 तक ये माइक्रोसॉफ्ट का सबसे अधिक इस्तेमाल किया जाने वाला कम्प्यूटर ऑपरेटिंग सिस्टम था। हालांकि इसके बाद विंडोज़-7 आगे निकल गया।
ये सॉफ्टवेयर आज भी कई सरकारी संस्थानों में काफी लोकप्रिय है और कुछ अध्ययनों से पता चला है कि दुनिया की ज्यादातर कैश मशीनों में आज भी इसका इस्तेमाल किया जा रहा है। इस सॉफ्टवेयर की लंबी उम्र की वजह ये नहीं है कि एक्सपी में दूसरों के मुकाबले कुछ खास है, बल्कि इसकी बड़ी वजह बाद में आने वाले संस्करणों में हुई देरी है। ऐसे में इस ऑपरेटिंग सिस्टम के सपोर्ट लाइफ को बढ़ा दिया गया। लंबे समय तक एक ही ऑपरेटिंग सिस्टम पर काम करने के चलते कंपनियों को इससे एक तरह का लगाव सा हो गया।
 एक्सपी को अक्टूबर 2001 में लॉन्च किया गया था। यह विंडोज़ के सबसे ताजा ओएस विंडोज़ 8 से (जो अक्टूबर 2012 को लॉन्च हुआ) से 11 साल और तीन जेनरेशन पीछे है। अब विंडोज़ एक्सपी  के लिए माइक्रोसॉफ्ट का तकनीकी सपोर्ट खत्म हो गया है। इसी के साथ माइक्रोसॉफ्ट के सबसे लंबे समय से चल रहे ऑपरेटिंग सिस्टम (ओएस) के अंत की शुरुआत हो गई है। 8 अप्रैल, 2014 से  विंडोज़ एक्सपी यूजर को कंपनी की तरफ से कोई अपडेट और टेक्निकल सपोर्ट मिलना भी बंद हो गया है।   सपोर्ट बंद होने के बाद भी आप विंडोज़ एक्सपी का इस्तेमाल कर सकेंगे, लेकिन इसको इस्तेमाल करने को लेकर खतरे बढ़ जाएंगे।
 

मस्टर्ड गैस

मस्टर्ड गैस एक प्रकार का रासायनिक हथियार है।  पहले विश्व युद्घ में मस्टर्ड गैस का पहली बार इस्तेमाल हुआ था। हालांकि युद्घ से बहुत पहले ही इसके साथ प्रयोग किए गए थे। जर्मन रसायनशास्त्री विलहेम लोमेल और विलहेम स्टाइंकोपिन ने 1916 में हथियार के रूप में इसके इस्तेमाल की सलाह दी थी। रासायनिक हथियार के रूप में इस्तेमाल होने वाली दूसरी गैसों की तरह इसे महाविनाश का हथियार आधिकारिक रूप से नहीं माना गया है।
मस्टर्ड गैस कपड़ों को छेद कर त्वचा में समा जाती है। इसके संपर्क में आने के 24 घंटे बाद ही असर दिखना शुरू होता है। गैस के असर से पहले त्वचा लाल हो जाती है। फिर फफोले निकलते हैं। इसके बाद उस जगह की त्वचा छिलके की तरह उतर जाती है। नाक के रास्ते से अंदर गई गैस जानलेवा हो सकती है, क्योंकि यह फेफड़ों के उतकों को नुकसान पहुंचाती है।
लेकिन सीरिया में मिली जहरीली मस्टर्ड गैस के अवशेषों से जर्मनी नमक बनाने की तैयारी की जा रही है।  जर्मनी को जहरीली गैसों और रासायनिक हथियारों को खत्म करने का पुराना अनुभव है।
 


Previous123456789...7980Next