बस्तर

सीएम ने बस्तरवासियों को दी 139 करोड़ से अधिक के विकास कार्यों की सौगात
19-Sep-2021 9:39 PM (61)
 सीएम ने बस्तरवासियों को दी 139 करोड़  से अधिक के विकास कार्यों की सौगात

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

जगदलपुर, 19 सितंबर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने आज अपने निवास कार्यालय में आयोजित वर्चुअल कार्यक्रम में प्रदेश के 27 जिलों में 2 हजार 834 करोड़ रूपए लागत के 401कार्यों का लोकार्पण और भूमिपूजन किया। लोक निर्माण मंत्री ताम्रध्वज साहू ने कार्यक्रम की अध्यक्षता की। इन कार्यों में मुख्य रूप से सडक़ और भवन निर्माण से संबंधित 284 और पुल-पुलियों से संबंधित 48 कार्य शामिल हैं। लोकार्पण और भूमिपूजन के कामों में लोक निर्माण विभाग के अलावा 125 करोड़ 65 लाख रूपए की लागत के अन्य विभागों के 69 कार्य शामिल हंै।

     इस अवसर पर स्वास्थ्य मंत्री टी एस सिंहदेव, नगरीय प्रशासन मंत्री डॉ. शिवकुमार डहरिया, राजस्व मंत्री जय  सिंह अग्रवाल, खाद्य मंत्री अमरजीत भगत, स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ. प्रेम सिंह टेकाम, राज्यसभा सांसद छाया वर्मा, संसदीय सचिव विकास उपाध्याय, यू डी मिंज, विधायक गुलाब कोमरो, बृहस्पति सिंह, प्रकाश नायक, खाद्य नागरिक आपूर्ति निगम के अध्यक्ष राम गोपाल अग्रवाल उपस्थित थे। कार्यक्रम में अन्य मंत्रीगण, विधायक गण वर्चुअल रूप से  शामिल हुए। इस अवसर पर मुख्य सचिव अमिताभ जैन, मुख्यमंत्री के अपर मुख्य सचिव सुब्रत साहू, लोक निर्माण विभाग के सचिव  सिद्धार्थ कोमल परदेशी उपस्थित थे।

  मुख्यमंत्री श्री बघेल ने वीडियो कॉफ्रेंसिंग के माध्यम से बस्तर जिलावासियों को 139 करोड़ रूपए से अधिक के 29 विकास कार्यों की सौगात दी। वीर सावरकर कम्युनिटी हॉल में आयोजित कार्यक्रम में सांसद दीपक बैज, बस्तर विकास प्राधिकरण के अध्यक्ष  लखेश्वर बघेल, संसदीय सचिव  रेखचन्द जैन, हस्तशिल्प विकास बोर्ड के अध्यक्ष चंदन कश्यप, विधायक चित्रकोट राजमन बेंजाम, महापौर सफीरा साहू, क्रेडा के अध्यक्ष मिथलेश स्वर्णकार, मछुवा कल्याण बोर्ड के अध्यक्ष एमआर निषाद, नगर निगम की सभापति कविता साहू ने विकास कार्यों में लगभग 20 करोड़ 54 लाख 24 हजार रूपए के 17 विकास कार्यों का लोकार्पण और लगभग 118 करोड़ 58 लाख 83 हजार रूपए के 12 विकास कार्यों का शिलान्यास किया। कार्यक्रम में आईजी सुंदरराज पी, कलेक्टर रजत बंसल, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक जितेंद्र मीणा, वनमण्डलाधिकारी सुश्री स्टायलो मण्ड़ावी एवं सीईओ जिला पंचायत सुश्री ऋचा प्रकाश चैधरी सहित जन प्रतिनिधियों एवं अधिकारी-कर्मचारीगण उपस्थित थे।

लोकार्पण कार्यो में रोतमा में 1 करोड़ 21 लाख 16 हजार रुपए की लागत से निर्मित शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय भवन, टाकरागुड़़ा में 75 लाख 23 हजार रुपए की लागत से निर्मित हाईस्कूल, भानपुरी में 1 करोड़ 78 लाख 88 हजार रुपए की लागत से निर्मित 50 सीटर कन्या छात्रावास, इतनी ही लागत से केशरपाल और चपका में निर्मित 50 सीटर बालक छात्रावास व ईच्छापुर में निर्मित 50 सीटर कन्या छात्रावास, 1 करोड़ 52 लाख 97 हजार रुपए की लागत से गुनपुर में निर्मित 50 सीटर बालक छात्रावास, 1 करोड़ 62 लाख 76 हजार रुपए की लागत से तिरथा में निर्मित 50 सीटर बालक छात्रावास और इतनी ही लागत से गोंडियापाल में निर्मित 50 सीटर बालक आश्रम और रेटावंड व बेसोली में निर्मित 50 सीटर कन्या आश्रम, 25 लाख रुपए की लागत से बालक आश्रम केलाउर में निर्मित अतिरिक्त कक्ष, 67 लाख 95 हजार रुपए की लागत से हायर सेकेण्डरी स्कूल और मिडिल स्कूल भवन का जीर्णोद्धार कार्य, 31 लाख 17 हजार रुपए की लागत से माड़पाल हाईस्कूल में अतिरिक्त कक्ष और नवीनीकरण कार्य, नवागुड़ा (टोण्डपाल) में एक करोड़ 19 लाख 87 हजार रुपए की लागत से निर्मित स्टाप डेम, 46 लाख 88 हजार रुपए की लागत से छोटे देवड़ा में रायकेरा नाले में बने स्टाप डेम, 47 लाख 47 हजार रुपए की लागत से पंडानार में बने स्टाप डेम का लोकार्पण किया।

इसके साथ ही नगरनार में 3 करोड़ 44 लाख 59 हजार रुपए की लागत से बनने वाले आईटीआई भवन, जगदलपुर से चित्रकोट मार्ग में 22 करोड़ 33 लाख 94 हजार रुपए की लागत से विभिन्न स्थानों में उन्नयन और नवीनीकरण कार्य, तीन करोड़ 44 लाख 50 हजार रुपए की लागत से बनने वाले भोंड और आड़ावाल के बीच तीन किलोमीटर लंबी सड़क़, 5 करोड़ 13 लाख 25 हजार रुपए की लागत से बनने वाले 3.20 किलोमीटर लंबे चीतापुर-बुडग़ीभाटा मार्ग, लगभग 4 करोड़ 59 लाख 18 हजार रुपए की लागत से बनने वाली 5.075 किलोमीटर लंबी मंडवा काकड़ीपदर पटेलपारा ढोढरेपाल मार्ग, लालागुड़ा रावतपारा से पुजारीपारा मार्ग में लगभग 6 करोड़ 33 लाख रुपए की लागत की सेतु, 44 करोड़ 25 लाख 98 हजार रुपए की लागत से इंद्रावती नदी में पुराने पुल के स्थान पर नए पुल का निर्माण और 24 करोड़ 26 लाख 39 हजार रुपए की लागत से बिंता-सतसपुर से धर्माबेड़ा के बीच इंद्रावती नदी पर पुल का निर्माण, 39 लाख रुपए की लागत से बनने वाली टाकरागुड़ा स्टाप डेम, 3 करोड़ रुपए की लागत से दलपत सागर का विकास कार्य और एक करोड़ 39 लाख रुपए की लागत से गंगामुण्डा के सौन्दर्यीकरण कार्य का भूमिपूजन किया।

अन्य पोस्ट

Comments