राजनांदगांव

अतिथि देवता के समान-मेयर
20-Oct-2021 3:54 PM (53)
अतिथि देवता के समान-मेयर

सद्भावना साइकिल यात्रा का भव्य स्वागत

राजनांदगांव, 20 अक्टूबर। भारतीय स्वतंत्रता के अमृत उत्सव वर्ष के अवसर पर आयोजित भारत-बांग्लादेश सद्भावना साइकिल यात्रा का 19 अक्टूबर को राजनांदगांव आगमन पर उनका गुरूद्वारा चौक में आयोजन समिति ने भव्य स्वागत कर कस्तूरबा भवन ले जाया गया।

ज्ञात हो कि साइकिल यात्रा महाराष्ट्र के अहमद नगर से प्रारंभ होकर बांग्लादेश के नोवाखाली तक लगभग 3 हजार किमी सफर 5 राज्यों से होकर गुजर रही है। इस रैली में 25 महिलाएं व 61 पुरूष शामिल हैं। जिसमें 6 दृष्टिबाधित और 4 अस्थिबाधित दिव्यांग शामिल हैं। यात्रा में शामिल यात्रियों के आवास, भोजन, स्वागत सत्त्कार की व्यवस्था नगर की सामाजिक संस्थाएं अभिलाषा दिव्यांगजनों के कल्याणार्थ शिक्षण प्रशिक्षण सह पुनर्वास संस्थान, कस्तूरबा महिला मंडल, आरंभ एक प्रयास, अशोका इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नालाजी, इंडस्ट्रीयल एसोसिएशन राजनांदगांव द्वारा किया गया।

आयोजन समिति ने रैली के नगर प्रवेश पर गुरूद्वारा चौक में स्वागत कर मानव मंदिर चौक, भारत माता चौक, कामठी लाईन,दिल्ली दरवाजा,  जीई रोड होते हुए कस्तूरबा भवन लाया गया। यहां आयोजन समिति ने तिलक लगाकर व श्रीफल भेंट कर किया गया। रैली का स्वागत महापौर हेमा देशमुख द्वारा भी किया गया।  स्वागत उद्बोधन में अभिलाषा संस्था अध्यक्ष संतोष कुमार बोद्दुन ने अपने विचार रखे।

रैली के प्रमुख आयोजक व नेतृत्व कर रहे डॉ.  गिरिश कुलकर्णी ने कहा कि रैली का मुख्य उद्देश्य भारतत की स्वतंत्रेचा मृतदे मुक्ति का सुवर्ण महोत्सव के अवसर पर भारत-बांग्लादेश सद्भावना साइकिल यात्रा है। उन्होंने कहा कि अपने राज्य की सीमा को पार कर छत्तीसगढ़ की गोद में आ पहुंचे हैं। इस तरह हें आगे की सफर में झारखंड, उड़ीसा और बंगाल से होकर 16 दिसंबर 2021 को बांग्लादेश पहुंचना है। यहां पहुंचकर हम राष्ट्रपिता महात्मा गांधीजी कुछ समय व्यतीत किए थे, उस स्थल पर शांति एवं सद्भावना का अलख जगाने का प्रयास करेंगे।

कार्यक्रम के मुख्य अतिथि महापौर हेमा देशमुख ने सद्भावना यात्रा में शामिल साथियों का आभार व्यक्त करते कहा कि हम शहर व छत्तीसगढ़ वासी अतिथियों को देवता के समान समझते हैं। आयोजन समिति द्वारा प्रयास किया गया कि आप लोगों को यात्रा के दौरान महिलाओं व दिव्यांगजनों को देखते सुरक्षित वातावरण में रात्रि विश्राम कराकर भोजन की व्यवस्था किया जाए।  

कार्यक्रम को कस्तूरबा महिला मंडल अध्यक्ष शारदा तिवारी समेत कंचन चौबे,  खुशी सोनछत्रा,  गौतम पारख, महेश खंडेलवाल समेत अन्य लोग ने संबोधित किया। कार्यक्रम में बड़ी संख्या में आयोजन समिति के पदाधिकारी शाामिल थे। इधर 20 अक्टूबर को यात्रियों को सुबह 6 बजे आयोजकों द्वारा हरी झंडी दिखाकर रवाना किया गया। उक्त जानकारी अभिलाषा के प्रशासक दिलीप श्रीवास्तव ने दी।

अन्य पोस्ट

Comments