रायगढ़

इलाज के नाम पर निजी अस्पताल की मनमानी पर लगेगा अंकुश
13-Oct-2021 5:02 PM (42)
इलाज के नाम पर निजी अस्पताल की मनमानी पर लगेगा अंकुश

पर्यावरण मित्र रोगी इलाज समिति संगठन रायगढ़ ने तैयार की रूपरेखा

मरीज व परिजनों की शिकायत पर करेंगे कार्रवाई की मांग

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
रायगढ़, 13 अक्टूबर।
पर्यावरण मित्र रोगी इलाज समिति संगठन रायगढ़ द्वारा अस्पतालों में स्मार्ट कार्ड व आयुष्मान भारत के माध्यम से इलाज कराने पर निजी अस्पताल प्रबन्धन द्वारा शासन द्वारा निर्धारित शुल्क से अधिक लेने पर लगातार मिल रही शिकायत के आधार पर एक समिति बनाया है। यह समिति मरीजों व उनके परिवार की शिकायत पर एक्शन लेगी और इस मामले में न सिर्फ अस्पताल प्रबंधन के खिलाफ मोर्चा खोलेगी और मुख्य मंत्री प्रधान मंत्री को तत्सम्बन्ध में शिकायत करेगा।

समिति द्वारा निर्णय लिया गया है कि अब अगर मरीज या उसके परिजनों द्वारा शिकायत मिलती है तो शिकायत के आधार पर लूट करने वाले निजी अस्पताल प्रबंधन के खिलाफ कार्रवाई की मांग करेगा और शासन द्वारा निर्धारित फीस से ज्यादा ली गई राशि को वापस भी करवाएगी।

दरअसल मुख्यमंत्री स्मार्ट कार्ड और आयुष्मान भारत योजना अंतर्गत इलाज के लिए अलग-अलग बीमारियों व सर्जरी शुल्क की राशि तय है और कुछ निजी अस्पताल प्रबंधन द्वारा तय राशि से अधिक राशि जा रहा है। लगातार यह बात सामने आ रही है कि गरीबों को मुफ्त में इलाज के नाम पर कई निजी अस्पतालों द्वारा डबल से अधिक राशि ले ले रहे हैं। मरीजों व उनके परिजनों द्वारा आपत्ति करने पर उन्हें गुमराह करने की शिकायत आ रही है। यही वजह है कि इसके लिए पर्यावरण मित्र के बजरंग अग्रवाल द्वारा एक समिति बनाई है। जिसके माध्यम से न सिर्फ जरूरतमंद मरीजों के उपचार के लिए मदद उपलब्ध करवाएगी और साथ सर्जरी व इलाज के नाम पर शासन द्वारा तय राशि से अधिक लिए जाने पर अस्पताल प्रबंधन के खिलाफ कार्रवाई के लिए भी मोर्चा खोलेगी। इसके लिए समिति द्वारा कहा गया है कि यदि किसी के साथ मुख्यमंत्री स्मार्ट कार्ड व आयुष्मान भारत योजना के तहत अधिक राशि ली जाती है तो इसकी शिकायत समिति के समक्ष की जा सकती है।  
 

अन्य पोस्ट

Comments