कांकेर

58 गांवों को कांकेर जिले से अलग कर नारायणपुर में शामिल करने 6वें दिन भी जारी रहा आंदोलन
14-Sep-2021 10:23 PM (58)
  58 गांवों को कांकेर जिले से अलग कर नारायणपुर में शामिल करने 6वें दिन भी जारी रहा आंदोलन

सैकड़ों ग्रामीणों ने सिर मुड़ाकर किया धरना-प्रदर्शन

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

कांकेर, 14 सितंबर।  जिले के 58 गांवों के ग्रामीणों ने कांकेर जिला से अलग होकर नारायणपुर जिला में सम्मिलित होने की मांग को लेकर सिर मुड़ाकर धरना प्रदर्शन किया। धरना-प्रदर्शन का सिलसिला आज भी कोलर चौक में जारी रहा। अनिश्चितकालीन धरना प्रदर्शन का आज छठवां दिन था।

  लगातार कर रहे धरना प्रदर्शन में शासन - प्रशासन का ध्यानाकर्षण करने कुछ अलग अलग तरह के हथकंडे अपनाए जा रहे हैं। कल धरना स्थल पर अद्र्ध नग्न होकर प्रदर्शन किए थे। आज वे सिर मुड़ाकर धरना स्थल पर विरोध प्रदर्शन किए।  ग्रामीणों की मांग पर शासन और प्रशासन की अनदेखी का आरोप लगाते हुए ग्रामीणों में आक्रोष बढ़ता जा रहा है। 58 गांवों के ग्रामीण अपनी मांगों को लेकर लगातार 6 दिन से धरना -प्रदर्शन कर रहे हैं।

आंदोलन करने वालों में कोलर क्षेत्र के भैंसगांव , कोलर,तालाबेड़ा, बैहा सालेभाट,फूलपाड़,और बंडापाल क्षेत्र के कोसरोड़ा,देवगांव, गवाड़ी,बण्डापाल,मातला, अर्रा,मुल्ले, करमरी आदि गांव के ग्रामीण शामिल हैं। इनका कहना है कि इन गांवों की दूरी कांकेर जिला मुख्यालय से काफी अधिक है,  जबकि 13 ग्राम पंचायत ऐसे हैं जिसकी दूरी केवल 20 किमी की है। इसके अलावा उनका रहन सहन और रीतिरिवाज नारायणपुर जिले से काफी मिलता जुलता है। जिससे वे नारारयणपुर जिले में रहना ज्यादा अच्छा समझते हैं।

अन्य पोस्ट

Comments