गरियाबंद

नवरात्र पर्व नारी सम्मान और रक्षा करने की सीख देती है - चंद्रशेखर
12-Oct-2021 4:33 PM (37)
नवरात्र पर्व नारी सम्मान और रक्षा करने की सीख देती है - चंद्रशेखर

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
राजिम, 12 अक्टूबर।
शारदीय नवरात्रि पर सभी देवी मंदिरों में भक्तों की भीड़ माता के दर्शन करने उमड़ रही है। नवरात्रि पर मां दुर्गा के 9 स्वरूपों की पूजा की जाती है। इन दिनों पूरा माहौल भक्तिमय हो जाता है।
नवरात्रि में पंचमी के दिन मंदिरों में मां दुर्गा के दर्शन के लिए भक्तों की भारी भीड़ मंदिरों में देखने को मिली। भक्तगण माता की सेवा में सराबोर रहे और जगह-जगह विविध आयोजनों के माध्यम से भक्तिमय प्रस्तुतियां चलती रही। क्षेत्र के ग्राम पंचायत जेंजरा में नवयुवक दुर्गोत्सव समिति इंदिरा पारा द्वारा जसगीत झांकी कार्यक्रम का आयोजन किया गया। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में जिला पंचायत सदस्य चंद्रशेखर साहू उपस्थित हुए। अध्यक्षता ग्राम जेंजरा सरपंच हीरामणि साहू एवं विशेष अतिथि पूर्व सरपँच निलेश्वरी साहू, सरपँच प्रतिनिधि हुलासराम साहू एवं पहल नवयुवक मंडल मुड़तराई के अध्यक्ष हुलास साहू उपस्थित रहे।

इस अवसर पर जिला पंचायत सदस्य चंद्रशेखर साहू ने कहा कि नवरात्रि का पर्व हमें अपने धर्म के विषय को गहराई से अध्ययन करने व धर्म के प्रति जागरूक रहना सिखाता है। माँ दुर्गा नारीशक्ति की प्रतीक है और भारतीय संस्कृति में नारी का स्थान पूज्यनीय माना जाता है। कहते हैं कि यत्र नार्यस्तु पूज्यंते, रमन्ते तत्र देवता।

अर्थात जहां नारी का सम्मान होता है वहाँ देवता निवास करते हैं। यह पावन पर्व हमें नारी सम्मान और रक्षा करने की सीख देती है। हम सभी को एकजुटता के साथ गाँव के विकास के लिए चिंतनशील रहना चाहिए।
ऐसे आयोजनों से सामाजिक समरसता सुदृढ़ होती है, हर वर्ष ऐसे आयोजन होते रहना चाहिए।  इस दौरान साकेत साहू, थानुराम साहू, रामस्वरूप पाटकर, हिरावन साहू, जागेश्वर तारक, अनुज साहू सहित बड़ी संख्या में ग्रामवासी उपस्थित थे।
 

अन्य पोस्ट

Comments