बस्तर

अवैध गिरफ्तारियों से दहशत फैला रही पुलिस
16-Sep-2021 7:15 PM (48)
अवैध गिरफ्तारियों से दहशत फैला रही पुलिस

नक्सल प्रेसनोट में लगाए कई आरोप

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
जगदलपुर, 16 सितंबर।
पश्चिम बस्तर डिविजनल कमेटी ने प्रेसनोट जारी कर कई आरोप लगाए हैं। 
जारी प्रेसनोट में कहा है कि 5 सितंबर 2010 को बीजापुर जिला परालनार पंचायत के गुंडापारा पर हमला कर गांव की जनता को बेरहमी से पिटकर, अवैध गिरफ्तारियों से दशहत फैला रही पुलिस प्रशासन की बर्बरता की निंदा करो। दोषी जवानों को, पुलिस अफसरों को कड़ी से कड़ी सजा दो। 

आगेे कहा कि केंद्र और राज्य सरकारों के आदेशों पर बस्तर संभाग में आदिवासियों पर हो रहे हमले, झूठी मुठभेड़ों, महिलाओं पर हो रहे अत्याचारी भत्र्सना करो। 
प्रेसनोट में केंद्र-राज्य सरकारों के खिलाफ संघर्ष करने का आव्हान किया है। आगे कहा है कि आदिवासी गांवों पर हमलाएं बंद करो, निर्दोष आदिवासी ग्रामीणों को गिरफ्तार करना बंद करो, उन्हें तुरंत रिहा करो। निर्दोष आदिवासियों को पीट कर उनकी संपत्तियों को लूटने वाले पुलिस अधिकारियों और जवानों को सजा दो। बस्तर संभाग से सभी पुलिस कैंपों को हटाओ। देश-विदेश कारपोरेट घरानों से केंद्र-राज्य सरकारों द्वारा किए गए समझौते रद्द करो। जल-जंगल-जमीन पर जनता का अधिकार है। 
 

अन्य पोस्ट

Comments