जान्जगीर-चाम्पा

मास्क व सोशल डिस्टेंसिंग के पालन पर जोर
11-Oct-2021 6:03 PM (45)
मास्क व सोशल डिस्टेंसिंग के पालन पर जोर

यूनीसेफ का शाला जल और स्वच्छता पर प्रशिक्षण
 

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
सक्ती, 11 अक्टूबर।
कोविड अनुरूप व्यवहार और शाला जल एवं स्वच्छता विषय पर यूनीसेफ जिला इकाई व समग्र शिक्षा सक्ती के संयुक्त तत्वावधान में 9 अक्टूबर  को राजीव गांधी शिक्षा मिशन सभागार सक्ती में नोडल शिक्षकों का एक दिवसीय प्रशिक्षण कार्यशाला संपन्न हुआ। प्रशिक्षण में सक्ती ब्लाक से कुल 23 स्कूलों के नोडल शिक्षकों ने हिस्सा लिया।

ज्ञात हो कि कोरोना काल के कारण लंबे समय से बंद चल रहे स्कूलों को धीरे-धीरे प्रारंभ करने की प्रक्रिया को शासन-प्रशासन द्वारा गति दी गई, वहीं आने वाले समय में स्कूलों में शिक्षकीय कार्य बाधित न हो एवं स्वस्थ रुप से अध्ययन एवं अध्यापन कार्य सुचारू से चलता रहे तथा स्कूल में अध्ययनरत छात्र-छात्राओं का बौद्धिक शारीरिक एवं मानसिक विकास को ध्यान में रखते हुए शासन प्रशासन के द्वारा अब कई तरह की कोशिशें की जा रही है।
कार्यशाला में सभी प्रतिभागियों का पंजीयन कर मास्क, डायरी व पेन प्रदान किया गया, साथ ही प्री व पोस्ट टेस्ट माध्यम से प्रतिभागियो का आंकलन किया गया एवं फीडबैक फार्म भराया गया।

कार्यक्रम में मास्टर ट्रेनर के रूप में  नरेंद्र कुमार वैष्णव, साहिल सिंह ने बताया कि किस तरह से कोविड-19 अनुरूप व्यवहार करना है, इसमें उन्होंने बताया कि टॉयलेट से आने के बाद एवं खाना खाने से पहले हाथ को साबुन से धोना अनिवार्य है।  इस संबंध में यह भी बताया गया कि बच्चों को कैसे स्वक्षता के संबंध में जागरूक किया जाए एवं उनके व्यवहार में बदलाव लाया जाए कोविड-19 के बाद से जिस तरह से साबुन से हाथ धोने से लेकर मास्क लगाने सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने, सैनिटाइजर का उपयोग करना एवं स्वच्छता पर विशेष ध्यान देना प्रमुख है।

 उन्होंने आगे बताया कि कोविड-19 के बाद बदले परिवेश में हम सभी की जवाबदारी बनती है कि हमें समय के साथ अपनी जवाबदारी का निर्वहन करना है इसमें स्कूल प्रबंधन प्रधान पाठक शिक्षक स्कूल के समस्त स्टाफ सफाई कर्मी सभी को अपनी अपनी जवाबदारी निभानी होगी।
कार्यशाला में मार्गदर्शन के लिए बीआरसीसी सक्ती  ए.आर.धृतलहरे व यूनीसेफ के जिला समन्वयक  महेन्द्र यादव उपस्थित रहे।
 

 

अन्य पोस्ट

Comments