धमतरी

रामलीला के बाद 25 फीट के रावण पुतले का दहन
17-Oct-2021 5:50 PM (79)
रामलीला के बाद 25 फीट के रावण पुतले का दहन

असत्य पर सत्य की विजय का प्रतीक है विजयादशमी - डॉ. ध्रुव

छत्तीसगढ़’ संवाददाता
नगरी, 17 अक्टूबर।
नव आनंद कला मंदिर नगरी बस्तर राजवाड़े के अनुसार प्रतिवर्ष नगरी में एकादशी के दिन विजयादशमी का आयोजन किया जाता है। इसी के तहत नगर में 16 अक्टूबर को विजयादशमी का आयोजन रावण भाठा मैदान में किया गया।

इस अवसर पर राजाबाड़ा स्थित दंतेश्वरी मंदिर में पूजा-अर्चना के साथ प्रारंभ हुई शोभायात्रा नगर के प्रमुख मार्गों से भ्रमण करती हुई रावण भाठा मैदान पहुंची। इस बार के दशहरा में राम और रावण के लिए राजनांदगांव से मंगाई गई बिजली की लडिय़ों से सुसज्जित दो बग्गी आकर्षण का केंद्र बना रहा। बग्गी में सवार कलाकार खुब आनन्द उठाते नजर आए। इससे दशहरा का माहौल बदला हुआ नजर आया।

रावण वध समिति पुरानी बस्ती के अध्यक्ष संतोष साहू के निर्देशन में पुरानी बस्ती माता सेवा दल नगरी के कलाकारों ने आकर्षक वेशभूषा के साथ भारी भीड़ के मध्य अनूठी शैली में रामलीला का मंचन किया। अंत में आतिशबाजी के साथ 25 फीट के रावण के पुतले का दहन किया गया। लोग परम्परा के अनुसार शमी पत्ते को एक-दूसरे को भेंट कर बधाई दिये।

आयोजन स्थल पर पहुंचकर नगरी एसडीएम चंद्रकांत कौशिक, नायब तहसीलदार नगरी ने जायजा लिया तथा उचित सुरक्षा व्यवस्था का निर्देश दिए। कार्यक्रम के दौरान नगरी एसडीओपी मयंक रणसिंह, नगरी थाना प्रभारी कोमल नेताम कार्यक्रम स्थल पर डटे रहे। पुलिस प्रशासन की चुस्त व्यवस्था थी।

इस अवसर पर रात्रि में राजाबाड़ा में छत्तीसगढ़ी सांस्कृतिक कार्यक्रम रंग सरगम रायपुर का आयोजन किया गया, जिसका लोगों ने देर रात तक आनन्द उठाया। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में सिहावा नगरी विधायक डॉ. लक्ष्मी ध्रुव उपस्थित थीं, जिनका समिति के पदाधिकारियों ने पुष्पगुच्छ भेंटकर स्वागत किया। विशेष अतिथि के रूप में सेवानिवृत्त आबकारी आयुक्त लखनलाल ध्रुव, भानेंद्र ठाकुर, विधायक प्रतिनिधि रूद्रप्रताप नाग, सचिन भंसाली, अय्यूब खान, माखन भरेवा, टिकेश्वर ध्रुव, शकुंतला ठाकुर अनुसूईया साहू उपस्थित थे।

मुख्य अतिथि की आसंदी से डॉ. लक्ष्मी ध्रुव ने कहा कि अन्यायी कितना ही शक्तिशाली क्यों न हो, उसका विनाश होता ही है। इसका चित्रण विजयादशमी के आयोजन में किया जाता है। विजयादशमी असत्य पर सत्य की विजय का प्रतीक है। उन्होंने नगर की कौमी एकता को अनुकरणीय कहा।

इस अवसर पर नगर पंचायत नगरी के अध्यक्ष आराधना शुक्ला, उपाध्यक्ष अजय नाहटा, पार्षद गण, एल्डरमेन गण,आयोजक समिति नव आनंद कला मंदिर के अध्यक्ष प्रकाश सोनी ,उपाध्यक्ष होरी लाल पटेल, सुरेश साहू ,बलजीत छाबड़ा ,कमलेश प्रजापति , हरीश यादव, नरेंद्र नाग,सत्यम भट्टक्ष कोषाध्यक्ष अनिल वाधवानी, सचिव शैलेंद्र लाहौरिया, अशोक पटेल, गजेंद्र कंचन ,नरेश छेदैहा, बृजलाल सार्वा,नगर व्यवस्था समिति के अध्यक्ष ललित प्रसाद शर्मा, कोषाध्यक्ष श्रवण नाग ,सचिव ज्वाला प्रसाद साहू, नोहर साहू, नागेंद्र शुक्ला,नंद यादव,हेमलाल सेन, रोहित नाग, रविन्द्र गौर,अश्वनी यादव ,शिव साहु,भरत साहु,समस्त रामायण मंडलियों के अध्यक्ष गण उपस्थित थे।
 

अन्य पोस्ट

Comments