बस्तर

बस्तर में क्रिकेट खिलाडिय़ों के भविष्य के साथ हो रहा खिलवाड़ - जावेद
12-Sep-2021 11:07 PM (66)
बस्तर में क्रिकेट खिलाडिय़ों के भविष्य के साथ हो रहा खिलवाड़ - जावेद

जगदलपुर, 12 सितम्बर। विगत 15-17 सालों से बस्तर जिला क्रिकेट संघ का संचालन उन हाथों में है, जिन्हें न तो खेल की समझ है और न ही खिलाडिय़ों की, जिन्होंने बस्तर के ग्रामीण तथा शहरी क्रिकेट खिलाडिय़ों के भविष्य पर पूर्ण विराम लगाते हुए प्रश्नवाचक चिन्ह भी लगा दिया है। उक्त बातें कांग्रेस खेलकूद प्रकोष्ठ के शहर जिला अध्यक्ष जावेद खान ने जारी विज्ञप्ति के माध्यम से कही है।

जावेद ने कहा है कि 15 सालों से जब छत्तीसगढ़ में भारतीय जनता पार्टी की सरकार थी, तब से उस पार्टी से जुड़े हुए एवं उस पार्टी की विचारधारा के लोग बस्तर जिला क्रिकेट संघ में काबिज हंै, जिन्हें न तो क्रिकेट की समझ है, न ही क्रिकेट से कोई सरोकार। 

इन बीते वर्षों से बस्तर जिला क्रिकेट संघ जो कि अध्यक्ष विहीन है के द्वारा आज तक क्रिकेट खिलाडिय़ों को टर्फ विकेट तक तैयार कर नहीं दिया गया, जिसका खामियाजा लगातार बस्तर के क्रिकेट खिलाड़ी जिले से बाहर सलेक्शन के दौरान भुगतने को मजबूर हैं। बस्तर में ड्यूज बाल क्रिकेट खिलाडि लगातार उपेक्षा का शिकार हो रहे हैं जबकि इन खिलाडिय़ों के जौहर के कायल अन्य राज्यों की टीमें हैं और समय-समय पर बस्तर के ये होनहार क्रिकेट खिलाड़ी ठेके में अन्य राज्यों की टीमों में खेलते नजर आते हैं। बीसीसीआई एवं सीएससीएस से खिलाडिय़ों को मिलने वाली सहायता भी कहाँ जाती है, यह भी आज तक अनसुलझी पहेली बनी हुई है।

सलेक्शन के नाम पर लगातार खिलाडिय़ों का शोषण किया जाता रहा है। अच्छा प्रदर्शन करने वाले खिलाडिय़ों की उपेक्षा करते हुए अपने चहेतों को अवसर देना यहाँ आम बात हो गई है, जिसका खामियाजा यह निकल कर आता है जब जिले की टीम राज्य में प्रदर्शन के लिए जाती है तो दूसरे जिलों की टीमों के सामने टिक भी नहीं पाती है, और तो और आउटसोर्सिंग के माध्यम से लगातार बस्तर जिले की टीम में अन्य जिलों के खिलाडिय़ों को लेकर टीम में खिलाने की शिकायतें दबी जुबां से बस्तर के क्रिकेट खिलाड़ी करते आए हैं। 

संघ में बैठे लोग ना खिलाडिय़ों के  लिए जरसी की व्यवस्था कर पाते हैं ना ही अन्य जिलों एवं राज्य स्तरीय टूर्नामेंट में जाने के लिए परिवहन की समूचित व्यवस्था कर पाते हैं, सलेक्शन के दौरान भी पूर्व एवं वरिष्ठ क्रिकेट खिलाडिय़ों को सूचित नहीं करते हैं और ना ही उनसे किसी तरह का मार्गदर्शन लेते हैं, कारगुजारियों की पोल ना खुल जाए इस डर से आज तक जिला स्तरीय टूर्नामेंट तक का आयोजन संघ में बैठे लोगों ने नहीं कराया है। 

बस्तर में क्रिकेट को पुन: जीवित करने एवं क्रिकेट खिलाडिय़ों पर लग रहे प्रश्न चिन्ह को खत्म कर बस्तर के क्रिकेट खिलाडिय़ों के भविष्य को सुरक्षित करने के लिए छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस कमेटी खेलकूद प्रकोष्ठ कटिबंध है, अब समय आ गया है कि बस्तर जिला क्रिकेट संघ का पुनर्गठन किया जाए एवं क्रिकेट से जुड़े लोगों के हाथों में इसकी बागडोर सौंपी जाए। इसके लिए कांग्रेस खेलकूद प्रकोष्ठ प्रदेश अध्यक्ष प्रवीण जैन एवं शहर जिला कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष राजीव शर्मा से मार्गदर्शन लेते हुए बहुत जल्द छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भुपेश बघेल के नाम ज्ञापन स्थानीय जनप्रतिनिधियों एवं सीएससीएस एवं बीसीसीआई के नाम ज्ञापन जिलाधीश को सौंपते हुए बस्तर के क्रिकेट खिलाडिय़ों के साथ हो रहे खिलवाड़ पर तत्काल रोक लगाने की मांग करेगा।
 

अन्य पोस्ट

Comments