रायपुर

फार्माकोलॉजी विभाग में मनाया राष्ट्रीय फार्माकोविजिलेंस सप्ताह
23-Sep-2021 6:33 PM (39)
फार्माकोलॉजी विभाग में मनाया राष्ट्रीय फार्माकोविजिलेंस सप्ताह

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

रायपुर, 23 सितंबर। पंडित जवाहर लाल नेहरू स्मृति चिकित्सा महाविद्यालय के फार्माकोलॉजी विभाग द्वारा राष्ट्रीय फार्माकोविजिलेंस सप्ताह पर दो दिवसीय जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इस आयोजन में फार्माकोलॉजी विभागाध्यक्ष डॉ. उषा जोशी ने फार्माकोविजिलेंस के विभिन्न आयामों से अवगत कराते हुए बताया कि आम जनता तथा स्वास्थ्य क्षेत्र से जुड़े हुए लोगों को रोगी सुरक्षा में सुधार के लिए प्रतिकूल दवा प्रतिक्रिया (एडीआर) रिपोर्टिंग के महत्च के बारे में जागरूक करने के लिए प्रतिवर्ष 17 से 23 सितंबर तक नेशनल फार्माकोविजिलेंस (राष्ट्रीय भेषज सतर्कता) सप्ताह मनाया जाता है।

 चिकित्सक, नर्स, फार्मासिस्ट और चिकित्सा से जुड़े अन्य व्यक्ति हेल्थ केयर सिस्टम के प्रमुख अंग हैं जो रोगी सुरक्षा में योगदान देते हैं। अत: प्रतिकूल दवा प्रतिक्रियाओं की रिपोर्ट करने तथा इसके महत्व को आम जनता तक पहुंचाने के उद्देश्य से राष्ट्रीय फार्माकोविजिलेंस सप्ताह का आयोजन किया गया। फार्माकोविजिलेंस के विभिन्न आयामों से अवगत कराते हुए विभाग के समस्त चिकित्सकों द्वारा उद्बोधन दिया गया। स्नातकोत्तर छात्रों के लिए नारा लेखन, क्विज और पोस्टर लेखन का आयोजन किया एवं विजेता छात्र-छात्राओं को प्रशस्ति पत्र एवं पुरस्कार दिया गया।

कार्यक्रम में समस्त विभागाध्यक्ष एवं स्नातकोत्तर छात्र सम्मिलित हुए। कार्यक्रम के अंत में श्रीमती प्रीति सिंह फार्माकोविजिलेंस एसोसिएट द्वारा एडीआर फॉर्म भरने का प्रशिक्षण दिया गया।

 विदित हो कि फार्माकोविजिलेंस, जिसे ड्रग सेफ्टी के रूप में भी जाना जाता है, फार्मास्युटिकल उत्पादों के संग्रह, पता लगाने, मूल्यांकन, निगरानी और प्रतिकूल प्रभावों की रोकथाम से संबंधित औषधीय विज्ञान है। प्रतिकूल दवा प्रतिक्रिया (एडीआर) औषधीय उत्पाद के उपयोग से संबंधित एक अवांछित या हानिकारक प्रतिक्रिया है जो किसी दवा के उपयोग की सामान्य परिस्थितियों में दवाओं के संयोजन के बाद अनुभव की जाती है। ऐसे में आमतौर पर दवा को बंद करने या खुराक कम करने की आवश्यकता होगी। जन सामान्य, मरीज, छात्र, शिक्षा के क्षेत्र से जुड़े लोग भी एडीआर रिपोर्ट कर सकते हैं।

अन्य पोस्ट

Comments