कोरबा

बीमार हाथी की मौत, कटघोरा वन मंडल में आया नया मेहमान
14-Aug-2021 4:31 PM (103)
बीमार हाथी की मौत, कटघोरा वन मंडल में आया नया मेहमान

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
कोरबा, 14 अगस्त।
जिले के कटघोरा वनमंडल में मौजूद हाथियों के दल में एक नन्हा मेहमान आया है। शुक्रवार की रात को  एतमानगर रेंज के बांधापारा बीट में एक  हाथी ने शावक को जन्म दिया। जानकारी मिलते ही वन विभाग का अमला जंगल पहुंचकर नवजात शावक व उसकी मां की निगरानी में जुटा हुआ है, वहीं शनिवार को कोरबा वन मंडल में एक बीमार  हाथी की मौत हो गई है।

जानकारी के अनुसार एतमानगर रेंज के बांधापारा-रिंगनिया जंगल में 37 हाथियों का दल कुछ दिनों से विचरण कर रहा है। इस दल में एक गर्भवती मादा हाथी भी शामिल थी, जिसने बीती रात शावक को जन्म दिया। मादा हाथी व उसके नवजात शावक को आज सुबह जंगल के कक्ष क्रमांक 515 में देखा गया और इसकी सूचना रेंजर शहादत खान व वन विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों को दी गई। जिस पर अधिकारियों के निर्देश पर वन विभाग के अधिकारी व कर्मचारी जंगल पहुंचकर शावक व उसको जन्म देने वाले मादा हाथी की निगरानी कर रहे हैं। इससे पहले हाथियों के दल से एक दंतैल अलग होकर बस्ती में घुस गया था और उसने उत्पात मचाते हुए गोविंद वल्द इतवार नामक एक ग्रामीण के घर को ध्वस्त कर दिया। पीडि़त व्यक्ति ने इसकी सूचना वन विभाग को दी। जिस पर कर्मी मौके पर पहुंचे और दंतैल द्वारा किये गए नुकसानी का सर्वे किया।

केंदई रेंज के फुलसर में गुरुवार को उत्पात मचाकर दो घरों को निशाना बनाने वाले दो दंतैल हाथी बीती रात आगे बढक़र पसान रेंज की सीमा में प्रवेश कर गए और जल्के सर्किल के ग्राम तनेरा व सुखरीताल में जमकर उत्पात मचाया। इस दौरान दंतैल हाथियों ने चार ग्रामीणों के मकान तोड़ दिए। इतना ही नहीं खेतों में पहुंचकर धान की फसलों को भी तहस-नहस कर दिया। 
हाथियों के गांव में घुसने व उत्पात मचाए जाने की जानकारी ग्रामीणों द्वारा रात में दिए जाने पर वन विभाग के अधिकारी व कर्मचारी हाथी मित्रदल के सदस्यों व हुल्ला पार्टी के साथ मौके पर पहुंचे और उत्पात मचा रहे हाथियों को खदेड़ा गया।। 

बीमार हाथी की मौत
कोरबा वन मंडल के पिछले कई महीनों से बीमार हाथी की आखिरकार उपचार के दौरान शनिवार को मौत हो गई। बीमार हाथी का विशेषज्ञों की सलाह के आधार पर उपचार किया जा रहा था।  पिछले दिनों श्यांग रेंज में हाथी  गिर कर घायल हो गया था जिसके बाद उसका उपचार किया जा रहा था । उपचार प्राप्त करने के बाद घायल हाथी फिर से अपने पैरों पर खड़ा हो गया था और क्षेत्र में विचरण कर रहा था। 

शनिवार की सुबह से कोरबा फोन मंडल में उसकी मौत हो गई है हाथी की मौत की सूचना पाते ही वन विभाग केअधिकारी कर्मचारियों की टीम मौके पर पहुंच गई है, जहां वैधानिक कार्यवाही के उपरांत मृत हाथी का अंतिम संस्कार किया जाएगा।
 

अन्य पोस्ट

Comments