कोरिया

सर्व आदिवासी समाज का हर ब्लॉक में होगा अपना खुद का सर्व सुविधायुक्त भवन
13-Oct-2021 5:04 PM (38)
सर्व आदिवासी समाज का हर ब्लॉक में होगा अपना खुद का  सर्व सुविधायुक्त भवन

मनेंद्रगढ़, 13 अक्टूबर। कोरिया जिले के सभी ब्लॉकों में अब सर्व आदिवासी समाज का खुद का सर्व सुविधायुक्त भवन होगा। इसके लिए शासन द्वारा सरगुजा विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष व भरतपुर सोनहत विधायक गुलाब कमरो की पहल पर 40 लाख रुपए की स्वीकृति प्रदान की गई है।  विधायक गुलाब कमरो ने समाज व क्षेत्रवासियों की ओर से मुख्यमंत्री, विधानसभा अध्यक्ष एवं सांसद ज्योत्सना महंत का आभार व्यक्त किया।

प्रदेश की कांग्रेस की भूपेश सरकार के द्वारा हर समाजों के लिए भवन की स्वीकृति दी जा रही है इसके पहले शासन द्वारा 8 समाज के भवन के लिए 75 लाख रुपए की स्वीकृति प्रदान की गई थी।

सरकार ने नवरात्र पर सर्व आदिवासी समाज को एक बड़ी सौगात दी है। जिले के सर्वआदिवासी समाज हेतु 4 सर्व सुविधायुक्त समाजिक भवन निर्माण कार्य हेतु विकासखण्ड भरतपुर के लिए 10 लाख रुपये,  विकासखण्ड सोनहत के लिए 10 लाख रुपये, विकासखण्ड मनेन्द्रगढ़ के लिए 10 लाख रुपये, विकासखण्ड खडग़वां के लिए 10 लाख रुपये की शासन स्तर से स्वीकृति मिली है।
 

अन्य पोस्ट

नपा चुनाव: गलत परिसीमन से कश्मकश में कोरिया कांग्रेस बैकुंठपुर और चरचा शिवपुर में होगा चुनाव, लगने वाली है आचार संहिता ‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता बैकुंठपुर (कोरिया), 18 नवंबर। राज्य निर्वाचन द्वारा नगरीय निकाय चुनाव की पूरी तैयारी पूरी कर ली है और जल्द ही इसके संबंध में अधिसूचना जारी करने वाली है। इसके साथ ही आदर्श आचार संहिता लग जाएगी। कोरिया जिले में बैकुंठपुर और चरचा शिवपुर नगर पालिका में चुनाव होना है, परन्तु चुनाव के बहिष्कार के बाद इसे लेकर राजनीतिक दलों के साथ लोगों में भी कोई खास दिलचस्पी नहीं देखी जा रही है, वहीं कांग्रेस के खिलाफ लोगों में काफी नाराजगी देखी जा रही है। प्रदेश में कांग्रेस की सरकार है और सत्तारूढ़ सरकार द्वारा कोरिया जिले का विभाजन कर नया एमसीबी जिला बनाये जाने की घोषणा कर परिसीमन कर राजपत्र में अधिसूचना भी जारी कर दी है। जबकि कोरिया के विभाजन को लेकर विरोध शुरू हुआ तो यह प्रमुख मांग में शामिल रही कि कोरिया जिले के खडग़वां को कोरिया में ही यथावत रखा जाये, जिसे लेकर कोरिया बचाव मंच द्वारा लगातार 62 दिनों तक मुख्यालय बैकुंठपुर में क्रमिक अनशन किया और इसी बीच प्रतिनिधि

Comments